Palwal Assembly

Showing posts with label Election. Show all posts

सफलता का मंत्र, पहले एक जाति को एक पार्टी के खिलाफ भड़काकर वोट लो, फिर उसी पार्टी के साथ सरकार

jat-provoked-against-bjp-and-after-that-dushyant-chautala-make-sarkar

फरीदाबाद, 29 अक्टूबर: हमारे देश की जनता बहुत भोली है, समाज के कुछ ठेकेदार खुद को बड़ा नेता बनाने के चक्कर में किसी जाति को आरक्षण का लालच देकर उन्हें सरकार के खिलाफ आंदोलन करने के लिए उकसाते हैं, उस जाति के लोगों को भी लगता है कि अगर उन्हें आरक्षण मिल जाएगा तो उनके बच्चों को आसानी से नौकरी मिल जाएगी, यही सोचकर लोग आरक्षण के आंदोलन में जुड़ते जाते हैं, भोली भाली जनता को नहीं पता होता कि कुछ लोग आरक्षण की आग सिर्फ इसलिए लगाते हैं क्योंकि इससे उन्हें करोड़ों रुपये का चंदा भी मिल जाता है और उनकी गिनती बड़े नेताओं में होने लगती है। ये लोग बोले भाले युवाओं को आगे करके खुद पीछे बैठकर तमाशा देखते रहते हैं और युवा लोग आरक्षण की आग में मरने मारने पर उतारू हो जाते हैं.

हरियाणा में 2014 में भाजपा सरकार बनी, कुछ दिनों बाद एक जाति को आरक्षण के नाम पर एकजुट किया गया, बड़ा आंदोलन किया गया, ट्रेनें रोकी गयीं, बसें फूंकी गयीं। इस सबका इल्जाम सम्बंधित जाति पर लगा, आज देश में उस जाति का जिक्र होता है तो लोग यही सोचते हैं कि वही लोग जिन्होंने आरक्षण के लिए हरियाणा जलाया था।

उस जाति को बदनाम करके कुछ लोग बड़े नेता बन गए,  कुछ लोगों ने करोड़ों रुपये चंदा कमा लिया लेकिन उस जाति को कुछ नहीं मिला। आरक्षण पर सुप्रीम कोर्ट ने रोक लगा दी। 

पिछले दो तीन वर्षों में उस जाति को भाजपा के खिलाफ जमकर भड़काया गया, विपक्षी नेताओं ने भाजपा पर उस जाति पर गोलियां चलाने का आरोप लगाकर उन्हें भाजपा के खिलाफ भड़का दिया जिसका असर 2019 विधानसभा चुनाव में दिखा। फलां जाति बहुल क्षेत्रों में भाजपा बुरी तरह से हार गयी, भाजपा सरकार के कई मंत्री भी चुनाव हार गए जबकि दुष्यंत चौटाला की जजपा को 10 सीटें आईं। कांग्रेस को भी 31 सीटें आईं। 

चुनाव प्रचार के दौरान फलां जाति को भाजपा के खिलाफ कांग्रेस ने भी भड़काया और जजपा ने भी भड़काया इसीलिए जहाँ जजपा भाजपा से मजबूत दिखी वहां जजपा को वोट दिया गया और जहाँ पर कांग्रेस भाजपा से मजबूत दिखी वहां पर कांग्रेस को वोट दिया गया। 

नतीजे आने के बाद 10 सीटें पाने वाले दुष्यंत चौटाला ने भाजपा के साथ मिलकर सरकार बना ली और खुद डिप्टी मुख्यमंत्री बन गए। 

अब सवाल जनता से है, आखिर जतना ऐसे नेताओं के उकसावे में आती क्यों है, जनता को कुछ नहीं मिला लेकिन जिन्होंने उन्हें भाजपा के खिलाफ भड़काया आज वो भाजपा के साथ ही सरकार बना चुके हैं और सत्ता पर काबिज हो चुके हैं। 

किसी भी आंदोलनकारी पर गोलियां चलाना गलत है लेकिन कई बार ऐसी परिस्थिति आ जाती है कि पुलिस को फायरिंग करनी पड़ती है लेकिन ऐसी घटनाओं से विपक्षी पार्टियों को सरकार के खिलाफ मुद्दा मिल जाता है, उस आंदोलन में भी ऐसा हुआ, उस समय ऐसा लग रहा था कि आरक्षण मांगने वाले अपनी जिद में पूरा हरियाणा जला देंगे। हालात को नियंत्रण में लेने के लिए पुलिस को फायरिंग करनी पड़ी लेकिन फलां जाति ने इसे अपने स्वाभिमान से जोड़कर इस चुनाव में भाजपा को सबक सिखा दिया लेकिन उनका वोट भाजपा सरकार बनाने के काम आ गया। 

हरियाणा में पेट्रोल पहुंचा 75 पार, जनता को दिया गया 2.10 रुपए प्रति लीटर का झटका

petrol-price-increased-in-faridabad-haryana-rs-2-per-leter-after-election

फरीदाबाद: चुनाव बीतते ही हरियाणा सरकार ने हरियाणा की जनता को बड़ा झटका देते हुए पेट्रोल के दामों में 2.10 रुपए प्रति लीटर की वृद्धि कर दी है.

इस बढ़त के साथ हरियाणा में पेट्रोल 75 पर पहुंच चुका है. बता दें कि भाजपा ने हरियाणा चुनाव से पहले अब की बार 75 पार का नारा दिया था. भाजपा को 75 सीटें भले ही ना मिली हों पेट्रोल को 75 पर जरूर पहुंचा दिया गया है.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि चुनाव में सरकार पर काफी ज्यादा बोझ पड़ता है जो पेट्रोल और डीजल के दामों में वृद्धि करके जनता से वसूला जाता है. इसीलिए सभी राज्यों में चुनाव के बाद पेट्रोल और डीजल के दामों में तुरंत वृद्धि की जाती है.

भाजपा-जजपा गठबंधन से निर्दलीय विधायकों के टूट गए सपने, सभी देख रहे थे कैबिनेट मंत्री के सपने

haryana-independent-mla-will-not-become-cabinet-minister-now

फरीदाबाद, 28 अक्टूबर: हरियाणा विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद सभी 7 निर्दलीय विधायकों की लॉटरी निकल चुकी थी। सभी ने सोचा था कि अब भाजपा निर्दलीयों का समर्थन लेने के लिए मजबूर हो जाएगी और बदले में उन्हें मनपंसद मंत्रालय मिल जाएगा। एक रात तो सभी विधायकों ने ऐसा ही सपना देखा लेकिन दूसरे दिन सभी विधायकों के सपने चकनाचूर हो गए और जजपा ने भाजपा को समर्थन देकर सरकार बना दी। 

वास्तव में निर्दलीय विधायकों की कभी कभी ही लॉटरी निकलती है। जब कोई पार्टी बहुमत से कुछ कदम दूर रह जाती है तो उनके सामने सबसे पहले निर्दलीयों से समर्थन लेने का विकल्प होता है क्योंकि निर्दलीय विधायक किसी भी पार्टी को समर्थन दे सकते हैं और किसी भी समय किसी भी पार्टी में शामिल हो सकते हैं, राष्ट्रीय पार्टियों के विधायक दूसरी पार्टी को समर्थन नहीं दे सकते क्योंकि उनकी सदस्यता रद्द की जा सकती है। 

इस चुनाव में भाजपा बहुमत से 6 सीट दूर रह गयी। सात निर्दलीय विधायक भी जीतकर आये थे इसलिए भाजपा ने सातों से संपर्क किया और निर्दलीय विधायक भी राजी हो गए। ऐसी ख़बरें आएं कि निर्दलीयों ने सरकार के सामने कैबिनेट मंत्री बनाने की शर्त रखी। 

भाजपा के सामने करो या मरो की स्थिति आ गयी। भाजपा ने सोचा कि निर्दलीयों की ब्लैकमेलिंग झेलने के बजाय जजपा के साथ मिलकर सरकार बनायी जाए। इसके बाद दुष्यंत चौटाला से संपर्क किया गया और फटाफट गठबंधन करके सरकार बनाने का ऐलान कर दिया गया। निर्दलीय विधायकों को कैबिनेट मंत्री बनने का सपना देखने के लिए सिर्फ एक ही रात का मौका मिला।  

NHPC चौक के पास एक्सीडेंट में कार के उड़े चीथड़े, 3 की मौत

faridabad-nhpc-metro-chowk-car-accident-three-person-death-news

फरीदाबाद, 27 अक्टूबर: रात 2 बजे के आसपास NHPC चौक के पास भीषण एक्सीडेंट में एक हौंडा सिटी कार के परखच्चे उड़ गए और तीन लोगों की मौत हो गयी। एक घायल की भी सूचना है. 

