Followers

Showing posts with label Education. Show all posts

स्कूलों की मनमानी के खिलाफ सड़क पर उतरे अभिभावक, फीस वृद्धि का किया विरोध

school-fees-hike-in-faridabad-protest-against-dav-school-sector-37
School Fees hike in Faridabad, Parents Association protest outside DAV School Sector 37 Faridabad against management.

Faridabad News 9 June 2021: कोरोना महामारी के चलते स्कूल बंद होने के बाबजूद DAV School Sector 37 Faridabad मैनेजमेंट द्वारा  अभिभावकों से बढ़ाई गई  ट्यूशन फीस, एनुअल चार्ज, एडमिशन फीस,डवलपमेंट  फंड आदि मांगने से गुस्साए अभिभावकों ने बुधवार को स्कूल गेट के सामने विरोध प्रदर्शन कर किया और स्कूल मैनेजमेंट से सिर्फ बिना बढ़ाई गई ट्यूशन फीस लेने की मांग की। 

अभिभावक विजय सिंह, दिनेश वशिष्ठ, संजय यादव,प्रवीण,स्वरूप, गौरव शर्मा, शिव, ललित, स्वराज,नागर, राजेश कुमार का कहना है कि एक तरह जहां कोरोना महामारी के चलते काम धंधे बंद होने के कारण अभिभावकों की आर्थिक स्थिति काफी खराब हो गई है ऐसे में यह स्कूल फीस के मामले में मनमानी कर रहा है। 

स्कूल प्रबंधक अभिभावकों को नोटिस भेजकर व अपने अध्यापकों से मैसेज करा कर बढ़ाई गई ट्यूशन फीस,एनुअल चार्ज, एडमिशन फीस व अन्य फंडों में फीस जमा कराने का दबाव डाल रहा है।फीस जमा न कराने पर बच्चों की ऑनलाइन क्लास बंद करने व स्कूल से नाम काटने की धमकी दे रहा है। 

अभिभावकों का कहना है कि घरों में कैई सदस्य कोरोना संक्रमित होने के कारण बच्चों की ऑनलाइन पढ़ाई भी ठीक प्रकार से नहीं चल रही है। केंद्र और राज्य सरकार 10वीं व 12वीं की परीक्षा रद्द कर स्टूडेंट्स को कोविड से बचाने का प्रयास कर रही है वहीं ऐसे समय में स्कूल एस्ट्रा चार्ज के नाम पर अभिभावकों और स्टूडेंट्स के साथ नाइंसाफी कर रहा है। 

अभिभावक दिनेश  वशिष्ठ ने कहा है कि स्कूल बंद हैं, स्कूल के खर्चे भी कम हैं उसके बावजूद स्कूल एनुअल चार्ज, डेवलपमेंट फंड्स आदि अन्य फंडों में नाजायज फीस मांग रहा है कोरोना की इस दूसरी लहर में भी अभिभावकों के काम धंधे बंद होने के कारण घर के खर्चे भी ठीक से नहीं चल रहे हैं उसके बावजूद पेरेंट्स बिना बढ़ाएगी ट्यूशन फीस मासिक आधार पर देने को तैयार हैं लेकिन स्कूल इसको लेने को तैयार नहीं है वह इसके साथ साथ अन्य फंडों में भी फीस मांग रहा है। जो पूरी तरह से गैरकानूनी है और न्याय संगत नहीं है। 

स्कूल की मनमानी फीस को लेकर अभिभावक आज DAV School Sector 37 Faridabad के प्रिंसिपल से मिलने के लिए आए थे लेकिन उन्होंने मिलने से इंकार कर दिया जिसके कारण मजबूरन अभिभावकों को स्कूल के गेट पर विरोध प्रदर्शन करना पड़ा। बाद में अभिभावक गेट पर अपना ज्ञापन व मांग पत्र गेटमैन को देकर स्कूल  के नजदीक रहने वाले पूर्व विधायक व अभिभावक एकता मंच के संस्थापक टेकचंद शर्मा से मिले और उनसे मदद की गुहार लगाई। 

अभिभावकों ने मंच के प्रदेश महासचिव कैलाश शर्मा से भी संपर्क किया। कैलाश शर्मा ने अभिभावकों से कहा है कि वे एकजुट और जागरूक होकर स्कूल की प्रत्येक मनमानी का पुरजोर तरीके से विरोध करें और बिना बढ़ाई गई ट्यूशन फीस ही मासिक आधार पर जमा कराएं। पेरेंट्स शुक्रवार को एक बड़ी बैठक आयोजित करके आगे की रणनीति बनाएंगे।


क्या करें लोग, अधिकतर जमा-पूँजी निजी अस्पतालों ने ले ली, प्राइवेट स्कूल भी वसूलने को तैयार

private-hospital-looted-people-now-school-want-to-loot

फरीदाबाद, 15 मई: जनता का बहुत बुरा समय चल रहा है, यह बुरा समय पिछले साल लॉकडाउन के शुरुआत से ही चल रहा था, लोग पिछले साल की ट्रेजेडी से संभल भी नहीं  पाये थे कि इस साल फिर से लॉकडाउन लग गया और महामारी ने ऐसा कहर ढाया कि अधिकतर लोगों ने अपने प्रियजनों की जान बचाने के लिए अपनी अधिकतर जमा पूजी निजी अस्पतालों को सौंप दी.

हालत इतने बुरे हो गए थी कि कई बड़े अस्पताल 10-20 दिन के इलाज में 10-20 लाख रुपये ले रहे हैं, मीडियम अस्पताल भी रोजाना 40-50 हजार रुपये ले रहे हैं हालाँकि अब कई अस्पतालों ने सरकारी रेट के अनुसार बिल बनाना शुरू कर दिया है.

समस्या ये है कि डर दहशत और पैनिक की वजह से अधिकतर लोगों ने अपनी जमा पूँजी खर्च कर दी, अब प्राइवेट स्कूल भी मुंह खोल कर बैठे हैं और बची हुई जमा पूँजी पर उनकी भी नजर गड़ी हुई है, अधिकतर घरों के बच्चे निजी स्कूलों में पढ़ते हैं. दाखिले का समय है ऐसे में स्कूलों ने अभिभावकों से मैसेज भेजकर पैसे मांगने शुरू कर दिए हैं.

अभिभावकों की परेशानी ये है कि निजी स्कूलों का मुंह कैसे भरेंगे। उन्हें देने के लिए पैसे कहाँ से लाएंगे। कई स्कूल वाले तो खुलेआम धमकी दे रहे हैं कि पैसे दे दो वरना आपने बच्चा आगे नहीं जा पाएगा। लोग बहुत मजबूर और परेशान हैं.

