Followers

रूस की सबसे असरदार एंटी-कोरोना मिसाइल Sputnik-V Vaccine अब भारत में बनेगी, मेड इन इंडिया होगी

sputnik-v-vaccine-will-made-in-india-news
 
फरीदाबाद, 14 मई: कोरोना वायरस के खिलाफ रूस की Sputnik-V Vaccine को सबसे असरदार बताया जा रहा है, यह कोरोना वायरस के खिलाफ 94 पर्सेंट तक प्रभावी बतायी जाती है.

भारत में भी Sputnik-V Vaccine लोगों को लगनी शुरू हो गयी है. सबसे अच्छी बात ये है कि रूस ने इसे रूसी-इंडियन वैक्सीन बताया है और भारत में ही इसे बनाने का निर्णय किया है.

रूसी डायरेक्ट इन्वेस्टमेंट फण्ड सीईओ किरिल दमित्रियेव ने कहा है कि हम इस वर्ष भारत में 850 मिलियन डोज का उत्पादन करेंगे, हम भारत में Sputnik-V Vaccine का लाइट डोज भी उपलब्ध कराएंगे।


आपकी जानकारी के लिए बता दें कि Sputnik-V Vaccine की पहली खेप भारत पहुँच चुकी है, अगले कुछ हप्तों में अगली खेप पहुंचेगी और भारत की जनता के लिए मिड-जून में उपलब्ध होगी।


आपकी जानकारी के लिए बता दें कि Sputnik V Vaccine का दाम करीब 995 रुपये निर्धारित किया गया है, भारत में डॉ रेड्डी लैब इसका उत्पादन करेगी, Sputnik V Vaccine पहला डोज भी डॉ रेड्डी लैब के बड़े अफसर को लगी है.

शुक्रवार को 180 लोगों को घर जाकर मुहैया करवाए गए ऑक्सीजन सिलेंडर: उपायुक्त यशपाल

faridabad-oxygen-supply-160-people-at-home-by-administration

फरीदाबाद, 14 मई। उपायुक्त यशपाल ने बताया कि कोविड-19 से पीड़ित लोगों को ऑक्सीजन सिलेंडर मुहैया करवाने के लिए जिला प्रशासन दिन-रात कार्य कर रहा है। उन्होंने बताया कि शुक्रवार को 180 लोगों को ऑक्सीजन सिलेंडर मुहैया करवाए गए।  

ऑक्सीजन को मध्य नजर रखते हुए फरीदाबाद की जनता को अब किसी परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा। उन्होंने बताया कि फरीदाबाद की जनता में प्रशासन के द्वारा लिए गए संज्ञान के लिए बहुत खुशी है। 

जिला रेडक्रॉस सचिव विकास कुमार ने बताया गया कि रेडक्रॉस इस कार्य के लिए बिल्कुल प्रतिबद्ध है। एसडीएम अपराजिता के नेतृत्व में दिन का टीम बहुत शानदार कार्य कर रही है। किसी भी प्रकार का भाव नहीं है। इसके लिए पूरी टीम कार्य कर रही है।

कॉल सेंटरों के द्वारा लोगों को असुविधा ना हो इस के संदर्भ में लोगों से निरंतर वार्ता की जा रही है। हमें पूरा विश्वास है कि 2 से 4 दिन में ऑक्सीजन गैस की लोगों का आवश्यकता धीरे-धीरे कम हो जाएगी और पहले की तरह सब कार्य सामान्य हो जाएगा।

कोरोना को तड़ीपार भगाने के लिए गाँवों में नुक्कड़ नाटक के जरिये बढ़ाई जा रही जागरूकता

corona-awareness-started-in-rural-areas-news-in-hindi 

फरीदाबाद 14 मई।  कोविड 19 की दूसरी लहर ने जिस तरह से पूरे देश और विश्व मे कहर ढाया है उससे जान जीवन को बहुत हानि का सामना करना पड़ा है। प्रत्येक दिन पूरे देश मे लाखों की तादात में संक्रमित लोगो की गिनिती बढ़ती जारही है। 

इसमें कहीं न कहीं लोगो की लापरवाही भी रही है जो उन्होंने कोरोना के बचने के नियमों को नही माना और कोरोना ने अपना विराट रूप धारण कर लिया। लोगो को फिर से जागरूक करने के लिए, सोनू नव चेतना फाउंडेशन ने जिला प्रशासन,  रेडक्रोस सोसाइटी  और खंड विकास एवं पंचायत कार्यलय बल्लबगढ़, फरीदाबाद और तिगांव के के साथ अपनी साथी संस्थाओ संभार्य फाउंडेशन और  जज्बा फाउंडेशन के संयुक्त तत्वाधान में एनएचपीसी के सहयोग से फरीदाबाद, बल्लबगढ़ और तिगांव ग्रामीण क्षेत्र के गांव जावां, अटाली, हीरापुर, सागरपुर, प्रह्लादपुर, नवादा, सीकरी में नुक्कड़ नाटकों के माध्यम से लोगो को कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए जरूरी हिदायतों का पालन करने के लिए प्रेरित किया साथ ही अच्छा खानपान लेने लिए जागरूक किया, कलाकारों ने नाटक में वैक्सीन लगवाना क्यों जरूरी है ये भी बताया और जिला प्रशासन द्वारा चलाये जा रहे हेल्पलाइन नंबरों की भी जानकारी दी। कार्यक्रम में सोनू नव चेतना फाउंडेशन के अध्यक्ष दुर्गेश जी, रेडक्रोस सोसाइटी के सहायक सचिव बिजेंद्र सौरोत , बीडीपीओ प्रदीप कुमार, संभार्य फाउंडेशन के अध्यक्ष अभिषेक देशवाल और जज्बा फाउंडेशन के अध्यक्ष हिमांशु मौजूद रहे। 

दुर्गेश शर्मा ने बताया ये कार्यक्रम जिला प्रशासन के साथ मकलकर एनएचपीसी के सहयोग से किया जा रहा है और हमारा मुख्य उद्देश्य जन साधारण को कोविड 19 के प्रति जागरूक करना है ताकि इस बीमारी पर विजय प्राप्त की जा सके। 

ये कार्यक्रम अगले 15 दिन तक प्रत्येक गांव तक ले जाया जाएगा । कार्यक्रम में संभार्य फाउंडेशन के कलाकार कृष्णा कुमार, आकाश, चंदू,ओमकार, प्रदीप ने अपनी प्रस्तुति दी। बीडीपीओ प्रदीप कुमार ने बताया इस तरह के कार्यक्रम ग्रामीण क्षेत्र में लोगो को जागरूक करने के लिए कारगर साबित होंगे । रेडक्रोस के सहायक सचिव बिजेंद्र सौरोत ने बताया इस कार्यक्रम ग्रामीण क्षेत्र में संक्रमण को रोकने के लिए जागरूकता लाएंगे।

नकली शराब बनाने के मामले में क्राइम ब्रांच सेक्टर 48 ने मुख्य आरोपी को किया गिरफ्तार

faridabad-crime-branch-sector-48-arrested-sharab-taskar

फरीदाबाद, 14 मई: हाल ही में क्राइम ब्रांच सेक्टर 48 ने नकली शराब बनाने के मामले में दो आरोपियों को गिरफ्तार किया था जिनसे 1800 लीटर नकली शराब, कैंटर गाड़ी सहित बरामद की थी। इस मामले में नकली शराब बनाने वाले मुख्य साजिशकर्ता मदन गोपाल फरार हो गया था।