सूचना के मुताबिक़ दिल्ली नंबर की हौंडा सिटी कार NHPC मेट्रो स्टेशन के पास एक ट्रक से टकराने के बाद तेज रफ़्तार से डिवाइडर से जा टकराई, एक्सीडेंट के बाद कार के परखच्चे उड़ गए। 

दिवाली पर CM खट्टर ने की प्रार्थना, समृद्ध और सकुशल रहें हरियाणा के 2.5 करोड़ नागरिक

cm-manohar-lal-pray-for-2-5-crore-haryana-citizen-on-diwali-pooja

फरीदाबाद, 27 अक्टूबर: हरियाणा में भाजपा और जजपा गठबंधन की सरकार बन चुकी है, मनोहर लाल ने मुख्यमंत्री पद की और दुष्यंत चौटाला ने उप-मुख्यमंत्री पद की शपथ ली है, दीवाली पूजा में मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने समस्त हरियाणा परिवार के 2.5 करोड़ नागरिकों की समृद्धि और सकुशलता की प्रार्थना की।
आपकी जानकारी के लिए बता दें कि हरियाणा चुनाव में भाजपा को 40 सीटें मिली थीं तो जजपा को 10 सीटें मिली थीं, भाजपा बहुमत से पांच सीटें दूर थी, निर्दलीयों और जजपा के समर्थन के बाद भाजपा ने 57 विधायकों के साथ सरकार बना ली है.

चुनाव से 2 दिन पहले मूलचंद शर्मा ने खोद दी नगेंदर भड़ाना की गोभी, वरना उनकी भी होती जीत

why-nagender-bhadana-lost-in-nit-vidhansabha-faridabad-news

फरीदाबाद, 27 अक्टूबर: ऐसा कोई सपने में भी नहीं सोच सकता कि एक भाजपा प्रत्याशी अपने क्षेत्र में विकास की तारीफ करे लेकिन दूसरे भाजपा प्रत्याशी के क्षेत्र में विकास की गोभी खोदे लेकिन फरीदाबाद में ऐसा ही हुआ।

बल्लभगढ़ के विधायक मूलचंद शर्मा अपने क्षेत्र में विकास की तारीफ करने के लिए पडोसी विधानसभा क्षेत्र NIT में विकास की गोभी खोदते थे। जनता से कहते थे - NIT खुदी पड़ी है सारी लेकिन बल्लभगढ़ की जनता है भाग्यशाली।

चुनाव से दो दिन पहले मूलचंद शर्मा का वीडियो वायरल हुआ जो NIT के भाजपा प्रत्याशी नगेंदर भड़ाना के लिए बहुत ही नुकसानदायक साबित हुआ और 3242 वोटों से उनकी हार हो गई।

बात दरअसल ये हुई कि, नगेंदर भड़ाना ने अपने क्षेत्र में विकास कराने का कफी प्रयास किया। उन्होंने सीवर लाइन बिछाने के लिए कई कॉलोनियों की सड़कों को खुदवा दिया लेकिन रोड बनाने में कुछ देरी हो गयी, कई कॉलोनियों में जलभराव की समस्या पैदा हो गयी कर कांग्रेस प्रत्याशी नीरज शर्मा को मुद्दा मिल गया। 

इतना तो सब समझते हैं कि विपक्षी नेता सत्ताधारी नेता के काम की तारीफ नहीं करते लेकिन जब सत्ताधारी विधायक ही कह रहा है कि - NIT तो खुदी पड़ी है सारी। तो जनता यकीन करेगी ही। देखें वीडियो - 



यह वीडियो इतना अधिक वायरल हुआ कि देखते ही देखते नगेंदर भड़ाना की गोभी खुद गयी और कांग्रेस प्रत्याशी नीरज शर्मा की जीत हो गयी। कांग्रेस प्रत्याशी नीरज शर्मा अपनी जीत के लिए बल्लभढ़ के विधायक मूलचंद शर्मा को धन्यवाद बोलना चाहिए। 

अगले पांच वर्षों में मनोहर के नेतृत्व में हरियाणा में स्थापित हो जाएगा रामराज्य: विपुल गोयल

haryana-ex-mla-vipul-goel-greet-people-on-diwali-2019-news
Vipul Goel, Ex MLA and Ex Minister Haryana
फरीदाबाद, 27 अक्टूबर: हरियाणा के पूर्व उद्योग मंत्री विपुल गोयल ने समस्त हरियाणा वासियों को दीपावली की बधाई और शुभकामना सन्देश भेजा है। 

विपुल गोयल ने कहा कि दीपावली के शुभ दिन हरियाणा में मुख्यमंत्री मुख्यमंत्री मनोहर लाल जी के नेतृत्व में होगा राम राज्य की स्थापना का शुभारंभ। आप सभी प्रदेशवासियों को दीपावली के पावन पर्व की हार्दिक शुभकामनाएं।

फरीदाबाद में हो गए 8 कमल, बचे हुए 1 के लिए अपनाया जा सकता है टेकचंद-नगेंदर फार्मूला, पढ़ें

faridabad-election-result-2019-prithla-nayanpal-support-bjp-nit-neeraj-sharma

फरीदाबाद, 26 अक्टूबर: 2014 विधानसभा चुनाव में फरीदाबाद लोकसभा क्षेत्र की 9 सीटों में से सिर्फ 3 पर भाजपा की जीत हुई थी जिसकी वजह से विकास कार्य कराने में भाजपा के सामने मुश्किलें खड़ी हो गयी। उसके बाद भाजपा ने बसपा विधायक टेकचंद शर्मा और इनेलो विधायक नगेंदर भड़ाना से बातचीत करके उन्हें भी विकास कराने के लिए अरबों रुपये दे दिए। दोनों विधायक अपनी पार्टी से इस्तीफ़ा दिए बिना भाजपा सरकार के साथ मिलकर अपने क्षेत्र के विकास के लिए काम करने लगे और सरकार को इसका क्रेडिट देने लगे। 

2019 विधानसभा चुनाव में फरीदाबाद की 9 सीटों में से 7 पर कमल खिला है, पृथला में निर्दलीय प्रत्याशी नयनपाल रावत ने बाजी मारी है जबकि NIT सीट पर कांग्रेस की जीत हुई है। निर्दलीय प्रत्याशी नयनपाल जो भाजपा से ही बगावत करके चुनाव लडे थे, वह फिर से भाजपा से जा मिले हैं इसलिए अब 8 सीटों पर कमल खिल चुका है। 

फरीदाबाद में चौतरफा विकास के लिए भाजपा को सभी सीटों पर कमल खिलाना जरूरी था, अब सिर्फ NIT विधानसभा सीट बच रही है। यहाँ पर टेकचंद-नगेंदर फार्मूला अपनाकर यहाँ पर भी विकास कार्य कराये जा सकते हैं। अगर कांग्रेस विधायक नीरज शर्मा चाहेंगे तो भाजपा उन्हें भी नगेंदर और टेकचंद की तरह फंड देकर उनके क्षेत्र में विकास कराएगी। 