अब देखते हैं कि जनता की परेशानी का कोई हल निकलता है या उन्हें उनके हाल पर छोड़ दिया जाएगा। सरकार से लोगों की उम्मीद है कि समस्या का समाधान जरूर निकाला जाएगा।

हरियाणा बाल कल्याण परिषद 17 मई से 4 जून के बीच आयोजित करेगी 'ऑनलाइन ग्रीष्मकालीन शिविर 2021'

haryana-bal-kalyan-parishad-update-for-studenst-haryana
 

फरीदाबाद, 6 मई: जिला बाल कल्याण परिषद फरीदाबाद के अध्यक्ष एवं उपायुक्त यशपाल ने बताया कि ज़िला बाल कल्याण परिषद बच्चों के सर्वांगीण विकास के लिए विभिन्न गतिविधियों का आयोजन करती रहती है। इसी कड़ी को आगे बढ़ाते हुए हरियाणा राज्य बाल कल्याण परिषद चंडीगढ़ ऑनलाइन प्लेटफॉर्म ग्रीष्मकालीन शिविर 2021 के माध्यम से प्रदेशभर के बच्चों के सपनों को पंख लगाएगी।         

इस संबंध में हरियाणा राज्य बाल कल्याण परिषद के मानद महासचिव प्रवीण अत्री ने घोषणा करते हुए कहा कि संकट की स्थिति में बच्चों के कल्याण के लिए परिषद पूरी प्रतिबद्धता के साथ कार्य करेगी। उन्होंने बताया कि कोरोना महामारी के संकटकालीन दौर के दौरान जब हर कोई अपने घरों में रहने को मजबूर है और बच्चे घरों में अकेलापन महसूस कर रहे हैं। ऐसे में हरियाणा राज्य बाल कल्याण परिषद बाल कल्याण के प्रति अपनी प्रतिबद्धता को दोहराते हुए बच्चों को ऑनलाइन प्लेटफॉर्म के माध्यम से बड़ा मंच प्रदान करने जा रही है।  

उन्होंने कहा कि कोविड-19 संकट के दौरान परिषद 17 मई से 4 जून के बीच "ऑनलाइन ग्रीष्मकालीन शिविर 2021" का आयोजन करने जा रही है। जिसके माध्यम से विभिन्न विषयों के विशेषज्ञ बच्चों को ऑनलाइन प्रशिक्षण देंगे और सप्ताहांत में उन्हीं विषयों को लेकर बच्चों की विभिन्न प्रतियोगिताएं करवाई जाएंगी। ऑनलाइन प्लेटफॉर्म की उपलब्धता से बच्चे विभिन्न प्रतियोगिताओं के माध्यम से घर बैठे अपने प्रतिभा का प्रदर्शन कर सकेंगे। 

उन्होंने कहा कि "ऑनलाइन ग्रीष्मकालीन शिविर 2021" में विशेषज्ञ बच्चों को कोविड-19 में सकारात्मक विचारों की जागरूकता, कोविड-19 वैक्सीन लगवाने की जागरूकता, कोरोना वॉरियर्स का सम्मान बढ़ाने वाले जागरूकता समेत अन्य महत्वपूर्ण विषयों पर प्रशिक्षित करेंगे और प्रशिक्षण उपरांत बच्चे विभिन्न प्रतियोगिताओं में भाग ले सकेंगे। इन प्रतियोगिताओं में पेंटिंग, स्केचिंग, एकल लोकगीत,  एकल लोक नृत्य, एकल देशभक्ति गीत ब्लॉग व अन्य गतिविधियों के माध्यम से बच्चे ऑनलाइन अपनी प्रस्तुतियां परिषद द्वारा जारी पोर्टल लिंक summervacationcamp.in पर अपलोड की जा सकेंगी। जोकि परिषद की वेबसाइट www.childwelfareharyana.com पर उपलब्ध रहेगा। 

उन्होंने कहा कि इस दौरान बच्चों को विभिन्न प्रतियोगिताओं के साथ साथ शारीरिक रूप से मजबूती के लिए ऑनलाइन माध्यम के द्वारा ही सूर्य नमस्कार का भी प्रशिक्षण दिया जाएगा और प्रतियोगिता भी करवाई जाएगी। मानद महासचिव प्रवीण अत्री ने सभी मंडल बाल कल्याण अधिकारियों और जिला बाल कल्याण अधिकारियों की ऑनलाइन मीटिंग में सभी अधिकारियों से सुझाव लिए और सभी अधिकारियों को आवश्यक निर्देश निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि बच्चे कोविड-19 के कारण पिछले लंबे समय से घर बैठने को मजबूर हैं इसीलिए ऑनलाइन प्रतियोगिताओं के माध्यम से बच्चे अपनी प्रतिभा को निखार सकेंगे और उन्हें परिषद ऑनलाइन माध्यम से बच्चों के सपनों को उड़ान देने के लिए बड़ा मंच प्रदान कर रही है। 

उन्होंने कहा कि परिषद संकट की इस स्थिति के दौरान स्लम बस्तियों में सेफ्टी किट वितरित करेगी और लोगों को कोरोना महामारी से बचाव के लिए जागरूक करेगी। उन्होंने कहा कि परिषद का उद्देश्य बाल कल्याण के कार्य व गतिविधियों को प्रदेश के हर उस बच्चे तक पहुंचाना है, जिसमें प्रतिभा है लेकिन वह संसाधनों के अभाव में अपनी प्रतिभा नहीं दिखा पाता। उन्होंने सभी से अपील करते हुए कहा कि सभी सरकार और स्वास्थ्य मंत्रालय की गाइडलाइन का पालन करें और जहां तक संभव हो अपने घरों में रहे। उन्होंने कहा कि कोविड-19 महामारी से अपना व अपने आसपास के लोगों का बचाव कर हम देश के जिम्मेदार नागरिक होने का कर्तव्य निभा सकते हैं।

Faridabad: बालिका सम्मान समारोह में 20 स्कूलों के बच्चों को उपलब्धियों के लिए किया सम्मानित

faridabad-sarkar-schook-girls-student-awarded-news

फरीदाबाद, 24 मार्च। राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय नंबर 5 में बुधवार को बालिका सम्मान समारोह का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में जिला के 20 अलग-अलग स्कूलों से कला, संगीत, खेल व शैक्षणिक गतिविधियों में बेहतरीन कार्य करने वाली बालिकाओं को सम्मानित किया गया।

कार्यक्रम में संबोधित करते हुए जिला शिक्षा अधिकारी ऋतु चौधरी ने कहा कि बेटियां आज बेटों से किसी भी क्षेत्र में कम नहीं हैं। आज हमारी बेटियों पर हमें गर्व हैं और वह लगातार सफलता के नए आयाम स्थापित कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि बेटियों का मनोबल बढ़ाने के लिए इस तरह के सम्मान समारोह काफी आवश्यक हैं। 

उन्होंने यहां मौजूद बेटियों से आवाहन किया कि वह इस सम्मान के प्राप्त होने के पश्चात और अधिक मेहनत कर सफलता की बुलंदियों को छुएं। कार्यक्रम की शुरुआत जिला शिक्षा अधिकारी व अन्य अधिकारियों द्वारा दीप प्रज्वलित कर के की गयी। इसके पश्चात छात्राओं ने सरस्वती वंदना और योगासन की प्रस्तुति ने सब का मन मोह लिया। ब्रज नट मंडली द्वारा बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ विषय पर नृत्य व नुकड नाटक प्रस्तुत किया गया। 

फऱीदाबाद के 20 स्कूलों से आए बच्चों को उनके कला, संगीत, खेल, शैक्षणिक उपलब्धियों के आधार पर चयनित करके उनको मेडल व 500 रुपये नगद इनाम दे कर सम्मानित किया गया। साथ ही प्रत्येक स्कूल को 2000 रुपये का चैक कार्यक्रम संचालन के लिए दिया गया। 

इस अवसर पर सीएमजीजीए रूपाला सक्सेना महिला और बाल विकास विभाग की कार्यक्रम अधिकारी अनिता शर्मा, जिला समन्वयक पोषण अभियान गीतिका बवेजा, अनीता गाबा, विद्यालय के प्रधानाचार्य करन पाल भी मौजूद थे।

आईटीआई की छात्राओं को आवासीय सॉफ्टवेयर प्रोग्रामिंग छात्रवृति स्कीम के बारे में अवगत कराया गया

faridabad-iti-students-training-software-program-news

फरीदाबाद, 11 मार्च। राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान (महिला) फरीदाबाद के प्रधानाचार्य गजेंद्र कुमार ने बताया कि आईटीआई के प्रांगण में आईटीआई की छात्राओं को नवगुरुकुल एनजीओ के तत्वावधान में एक साल के आवासीय सॉफ्टवेयर प्रोग्रामिंग छात्रवृति स्कीम के बारे में अवगत कराया गया.

