Followers

Showing posts with label Health. Show all posts

पैर फिसलने से तीसरी मंजिल से गिरा युवक, दोनों पैर, रीढ़ की हड्डी टूटी, B- ब्लड ग्रुप की तलाश

rohit-from-dabua-colony-faridabad-need-help

Faridabad News 23 July 2021: फरीदाबाद डबुआ कॉलोनी में रहने वाले एक युवक रोहित को B- ब्लड ग्रुप की तलाश है, युवक बहुत परेशान है.

रोहित ने बताया कि वह डबुआ कॉलोनी, 27 फीट रोड, नजदीक मानव सेवा स्कूल के पास रहता है. संडे रात को पैर फिसलने की वजह से वह तीसरे फ्लोर से नीचे गिर गया जिसकी वजह से उसके दोनों पैरों की ऐड़ी टूट गयी और कमर की हड्डी भी तीन जगह से टूट गई.

रोहित ने बताया कि डॉक्टर ऑपरेशन के लिए बोल रहे हैं लेकिन उसके लिए B- ब्लड ग्रुप के ब्लड की तलाश है, अभी तक कोई डोनर नहीं मिला है.

रोहित ने बताया कि वह नॉएडा के फ्लेक्सी हॉस्पिटल में भर्ती है, अगर फरीदाबाद में कोई ब्लड डोनर मिल जाता है तो उसकी जिंदगी बच सकती है.

अगर कोई डोनर रोहित की मदद करना चाहता है तो 9953305374 फोन नंबर पर संपर्क कर सकता है.

वकील सतिंदर सिंह दुग्गल ने सरकार को दिया Sunflag Hospital को संचालित करने का सुझाव

advocate-satinder-singh-duggal-demand-sunflag-sarkari-aspatal
Advocate Satinder Duggal advised Haryana Government to run Sunflag Hospital Faridabad in various way.

Faridabad News 6 July 2021: फरीदाबाद शहर की 25-30 लाख आबादी पर सिर्फ एक सिविल अस्पताल है और आम लोगों को इमरजेंसी में बीके हॉस्पिटल भागना पड़ता है जिसकी वजह से बीके हॉस्पिटल पर भी लोड पड़ता है और कई मरीजों की मौत बिना उचित इलाज के ही हो जाती है.

Sunflag Hospital Faridabad की संपत्ति को हरियाणा सरकार ने अपने कब्जे में ले लिया है हालाँकि अब अस्पताल पूरी तरफ से बंद हो चुका है और इमारत खँडहर बनती जा रही है.

फरीदाबाद के लोग सरकार से मांग कर रहे हैं कि Sunflag Hospital Faridabad को सरकारी अस्पताल बना दिया जाए ताकि मथुरा रोड से बाईपास के बीच में रहने वालों और नहरपार के लोगों को भी एक सरकारी अस्पताल उनके नजदीक मिल सके.

वकील सतिंदर सिंह दुग्गल (रिटायर्ड विंग कमांडर) ने भी हरियाणा सरकार को कुछ सुझाव दिए हैं जो नीचे फोटो में पढ़े जा सकते हैं - 


आपकी जानकारी के लिए बता दें कि Sunflag Hospital Faridabad को सरकारी अस्पताल बनाने के लिए कई दिनों से प्रदर्शन हो रहे हैं, तमाम समाजसेवी संस्थाओं ने अस्पताल के बाहर एकत्रित होकर सरकार के सामने मांग उठायी है.

फरीदाबाद वासियों ने अपनी बात रखते हुए कहा कि फरीदाबाद शहर जनसंख्या व जनसंख्या घनत्व के हिसाब से हरियाणा का सबसे बड़ा शहर है। परन्तु सरकार द्वारा संचालित बड़े अस्पताल के नाम पर यहाँ केवल B.K अस्पताल है जो कि 1951 में फरीदाबाद वासियों लिए बनवाया था।  फरीदाबाद आबादी और प्रवासी जनसंख्या के हिसाब से बहुत तेजी से बढ़ रहा है और अगर हम आज की बात करें तो फरीदाबाद की आबादी 28 से 30 लाख के तकरीबन होने जा रही है वहीं राजस्व की बात करें तो फरीदाबाद जिला दूसरे नंबर पर हरियाणा सरकार को राजस्व देता है लेकिन फिर भी फरीदाबाद में स्वास्थ्य क्षेत्र में सरकारी सुविधाएं नाम मात्र की है। 

वही जसवंत पंवार ने बताया कि HSVP के अधीन फरीदाबाद के सेक्टर 16 स्थित सनफ्लैग हॉस्पिटल की बिल्डिंग खाली पड़ी है जो कि लोगों की पहुंच के हिसाब से बिल्कुल उपयुक्त है । सुगमता की दृष्टि से यह अस्पताल फरीदाबाद मध्य और ग्रेटर फरीदाबाद के निवासियों के लिए भी बहुत लाभकारी होगा। हरियाणा सरकार इसे जल्द से जल्द सरकारी अस्पताल बनाती है तो फरीदाबाद के मध्यम और गरीब वर्ग को बहुत राहत मिलेगी। इससे पहले ज्यादातर निजी अस्पताल सरकार से सस्ती दर पर ली गई जमीन पर बने हैं, मगर निजी अस्पताल प्रबंधकों ने कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर में दोनों हाथों से मरीजों को लूटा। शासन-प्रशासन इनके खिलाफ सख्त कानून के अभाव में मौन होकर देखता रहा। निजी अस्पताल दवाइयां बेचते रहे। बिल भुगतान न होने के कारण गरीब दिवंगत मरीजों का शव भी परिजनों को नहीं दिया। जिस मरीज का इलाज साधारण बेड पर किया गया, उसका भी पांच-पांच लाख रुपये बिल बना दिया गया।  देने की एवज मे ऐसे कई मामले पुलिस ने पकड़े हैं
 
इसलिए हम सभी फरीदाबाद वासियों की  माननीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी, हरियाणा सरकार माननीय मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल खट्टर जी और स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज जी से अपील है कि करोना की तीसरी लहर से लड़ने और फरीदाबाद की गरीब जनता के हितो को ध्यान में रखते हुए सनफ्लैग अस्पताल को सरकारी अस्पताल बनाया जाए। इस मौके अभिषेक गोस्वामी, कपिल पाराशर, प्रीतपाल सिंह, मनिराम भड़ाना, प्रोमोद भड़ाना, नरेश मेहंदीरत्ता, सुमित रावत,  विंग कमांडर एडवोकेट सतेंद्र दुग्गल, अरुण भारती,शिवम पांडेय, राहुल,  महेंद्र गोला, जसवंत पवार आदि ने सनफ्लेग को सरकारी बनाने की आवाज उठाई और सरकार को चेताया कि यदि सरकार अपनी कुम्भकर्ण की नींद से नहीं जागती है तो आंदोलन को आगे बढ़ाया जाएगा।

Vaccination Centers in Faridabad, जानिये जिले में कहाँ कहाँ लग रही है वैक्सीन, पूरी लिस्ट

vaccination-centers-in-faridabad-list
Vaccination Centers in Faridabad, List of Center where vaccines provided free of costs in Districts.

फरीदाबाद,1 जुलाई। स्वास्थय विभाग ने बताया कि  2 जलाई शुक्रवार को दूसरी डोज 45+ आयु के लोगों को जिला में दस स्थानों पर वैक्शीनेशन किए जाएंगे।

टीकाकरण अभियान के नोडल अधिकारी डाँ राजेश श्योकंद  विस्तार पूर्वक जानकारी देते हुए बताया कि शुक्रवार को प्रातः10:00 बजे से सायं 4:00 बजे तक  वैक्शीनेशन अभियान के तहत कोविड टीकाकरण की केवल दूसरी खुराक के लिए लोगों के लिए अलग से दस स्थानों पर कैम्पों का आयोजन किया जाएगा।

Vaccination Centers in Faridabad

- सामुदायिक केंद्र सेक्टर -21सी,

- सामुदायिक केंद्र सेक्टर- 3,

- एफआरयू-1,

- ईएसआई अस्पताल सेक्टर- 8,भाटिया सेवक समाज एनआईटी- 2,

- सीएचसी कुराली, तिगांव सरकारी कॉलेज, पीएचसी मोहना,

- सीएचसी पाली और सीएचसी खेड़ी कलां में लोगों को कोविड-19 के संक्रमण के बचाव के लिए 45+ आयु के सभी लोगों स्वास्थ्य विभाग के चिकित्सकों व अन्य स्टाफ के सदस्यों द्वारा कोरोना संक्रमण बचाव के लिए दूसरी डोज की वैक्सीनेशन की जाएगी।

- डाँ राजेश श्योकंद ने आगे बताया कि 2 जुलाई वीरवार को 18 वर्ष की अधिक आयु के सभी लोगों को वैक्शीनेशन किए जाएंगे।

 उन्होंने विस्तार पूर्वक जानकारी देते हुए बताया कि शुक्रवार को - Vaccination Centers in Faridabad

- आदर्श नगर यूपीएचसी,

- एसी नगर यूपीएचसी,

- अंगनपुर पीएचसी,

- बल्लभगढ नागरिक अस्पताल, एसडीएच

- भारत कालोनी यूपीएचसी,

- भीम बस्ति यूपीएचसी,

- नागरिक बीके अस्पताल फरीदाबाद,

- डीएच पीएचसी

- ईएसआई-1,

- ईएसआई -2,

- ईएसआई -3,

- ईएसआई- 4,

- ईएसईएस-5,

- ईएसआई सेक्टर 55,

- ईएसआई फरीदाबाद,

- फतेहपुर तेगा पीएचसी,

- एफआरयू -1,

- एफआरयू- 2,

- हरि विहार यूपीएचसी,

- खेड़ी कलां सीएचसी,

- मुजेर यूएचसी,

- नंगला यूपीएचसी

- पाली पीएचसी,

- पल्ला पीएचसी

- प्रतापगढ़ यूपीएमसी,

- सुभाष कॉलोनी पीएचसी,

- सूरजकुंड जिला

- सीविल डिस्पैन्सरी, सेक्टर -7

- छांयसा पीएचसी,

- दयालपुर पीएचसी,

- पन्हेरा खुर्द पीएचसी,

- मोहना पीएचसी,

- कुरली सीएचसी,

फतेहपुर बिलोच पीएचसी में ,18 से 45 व 45+ आयु के सभी लोगों स्वास्थ्य विभाग के चिकित्सकों व अन्य स्टाफ के सदस्यों द्वारा कोरोना संक्रमण बचाव के लिए वैक्सीनेशन की जाएगी।

 इसी प्रकार निजी अस्पतालों में 

- क्यूआरजी मेडिकेयर लिमिटेड,

- एशियन अस्पताल,

- फोर्टिस एस्कॉर्ट्स,

- सर्वोदय अस्पताल,

- मेट्रो अस्पताल,

- शंकर मेडिकेयर सेक्टर 28,

- शांति देवी मेमोरियल होस्पीटल,

- एनएमएस सेक्टर 23,

- संतोष अस्पताल एनआईटी में 18 से 45 व 45+ आयु के सभी लोगों कोरोना संक्रमण बचाव के लिए वैक्सीनेशन की जाएगी।

कल से आज आये कोरोना के अधिक केस

faridabad-corona-update-20-june-2021-total-cases
Faridabad Corona Update on 20 June 2021, 8 new cases repoted and 45 patient recovered and becme healthy.

