होम सियासत पुतिन के शासन में रूस-उत्तर कोरिया संबंधों के बारे में आपको जो...

पुतिन के शासन में रूस-उत्तर कोरिया संबंधों के बारे में आपको जो कुछ भी जानना चाहिए

24
0
पुतिन के शासन में रूस-उत्तर कोरिया संबंधों के बारे में आपको जो कुछ भी जानना चाहिए


पुतिन के शासन में रूस-उत्तर कोरिया संबंधों के बारे में आपको जो कुछ भी जानना चाहिए

पुतिन की दूसरी उत्तर कोरिया यात्रा की तारीखें 18-19 जून हैं। (फ़ाइल)

सियोल:

रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन मंगलवार और बुधवार को उत्तर कोरिया का दौरा करेंगे और वहां के नेता किम जोंग उन के साथ वार्ता करेंगे। दोनों देशों ने यह जानकारी दी।

नीचे पिछले दो दशकों में रूस और उत्तर कोरिया के बीच संबंधों में प्रमुख घटनाओं की समय-सीमा दी गई है।

जुलाई, 2000

पुतिन अपने राष्ट्रपति पद के पहले वर्ष में उत्तर कोरिया की यात्रा पर हैं और उत्तर कोरिया के वर्तमान नेता के पिता किम जोंग इल के साथ शिखर बैठक कर रहे हैं। यह पुतिन की उत्तर कोरिया की पहली यात्रा है।

14 अक्टूबर, 2006 – 22 दिसंबर, 2017

पिछले 10 वर्षों से अधिक समय से रूस ने उत्तर कोरिया को दंडित करने वाले संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के नौ प्रमुख प्रस्तावों के पक्ष में मतदान किया है, जिनमें हथियारों के व्यापार, मिसाइल प्रौद्योगिकी के हस्तांतरण और प्योंगयांग को विलासिता की वस्तुओं के शिपमेंट पर प्रतिबंध लगाने के उपाय शामिल हैं।

25 अप्रैल 2019

पुतिन और किम जोंग उन अपनी पहली शिखर वार्ता के लिए रूस के सुदूर पूर्व में व्लादिवोस्तोक में मिले।

फरवरी, 2020

कोविड-19 महामारी के कारण उत्तर कोरिया ने रूस और चीन के साथ अपनी सीमाएँ बंद कर दी हैं। रूसी राजनयिकों और परिवार के सदस्यों को सीमा पार करने के लिए हाथ से चलने वाली रेल ट्रॉली का इस्तेमाल करना पड़ता है।

फ़रवरी 24, 2022

रूस ने यूक्रेन पर आक्रमण किया। उत्तर कोरिया ने मास्को का समर्थन किया और अमेरिका तथा पश्चिम की “आधिपत्यवादी नीति” तथा “अत्याचार” को दोषी ठहराया।

26 मई, 2022

रूस और चीन ने अमेरिका द्वारा तैयार किए गए उस प्रस्ताव पर वीटो लगा दिया, जिसके तहत उत्तर कोरिया पर तंबाकू और तेल आयात पर प्रतिबंध जैसे और अधिक प्रतिबंध लगाए जाने थे। इस प्रकार पहली बार उत्तर कोरिया के मुद्दे पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में सार्वजनिक रूप से मतभेद पैदा हो गया।

25 जुलाई, 2023

रूस के तत्कालीन रक्षा मंत्री सर्गेई शोइगु प्योंगयांग का दौरा करते हैं और किम जोंग उन उन्हें रक्षा प्रदर्शनी का दौरा कराते हैं जिसमें उत्तर कोरिया की प्रतिबंधित बैलिस्टिक मिसाइलों का प्रदर्शन किया जाता है।

13 सितंबर, 2023

पुतिन के साथ दूसरी शिखर वार्ता के लिए किम रूस के सुदूर पूर्व की यात्रा पर गए। दोनों नेताओं के अनुसार, उन्होंने सैन्य सहयोग, यूक्रेन में युद्ध और उत्तर कोरिया के उपग्रह कार्यक्रम के लिए रूसी मदद पर चर्चा की।

13 अक्टूबर, 2023

संयुक्त राज्य अमेरिका ने उत्तर कोरिया पर रूस को हथियार भेजने का आरोप लगाया है। बाद में मास्को और प्योंगयांग ने आरोपों से इनकार किया।

21 नवंबर, 2023

उत्तर कोरिया ने अपना पहला सफल जासूसी उपग्रह कक्षा में स्थापित किया। दक्षिण कोरिया का कहना है कि यह संभव है कि रूस ने तकनीकी मदद दी हो।

4 जनवरी, 2024

अमेरिका का कहना है कि रूस ने यूक्रेन के खिलाफ कई हमलों में उत्तर कोरिया से प्राप्त छोटी दूरी की बैलिस्टिक मिसाइलों का इस्तेमाल किया है। बाद में स्वतंत्र विशेषज्ञों और संयुक्त राष्ट्र प्रतिबंध निरीक्षकों ने इसकी पुष्टि की।

28 मार्च, 2024

रूस ने उत्तर कोरिया पर उसके परमाणु हथियारों और बैलिस्टिक मिसाइल कार्यक्रमों से संबंधित लगाए गए प्रतिबंधों की निगरानी के लिए गठित संयुक्त राष्ट्र पैनल के नवीनीकरण पर वीटो लगा दिया है।

16-17 मई, 2024

अमेरिका और ब्रिटेन ने उत्तर कोरिया को हथियारों के हस्तांतरण में मदद करने के आरोप में रूसी संस्थाओं पर प्रतिबंध लगाये हैं।

18-19 जून, 2024

पुतिन की दूसरी उत्तर कोरिया यात्रा की तारीखें।

(शीर्षक को छोड़कर, इस कहानी को एनडीटीवी स्टाफ द्वारा संपादित नहीं किया गया है और एक सिंडिकेटेड फीड से प्रकाशित किया गया है।)



Source link