आपको बता दें कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने फरीदाबाद में ही कहा था कि हम किसी भी विधायक के साथ भेदभाव नहीं करते, जो भी अपने क्षेत्र के विकास के लिए सरकार के साथ मिलकर काम करना चाहता है, हम उसको भी पैसे देते हैं। नीरज शर्मा के पास दो रास्ते हैं - या तो पक्के कोंग्रेसी बनकर भाजपा से दूर रहें और पांच साल फंड का रोना रोते रहें, दूसरा रास्ता है कि - हरियाणा सरकार से अपने क्षेत्र के विकास के लिए पैसे मांगे और जो भी पैसे मिले उसका क्रेडिट सरकार को दें। यही काम टेकचंद शर्मा और नगेंदर भड़ाना ने किया था। 

ये हैं हरियाणा चुनाव में चार सबसे बड़े विजेता, देखिये सबके वोट, सबसे बड़ा विजेता कौन?

haryana-election-2019-biggest-winner-bhupinder-singh-hooda-congress

फरीदाबाद, 25 अक्टूबर: हरियाणा  चुनाव के नतीजे आ चुके हैं। हरियाणा में भाजपा और JJP गठबंधन की सरकार बनने जा रही है। आज हम आपको हरियाणा के चार सबसे बड़े विजेताओं से मिलवाने जा रहे हैं। 

हरियाणा में कांग्रेस नेता और पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा विजेता नंबर 1 बजे हैं। उन्होंने गढ़ी सांपला-किलोई सीट से भाजपा प्रत्याशी सतीश नंदाल को 58312 वोटों के भारी मार्जिन से हराया है। 

मार्जिन के मामले में दूसरे नंबर पर जननायक जनता पार्टी के देवेंद्र सिंह बबली हैं। उन्होंने भाजपा प्रदेश अध्यक्ष शुभाष बराला को टोहाना सीट पर 52302 वोटों के भारी मार्जिन से हराया। 

तीसरे नंबर पर जननायक जनता पार्टी के नेता दुष्यंत चौटाला हैं। उन्होंने उचाना कलां सीट पर भाजपा प्रत्याशी प्रेम लता को 47452 वोटों के भारी मार्जिन से हराया है। 

चौथे नंबर पर हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर हैं। उन्होंने करनाल सीट पर कांग्रेस प्रत्याशी तारलोचन सिंह को 45188 वोटों के भारी मार्जिन से हराया है। 

haryana-election-biggest-winner

देखिये, FBD की 9 सीटों पर किसे मिले कितने वोट, सबसे कम वोट किसे मिले, NOTA को कितने मिले, पढ़ें

faridabad-palwal-complete-election-result-9-seats-statistics-nota-vote

फरीदाबाद, 25 अक्टूबर: फरीदाबाद लोकसभा क्षेत्र में 9 विधानसभा क्षेत्र हैं - NIT, बड़खल, फरीदाबाद, बल्लभढ़, तिगांव, पृथला, पलवल, होडल और हथीन। 

नीचे टेबल में हम सभी 9 सीटों के आंकड़े दे रहे हैं, सभी उम्मीदवारों के कुल वोट और वोट शेयर का आंकड़ा दिया जा रहा है, NOTA का भी आंकड़ा दिया जा रहा है, पोस्ट पढ़कर आपको यह भी पता चल जाएगा कि किस उम्मीदवार को सबसे अधिक वोट मिले और किसे सबसे कम वोट मिले। 

फरीदाबाद - NIT - 86

SN उम्मीदवारपार्टीकुल-वोटVote%
1हाजी करामात अलीबसपा1757411.07
2जगजीत पन्नूइनेलो12400.78
3नगेंदर भड़ानाभाजपा5845536.82
4नीरज शर्माकांग्रेस6169738.86
5वीरेंद्र सिंह डंगवालCPI(M)7330.46
6जय प्रकाश सिंहJMBP2560.16
7तेजपाल JJP12080.76
8देशराज सिंह राणाAAAP2140.13
9मनोज शर्माABHM 1600.1
10रविंदर गुप्ताSP1350.09
11राम प्रताप गौड़LSP3340.21
12संतोष कुमार यादवAAP32402.04
13चन्दर भाटियाआजाद69924.4
14जितेंदर कुमारआजाद2090.13
15दिनेश रायआजाद2330.15
16नानक चंद तलन आजाद4060.26
17प्रदीप राणाआजाद39282.47
18हरिरामआजाद3570.22
19NotaNota13840.87

Total Vote
158755

फरीदाबाद - 89

SN उम्मीदवारपार्टीकुल-वोटVote%
1नरेंद्र गुप्ताभाजपा6588754.41
2महेश चंद जैनबसपा27762.29
3लखन कुमार सिंगलाकांग्रेस4417436.48
4कुलदीप तेवतियाJJP40453.34
5रेनू खट्टरस्वराज इंडिया4240.35
6सत्य देव यादवRBJJP2020.17
7कुमारी सुमन लताAAP 14451.19
8पंकज नरवत आजाद2390.2
9सुशीला गौतमआजाद1560.13
10NotaNota17541.45

Total
121102

पृथला विधानसभा

SN उम्मीदवारपार्टीकुल-वोटVote%
1नरेंदर सिंहइनेलो1165 0.79
2रघुवीर तेवतियाकांग्रेस4819632.78
3सुरेंदर वशिष्टबसपा84605.75
4सोहनपाल छोकरभाजपा2132214.5
5कल्याण शर्माLSP 10260.7
6कालीचरणआजाद1090.07
7जोगिन्दर सिंहआजाद4200.29
8नयनपाल रावतआजाद6462543.95
9राजेशआजाद7470.51
10सुरेंद्र कुमारआजाद3270.22
11NotaNota6420.44

Total
147039

तिगांव विधानसभा क्षेत्र
SN उम्मीदवारपार्टीकुल-वोटVote%
1उमेश भाटीइनेलो15380.91
2राजेश नागरभाजपा9712657.38
3ललित नागरकांग्रेस6328537.39
4कृष्णपाल सिंहBSCP 4880.29
5प्रदीप चौधरीJJP26931.59
6बीरेश कुमार सिंहJDU 8540.5
7मनोज भाटीLSP 1800.11
8रणधीर सिंह/धीरू खटाना ABKMP 4800.28
9श्याम मंडल बहुजन मुक्ति पार्टी1910.11
10ललित नागरआजाद5050.3
11सोनू कुमारआजाद3540.21
12NotaNota15690.93

Total169263

बड़खल विधानसभा क्षेत्र

SN उम्मीदवारपार्टीकुल-वोटVote%
1अजय भड़ानाइनेलो23621.75
2जगराम गौतमCPI 9510.7
3मनोज चौधरीबसपा44813.31
4विजय प्रताप सिंहकांग्रेस5600541.38
5सीमा त्रिखाभाजपा5855043.26
6इस्लामुद्दीनJJP3130.23
7जमीलराष्ट्रीय लोकस्वराज पार्टी2230.16
8धर्मबीर भड़ानाAAP 94817.01
9मुकेश पहलवानशिवसेना4940.37
10प्रेम कपूरआजाद2010.15
11नोटाNota22741.68

Total
135335

बल्लभगढ़ विधानसभा क्षेत्र

SN उम्मीदवारपार्टीकुल-वोटVote%
1अरुण बीसलाबसपा40663.32
2आनंद कौशिककांग्रेस2499520.39
3मूलचंद शर्मा भाजपा6670854.42
4रोहताशइनेलो21101.72
5आदेश कुमारसमाजवादी पार्टी4990.41
6कोक चंद  LSP7870.64
7दीपक गौड़आरक्षण विरोधी पार्टी2580.21
8हरिंदर भाटीआम आदमी पार्टी24612.01
9अतुलआजाद3030.25
10दीपक चौधरीआजाद1854215.13
11शैलेन्द्र सिंहआजाद3460.28
12NotaNota15121.23