इसमें फरीदाबाद जिले की सभी आईटीआई की छात्राएं भी शामिल हुई। कार्यक्रम के दौरान छात्राओं को एनजीओ द्वारा चलाये गए सॉफ्टवेयर कोर्स के बारे में पूर्ण जानकारी दी गई व बहुराष्ट्रीय कंपनियों में नौकरी के अवसरों के बारे में जानकारी दी गई। 

उन्होंने बताया कि इस कोर्स को कोई भी दसवीं पास लडकी/महिलाएं एवं ट्रांसजेंडर ही कर सकती है। इसके लिए उन्हें कोई भी आवास एवं शिक्षा शुल्क नहीं देना होगा। इसके साथ भी उनके भोजन का प्रबंध भी नि:शुल्क किया जायेगा। नवगुरुकुल की प्रतिनिधि मनीषा द्वारा इस कोर्स के बारे में छात्राओं को बताया गया। 

कार्यक्रम में सीएमजीजीए रुपाला सक्सेना भी मौजूद थी। उन्होंने बताया कि इस कोर्स का लाभ लेने की इच्छुक छात्राएं www.navgurukul.org पर एवं 8891300300 नंबर पर संपर्क कर सकते हैं।

हरियाणा में 1 और 2 कक्षा के बच्चों के लिए भी 1 मार्च से खुलेंगे स्कूल, सरकार का फैसला

haryana-government-open-school-1st-2nd-class-from-1-march

फरीदाबाद, 24 फरवरी: हरियाणा सरकार ने एक बेहद अहम फैसला लेते हुए कहा है कि हरियाणा सरकार  ने पहली और दूसरी कक्षा के विद्यार्थियों के लिए भी 1 मार्च, 2021 से स्कूलों में रेगुलर पढाई शुरू कराने का निर्णय लिया है। स्कूलों का समय प्रात: 10 बजे से 1:30 बजे तक रहेगा। तीसरी और इससे ऊपर की कक्षाओं के विद्यार्थियों के लिए पहले ही स्कूल खोले जा चुके हैं। 

हरियाणा सरकार एक और बड़ी शुरुआत करने जा रही है. मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने अधिकारियों को शिक्षा का एक ऐसा सिस्टम विकसित करने के निर्देश दिए हैं जिसके तहत बच्चों को ‘के.जी. टू पी.जी.’ शिक्षा एक ही संस्थान में मुहैया करवाई जा सके। उन्होंने दो ऐसे विश्वविद्यालय चिन्हित करने को कहा है जहां शुरू में यह सिस्टम लागू किया जा सके।

महिला एवं बाल विकास अधिकारी ने महावारी के दौरान स्वच्छता व मिथक पर छात्राओं को किया जागरूक

awareness-about-mahawari-in-faridabad-girls-student-news

फरीदाबाद, 23 फरवरी। आज मंगलवार को सराय ख्वाजा, फरीदाबाद के वरिष्ठ राजकीय स्कूल में एसडीएम जितेंद्र कुमार के मार्गदर्शन तथा महिला एवं बाल विकास परियोजना अधिकारी मीरा द्वारा बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ योजना के तहत लड़कियों को माहवारी जागरूक वर्कशॉप का आयोजन किया गया। 

वर्कशॉप में डब्ल्यूसीडीपीओ मीरा द्वारा माहवारी के दौरान स्वच्छता रखने व मिथ्या धारणाओं से दूर रहने बारे विस्तार से बताया गया इसके अतिरिक्त वन स्टॉप सेंटर से मीनू यादव द्वारा वन स्टॉप सेंटर के सभी सुविधाओं के बारे में जानकारी दी गई.

जिला बाल संरक्षण इकाई की तरफ से अर्पणा द्वारा पोक्सो एक्ट की विस्तार से जानकारी दी गई इस दौरान 80 लड़कियां और स्कूल के अध्यापक व प्रिंसिपल उपस्थित रहे सुपरवाइजर कृष्णा और सुनीता दहिया द्वारा पौष्टिक आहार लेने सैनेटरी नैपकिन का प्रयोग बारे बताया गया सभी लड़कियों को फल वितरित किए गए।

सरकारी स्कूलों की जर्जर हालत देखकर दुखी हुए LN पाराशर, घोटालेबाजों से वसूलो, स्कूलों में लगाओ

advocate-ln-parashar-demand-to-repair-sarkari-schools-news

फरीदाबाद, 18 फरवरी: हरियाणा  के कई जिलों में  अवैध तरीके से रजिस्ट्रियों का खेल कई बरसों से चल रहा है और फरीदाबाद के कई रजिस्ट्री घोटालों को मैंने दो साल पहले उजागर किया था और कुछ लोगों पर एफआईआर भी दर्ज करवाई थी लेकिन तब भी घोटालेबाज नहीं सुधरे। लॉकडाउन में भी ये अवैध तरीके से रजिस्ट्री कर करोड़ों रूपये कमाते रहे और सरकार को चूना लगाते रहे। ये कहना है बार एसोशिएशन फरीदाबाद के पूर्व अध्यक्ष एलएन पाराशर का जिन्होंने सीएम मनोहर लाल को पत्र लिख कर अपील की है कि फरीदाबाद में सैकड़ों रजिस्ट्री अवैध हुईं हैं और सबकी जांच करवाई जाये और इन घोटालेबाजों की अरबों की संपत्ति जब्त कर उस राशि से जिले के लगभग 50 जर्जर सरकारी स्कूलों की मरम्मत करवाई जाए जिसमे छात्र जान जोखिम में डालकर पढ़ रहे हैं। 

एडवोकेट पाराशर ने कहा कि प्रदेश के सम्बंधित अधिकारियों ने माना है किया हरियाणा के 32 शहरी निकायों के कंट्रोल एरिया में हुई रजिस्ट्रियों में गड़बिडय़ां पाई गई हैं। इसमें फरीदाबाद जिले का भी नाम है और लेकिन पूरे प्रदेश में करीब 30 हजार रजिस्ट्रियां गलत ढंग से होने की बात सामने आ रही है और 300 से ज्यादा अधिकारियों की इस बड़े घोटाले में लिप्त होना बताया जा रहा है। व