आरोपियों के खिलाफ एक्साइज एक्ट एवं सरकारी आदेशों की अवहेलना करने के तहत मामला थाना सारण में दर्ज किया गया था।

इसी मामले में क्राइम ब्रांच सेक्टर 48 ने सराहनीय कार्य करते हुए नकली शराब बनाने वाले मुख्य आरोपी मदन गोपाल पुत्र किशनलाल निवासी एनआईटी फरीदाबाद को गिरफ्तार किया है।

नकली शराब बनाने के मामले में मुख्य आरोपी मदन गोपाल के कब्जे से मैकडोल और रॉयलस्टैग कि 40 खाली बोतलें भी बरामद की है।

पूछताछ पर आरोपी ने बताया कि वह इन बोतलों में नकली दारू भर कर बेचना चाहता था।

पुलिस ने आज आरोपी को अदालत में पेश कर जेल भेज दिया है।

अपनी पत्नी को ताबड़तोड़ चाकू मारकर हत्या करने वाला हत्यारोपी पति गिरफ्तार

faridabad-police-arrested-accused-for-killing-his-wife

फरीदाबाद, 14 मई: पुलिस कमिश्नर ओ पी सिंह के दिशा निर्देश पर कार्य करते हुए एसपी क्राइम श्री अनिल यादव के नेतृत्व में क्राइम ब्रांच सेक्टर 30 प्रभारी इंस्पेक्टर विमल और उनकी टीम ने, पत्नी की हत्या करने के मामले में आरोपी पति को मात्र 24 घंटे में काबू करने में सफलता हासिल की है।

आरोपी की पहचान शशि पुत्र सोनेलाल निवासी सिवान जिला फिरोजाबाद उत्तर प्रदेश हाल किराएदार सेक्टर 37 सराय फरीदाबाद के रूप में हुई है।

आपको बताते चलें कि दिनांक 12 मई 2021 को बडखल फ्लाईओवर के बिल्कुल नजदीक आरोपी पति, अपनी पत्नी की चाकू से हमला कर हत्या करके फरार हो गया था जिस पर आरोपी के खिलाफ थाना ओल्ड में हत्या का मामला दर्ज किया गया था।

पुलिस कमिश्नर ओपी सिंह ने  महिला की हत्याआरोपी को गिरफ्तार करने के लिए यह केस क्राइम ब्रांच सेक्टर 30 को सौंपा गया था।

क्राइम ब्रांच सेक्टर 30 की टीम ने तकनीक एवं अपने विशेष  ह्यूमन रिसोर्स  के माध्यम से आरोपी पति को 24 घंटे में गिरफ्तार करने में कामयाबी हासिल हुई है।

पूछताछ में सामने आया कि आरोपी पति शशि अपनी पत्नी  के साथ सेक्टर 37 सराय फरीदाबाद में किराए के मकान में रहता था। हत्या के चार-पांच दिन पहले मृतका द्वारा  किसी से मोबाइल पर बात करने बारे आरोपी पती के साथ वाद-विवाद व झगड़ा हो गया था।

आरोपी पती को पत्नी के चरित्र पर शक था जिस कारण झगड़ा बहुत ज्यादा बढ़ गया , इसी के चलते पत्नी घर छोड़कर चली गई थी। घर छोड़कर चले जाने के बाद आरोपी शशि ने अपनी पत्नी अनमोल से मोबाइल फोन कॉल करके उसे मनाने की कोशिश में उसे बड़खल फ्लाईओवर के पास बुला लिया जो वह अपने साथ एक चाकू लेकर गया था जब उसकी पत्नी उसके साथ घर आने को राजी नहीं हुई तो उसने उस पर तैश में आकर चाकू से ताबड़तोड़ वार करते हुए उसे मौत के घाट उतार दिया और मौके से दिल्ली भाग गया था।

पुलिस टीम ने आज आरोपी को अदालत में पेश कर 2 दिन के पुलिस रिमांड पर लिया है। रिमांड के दौरान आरोपी से अनुसंधान से संबंधित अन्य पूछताछ की जाएगी।

कोरोना से संक्रमित पुलिसकर्मियों को निशुल्क ऑनलाइन योगा क्लास दे रही कुमारी प्रियंका सिन्हा

faridabad-corona-virus-infected-policemen-yoga-classes 

फरीदाबाद, 14 मई: वैश्विक महामारी के चलते पुलिसकर्मी भी इसकी चपेट में आ रहे हैं और संक्रमित हो रहे हैं। #Corona2ndWave फ़रीदाबाद में 296 पुलिसकर्मी कोरोना + हुए हैं। कारण? उन्होंने 1 अप्रैल से  13/5/21 के बीच 84,610 मास्क बाटें, 33,123 का नो-मास्क चालान किया, लाक्डाउन व कंटेन्मेंट नाकों पर हज़ारों की संख्या में ड्यूटियाँ दी, 299 केस दर्ज कर 375 को अरेस्ट किया है। अभी तक 55 पुलिसकर्मी ठीक हुए हैं, 235 इलाज पर हैं।

पुलिस कर्मियों को जल्द स्वस्थ करने के लिए सर्व समृद्धि योगा सेंटर की योग गुरु प्रियंका सिन्हा डीसीपी एनआईटी डॉ अंशु सिंगला के साथ मिलकर पुलिस कर्मियों को योग की ट्रेनिंग दे रही है।

डीसीपी एनआईटी डॉक्टर अंशु सिंगला ने बताया कि सर्व समृद्धि योगा सेंटर पुलिस कर्मियों को निशुल्क ऑनलाइन योगा ट्रेनिंग दे रहे हैं यह बहुत ही सराहनीय कार्य है। लोग और संस्थाएं पुलिस की मदद करने के लिए आगे आ रही है।

 Zoom मिटिंग के माध्यम से कोरोना संक्रमित पुलिसकर्मियों को सर्व समृद्धि योगा सेंटर की प्रोफेशनल ट्रेनर प्रियंका सिन्हा के सहयोग से कोरोनावायरस से पीड़ित पुलिसकर्मियों को योग सिखा रही हैं।

डॉ.अंशु सिंगला का मानना है कि योग और प्राणायाम से रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाई जा सकती है और आत्मविश्वास भी बढ़ता है। इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए योग से बढ़कर कुछ नहीं हैं।

डॉ अंशु सिंगला ने कहा कि सर्व समृद्धि योगा सेंटर महामारी के समय में जन सेवा में समर्पित पुलिसकर्मियों को निशुल्क योगा सिखाने का बेहतरीन कार्य कर रहा है।

इस दौरान डॉ अंशु सिंगला ने योगा टीचर प्रियंका सिन्हा और उनके योगा सेंटर समृद्धि की सराहना करते हुए निशुल्क ट्रेनिंग के लिए उनका धन्यवाद किया।

Covishild Vaccine लगवाने से पहले ये 2 महत्वपूर्ण अपडेट जरूर पढ़ें, ये निहायत ही जरूरी है

covishild-vaccine-important-update-for-indian

फरीदाबाद, 14 मई: कोरोना से बचाव के लिए भारत में दो वैक्सीन बनी हैं - कोवीशिल्ड और कोवैक्सीन। फिलहाल भारत में कोवीशिल्ड वैक्सीन ही अधिकतर लोगों लग रही है क्योंकि यह ट्रायल के फेज से गुजर चुकी है. 