Total122587

पलवल विधानसभा क्षेत्र

SN उम्मीदवार पार्टीकुल-वोटVote%
1करण  दलालकांग्रेस6113038.01
2दीपक मंगलाभाजपा8942655.6
3सतपालइनेलो7750.48
4कुलदीप कौशिकआम आदमी पार्टी4320.27
5गया लालजननायक जनता पार्टी64984.04
6पुनीत भारद्वाजLSP 3840.24
7सुनील कुमारबहुजन मुक्ति पार्टी3200.2
8करन वीरआजाद1080.07
9कृष्णआजाद1020.06
10दीपकआजाद2550.16
11डॉ केपी सिंहआजाद4900.3
12NotaNota9100.57

Total
160830

हथीन विधानसभा क्षेत्र

SN उम्मीदवारपार्टीकुल-वोटVote%
1तैय्यब हुसैनबहुजन समाज पार्टी3523322
2प्रवीण डागरभारतीय जनता पार्टी4674429.19
3मोहम्मद इसराइल कांग्रेस4385727.38
4रानी देवीइनेलो18281.14
5दिनेश सिंगला सर्व हित पार्टी2430.15
6यामीन खानआम आदमी पार्टी1920.12
7 सुरेंदरस्वराज इंडिया2700.17
8हर्ष कुमारJJP 3033418.94
9जवाहर दत्तआजाद6450.4
10प्रियंकरआजाद2470.15
11NotaNota5700.36

Total
160163

होडल विधानसभा क्षेत्र

SN उम्मीदवारपार्टीकुल-वोटVote%
1उदय भानकांग्रेस5247743.02
2गया लाल बसपा8740.72
3जगदीश नायरभाजपा5586445.8
4राम पालइनेलो17241.41
5करन सिंहआम आदमी पार्टी3040.25
6दीन दयालPPI 1560.13
7बुधरामAPI 2490.2
8यशवीरJJP 85907.04
9राजूटोला पार्टी1090.09
10जगदीशआजाद1490.12
11धर्मेंद्र आजाद740.06
12महेंद्र कुमारआजाद2520.21
13रविंदरआजाद3530.29
14सतवीरआजाद2360.19
15नोटाNota5700.47

Total
121981

काम कर गया नयनपाल रावत का फार्मूला, पृथला की जनता ने खूब वोट देकर बना दिया विधायक

nayanpal-rawat-win-prithla-vidhansabha-election-2019-hindi-news

पृथला 24 अक्टूबर: पृथला विधानसभा में नयनपाल रावत की भारी जीत हुई है जबकि कांग्रेस प्रत्याशी रघुवीर तेवतिया दूसरे नंबर पर रहे हैं। 

नयनपाल रावत लगातार तीन बार चुनाव हारे थे लेकिन इस बार उन्होंने चुनाव जीतने के लिए इमोशनल कार्ड खेला, उन्होंने जनता से कहा कि मैं हर बार चुनाव हार जाता हूँ, मेरे घर में कई वर्षों से दीवाली नहीं मनाई जाती है, इस बार अगर आपने मुझे वोट नहीं दिया तो इस दीवाली पर मेरी अर्थी उठेगी, इस बात का ध्यान रखना। 

नयनपाल रावत अपनी सभी रैलियों में रोकर जनता को इतना इमोशनल कर देते थे कि पब्लिक ने उन्हें इस बार विधायक बनाने का फैसला कर लिया कर उन्हें खूब वोट देकर विधायक बना दिया है। 

नयनपाल रावत 64625 वोट लेकर पहले स्थान पर रहे, रघुवीर तेवतिया 48196 वोट लेकर दूसरे स्थान पर रहे, भाजपा के सोहनपाल 21322 वोट लेकर तीसरा स्थान हासिल किया। ऐसा माना जा रहा है कि नयनपाल रावत ने भाजपा के भी वोट काट दिए और खुद के प्रति जनता में सहानुभूति पैदा करके अपने लिए एकतरफा माहौल बना दिया। 

नयनपाल रावत ने निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में चुनाव जीता है, हरियाणा में भाजपा को बहुमत नहीं मिला है, अब भाजपा को निर्दलीय प्रत्याशियों से ही समर्थन की उम्मीद है। अब यह देखना दिलचस्प होगा कि क्या भाजपा नयनपाल रावत से समर्थन मांगेगी, ऐसा इसलिए क्योकि, भाजपा ने नयनपाल रावत को 6 साल के लिए पार्टी से सस्पेंड कर दिया है। हो सकता है कि भाजपा नयनपाल रावत का सस्पेंशन रद्द कर दे और उन्हें पार्टी में वापस शामिल करा लिया जाय। 

कृष्णपाल गुर्जर ने 9 में से 7 सीटें जीतकर खुद को साबित किया फरीदाबाद का महानायक: विजय बैंसला

vijay-baisla-praised-krishan-pal-gurjar-for-winning-7-seats-in-faridabad

फरीदाबाद, 24 अक्टूबर: फरीदाबाद के जाने माने समाजसेवी विजय बैसला ने कृष्णपाल गुर्जर को फरीदाबाद का शेर और महानायक बताया है। विजय बैंसला ने कहा कि हरियाणा में अच्छे प्रदर्शन के मामले में फरीदाबाद लोकसभा क्षेत्र पहले नंबर पर आया है और यह सब कृष्णपाल गुर्जर की वजह से हुआ है जिन्होंने पहले ही फरीदाबाद की अधिकतर सीटें जीतने का दावा किया था। 

विजय बैंसला ने कहा कि कृष्णपाल गुर्जर ने जो कहा था वो करके दिखा दिया है और फरीदाबाद लोकसभा क्षेत्र की 9 में से 7 सीटों पर भाजपा की जीत हुई है। पलवल जिले की तीनों सीटों पर कांग्रेस का सूपड़ा साफ़ हो गया है। 

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि फरीदाबाद की 9 में से 7 पर भाजपा की जीत हुई है जिसमें - बड़खल, बल्लभगढ़, फरीदाबाद, तिगांव, पलवल, हथीन, होडल सीटें शामिल हैं। NIT फरीदाबाद सीट पर कांग्रेस की जीत हुई है जबकि पृथला में भाजपा से बगावत करके निर्दलीय चुनाव लड़ने वाले नयनपाल रावत की जीत हुई है। 

विजय बैंसला ने कहा कि नयनपाल रावत भाजपा से बगावत करके चुनाव लड़े हैं वरना यहाँ पर भी भाजपा की जीत होती वहीं NIT विधानसभा में मामूली अंतर से  कांग्रेस की जीत हुई है. विजय बैसंला ने कहा कि NIT में कांग्रेस प्रत्याशी ने अपने पिता के प्रति जनता में सहानुभूति पैदा करके चुनाव जीत लिया, तो नयनपाल रावत ने आत्महत्या की बात करे जनता के अंदर अपने लिए सहानुभूति की और उनके वोट हासिल किये, वरना ये सीटें भी भाजपा की झोली में आ सकती थीं। फरीदाबाद में भाजपा का बढ़िया प्रदर्शन कृष्णपाल गुर्जर की मेहनत और पराक्रम के बदौलत संभव हुआ है। 

NIT की जंग जीतकर घर से निकले पंडितजी के तीनों लाल

neeraj-sharma-win-faridabad-nit-86-vidhansabha-agaist-nagender-bhadana

फरीदाबाद, 24 अक्टूबर: हरियाणा विधानसभा चुनाव में भाजपा को भले ही बहुमत ना मिला हो लेकिन फरीदाबाद की 9 विधानसभा सीटों में भाजपा को बहुत मिला है और 7 सीटों पर सीट हुई है। फरीदाबाद में भाजपा लहर के बावजूद भी NIT विधानसभा से कांग्रेस प्रत्याशी नीरज शर्मा की जीत हुई है। 

नीरज शर्मा ने भाजपा प्रत्याशी नगेंदर भड़ाना को करीब 3500 वोटों से हरा दिया है। चुनाव जीतने के बाद पंडितजी के तीनों लाल घर से बाहर निकले और विक्ट्री शाइन दिखाकर समर्थकों को धन्यवाद दिया। 

