Palwal Assembly

Showing posts with label Tigaon News. Show all posts

तिगांव से लोसपा उम्मीदवार मनोज भाटी ने दिया कांग्रेस प्रत्याशी ललित नागर को अपना समर्थन

lsp-candidate-manoj-bhati-support-lalit-nagar-congress-tigaon

फरीदाबाद, 18 अक्टूबर। तिगांव विधानसभा क्षेत्र के कांग्रेस प्रत्याशी ललित नागर को आज उस समय बड़ा राजनैतिक बल मिला, जब तिगांव से लोकतंत्र सुरक्षा पार्टी के उम्मीदवार मनोज भाटी ने अपने परिवार सहित उन्हें अपना खुला समर्थन देने का ऐलान कर दिया। 

इस अवसर पर मनोज भाटी ने कहा कि तिगांव के हितों को देखते हुए उन्होंने कांग्रेस प्रत्याशी ललित नागर को अपना समर्थन दिया है क्योंकि पिछले पांच साल से ललित नागर ने एक सच्चा जनसेवक बनकर तिगांव क्षेत्र की आवाज उठाई है। चुनाव प्रचार के दौरान जब वह समूचे तिगांव विधानसभा क्षेत्र में प्रचार कर रहे थे तो उन्हें चारों ओर से यही सुनने को मिला कि पुन: ललित नागर ही विधायक होने चाहिए, जिससे जनहित को देखते हुए उन्होंने यह फैसला लिया है ताकि आने वाले कल में तिगांव विधानसभा क्षेत्र विकास की बुलंदियों को छूए। 

इस अवसर पर कांग्रेस प्रत्याशी ललित नागर ने लोसपा उम्मीदवार मनोज भाटी को गले लगाकर उनका दिल से स्वागत करते हुए कहा कि न्याय और अन्याय की इस लड़ाई में आज उन्होंने भाजपा रुपी अन्यायियों के खिलाफ जो मेरा साथ दिया है, मैं इसका ताउम्र भी ऋण नहीं उतार सकता। 

तिगांव क्षेत्र से होनेे वाली कांग्रेस की जीत में अब मनोज भाटी के योगदान को भी भुलाया नहीं जा सकता। उन्होंने कहा कि आज हरियाणा में भाजपा का 75 पार का  नारा घटते-घटते 30 से भी नीचे जा पहुंचा है और निश्चित तौर पर प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनेगी। कांग्रेस की हवा अब प्रदेश में चल निकली है इसलिए सभी एकजुट होकर तिगांव की जीत को ऐतिहासिक बनाने का काम करें। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की सरकार बनते ही तिगांव के पिछड़ेपन को दूर कर इस क्षेत्र में विकास को गति प्रदान की जाएगी। इस मौके पर मुख्य रुप से सुनील भाटी चेयरमैन मौजूद थे।

भाजपा तिगांव में जितना ज्यादा लगा रही जोर, उतना अधिक हो रहा ललित नागर का फायदा, पढ़ें जैसे?

tigaon-vidhansabha-lalit-nagar-may-win-election-2019-prediction

फरीदाबाद, 18 अक्टूबर: ललित नागर को तिगांव विधानसभा में हराने के लिए भाजपा ने पूरा जोर लगा दिया है, अब तक मोदी, खट्टर, अमित शाह, स्मृति ईरानी और मनोज तिवारी से रैलियां करवाई जा चुकी हैं लेकिन ललित नागर की जड़ें उखाड़ने में भाजपा नाकाम साबित हो रही है, भाजपा जितना अधिक जोर लगा रही है उतना ही ललित नागर को फायदा हो रहा है और उनका कद लगातार बढ़ता जा रहा है। 

अब तिगांव की जनता सोचने लगी है कि ललित नागर बहुत बड़ा नेता है इसीलिए भाजपा ने उसे हराने के लिए पूरा जोर लगा दिया है। भाजपा के लिए अच्छा ये होता कि किसी एक बड़े नेता की रैली करवा दी जाती लेकिन यहाँ पर कभी मुख्यमंत्री मनोहर को बुलाया जाता है, कभी अमित शाह को, कभी स्मृति ईरानी को, कभी मनोज तिवारी को और कभी किसी और लोग। अब तक ये देखा गया है कि इनमें से कोई एक नेता ही माहौल को बदल देता है लेकिन यहाँ पर किसी का बस ही नहीं चल रहा है। 

जनता सोच रही है कि भाजपा की यहाँ पर दाल नहीं गल रही है इसीलिए तमाम बड़े नेताओं को बुलाया जा रहा है। ललित नागर भी इसका फायदा उठा रहे हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा नेताओं ने सारी ताकत तिगांव में ही लगा रखी है, पूरा हरियाणा पड़ा है लेकिन इन्हें प्रचार करने के लिए और जगह नहीं दिखाई पड़ रही है। 

ऐसा नहीं है कि ललित नागर अकेले ही प्रचार कर रहे हैं, उनके प्रचार में भी आज सचिन पायलट आ रहे हैं। अब देखते  हैं कि ललित नागर दोबारा विधायक बनते हैं या बाजी भाजपा के हाथों में आती है। 

सेक्टर-31 सामुदाइक भवन में जोरदार स्वागत से ख़ुशी से गदगद हुए ललित नागर

tigaon-congress-candidate-lalit-nagar-get-support-in-sector-31-news

फरीदाबाद, 16 अक्टूबर: कांग्रेस प्रत्याशी ललित नागर को तिगांव विधानसभा में चौतरफा समर्थन मिल रहा है, पहले नहरपार इलाके में ही ललित नागर की मजबूत पकड़ थी लेकिन आज सेक्टर-31 में भी उन्हें भारी समर्थन मिला है। जनता से मिले प्रेम और स्नेह से ललित नागर ख़ुशी से गदगद हो गए और उन्होंने वादा किया कि अगर मुझे फिर से आपकी सेवा करने का मौक़ा मिला तो किसी को शिकायत का मौक़ा नहीं दूंगा और आपके हक़ की लड़ाई लड़ता रहूंगा। 

ललित नागर ने जनता से 21 अक्टूबर को पंजे के बटन पर वोट देकर उन्हें भारी मतों से जिताने की अपील की। ललित नागर ने कहा कि तिगांव में उनकी बड़ी जीत हो रही है इसलिए भाजपा के बड़े बड़े नेताओं ने तिगांव में तम्बू गाड़ दिए हैं। 

उन्होंने कहा कि भाजपा कितनी भी ताकत लगा ले लेकिन तिगांव की जनता अपने इस बेटे को दोबारा चुनाव जिताकर चंडीगढ़ भेजेगी। 

हार के डर से मेरे समर्थकों पर आयकर विभाग की छापेमारी करवा रही है भाजपा: ललित नागर

lalit-nagar-attack-bjp-for-income-tax-raid-on-his-supporters-hindi-news

फरीदाबाद, 16 अक्टूबर। तिगांव विधानसभा क्षेत्र के कांग्रेस प्रत्याशी ललित नागर ने आज उनके पीए सहित तीन निजी कर्मचारियों के अलग-अलग निवासों पर आयकर विभाग द्वारा एक साथ डाली गई रैड को पूर्ण रुप से राजनीति से प्रेरित बताया है। उन्होंने कहा कि भाजपा प्रत्याशी तिगांव विधानसभा क्षेत्र में अपनी हार को देखते हुए पूरी तरह से बौखला गए है, इसी का परिणाम है कि भाजपा आलाकमान के ईशारे पर सरकारी एजेंसियों का दुरुपयोग किया जा रहा है। 