Faridabad News 20 June 2021: जिला के लोगों के लिए आज भी अच्छी खबर रही 2 महीने बाद आज रविवार को कोरोना के मामले 8 आए है । रविवार को जिला में आठवें दिन 8 लोग कोरोना वायरस से पॉजिटिव पाए गए। जिला का कोरोना को हराकर बाउंस बैक करने का यह क्रम लगातार छटे सप्ताह से निरंतर चौत्तीसवें दिन जारी रहा है। इसमें एक अच्छी खबर यह भी है की रविवार को जिला में 45 लोग कोरोना को हराकर स्वस्थ हो अपने घरों को लौटे।

लगातार चौत्तीसवें दिन कोरोना को हराने वालों की संख्या संक्रमित से ज्यादा होने पर फरीदाबाद जिला वासी निरन्तर राहत की सांस ले रहे है। जिला वासियों को अब यह उम्मीद बंध गई है कि सभी के सहयोग और सतर्कता से वैश्विक महामारी कोराना का प्रकोप जिला में निरन्तर बहुत कम होता नजर आ रहा है। फरीदाबाद वासियों द्वारा सावधानी बरतने और सरकार द्वारा जारी कोरोना वायरस के बचाव के लिए हिदायतों की पालना की वजह से कोरोना संक्रमण की चेन को तोड़ने में बड़ी सफलता मिल रही है।

 आज रविवार को जिला स्वास्थ्य विभाग के द्वारा स्वास्थ्य बुलेटिन के अनुसार फरीदाबाद जिला में अब तक 541126 लोगों को अब तक सर्वेलांस पर रखा गया है। जिन्होंने 28 दिनों का सर्वेलांस पूरा कर लिया है उनकी संख्या 540287 हो गई है।

इसके अलावा 99656 कोराना पोजिटिव लोगों को सर्वेलांस पर रखा गया है। अब तक जिला फरीदाबाद में कोराना 92 पोजिटिव केसों को विभिन्न अस्पतालों में दाखिल किया गया है। इनमें से  लोग स्वस्थ होकर कोराना को मात दे चुके हैं।

उपायुक्त यशपाल ने बताया कि होम आईसोलेशन पर जिला मे 71 लोगों को रखा गया है। जबकि एक्टिव केसों की संख्या 163 है। जबकि कई लोग कोरोना को मात देकर स्वस्थ हो चुके हैं। जिला में कोरोना संक्रमण की रफ्तार पर ब्रेक लगाने के लिए टेस्टिंग और वैक्शीनेशन पर जोर दिया जा रहा है। जिला में पिछले 24 घंटे में 1 हजार 140 टेस्ट किए गए। जबकि अब तक जिला फरीदाबाद में 899248 लोगों ने अब तक टेस्ट करवाया गया। इनमें से 99656 लोग कोराना पोजिटिव पाए गए। जबकि 799267 लोग नेगेटिव मिले।

अब तक जिला में  325 लोगों के रिजल्ट आने बाकी है।

 जिला फरीदाबाद में आक्सीजन पर 68 और वेन्टीलेटर पर 4 केस है।

 जिला में सैम्पल पोजिटिव रेट 11.1 प्रतिशत है।जबकि रिकवरी रेट 99.1 प्रतिशत है। जिला मे एक्टिव केस रेट 0.3 प्रतिशत है।

इस महामारी को फैलने से रोकने के लिए टीकाकरण भी जोर शोर से किया जा रहा है। रविवार को भी कोरोना रोधी वैक्सीन लगातार लगाई जा रही है।

आंकड़ों के अनुसार फरीदाबाद जिला में कुल एक्टिव केसों की संख्या 163 है जिनमें से 71 मरीज होम आइसोलेशन में है अर्थात वे अपने घर पर ही रह कर स्वस्थ हो रहे हैं। जिला फरीदाबाद वासी एक लाख लोगों में से 49958 लोग कोविड टेस्टिंग करवा रहे हैं।

उपायुक्त यशपाल ने फरीदाबाद जिला वासियों से अपील की है कि वे अब भी निरन्तर कोरोना को मात देने के लिए सावधानी लगातार बरतते रहें और कोशिश करें कि अपने घर के अंदर ही रहे। जब तक बहुत जरूरी ना हो, तब तक घर से बाहर ना निकले और बाहर निकलते समय अपने मुंह और नाक को कवर करते हुए फेस मास्क का प्रयोग अवश्य करें। इसके अलावा, एक दूसरे के बीच दो गज की दूरी जरूर रखें। हाथों को बार बार साबुन से धोते रहें  या सनेटाइजर करते रहे। कोरोना के बारे में कोई भी जानकारी लेनी हो तो कॉविड हेल्पलाइन नंबर 1950 पर डायल करें जो कि सप्ताह के सातों दिन 24 घंटे संचालित की जा रही है। इसके अलावा, जिला प्रशासन ने  मोबाइल नंबर पर व्हाट्सएप चैट बोट के माध्यम से सूचनाएं देने की व्यवस्था भी की है।

Corona 2.0: आज सिर्फ 6 नए केस आये हैं

faridabad-corona-update-19-june-2021-6-new-positive-cases
Faridabad Corona Update 19 June 2021, only 6 new positive cases and 29 patient recovered and discharged from hospitals.

Faridabad News 19 June 2021: जिला के लोगों के लिए आज भी अच्छी खबर रही 2 महीने बाद आज शनिवार को कोरोना के मामले 6 आए है । शनिवार को जिला में 29 लोग कोरोना को हराकर स्वस्थ हो अपने घरों को भी लौटे।

लगातार तैत्तीसवें दिन कोरोना को हराने वालों की संख्या संक्रमित से ज्यादा होने पर फरीदाबाद जिला वासी निरन्तर राहत की सांस ले रहे है। जिला वासियों को अब यह उम्मीद बंध गई है कि सभी के सहयोग और सतर्कता से वैश्विक महामारी कोराना का प्रकोप जिला में निरन्तर बहुत कम होता नजर आ रहा है। फरीदाबाद वासियों द्वारा सावधानी बरतने और सरकार द्वारा जारी कोरोना वायरस के बचाव के लिए हिदायतों की पालना की वजह से कोरोना संक्रमण की चेन को तोड़ने में बड़ी सफलता मिल रही है।

 आज शनिवार को जिला स्वास्थ्य विभाग के द्वारा स्वास्थ्य बुलेटिन के अनुसार फरीदाबाद जिला में अब तक 541087 लोगों को अब तक सर्वेलांस पर रखा गया है। जिन्होंने 28 दिनों का सर्वेलांस पूरा कर लिया है उनकी संख्या 540020 हो गई है।

इसके अलावा 99648 कोराना पोजिटिव लोगों को सर्वेलांस पर रखा गया है। अब तक जिला फरीदाबाद में कोराना 98 पोजिटिव केसों को विभिन्न अस्पतालों में दाखिल किया गया है। इनमें से  लोग स्वस्थ होकर कोराना को मात दे चुके हैं।

उपायुक्त यशपाल ने बताया कि होम आईसोलेशन पर जिला मे 102 लोगों को रखा गया है। जबकि एक्टिव केसों की संख्या 200 है। जबकि कई लोग कोरोना को मात देकर स्वस्थ हो चुके हैं। जिला में कोरोना संक्रमण की रफ्तार पर ब्रेक लगाने के लिए टेस्टिंग और वैक्शीनेशन पर जोर दिया जा रहा है। जिला में पिछले 24 घंटे में 2 हजार 268 टेस्ट किए गए। जबकि अब तक जिला फरीदाबाद में 898108 लोगों ने अब तक टेस्ट करवाया गया। इनमें से 99648 लोग कोराना पोजिटिव पाए गए। जबकि 797933 लोग नेगेटिव मिले।

अब तक जिला में  527 लोगों के रिजल्ट आने बाकी है।

 जिला फरीदाबाद में आक्सीजन पर 70 और वेन्टीलेटर पर 5 केस है।

 जिला में सैम्पल पोजिटिव रेट 11.1 प्रतिशत है।जबकि रिकवरी रेट 99.1 प्रतिशत है। जिला मे एक्टिव केस रेट 0.3 प्रतिशत है।

इस महामारी को फैलने से रोकने के लिए टीकाकरण भी जोर शोर से किया जा रहा है। शनिवार को भी कोरोना रोधी वैक्सीन लगातार लगाई जा रही है।

आंकड़ों के अनुसार फरीदाबाद जिला में कुल एक्टिव केसों की संख्या 200 है जिनमें से 102 मरीज होम आइसोलेशन में है अर्थात वे अपने घर पर ही रह कर स्वस्थ हो रहे हैं। जिला फरीदाबाद वासी एक लाख लोगों में से 49895 लोग कोविड टेस्टिंग करवा रहे हैं।

उपायुक्त यशपाल ने फरीदाबाद जिला वासियों से अपील की है कि वे अब भी निरन्तर कोरोना को मात देने के लिए सावधानी लगातार बरतते रहें और कोशिश करें कि अपने घर के अंदर ही रहे। जब तक बहुत जरूरी ना हो, तब तक घर से बाहर ना निकले और बाहर निकलते समय अपने मुंह और नाक को कवर करते हुए फेस मास्क का प्रयोग अवश्य करें। इसके अलावा, एक दूसरे के बीच दो गज की दूरी जरूर रखें। हाथों को बार बार साबुन से धोते रहें  या सनेटाइजर करते रहे। कोरोना के बारे में कोई भी जानकारी लेनी हो तो कॉविड हेल्पलाइन नंबर 1950 पर डायल करें जो कि सप्ताह के सातों दिन 24 घंटे संचालित की जा रही है। इसके अलावा, जिला प्रशासन ने  मोबाइल नंबर पर व्हाट्सएप चैट बोट के माध्यम से सूचनाएं देने की व्यवस्था भी की है।

खात्में के कगार पर है कोरोना-2 का सीजन, 24 घंटे में सिर्फ 16 पॉजिटिव केस

corona-second-wave-faridabad-end-only-16-cases-17-june
Corona Second Wave Faridabad end, only 16 positive cases reported on 17 June 2021.

