Palwal Assembly

Showing posts with label Politics. Show all posts

11 लाख किसानों के खातों में अगले हप्ते आ जाएगी प्रधानमंत्री किसान योजना की पहली क़िस्त

modi-sarkar-pradhanmantri-kisan-yojna-first-kist-in-february-2019-news

फरीदाबाद: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बजट-2019 में देश के गरीब किसानों के खाते में प्रति वर्ष 6000 रुपये जमा करवाने का ऐलान किया था जिसकी पहली क़िस्त अगले हप्ते आने वाली है. 2000 की तीन किस्तों में 6000 रुपये भेजे जाएंगे.

हरियाणा के 11 लाख किसानों के खाते में फ़रवरी के अंतिम सप्ताह में पहली क़िस्त आ जाएगी, यह योजना बहुत तेजी से इम्प्लीमेंट हो रही है. किसानों के बैंक अकाउंट और आधार कार्ड सरल केन्द्रों में जमा कराए जा रहे हैं ताकि जल्द से जल्द उन्हें इस योजना का लाभ मिल सके.

इस बात की जानकारी हरियाणा के मुख्य सचिव डीएस ढेसी ने 147वीं स्टेट लेवल बैंकर्स कमेटी की बैठक में दी, सभी जिले के DC को इस योजना को सभी किसानों तक पहुंचाने के आदेश दिए गए हैं.

IMT कॉलेज और ILR कॉलेज ने पुलवामा हमले के खिलाफ निकाला पैदल मार्च, पाकिस्तान के खिलाफ आक्रोश

faridabad-imt-college-ilr-college-paidal-march-against-pakistan-pulwama-attack

फरीदाबाद: पुलवामा हमले के खिलाफ पूरे देश में पाकिस्तान और उनके आतंकवादियों के खिलाफ आक्रोश है. फरीदाबाद में भी लोग बहुत दुखी और नाराज हैं और तरह तरह से अपनी नाराजगी प्रकट कर रहे हैं.

आज IMT College FARIDABAD ओर ILR LAW COLLEGE FARIDABAD ने मिकलर इस हमले के खिलाफ पैदल मार्च निकाला. मार्च में शामिल लोग IMT कॉलेज से पैदल चलकर सेक्टर 12 टाउन पार्क पहुँचे उसके बाद सेक्टर 12 कोर्ट परिसर में पाकिस्तान का पुतला फूंका गया.

इस मौके पर कॉलेज के डायरेक्टर डॉ रवि हांडा, लॉ कॉलेज के प्रिंसिपल डॉ ज़फर हुसैन और दोनों कॉलेजों के सैकड़ों छात्र मौजूद रहे. इस दौरान लोगों ने पाकिस्तान मुर्दाबाद और भरतीय सेना जिंदाबाद के नारे लगाए.

फरीदाबाद के लोगों ने दी पुलवामा हमले के शहीदों को श्रद्धांजलि, सेक्टर-31 में निकाला कैंडल मार्च

faridabad-sector-31-candle-march-against-pulwama-attack-kashmir

फरीदाबाद: पुलवामा में हुए आतंकी हमले में शहीद जवानों के लिए गौरव चौहान ने फरीदाबाद के लोगों के साथ मिलकर सेक्टर 31 टाउन पार्क में एक कैंडल मार्च निकाला जिसमें सभी युवा व बुजुर्गों ने बढ़ चढ़कर भाग लिया.

इस कैंडल मार्च के जरिए सभी लोगों ने शहीद जवानों के लिए श्रद्धांजलि अर्पित की अथवा उनके परिवार वालों को यह दिलासा दिया कि वे इस दुख की घड़ी में अकेले नहीं है और पूरा देश उनके साथ कंधे से कंधा मिला कर खड़ा है, इस मौके पर मौजूद सभी लोगों ने शहीद जवानों की याद में कैंडल जलाई अथवा मौन धारण किया।

गौरव चौहान ने बताया की 42 जवानों  का बलिदान व्यर्थ नहीं जाने देंगे अथवा वह सभी जवान हमारे दिल में हमेशा जिंदा रहेंगे | वहां का पूरा माहौल शहीद जवान अमर रहे !अमर रहे !और" हाउ इज द जोश "जैसे नारों से गूंज उठा वहां पर मुख्य रूप से योगेंद्र गर्ग प्रिंस शर्मा कमलेश विजय कौशिक सचिन जोगिया ईश्वर जाट का हिमांशु शर्मा व अन्य साथी मौजूद थे।