चुनाव के वक्त में एक साथ मेरे तीन-तीन निजी कर्मचारियों के निवास पर की जाने वाली छापेमारी से साफ झलकता है कि भाजपा हरियाणा से जा रही है और कांग्रेस हरियाणा की गद्दी पर आ रही है।  ललित नागर आज अपने जनसंपर्क अभियान के तहत गांव बादशाहपुर, ददसिया, शेरपुर, किडावली, ढहकौला, मंधावली, टिकावली सहित कई गांवों में आयोजित सभाओं को संबोधित कर रहे थे। 

इस दौरान ग्रामीणों नें उनका जगह-जगह जहां फूल मालाओं से स्वागत किया वहीं पगड़ी बांधकर अपना खुला समर्थन देने का आर्शीवाद देते हुए कहा कि भाजपा द्वारा अपनाई जा रही दमनकारी नीति से आपको डरने की जरुरत नहीं है क्योंकि तिगांव क्षेत्र की जनता आपके हर संघर्ष में अगुवा की भूमिका निर्वहन कर फिर से विजय पताका लहराएंगी। 

कांग्रेस प्रत्याशी ललित नागर ने आज हुई छापेमारी को भाजपा की औछी मानसिकता का परिचायक बताते हुए कहा कि पूरे पांच साल मैंने क्षेत्र के विकास की अनदेखी का मुद्दा सडक़ से लेकर विधानसभा तक उठाया है, इसी का परिणाम है कि तिगांव विधानसभा क्षेत्र की छत्तीस बिरादरी आज संघर्ष में मेरे साथ खड़ी है, जिससे डर कर भाजपा आलाकमान भयभीत है। भाजपा के डर का प्रमाण इससे बड़ा क्या होगा कि एक अकेले तिगांव विधानसभा क्षेत्र में ही भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी व मुख्यमंत्री मनोहर लाल सहित भाजपा के वरिष्ठ नेताओं ने एक तरफ से तिगांव क्षेत्र में ही डेरा डाल दिया है, लेकिन तिगांव क्षेत्र की जनता न झुकेगी और न डरेगी क्योंकि इस तरह की छापेमारी का सामना मैं और मेरा परिवार पहले भी कई बार कर चुका है। 

उन्होंने कहा कि भाजपा प्रत्याशी के पास तिगांव विधानसभा क्षेत्र में विकास के नाम पर कहने के लिए कुछ नहीं है और वह केवल मोदी और अमित शाह के नाम पर चुनाव जीतना चाहते है। उन्होंने मंच से जनता का आश्वास्त किया कि पिछले 15 साल से मैं और मेरा परिवार जनता की सेवा के लिए समर्पित है तथा मैंने कभी भी कोई ऐसा कार्य नहीं किया, जिससे क्षेत्र की जनता के सामने मुझे शर्मिंदगी महसूस करनी पड़े और न ही देश के किसी भी थाने में मेरे खिलाफ कोई एफआईआर दर्ज है। 

उन्होंने कहा कि तिगांव की छत्तीस बिरादरी मेरे साथ है क्योंकि मैंने हमेशा यहां की जनता को अपने परिवार के सदस्य के रुप में ही बर्ताव रखा है इसलिए मुझे पूर्ण रुप से भरोसा और विश्वास है कि आने वाली 21 तारीख को तिगांव क्षेत्र की जनता एक बार फिर से कांग्रेस की विजय पताका लहराने का काम करेगी।

नागर बोले: मोदी, खट्टर, स्मृति ईरानी, अमित शाह से बात नहीं बनी तो इनकम टैक्स को भेज दिया

income-tax-raid-on-lalit-nagar-mla-congress-pa-badshahpur-village

फरीदाबाद, 16 अक्टूबर: भाजपा किसी भी कीमत पर तिगांव सीट जीतना चाहती है। यहाँ से कांग्रेस प्रत्याशी और विधायक ललित नागर मैदान में हैं। भाजपा ने तिगांव विधानसभा में मुख्यमंत्री मनोहर लाल और स्मृति ईरानी की रैली करवा ली है, आज अमित शाह भी तिगांव विधानसभा में ही रैली करेंगे, प्रधानमंत्री मोदी बल्लभगढ़ में सभी प्रत्याशियों के लिए रैली कर चुके हैं। 

अब पता चला है कि विधायक ललित नागर के करीबियों पर छापा पड़ा है। बताया जा रहा है कि आज सुबह गांव खेड़ी तथा बादशाहपुर में रहने वाले  दो लोगो के घर इनकम टैक्स की रेड पडी है। कांग्रेस उम्मीदवार ललित नागर के पीए के तौर पर काम करने वाले रोहतास गांव बादशाहपुर में रहते हैं तथा  रणवीर गांव खेड़ी के रहने वाले हैं। आज तड़के  इन दोनों के घरों पर इनकम टैक्स की टीमें पहुंच गई तथा छापेमारी की कार्रवाई शुरू कर दी। आयकर विभाग की तरफ से  इस बारे में कोई आधिकारिक जानकारी नहीं मिल पाई है लेकिन  तिगांव के कांग्रेस प्रत्याशी ललित नागर के भाई मनोज नागर ने इसकी पुष्टि की है। 

मनोज नागर का कहना है कि मेरे जिन समर्थकों को भाजपा वाले तोड़ नहीं पा रहे हैं उनके यहाँ आयकर विभाग से छापेमारी करवा रहे हैं। मनोज नागर ने दावा किया कि मेरे जिन समर्थकों के यहाँ छापेमारी हुई है वो आम लोग हैं उनके घर में दो हजार रूपये भी नहीं रहते।

मनोज ने कहा भाजपा की तिगांव विधानसभा में दाल नहीं गल रही है, यहाँ पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी की रैली हो चुकी है, आज भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह खुद रैली करने आ रहे हैं, मोदी से फरीदाबाद में रैली करवाई जा चुकी है। जब भाजपा की दाल नहीं गली तो हमें डराने के लिए इनकम टैक्स को भेजा गया है।

उन्होंने कहा कि ऐसा कर हमें कमजोर करने का प्रयास किया जा रहा है। हमारे समर्थकों को धमकाने और डराने का प्रयास किया जा रहा है। मनोज नागर ने कहा कि हमारे समर्थक भाजपा की इस तुच्छ हरकत से डरने वाले नहीं हैं और वोट की चोट से इसका बदला लेंगे। उन्होंने कहा कि भाई ललित नागर ने क्षेत्र में पांच साल पसीना बहाया है जिस कारण जनता हमारे साथ है। उन्होंने कहा कि भाजपा की ऐसी हरकतों से हम डरने वाले नहीं है न ही हमारे समर्थक डरेंगे।

lalit-nagar-news

तिगांव को प्रॉपर्टी डीलर नहीं बल्कि जनता के हक़ की लड़ाई लड़ने वाला विधायक चाहिए: ललित नागर

tigaon-congress-candidate-lalit-nagar-called-rajesh-nagar-property-dealer

फरीदाबाद, 15 अक्टूबर: तिगांव के विधायक और कांग्रेस प्रत्याशी ललित नागर ने आज भाजपा प्रत्याशी राजेश नागर पर सीधा हमला बोला है। 