कोवीशिल्ड के बारे में भारत सरकार के दिशानिर्देश लगातार बदल रहे हैं. पहले First Dose के बाद 28 दिन का गैप दिया गया था लेकिन कुछ दिनों बाद सरकार ने 28 दिन का गैप बदलकर 48 दिन का कर दिया।

अब फिर से गैप बढ़ा दिया गया है. अब पहले डोज के बाद 12-16 हप्ते का गैप बढ़ा दिया गया है.

इससे भी जरूरी यह है कि कोरोना निगेटिव लोगों को ही यह वैक्सीन लगवानी चाहिए। पहले निगेटिव होने के 16 दिन बाद यह वैक्सीन लगवा सकते थे लेकिन अब इसे बढ़ाकर 6 महीनें कर दिया गया है.

मतलब अगर किसी को कोरोना हो गया और इलाज के बाद उसकी रिपोर्ट निगेटिव आ गयी तो उसे कोवीशिल्ड इंजेक्शन लगवाने के लिए 6 महीनें इन्तजार करना चाहिए। यह दोनों शिफारिस वैक्सीन पैनल ने कल ही दी हैं जिसे भारत सरकार ने मंजूर भी कर लिया है.

यह जानकारी एक बहुत बड़े अस्पताल Institute of Liver Transplantation and Regenerative Medicine के बहतु बड़े डॉक्टर अरविन्दऱ सिंह सोइन ने दी है. नीचे आप देख सकते हैं.


जल्दबाजी में ना करें ये गलतियां 

आजकल डर और दहशत की वजह से लोग जल्दी से जल्दी यह वैक्सीन लगवाना चाहते हैं जिसकी वजह से कुछ गलतियां हो जाती हैं. आप जानते हैं कि कोरोना वायरस का संक्रमण बहुत तेजी से फ़ैल रहा है, कई लोगों में संक्रमण हो जाता है लेकिन उन्हें कोई लक्षण नहीं आते और ये लोग पॉजिटिव होते हुए भी वैक्सीन लगवा रहे हैं जबकि वैक्सीन सिर्फ निगेटिव लोगों के लिए है.

अच्छा यह होगा कि अगर कोरोना बीमारी हो गयी हो और इलाज के बाद ठीक हो गए हों तो कोवीशिल्ड वैक्सीन लगवाने के लिए 6 महीनें का इंतजार करें और अगर फ्रेश लोग वैक्सीन लगवाने जा रहे हों तो पहले कोरोना का टेस्ट करवा लें ताकि आपको बता चल सकते कि आप पॉजिटिव हैं या निगेटिव, अगर रिपोर्ट निगेटिव आये तभी कोरोना वैक्सीन लगवाएं।

कोरोना से मृत लोगों का अब पीएनजी गैस के माध्यम से तैयार शवदाह गृह में होगा अंतिम संस्कार

faridabad-tigaon-antim-saskar-corona-death-people

बल्लबगढ़,13 मई। कोविड-19 वैश्विक महामारी कोराना के  संक्रमण से होने वाली मौतों के मद्देनजर स्थानीय तिगांव  रोड स्थित शवदाह गृह में अब बिना किसी दुषित पर्यावरण/ पोलूशन के पीएनजी गैस के माध्यम से तैयार शवदाह गृह में अंतिम संस्कार किए जा सकेंगे। 

इस शवदाह गृह को  नगर निगम द्वारा लगभग 70 लाख रूपये की धनराशि की लागत से तैयार किया गया है।  हरियाणा के परिवहन मंत्री मूलचन्द शर्मा ने बताया कि सरकार ने बल्लबगढ़ में पीएनजी गैस के इस शवदाह गृह को बनवाया है ताकि शहर के अंदर पर्यावरण में फैलने वाले संक्रमण/ प्रदूषण को कम किया जा सके। 

इसका निर्माण  निगम के कार्यकारी अभियंता विवेक गिल की देख रेख में किया गया। इसमें श्मशान घाट की कमेटी के सदस्य ही अंतिम संस्कार के रेट तय करेंगे।

इस शवदाह गृह के अंदर एक डेडबॉडी के पूर्ण गति होने के लिए करीब 3 घण्टे का समय लगता है। 

बता दे कि अंतिम संस्कार के लिए आज की इस महामारी के समय बहुत ज्यादा लकड़ियों की आवश्यकता पड़ रही थी ,अब यह समस्या भी खत्म हो जाएगी और पर्यावरण भी ठीक रहेगा।

फरीदाबाद से कोरोना का सिकुड़ना लगातार जारी, प्रशासन का प्रयास हो रहा सफल

faridabad-corona-update-13-may-total-patient-recovered

फरीदाबाद, 13 मई: जिला का कोरोना को हराकर बाउंस बैक करने का क्रम लगातार सातवें दिन आज वीरवार को भी जारी रहा। वीरवार को जिला में 1928 लोग कोरोना को हराकर स्वस्थ हो अपने घरों को लौटे जबकि संक्रमण के 1091 नए मामले सामने आए हैं।

लगातार सातवें दिन कोरोना को हराने वालों की संख्या संक्रमित से ज्यादा होने पर फरीदाबाद जिला वासी लगातार राहत की सांस ले रहे है। जिला वासियों को यह उम्मीद बंधी है कि अब सभी के सहयोग और सतर्कता से वैश्विक महामारी कोराना का प्रकोप जिला में धीरे-धीरे कम होता नजर आ रहा है। फरीदाबाद वासियों द्वारा सावधानी बरतने और लॉकडाउन बढाने की वजह से कोरोना संक्रमण की चेन को तोड़ने में कुछ हद तक सफलता मिल रही है।

स्वास्थ्य बुलेटिन के अनुसार फरीदाबाद जिला में अब तक 506289 लोगों को अब तक सर्वेलांस पर रखा गया है। जिन्होंने 28 दिनों का सर्वेलांस पूरा कर लिया है उनकी संख्या 437396  हो गई है।

इसके अलावा 68893 कोराना पोजिटिव लोगों को सर्वेलांस पर रखा गया है। अब तक जिला फरीदाबाद में कोराना 9027 पोजिटिव केसों को विभिन्न अस्पतालों में दाखिल किया गया है। इनमें से 82845 लोग स्वस्थ होकर कोराना को मात दे चुके हैं।

उपायुक्त यशपाल ने बताया कि होम आईसोलेशन पर जिला मे 7806 लोगों को रखा गया है। जबकि एक्टिव केसों की संख्या 9571 है। कोरोना को मात देकर स्वस्थ हो चुके हैं। जिला में कोरोना संक्रमण की रफ्तार पर ब्रेक लगाने के लिए टेस्टिंग पर जोर दिया जा रहा है। जिला में पिछले 24 घंटे में 9 हजार 137 टेस्ट किए गए। जबकि अब तक जिला फरीदाबाद में 746340 लोगों ने अब तक टेस्ट करवाया गया। इनमें से 93027 लोग कोराना पोजिटिव पाए गए। जबकि 651688 लोग नेगेटिव मिले।