Faridabad News 18 June 2021: गर्मी और तामपान बढ़ने के साथ साथ कोरोना-2 का सीजन भी ख़त्म होता जा रहा है. अब रोजाना केसों में कमीं आ रही है और कोरोना संक्रमण (Corona Second Wave Faridabad) खात्में के कगार पर पहुँच गया है. 

जिला के लोगों के लिए आज भी अच्छी खबर रही 2 महीने बाद आज वीरवार को कोरोना के मामले 20 से नीचे आए । वीरवार को जिला में पांचवें दिन 16 लोग कोरोना वायरस से पॉजिटिव पाए गए। Corona Second Wave Faridabad में कोरोना को हराकर बाउंस बैक करने का यह क्रम लगातार छटे सप्ताह से निरंतर ईक्कतीसवें दिन जारी रहा है। इसमें एक अच्छी खबर यह भी है की वीरवार को जिला में 17 लोग कोरोना को हराकर स्वस्थ हो अपने घरों को लौटे।

Corona Second Wave Faridabad में लगातार ईक्कतीसवें दिन कोरोना को हराने वालों की संख्या संक्रमित से ज्यादा होने पर फरीदाबाद जिला वासी निरन्तर राहत की सांस ले रहे है। जिला वासियों को अब यह उम्मीद बंध गई है कि सभी के सहयोग और सतर्कता से वैश्विक महामारी कोराना का प्रकोप जिला में निरन्तर बहुत कम होता नजर आ रहा है। फरीदाबाद वासियों द्वारा सावधानी बरतने और सरकार द्वारा जारी कोरोना वायरस के बचाव के लिए हिदायतों की पालना की वजह से कोरोना संक्रमण की चेन को तोड़ने में बड़ी सफलता मिल रही है।

वीरवार को जिला स्वास्थ्य विभाग के द्वारा स्वास्थ्य बुलेटिन के अनुसार फरीदाबाद जिला में अब तक 541003 लोगों को अब तक सर्वेलांस पर रखा गया है। जिन्होंने 28 दिनों का सर्वेलांस पूरा कर लिया है उनकी संख्या 539678 हो गई है।

इसके अलावा 99632 कोराना पोजिटिव लोगों को सर्वेलांस पर रखा गया है। अब तक जिला फरीदाबाद में कोराना 114 पोजिटिव केसों को विभिन्न अस्पतालों में दाखिल किया गया है। इनमें से  लोग स्वस्थ होकर कोराना को मात दे चुके हैं।

उपायुक्त यशपाल ने बताया कि होम आईसोलेशन पर जिला मे 113 लोगों को रखा गया है। जबकि एक्टिव केसों की संख्या 227 है। जबकि कई लोग कोरोना को मात देकर स्वस्थ हो चुके हैं। जिला में कोरोना संक्रमण की रफ्तार पर ब्रेक लगाने के लिए टेस्टिंग और वैक्शीनेशन पर जोर दिया जा रहा है। 

जिला विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा चलाया गया टी-का-क-र-ण अभियान

faridabad-dlsa-news
Faridabad DLSA Vacci-nation drive for orphan children on 15 June 2021.

फरीदाबाद, 15 जून। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण (Faridabad DLSA) द्वारा दिव्यांगजनों व अनाथ बच्चों के लिए विशेष टी-का-क-र-ण  अभियान चलाया गया। यह टी-का-क-र-ण  अभियान जिला सत्र न्यायाधीश एवं जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के अध्यक्ष यशवीर सिंह राठौर के दिशा-निर्देशों के अनुसार चलाया गया।

सीजेएम कम् Faridabad DLSA सचिव मंगलेश कुमार चौबे ने बताया कि जिला में विभिन्न अनाथालयों में पल रहे अनाथ, मानसिक व शारीरिक रूप से अपंग बच्चों के लिए स्वास्थ्य विभाग फरीदाबाद के साथ मिलकर यह विशेष टी-का-क-र-ण  अभियान चलाया गया। 

जिसमें आज मंगलवार को एस.ओ.एस. चिल्ड्रन विलेज सेक्टर 29, एस.ओ.एस. ग्रीन फील्ड, सेंट जोसेफ सर्विस सोसाइटी, चाइल्डलाइन, सीडब्ल्यूसी कर्मचारियों व दिव्यांग बच्चों, अनाथ बच्चों के लिए टी-का-क-र-ण  कैंप लगवाया गया। जिसमें लगभग 90 बच्चों व स्टाफ मेंबर्स को कोरोना का टी-का-क-र-ण  किया गया। 

इस कोविड-19 वैश्विक महामारी के समय में अनाथालय में पल रहे बच्चों की तरफ ध्यान देते हुए पैनल अधिवक्ता संजय गुप्ता व अर्चना गोयल एडवोकेट को न्यायधीश मंगलेश कुमार चौबे से विशेष टी-का-क-र-ण कैंप आयोजित करने के दिशा-निर्देश दिए गए। उनके दिशा-निर्देशन में आज यह टी-का-क-र-ण कैम्प आयोजित किया गया।

फरीदाबाद में कोरोना की पराजय जारी, आज सिर्फ 29 नए केस

faridabad-corona-virus-infection-update-10-june-2021
Faridabad Corona Virus Infection Update 10 June 2021, only 29 new positive cases reported while 40 patient recovered in district.

Faridabad News 10 June 2021: फरीदाबाद में कोरोना वायरस का अंत निकट है इसलिए अब फड़फड़ा रहा है और शहरवासी जीत से चंद क़दमों की दूरी पर हैं हालाँकि सावधानी आगे भी बरतनी जरूरी होगी।

फरीदाबाद,10 जून -  जिला के लोगों के लिए आज भी अच्छी खबर रही 2 महीने बाद आज वीरवार को कोरोना के मामले 30 से नीचे आए । वीरवार को जिला में 29 लोग कोरोना वायरस से पॉजिटिव पाए गए। जिला का कोरोना को हराकर बाउंस बैक करने का यह क्रम लगातार पांचवें सप्ताह से निरंतर चौत्तीसवें दिन जारी रहा है। इसमें एक अच्छी खबर यह भी है की वीरवार को जिला में  40 लोग कोरोना को हराकर स्वस्थ हो अपने घरों को लौटे।

लगातार चौत्तीसवें दिन कोरोना को हराने वालों की संख्या संक्रमित से ज्यादा होने पर फरीदाबाद जिला वासी निरन्तर राहत की सांस ले रहे है। जिला वासियों को अब यह उम्मीद बंध गई है कि सभी के सहयोग और सतर्कता से वैश्विक महामारी कोराना का प्रकोप जिला में निरन्तर बहुत कम होता नजर आ रहा है। फरीदाबाद वासियों द्वारा सावधानी बरतने और लॉकडाउन बढाने की वजह से कोरोना संक्रमण की चेन को तोड़ने में बड़ी सफलता मिल रही है।

 आज वीरवार को जिला स्वास्थ्य विभाग के द्वारा स्वास्थ्य बुलेटिन के अनुसार फरीदाबाद जिला में अब तक 540278 लोगों को अब तक सर्वेलांस पर रखा गया है। जिन्होंने 28 दिनों का सर्वेलांस पूरा कर लिया है उनकी संख्या 537874 हो गई है।

इसके अलावा 99511 कोराना पोजिटिव लोगों को सर्वेलांस पर रखा गया है। अब तक जिला फरीदाबाद में कोराना 162 पोजिटिव केसों को विभिन्न अस्पतालों में दाखिल किया गया है। इनमें से  लोग स्वस्थ होकर कोराना को मात दे चुके हैं।

उपायुक्त यशपाल ने बताया कि होम आईसोलेशन पर जिला मे 183 लोगों को रखा गया है। जबकि एक्टिव केसों की संख्या 345 है। जबकि कई लोग कोरोना को मात देकर स्वस्थ हो चुके हैं। जिला में कोरोना संक्रमण की रफ्तार पर ब्रेक लगाने के लिए टेस्टिंग और वैक्शीनेशन पर जोर दिया जा रहा है। जिला में पिछले 24 घंटे में 3 हजार 198 टेस्ट किए गए। जबकि अब तक जिला फरीदाबाद में 878466 लोगों ने अब तक टेस्ट करवाया गया। इनमें से 99511 लोग कोराना पोजिटिव पाए गए। जबकि 77831 लोग नेगेटिव मिले।

अब तक जिला में  824 लोगों के रिजल्ट आने बाकी है।

 जिला फरीदाबाद में आक्सीजन पर 104 और वेन्टीलेटर पर 8 केस है।

 जिला में सैम्पल पोजिटिव रेट 11.3 प्रतिशत है।जबकि रिकवरी रेट 98.9 प्रतिशत है। जिला मे एक्टिव केस रेट 0.4 प्रतिशत है।