ललित नागर ने एक सभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि मैं पिछले पांच साल अपने क्षेत्र की समस्या के खिलाफ विधानसभा में आवाज उठाता रहा वहीं भाजपा प्रत्याशी पांच साल सिर्फ प्रॉपर्टी डीलिंग में व्यस्त रहे। 

उन्होंने कहा कि  भाजपा ने इस क्षेत्र के विकास व रोजगार के मामले में पूरी तरह से अनदेखी की है, लेकिन मैंने विपक्षी विधायक होते हुए भी हर स्तर पर भाजपा सरकार की बेकादियों के खिलाफ सडक़ से लेकर विधानसभा तक आवाज उठाने का काम किया है, जबकि भाजपा की सरकार होते हुए भी यहां से भाजपा प्रत्याशी पूरे पांच साल प्रापर्टी डीलिंग में व्यस्त रहे। 

उन्होंने जनता से सवाल किया कि आप भाजपा प्रत्याशी से पूछें कि वह कोई वह एक भी ऐसा कार्य बताए, जिसका उन्होंने स्वयं उद्घाटन किया हो। उन्होंने कहा कि तिगांव क्षेत्र की जनता को प्रापर्टी डीलर नहीं बल्कि जनता के बीच हक-हकूक की लड़ाई लडऩे वाला विधायक चाहिए और अब प्रदेश में अब एक तरफा कांग्रेस की लहर चल निकली है और कांग्रेस की सरकार बनते ही पूरे तिगांव विधानसभा क्षेत्र का एक योजनाबद्ध तरीके से विकास कराया जाएगा। 

नागर आज अपने चुनावी जनसंपर्क अभियान के दौरान गांव मंधावली, लहडौला, रायपुर, अल्लीपुर, घरौंड़ा, घुड़ासन, बेला, अरुआ सहित कई गांवों में सभाओं को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान उपस्थित लोगों ने जहां उनका पगड़ी बांधकर स्वागत किया वहीं एकमत से उन्हें विजयश्री का आर्शीवाद भी दिया। सभाओं में भारी संख्या में लोग उपस्थित थे। लोगों को संबोधित करते हुए कांग्रेस प्रत्याशी ललित नागर ने कहा कि भाजपा आम, गरीब, किसान मजदूर व छोटे व्यापारियों के विरोधी पार्टी है क्योंकि भाजपा सरकार में इन सभी वर्गाे का बुरा हाल है, युवा जहां बेरोजगारी की ओर बढ़ रहा है वहीं बढ़ते अपराधों ने सरकार की नकाबलियत का परिचय दिया है। 

पूरे पांच साल भाजपा केवल भाषणबाजी में ही अपना समय व्यतीत करती रही। उन्होंने कहा कि तिगांव क्षेत्र के 19 गांवों के किसान आज अपनी जमीन के बढ़े हुए मुआवजे के लिए दर-दर की ठोंकरे खा रहे है और भाजपा सरकार ने उन्हें कोई भी राहत देने का काम नहीं किया। उन्होंने किसानों का आश्वस्त करते हुए कहा कि हरियाणा में कांग्रेस की सरकार बन रही है और सरकार बनते ही पहली कलम से किसानों को उनके मुआवजे देने का काम किया जाएगा।  उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी जो कहती है, वह करती है इसलिए हाल ही में कांग्रेस के संकल्प पत्र में पार्टी ने जो वायदे किए है, उन सभी वायदों को सरकार बनते ही पूरा किया जाएगा। 

उन्होंने लोगों से आह्वान किया कि वह 21 अक्टूबर को हाथ के सामने वाला बटन दबाकर जुल्मी भाजपा सरकार को उखाड़ फैंकने का संकल्प लें, जिससे कि प्रदेश और तिगांव क्षेत्र में सौहार्द व खुशहाली का माहौल बनाया जा सके।

उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत की अपील, ललित नागर के खाते में जाना चाहिए एक एक वोट

harish-rawat-appeal-tigaon-vidhansabha-vote-for-lalit-nagar-congress

फरीदाबाद, 14 अक्टूबर।  उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने भाजपा सरकार पर बड़ा तंज कसते हुए कहा कि झूठ व जुमलों के दम पर बनी भाजपा सरकार अब लोगों के दिलों से उतर चुकी है क्योंकि 5 साल के भाजपा शासन में लोगों को सिवाए जुमलेबाजी के कुछ हासिल नहीं हुआ है और सत्ता के नशे मेें चूर भाजपाई फिर से लोगों को जुमलोजी में फिर से चुनावी समर में है। 

उन्होंने भाजपा पर धर्मजाति वर्ग की राजनीति करने का आरोप लगाते हुए कहा कि पांच साल के भाजपा शासनकाल में हरियाणा तीन-तीन बार जातिय दंगों की आग में जला, जिसको लेकर लोगों में भाजपा के प्रति गहरा रोष व्याप्त है।  हरीश रावत बीती रात रोशन नगर, अगवानपुर, सेक्टर-91 तिकोना पार्क, सरस्वती कालोनी में कांग्रेस प्रत्याशी ललित नागर द्वारा आयोजित विशाल जनसभाओं को संबोधित कर रहे थे। 

जनसभाओं में मुख्य रुप से पूर्व सांसद महाबल मिश्रा, पूर्व सांसद कमांडो कमल किशोर भी मौजूद रहे। इस अवसर पर जहां उत्तराखंडी समाज ने अपने नेता हरीश रावत का तिगांव की धरती पर पहुंचने पर जोरदार स्वागत किया वहीं इस अवसर पर मौजूद छत्तीस बिरादरी के लोगों ने भी अपना भरपूर समर्थन देने का ऐलान करते हुए कांग्रेस के पक्ष में जमकर जयघोष किया। 

रावत ने तिगांव विधानसभा क्षेत्र में बसने वाले उत्तराखंडी समाज से आह्वान करते हुए कहा कि वह कांग्रेस प्रत्याशी ललित नागर के पक्ष में एकमत होकर मतदान करें और उनकी जीत की गूंज उत्तराखंड तक सुनाई देनी चाहिए क्योंकि आपके विधायक ललित नागर ने पूरे पांच साल एक सच्चा जनसेवक बनकर क्षेत्र की आवाज उठाई है। ऐसे बहुम कम विधायक होते है, जो जनता के दुख-दर्द में शामिल होकर जनता की आवाज बनते है और उनमें से ललित नागर एक है, जो सही मायनों में विधायक होते हुए विपक्ष की आवाज बने है। 

उन्होंने कहा कि आप ललित नागर को दोबारा विधायक बनाओ, हरियाणा में बनने वाली कांग्रेस सरकार में इन्हें मंत्री बनवाने की जिम्मेवारी मेरी होगी क्योंकि ललित नागर के पक्ष में दबने वाला एक-एक बटन स्वयं मेरे खाते में जाएगा। उन्होंने लोगों को 2014 चुनावों की याद दिलाते हुए कहा कि उस समय व्यस्तता के चलते मैं आपके बीच नहीं पहुंच सकता था, लेकिन मैंने अपने प्रतिनिधि के तौर पर अपने पुत्र को आपके बीच में भेजा, तब आपने हमारी एक आवाज पर पूरे उत्तराखंडी समाज की ओर से ललित नागर में अपना विश्वास व्यक्त किया था इसलिए आज वह स्वयं आपके बीच आए है कि आप फिर से यहां कांग्रेस का अलख जगाने का काम करें। 