अब तक जिला में 1625 लोगों के रिजल्ट आने बाकी है। 

 जिला फरीदाबाद में आक्सीजन पर 828 केस है। वेन्टीलेटर पर 92 केस है।

 जिला में सैम्पल पोजिटिव रेट 12.5 प्रतिशत है।जबकि रिकवरी रेट 89.1 प्रतिशत। जिला मे एक्टिव केस रेट 10.1 प्रतिशत है।

इस महामारी को फैलने से रोकने के लिए टीकाकरण भी जोर शोर से किया जा रहा है। वीरवार को भी कोरोना रोधी वैक्सीन लगातार लगाई जा रही है।

आंकड़ों के अनुसार फरीदाबाद जिला में कुल एक्टिव केसों की संख्या 9571 है जिनमें से 7806 मरीज होम आइसोलेशन में है अर्थात वे अपने घर पर ही रह कर स्वस्थ हो रहे हैं। जिला फरीदाबाद वासी एक लाख लोगों में से 41463 लोग कोविड टेस्टिंग करवा रहे हैं।

उपायुक्त यशपाल ने फरीदाबाद जिला वासियों से अपील की है कि वे कोरोना को मात देने के लिए सावधानी बरतते रहें और कोशिश करें कि अपने घर के अंदर ही रहे। जब तक बहुत जरूरी ना हो, तब तक घर से बाहर ना निकले और बाहर निकलते समय अपने मुंह और नाक को कवर करते हुए फेस मास्क का प्रयोग अवश्य करें। इसके अलावा, एक दूसरे के बीच दो गज की दूरी जरूर रखें। कोरोना के बारे में कोई भी जानकारी लेनी हो तो कॉविड हेल्पलाइन नंबर 1950 पर डायल करें जो कि सप्ताह के सातों दिन 24 घंटे संचालित की जा रही है। इसके अलावा, जिला प्रशासन ने  मोबाइल नंबर पर व्हाट्सएप चैट बोट  के माध्यम से सूचनाएं देने की व्यवस्था भी की है।

 जिला फरीदाबाद के जिन क्षेत्रों में मामलों का पता चला है उनमें सै0-11 के 3, सै0-15 के 6, सै0-10 के 5, सै0-55 के 4, सै0-31 के 6,सै0-16 के11, सै0-15 के 6, ग्रीन फिल्ड के 6, अशोक इन्कलेव के 4, जवाहर कॉलोनी के 9, सै0 -7के5,

,एनआईटी-1 के 5,सै0-3 के 7, सै0-31 के 6, सै0-28 के 4, चावला कालोनी के 6, खेड़ी कलां के 4,स्परिगं फिल्ड कॉलोनी के,दयालपूर के 3, सै0 -81 के 4,  सै0-82 के 4, सैक्टर -75 के 4,सै0-60 के 4 तिगांव के 7, शिव कॉलोनी के 8, एसजीएम नगर के 7, संजय कालोनी के 6, भूपानी के 4, डबुआ के11, नेहरू कालोनी के 2, पर्वतीय कालोनी10, प्रेम नगर के 6 , भगत कालोनी के6, मूड कालोनी 6, तिखावली के 4, जीवन नगर 4, गाजीपुर के 2, यादव कालोनी के 4 , पल्ला के 5, बसलेवा के 4 ,नरहावली के 2 , छायंसा के 4,अमर नगर के 4 ,भारत कालोनी के 8, जनता कालोनी के 4 ,बड़ौली के 4 ,पूरी प्रणायाम के 5 , नगला के 4 , भनकपूर के 3 , भूदत्त कालोनी के 4 , सीही के 3, चन्दावली के 2,नरहावली के 4 , वेदराम कालोनी के 4 , केसों सहित कुल 1091 केस शामिल हैं।

ओज़ोन पार्क सॉसाययटी में कोरोना टेस्ट कैम्प का 150 से अधिक लोगों ने उठाया लाभ, 3 मिले पॉजिटिव

faridabad-ozone-park-society-corona-test-camp-news

फरीदाबाद, 13 मई: बृहस्पतिवार को ओज़ोन पार्क सॉसाययटी आर॰डबल्यू॰ए॰ के प्रधान चेतन रावत द्वारा सोसाययटी में काम करने वाले सिक्यरिटी, मेंट्नेन्स, हाउस कीपिंग, बाग़वानी, कार साफ़ करने वाले व हाउस मेड् स्टाफ़ के लिये कोरोना की निःशुल्क जाँच का आयोजन करवाया गया. 

इस जाँच का फ़ायदा सॉसाययटी के निवासियों ने भी उठाया। लगभग डेढ़-सौ से अधिक लोगों ने जाँच करवायी । 

सॉसायटी मे काम करने वाले 3 कर्मचारियों को कोरोना पॉज़िटिव पाया गया जिन्हें 15-15 दिन की छुट्टी देकर घर भेज दिया गया।

आपको बता दें कि नहरपार विकास मोर्चा संस्था के ट्रस्टी अरुण भारतीय ने ग्रेटर फरीदाबाद के शहरी और ग्रामीण इलाकों में टेस्टिंग बढ़ाने के लिए उपायुक्त को पत्र भी लिखा था.

कोरोना के चलते घर में ही मनाएं ईद, प्रबुद्ध नागरिक होने का दें परिचय: पुलिस कमिश्नर ओपी सिंह

faridabad-police-appeal-to-celebrate-eid-at-home

फरीदाबाद:- पुलिस कमिश्नर ओपी सिंह ने सभी डीसीपी, एसीपी, सभी थाना प्रबंधक, चौकी इंचार्ज, सीआईए यूनिट को 14 मई को मनाए जाने वाले ईद के पर्व पर आवश्यक दिशा निर्देश जारी किए हैं।

जैसा कि सभी जानते हैं कोरोनावायरस महामारी चारों तरफ फैला हुई है। जिसके चलते सरकार ने गाइडलाइन बनाई हुई है ताकि गाइडलाइन का पालन कर संक्रमण को कम किया जा सके।

गाइड लाइन के अनुसार संक्रमण को देखते हुए लोगों की भीड़ इकट्ठी होने पर पाबंदी है।

पुलिस कमिश्नर श्री ओ पी सिंह ने ईद मनाने वाले लोगों से कहा है कि कोरोनावायरस की गाइडलाइन का पालन करें और घरों में ही ईद मनाए।

कोरोनावायरस की गाइडलाइन का उल्लंघन ना हो इसके चलते पुलिस कमिश्नर ओपी सिंह ने सभी पुलिस अधिकारियों और कर्मचारियों को दिशा निर्देश जारी किए हैं।

ईद के पर्व के चलते फरीदाबाद पुलिस जिले के विभिन्न क्षेत्रों में आने वाले धार्मिक स्थलों पर तैनात रहेगी।

उन्होंने कहा कि सभी को मालूम है हरियाणा राज्य में भी कोरोनावायरस के चलते सभी धार्मिक स्थल और राजनीतिक कार्यक्रम इत्यादि में भीड़ इकट्ठी होने के लिए मनाही है।

पुलिस कमिश्नर ओपी सिंह ने फरीदाबाद जिले में रह रहे लोगों से अपील की है घरों में रहकर हंसी खुशी अपने परिवार के साथ ईद मनाए और प्रबुद्ध नागरिक होने का परिचय दें।