कील पाराशर ने कहा कि अगर ठीक से जांच करवाई जाए तो फरीदाबाद में दो वर्षों में एक हजार से ज्यादा रजिस्ट्रियां अवैध तरीके से की गईं पाई जाएंगे और कई अरब रूपये का घोटाला सामने आएगा। उन्होंने कहा कि फर्जी स्टाम्प से तमाम रजिस्ट्रियां हुई हैं और दो साल पहले ही मैंने इसका खुलासा सबूत के साथ किया था और अवैध तरीके से रजिस्ट्री करने वालों पर मामला भी दर्ज करवाया था लेकिन कोई ठोस कार्यवाही न होने से घोटालेबाजों के हौसले बुलंद रहे और घोटाला जारी रहा। 

उन्होंने कहा कि फरीदाबाद में जमीनें काफी मंहगी हैं और ठीक से जांच की जाए तो सैकड़ों घोटालों में अरबों-खरबों का हेरफेर दिखेगा। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में गलत लोगों की संपत्ति सरकार जब्त कर रही है, इसी तरह यहाँ भी किया जाए तो जल्द कोई ऐसे बड़े घोटाले नहीं करेगा। 

एडवोकेट पाराशर ने कहा कि मुझे मिली जानकारी के मुताबिक़  अकेले फरीदाबाद में करीब डेढ़ हजार तथा गुरुग्राम जिले में करीब दो हजार रजिस्ट्रियां हुई हैं। फरीदाबाद, गुरुग्राम, सोनीपत, झज्जर, बहादुरगढ़, पलवल, मेवात, अंबाला, पानीपत, हिसार, सिरसा और फतेहाबाद जिले ऐसे हैं, जिनमें पोस्टिंग के लिए तहसीलदारों व जिला राजस्व अधिकारियों में मारामारी रहती है। गुरुग्राम व फरीदाबाद दो जिले ऐसे हैं, जहां से रजिस्ट्रियों के रूप में मोटा पैसा लिया जाता है। इन दो जिलों में ही अगर घोटालेबाजों की संपत्ति जब्त की जाए तो कई ख़राब रूपये इकट्ठे हो सकते हैं। 

पाराशर ने कहा कि तमाम घोटालेबाजों ने अरावली पर फार्म फाउस बना रहे हैं जो पूरी तरह से अवैध हैं।

जे.सी. बोस विश्वविद्यालय ने बीआईएम प्रौद्योगिक को लेकर टेक्नोसस्ट्रक्ट अकादमी से किया समझौता

ymca-agreement-with-technostruct-ibm-faridabad-news

फरीदाबाद,11 फरवरी,2021: आर्किटेक्चर, इंजीनियरिंग और निर्माण उद्योग में तेजी से उभर रही बिल्डिंग इनफोर्मेशन मॉडलिंग (बीआईएम) प्रौद्योगिकी पर विद्यार्थियों को प्रशिक्षण तथा कार्य अनुभव प्रदान करने के उद्देश्य से जे.सी. बोस विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, वाईएमसीए, फरीदाबाद ने निर्माण उद्योग में कार्यरत अमेरिकन कंपनी टेक्नोस्ट्रक्ट के शैक्षणिक उद्यम टेक्नोसस्ट्रक्ट अकादमी के साथ समझौता किया है। 

कुलसचिव डॉ. सुनील कुमार गर्ग और टेक्नोस्ट्रक्चर अकादमी से नॉर्थ इंडिया हेड अरुण कोचर ने कुलपति प्रो. दिनेश कुमार की उपस्थिति में समझौता पर हस्ताक्षर किए। इस अवसर पर सिविल इंजीनियरिंग के विभागाध्यक्ष प्रो. एम.एल. अग्रवाल, निदेशक इंडस्ट्री रिलेशन्स डॉ. रश्मि पोपली, और टेक्नोसट्रक्ट अकादमी में एसोसिएट प्रोफेसर दिव्याश्री भी उपस्थित थीं।

समझौते के अंतर्गत टेक्नोस्ट्रक्चर अकादमी द्वारा प्रशिक्षण एवं विकास कार्यक्रम के माध्यम से विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों को मुफ्त पाठ्यक्रम तथा अंतरराष्ट्रीय परियोजनाओं पर काम करने का अनुभव प्रदान करेगी तथा रोजगार के अवसर प्राप्त करने में भी सहयोग देगी। 

इस समझौते पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कुलपति प्रो. दिनेश कुमार ने कहा कि इससे सिविल इंजीनियरिंग के विद्यार्थियों को उद्योग के लिए जरूरी तकनीकी कौशल प्राप्त होगा, जिससे रोजगार के अवसर बढ़ेंगे। प्रो. दिनेश कुमार ने कहा कि बीते एक दशक में निर्माण उद्योग हुए तकनीकी विकास से क्रांतिकारी बदलाव देखने को मिल रहे है। निर्माण उद्योग में नई तकनीक से निर्माण के तौर-तरीके अत्यधिक कुशल हो गये है तथा निर्माण लागत भी कम हो गई है। कुलपति ने आशा जताई कि इस सहयोग से निर्माण उद्योग को उनकी आवश्यकता के अनुसार कुशल कार्यबल उपलब्ध होगा। 

प्रो. एम. एल. अग्रवाल ने कहा कि बीआईएम निर्माण उद्योग में एक उभरती हुई तकनीक है जो भवन के डिजिटल मॉडल को बनाने में मदद करती है। यह मॉडल, जिसे बिल्डिंग इनफोर्मेशन मॉडल के रूप में जाना जाता है, का उपयोग योजना, डिजाइन, निर्माण और सुविधा के संचालन के लिए किया जा सकता है और आर्किटेक्ट, इंजीनियरों और निर्माणकर्ताओं को यह कल्पना करने में मदद करता है कि संभावित डिजाइन तथा निर्माण किस तरह से किया जाना है या इसमें क्या दिक्कत हो सकती है। इस प्रकार, समझौता से विद्यार्थियों को निर्माण उद्योग से जुड़ी अत्याधुनिक तकनीक पर व्यावहारिक ज्ञान प्राप्त करने में मदद मिलेगी।

इस अवसर पर बोलते हुए टेक्नोस्ट्रक्ट अकादमी के नॉर्थ इंडिया हेड श्री अरुण कोचर कहा कि निर्माण उद्योग के क्षेत्र में काफी कमी है, जिसे टेक्नोस्ट्रक्ट अकादमी अंतर्राष्ट्रीय मानक बीआईएम प्रबंधन पाठ्यक्रमों के माध्यम से पूरा करने की कोशिश कर रही है। कोरोना महामारी के बादे भारतीय निर्माण उद्योग एक बार पुनः उभर रहा है। उन्होंने कहा कि उम्मीद है कि 2030 तक भारत में रियल एस्टेट सेक्टर एक ट्रिलियन अमेरिकी डॉलर के बाजार का आकार ले लेगा और 2025 तक देश की जीडीपी में 13 प्रतिशत का योगदान करेगा। इस प्रकार, बीआईएम प्रौद्योगिकी के माध्यम से निर्माण क्षेत्र से जुड़े पेशवरों तथा विद्यार्थियों के लिए को कौशल विकास द्वारा रोजगार हासिल करने का बेहतरीन अवसर मिलेगा।