उन्होंने महंगाई का जिक्र करते हुए कहा कि जीएसटी व  नोटबंदी ने आज जहां व्यापारियों की कमर तोड़ दी है वहीं अनेकों उद्योग धंधे मंदी की मार झेलते हुए बंद होने के कगार पर है, बेरोजगारी में आज हरियाणा देश में नंबर वन स्थान पर है वहीं बढ़ते अपराधों ने हरियाणा की छवि को धूमिल करने का काम किया है। इन सबका एक ही इलाज है, कांग्रेस इसलिए आप सब कांग्रेस के हाथ के साथ खड़े होकर भाजपा को सबक सिखाने का काम करें। 

इस अवसर पर कांग्रेस प्रत्याशी ललित नागर ने अपने संबोधन में कहा कि वह उत्तराखंडी समाज के ऋणी है, जिसका कर्ज वह जीवन भर भी नहीं उतार सकते क्योंकि 2014 के विधानसभा चुनाव में मुझे विधायक बनाने में क्षेत्र की छत्तीस बिरादरी के साथ-साथ उत्तराखंडी समाज का विशेष योगदान रहा है। उन्होंने लोगों को आश्वस्त किया कि प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनना निश्चित है और सरकार बनते ही इस समूचे तिगांव विधानसभा क्षेत्र को विकास में तो नंबर वन बनाया जाएगा साथ ही यहां रह रहे उत्तराखंडी समाज के विकास व उत्थान में कोई कमी नहीं छोड़ी जाएगी, उत्तराखंडी समाज की हर समस्या मेरे परिवार की समस्या होगी। 

ललित नागर से अच्छा समाजसेवी कोई नहीं, तिगांव से इन्हें जिताओ: कुमारी शैलजा

kumari-shailja-appeal-to-vote-for-lalit-nagar-congress-tigaon-vidhansabha

फरीदाबाद, 13 अक्टूबर।  कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष कुमारी सैलजा ने रविवार को खेड़ी मोड स्थित रंगोली गार्डन में तिगांव क्षेत्र से कांग्रेस प्रत्याशी ललित नागर द्वारा आयोजित विशाल जनसभा में उपस्थित जनसमूह को संबोधित किया और ललित नागर को वोट देकर तिगांव से फिर विधायक बनाने की अपील की।

kumari-shailja-and-lalit-nagar

उन्होंने कहा कि ललित नागर ने विधायक बनने के बाद जिस प्रकार से क्षेत्र के लोगों के हक की आवाज को सडक़ से लेकर विधानसभा तक उठाया है, उससे उनकी नीयत व सोच पर शक नहीं किया जा सकता। उन्होंने तिगांव क्षेत्र के कौने-कौने से आई छत्तीस बिरादरी की मौजिज सरदारी से आह्वान करते हुए कहा कि लोकसभा की कसर अब विधानसभा में निकालते हुए ललित नागर को भारी मतों से विजयी बनाकर विधानसभा में भेजो, प्रदेश में निश्चित रुप से कांग्रेस सरकार बनने जा रही है और सरकार में ललित नागर की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी दी जाएगी, जिससे कि वह विकास के मामले में पिछड़े तिगांव क्षेत्र की विकास के मामले में कायाकल्प कर सके। 

हरियाणा कांग्रेस कमेटी की अध्यक्ष कुमारी सैलजा ने भाजपा के चुनावी संकल्प पत्र को झूठा संकल्प पत्र, जुमला पत्र व धोखा पत्र की संज्ञा देते हुए कहा कि यह किस मुंह से घोषणा पत्र जारी कर रहे है। इन्होंने पिछले घोषणा पत्र में जनता से किए 154 वायदों में से भाजपा ने एक भी वायदा पूरा नहीं किया है और जनता को गुमराह करने के लिए अब संकल्प पत्र जारी करके अपनी नाकामियां छुपाने का प्रयास कर रहे है। 

उन्होंने कहा कि जुमलों में भाजपा का कोई मुकाबला नहीं है, भाजपाईयों ने कहा फरीदाबाद को स्मार्ट सिटी बनाएंगे, आखिर स्मार्ट क्या होता है, स्मार्ट फोन तो सुने है परंतु स्मार्ट सिटी क्या होती है? फरीदाबाद में जगह-जगह लगे कूड़े के ढेर, ओवरफ्लो सीवरेज, बदहाल सडक़ें, बढ़ता प्रदूषण क्या यही स्मार्ट सिटी है, अगर यह स्मार्ट सिटी है तो जनता को ऐसी स्मार्ट सिटी नहीं चाहिए। 

इस दौरान तिगांव की वीर भूमि पर पधारने पर ललित नागर व क्षेत्र के मौजिज लोगों ने कुमारी सैलजा का फूल मालाओं से व शॉल ओढ़ाकर जोरदार स्वागत किया। कुमारी सैलजा ने कांग्रेस प्रत्याशी ललित नागर पर टिप्पणी करने वालों को हाथों लेते हुए कहा कि ऐसे युवा व मेहनती जनसेवक ने सदैव जनता के हितों की रक्षा के लिए कार्य किए है, ऐसे व्यक्ति पर टिप्पणी करने वाले लोग अपने गिरेबां में झांककर देखें कि उनके प्रत्याशी कितने पाक साफ है, उन पर तो कई संगीन मुकदमें भी दर्ज हो चुके है। 

जनसभा में उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए कांग्रेस प्रत्याशी ललित नागर दोबारा टिकट देकर चुनावी मैदान में उतारने पर कांग्रेस का शीर्ष नेतृत्व का आभार जताते हुए कहा कि वह 2009 में कुछ वोटों से चुनाव हार गए थे और 2009 से 2014 तक उन्होंने खूब मेहनत की, यही कारण है कि 2014 में मोदी लहर में क्षेत्र की भगवानरुपी जनता ने उन्हें विजयी बनाया। इसके बाद 2014 से 2019 तक वह घर नहीं बैठे बल्कि हर सप्ताह प्रोग्रामों के माध्यम से कालोनियों व गांवों में जनता से रुबरु होते रहे उनका सुख-दुख में भागेदारी निभाते रहे। 

उन्होंने कहा कि तिगांव क्षेत्र की आवाज सडक़ से लेकर डीसी ऑफिस, कलेक्टर आफिस, तक उठाने का काम किया, इतना ही नहीं बल्कि क्षेत्र की जनता के हितों के लिए पुलिस से भी भिड गए। उन्होंने कहा कि तिगांव क्षेत्र के साथ भेदभाव बरतने के मामले को उन्होंने विधानसभा में पुरजोर तरीके से उठाया और आज पूरे क्षेत्र की जनता उन्हें आर्शीवाद देने यहां आई है, वह उनका आभार जताते है। 

उन्होंने जनता से आह्वान किया कि वह इस बार भी उन्हें भारी मतों से विजयी बनाकर विधानसभा में भेजें मैं आपको विश्वास दिलाता हूं आपके मान सम्मान में कभी कमी नहीं आने दूंगा और क्षेत्र का सर्वागीण विकास कराकर आपका ऋण उतारने का काम करुंगा। 