घरों से बाहर ना निकले, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें, यदि घर से बाहर निकलना अति आवश्यक हो तो मास्क का इस्तेमाल करें, समय-समय पर हाथों को सैनिटाइज करते रहे।

अपनी एवं दूसरों की जिंदगी की कीमत समझे, ना तो खुद मुसीबत में पड़े ना दूसरों को मुसीबत में डाले, घर रहें सुरक्षित रहें।

फरीदाबाद पुलिस अब तक काट चुकी है 32744 बिना मास्क लोगों का चालान

faridabad-police-total-challan-without-mask-news

फरीदाबाद: पुलिस आयुक्त श्री ओ पी सिंह के कुशल नेतृत्व की बदौलत फरीदाबाद पुलिस लॉकडाउन के दौरान लोगों से नियमों का पालन करवाने में सफल रही है।

कोरोना महामारी के दौरान फरीदाबाद पुलिस द्वारा लोगों को इस महामारी से सुरक्षित रखने की हर संभव कोशिश की जा रही है।

फील्ड ड्यूटी में तैनात पुलिसकर्मी लोगों को घर में सुरक्षित रहने के लिए जागरूक कर रहे हैं और साथ ही नियमों की अवहेलना करने वालों के खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई भी की जा रही है।

बीट में तनाव पुलिस कर्मियों द्वारा 208897 लोगों को कोरोना महामारी के बारे में जागरूक किया गया है। 73841 लोगों को मास्क वितरित किए गए और 50868 लोगों की कांटेक्ट ट्रेसिंग की गई।साथ ही 32744 लोगों के मास्क के चालान काटकर 1 करोड़ 63 लाख 72 हजार रुपयों का जुर्माना लगाया गया।

वहीँ लॉकडाउन के दौरान नियम तोड़ने वालों के खिलाफ दर्ज 270 मुकदमों में 342 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है जिनमें दवाओं और ऑक्सीजन सिलेंडर की कालाबाजारी करने वाले 13 लोग शामिल हैं।

श्री ओपी सिंह ने कहा कि गांवों में ठीकरी पहरा लगाएं ताकि बाहर से आने वाले लोगों पर नजर बनाए रखी जा सके, इस दौरान उन्होंने यह भी कहा कि गांव के लोग जो कि पुलिस विभाग में नौकरी कर रहे हैं या स्वास्थ्य विभाग में नौकरी कर रहे हैं या फिर आवश्यक चीजों में लगे हुए हैं उनको किसी भी हाल में ना रोका जाए। उन्होंने कहा कि संक्रमण को रोकने में गांव के लोग भी आगे आएं और संक्रमण रोकने में पुलिस और प्रशासन की मदद करें।

उन्होंने कहा कि इस महामारी पर नियंत्रण पाने में फरीदाबाद के नागरिकों का भी अहम योगदान है और वह भविष्य में भी इसी प्रकार लोगों द्वारा कोविड नियमों का पालन करने की उम्मीद करते हैं। यदि सभी नागरिक पुलिस प्रशासन का सहयोग करें तो इस महामारी पर आसानी से नियंत्रण पाया जा सकता है इसलिए नागरिक अपने परिवार सहित घर पर सुरक्षित रहें, इस समय यही पुलिस प्रशासन के कार्यों में सबसे बड़ा योगदान है।

क्राइम ब्रांच एनआईटी ने मोटरसाइकिल चोरी के मामले में एक आरोपी को दबोचा

faridabad-cia-nit-arrested-motorcycle-chor-news
 

फरीदाबाद: पुलिस कमिश्नर श्री ओपी सिंह के दिशा निर्देश पर कार्य करते हुए क्राइम ब्रांच एनआईटी ने मोटरसाइकिल चोरी के मामले में एक आरोपी को धर दबोचा है।

आरोपी खालिद पुत्र जफरुद्दीन जिला अलीगढ़ यूपी का रहने वाला है।

क्राइम ब्रांच एनआईटी की टीम ने जानकारी देते हुए बताया कि आरोपी को थाना सेक्टर 17 के मोटरसाइकिल चोरी के एक मामले में गिरफ्तार किया गया है।

पुलिस ने आरोपी के कब्जे से चोरी की गई एक मोटरसाइकिल पैशन प्रो बरामद कर, आज आरोपी को अदालत में पेश कर जेल भेज दिया है।

पूछताछ पर सामने आया कि आरोपी अलीगढ़ जेल में भी चोरी के मामले में बंद रह चुका है।

क्राइम ब्रांच एनआईटी ने 2 पेटी अवैध शराब सहित एक आरोपी को किया काबू

faridabad-nit-crime-branch-arrested-wine-taskar-news

फरीदाबाद: पुलिस कमिश्नर ओपी सिंह के दिशा निर्देश पर कार्य करते हुए क्राइम ब्रांच एनआईटी ने अवैध रूप से तस्करी करने के मामले में एक आरोपी को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है।

आरोपी की पहचान धर्मपाल पुत्र अमर सिंह निवासी एसजीएम नगर फरीदाबाद के रूप में हुई है।

आपको बताते चलें कि क्राइम ब्रांच को सूचना मिली थी कि एसजीएम नगर एरिया में एक व्यक्ति अवैध रूप से शराब बेचने का काम करता है जिस पर कार्रवाई करते हुए एनआईटी क्राइम ब्रांच की टीम ने आरोपी को 2 पेटी देसी शराब सहित मौके पर धर दबोचा।

आरोपी के खिलाफ थाना एसजीएम नगर में हरियाणा एक्साइज एक्ट के तहत एवं कोरोनावायरस महामारी नियमों की अवहेलना करने के तहत मामला दर्ज किया गया है।

पूछताछ में सामने आया कि आरोपी शराब बेचने के मामलों में पहले भी जेल में जा चुका है। आरोपी के खिलाफ आगामी कार्रवाई अमल में लाई जा रही है।

जिला प्रशासन ने गुरुवार को 550 लोगों को उपलब्ध करवाई ऑक्सीजन: DC यशपाल

faridabad-dc-yashpal-yadav-oxygen-cylinder-red-cross

फरीदाबाद 13 मई । उपायुक्त यशपाल ने बताया कि कोविड-19 से पीड़ित जरूरतमंदों को ऑक्सीजन सिलेंडर उपलब्ध करवाने के लिए जिला प्रशासन लगातार कार्य कर रहा है । उन्होंने बताया कि इस कार्य की जिम्मेदारी जिला रेडक्रॉस सोसाइटी को दी गई है। गुरुवार को 575 लोगों के आवेदन प्राप्त हुए थे इनमें से 25 के पास कागज पूरे नहीं थे ऐसे में 550 लोगों को ऑक्सीजन सिलेंडर मुहैया करवाए गए। 