DC यशपाल यादव ने बढ़ाया बच्चों का हौसला, बाल महोत्सव प्रतियोगिता के विजेताओं को बांटे पुरष्कार

haryana-bal-mahotsava-2020-prize-distribution-dc-yashpal-yadav

फरीदाबाद, 20 जनवरी। उपायुक्त एवं अध्यक्ष जिला बाल कल्याण परिषद यशपाल ने कहा कि  करोना आपदा के बावजूद बच्चों ने अपना हौसला बनाए रखा। अपने घर पर रहकर ही पढ़ाई की और आपदा के बावजूद अपनी बहतर शिक्षा ग्रहण करने का जज्बा नहीं छोड़ा। जिला बाल कल्याण परिषद द्वारा आयोजित विभिन्न प्रतियोगिताओं में भी बच्चों ने जिस ढंग से शिरकत की उसमें भी उनके हौसले की झलक साफ दिखाई देती है।  

उपायुक्त यशपाल  मंगलवार देर से बाल भवन में ऑनलाइन जिला स्तरीय प्रतियोगिता के विजेता बच्चों को सम्मानित कर रहे थे।।                                                            

इस अवसर पर मुख्य अथिति ने बच्चों को संबोधित करते हुए कहा कि हम सभी को अपने बच्चो को कुछ बड़ा सपना देखने को कहें और उनको कहें कि आप बहुत बड़ा बनोगे। उन्होंने अपना उदाहरण देते हुए कहा कि मैं एक छोटे से गाँव से निकलकर यहाँ तक पहुंचा हूँ।  मेरी दादी कहती थी कि आप बहत बड़े अफसर बनोगे और यह उनका कथन सत्य साबित हुआ.

उन्होंने कहा कि इस प्रकार की कोरोना नामक बीमारी मैंने अपने जीवन में कभी नही देखी, लेकिन अब हमने इस पर लगभग विजय पाली है. उन्होंने सभी अभिभावकों के कार्यो कि भी सराहना कि उन्होंने कोरोना काल में बच्चो को इन प्रतियोगिताओं में भाग लेने के लिए प्रेरित किया व् उनको तैयारी भी करवाई। 

उन्होंने हरियाण राज्य बाल कल्याण परिषद के कार्यों की भी सराहना कि कोरोना काल में इस प्रकार की एतिहासिक ऑनलाइन प्रतियोगिताएं आयोजित की. उन्होंने जिला बाल कल्याण परिषद की पूरी टीम को इस सफल आयोजन के लिए बधाई दी तथा यह भी आशवासन दिया कि जिला बाल कल्याण परिषद फरीदाबाद बच्चो के कल्याण के लिए कार्य करती रहेगी। जीवन में सफलता पाने के लिए शैक्षणिक उत्कृष्ठता के साथ साथ लाइफ स्किल्स में प्रवीणता होना जरुरी है और ये प्रतियोगिताएं लाइफ स्किल्स का हिस्सा है जिनमे भाग लेने से उसकी क्षमता का आंकलन होता है तथा विभिन्न विधाओं में निपूर्णता हासिल होती है अतः सभी  विजेताओं को मेरी शुभकामनाएं। 

हरियाणा राज्य बाल कल्याण परिषद द्वारा कोरोना महामारी को देखते हुए बाल महोत्सव के अवसर पर बच्चो के लिए ऑनलाइन प्रतियोगिताएं आयोजित करवाई गई जो कि 10 अक्टूबर से 10 नवम्बर 2021 तक चली. बाल महोत्सव का उद्देश्य बच्चों में छिपी हुई प्रतिभा को निखारने के लिए उनको एक बड़ा मंच प्रदान करना है जिससे वो अपने सपनो को साकार कर सकें।

आज के कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में  उपायुक्त एवम अध्यक्ष जिला बाल कल्याण परिषद यशपाल फरीदाबाद रहे. विशिष्ट अतिथि मंडलीय जिला बाल कल्याण अधिकारी कुसमेन्द्र यादव  रहे।  उपायुक्त ने विधिवत रूप से ज्योति प्रज्ज्वलित करके कार्यक्रम की शुरुआत की. कार्यक्रम की अध्यक्षता नरेंद्र मलिक जिला बाल कल्याण अधिकारी ने की।  जिला बाल कल्याण अधिकारी श्री नरेंद्र मलिक ने अथितियों का स्वागत करते हुए कहा कि आज के कार्यक्रम में बाल महोत्सव 2020 के दौरान 23 विभिन्न प्रतियोगिताओं के 71 ग्रुपों में आयोजित प्रतियोगिताओ में विजेता 292 बच्चो को पुरस्कृत किया गया। जो फरीदाबाद जिला के विभिन्न विद्यालयों से सम्बंधित है.

सेंट जॉन्स स्कूल सेक्टर 7, फ़रीदाबाद व सेंट थोमस स्कुल सेक्टर -8 फरीदाबाद व विद्यया निकेतन स्कुल नंबर -2 फरीदाबाद के बच्चों ने मुख्य अतिथि के सम्मुख अपनी –अपनी प्रस्तुति दी, जिसे देखकर सभी ने सराहना की व मुख्य अतिथि ने भी बच्चो की सराहना की.  जिला स्तर पर प्रतियोगिताओं में निर्णायक मंडल की भूमिका निभाने वाले निर्णायक मंडल के 30 सदस्यों को भी सम्मनित किया गया। मंच का संचालन उदय चंद लेखाकार ने किया। अंत में एस एल खत्री कार्यक्रम अधिकारी ने कार्यक्रम में भाग लेने वाले बच्चो, अध्यापकों और मुख्य अतिथि व विशिष्ट अथितियों का धन्यवाद किया।

इस अवसर पर प्रदीप बेरी गोल्ड लाइफ मेम्बर, वीरभान, गीता सिंह, डा. रूद्रदत्त शर्मा, रविंदर कुमार मनचंदा, रूपकिशोर, अंजू यादव, विनोद कुमार, प्रवीन गर्ग, मनोज कुमार, सुखबीर दहिया, लखन सिंह लोधी, मांगे राम, सुमित शर्मा, राधा लखानी, अरुणा, हरजिंदर कौर, मीना खत्री के साथ साथ बाल भवन का स्टाफ उपस्थित था।

200 गरीब बच्चों को मुफ्त कोचिंग पढ़ाते हैं गब्बर, अगर मिलेगी मदद तो हजारों को मुफ्त पढ़ाएंगे

faridabad-the-gabbar-classes-free-coaching-for-poor

फरीदाबाद, 28 दिसंबर: पहले शिक्षा ज्ञान देने और हासिल करने का एक माध्यम था लेकिन बीते वर्षों में शिक्षा एक बिजनेस बन गया और अब अधिकतर शिक्षण संस्थान सिर्फ पैसा कमाने के उद्देश्य से खोले जाते हैं और बच्चों के माँ बाप को पूरी तरह से निचोड़ लेते हैं. अमीर लोग तो बेहिसाब पैसा खर्च करके अपने बच्चों को मंहगे मंहगे संस्थानों में पढ़ा लेते हैं लेकिन गरीब बच्चे अच्छे शिक्षा से वंचित रह जाते हैं.