इस अवसर पर तिगांव क्षेत्र के वरिष्ठ कांग्रेसी नेता जेपी नागर, प्रदेश महासचिव पं. राजेंद्र शर्मा, प्रदेश सचिव सुमित गौड़, पूर्व पार्षद योगेश ढींगड़ा, पूर्व चेयरमैन अब्दुल गफ्फार कुरैशी, महेश नागर, सुनील भाटी चेयरमैन, बाबूलाल रवि, सुंदर नेता, सैय्यद रिजवान आजमी सहित अनेकों गणमान्य लोग मौजूद रहे।

कद्दावर कांग्रेसी नेता ललित नागर से सीट छीनने के लिए मुख्यमंत्री खट्टर ने लगाई पूरी ताकत

cm-manohar-lal-tigaon-rally-against-lalit-nagar-congress

फरीदाबाद 12 अक्टूबर: तिगांव विधानसभा के विधायक और कद्दावर कांग्रेसी नेता ललिता नागर तिगांव सीट छीनने के लिए मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने अपनी पूरी ताकत लगा दी है, आज उन्होंने भाजपा प्रत्याशी राजेश नागर के समर्थन में एक जनसभा को संबोधित किया और आगामी 21 अक्टूबर को भाजपा को वोट देने की अपील की.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि तिगांव के विधायक ललित नागर हरियाणा में भूपेंद्र हुड्डा के बाद दूसरे ऐसे नेता हैं जो विधानसभा में सरकार के खिलाफ मजबूत विपक्ष की भूमिका निभाते हैं और जोरदार तरीके से अपने क्षेत्र की आवाज भी उठाते हैं.

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ललित नागर को हल्के में नहीं ले रहे हैं इसलिए आज उन्होंने भाजपा के प्रत्याशी राजेश नागर के समर्थन में जनसभा की है.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि ललित नागर भी दूसरी बार चुनाव जीतने के लिए अपनी पूरी ताकत लगा रहे हैं और जन संपर्क करके दोबारा आशीर्वाद मांग रहे हैं, एक तरफ राजेश नागर के समर्थन में मुख्यमंत्री और केंद्रीय मंत्रियों की जनसभाएं हो रही है तो ललित नागर अकेले ही मोर्चा संभाले हुए हैं.

आपकी सेवा में कोई कमीं नहीं छोडूंगा, 21 अक्टूबर को तिगांव में दबाइये पंजे का बटन: ललित नागर


फरीदाबाद: तिगांव विधानसभा के कांग्रेस प्रत्याशी ललित नागर ने आज श्रमिक विहार, खेड़ी गांव, दीपावली कॉलोनी,  विनय नगर, नचौली, भूपानी और अन्य कई क्षेत्रों में जनसम्पर्क करके विजय-श्री का आशीर्वाद माँगा। 

ललित नागर को इस दौरान भरी जनसमर्थन मिला, उन्होंने जनता से 21 अक्टूबर को पंजा का बटन दबा कर स्वयं के लिए समर्थन माँगा एवं कांग्रेस को मजबूत करने हेतु अपील की एवं उपस्तिथ लोगो ने तुलादान कर जीत के लिए आशीर्वाद भी दिया।


ललित नागर ने खेड़ी गांव में भी पैदल मार्च करके जनता का समर्थन माँगा। उन्होंने कहा कि अगर मुझे दोबारा आपकी सेवा करने का मौक़ा मिला तो पहले से भी अधिक ताकत से आपके हक़ की लड़ाई लडूंगा और आपको शिकायत का मौका नहीं दूंगा। 


राजेश नागर के लिए मैदान में उतरकर स्मृति ईरानी ने कांग्रेस प्रत्याशी ललित नागर का बढ़ाया हौसला

smriti-irani-appeal-to-vote-for-rajesh-nagar-tigaon-against-lalit-nagar

फरीदाबाद, 10 अक्टूबर: जब नेता मजबूत होता है तो उसे हराने के लिए बड़े बड़े सूरमाओं को मैदान में उतरना ही पड़ता है, कांग्रेस प्रत्याशी ललित नागर तिगांव में इतने मजबूत नेता हैं कि उन्हें हराने के लिए केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी को खुद मैदान में उतरना पड़ा, आज तिगांव विधानसभा में यही सन्देश गया है जिसकी वजह से ललित नागर का हौसला पहले से भी मजबूत हुआ है, ललित नागर ने कहा कि अब अगर मोदी भी भाजपा प्रत्याशी के समर्थन में वोट मांगने आ जायँ तो भी तिगांव की जनता का मन नहीं बदलेगा क्योंकि तिगांव की जनता मुझे जितना स्नेह करती है उसे सिर्फ मैं जानता हूँ, तिगांव की जनता मुझे फिर सेवा का मौका देगी और मैं जनता की आवाज उठाने के लिए अपने प्राणों की बाजी लगा दूंगा। 

आपको बता दें कि भाजपा ने तिगांव विधानसभा में हारे हुए पूर्व उम्मीदवार राजेश नागर को फिर से उम्मीदवार बनाया है, पहले केंद्रीय मंत्री कृष्णपाल गुर्जर के बेटे देवेंद्र चौधरी को टिकट की उम्मीद थी तो लग रहा था कि यह सीट भाजपा के कब्जे में आ जाएगी लेकिन वंशवाद की नीतियों की वजह से देवेंद्र चौधरी को टिकट नहीं मिला, ललित नागर के समर्थकों ने उसी दिन से लड्डू बांटना शुरू कर दिया था जिस दिन राजेश नागर को टिकट मिली थी क्योंकि ललित नागर के समर्थकों का कहना है कि 24 अक्टूबर को जब नतीजे आएंगे तो 10 बजे से पहले ललित नागर की जीत तय हो जाएगी। 

बड़े बड़े भाजपा नेता भी जानते हैं कि ललित नागर जैसे दिग्गज नेता को हराना आसान नहीं है इसलिए राजेश नागर के लिए वोट मांगने अब बड़े बड़े केंद्रीय मंत्री भी आने लगे हैं। आज केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने तिगांव अनाज मंडी में राजेश नागर के लिए वोट मांगे, 14 अक्टूबर को प्रधानमंत्री मोदी बल्लभगढ़ में रैली करके भाजपा प्रत्याशियों के लिए वोट मांगेंगे। 

क्यों मजबूत दिखाई दे रहे हैं ललित नागर

पिछले पांच साल प्रदेश में भले ही कांग्रेस की सरकार नहीं थी लेकिन ललित नागर ने भाजपा सरकार के खिलाफ मजबूत विपक्ष की भूमिका निभाई, उनके प्रभाव को समझते हुए भाजपा ने तिगांव विधानसभा क्षेत्र में करोड़ों रुपये का विकास करवाया ताकि उनसे सीट छीनी जा सके। केंद्रीय राज्य मंत्री कृष्णपाल गुर्जर अपने बेटे देवेंद्र चौधरी को चुनाव लड़वाना चाहते थे इसलिए उन्होंने भी करोड़ों रुपये के विकास कार्य करवाए ताकि ललित नागर का असर कम हो सके लेकिन ललित नागर का असर कम नहीं हो सका। तिगांव विधानसभा की जनता भी इस बात को समझती है कि ललित नागर की वजह से ही भाजपा ने विकास कार्य शुरू करवाए हैं. अब देखना है कि 21 अक्टूबर को तिगांव की जनता उन्हें घर बिठाती है या दोबारा मौका देती है। 