उपायुक्त यशपाल यादव ने बताया कि जिला प्रशासन लोगों को समय पर ऑक्सीजन सिलेंडर मुहैया करवाने के लिए पूरी तरह से प्रयासरत हैं। उन्होंने कहा कि फरीदाबाद की जनता के लिए अब किसी भी प्रकार से ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं रहेगी। उन्होंने बताया कि जिसके लिए जिला रेडक्रॉस सोसायटी की पूरी टीम दिन-रात किसी कार्य में लगी है। लोगों को बेहतर सुविधा मिल सके इस को देखते हुए बहुत से कदम और भी उठाए जा रहे हैं। ब्लैक मार्केटिंग कर रहे लोगों के ऊपर प्रशासन की पूरी नजर है ।यदि ऐसा कोई करते पाया गया तो उसे किसी भी रूप में बख्शा नहीं जाएगा ।उसके खिलाफ सरकारी कार्रवाई अवश्य होगी।

आज फरीदाबाद में अभी तक  550 लोगों को ऑक्सीजन गैस मुहैया कराई जा चुकी है। 575 लोग कि मांग  को अपर्याप्त दस्तावेज  के अभाव मे रद्द  किया जा चुका है।रैड क्रॉस फरीदाबाद की टीम द्वारा सभी मरीजो को पोर्टल पर उपयुक्त पंजीकरण के बाद ऑक्सीजन सिलेंडर जल्द से जल्द  उपलब्ध करवा दिया जाएगा 

जिला रेडक्रॉस सचिव विकास कुमार ने बताया कि इस कार्य में बिजेंद्र सौरोत सह सचिव, विमल खंडेलवाल कोऑर्डिनेटर के साथ रेडक्रॉस में वॉलिंटियर अभिषेक देशवाल, शिवम आहूजा, रवि चौहान, आदित्य मवई, राहुल चावला, नीरज नरूला, हितेश, जगप्रित सचदेवा, मनोज शर्मा, सुशील, अभिषेक, मधु भाटिया, आशा, कार्य में अपना सहयोग कर रहे हैं।

फरीदाबाद डिपो 5 मिनी बसों को आधुनिक एंबुलेंस में कर रही तब्दील, सिलेंडर किट भी लगेगी

 faridabad-depo-5-mini-buses-converted-in-ambulance

फरीदाबाद/बल्लभगढ, 13 मई। जिला में हरियाणा राज्य परिवहन फरीदाबाद डिपो द्वारा 5 मिनी बसों को आधुनिक एंबुलेंस में तब्दील करके जिला उपायुक्त के माध्यम से जिला चिकित्सा अधिकारी को सौंपी जाएंगी। 

यह जानकारी वर्कशॉप महाप्रबंधक जितेंद्र कुमार यादव ने दी। उन्होंने विस्तृत जानकारी देते हुए बताया कि फरीदाबाद डिपो की पांच आयसर मिनी बसों को आधुनिक एंबुलेंस में बदल दिया गया है। मिनी बसों में आक्सीजन सिलेंडर फिट करने की पोजीशन पूरी करके दी गई है। 

इसके अलावा बसों में एक - एक सैनिटाइजर स्टैंड, सभी मिनी बस अम्बुलेंसो में 4-4  बेड पिल्लोज के साथ बनाए गए हैं। जो मरीजों को आरामदायक रूप लेट कर अस्पताल तक और ठीक होने पर अस्पताल से घर तक पहुंचाने का काम करेंगी। सभी मिनी बसों में  मरीजों के देखने के लिए दो-दो अटेंडेट सीटें भी बनाई गई है। 

उन्होंने बताया कि इन मिनी एम्बुलेंस बसों में ड्राइवर के कैबिन को अलग से आइसोलेशन बनाया गया है। सभी मिनी बसें में जनता की सुविधा के लिए एंबुलेंस के रूप में तैयार की गई है।इन अम्बुलेंस बसों को सुविधा के लिए लेने के लिए कोविड-19 कोराना संक्रमित व्यक्ति को सरकार द्वारा जारी हेल्पलाइन नंबर 108 पर फोन करना होगा। 

समय पर कोविड-19 की टेस्ट रिपोर्ट न देने वाली प्राइवेट लैबों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी: यशपाल

faridabad-dc-yashpal-yadav-warn-private-lab-corona-report

फरीदाबाद 12 मई। उपायुक्त यशपाल ने कहा कि जिला में कोविड-19 से निपटने के लिए टेस्ट की संख्या बढ़ाई गई है। उन्होंने कहा कि सरकारी संस्थानों से होने वाली टेस्टिंग की रिपोर्ट समय से प्राप्त हो रही है लेकिन कुछ प्राइवेट लैब समय से जांच रिपोर्ट प्रस्तुत नहीं कर रही हैं। ऐसे में स्वास्थ्य विभाग इन सभी प्राइवेट लैब की सूची तैयार करें और उन्हें निर्देश दें कि वह निर्धारित समय में टेस्टिंग रिपोर्ट प्रस्तुत करें। 

उपायुक्त ने कहा कि अगर कोई लापरवाही करता है तो उसके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई भी की जाए। उपायुक्त यशपाल बुधवार को जिला में कोविड-19 स्थिति व किए गए कार्यों को लेकर सभी इंसिडेंट कमांडरों वह अन्य अधिकारियों की दैनिक समीक्षा मीटिंग में निर्देश दे रहे थे। उपायुक्त यशपाल ने मीटिंग में निर्देश दिए कि सभी अस्पतालों को उनके यहां भर्ती मरीजों की सूची प्रतिदिन पोर्टल पर अपडेट करनी है। 

उन्होंने सीएमओ को निर्देश दिए कि प्रत्येक अस्पताल मैं भर्ती होने वाले मरीजों की सूची पर नजर रखी जाए और अगर कोई अस्पताल सूची पोर्टल पर अपडेट नहीं करता है तो उसके खिलाफ तुरंत कार्रवाई की जाए। इस पर सीएमओ रणदीप सिंह पुनिया ने बताया कि ज्यादातर अस्पतालों ने सूची अपडेट करना शुरू कर दिया है। 

उन्होंने बताया कि कुछ अस्पतालों की बुधवार को ट्रेनिंग भी करवाई गई है ताकि उन्हें सूची अपडेट करने में कोई दिक्कत ना हो। इस दौरान उपायुक्त ने जिला के सभी आठ इंसीडेंट कमांडर से उनके क्षेत्र में कोविड-19 की स्थिति और उनके द्वारा की गई कांटेक्ट ट्रेसिंग के बारे में भी विस्तार से जानकारी ली। 

उपायुक्त ने निर्देश दिए कि सभी इंसीडेंट कमांडर मेडिकल किट वितरण व अन्य कार्यों में स्थानीय जनप्रतिनिधियों को भी शामिल करें ताकि अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचा जा सके। उन्होंने निर्देश दिए कि कोविड-19 के व्यवस्थाओं को लेकर किसी भी तरह की ढील नहीं होनी चाहिए। 

उन्होंने कहा कि अगर किसी को भी मेडिकल सहायता की जरूरत है तो तुरंत उसे यह सहायता उपलब्ध करवाना हमारी जिम्मेदारी है। उन्होंने ऑक्सीजन गैस की सप्लाई सहित अन्य सभी विषयों पर भी क्रमवार ढंग से जानकारी ली। वीडियो कांफ्रेंस में एचएसवीपी के प्रशासक कृष्ण कुमार एसडीएम बल्लभगढ़ अपराजिता एसडीएम फरीदाबाद परमजीत चहल एसडीएम बड़खल पंकज सेतिया नगर निगम के संयुक्त आयुक्त नवदीप मैन सहित सभी इंसीडेंट कमांडर व अन्य अधिकारी मौजूद थे।

