Followers

Recent PostAll the recent news you need to know

युवक पर आरोप, IMT में ताम्बें से भरी गाडी को लूटने की कर रहा था कोशिश, किया गया गिरफ्तार

faridabad-police-arrested-crime-accused-13-august-2020

फरीदाबाद, 12 अगस्त: क्राइम ब्रांच सेक्टर 85 ने सराहनीय कार्य करते हुए  लूट की कोशिश में शामिल आरोपी अमित गांव ताजपुर छावला दिल्ली निवासी को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। हाल ही में आरोपी कुतुब विहार गोयल डेरी छावला दिल्ली इलाके में रह रहा है। 

ACP, धारणा यादव ने जानकारी देते हुए बताया कि आरोपी अमित ने दिनांक 7 अगस्त 2020 को अपने चार साथियों मुकेश, प्रदीप, पप्पू, और ललित सहित फरीदाबाद आईएमटी एरिया में तांबे से भरी गाड़ी को लूटने की योजना बनाई थी। योजना के तहत सभी पांच आरोपियों ने तांबे से भरी गाड़ी का पीछा कंपनी से ही करना शुरू कर दिया था। थोड़ी दूर चलने के बाद आरोपियों ने आईएमटी एरिया में ही तांबे से भरी गाड़ी को लूटने की कोशिश की थी। गाड़ी चालक की सूझबूझ और चिल्लाने पर लोग इकट्ठे होने पर आरोपी गाड़ी को छोड़कर वहां से फरार हो गए थे। जिस पर आरोपियों के खिलाफ थाना सदर बल्लभगढ़ में आर्म्स एक्ट और लूट की कोशिश की धाराओं सहित मामला दर्ज किया गया था।

मामले की तफ्तीश कर रही क्राइम ब्रांच सेक्टर 85 की टीम को सूचना मिली की उपरोक्त वारदात में शामिल एक आरोपी बदरपुर एरिया में एनसीआर से बाहर जाने की फिराक में घूम रहा है। जिस पर कार्यवाही करते हुए क्राइम ब्रांच 85 की टीम ने आरोपी अमित को बदरपुर एरिया में मौके पर ही धर दबोचा।

पूछताछ पर आरोपी अमित ने बताया कि वर्ष 2012 में उसने अपनी पत्नी की हत्या कर दी थी जिस संबंध में आरोपी तिहाड़ जेल में उम्र कैद की सजा काट रहा है। लूट की कोशिश में शामिल आरोपी अमित के अन्य साथी प्रदीप, मुकेश, पप्पू, और ललित भी तिहाड़ जेल में ही बंद थे जो आरोपी अमित कि उपरोक्त चारों से जेल में ही दोस्ती हो गई थी। आरोपी मुकेश और प्रदीप भी मर्डर के एक केस में तिहाड़ जेल में बंद थे। आरोपी पप्पू सिंह बलात्कार के एक केस में बंद था। जो आरोपी तिहाड़ जेल से मार्च में पैरोल पर आए थे। आरोपियों को पता चला कि तांबे से भरी एक गाड़ी फरीदाबाद आईएमटी से दिल्ली जाती है। जो उपरोक्त वारदात को अंजाम देने के लिए आरोपियों ने योजना बनाई थी।

ACP धारणा यादव ने आरोपियों के पूर्व अपराधिक रिकॉर्ड के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि आरोपियों के खिलाफ दिल्ली में करीब 9 मुकदमे दर्ज हैं जिसमें हत्या, लूट, स्नैचिंग, अवैध हथियार, बलात्कार, अपहरण शामिल है।