इस महामारी को फैलने से रोकने के लिए टीकाकरण भी जोर शोर से किया जा रहा है। वीरवार को भी कोरोना रोधी वैक्सीन लगातार लगाई जा रही है।

आंकड़ों के अनुसार फरीदाबाद जिला में कुल एक्टिव केसों की संख्या 345 है जिनमें से 183 मरीज होम आइसोलेशन में है अर्थात वे अपने घर पर ही रह कर स्वस्थ हो रहे हैं। जिला फरीदाबाद वासी एक लाख लोगों में से 48803 लोग कोविड टेस्टिंग करवा रहे हैं।

उपायुक्त यशपाल ने फरीदाबाद जिला वासियों से अपील की है कि वे अब भी निरन्तर कोरोना को मात देने के लिए सावधानी लगातार बरतते रहें और कोशिश करें कि अपने घर के अंदर ही रहे। जब तक बहुत जरूरी ना हो, तब तक घर से बाहर ना निकले और बाहर निकलते समय अपने मुंह और नाक को कवर करते हुए फेस मास्क का प्रयोग अवश्य करें। इसके अलावा, एक दूसरे के बीच दो गज की दूरी जरूर रखें। हाथों को बार बार साबुन से धोते रहें  या सनेटाइजर करते रहे। कोरोना के बारे में कोई भी जानकारी लेनी हो तो कॉविड हेल्पलाइन नंबर 1950 पर डायल करें जो कि सप्ताह के सातों दिन 24 घंटे संचालित की जा रही है। इसके अलावा, जिला प्रशासन ने  मोबाइल नंबर पर व्हाट्सएप चैट बोट के माध्यम से सूचनाएं देने की व्यवस्था भी की है।

Faridabad News: अब सिर्फ 197 कोरोना मरीज अस्पतालों में भर्ती, नए केसों की संख्या में भारी कमीं

faridabad-news-corona-virus-infection-41-cases-on-8-june-2021
Faridabad News of Corona Virus Infection in District. Only 197 Corona Patient admitted in Hospitals. News Cases dicreased to 41 on 8 June 2021.

Faridabad, 8 June 2021: जिला के लोगों के लिए आज भी अच्छी खबर रही 2 महीने बाद आज मंगलवार को कोरोना के मामले 50 से नीचे आए । सोमवार को जिला में 41 लोग Corona Virus से पॉजिटिव पाए गए। जिला का कोरोना को हराकर बाउंस बैक करने का यह क्रम लगातार पांचवें सप्ताह से निरंतर बत्तीसवें दिन जारी रहा है। इसमें एक अच्छी खबर यह भी है की सोमवार को जिला में  59 लोग कोरोना को हराकर स्वस्थ हो अपने घरों को लौटे।

लगातार बत्तीसवें दिन Corona Virus को हराने वालों की संख्या संक्रमित से ज्यादा होने पर फरीदाबाद जिला वासी निरन्तर राहत की सांस ले रहे है। जिला वासियों को अब यह उम्मीद बंध गई है कि सभी के सहयोग और सतर्कता से वैश्विक महामारी कोराना का प्रकोप जिला में निरन्तर बहुत कम होता नजर आ रहा है। फरीदाबाद वासियों द्वारा सावधानी बरतने और लॉकडाउन बढाने की वजह से Corona Virus संक्रमण की चेन को तोड़ने में बड़ी सफलता मिल रही है।

आज मंगलवार को जिला स्वास्थ्य विभाग के द्वारा स्वास्थ्य बुलेटिन के अनुसार फरीदाबाद जिला में अब तक 539977 लोगों को अब तक सर्वेलांस पर रखा गया है। जिन्होंने 28 दिनों का सर्वेलांस पूरा कर लिया है उनकी संख्या 535410 हो गई है।

इसके अलावा 99455 कोराना पोजिटिव लोगों को सर्वेलांस पर रखा गया है। अब तक जिला फरीदाबाद में कोराना 197 पोजिटिव केसों को विभिन्न अस्पतालों में दाखिल किया गया है। इनमें से  लोग स्वस्थ होकर कोराना को मात दे चुके हैं।

उपायुक्त यशपाल ने बताया कि Home Isolation पर जिला मे 188 लोगों को रखा गया है। जबकि एक्टिव केसों की संख्या 385 है। जबकि कई लोग कोरोना को मात देकर स्वस्थ हो चुके हैं। जिला में कोरोना संक्रमण की रफ्तार पर ब्रेक लगाने के लिए Corona Testing and Vaccination पर जोर दिया जा रहा है। जिला में पिछले 24 घंटे में 2 हजार 416 टेस्ट किए गए। जबकि अब तक जिला फरीदाबाद में 871619 लोगों ने अब तक टेस्ट करवाया गया। इनमें से 99455 लोग कोराना पोजिटिव पाए गए। जबकि 771617 लोग नेगेटिव मिले।

अब तक जिला में  547 लोगों के रिजल्ट आने बाकी है।

 जिला फरीदाबाद में आक्सीजन पर 118 और वेन्टीलेटर पर 8 केस है।

 जिला में सैम्पल पोजिटिव रेट 11.4 प्रतिशत है।जबकि रिकवरी रेट 98.9 प्रतिशत है। जिला मे एक्टिव केस रेट 0.5 प्रतिशत है।

इस महामारी को फैलने से रोकने के लिए टीकाकरण भी जोर शोर से किया जा रहा है। मंगलवार को भी कोरोना रोधी वैक्सीन लगातार लगाई जा रही है।

आंकड़ों के अनुसार फरीदाबाद जिला में कुल एक्टिव केसों की संख्या 385 है जिनमें से 188 मरीज होम आइसोलेशन में है अर्थात वे अपने घर पर ही रह कर स्वस्थ हो रहे हैं। जिला फरीदाबाद वासी एक लाख लोगों में से 48423 लोग कोविड टेस्टिंग करवा रहे हैं।

Faridabad: Black Fungus बीमारी का Treatment संभव है, ठीक हो रहे हैं रोगी, डॉ रणदीप पूनिया

black-fungus-treatment-in-faridabad-dr-randeep-poonia-cmo
Faridabad CMO Dr Randeep Poonia told Black Fungus treatment in Faridabad may be possivle and patient being recovered in various hospitals.

Faridabad News 6 June: मुख्य चिकित्सा अधिकारी Dr Randeep Poonia ने कहा कि Black Fungus लाईलाज बीमारी नहीं है। इसका ईलाज सम्भव है। यह नई बीमारी नही है।

 Black Fungus Treatment

उन्होंने कहा कि जो लोग कोरोना पोजिटिव होने पर यह बीमारी उस मरीज को जल्द ही अपनी चपेट में ले लेती है। इसके अलावा जिन लोगों का स्वस्थ कमजोर है और जो व्यक्ति मधुमेह, स्टेरॉयड थेरेपी, कोविड -19 के मामले वाले लोग ब्लैक फंगस बीमारी की चपेट में आ जाते हैं। डाँ रणदीप पूनियां ने कहा कि ब्लैक फंगस बीमारी का थोड़ी सी सावधानी बरतने से ही इसका आसानी से बचाव सम्भव है।

उन्होंने आम जनता से अपील करते हुए कहा कि इस बीमारी से घबराने की जरूरत नहीं है बल्कि इसके बचाव के लिए नियमों की पालना बहुत जरुरी है। उन्होंने कहा कि Corona Vaccination के बाद भी सरकार द्वारा निर्धारित किए कोरोना बचाव मापदंडों  की पालना करें। एक दुसरे व्यक्ति से दो गज सामाजिक दूरी बनाकर रखें। अपने मूहँ पर मास्क लगाकर रखें। अपने घरों में ही रहे। जरूरी कार्य से ही घर से बाहर निकले और  अपने हाथों को बार-बार साबुन से धोते रहे या सनेटाइजर करते रहे।

ईएसआईसी के रजिस्ट्रार Dr Anil Panday ने बताया कि में वर्तमान में ब्लैक फंगस बीमारी के 23 लोग मेडिकल संस्थान में उपचाराधीन है। इनमें से ईएसआईसी के चिकित्सकों द्वारा 14 उपचाराधीन लोगों की सर्जरी मेडिकल कॉलेज में और 95 लोगों  प्राईवेट अस्पतालों मे ईलाज ले रहे हैं।इनमें से 39 केस कंफ्रम हैं,35 लोग ठीक हो गए है और 9 केस सस्पैक्डि तथा 4 केस लामा से सम्बंधित हैं।

उपचारधीन लोग अब स्वास्थ्य का सुधार होने पर अच्छा फील कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि मेडिकल संस्थान में Amphotericin B (Injection used in Corona Fungus Disease Treatment) की पर्याप्त उपलब्धता के तहत वर्तमान में 19 इसे प्राप्त कर रहे हैं।

Amphotericin B (Injection used in Corona Fungus Disease Treatment)  देने का मानदंड किडनी फंक्शन टेस्ट और सीरम कैल्शियम स्तर पर निर्भर करता है। उन्होंने बताया कि अब ईएसआईसी ने मामलों का जल्द पता लगाना शुरू कर दिया है ताकि तुरंत इलाज शुरू किया जा सके।

 डाँ अनिल पाण्डेय ने बताया कि जिन लोगों का स्वस्थ कमजोर है और जो व्यक्ति मधुमेह, स्टेरॉयड थेरेपी, कोविड -19 के मामले, इम्यूनोसप्रेसिव उपचार कर रहे हैं। वे

प्रारंभिक अवस्था में Mucormycosis की मुख्य विशेषताएं रुकी हुई नाक, नाक के अंदर और आसपास दर्द, आंखें, सिरदर्द हैं। ऐसे लक्षण वाले व्यक्ति का यदि जल्दी पता चल जाए तो ब्लैक फंगस बीमारी का पूर्ण इलाज (Black Fungus Treatment) संभव है। 

अंत के करीब पहुंचा Corona Virus, Faridabad में आज सिर्फ 19 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव

corona-virus-infection-and-vaccination-in-faridabad-update
Corona Virus infection in Faridabad dicreased, only 19 positive cases reported on 5 June 2021 in Faridabad while 120 patient recovered, Corona Vaccination continue in Faridabad District.