तुम मुझे वोट दो, मैं तुम्हारे लिए आवाज उठाता रहूंगा: ललित नागर

congress-candidate-appeal-to-vote-for-congress-in-2019-election

फरीदाबाद, 09 अक्तूबर।  तिगांव विधानसभा क्षेत्र के कांग्रेस प्रत्याशी ललित नागर ने आज चौरासीपाल के सबसे बड़े गांव तिगांव में पदयात्रा निकालकर गली-गली, घर-घर व दुकान-दुकान पर दस्तक देकर पिछले पांच साल में तिगांव क्षेत्र की बदहाली की विधानसभा में उठाई आवाज का वोट के रुप में मेहताना मांगा। 

ललित नागर जैसे ही तिगांव पहुंचे तो उनके समर्थकों ने उन्हें पलक पावड़े बिठा लिया और जैसे ही उन्होंने पदयात्रा की शुरुआत की तो उनके पीछे-पीछे लोगों का जमावड़ा बनता चला गया, जिसने थोड़ी देर में ही एक विशाल जनसैलाब का रुप ले लिया। ललित नागर जहां-जहां से भी गुरजे, वहां-वहां उपस्थित लोगों ने उनके सिर पर हाथ रख अपने भरपूर समर्थन का आश्वासन दिया वहीं उन्हें बाजार में व्यापारियों का भी भरपूर समर्थन मिला। व्यापारियों में नोटबंदी व जीएसटी का दर्द भी साफ झलकता हुआ दिखा, जिसको लेकर उन्होंने एकमत हो कांग्रेस प्रत्याशी के पक्ष में अपने समर्थन का ऐलान किया। 

तिगांव बाजार में लोगों को संबोधित करते हुए कांग्रेस प्रत्याशी ललित नागर ने कहा कि चौरासीपाल व क्षेत्र की छत्तीस बिरादरी ने 2014 के विधानसभा चुनाव में मुझे जिस विश्वास व भरोसे के साथ विधायक बनाकर हरियाणा विधानसभा में भेजा था, मैंने भी उस विश्वास पर खरा उतरने का काम किया है। पूरे पांच साल मैं कभी घर में नहीं बैठा बल्कि क्षेत्र की जनता के हर सुख-दुख को अपना सुख-दुख बनाकर एक सच्चे जनसेवक की तरह कार्य किया और जब भी जरुरत हुई, इस तिगांव क्षेत्र के साथ भाजपा सरकार द्वारा बरते गए सौतेले व्यवहार के सडक़ से लेकर विधानसभा तक भरपूर जोश के साथ आवाज उठाने का काम किया। हरियाणा विधानसभा में हमेशा तिगांव की गूंज रही और इसी का परिणाम रहा कि मुख्यमंत्री को इस विधानसभा क्षेत्र में भी थोड़े बहुत कार्य करने को मजबूर होना पड़ा। 

इस मौके पर लोगों से मिले असीम प्यार व स्नेह से गद्गद् कांग्रेस प्रत्याशी ललित नागर के आंखें नम हो गई। उन्होंने कहा कि चौरासीपाल का कर्ज वह कभी उतार नहीं सकते क्योंकि जब कभी भी मुझे संघर्ष के दिनों में जरुरत पड़ी है तो चौरासीपाल ने बढ़चढक़र मेरा साथ दिया है और आज जब चुनाव सिर पर है तो फिर से चौरासीपाल ने एकमत हो मेरा साथ देकर मेरी हौंसला अफजाई करके मेरा दिल जीत लिया है, जिसका कर्ज मैं कभी जीवन में भी नहीं उतार सकता है, हां इतना विश्वास जरुर दिलाता हूं कि न्याय और अन्याय की इस लड़ाई में इस बार मतों के रुप मेें मुझे मिलने वाला आर्शीवाद खाली नहीं जाएगा और कांग्रेस की सरकार बनने पर इस तिगांव विधानसभा क्षेत्र का विकास भी गुडग़ांव और नोएडा की तर्ज पर किया जाएगा।

तिगांव विधानसभा, कई गाँवों की जनता ने दिया ललित नागर को भरोसा, अबकी दिलाएंगे पहले से भी बड़ी जीत

congress-tigaon-candidate-lalit-nagar-get-massive-support-news

फरीदाबाद, 8 अक्टूबर: तिगांव विधानसभा के कद्दावर कोंग्रेसी नेता ललित नागर का फिर से भाजपा प्रत्याशी राजेश नागर से मुकाबला है, 2014 में ललित नागर ने राजेश नागर को हराकर विधायक बने थे, इस बार भी उनके सामने राजेश नागर हैं। दोनों प्रत्याशी अपनी अपनी ताकत लगा रहे हैं। 

कांग्रेस प्रत्याशी ललित नागर आज अपने चुनाव प्रचार अभियान के तहत गांव छोटी खेड़ी, खेड़ी, ताजूपुर, बदरपुर, जसाना, सिडौला, कबूलपुर गुजरान, चीरसी, मंझावली सहित कई गांवों में जनसम्पर्क किया और सभाओं को संबोधित किया।

इस दौरान गांवों में पहुंचने पर ललित नागर का ग्रामीणों ने फूल मालाओं से जोरदार स्वागत किया और उन्हें सम्मानरुपी पगड़ी बांधकर उन्हें पुन: विधानसभा में भेजने का भरोसा दिलाया। सभाओं में उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए कांग्रेस प्रत्याशी ललित नागर ने कांग्रेस सरकार की उपलब्धियां का जिक्र करते हुए कहा कि नहरपार ग्रेटर फरीदाबाद बसाना भी कांग्रेस सरकार की एक बड़ी देन रही है क्योंकि ग्रेटर फरीदाबाद बसने से पहले नहरपार के गांवों की जमीन के भाव दो से 5 लाख रुपये प्रति एकड़ होते थे परंतु ग्रेटर फरीदाबाद बसने के बाद यहां जमीनों के दाम एक करोड़ तक पहुंच गए परंतु आज भाजपा सरकार की दमनकारी नीतियों के चलते जमीनों के रेट भी औधे मुुंह गिरे हुए है।

नागर ने भावुक होते हुए कहा कि 2009 का चुनाव हारने के बाद प्रदेश में हुड्डा सरकार बनने पर उन्होंने हर गांव में रोजगार व ग्राम पंचायतों को ग्रांट देने का काम किया। इतना ही नहीं बल्कि 19 गांवों के किसानों की जमीन के मुआवजे को 16 लाख से बढ़ाकर 42 लाख करवाया और 2014 में चुनाव जीतने के बाद विपक्ष में रहने के बावजूद क्षेत्र की जनता के हक-हकूक की आवाज को प्राथमिकता से उठाया और हर गलत कार्य पर अपना विरोध दर्ज करवाया।  उन्होंने लोगों से आह्वान किया कि आज समय आ गया है, जब आपको तराजू के दोनों पलडों में मेरे व भाजपा उम्मीदवार के कार्याे को तौले और जो विधानसभा में आपके हक-हकूक की आवजा को प्राथमिकता से उठा सके, उसे अपना जनप्रतिनिधि चुने।