पाकिस्तान का पुतला फूंककर कांग्रेसी नेता सुमित गौड़ ने दिखाया पुलवामा हमले के खिलाफ आक्रोश

congress-leader-sumit-gaur-burnt-pakistan-putla-against-pulwama-attack

फरीदाबाद: फरीदाबाद। जम्मू कश्मीर के पुलवामा में आतंकवादी हमले में शहीद हुए 44 जवानों की शहादत को लेकर फरीदाबाद के कांग्रेसी नेताओं ने जबरदस्त आक्रोश दिखाया.

हरियाणा प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सचिव सुमित गौड़ के नेतृत्व में आज कांग्रेसियों ने सेक्टर-12 स्थित कांग्रेस भवन के समक्ष पाकिस्तान का पुतला फूंकते हुए अपना आक्रोश जाहिर किया। इस दौरान कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने ‘पाकिस्तान मुर्दाबाद’ के गगनचुंबी नारे लगाकर अपना गुस्सा प्रकट किया और केंद्र सरकार से इस कृत्य के लिए पाकिस्तान को मुंह तोड़ जवाब देने की मांग की। 

कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने हमले में शहीद हुए जवानों की आत्मा की शांति के लिए मौन रखकर परमात्मा से उनके परिजनों को यह दुख सहने के लिए शक्ति प्रदान करने की प्रार्थना की। 

इस मौके पर सी.एम. थापर, महिला कांग्रेसी नेत्री कमला मलिक, देव पंडित, दिनेश पंडित, जिला उपाध्यक्ष नरेश गोदारा, मनीष, गिर्राज, भीम सिंह, सुमित वत्स, ओमपाल, निक्की, विजय, वरुण बंसल, दलित नेता जितेंद्र चंदेलिया सहित अनेकों कांग्रेसी कार्यकर्ता उपस्थित थे। कांग्रेस कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए सुमित गौड़ ने कहा कि यह आतंकी हमला भारत की आत्मा पर हमला है और इसने हर देशवासी को झकझोंर कर रख दिया है। 

उन्होंने केंद्र सरकार से कहा कि इस विकट स्थिति में कांग्रेस पार्टी सहित सारा विपक्ष सरकार के साथ है और सरकार को इस मामले में ठोस कदम उठाने चाहिए। गौड़ ने कहा कि भारतीय सेना को जो सरकार ने फ्री हैंड करने का आदेश जारी किया है, वह आगे भी जारी रखा जाना चाहिए ताकि इस प्रकार के आतंकी हमले की योजना बनाने वाले लोगों को समय पर मुंहतोड़ जवाब दिया जा सके। सुमित गौड़ ने कहा कि पिछले कुछ वर्षाे के दौरान देश पर आतंकी हमले निरंतर बढ़े है और इन हमलों में हमारे निर्दाेष जवानों ने शहादतें भी दी है, लेकिन अब बहुत हो चुका है अब सरकार को ऐसे कड़े निर्णय लेकर पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान को उसी की भाषा में जवाब देना होगा ताकि वह इस प्रकार के हमले करने का भविष्य में दुस्साहस न कर सके।

मंत्री विपुल गोयल ने पुलवामा हमले मे शहीदों को दी श्रद्धांजलि, शहीदों को बताया राष्ट्र की धरोहर

minister-vipul-goel-tribute-pulwama-attack-martyr-in-sector-12-town-park

फरीदाबाद, 15 फरवरी। हरियाणा के उद्योग एवं वाणिज्य मंत्री विपुल गोयल ने वीरवार को जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर अवंतीपोर के पास गोरीपोरा में हुए आतंकी हमले में शहीद हुए बहादुर जवानों को श्रद्धा सुमन अर्पित कर दो मिनट का मौन धारण कर भावभीनी श्रद्धांजलि दी। 