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि नीरज शर्मा को 61697 वोट मिले हैं जबकि नगेंदर भड़ाना को 58455 वोट मिले हैं। तीसरे नंबर पर हाजी करामात अली हैं जिन्हें 17574 वोट मिले हैं। 

Haryana Election Result 2019 Live: Faridabad की 9 विधानसभा के नतीजे देखिये, किसे मिले कितने वोट

faridabad-haryana-election-result-2019-live-update-news-in-hindi

फरीदाबाद, 24 अक्टूबर: फरीदाबाद लोकसभा क्षेत्र में 9 विधानसभा क्षेत्र हैं - NIT, बड़खल, फरीदाबाद, बल्लभढ़, तिगांव, पृथला, पलवल, होडल और हथीन। मतगणना के नतीजे नीचे दिए जा रहे हैं। 

फरीदाबाद - NIT - 86

SN उम्मीदवारपार्टीVoteVote Share
1हाजी करामात अलीबसपा1757411.07
2जगजीत पन्नूइनेलो12400.78
3नगेंदर भड़ानाभाजपा5845536.82
4नीरज शर्माकांग्रेस6169738.86
5वीरेंद्र सिंह डंगवालCPI(M)7330.46
6जय प्रकाश सिंहJMBP2560.16
7तेजपाल JJP12080.76
8देशराज सिंह राणाAAAP2140.13
9मनोज शर्माABHM 1600.1
10रविंदर गुप्ताSP1350.09
11राम प्रताप गौड़LSP3340.21
12संतोष कुमार यादवAAP32402.04
13चन्दर भाटियाआजाद69924.4
14जितेंदर कुमारआजाद2090.13
15दिनेश रायआजाद2330.15
16नानक चंद तलन आजाद4060.26
17प्रदीप राणाआजाद39282.47
18हरिरामआजाद3570.22
19NotaNota13840.87

Total Vote
158755

फरीदाबाद - 89


SN उम्मीदवारपार्टीVoteVote Share
1नरेंद्र गुप्ताभाजपा6588754.41
2महेश चंद जैनबसपा27762.29
3लखन कुमार सिंगलाकांग्रेस4417436.48
4कुलदीप तेवतियाJJP40453.34
5रेनू खट्टरस्वराज इंडिया4240.35
6सत्य देव यादवRBJJP2020.17
7कुमारी सुमन लताAAP 14451.19
8पंकज नरवत आजाद2390.2
9सुशीला गौतमआजाद1560.13
10NotaNota17541.45

Total
121102

पृथला विधानसभा


SN उम्मीदवारराजनीतिक पार्टीVoteVote Share
1नरेंदर सिंहइनेलो1165 0.79
2रघुवीर तेवतियाकांग्रेस4819632.78
3सुरेंदर वशिष्टबसपा84605.75
4सोहनपाल छोकरभाजपा2132214.5
5कल्याण शर्माLSP 10260.7
6कालीचरणआजाद1090.07
7जोगिन्दर सिंहआजाद4200.29
8नयनपाल रावतआजाद6462543.95
9राजेशआजाद7470.51
10सुरेंद्र कुमारआजाद3270.22
11NotaNota6420.44

Total
147039

तिगांव विधानसभा क्षेत्र



SN उम्मीदवारराजनीतिक पार्टीVoteVote Share
1उमेश भाटीइनेलो15380.91
2राजेश नागरभाजपा9712657.38
3ललित नागरकांग्रेस6328537.39
4कृष्णपाल सिंहBSCP 4880.29
5प्रदीप चौधरीJJP26931.59
6बीरेश कुमार सिंहJDU 8540.5
7मनोज भाटीLSP 1800.11
8रणधीर सिंह/धीरू खटाना ABKMP 4800.28
9श्याम मंडल बहुजन मुक्ति पार्टी1910.11
10ललित नागरआजाद5050.3
11सोनू कुमारआजाद3540.21
12NotaNota15690.93

Total169263

बड़खल विधानसभा क्षेत्र



SN उम्मीदवारराजनीतिक पार्टीVoteVote Share
1अजय भड़ानाइनेलो23621.75
2जगराम गौतमCPI 9510.7
3मनोज चौधरीबसपा44813.31
4विजय प्रताप सिंहकांग्रेस5600541.38
5सीमा त्रिखाभाजपा5855043.26
6इस्लामुद्दीनJJP3130.23
7जमीलराष्ट्रीय लोकस्वराज पार्टी2230.16
8धर्मबीर भड़ानाAAP 94817.01
9मुकेश पहलवानशिवसेना4940.37
10प्रेम कपूरआजाद2010.15
11Nota22741.68

Total
135335

बल्लभगढ़ विधानसभा क्षेत्र



SN उम्मीदवारराजनीतिक पार्टीVoteVote Share
1अरुण बीसलाबसपा40663.32
2आनंद कौशिककांग्रेस2499520.39
3मूलचंद शर्मा भाजपा6670854.42
4रोहताशइनेलो21101.72
5आदेश कुमारसमाजवादी पार्टी4990.41
6कोक चंद  LSP7870.64
7दीपक गौड़आरक्षण विरोधी पार्टी2580.21
8हरिंदर भाटीआम आदमी पार्टी24612.01
9अतुलआजाद3030.25
10दीपक चौधरीआजाद1854215.13
11शैलेन्द्र सिंहआजाद3460.28
12NotaNota15121.23

Total122587

पलवल विधानसभा क्षेत्र

SN उम्मीदवार पार्टीVoteVote Share
1करण  दलालकांग्रेस6113038.01
2दीपक मंगलाभाजपा8942655.6
3सतपालइनेलो7750.48
4कुलदीप कौशिकआम आदमी पार्टी4320.27
5गया लालजननायक जनता पार्टी64984.04
6पुनीत भारद्वाजLSP 3840.24
7सुनील कुमारबहुजन मुक्ति पार्टी3200.2
8करन वीरआजाद1080.07
9कृष्णआजाद1020.06
10दीपकआजाद2550.16
11डॉ केपी सिंहआजाद4900.3
12NotaNota9100.57

Total
160830

हथीन विधानसभा क्षेत्र


SN उम्मीदवारराजनीतिक पार्टीVoteVote Share
1तैय्यब हुसैनबहुजन समाज पार्टी3523322
2प्रवीण डागरभारतीय जनता पार्टी4674429.19
3मोहम्मद इसराइल कांग्रेस4385727.38
4रानी देवीइनेलो18281.14
5दिनेश सिंगला सर्व हित पार्टी2430.15
6यामीन खानआम आदमी पार्टी1920.12
7 सुरेंदरस्वराज इंडिया2700.17
8हर्ष कुमारJJP 3033418.94
9जवाहर दत्तआजाद6450.4
10प्रियंकरआजाद2470.15
11NotaNota5700.36

Total
160163

होडल विधानसभा क्षेत्र


SN उम्मीदवारराजनीतिक पार्टीVoteVote Share
1उदय भानकांग्रेस5247743.02
2गया लाल बसपा8740.72
3जगदीश नायरभाजपा5586445.8
4राम पालइनेलो17241.41
5करन सिंहआम आदमी पार्टी3040.25
6दीन दयालPPI 1560.13
7बुधरामAPI 2490.2
8यशवीरJJP 85907.04
9राजूटोला पार्टी1090.09
10जगदीशआजाद1490.12
11धर्मेंद्र आजाद740.06
12महेंद्र कुमारआजाद2520.21
13रविंदरआजाद3530.29
14सतवीरआजाद2360.19
15नोटाNota5700.47

Total
121981

सीक्रेट रिपोर्ट, फरीदाबाद की 6 सीटों में नीरज शर्मा भाजपा पर भारी, बाकी जगह कांटे की टक्कर

secret-report-on-faridabad-election-congress-may-win-nit-86-neeraj-sharma

फरीदाबाद, 23 अक्टूबर: कल हरियाणा चुनाव के फाइनल नतीजे आ जाएंगे और पता चल जाएगा कि हरियाणा में किसकी सरकार बन रही है लेकिन अलग अलग एग्जिट पोल ने राजनीतिक पार्टियों के खेमे में खलबली मचा रखी है। आज हमारे पास फरीदाबाद की एक सीक्रेट रिपोर्ट आयी है। 