ललित नागर ने भाजपा सरकार पर बड़ा हमला करते हुए कहा कि जिस सरकार के 5 वर्ष के कार्यकाल में किसान, मजदूर, व्यापारी व कर्मचारी वर्ग दुखी हो जाए, उस सरकार को सत्ता से बेदखल होने से कोई नहीं बचा सकता। उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव राष्ट्रवाद का चुनाव था, जबकि विधानसभा चुनाव में अलग मुद्दे होते है, हरियाणा में भ्रष्टाचार, किसानों को फसलों का उचित दाम न मिलना व बिगड़ती कानून व्यवस्था सरकार की ऐसी जनविरोधी नीतियां है, जिसने हर वर्ग को झकझोंर कर रख दिया है और प्रदेश की जनता अब बदलाव के मूड में है और फरीदाबाद से बदलाव की ऐसी लहर चलेगी, जो भाजपा को सत्ता से उखाडक़र ही थमेगी।

तिगांव विधानसभा में ललित नागर को चुनाव जितवाने के लिए मायावती ने लिया बडा़ फैसला, पढ़ें

lalit-nagar-tigao-congress-candidate-and-mayawati-setting-win-election

फरीदाबाद, 8 अक्टूबर: बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती भी चाहती हैं कि तिगांव विधानसभा सीट से इस बार फिर से कांग्रेस विधायक ललित नागर की जीत हो इसलिए उन्होंने मायावती ने तिगांव विधानसभा सीट पर अपने प्रत्याशी को बिठा दिया है, तिगांव से बहुजन समाज पार्टी की तरफ से विशान चंद ने नामांकन दाखिल किया था, कल उन्होंने अपना नामांकन वापस ले लिया।

ऐसा कहा जा रहा है कि मायावती के कहने से विशान चंद ने अपना नाम वापस लिया है, मायावती जानती हैं कि उनका उम्मीदवार कांग्रेस की वोट काट सकता है, इसलिए उन्होंने अपने उम्मीदवार को बिठा दिया ताकि उनका वोटबैंक कांग्रेस की तरफ शिफ्ट हो सके और ललित नगर के आसानी से जीत हो सके। 

बहुजन समाज पार्टी के प्रत्याशी का बैठना ललित नागर के लिए रामवाण का काम करेगा, अब भाजपा और कांग्रेस की सीधी टक्कर होगी, बसपा समर्थकों के वोट कांग्रेस को जाएंगे और ललित नागर को शायद कामयाबी मिल जाए।  

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि ललित नागर ने पिछले पांच वर्षों में सभी गाँवों में घर घर घूमकर अपनी एक अलग छवि बनायी है. विधानसभा में भी वह सरकार के खिलाफ खुलकर आवाज उठाते हैं और अच्छे विपक्ष की भूमिका निभाते हैं, तिगांव विधानसभा की जनता भी इस बात को जानती है और समझती भी है। जनता यह भी समझने लगी है कि लोकतंत्र की मजबूती के लिए ताकतवर विपक्ष का होना बहुत जरूरी है। इसीलिए सरकार किसी की बने, ललित नागर जैसे नेताओं की कदर हर कोई करता है। 

क्या ललित नागर बढ़ा पाएंगे जीत का मार्जिन या पिछली बार की तरह होगी कांटे की टक्कर?

lalit-nagar-congress-vs-rajesh-nagar-bjp-in-tigaon

फरीदाबाद: 2014 विधानसभा चुनाव में मोदी लहर के बावजूद तिगांव विधानसभा सीट पर दर्ज करने वाले ललित नागर का मुकाबला इस बार फिर से पूर्व उम्मीदवार राजेश नागर से है.

2014 में ललित नागर ने अपने दम से तिगांव विधानसभा सीट पर जीत दर्ज की थी लेकिन अब की बार वह और बढ़िया प्रदर्शन कर सकते हैं क्योंकि पिछले 5 वर्षों में उन्होंने गांव गांव गली गली और घर घर घूम कर जनसंपर्क किया है और भाजपा सरकार के खिलाफ वह निर्भीकता, निडरता और कुशलता के साथ आवाज उठाते रहे हैं.

लोकतंत्र की मजबूती के लिए मजबूत विपक्ष का होना बहुत जरूरी है और ललित नागर ने पिछले 5 वर्षों में मजबूत विपक्ष की भूमिका बहुत ही अच्छे ढंग से निभाई है इसलिए तिगांव विधानसभा में उन्हें बच्चा-बच्चा जानता है, पूरा हरियाणा उन्हें एक कद्दावर विधायक के रूप में जानता है इसलिए इस बार के चुनाव में पूरे हरियाणा की नजरें ललित नागर के प्रदर्शन पर टिकी हैं. हर कोई यह देखना चाहता है कि ललित नागर जीत का मार्जिन बढ़ाएंगे या पिछली बार की तरह कांटे की टक्कर होगी.

भाजपा ने अब की बार 75 पार का नारा दिया है लेकिन यह नारा सिर्फ हवा हवाई लग रहा है क्योंकि जमीनी स्तर पर एक तरफा लहर नहीं दिखाई दे रही है, अब देखते हैं फरीदाबाद में कांग्रेस पार्टी कितनी सीटें निकाल पाती है, अगर फरीदाबाद में कांग्रेस ने 4 सीटें भी निकाल ली तो हरियाणा में कांग्रेस सरकार बनना तय है और ललित नागर को बड़ा मंत्रालय मिलने से भी कोई नहीं रोक सकता.

राजेश नागर ने BJP से भरा नामांकन, मंत्री कृष्णपाल गुर्जर और विपुल गोयल ने दी जीत की शुभकमनाएं

rajesh-nagar-file-nomination-tigaon-bjp-candidate-krishanpal-vipul-goel

फरीदाबाद, 3 अक्टूबर: कांग्रेस प्रत्याशी राजेश नागर ने आज तिगांव विधानसभा सीट से भाजपा प्रत्याशी के रूप में नामांकन भरा, इस अवसर पर मंत्री कृष्णपाल गुर्जर, पूर्व मंत्री विपुल गोयल, पूर्व विधायक शारदा राठौर, भाजपा जिलाध्यक्ष सहित अनेकों  भाजपा नेता मौजूद थे.

नमांकन के बाद मंत्री कृष्णपाल गुर्जर, पूर्व मंत्री विपुल गोयल और अन्य भाजपा नेताओं ने विक्ट्री साइन दिखाया।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि तिगांव विधानसभा सीट से देवेंद्र चौधरी चुनाव लड़ना चाहते थे लेकिन पार्टी की नीतियों की वजह से उन्हें टिकट नहीं मिली, पूर्व प्रत्याशी राजेश नागर पर भाजपा ने भरोसा जताया है.

आपको बता दें कि तिगांव विधानसभा में राजेश नागर वर्सेस ललित नागर की जंग हो गयी है. 2014 में ललित नागर की जीत हुयी थी, उन्हें कांग्रेस का कद्दावर नेता माना जाता है इसलिए राजेश नागर के लिए सीट निकालना आसान भी नहीं है. यह भी नहीं भूलना चाहिए कि ललित नागर ने मोदी लहर के बावजूद भी जीत दर्ज की थी इसलिए अबकी बार वो भी जीतने के लिए पूरी ताकत लगाएंगे।

Big Breaking, तिगांव विधानसभा से राजेश नागर को मिली भाजपा टिकट

rajesh-nagar-get-bjp-ticket-from-tigaon-vidhansabha-news-hindi

फरीदाबाद, 29 सितम्बर: इन्तजार की घड़ियाँ ख़त्म हो चुकी हैं, भाजपा ने हरियाणा के भाजपा उम्मीदवारों की लिस्ट जारी कर दी है. आज पार्लियामेंट बोर्ड की मीटिंग के बाद उम्मीदवारों के नाम पर अंतिम मुहर लगी, बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा, हरियाणा के चुनाव प्रभारी नरेंद्र सिंह तोमर, मुख्यमंत्री मनोहर लाल, हरियाणा प्रभारी अनिल जैन, प्रदेश अध्यक्ष शुभाष बराला सहित अन्य भाजपा नेता मौजूद थे.