इससे अलग फरीदाबाद इस्माइलपुर गांव में एक युवक गब्बर क्लासेज नाम से फ्री कोचिंग चलाता है जिसमें करीब 200 गरीब बच्चे पढ़ते हैं, ख़ुशी की बात ये है कि इनमें से एक दर्जन से ज्यादा छात्र IIT/PMT और NDA में सेलेक्ट हो चुके हैं। 

युवक का नाम अनुज है लेकिन अब वह गब्बर कहलाना पसंद करते हैं। शिक्षा की बात करें  MSc कमेस्ट्री/ Bed, किये हैं और 15 साल से टूशन पढ़ा रहे हैं, वह पहली कक्षा से लेकर 12 तक के बच्चों को ट्यूशन पढ़ाते हैं साथ में IIT/ PMT- NDA, CBSE/HBSE की ट्रेनिक भी कराते हैं। 

हैरानी की बात ये है कि गब्बर सभी बच्चों को मुफ्त कोचिंग पढ़ाते हैं और विल्कुल सामान्य जिंदगी जीते हैं, उन्होंने अपनी जिंदगी पूरी तरह से देश को समर्पित कर दी है, किराए के कमरे में रहते हैं और वहीं पर बच्चों को पढ़ाने का इंतजाम कर रखा है.

अगर कमाई की बात करें तो गब्बर पूरी तरह से दानियों पर निर्भर हैं, अगर  किसी को उनके अच्छे काम की खबर मिलती है तो कुछ आर्थिक मदद कर देते हैं जिससे उनका कमरे का किराया और दो वक्त के भोजन की व्यवस्था हो जाती है.

गब्बर ने बताया कि अगर कोई उनकी मदद करता है तो वह अपने गरीब छात्रों की मदद करते है, एक दिन एक भले इंसान ने उनकी मदद की थी तो उन्होंने बच्चों के लिए बैग खरीद लिए और सबको मुफ्त बाँट दिया।

क्या है गब्बर का विजन

गब्बर का सपना है कि गरीब बच्चों को भी अच्छी शिक्षा मिले। इसीलिए वह अधिकतर गरीब बच्चों को कोचिंग पढ़ाते हैं, अगर उन्हें आर्थिक मदद मिली तो वह कई और कोचिंग सेण्टर खोलेंगे और गरीब बच्चों को मुफ्त में पढ़ाएंगे और उन्हें कुछ ना कुछ बनाकर छोड़ेंगे।

गब्बर के पास अपने लिए समय नहीं

गब्बर के मन में देश की सेवा की ऐसी भावना पैदा हो गयी है कि उन्होंने 32 साल का होते हुए शादी का सपना नहीं देखा, सिर्फ गरीब बच्चों को मुफ्त कोचिंग पढ़ाकर उन्हें कुछ ना कुछ बनाने का सपना देखा है. उन्होंने  The Gabbar Classes के नाम से फेसबुक  पेज भी बना रखा है जिसपर 50 हजार से अधिक फॉलोवर हैं. उनके अच्छे काम को देखकर लोग उनसे जुड़ते हैं, कुछ लोग उनकी आर्थिक मदद भी कर देते हैं. अगर गब्बर की मदद करना है तो उनसे सम्पर्क कर सकते हैं - 9667607082.

CM मनोहर का बड़ा फैसला, राजकीय मॉडल संस्कृति सीनियर सेकेंडरी स्कूलों में होगी CBSE बोर्ड से पढ़ाई

haryana-sarkar-model-sanskriti-senior-secondary-education-cbse-board

फरीदाबाद, 27 दिसंबर: हरियाणा सरकार ने एक महत्वपूर्ण फैसला लिया है, मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने राजकीय मॉडल संस्कृति वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालयों का नेतृत्व प्रदेश के सरकारी स्कूलों में पढ़ाने वाले ऊर्जावान, सकारात्मक सोच व नवाचारी कार्य करने वाले प्रधानाचार्यों को सौंपने का निर्णय लिया है। इसके लिए सरकार ने इच्छुक प्रधानाचार्यों से 4 जनवरी 2021 तक ऑनलाइन आवेदन आमंत्रित किए हैं।अंग्रेजी माध्यम के ये विद्यालय सीबीएसई बोर्ड से संबंद्घ होंगे। 

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि हरियाणा सरकार ने करीब 300 माध्यमिक विद्यालयों और 1000 से अधिक प्राइमरी विद्यालयों को मॉडल संस्कृति विद्यालय घोषित कर दिया है जिसमें अंग्रेजी मीडियम से CBSE बोर्ड के तहत पढ़ाई होगी।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि कई लोग अपने बच्चों को सिर्फ इसलिए सरकारी स्कूलों में नहीं पढ़ाते क्योंकि इनमें हिंदी मीडियम में पढ़ाई होती है और हरियाणा बोर्ड के तहत पढ़ाई होती है लेकिन अब मॉडल सरकारी स्कूलों में अंग्रेजी मीडियम में पढ़ाई होगी और CBSE बोर्ड से पढ़ने की सुविधा मिलेगी। 

कुछ स्थानों पर KG से PG तक पढ़ाई की करेंगे व्यवस्था, अब शिक्ष के साथ स्किल भी देंगे: CM मनोहर

haryana-cm-manohar-lal-will-start-education-system-kg-to-pg

फरीदाबाद, 27 दिसंबर: हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने एक बड़ा ऐलान किया है, बच्चों को अलग अलग स्तर पर अलग अलग स्कूलों और कॉलेजों में पढ़ाई करनी पड़ती है और यहाँ से वहाँ भागना पड़ता है. मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा है कि अब कुछ स्थानों पर KG से PG तक पढ़ाई की व्यवस्था करेंगे ताकि बच्चा KG में दाखिल हो और वहीं से PG यानी पोस्ट ग्रेजुएट करके निकले।

मुख्यमंत्री ने कहा कि इससे हमारे साधनों की बचत होगी, बच्चों की पढ़ाई की निरंतरता बनी रहेगी और अध्यापकों को भी क्लास कॉम्बिनेशन का अच्छा लाभ मिलेगा।

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने यह भी कहा कि नयी शिक्षा नीति में बहुत कुछ बदलाव किये गए हैं, मैकाले यानी अंग्रेजों ने 3R शिक्षा की नीति शुरू की थी जिसे पढ़कर भारत के लोग क्लर्क ही बन सकते थे लेकिन अब हम इसमें स्किल भी जोड़ेंगे ताकि बच्चे की पढ़ाई के साथ साथ स्किल भी बढे और वह रोजगार कर सके. देखिये वीडियो - 

Result of Bal Mahotsava 2020 Haryana Faridabad, बाल महोत्सव के नतीजे देखिये

result-of-bal-mahotsava-2020-haryana-faridabad

फरीदाबाद, 19 दिसंबर: हरियाणा राज्य बाल कल्याण परिषद द्वारा मनाए जा रहे ऑनलाईन बाल महोत्सव 2020 में 23 प्रकार की विभिन्न प्रतियोगिताओं के नतीजे घोषित किये जा चुके हैं.

नीचे लिंक  पर क्लिक करके Faridabad के नतीजे देखे जा सकते हैं


अलग अलग शहरों के नतीजे इस लिंक पर देखिये - https://childwelfareharyana.com/bal-mahotsav/

Faridabad का Complete Result नीचे टेबल में दिया गया है
result-of-bal-mahotsava-2020-haryana-faridabad
 






















सरकार ने जारी किया आर्डर, 14 दिसंबर और 21 दिसंबर से खुलेंगे इन कक्षाओं के स्कूल, शर्तें भी पढ़ें

haryana-school-open-order-from-14-december-2020-news

फरीदाबाद, 10 दिसंबर: हरियाणा सरकार ने आगामी 14 दिसंबर से स्कूलों को खोलने के आदेश जारी किये हैं लेकिन इसके लिए नियम और शर्तें जारी की गयी हैं.