सीक्रेट रिपोर्ट के अनुसार फरीदाबाद जिले की 6 विधानसभा सीटों में सिर्फ एक सीट पर कांग्रेस प्रत्याशी भाजपा पर भारी दिख रहे हैं और वो है NIT-86 विधानसभा के कांग्रेस प्रत्याशी नीरज शर्मा। यहाँ पर कांग्रेस की जीत तय मानी जा रही है और इसकी वजह हो सकती है पूर्व मंत्री शिवचरण लाल शर्मा के प्रति जनता की सहानुभूति और वर्तमान विधायक नागेंद्र भड़ाना के प्रति भारी नाराजगी।

नीरज शर्मा के भारी पड़ने की यह भी वजह है कि उन्होंने सिर्फ अपने दिवंगत पिता शिवचरण लाल शर्मा के काम पर जनता से वोट माँगा, उन्होंने ना तो मुख्यमंत्री मनोहर पर अटैक किया कर ना ही प्रधानमंत्री मोदी पर और ना ही हरियाणा की भाजपा सरकार पर, उन्होंने सिर्फ विधायक नागेंद्र भड़ाना को टारगेट किया इसलिए उन्हें टिकट बंटवारे से नाराज भाजपा कार्यकर्ताओं का भी समर्थन मिला है, यही नहीं उन्होंने कांग्रेस के किसी भी बड़े नेता से रैलियां नहीं करवाईं क्योंकि ये नेता रैलियों में मोदी-खट्टर के बारे में उल्टा सीधा बोलकर जनता को नाराज कर सकते थे। नीरज शर्मा की यह चालाकी भी उनके काम आयी है। 

अन्य विधानसभा क्षेत्रों में भाजपा और कांग्रेस में कांटे की टक्कर है। फरीदाबाद विधानसभा से लखन सिंगला की जीत पहले आसान लग रही थी लेकिन उन्होंने कुमारी शैलजा, दीपेंद्र हुड्डा और अन्य कोंग्रेसी नेताओं से रैलियां करवाकर भाजपा, मोदी, खट्टर के बारे में अनाप शनाप बयान दिलवाया जिसकी वजह से टिकट बंटवारे से नाराज भाजपा कार्यकर्ता जो उनकी तरफ मुड़ रहे थे, उन्हें भी थोड़ा सा बुरा लगा और लखन की एकतरफा जीत कांटे की टक्कर में बदल गयी है। हार-जीत में ज्यादा वोटों का अंतर नहीं होगा। जीत किसी की भी हो सकती है। अगर लखन अपनी 30 साल की समाजसेवा पर भरोसा करते तो उनकी एकतरफा जीत हो सकती थी। अब वहां भाजपा और कांग्रेस किसी भी पार्टी की जीत तय नहीं मानी जा रही है।

तिगांव विधानसभा में भी ललित नागर की जीत तय मानी जा रही थी लेकिन चुनाव के कुछ दिन पहले कृष्णपाल गुर्जर की सेना पूरी तरह से एक्टिव होकर राजेश नागर को जिताने में लग गयी। इसके बाद ललित और राजेश नागर के बीच कांटे की टक्कर हो गयी। यहाँ भी जीत-हार में अधिक वोटों का अंतर नहीं होगा।

पृथला विधानसभा में नयनपाल सोहनपाल का काम बिगाड़ सकते थे लेकिन सुरेंद्र वशिष्ठ और रघुबीर तेवतिया ने भी अच्छे खासे वोट हासिल करके मुकाबला चतुर्कोणीय बना दिया है। भाजपा के परंपरागत मतदाता भाजपा को जीत की तरफ ले जाते दिख रहे हैं। अगर सुरेंद्र वशिष्ठ और रघुवीर तेवतिया कमजोर प्रत्याशी होते तो एंटी-बीजेपी वोटर नयनपाल के साथ हो जाते और उनकी जीत हो सकती थी। पृथला में एंटी-बीजेपी वोट तीन प्रत्याशियों में बंटने से तीनों को नुकसान हुआ है, वोट बंटने का फायदा भाजपा को मिला है।

बड़खल विधानसभा में भी भाजपा बढ़त में दिखाई दे रही है। बल्लभगढ़ विधानसभा में दीपक और मूलचंद शर्मा के बीच कांटे की टक्कर है।

खुफिया रिपोर्ट के अनुसार हरियाणा में भाजपा की ही सरकार बनेगी। खुफिया रिपोर्ट के अनुसार जनता ने भले ही मतदान में उत्साह नहीं दिखाया लेकिन भाजपा और कांग्रेस के परंपरागत वोटरों ने मतदान किया है, भाजपा को मोदी-खट्टर फैक्टर को ध्यान में रखकर मतदान किया गया है. जहाँ जहाँ भाजपा विधायकों ने अच्छा काम नहीं किया वहीं पर कांटे की टक्कर है, बाकी जगह भाजपा के पक्ष में माहौल है। 

फरीदाबाद जिला में मतगणना के प्रबंध पूरे, प्रातः 8:00 बजे शुरू होगी मतगणना

faridabad-administration-ready-for-counting-on-24-october-2019

फरीदाबाद,23 अक्तूबर। जिला फरीदाबाद में पड़ने वाले सभी छह विधानसभा क्षेत्रों के मतों की गणना के लिए प्रशासन द्वारा प्रबंध पूरे कर दिए गए हैं। प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र के लिए अलग-अलग मतगणना केंद्र बनाए गए हैं। भारत निर्वाचन आयोग द्वारा प्रत्येक मतगणना केंद्र के लिए ऑब्जर्वर नियुक्त किए गए हैं जिनकी देखरेख में मतगणना वीरवार 24 अक्टूबर को प्रातः 8:00 बजे से शुरू होगी।

जिला निर्वाचन अधिकारी एवं उपायुक्त अतुल कुमार ने बताया कि निर्वाचन आयोग की हिदायतों के अनुरूप जिला के सभी छः विधानसभा क्षेत्रों के लिए मतों की गणना की सभी तैयारियां पूरी कर ली गई है। निर्वाचन आयोग की हिदायतों के अनुरूप मतगणना का कार्य 24 अक्तूबर को प्रातः 8:00 बजे शुरू किया जाएगा। इससे पहले प्रातः छः बजे रैण्डेमाइजेशन करके मतगणना के लिए लगाए जाने वाले मतगणना सुपरवाइजर, मतगणना आब्जर्वर तथा मतगणना सहायक सुपरवाइजरो की अलग अलग  विधानसभा क्षेत्र में मतों की गणना के लिए ड्यूटी सौंपी जाएगी।
  
उन्होंने बताया कि जिला के सभी छः विधानसभा क्षेत्रों में  प्रत्येक में मतों की गणना के लिए   14  टेबल लगाई गई हैं।इसके अलावा, सर्विस वोटरो के मतों की  गिनती के लिए वहीं पर 2 टेबल अलग से  लगाई गई है । मतों की गणना चुनाव पर्यवेक्षक की देखरेख में की जाएगी।

उन्होंने बताया कि पृथला विधानसभा क्षेत्र के लिए रिटरनिगं अधिकारी ईओ एचएसवीपी विवेक कालिया, फरीदाबाद एनआईटी के लिए रिटरनिगं अधिकारी  एडीसी धर्मेन्द्र सिंह, बङखल के लिए रिटरनिगं अधिकारी एसडीएम पंकज कुमार, बल्लभगढ़ के लिए रिटरनिगं अधिकारी एसडीएम  त्रिलोक चंद, फरीदाबाद विधानसभा के लिए रिटरनिगं अधिकारी एसडीएम अमित कुमार तथा तिगावं विधानसभा के लिए रिटरनिगं अधिकारी डीडीपीओ राकेश कुमार को है।