Faridabad News 5 June: जिला के लोगों के लिए आज भी अच्छी खबर रही 2 महीने बाद आज शनिवार को Corona Virus के मामले 50 से नीचे आए । शनिवार को जिला में 37 लोग Corona Virus से पॉजिटिव पाए गए। जिला का कोरोना को हराकर बाउंस बैक करने का यह क्रम लगातार चौथे सप्ताह से निरंतर उन्तीसवें दिन जारी रहा है। इसमें एक अच्छी खबर यह भी है की शनिवार को जिला में  120 लोग कोरोना को हराकर स्वस्थ हो अपने घरों को लौटे।

लगातार उन्तीसवें दिन Corona Virus को हराने वालों की संख्या संक्रमित से ज्यादा होने पर Faridabad District वासी निरन्तर राहत की सांस ले रहे है। जिला वासियों को अब यह उम्मीद बंध गई है कि सभी के सहयोग और सतर्कता से वैश्विक महामारी कोराना का प्रकोप जिला में निरन्तर बहुत कम होता नजर आ रहा है। फरीदाबाद वासियों द्वारा सावधानी बरतने और लॉकडाउन बढाने की वजह से Corona Virus संक्रमण की चेन को तोड़ने में बड़ी सफलता मिल रही है।

 आज शनिवार को जिला स्वास्थ्य विभाग के द्वारा स्वास्थ्य बुलेटिन के अनुसार फरीदाबाद जिला में अब तक 539920 लोगों को अब तक सर्वेलांस पर रखा गया है। जिन्होंने 28 दिनों का सर्वेलांस पूरा कर लिया है उनकी संख्या 533261 हो गई है।

इसके अलावा 99344 Corona Virus पोजिटिव लोगों को सर्वेलांस पर रखा गया है। अब तक जिला फरीदाबाद में कोराना 234 पोजिटिव केसों को विभिन्न अस्पतालों में दाखिल किया गया है। इनमें से  लोग स्वस्थ होकर कोराना को मात दे चुके हैं।

उपायुक्त यशपाल ने बताया कि होम आईसोलेशन पर जिला मे 277 लोगों को रखा गया है। जबकि एक्टिव केसों की संख्या 511 है। जबकि कई लोग कोरोना को मात देकर स्वस्थ हो चुके हैं। जिला में कोरोना संक्रमण की रफ्तार पर ब्रेक लगाने के लिए टेस्टिंग और Corona Vaccination पर जोर दिया जा रहा है। जिला में पिछले 24 घंटे में 3 हजार 425 टेस्ट किए गए। जबकि अब तक जिला फरीदाबाद में 863732 लोगों ने अब तक टेस्ट करवाया गया। इनमें से 99344 लोग कोराना पोजिटिव पाए गए। जबकि 763513 लोग नेगेटिव मिले।

अब तक जिला में  875 लोगों के रिजल्ट आने बाकी है।

 जिला फरीदाबाद में आक्सीजन पर 118 और वेन्टीलेटर पर 17 केस है।

 जिला में सैम्पल पोजिटिव रेट 11.5 प्रतिशत है। जबकि रिकवरी रेट 98.8 प्रतिशत है। जिला मे एक्टिव केस रेट 0.5 प्रतिशत है।

इस महामारी को फैलने से रोकने के लिए Corona Vaccination भी जोर शोर से किया जा रहा है। शनिवार को भी कोरोना रोधी वैक्सीन लगातार लगाई जा रही है।

आंकड़ों के अनुसार फरीदाबाद जिला में कुल एक्टिव केसों की संख्या 511 है जिनमें से 277 मरीज होम आइसोलेशन में है अर्थात वे अपने घर पर ही रह कर स्वस्थ हो रहे हैं। जिला फरीदाबाद वासी एक लाख लोगों में से 47985 लोग कोविड टेस्टिंग करवा रहे हैं.

कोरोना की टूटी कमर, आज सिर्फ 64 लोगों की रिपोर्ट आयी पॉजिटिव

corona-virus-disease-update-faridabad-3-june-2021
Corona Virus Disease update in Faridabad. Only 64 new positive cases reported in Faridabad District while 144 patients recoverred on 2 June 2021.

Faridabad News 3 June 2021: जिला के लोगों के लिए आज अच्छी खबर रही 2 महीने बाद पहली बार कोरोना के मामले 100 से नीचे आए । गुरुवार को जिला में 64 लोग कोरोना वायरस से पॉजिटिव पाए गए। जिला का कोरोना को हराकर बाउंस बैक करने का यह क्रम लगातार चौथे सप्ताह से निरंतर अठाईसवें दिन  जारी रहा है। इसमें एक अच्छी खबर यह भी है की वीरवार को जिला में  144 लोग कोरोना को हराकर स्वस्थ हो अपने घरों को लौटे।

लगातार अठाईसवें दिन कोरोना को हराने वालों की संख्या संक्रमित से ज्यादा होने पर फरीदाबाद जिला वासी लगातार राहत की सांस ले रहे है। जिला वासियों को अब यह उम्मीद बंध गई है कि सभी के सहयोग और सतर्कता से वैश्विक महामारी कोराना का प्रकोप जिला में निरन्तर बहुत कम होता नजर आ रहा है। फरीदाबाद वासियों द्वारा सावधानी बरतने और लॉकडाउन बढाने की वजह से कोरोना संक्रमण की चेन को तोड़ने में बड़ी सफलता मिल रही है।

 आज वीरवार को जिला स्वास्थ्य विभाग के द्वारा स्वास्थ्य बुलेटिन के अनुसार फरीदाबाद जिला में अब तक 538713 लोगों को अब तक सर्वेलांस पर रखा गया है। जिन्होंने 28 दिनों का सर्वेलांस पूरा कर लिया है उनकी संख्या 532304 हो गई है।

इसके अलावा 99241 कोराना पोजिटिव लोगों को सर्वेलांस पर रखा गया है। अब तक जिला फरीदाबाद में कोराना 297 पोजिटिव केसों को विभिन्न अस्पतालों में दाखिल किया गया है। इनमें से  लोग स्वस्थ होकर कोराना को मात दे चुके हैं।

उपायुक्त यशपाल ने बताया कि होम आईसोलेशन पर जिला मे 355 लोगों को रखा गया है। जबकि एक्टिव केसों की संख्या 652 है। जबकि कई लोग कोरोना को मात देकर स्वस्थ हो चुके हैं। जिला में कोरोना संक्रमण की रफ्तार पर ब्रेक लगाने के लिए टेस्टिंग और वैक्शीनेशन पर जोर दिया जा रहा है। जिला में पिछले 24 घंटे में 3 हजार 313 टेस्ट किए गए। जबकि अब तक जिला फरीदाबाद में 856470 लोगों ने अब तक टेस्ट करवाया गया। इनमें से 99241 लोग कोराना पोजिटिव पाए गए। जबकि 756082 लोग नेगेटिव मिले।

अब तक जिला में  1147 लोगों के रिजल्ट आने बाकी है।  जिला फरीदाबाद में आक्सीजन पर 142 और वेन्टीलेटर पर 21 केस है।

 जिला में सैम्पल पोजिटिव रेट 11.6 प्रतिशत है।जबकि रिकवरी रेट 98.6 प्रतिशत है। जिला मे एक्टिव केस रेट 0.6 प्रतिशत है।

इस महामारी को फैलने से रोकने के लिए टीकाकरण भी जोर शोर से किया जा रहा है। वीरवार को भी कोरोना रोधी वैक्सीन लगातार लगाई जा रही है।

आंकड़ों के अनुसार फरीदाबाद जिला में कुल एक्टिव केसों की संख्या 652 है जिनमें से 355 मरीज होम आइसोलेशन में है अर्थात वे अपने घर पर ही रह कर स्वस्थ हो रहे हैं। जिला फरीदाबाद वासी एक लाख लोगों में से 47581 लोग कोविड टेस्टिंग करवा रहे हैं।

उपायुक्त यशपाल ने फरीदाबाद जिला वासियों से अपील की है कि वे अब भी निरन्तर कोरोना को मात देने के लिए सावधानी लगातार बरतते रहें और कोशिश करें कि अपने घर के अंदर ही रहे। जब तक बहुत जरूरी ना हो, तब तक घर से बाहर ना निकले और बाहर निकलते समय अपने मुंह और नाक को कवर करते हुए फेस मास्क का प्रयोग अवश्य करें। इसके अलावा, एक दूसरे के बीच दो गज की दूरी जरूर रखें। हाथों को बार बार साबुन से धोते रहें  या सनेटाइजर करते रहे। कोरोना के बारे में कोई भी जानकारी लेनी हो तो कॉविड हेल्पलाइन नंबर 1950 पर डायल करें जो कि सप्ताह के सातों दिन 24 घंटे संचालित की जा रही है। इसके अलावा, जिला प्रशासन ने  मोबाइल नंबर पर व्हाट्सएप चैट बोट के माध्यम से सूचनाएं देने की व्यवस्था भी की है।

For Faridabad News in Hindi click on www.faridabadlatestnews.com

तीसरी लहर के लिए पहले से ही तैयार है Faridabad Administration: उपायुक्त यशपाल

faridabad-administration-ready-for-third-wave-of-corona-virus-disease

Faridabad Administration is ready for third wave of Corona Virus Disease (Covid-19) and installed three oxygen plant in the city, This information was given by Faridabad Deputy Commissioner Yashpal Yadav in a virtual press conference.