बहुत बढ़िया खबर, आज सिर्फ 932 नए मामले सामने आए, 2156 लोगों ने कोरोना को हराकर किया कमाल

corona-update-in-faridabad-recovered-patient-more-than-new-positive

फरीदाबाद, 12 मई: जिला का कोरोना को हराकर बाउंस बैक करने का क्रम लगातार छटे दिन आज बुधवार को भी जारी रहा। बुधवार को जिला में 2 हजार 156 लोग कोरोना को हराकर स्वस्थ हो अपने घरों को लौटे जबकि संक्रमण के 932 नए मामले सामने आए हैं।

लगातार छटे दिन कोरोना को हराने वालों की संख्या संक्रमित से ज्यादा होने पर फरीदाबाद जिला वासियों ने राहत की सांस ली है। जिला वासियों को यह उम्मीद बंधी है कि अब सभी के सहयोग और सतर्कता से वैश्विक महामारी कोराना का प्रकोप जिला में धीरे-धीरे कम होता नजर आ रहा है। फरीदाबाद वासियों द्वारा सावधानी बरतने और लॉकडाउन बढाने की वजह से कोरोना संक्रमण की चेन को तोड़ने में कुछ हद तक सफलता मिली है।

स्वास्थ्य बुलेटिन के अनुसार फरीदाबाद जिला में अब तक 499857 लोगों को अब तक सर्वेलांस पर रखा गया है। जिन्होंने 28 दिनों का सर्वेलांस पूरा कर लिया है उनकी संख्या 426533  हो गई है।

इसके अलावा 73324 कोराना पोजिटिव लोगों को सर्वेलांस पर रखा गया है। अब तक जिला फरीदाबाद में कोराना 91936 पोजिटिव केसों को विभिन्न अस्पतालों में दाखिल किया गया है। इनमें से 80917 लोग स्वस्थ होकर कोराना को मात दे चुके हैं।

उपायुक्त यशपाल ने बताया कि होम आईसोलेशन पर जिला मे 8568 लोगों को रखा गया है। जबकि एक्टिव केसों की संख्या 10416 है। कोरोना को मात देकर स्वस्थ हो चुके हैं। जिला में कोरोना संक्रमण की रफ्तार पर ब्रेक लगाने के लिए टेस्टिंग पर जोर दिया जा रहा है। जिला में पिछले 24 घंटे में 9 हजार 357 टेस्ट किए गए। जबकि अब तक जिला फरीदाबाद में 737203 लोगों ने अब तक टेस्ट करवाया गया। इनमें से 91636 लोग कोराना पोजिटिव पाए गए। जबकि 643695 लोग नेगेटिव मिले।

अब तक जिला में 1572 लोगों के रिजल्ट आने बाकी है। 

 जिला फरीदाबाद में आक्सीजन पर 882 केस है। वेन्टीलेटर पर 83 केस है।

 जिला में सैम्पल पोजिटिव रेट 12.5 प्रतिशत है।जबकि रिकवरी रेट 88.0 प्रतिशत। जिला मे एक्टिव केस रेट 12.7 प्रतिशत है।

इस महामारी को फैलने से रोकने के लिए टीकाकरण भी जोर शोर से किया जा रहा है। बुधवार को भी कोरोना रोधी वैक्सीन लगातार लगाई जा रही है।

आंकड़ों के अनुसार फरीदाबाद जिला में कुल एक्टिव केसों की संख्या 10416 है जिनमें से 8568 मरीज होम आइसोलेशन में है अर्थात वे अपने घर पर ही रह कर स्वस्थ हो रहे हैं। जिला फरीदाबाद वासी एक लाख लोगों में से 40955 लोग कोविड टेस्टिंग करवा रहे हैं।

उपायुक्त यशपाल ने फरीदाबाद जिला वासियों से अपील की है कि वे कोरोना को मात देने के लिए सावधानी बरतते रहें और कोशिश करें कि अपने घर के अंदर ही रहे। जब तक बहुत जरूरी ना हो, तब तक घर से बाहर ना निकले और बाहर निकलते समय अपने मुंह और नाक को कवर करते हुए फेस मास्क का प्रयोग अवश्य करें। इसके अलावा, एक दूसरे के बीच दो गज की दूरी जरूर रखें। कोरोना के बारे में कोई भी जानकारी लेनी हो तो कॉविड हेल्पलाइन नंबर 1950 पर डायल करें जो कि सप्ताह के सातों दिन 24 घंटे संचालित की जा रही है। इसके अलावा, जिला प्रशासन ने  मोबाइल नंबर पर व्हाट्सएप चैट बोट  के माध्यम से सूचनाएं देने की व्यवस्था भी की है।

 जिला फरीदाबाद के जिन क्षेत्रों में मामलों का पता चला है उनमें सैक्टर-37 के 19, सै0-9 के 29, सै0-15 के 34, सै0-10 के 6, सै0-11 के 23, सैक्टर -14 के 17, सै0-55 के 23, सै0-37 के 19, सै0-35 के 9,सै0-16 के55, सै0-27 के 3 सै0-19 के 7, सै0-18 के 3, सै0 -21 के 38, ग्रीन फिल्ड के 59, अशोक इन्कलेव के 15, एनआईटी -2 के 9, सैनिक कॉलोनी के 38, जवाहर कॉलोनी के 20, सै0 -7  के 34, सैक्टर -8 के 23, सै0-22 के19,एनआईटी-2के9,एनआईटी-1 के17,सै0-3 के 28, नाहर सिंह कॉलोनी के 6, सै0-30 के 11, सै0-31 के 9, सै0-28 के 22, चावला कालोनी के 11, खेड़ी कलां के 13,स्परिगं फिल्ड कॉलोनी के 5, अंगनपूर के 8, बड़खल का 1,जवान के 4, लाडौली के 2,दयालपूर के 7,मच्छगर के 2,घरखेड़ा के 2,बुखारपूर के 2, सै0 -86 के 15, सै0 -88 के 16,  सै0-87 के 4,  सै0-84 का 1, सैक्टर-80 के 5, सै0 -81 के 11,  सै0-75 के 5, सैक्टर -77 के 10, बीपीटीपी के 29, मंझावली के 2, तिगांव के 14, एनआईटी -5 के 8, तिरखा कॉलोनी के 3, शिव कॉलोनी के 3, अरूआ के 3, पल्ला के 14,भीकम कालोनी के 4 केसों सहित कुल 932 केस शामिल हैं।

DCP Dr Anshu Singla ने होम आइसोलेटेड कोरोना+ पुलिसकर्मियों को सिखाया योगा, बढ़ाया आत्मविश्वास

ips-dr-anshu-singla-teach-yoga-to-corona-positive-policemen 

फरीदाबाद, 12 मई: कोरोना महामारी मनुष्य के शरीर के साथ-साथ उनके आत्मविश्वास को भी गहरी चोट पहुंचा रहा है। कोरोना संक्रमित जल्द ही आत्मविश्वास खो देता है जिसकी वजह से उसे महामारी अपने शिकंजे में और अधिक जकड़ लेती है।

इसी को ध्यान में रखते हुए डीसीपी एनआईटी डॉ अंशु सिंगला ने कोरोना संक्रमित हुए पुलिसकर्मियों को वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से योग सिखाकर उनके आत्मविश्वास को बढ़ाने में अहम योगदान दे रही हैं।