आर्डर में लिखा गया है - बोर्ड की परीक्षाओं एवं कोविड की त्रासदी की गंभीरता को समझते हुए सरकार द्वारा निर्णय लिया गया है क़ि बोर्ड कक्षाओं 10वीं तथा 12वीं के विद्यार्थियों के लिए 14 दिसंबर, 2020 से प्रतिदिन 3 घंटे प्रातः 10 बजे से 1 बजे के मध्य सरकार तथा प्राइवेट विद्यालयों को पुनः आरम्भ कर दिया जाए, कक्षा 9वीं तथा 11वीं के विद्यार्थियों के लिए विद्यालय 21 दिसंबर 2020 से पुनः आरम्भ होंगे।

विद्यालयों को पुनः खोलने के सन्दर्भ में यह भी महत्वपूर्ण उल्लेख है कि विद्यालय में आने से पूर्व विद्यार्थी अपनी सामान्य स्वास्थय जांच, जो सरकारी प्राथमिक चिकित्सा केंद्रों, सामुदायिक चिकित्सा केंद्रों (PHC/CHC) के अतिरिक्त अन्य किसी स्वास्थय केंद्र/ चिकित्सक से करवाएंगे। सम्बंधित चिकित्सक द्वारा उन्हें सामान्य स्वास्थय जांच के उपरान्त यह पत्र दिया जाएगा जिसमें उल्लेख होगा कि अमुक विद्यार्थी में कोरोना संक्रमण के लक्षण नहीं हैं तथा उसका स्वास्थ्य सामान्य है, चिकित्सक द्वारा दिए गए पत्र को प्रस्तुत करने पर ही विद्यार्थी को स्कूल में प्रवेश दिया जाएगा, यह सामान्य स्वास्थय जांच पत्र स्कूल में प्रवेश से 72 घंटे से पुराना नहीं होना चाहिए। माता पिता की अनुमति पूर्व की भाँति अनिवार्य रहेगी।

स्कूल में प्रवेश के दौरान हरियाणा आपदा प्रबंधन विभाग के पत्र क्रमांक DMC-SPO-2020/6017 दिनांक 15.09.2020 की अनुपालना में जारी स्वास्थय सम्बन्धी प्रोटोकॉल जैसे विद्यार्थियों, अध्यापकों के तापमान की दैनिक जांच पूर्व की भाँती जारी रहेगी तथा सामान्य से अधिक तामपान पाए जाने पर स्कूल में प्रवेश नहीं दिया जाएगा, ऐसे सभी सम्बंधित का डाटा सम्बंधित विद्यालय दैनिक आधार पर विभाग द्वारा उपलब्ध करवाए गए मोबाइल एप पर भरेगा तथा स्वास्थय विभाग द्वारा बनाये बनाये गए नोडल अधिकारी के साथ साथ मुख्य चिकित्सा अधिकारी एवं उपायुक्त कार्यालय को भी आवश्यक कार्यवाही हेतु उपलब्ध करवाया जाएगा।    

 उपरोक्त मामले में यह भी उल्लेख है कि विद्यार्थियों के सामान्य स्वास्थय की निशुल्क जांच की व्यवस्था विभिन्न PHC/ CHC तथा अन्य माध्यमों से सम्बंधित जिला उपायुक्त द्वारा अपने जिले के मुख्य चिकित्सा अधिकारी के माध्यम से सुनिश्चित की जाएगी ताकि विद्यार्थियों को कोई असुविधा ना हो, इस प्रकार की कोई भी स्वास्थय जांच परिसर में नहीं की जाएगी।

उपरोक्त मामले में आपको आग्रह किया जाता है कि अपने क्षेत्राधिकार के सभी सरकारी व प्राइवेट विद्यालयों में उपरोक्तानुसार अनुपालना सुनिश्चित करें।                                                                                       

haryana-school-open-order-from-14-december-2020


 

SC/ST छात्र-छात्राओं के लिए खुशखबरी, ऑनलाईन आवेदन करने की तिथि बढ़ाकर की गयी 15 दिसम्बर

dr-bhim-rao-ambedkar-scholarship-yojna-news
 

फरीदाबाद, 09 दिसंबर। अनुसूचित जाति एवं पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग द्वारा चलाई जा रही डॉ. बी.आर. अंबेडकर मेधावी छात्रवृत्ति संशोधित योजना के वर्ष 2020-21 में छात्र-छात्राओं की छात्रवृत्ति हेतु ऑनलाईन आवेदन पत्र विभागीय वेबसाइट www.scbcharyana.com पर प्राप्त करने की अंतिम तिथि 30 अक्टूबर 2020 निश्चित की गई थी। 

जिला कल्याण अधिकारी वंदना शर्मा फरीदाबाद ने यह जानकारी देते बताया कि शिक्षा के क्षेत्र में निरंतर बढ़ती प्रतिस्पर्धा के युग में अनुसूचित जाति एवं पिछड़ा वर्ग के छात्र-छात्राओं को सामान्य श्रेणी के छात्रों के साथ प्रतिस्पर्धा रखने हेतु सक्षम बनाने के लिए आर्थिक सहायता प्रदान करना एवं अधिक से अधिक अंक प्राप्त करने के लिए प्रेरित करना है। जिसे ध्यान में रखते हुए छात्र उक्त योजना के आवेदन पत्र दिनांक 30 अक्टूबर तक नहीं भर पाए थे विभाग द्वारा ऐस छात्र-छात्राओं के लिए ऑनलाईन आवेदन करने की तिथि बढ़ाकर 15 दिसम्बर 2020 तक कर दी गई है। 

उन्होंने बताया कि अनुसूचित जाति से संबंधित छात्र-छात्राओं द्वारा मैट्रिक मे 60 प्रतिशत ग्रामीण, 70 प्रतिशत शहरी अथवा 12वीं की बोर्ड परीक्षा में 70 प्रतिशत ग्रामीण व 75 प्रतिशत शहरी, स्नातक डिग्री मे ग्रामीण क्षेत्र में 60% तथा 65% शहरी क्षेत्र मे एक प्राप्त किए होने चाहिए।  

पिछड़े वर्ग (ए) के छात्र-छात्राओं ने मैट्रिक में 60 प्रतिशत ग्रामीण 70 प्रतिशत शहरी तथा पिछड़े वर्ग (बी) जाति से संबंधित छात्र-छात्राओं द्वारा मैट्रिक मे 75 प्रतिशत ग्रामीण व 80 प्रतिशत शहरी क्षेत्र में अंक प्राप्त किए जाने अनिवार्य हैं। उक्त योजना के तहत छात्र-छात्राओं द्वारा की पास गई कक्षा की मार्कशीट हरियाणा का स्थाई निवासी हो, जाति प्रमाण पत्र, आधार कार्ड बैंक कार्ड, वर्तमान कक्षा का आई.डी. कार्ड व माता-पिता/अभिभावक की 4 लाख तक का आय प्रमाण पत्र होना अनिवार्य है।

 उन्होंने बताया कि निर्धारित तिथि के बाद प्राप्त आवेदन पत्रों पर कोई विचार नहीं किया जाएगा। 