फरीदाबाद, 02 जून। उपायुक्त यशपाल ने कहा कि कोविड-19 की पहली व दूसरी लहर से हम सभी गंभीरता से लड़े हैं और सभी लोगों के सहयोग की बदौलत ही हम इसे काबू पाने में सफल रहे हैं। उन्होंने कहा कि चुनौती अभी खत्म नहीं हुई है और किसी भी तरह की तीसरी संभावित लहर की संभावना अभी हमारे सामने बनी हुई है। उन्होंने कहा कि इससे निपटने के लिए भी जिला प्रशासन पूरी तरह से तैयार है। उपायुक्त यशपाल बुधवार को पत्रकार वार्ता को संबोधित कर रहे थे।

पत्रकार वार्ता में संबोधित करते हुए उपायुक्त यशपाल ने कहा कि कोविड-19 की दूसरी लहर में सबसे ज्यादा मामले 29 अप्रैल को 2900 मामले दर्ज किए गए। इसके बाद 9 मई से मामले कम होने शुरू हुए और मौजूदा समय में जिला में कोविड-19 के 800 से भी कम पॉजिटिव मामले हैं। 

उन्होंने बताया कि फिलहाल 40 लोग वेंटिलेटर पर हैं। उपायुक्त ने बताया कि जिला में पिछले दिनों ऑक्सीजन की काफी कमी झेलनी पड़ी। भविष्य में ऐसा न हो इसके लिए तीन ऑक्सीजन प्लांट जिनमें ई.एस.आई मेडिकल कॉलेज, जिला बी.के. सिविल अस्पताल और एशियन अस्पताल में ऑक्सीजन प्लांट लगाए जा चुके हैं। इसके साथ ही 7 ऑक्सीजन प्लांट लगने के लिए प्रक्रिया जारी है। उपायुक्त ने बताया कि मरीजों के लिए जिला में पर्याप्त संख्या में ऑक्सीजन कांसन्त्रेटर और सिलेंडर भी मौजूद हैं। 

उपायुक्त ने बताया कि टीकाकरण को लेकर जिला में विशेष रूप से फोकस है और अब तक 5 लाख 46 हजार लोगों को कोविड-19 का टीकाकरण किया जा चुका है। उन्होंने बताया कि टीकाकरण को लेकर अलग-अलग जगह से शेड्यूल तय किए जाते हैं और इनके अनुसार ही टीकाकरण किया जा रहा है। उपायुक्त ने बताया कि जिला में मौजूदा समय में तीन आरटीपीसीआर लैब कार्य कर रही हैं और सिविल अस्पताल में भी यह लैब शुरू कर दी गई है। 

उन्होंने बताया कि सिविल अस्पताल में टाटा कंपनी द्वारा 100 बैड का अतिरिक्त अस्पताल बनाया जा रहा है। इसके अलावा बी.के. अस्पताल में 200 बेड बढ़ाए जाएंगे। वहीं एबीवी मैडिकल कालेज छांयसा में 200 बेड से संख्या बढ़ाकर 500 बेड की जाएगी। ई.एस.आई अस्पताल में 500 बेड की व्यवस्था है। अमृता अस्पताल का कार्य भी जल्द-से-जल्द पूरा करने के लिए कहा गया है। उन्होंने बताया कि एस.सी.एल हैल्थकेयर, एच.एस.वी.पी के सेक्टर-16 सनफ्लैग अस्पताल को भी जल्द शुरू करवाने की प्रक्रिया चल रही है। उन्होंने बताया कि सेक्टर-12 व 31 में खेल स्टेडियमों में भी जरूरत पडऩे पर 500 बेडों की व्यवस्था की जा सकती है। इसके साथ ही जरूरत के अनुसार प्राईवेट लोगों द्वारा तैयार किए गए कोविड केयर सेंटरों को भी बड़े भवनों में शुरू किया जा सकता है। 

उपायुक्त यशपाल ने कहा कि तीसरी संभावित लहर बच्चों को ज्यादा प्रभावित करने के अनुमान के बाद जिला में बच्चों के लिए भी सुविधाएं बढ़ाने पर काम चल रहा है। उन्होंने कहा कि ब्लैक  फंगस को लेकर जिला प्रशासन पूरी तरह से गंभीर है। अभी तक जिला में 42 केस कन्फर्म हुए हैं और 7 संदिग्ध मामले हैं। इसके साथ ही 28 लोगों का ईलाज हो चुका है। अभी तक ब्लैक फंगस से 8 मौत हुई हैं और इनमें 4 लोग जिला से बाहर के हैं। 

उपायुक्त ने कहा कि जिला की 82 प्रतिशत आबादी शहरी है। उन्होंने कहा कि इस बार कोविड-19 शहरों से निकलकर ग्रामीण क्षेत्रों में पहुंचा है, लेकिन फरीदाबाद के गांवों में इसका कोई खास असर नहीं रहा है। उन्होंने कहा कि 57 हजार 660 हाउसहोल्ड का सर्वे किया गया। उपायुक्त ने पत्रकार वार्ता में कोविड-19 के दौरान पत्रकारों द्वारा किए गए सकारात्मक कार्यों की भी सराहना की।

कोरोना से जीतने वालों की संख्या नए केसों से डबल से भी अधिक हुई

faridabad-corona-update-1-june-2021-new-cases-testing-vaccination
 

Faridabad Corona Update on 1 June 2021. New cases of Corona Virus infection is around 105 while recovered patient were 236. Read here about Corona Testing in Faridabad and Vaccination update in District.

फरीदाबाद, 1  जून। जिला का कोरोना को हराकर बाउंस बैक करने का क्रम लगातार चौथे सप्ताह से निरंतर छब्बीसवें दिन आज मंगलवार को भी जारी रहा। मंगलवार को जिला में  236 लोग कोरोना को हराकर स्वस्थ हो अपने घरों को लौटे जबकि संक्रमण के 105 नए मामले सामने आए हैं।

लगातार छब्बीसवें दिन कोरोना को हराने वालों की संख्या संक्रमित से ज्यादा होने पर फरीदाबाद जिला वासी लगातार राहत की सांस ले रहे है। जिला वासियों को यह उम्मीद बंध गई है कि अब सभी के सहयोग और सतर्कता से वैश्विक महामारी कोराना का प्रकोप जिला में निरन्तर कम होता नजर आ रहा है। फरीदाबाद वासियों द्वारा सावधानी बरतने और लॉकडाउन बढाने की वजह से कोरोना संक्रमण की चेन को तोड़ने में काफी हद तक सफलता मिल रही है।

आज मंगलवार को जिला स्वास्थ्य विभाग के द्वारा स्वास्थ्य बुलेटिन के अनुसार फरीदाबाद जिला में अब तक 537914 लोगों को अब तक सर्वेलांस पर रखा गया है। जिन्होंने 28 दिनों का सर्वेलांस पूरा कर लिया है उनकी संख्या 528851 हो गई है।

इसके अलावा 98050 कोराना पोजिटिव लोगों को सर्वेलांस पर रखा गया है। अब तक जिला फरीदाबाद में कोराना 497 पोजिटिव केसों को विभिन्न अस्पतालों में दाखिल किया गया है। इनमें से  लोग स्वस्थ होकर कोराना को मात दे चुके हैं।

उपायुक्त यशपाल ने बताया कि होम आईसोलेशन पर जिला मे 330 लोगों को रखा गया है। जबकि एक्टिव केसों की संख्या 827 है। जबकि कई लोग कोरोना को मात देकर स्वस्थ हो चुके हैं। जिला में कोरोना संक्रमण की रफ्तार पर ब्रेक लगाने के लिए टेस्टिंग और वैक्शीनेशन पर जोर दिया जा रहा है। जिला में पिछले 24 घंटे में 4 हजार 553 टेस्ट किए गए। जबकि अब तक जिला फरीदाबाद में 848933 लोगों ने अब तक टेस्ट करवाया गया। इनमें से 99050 लोग कोराना पोजिटिव पाए गए। जबकि 748140 लोग नेगेटिव मिले।

अब तक जिला में  1743 लोगों के रिजल्ट आने बाकी है।  जिला फरीदाबाद में आक्सीजन पर 204 और वेन्टीलेटर पर 40 केस है। जिला में सैम्पल पोजिटिव रेट 11.7 प्रतिशत है।जबकि रिकवरी रेट 98.4 प्रतिशत है। जिला मे एक्टिव केस रेट 0.8 प्रतिशत है।

इस महामारी को फैलने से रोकने के लिए टीकाकरण भी जोर शोर से किया जा रहा है। मंगलवार को भी कोरोना रोधी वैक्सीन लगातार लगाई जा रही है।

आंकड़ों के अनुसार फरीदाबाद जिला में कुल एक्टिव केसों की संख्या 827 है जिनमें से 330 मरीज होम आइसोलेशन में है अर्थात वे अपने घर पर ही रह कर स्वस्थ हो रहे हैं। जिला फरीदाबाद वासी एक लाख लोगों में से 47162 लोग कोविड टेस्टिंग करवा रहे हैं।

उपायुक्त यशपाल ने फरीदाबाद जिला वासियों से अपील की है कि वे कोरोना को मात देने के लिए सावधानी लगातार बरतते रहें और कोशिश करें कि अपने घर के अंदर ही रहे। जब तक बहुत जरूरी ना हो, तब तक घर से बाहर ना निकले और बाहर निकलते समय अपने मुंह और नाक को कवर करते हुए फेस मास्क का प्रयोग अवश्य करें। इसके अलावा, एक दूसरे के बीच दो गज की दूरी जरूर रखें। कोरोना के बारे में कोई भी जानकारी लेनी हो तो कॉविड हेल्पलाइन नंबर 1950 पर डायल करें जो कि सप्ताह के सातों दिन 24 घंटे संचालित की जा रही है। इसके अलावा, जिला प्रशासन ने  मोबाइल नंबर पर व्हाट्सएप चैट बोट के माध्यम से सूचनाएं देने की व्यवस्था भी की है।

फरीदाबाद में अब सिर्फ 547 कोरोना मरीज अस्तपालों में भर्ती, 543 लोग अपने घरों में करा रहे इलाज

faridabad-corona-update-30-may-2021-news

फरीदाबाद, 30 मई। जिला का कोरोना को हराकर बाउंस बैक करने का क्रम लगातार चौथे सप्ताह से निरंतर चौबीसवें दिन आज रविवार को भी जारी रहा। रविवार को जिला में  328 लोग कोरोना को हराकर स्वस्थ हो अपने घरों को लौटे जबकि संक्रमण के 114 नए मामले सामने आए हैं।