डॉ.अंशु सिंगला का मानना है कि योग और प्राणायाम से रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाई जा सकती है और इससे लोगों में आत्मविश्वास भी बढ़ता है। इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए योग से बढ़कर कुछ नहीं हैं। इससे बीमारियों से लडऩे की ताकत मिलती है।

श्रीमती अंशु सिंगला ने संक्रमित हुए पुलिसकर्मियों को डांस गतिविधि और लाफ्टर थेरेपी द्वारा इम्यून सिस्टम बढ़ाने के तरीके बताए तथा उनके जल्द ठीक होने की शुभकामनाएं दी।

डॉ अंशु सिंगला स्वयं कोरोना संक्रमित हो चुकी थी परंतु योग के माध्यम से उन्होंने कोरोना को हरा दिया और अब बिल्कुल स्वस्थ हैं। 

डॉ. अंशु सिंगला ने कोरोना संक्रमित होने के बाद भी अपना हौंसला नहीं छोड़ा जिसका परिणाम यह निकला कि वो कोरोना को मात देकर अपनी ड्यूटी पर वापिस भी आ चुकी है।

अब उन्होंने अपने अधीनस्थ पुलिसकर्मियों को भी योग के माध्यम से ठीक करने का फैसला किया है।

डीसीपी एनआईटी सर्व समृद्धि योगा सेंटर से प्रोफेशनल योगा ट्रेनर कुमारी प्रियंका सिन्हा की सहायता से योग सिखाने का कार्य कर रही है।

सर्व समृद्धि योगा सेंटर महामारी के समय में देश सेवा में समर्पित पुलिसकर्मियों को निशुल्क योगा सिखाने का सराहनीय कार्य कर रहा है।

कोरोना संक्रमित पुलिसकर्मियों का आत्मविश्वास बढ़ाते हुए उन्होंने पुलिसकर्मियों की हौसला अफजाई की। उन्होंने कहा कि आप सभी ने अपने कर्तव्यों से बढ़कर समाज की सेवा करने का सराहनीय कार्य किया है जिसके लिए उन्हें अपने आप पर गौरवान्वित होना चाहिए।

उन्होंने कहा कि किसी भी चुनौती का सामना करने के लिए सबसे अहम किरदार अपने अंदर के आत्मविश्वास का होता है। यदि इंसान अपना हौसला बनाए रखें और कठिन परिश्रम करें तो किसी भी चुनौती को आसानी से पार किया जा सकता है।

पुलिस कर्मियों को उनके ट्रेनिंग के समय की याद दिलाते हुए डीसीपी मैडम ने कहा कि ट्रेनिंग के वक्त पुलिसकर्मियों ने कठिन परिश्रम और हौसले की बदौलत ट्रेनिंग में दिए गए कठिन से कठिन लक्ष्य को प्राप्त करके इस वर्दी को पहना था।

उन्होंने कहा कि ट्रेनिंग समय के उस कठिन परिश्रम के सामने कोरोना से यह लड़ाई कुछ भी नहीं है। आत्मविश्वास और योग के माध्यम से आप कोरोना का आसानी से हरा सकते हैं।

अपनी टीम का हौसला बढ़ाने के लिए श्रीमती अंशु सिंगला कोरोना संक्रमण के दौरान अपने अनुभव साझा किए और बताया कि कैसे योग के माध्यम से उन्होंने कोरोना को मात दी थी।

उन्होंने एकांत में रहकर मैडिटेशन किया व सकारात्मक विचार प्रदान करने वाली मोटिवेशनल वीडियो देखी तथा

पुस्तकों को पढा जिससे उनके अंदर आत्मविश्वास का संचार हुआ।

उन्होंने पुलिस कर्मियों से कहा कि कोरोना से इस लड़ाई में खुश रहना अति आवश्यक है इसलिए आप खुश रहने के लिए किसी भी प्रकार की रचनात्मक गतिविधि कर सकते हैं जिसमें डांस करना, गाना गाना, फिल्म या कॉमेडी वीडियो मैं ऐसे किसी का भी चयन कर सकते हैं।

इसी प्रकार प्रेरणादायक संदेश देकर डीसीपी एनआईटी डॉ अंशु सिंगला ने पुलिसकर्मियों के जल्द ठीक होने की कामना की।

अलग अलग क्राइम ब्रांच की टीमों ने रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी करते हुए 2 लोगों को दबोचा

faridabad-crime-branch-sector-arrested-remdesivir-selling-accused

फरीदाबाद: कालाबाजारी को रोकने के लिए जिला पुलिस द्वारा आरोपियों की लगातार गिरफ्तारियां की जा रही है। पुलिस आयुक्त ओपी सिंह ने आवश्यक वस्तुओं की कालाबाजारी पर रोक लगाने के सख्त निर्देश दिए हैं जिनके तहत कार्रवाई करते हुए क्राइम ब्रांच 56 व क्राइम ब्रांच 17 की टीम ने रेम्डेजिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी करने के जुर्म में 2 आरोपियों को मोटरसाइकिल सहित गिरफ्तार किया है।

क्राइम ब्रांच 56 ने आरोपी देवेंद्र उर्फ देव को बल्लभगढ़ की 2 नंबर मार्केट से गिरफ्तार करके 6 इंजेक्शन बरामद किये वहीँ क्राइम ब्रांच 17 ने आरोपी हिमांशु को भूड कॉलोनी से गिरफ्तार करके उसके कब्जे से 3 इंजेक्शन बरामद किए हैं। 

पुलिस टीम ने जब आरोपियों से इंजेक्शन बेचने का लाइसेंस मांगा तो वह कोई भी दस्तावेज प्रस्तुत नहीं कर सके जिस पर तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया।

पूछताछ में सामने आया कि आरोपी देवेंद्र उर्फ देव फार्मेसी मार्केटिंग का काम करता हैं और सेक्टर 10 में स्थित पार्क हॉस्पिटल में नर्सिंग का काम करने वाले अपने दोस्त धनराज से 10 इंजेक्शन ₹80000 में खरीद कर लाया था जिसमें से चार इंजेक्शन उसने आगरा के रहने वाले एक दोस्त मेहर चंद को दे दिए।

आरोपी हिमांशु अकाउंटेंट का काम सीखता है और एशियन हॉस्पिटल में कार्यरत किसी व्यक्ति से यह इंजेक्शन खरीद कर लाया था और इन्हें महंगे दामों पर बेचने की फिराक में था कि पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया।

आरोपियों को गिरफ्तार करके उनके खिलाफ सरकारी आदेशों की अवहेलना करने, आवश्यक वस्तु अधिनियम 1955, आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005, औषधि एवं प्रसाधन सामग्री अधिनियम 1940 के तहत थाना ओल्ड व् थाना सिटी बल्लभगढ़ में मुकदमा दर्ज किया गया है।

आरोपियों को अदालत में पेश करके पुलिस रिमांड पर लिया गया है जिनमे उनसे मामले में गहनता से पूछताछ की जाएगी और पार्क व एशियन हॉस्पिटल से इंजेक्शनों की सप्लाई करने वाले उनके साथियों की धरपकड़ की जाएगी।