Breaking: हरियाणा के सभी सरकारी और प्राइवेट स्कूल 10 दिसंबर तक पूर्ण रूप से बंद

haryana-school-closed-till-10-december-2020-news

फरीदाबाद, 30 नवंबर: हरियाणा सरकार ने स्कूलों को लेकर आदेश जरी किये हैं. सभी सरकारी और प्राइवेट स्कूल आगामी 10 दिसम्बर तक बंद कर दिए गए हैं. सभी स्कूल छात्रों के साथ साथ अध्यापकों के लिए भी बंद रहेंगे।



 

हरियाणा के इन छात्रों के लिए खुशखबरी, पढ़ने के लिए मुफ्त टेबलेट देंगे मुख्यमंत्री मनोहर, पढ़ें

haryana-cm-manohar-lal-news-free-tablet-for-9-12-th-student

फरीदाबाद, 28 नवंबर: हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने एक वर्ग के छात्रों के लिए खुशखबरी सुनायी है, उन्होंने ट्विटर पर लिखा - 

हरियाणा सरकार ने #Covid19 के मद्देनजर सरकारी स्कूलों में पढ़ रहे कक्षा आठवीं से बाहरवीं के सभी वर्गों जैसे सामान्य श्रेणी, अनुसूचित जाति व पिछड़े वर्ग के साथ अल्पसंख्यक वर्गों के छात्र एवं छात्राओं को डिजिटल एजुकेशन की सुविधा देने हेतु नि:शुल्क टैबलेट देने की योजना बनाई है।

इस योजना के अंतर्गत बाहरवीं पास करने पर विद्यार्थियों को यह टैबलेट स्कूल को वापिस लौटाना होगा। इसमें प्री-लोडेड कंटेंट के तौर पर डिजिटल पुस्तकों के साथ-साथ विभिन्न प्रकार के टेस्ट, वीडियो और अन्य सामग्री भी रहेगी, जो सरकारी स्कूलों के पाठ्यक्रमों के अनुसार तथा कक्षावार होगी। 

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि हरियाणा सरकार ने शिक्षा में सुधार के कई कदम उठाए हैं, हजारों सरकारी स्कूलों को मॉडल स्कूल बनाया गया है जहाँ पर अब लोग प्राइवेट स्कूलों से अपने बच्चों को निकालकर दाखिला करा रहे हैं, डिजिटल एजुकेशन को बढ़ावा देने के लिए अब सरकार मुफ्त टेबलेट भी देने जा रही है.

जवाहर नवोदय विद्यालय फरीदाबाद में अपने बच्चों को कक्षा 6 में दाखिला दिलाने की प्रक्रिया पढ़ें

jawahar-navodaya-vidyalaya-faridabad-admission-class-6-process

फरीदाबाद, 26 नवंबर। जवाहर नवोदय विद्यालय फरीदाबाद में कक्षा 6 (छठी) हेतु आवेदन फार्म आमंत्रित किए जा रहे हैं। 

यह जानकारी उपायुक्त यशपाल ने आज यहां देते हुए बताया कि इस संबंध में छठी कक्षा में प्रवेश हेतु 10 अप्रैल 2021 को होने वाली जवाहर नवोदय विद्यालय चयन परीक्षा हेतु ऑनलाईन आवेदन 15 दिसम्बर 2020 तक आमंत्रित किए जा रहे हैं। 

उन्होंने जिले के पांचवी कक्षा में पढ़ रहे बच्चों व उनके अभिभावकों से अपील की है कि वे इस संबंध में जानकारी हासिल कर अपने पात्र बच्चों के फार्म भरवा कर उनका जवाहर नवोदय विद्यालय मे दाखिला करने के लिये ऑनलाईन फार्म भरकर दाखिला लेने की प्रक्रिया में शामिल हो अपने बच्चों का दाखिला करवा सकते हैं।

ऑनलाइन एडमिशन के लिए इस लिंक पर क्लिक करें - अगर ना खुले तो कुछ देर बाद फिर से ट्राई करें क्योंकि सर्वर पर लोड है - 

http://cbseitms.in/nvsregn/index.aspx

इस लिंक पर क्लिक करके पूरी जानकारी हासिल करें 

https://www.navodaya.gov.in/nvs/nvs-school/FARIDABAD/en/home

छात्र संघ NSUI ने सौंपा MLA नरेंद्र गुप्ता को ज्ञापन, कॉलेजों में 20% सीटें बढ़ाने की मांग

faridabad-nsui-news-krishna-attri-demand-college-seat-hike

फरीदाबाद। आज एनएसयूआई के बैनरतले छात्र-छात्राओं ने सभी कॉलेजों की स्नातक कक्षाओं में 20 प्रतिशत सीट बढ़वाने के ओल्ड फरीदाबाद के विधायक नरेंद्र गुप्ता को ज्ञापन सौंपा। यह ज्ञापन एनएसयूआई हरियाणा के प्रदेश महासचिव कृष्ण अत्री के नेतृत्व में सौंपा गया। 

इस दौरान एनएसयूआई हरियाणा के प्रदेश महासचिव कृष्ण अत्री ने कहा कि 20 प्रतिशत सीट बढ़वाने के लिए छात्र पिछले 20 दिनों से लगातार प्रयास कर रहे हैं लेकिन कोई सुनवाई नही हो रही हैं। 

उन्होंने कहा कि सीट बढ़ाने की मांग को लेकर 2 नवंबर को एक प्रदर्शन किया गया था तथा पंडित जवाहरलाल नेहरू कॉलेज के प्राचार्य श्री एम० के० गुप्ता को उच्चतर शिक्षा विभाग के प्रिंसिपल सेक्रेटरी के नाम ज्ञापन सौंपा था तथा इसके बाद 9 नवंबर को जिला उपायुक्त कार्यालय पर प्रदर्शन करके हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर के नाम ज्ञापन सौंपा था और जब सुनवाई नही हुई तो 11 नवंबर को मैगपाई चौक पर प्रदर्शन करके मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर और गृह मंत्री अनिल विज का पुतला भी फूंका था। उन्होंने कहा कि कॉलेज प्रशासन से लेकर जिला प्रशासन का दरवाजा खटखटाने के बाद जब छात्रों की नही सुनी गई तो 17 नवंबर को सत्ता रूढ़ पार्टी के परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा को अपनी मांग से अवगत कराया था।

अत्री ने भाजपा-जजपा सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि ऐसा पहली बार देखने में आ रहा हैं जब छात्रों को दाखिला लेने के लिए भी प्रदर्शन करने पड़ रहे हैं। पिछले कई सालों से लगातार सीटें बढ़ती आ रही थीं लेकिन इस बार भाजपा-जजपा सरकार की जुगलबंदी में छात्रों के अधिकरों का जमकर हनन किया जा रहा हैं। पिछले 20-22 दिनों से लगातार मांग करने के बावजूद भी सीटे नही बढ़ाई गई हैं। उन्होंने कहा कि सरकार को बिना विलंब के सीट बढ़ाकर छात्रों को राहत देंनी चाहिए। 

इस मौके पर छात्र नेता दीपांशु, भूमिका, अंशु, नितिन मित्तल, ओमप्रकाश, अंकुश, रंजन, आसिफ, रजनीश, अमरेंद्र, ललित, सतीश, दीपक, अमित, अजय, रोहित, संदीप आदि मौजूद थे।