हरियाणा के 78  उम्मीदवारों के नाम फाइनल हो चुके हैं,  तिगांव  विधानसभा से राजेश नागर को टिकट मिली है-  देखिये लिस्ट -
haryana-bjp-candidate-list-1

haryana-bjp-candidate-list-2

haryana-bjp-candidate-list-3


LIST देखने के लिए देखिये लाइव प्रेस कॉन्फ्रेंस



मंत्री कृष्णपाल गुर्जर को भाजपा ऑफिस बुलाया गया, शायद देवेंद्र के लिए गुड न्यूज़

devender-chaudhary-may-get-tigaon-vidhansabha-ticket-news

फरीदाबाद, 29 सितम्बर: भाजपा आज हरियाणा के करीब 50 उम्मीदवारों की लिस्ट जारी कर सकती है, कुछ देर पहले केंद्रीय राज्य मंत्री कृष्णपाल गुर्जर को भाजपा ऑफिस बुलाया गया है जिससे ये कयास लगाए जा रहे हैं कि देवेंद्र चौधरी को तिगांव विधानसभा की टिकट मिल सकती है.

इससे पहले भाजपा ने साफ़ किया था कि किसी मंत्री, सांसद या विधायक के परिजनों को टिकट नहीं दी जाएगी जिसके बाद देवेंद्र चौधरी के समर्थकों ने तर्क दिया था कि वह पिछले 10 - 12 वर्षों से भाजपा के लिए समर्पित होकर कार्य कर रहे हैं इसलिए एक भाजपा कार्यकर्ता होने के नाते उन्हें टिकट दी जाय.

अब ऐसा लग रहा है कि भाजपा आलाकमान को ये तर्क पसंद आया है और देवेंद्र की टिकट फाइनल हो गयी है लेकिन अभी इसकी पुष्टि नहीं हुई है. एक घंटे के अंदर भाजपा की लिस्ट जारी हो सकती है.

लोग दुखी होते हैं, नाराज होते हैं लेकिन देवेन्द्र चौधरी ने जनसंपर्क करके मांगे BJP के लिए वोट

devender-chaudahry-tigaon-vidhansabha-jansampark-rajiv-nagar-ward-26

फरीदाबाद, 26 सितम्बर: देवेन्द्र चौधरी ने तिगांव विधानसभा सीट जीतने के लिए पिछले पांच वर्षों से मेहनत कर रहे हैं लेकिन कल पार्टी ने साफ़ साफ कह दिया कि सांसदों, मंत्रियों और विधायकों के परिजनों को टिकट नहीं मिलेगी.

ऐसा समाचार सुनने पर लोग दुखी होते हैं और कुछ लोग नाराज होकर अनाप शनाप बयानबाजी शुरू कर देते हैं, कई लोग अपने सभी पदों से इस्तीफ़ा दे देते हैं और कुछ लोग तो दूसरी पार्टी ज्वाइन कर लेते हैं लेकिन कृष्णपाल गुर्जर के पुत्र और वार्ड-27 के पार्षद एवं वरिष्ठ डिप्टी मेयर देवेन्द्र चौधरी ने आज भी अपनी पार्टी का प्रचार करने के लिए जनसंपर्क किया और जनता से भाजपा को वोट देने की अपील की.

देवेन्द्र चौधरी ने आज राजीव नगर, वार्ड-26 में जनसंपर्क में पद यात्रा करते हुए मनोहर सरकार के 5 साल में हुए विकास कार्यों, जन कल्याणकारी योजनाओं व भाजपा की नीतियों का प्रचार किया। 

देवेन्द्र चौधरी ने कहा कि हम सब विधानसभा चुनाव 2019 में मिलकर कदम बढ़ाएंगे। अबकी बार 75 से ऊपर कमल खिलाएंगे। हरियाणा के लाल मनोहर के नेतृत्व में फिर एक बार ईमानदार सरकार बनाएंगे।

देवेंदर के नाम पर चर्चा जारी, गुर्जर के बेटे के तौर पर नहीं, पार्षद होने के नाते दावेदारी मजबूत

tigaon-vidhansabha-seats-devender-chaudhary-ticket-not-final

फरीदाबाद: कल भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सुभाष बराला ने साफ़ साफ़ कह दिया कि हरियाणा विधानसभा चुनाव में किसी भी मंत्री, सांसद और विधायक के परिजन को टिकट नहीं दी जाएगी. यह बयान आने के बाद ऐसा कहा जाने लगा कि अब तिगांव विधानसभा से देवेन्द्र चौधरी को टिकट नहीं मिलेगी क्योंकि वह केंद्रीय मंत्री एवं सांसद कृष्णपाल गुर्जर के बेटे हैं.

ऐसा सुनने में आ रहा है कि देवेन्द्र चौधरी के नाम पर चर्चा समाप्त नहीं हुई है बल्कि अभी भी जारी है. देवेन्द्र चौधरी अपने दम पर टिकट पर दावेदारी जता रहे हैं, अगर उनपर से कृष्णपाल गुर्जर के बेटे होने का तमगा हटा दिया जाए तो वह नगर निगम के चुने हुए पार्षद हैं, वरिष्ठ डिप्टी मेयर हैं और संगठन में भी जिला महामंत्री हैं.

कृष्णपाल गुर्जर भी वरिष्ठ नेताओं के सामने यही तर्क रख रहे हैं. उनका कहना है कि देवेन्द्र को अचानक तो पार्टी में शामिल नहीं किया गया है, वह कई वर्षों से पार्टी की सेवा कर रहा है, नगर निगम में जनता का चुना हुआ प्रतिनिधि है, वरिष्ठ डिप्टी मेयर है. इस नाते उसे टिकट मिलनी चाहिए.

आपको बता दें कि देवेन्द्र चौधरी तिगांव विधानसभा से चुनाव लड़ने की पूरी तैयारी कर चुके हैं लेकिन वंशवाद उनके रास्ते की रुकावट बन रहा है लेकिन उन्होंने कई वर्षों तक पार्टी की सेवा करके खुद को अपने पिता की परछाई से दूर रखने का प्रयास किया है लेकिन अब फैसला भाजपा आलाकमान पर है. 29 सितम्बर को भाजपा की फाइनल लिस्ट आ जाएगी.

देवेन्द्र चौधरी के अलावा राजेश नागर भी तिगांव विधानसभा सीट से भाजपा टिकट के मजबूत दावेदार हैं, सरपंच सुधीर नागर का नाम भी पैनल में दिया गया है. देवेन्द्र चौधरी को टिकट ना मिलने की स्थिति में राजेश नागर को टिकट दिए जाने की मांग जोर पकड़ रही है.