लगातार चौबीसवें दिन कोरोना को हराने वालों की संख्या संक्रमित से ज्यादा होने पर फरीदाबाद जिला वासी लगातार राहत की सांस ले रहे है। जिला वासियों को यह उम्मीद बंध गई है कि अब सभी के सहयोग और सतर्कता से वैश्विक महामारी कोराना का प्रकोप जिला में निरन्तर कम होता नजर आ रहा है। फरीदाबाद वासियों द्वारा सावधानी बरतने और लॉकडाउन बढाने की वजह से कोरोना संक्रमण की चेन को तोड़ने में काफी हद तक सफलता मिल रही है।

आज रविवार को जिला स्वास्थ्य विभाग के द्वारा स्वास्थ्य बुलेटिन के अनुसार फरीदाबाद जिला में अब तक 536801 लोगों को अब तक सर्वेलांस पर रखा गया है। जिन्होंने 28 दिनों का सर्वेलांस पूरा कर लिया है उनकी संख्या 524240 हो गई है।

इसके अलावा 98843 कोराना पोजिटिव लोगों को सर्वेलांस पर रखा गया है। अब तक जिला फरीदाबाद में कोराना 547 पोजिटिव केसों को विभिन्न अस्पतालों में दाखिल किया गया है। इनमें से  लोग स्वस्थ होकर कोराना को मात दे चुके हैं।

उपायुक्त यशपाल ने बताया कि होम आईसोलेशन पर जिला मे 543 लोगों को रखा गया है। जबकि एक्टिव केसों की संख्या 1090 है। जबकि कई लोग कोरोना को मात देकर स्वस्थ हो चुके हैं। जिला में कोरोना संक्रमण की रफ्तार पर ब्रेक लगाने के लिए टेस्टिंग और वैक्शीनेशन पर जोर दिया जा रहा है। जिला में पिछले 24 घंटे में 1 हजार 994 टेस्ट किए गए। जबकि अब तक जिला फरीदाबाद में 839916 लोगों ने अब तक टेस्ट करवाया गया। इनमें से 98843 लोग कोराना पोजिटिव पाए गए। जबकि 739401 लोग नेगेटिव मिले।

अब तक जिला में  1672 लोगों के रिजल्ट आने बाकी है।

 जिला फरीदाबाद में आक्सीजन पर 234 और वेन्टीलेटर पर 42 केस है।

 जिला में सैम्पल पोजिटिव रेट 11.8 प्रतिशत है।जबकि रिकवरी रेट 98.2 प्रतिशत है। जिला मे एक्टिव केस रेट 1.0 प्रतिशत है।

इस महामारी को फैलने से रोकने के लिए टीकाकरण भी जोर शोर से किया जा रहा है। रविवार को भी कोरोना रोधी वैक्सीन लगातार लगाई जा रही है।

आंकड़ों के अनुसार फरीदाबाद जिला में कुल एक्टिव केसों की संख्या 1090 है जिनमें से 543 मरीज होम आइसोलेशन में है अर्थात वे अपने घर पर ही रह कर स्वस्थ हो रहे हैं। जिला फरीदाबाद वासी एक लाख लोगों में से 46662 लोग कोविड टेस्टिंग करवा रहे हैं।

उपायुक्त यशपाल ने फरीदाबाद जिला वासियों से अपील की है कि वे कोरोना को मात देने के लिए सावधानी लगातार बरतते रहें और कोशिश करें कि अपने घर के अंदर ही रहे। जब तक बहुत जरूरी ना हो, तब तक घर से बाहर ना निकले और बाहर निकलते समय अपने मुंह और नाक को कवर करते हुए फेस मास्क का प्रयोग अवश्य करें। इसके अलावा, एक दूसरे के बीच दो गज की दूरी जरूर रखें। कोरोना के बारे में कोई भी जानकारी लेनी हो तो कॉविड हेल्पलाइन नंबर 1950 पर डायल करें जो कि सप्ताह के सातों दिन 24 घंटे संचालित की जा रही है। इसके अलावा, जिला प्रशासन ने  मोबाइल नंबर पर व्हाट्सएप चैट बोट के माध्यम से सूचनाएं देने की व्यवस्था भी की है।

फरीदाबाद में खात्मे की तरफ कोरोना, नए केसों की संख्या में लगातार कमीं जारी

 

faridabad-corona-virus-infection-speed-become-slow

फरीदाबाद, 24 मई: फरीदाबाद जिले में कोरोना खात्में की तरफ बढ़ रहा है, रोजाना ठीक होने वालों की संख्या बढ़ सकती और नए केस घटते जा रहे हैं.

जिला का कोरोना को हराकर बाउंस बैक करने का क्रम लगातार तीसरे सप्ताह से निरंतर सतरहवें दिन आज रविवार को भी जारी रहा। रविवार को जिला में  718 लोग कोरोना को हराकर स्वस्थ हो अपने घरों को लौटे जबकि संक्रमण के 299 नए मामले सामने आए हैं।

लगातार सतरहवें दिन कोरोना को हराने वालों की संख्या संक्रमित से ज्यादा होने पर फरीदाबाद जिला वासी लगातार राहत की सांस ले रहे है। जिला वासियों को यह उम्मीद बंध गई है कि अब सभी के सहयोग और सतर्कता से वैश्विक महामारी कोराना का प्रकोप जिला में निरन्तर कम होता नजर आ रहा है। फरीदाबाद वासियों द्वारा सावधानी बरतने और लॉकडाउन बढाने की वजह से कोरोना संक्रमण की चेन को तोड़ने में काफी हद तक सफलता मिल रही है।

जिला स्वास्थ्य विभाग के द्वारा स्वास्थ्य बुलेटिन के अनुसार फरीदाबाद जिला में अब तक 531709 लोगों को अब तक सर्वेलांस पर रखा गया है। जिन्होंने 28 दिनों का सर्वेलांस पूरा कर लिया है उनकी संख्या 508318 हो गई है।

इसके अलावा 97940 कोराना पोजिटिव लोगों को सर्वेलांस पर रखा गया है। अब तक जिला फरीदाबाद में कोराना 935 पोजिटिव केसों को विभिन्न अस्पतालों में दाखिल किया गया है। इनमें से  लोग स्वस्थ होकर कोराना को मात दे चुके हैं।

उपायुक्त यशपाल ने बताया कि होम आईसोलेशन पर जिला मे 1874 लोगों को रखा गया है। जबकि एक्टिव केसों की संख्या 2809 है। जबकि कई लोग कोरोना को मात देकर स्वस्थ हो चुके हैं। जिला में कोरोना संक्रमण की रफ्तार पर ब्रेक लगाने के लिए टेस्टिंग और वैक्शीनेशन पर जोर दिया जा रहा है। जिला में पिछले 24 घंटे में 3 हजार 482 टेस्ट किए गए। जबकि अब तक जिला फरीदाबाद में 812057 लोगों ने अब तक टेस्ट करवाया गया। इनमें से 97940 लोग कोराना पोजिटिव पाए गए। जबकि 713748 लोग नेगेटिव मिले।

अब तक जिला में 389 लोगों के रिजल्ट आने बाकी है। 

 जिला फरीदाबाद में आक्सीजन पर 424 और वेन्टीलेटर पर 64 केस है।

 जिला में सैम्पल पोजिटिव रेट 12.1 प्रतिशत है।जबकि रिकवरी रेट 96.4 प्रतिशत है। जिला मे एक्टिव केस रेट 2.8 प्रतिशत है।

इस महामारी को फैलने से रोकने के लिए टीकाकरण भी जोर शोर से किया जा रहा है। रविवार को भी कोरोना रोधी वैक्सीन लगातार लगाई जा रही है।

आंकड़ों के अनुसार फरीदाबाद जिला में कुल एक्टिव केसों की संख्या 2809 है जिनमें से 1874 मरीज होम आइसोलेशन में है अर्थात वे अपने घर पर ही रह कर स्वस्थ हो रहे हैं। जिला फरीदाबाद वासी एक लाख लोगों में से 45714 लोग कोविड टेस्टिंग करवा रहे हैं।

उपायुक्त यशपाल ने फरीदाबाद जिला वासियों से अपील की है कि वे कोरोना को मात देने के लिए सावधानी लगातार बरतते रहें और कोशिश करें कि अपने घर के अंदर ही रहे। जब तक बहुत जरूरी ना हो, तब तक घर से बाहर ना निकले और बाहर निकलते समय अपने मुंह और नाक को कवर करते हुए फेस मास्क का प्रयोग अवश्य करें। इसके अलावा, एक दूसरे के बीच दो गज की दूरी जरूर रखें। कोरोना के बारे में कोई भी जानकारी लेनी हो तो कॉविड हेल्पलाइन नंबर 1950 पर डायल करें जो कि सप्ताह के सातों दिन 24 घंटे संचालित की जा रही है। इसके अलावा, जिला प्रशासन ने  मोबाइल नंबर पर व्हाट्सएप चैट बोट के माध्यम से सूचनाएं देने की व्यवस्था भी की है।

दो दिन में कोरोना से 63 डॉक्टरों की मौत, दूसरी लहर में अप्रैल से अब तक 329 डॉक्टर्स की गयी जान

 329-doctors-death-in-corona-second-wave-news-update-in-india


फरीदाबाद, 20 मई: कोरोना वायरस के संक्रमण की वजह से डॉक्टरों की काफी मौत हो रही है, सिर्फ दो दिन में 63 डॉक्टर्स की मौत हो चुकी और दूसरी लहर में अब तक 329 डॉक्टर्स की मौत हो चुकी है. अप्रैल महीनें से दूसरी लहर के आकड़े रिकॉर्ड किये जा रहे हैं. 

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि यह आंकड़े सिर्फ इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के डॉक्टरों के हैं जिनकी संख्या करीब 305,458 है. जो इस संस्था के  बाहर के डॉक्टर हैं उनका कोई भी रिकॉर्ड नहीं है.