जिला निर्वाचन अधिकारी एवं उपायुक्त अतुल कुमार  ने बताया कि पृथला विधानसभा क्षेत्र के मतों की गणना फरीदाबाद के पंजाबी भवन सैक्टर-16 में 15 राउण्ड में पूरी होगी और फरीदाबाद एनआईटी विधानसभा क्षेत्र के मतों की गणना लखानी धर्मशाला एनआईटी-2 में 17 राउण्ड में की जाएगी। इसी प्रकार, बङखल विधानसभा क्षेत्र के मतों की गणना 18 राउण्ड में खान दौलत राम धर्मशाला एनआईटी-1फरीदाबाद में की जाएगी और बल्लभगढ़ विधानसभा क्षेत्र के मतों की गणना अग्रवाल धर्मशाला बल्लभगढ़ में की जाएगी, जो 16 राउंड में पूरी होगी।जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि फरीदाबाद विधानसभा क्षेत्र के मतों की गणना भी 16 राउण्ड में डीएवी स्कूल सैक्टर-14 के महात्मा हंसराज एडिटोरियम में पूरी की जाएगी।तिगावं विधानसभा क्षेत्र के मतों की गणना लगभग 21 राउण्ड में पूरी होगी और यह  सैक्टर-16 के गुर्जर भवन में की जाएगी।

जिला में मतगणना के लिए भारत निर्वाचन आयोग द्वारा 6 मतगणना ऑब्जर्वर नियुक्त किए गए हैं। पृथला विधानसभा क्षेत्र के लिए श्री सुमित शर्मा, फरीदाबाद विधानसभा क्षेत्र के लिए श्री रवि दफरिया, बड़खल विधानसभा क्षेत्र के लिए सत्येंद्र कुमार सिंह, फरीदाबाद एनआईटी विधानसभा क्षेत्र के लिए बंशीधर तिवारी, बल्लभगढ़ विधानसभा क्षेत्र के लिए वीएन शाह तथा तिगांव विधानसभा क्षेत्र के लिए जयशंकर दुबे को मतगणना ऑब्जर्वर नियुक्त किया गया है।

श्री सुमित शर्मा, रवि दफरिया तथा सत्येंद्र कुमार सिंह पहले से ही फरीदाबाद जिला में जनरल ऑब्जर्वर के तौर पर नियुक्त हैं, जिन्हें अब मतगणना ऑब्जर्वर के तौर पर भी नियुक्त किया गया है।  

आज तक का एग्जिट पोल देखकर भाजपा प्रत्याशियों ने रद्द किये लड्डू बनाने के एडवांस आर्डर

faridabad-aaj-tak-my-india-exit-poll-for-haryana-election-2019-news

फरीदाबाद, 23 अक्टूबर: हरियाणा विधानसभा चुनाव के लिए कल वोटों की गिनती होगी और फाइनल नतीजे आएंगे लेकिन अलग अलग एजेंसियों के एग्जिट पोल में अलग अलग नतीजे दिखाकर राजनीतिक पार्टियों की नींद उड़ा दी गयी है। 

पहले दिन टीवी चैनलों ने एग्जिट पोल में हरियाणा में भाजपा की सरकार बना दी और भाजपा को 75 पार दिखा दिया। एग्जिट पोल देखने के बाद भाजपा प्रत्याशियों ने अपनी जीत तय मानकर हलवाइयों को एडवांस में लड्डू बनाने के आर्डर दे दिए लेकिन दूसरे दिन आज तक और माय इंडिया के एग्जिट पोल में नतीजों को बदल दिया गया जिसे देखकर भाजपा नेताओं ने अपने अपने आर्डर रद्द कर दिए और नतीजों तक हलवाइयों को रुके रहने को कह दिया। 

आज तक के एग्जिट पोल की वजह से हलवाइयों को काफी नुकसान हुआ है, अगर आज तक द्वारा नतीजे बदले ना जाते तो अब तक हलवाइयों की काफी कमाई हो जाती और लड्डू बनाने का काम भी शुरू कर दिया जाता लेकिन अभी कसी भी उम्मीदवार की जीत तय नहीं मानी जा रही है इसलिए हलवाइयों की दुकानें भी सूनी पड़ी हैं। कल नतीजे आने के बाद ही हलवाई लोग लड्डू बनाने का काम शुरू करेंगे। 

फरीदाबाद में हर सीट पर 50-50 में भाजपा, आखिर डेढ़ महीनें में ऐसी क्या गलती हो गयी खट्टर से, पढ़ें

bjp-vs-congress-in-faridabad-6-seats-haryana-election-2019

फरीदाबाद, 23 अक्टूबर: फरीदाबाद जिले की 6 सीटों में से एक भी सीट पर भाजपा की एकतरफा जीत नहीं हो रही है, हर सीट पर कांटे की टक्कर हैं, भाजपा प्रत्याशी भी डरे डरे से दिखाई दे रहे हैं। हम आपको बताने जा रहे हैं कि सिर्फ डेढ़ महीनें में ऐसा क्या हो गया कि फरीदाबाद में भाजपा की ये दुर्गति हो गयी। 

करीब दो महीनें पहले 28 अगस्त को मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने फरीदाबाद में जन आशीर्वाद यात्रा निकाली थी, उस समय हर कोई यही कहता था कि फरीदाबाद में एकतरफा भाजपा का माहौल है। सभी सीटों पर भाजपा की जीत होगी लेकिन मुख्यमंत्री की यही जन आशीर्वाद यात्रा उनकी सबसे बड़ी गलती साबित हुई। 

आपको याद होगा कि ठीक इसी तरह से लोकसभा चुनाव से पहले कोंग्रेसी नेता और पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंदर सिंह हुड्डा ने परिवर्तन बस यात्रा निकाली थी, उस समय विधानसभा टिकट के दावेदार कोंग्रेसी नेताओं ने जगह जगह उनका स्वागत किया था और अपना शक्ति प्रदर्शन किया था। सभी ने एक दूसरे का पत्ता काटने के लिए एक दूसरे से अधिक भीड़ जुटाने का प्रयास किया था और इसकी वजह से कांग्रेस में गुटबाजी बढ़ गयी थी। उस समय कांग्रेस में गुटबाजी देखकर भाजपा नेता बहुत खुश हुए लेकिन खट्टर की जन आशीर्वाद यात्रा में खुद भाजपा ने यही गलती कर दी। 

जब मनोहर लाल खट्टर की जन आशीर्वाद यात्रा का प्लान बनाया गया तो भाजपा नेताओं को यह सन्देश दिया गया कि जो ज्यादा भीड़ जुटाएगा उसे टिकट मिल सकता है। यही सोचकर सभी विधानसभा के टिकट के दावेदारों ने अपनी अपनी सभा में खूब भीड़ जुटाने का प्रयास किया। करीब करीब सभी नेताओं की सभा में भीड़ जुटी और सभी खुद को टिकट का दावेदार मानकर अपने अपने क्षेत्र में चुनाव प्रचार करने लगे। इसमें मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर की सबसे बड़ी गलती ये थी कि उन्होंने भी सभी नेताओं को एक ही तरह का आशीर्वाद दिया। सबको बोल दिया गया कि तैयारी करो। 

इसके बाद सभी भाजपा नेता अपने अपने क्षेत्रों में खुद को टिकट का दावेदार बताकर चुनाव प्रचार करने लगे, चुनाव प्रचार में जमकर पैसा खर्च किया जाने लगा। टिकट का फैसला करने में देरी की गयी। उससे पहले अधिकतर नेताओं ने खुद को टिकट का दावेदार बताकर अपने अपने क्षेत्रों में जनसम्पर्क कर लिया था। इन नेताओं के समर्थक और रिश्तेदार भी काफी खुश थे। 

लेकिन, 

जब भाजपा की टिकट का फैसला हुआ तो उन सभी भाजपा नेताओं के पैरों तले जमीन खिसक गयी जिन्होंने खुद को टिकट का दावेदार बताकर जनसम्पर्क किया था और लाखों रुपये खर्च किये थे। अगर इन्हें पहले ही बता दिया जाता कि आपको टिकट नहीं मिलेगी तो ना ही ये लाखों रुपये खर्च करते, ना ही ये अपने समर्थकों और रिश्तेदारों को खुद को टिकट का दावेदार बताकर चुनाव प्रचार करते और ना ही इन्हें दुःख होता लेकिन चुनाव के 15 दिन पहले इन्हें टिकट ना देकर जोर का झटका दिया गया जिसे अधिकतर भाजपा नेता सहन नहीं कर पाए। 

टिकट ना मिलने से भाजपा नेताओं की बेइज्जती भी खूब हुई, जो नेता खुद को टिकट का दावेदार बताकर जनसम्पर्क करे और उसे टिकट ना मिले, ऐसे में उसकी क्या हालत होगी इसका आप खुद अंदाजा लगा सकते हैं। मतलब जो नेता तन-मन-धन से दशकों से पार्टी की सेवा करते आ रहे थे, पार्टी की गलत नीतियों की वजह से उनकी सरेआम नाक कट गई, जहाँ भाजपा को टिकट काटने चाहिए थे वहां से विधायकों को फिर से टिकट दी गयी, जिनकी जीत पक्की लग रही थी उनकी टिकट काट दी गयी, जहाँ पर दशकों से भाजपा नेता पार्टी की सेवा कर रहे हैं उन्हें टिकट ना देकर दलबदलुओं को टिकट दी गयी। 

अब इसे मुख्यमंत्री मनोहर ली गलती मानें या किसी और की, लेकिन फरीदाबाद में भाजपा को ये गलती बहुत भारी पड़ी है, यह यात्रा हरियाणा की सभी 90 विधानसभा में निकाली गयी थी इसलिए हो सकता है कि हर जगह गुटबाजी को बढ़ावा मिला हो। 

कांग्रेस ने खट्टर वाली गलती नहीं की, टिकट बंटने से पहले हुड्डा-शैलजा ने सभी नेताओं की एक मीटिंग बुलाई और सभी को बता दिया गया कि, आप सभी लोग तैयारी कर रहे हैं लेकिन टिकट किसी एक को ही मिलेगी, इसलिए आप लोग पार्टी का साथ दें, एकजुट होकर चुनाव लड़ें, इसके बाद कांग्रेस ने मजबूत प्रत्याशी उतारे, किसी भी विधानसभा में गुटबाजी नहीं दिखी, सभी नेताओं ने एकजुट होकर सिर्फ कांग्रेस को जिताने के लिए चुनाव लड़ा, इसी वजह से आज कांग्रेस मजबूत पोजीशन में दिख रही है जबकि भाजपा नेता टेंशन में दिख रहे हैं। 24 अक्टूबर को नतीजे आएंगे। 

सेक्टर-14 में DAV स्कूल के बाहर रात भर EVM की रखवाली करते दिखे नितिन सिंगला और उनके साथी

sector-14-dav-school-nitin-singla-seen-outside-evm-strond-room

फरीदाबाद, 23 अक्टूबर। फरीदबाद-हरियाणा में चुनाव समाप्त हो गया है, 24 अक्टूबर को मतगणना होगी, EVM मशीनों को स्ट्रांग रूम में रखा गया है, सभी विधानसभा के लिए अलग अलग मतगणना केंद्र बनाये गए हैं और यहीं पर स्ट्रांग रूम बनाये गए हैं जहाँ पर EVM को कड़ी सुरक्षा में रखा गया है। 

कांग्रेस नेता भी EVM स्ट्रांग रूम के बाहर पहरा दे रहे हैं ताकि कोई EVM से छेड़छाड़ ना कर सके। पिछले दिनों से EVM से छेड़छाड़ के कई अफवाहें उड़ाई जा रही हैं इसलिए कोंग्रेसी नेता अपनी तरफ से कोई चूक नहीं करना चाहते। 

फरीदाबाद विधानसभा में सेक्टर-14 के डीएवी स्कूल के महात्मा हंसराज ऑडिटोरियम को मतगणना केंद्र बनाया गया है। कल रात भार कांग्रेस प्रत्याशी लखन सिंगला के बेटे नितिन सिंगला और उनके साथी स्ट्रांग रूम के बाहर पहरा देते दिखे। ऊपर फोटो दी गयी है। 

सभी 6 विधानसभा के मतगणना केंद्रों की लिस्ट
  1. पृथला विधानसभा क्षेत्र के लिए फरीदाबाद के सेक्टर 16 स्थित पंजाबी भवन, 
  2. फरीदाबाद एनआईटी विधानसभा क्षेत्र के लिए फरीदाबाद के एनआईटी-2 स्थित लखानी धर्मशाला में 
  3. बड़खल विधानसभा क्षेत्र के लिए फरीदाबाद एनआईटी-1 की खान दौलत राम धर्मशाला में मतगणना केंद्र बनाए गए हैं। 
  4. बल्लभगढ़ विधानसभा क्षेत्र के लिए वहां की अग्रवाल धर्मशाला, 
  5. फरीदाबाद विधानसभा क्षेत्र के लिए सेक्टर 14 के डीएवी स्कूल के महात्मा हंसराज ऑडिटोरियम 
  6. तिगांव विधानसभा क्षेत्र के लिए फरीदाबाद के ही सेक्टर 16 स्थित गुर्जर भवन में मतगणना केंद्र बनाए गए हैं। 
इन मतगणना केंद्रों के साथ में ही स्ट्रांग रूम बनाए गए हैं, जहां पर ईवीएम और वीवीपैट मशीनो को तीन स्तरीय कड़ी सुरक्षा में रखा गया है। स्ट्रांग रूम के चारों तरफ सीसीटीवी कैमरे भी लगाए गए हैं। जिला निर्वाचन अधिकारी एवं उपायुक्त अतुल कुमार के अनुसार स्ट्रांग रूम के चारों तरफ सुरक्षा का पहला घेरा अर्ध सैनिक बलों के जवानों का है, दूसरा घेरा हरियाणा सशस्त्र पुलिस बल तथा तीसरा घेरा फरीदाबाद पुलिस के जवानों का है। उन्होंने बताया कि मतों की गणना 24 अक्टूबर को होगी, जिसके लिए जिला में प्रबंध किए जा रहे हैं। मतगणना ड्यूटी पर लगाए जाने वाले स्टाफ की बुधवार को प्रातः 9:30 बजे से हुडा कन्वेंशन हॉल सेक्टर 12 फरीदाबाद में होगी।

जीतूंगा तो जनता का हक दिलाऊंगा और हारुंगा तो जनता के हक के लिए लड़ता रहूंगा: दीपक चौधरी

deepak-chaudhary-ballabhgarh-vidhansabha-news

बल्लभगढ़: बल्लभगढ़ विधानसभा के निर्दलीय प्रत्याशी दीपक चौधरी ने बल्लभगढ़ विधानसभा वासियों को प्यार आशीर्वाद और स्नेह के लिए धन्यवाद दिया है और अपने कार्यकर्ताओं की तारीफ की है.

दीपक चौधरी ने कहा कि मैंने इस चुनाव में निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में चुनाव लड़ा उसके बावजूद भी जनता ने मुझे अपार प्रेम और स्नेह दिया. अगर चुनाव में मेरी जीत हुई तो मैं जनता का हक दिलाऊंगा और अगर मेरी हार हुई तो जनता के हक की लड़ाई लड़ता रहूंगा और हमारा संघर्ष जारी रहेगा.


दीपक चौधरी ने कहा कि बल्लभगढ़ में मतदान शांतिपूर्वक संपन्न हुआ है और जनता ने समझदारी के साथ अपने भविष्य को ध्यान में रखकर मतदान किया है. मुझे उम्मीद है कि जनता मुझे सेवा का मौका जरूर देगी. चुनाव में मेरी जीत हो या हार मैं 24 घंटे जनता की सेवा के लिए तैयार रहूंगा.