इससे पहले 18 मई को 266 डॉक्टर्स की मौत की रिपोर्ट दी गयी थी जो बढ़कर आज 329 हो गयी. 18 मई को इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ JA Jayalal ने दूसरी लहर के शिकार डॉक्टरों की रिपोर्ट जारी की थी. 
नीचे टेबल में आप कोरोना के शिकार डॉक्टरों का राज्य-वाइज आंकड़ा देख सकते हैं, सबसे अधिक 78 डॉक्टरों की मौत बिहार में हुई है. दिल्ली में 28 और यूपी में 37 डॉक्टरों की मौत हुई है. अन्य सभी राज्यों के आंकड़े आप नीचे देख सकते हैं. यह लिस्ट दो दिन पहले ही है जिसमें दो दिन में मरे 63 डॉक्टर्स का आकड़ा नहीं जोड़ा गया है.

doctor-death-due-to-covid-in-second-wave-in-india

रोजाना हो रही 20-25 डॉक्टर की मौत, दूसरी लहर में दुनिया छोड़ गए सैकड़ों डॉक्टर, IMA ने जताई चिंता

total-doctors-death-due-to-covid-in-second-wave-in-india

फरीदाबाद, 18 मई: कोरोना वायरस संक्रमण की दूसरी लहर डॉक्टरों पर भी भारी पड़ रही है. इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष केके अग्रवाल की भी कल मौत हो गयी.

आज इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ JA Jayalal ने दूसरी लहर के शिकार डॉक्टरों की रिपोर्ट जारी की है. उन्होंने कहा कि हम कोरोना से प्रभावित डॉक्टरों का रजिस्टर मेन्टेन कर रहे हैं, दूसरी लहर में हमने अप्रैल से रजिस्ट्री शुरू की थी और अप्रैल से अब तक यानी सिर्फ डेढ़ महीनें में ही 269 डॉक्टरों की मौत हो गयी. रोजाना हम लोग 20-25 मौत दर्ज कर रहे हैं.
नीचे टेबल में आप कोरोना के शिकार डॉक्टरों का राज्य-वाइज आंकड़ा देख सकते हैं, सबसे अधिक 78 डॉक्टरों की मौत बिहार में हुई है. दिल्ली में 28 और यूपी में 37 डॉक्टरों की मौत हुई है. अन्य सभी राज्यों के आंकड़े आप नीचे देख सकते हैं.

doctor-death-due-to-covid-in-second-wave-in-india

ब्लैक फंगस बीमारी के बारे में कुछ जरूरी जानकारी, किसे हो सकती है, लक्षण क्या हैं, कैसे बचें?

black-fungus-disease-symptoms-diagnosis-treatment-news
 

फरीदाबाद, 17 मई: कोरोना का कहर अभी ख़त्म भी नहीं हुआ है कि एक और बीमारी ने दस्तक दे दिया है, इस बीमारी का नाम ब्लैक फंगस है और अंग्रेजी में Mucormicosis कहा जाता है. हरियाणा सरकार ने भी इसे नोटिफाइड बीमारी मान लिया है और सभी अस्पतालों से इसकी रिपोर्ट देने का निर्देश दिया है.

क्या है ब्लैक फंगस बीमारी के लक्षण

यह बीमारी खतरनाक है, इन्फेक्शन होने पर चेहरे, नाक, साइनस, आँख और दिमाग में फैलकर कोशिकाओं को नष्ट करना शुरू कर देती है हालाँकि रोग की पहचान होने पर आसानी से इलाज किया जा सकता है.

किसे हो सकती है ब्लैक फंगस बीमारी

यह बीमारी अधिकतर कोविड का इलाज करा चुके मरीजों को हो रही है. जिन मरीजों को इलाज के दौरान स्टेरॉयड दवा दी गयी हो जैसे - डेक्सामेथासोन, Methylprednisolone इत्यादि। इसके अलावा जिन मरीजों को ऑक्सीजन सपोर्ट पर या ICU में रखना पड़ा हो और डायबिटीज पर अच्छा नियंत्रण ना रहा हो.

इसके अलावा जिन मरीजों का कैंसर, किडनी ट्रांसप्लांट आदि की दवा चल रही हो.

 क्या हैं ब्लैक फंगस बीमारी के लक्षण

चेहरे में एक तरफ दर्द हो, सूजन हो, या सुन्न हो, छूने पर अहसास ना हो, दांत में दर्द हो, दांत हिलने लगें हो, चबाने में दर्द हो, उलटी में या खांसने पर बलगम में खून आये. 

अगर आपके अंदर ऐसा कोई भी लक्षण दिखे तो विशेषज्ञ डॉक्टर को तुरंत दिखाएं।

ये सावधानियां बरतें

स्वयं या किसी गैर विशेषज्ञ डॉक्टर के कहने से या दोस्त, रिश्तेदार के कहने से स्टेरॉयड दवा का इस्तेमाल शुरू ना करें, स्टेरॉयड दवा लम्बे समय तक नहीं दी जाती और गंभीर बीमारियों में कोई विकल्प ना होने पर ही दी जाती है, खुद डॉक्टर बनकर यह दवा कभी ना खाएं।

फरीदाबाद के निजी अस्पताल में मिला Black Fungus का मरीज, जानिये क्या किया गया उसके साथ

black-fungus-infection-in-faridabad-operation-performed

फरीदाबाद, 16 मई: फरीदाबाद में भी ब्लैक फंगस ने दस्तक दे दी है। हालांकि यहां पीडि़त 68 वर्षीय महिला का निजी अस्पताल के डाक्टरों ने सफल आप्रेशन करके नई जिंदगी दी है। 

निजी अस्पताल के वरिष्ठ ईएनटी स्पेशिलिस्ट डॉ प्रशांत भारद्वाज ने बताया महिला 11 मई को फरीदाबाद के एसएसबी अस्पताल में ईएनटी ओपीडी में आई थी, महिला मरीज पिछले 2 दिनों से चेहरे के दाहिने हिस्से में सूजन, सुन्नता और दर्द से परेशान थी। उसकी नाक से खून का स्राव भी हो रहा था और दाहिनी आंख की रोशनी भी कम हो रही थी। महिला की 26 अप्रैल, 2021 को आरटी-पीसीआर की रिपोर्ट पॉजिटिव आयी थी और वह 15 दिनों से घर पर स्टेरॉयड की हाई डोज ले रही थी। 

डा. भारद्वाज ने बताया कि महिला की जांच करने पर नाक के दोनों हिस्से मे काले रंग के बहुत सारे काली फंगल के टिस्सूस थे, बाएं नथुने की तुलना में दाहिनी नथुने में ज़्यादा टिस्सूस थे। महिला के चेहरे पर सुन्नपन भी मौजूद था और उनका ब्लड शुगर भी बढ़ा हुआ था। उसकी एमआरआई, पीएनएस और ओरबिट रिपोर्ट ब्लैक फंगल संक्रमण का संकेत दे रही थी। उनकी आंखों की जांच भी की गयी जिसमें दाहिनी आंख की दृष्टि लगभग खत्म हो गई थी। डा. प्रशांत भारद्वाज ने बताया कि ब्लैक फंगस संक्रमण को म्यूकरमायकोसिस कहते हैं। 

उन्होंने बताया कि म्यूकरमायकोसिस एक बेहद दुर्लभ संक्रमण है, यह इन्फेक्शन मरीज़ की नाक में दाहिने तरफ मालिरी साईनस व इंफ्राटेम्परोल फोस्सा तक फैल चुका था। ब्लैक फंगस कोविड-19 संक्रमण और उसमे दी जानी वाली स्टेरॉइड्स की वजह से होता है। 

उन्होंने बताया कि सभी जांचों और फिटनेस क्लेरेन्स के बाद उन्हें 14 मई को सर्जरी के लिए ले जाया गया। सर्जरी के दौरान नाक की दोनों गुहाओं से ब्लैक फंगस और निकरोटिक डैड टिस्ससू को हटा दिया गया था। ज्यादा नुक्सान की वजह से दाहिने मैक्सिलरी साइनस की हड्डी को हटा दिया गया था। ऑपरेशन के बाद मरीज़ की सेहत की लगातार मॉनिटरिंग की जा रही है और वह पिछले 3 दिनों से एंटीफंगल दवाइयां (एम्फोटेरिसिन बी) पर है जो सर्जरी से काफी पहले शुरू किया गया था। मरीज़ की हालत अब स्थिर है। 

निजी अस्पताल के निदेशक एवं वरिष्ठ हृदय रोग विशेषज्ञ ने ब्लैक फंगल के सफल आप्रेशन पर अस्पताल के डाक्टरों व  नर्सिंग स्टाफ को बधाई देते हुए उनकी हौंसला अफजाई की। डा. ने कहा कि उनका प्रयास है कि कोरोना महामारी के इस दौर में लोगों को बेहतर चिकित्सा सेवाएं उपलब्ध करवाकर उनके जीवन को बचाया जाए और इसी उद्देश्य को लेकर वह इस दिशा में कार्य कर रहे है। उन्होंने कहा कि यह बहुत ही क्रिटिकल मामला था, जिसे डाक्टरों की टीम ने सूझबूझ से समझा और महिला को नया जीवन दिया।  

वहीं निजी अस्पताल के वरिष्ठ ईएनटी स्पेशिलिस्ट डॉ प्रशांत भारद्वाज ने बताया की म्यूकरमायकोसिस एक दुर्लभ संक्रमण है जो आमतौर पर मिट्टी, पौधों, सड़े हुए फल एवं सब्जय़िों में पाया जाता है। ये फंगस दिमाग़, फेफड़ों को प्रभावित करती है तथा डायबिटीज़ के मरीज़ों या उन मरीज़ों को प्रभावित करती है जिनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होती है। भारत दुनिया का ऐसा सबसे बढ़ा देश है, जहां कोविड के बाद मरीज़ ब्लैक फंगल जैसे बीमारी का शिकार हो रहे हैं। यह फंगल संक्रमण आमतौर पर मधुमेह, स्टेरॉयड पर निर्भर, अनियंत्रित शुगर और इम्यूनोकम्प्रोमाइज्ड रोगियों में देखा जा रहा है।  सभी मरीज़ जो कोरोना संक्रमण से ठीक हो चुके है और खासकर उन्हें जिन्हे मधुमेह हो और उपचार के दौरान स्टेरॉयड दिए गए हो उन्हें ईएनटी स्पेशलिस्ट को जरूर दिखाना चाहिए!