उद्योग एवं वाणिज्य मंत्री विपुल गोयल की अध्यक्षता में स्थानीय सेक्टर-12 स्थित टाउन पार्क में स्थित शहीद स्मारक पर शहीद जवानों को श्रद्धांजलि देने के लिए श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया। वीरवार को जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर हुए हमले में सीआपीएफ के 44 जवान शहीद हो गए। उन्होंने कहा कि गोरीपोरा में शहीद हुए जवानों की शहादत पर समूचे राष्ट्र को गर्व है।

उन्होंने कहा कि दु:ख की इस घड़ी में पूरा देश शहीद जवानों के परिवारों के साथ खड़ा है। उन्होंने कहा कि शहीद राष्ट्र की धरोहर होते हैं। इसलिए सदैव शहीदों को याद रखना चाहिए। जो राष्ट्र एवं समाज शहीदों की शहादत को भूल जाता है वह कभी आगे नहीं बढ सकता। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी कहा है कि बहादुर जवानों की शहादत बेकार नहीं जाएगी। पाकिस्तान के द्वारा प्रायोजित आतंकी हमले की घोर निंदा करते हुए उन्होंने कहा कि इस हमले का मुंहतोड़ जवाब दिया जाएगा। शहीदों की शहादत का बदला जरूर लिया जाएगा। 

उद्योग मंत्री ने कहा कि टाउन पार्क में शहीद स्मारक पर एक पट का निर्माण करवाया जाएगा। इस पट पर जिला के सभी शहीद जवानों एवं स्वतंत्रता सेनानियों के नाम लिखे जाएंगे। उन्होंने बताया कि शहीद स्मारक के नजदीक अमर जवान ज्योति का भी निर्माण किया जाएगा, ताकि शहीदों की यादगार सदैव बनी रहे। 

जम्मू कशमीर के पुलवामा क्षेत्र में शहीद हुए सीआरपीएफ के बहादुर जवानों में जम्मू कशमीर के नसीर अहमद, पंजाब के जयमल सिंह, सुखजिंदर सिंह, मनेंद्र अत्री, कुलविंदर सिंह, हिमाचल प्रदेश के तिलक राज, राजस्थान के रोहिताश लांबा, झारखंड के विजय सोरंग, केरल के वसंथा कुमार, तमिलनाडू के सुभ्रामन्यन जी., उडीसा के मनोज कुमार, पी.के. शाहू, कर्नाटक के गुरू एच., राजस्थान के नारायण लाल गुर्जर, हेमराज मीणा, भागीरथी सिंह, जीतराम, उत्तर प्रदेश के महेश कुमार, प्रदीप कुमार, रमेश यादव, कौशल कुमार, प्रदीप सिंह, श्याम बाबू, कुमार आजाद, अवधेश कुमार यादव, पंकज कुमार त्रिपाठी, अमित कुमार, विजय कुमार मौर्य, राम वकील, महाराष्टï्र के संजय राजपूत, राठौर नितिन शिवाजी, पश्चिम बंगाल के बबलू संतरा, मध्यप्रदेश के अश्वनि कुमार कौचि, उत्तराखंड के विरेंद्र सिंह, मोहनलाल, बिहार के रतन कुमार ठाकुर, संजय कुमार सिंहा, असम के मानेश्वर बसुमात्रि सहित लगभग 44 शहीद शामिल हैं।

श्रद्धांजलि सभा को भारतीय जनता पार्टी के जिलाध्यक्ष गोपाल शर्मा, डी.सी. चौधरी, आरएसएस के सहसंपर्क गंगा शरण ने भी उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि आज पूरा देश के लोग नम आंखों के साथ शहीद हुए देश के जवानों को श्रद्धांजलि दे रहे हैं। पाकिस्तान द्वारा सुनियोजित तरीके से आतंकवादी हमले में शहीद हुए जवानों की शहादत हमेशा याद रखी जाएगी। उनकी शहादत सदैव याद रहेगी। उनकी शहादत व्यर्थ नहीं जाएगी।

श्रद्धांजलि सभा में गंगाशंकर मिश्र, ऋषि अग्रवाल, सोम मलहोत्रा, वासुदेव अरोड़ा, पार्षद छत्रपाल, पूर्व पार्षद धर्मपाल, प्रवीण चौधरी, मनीष राघव, संजय बत्रा, कमल सौरोत, डा. कुलदीप जयसिंह, प्रकाश वीर नागर, एच.के. बत्रा, सुरेंद्र शर्मा, वाई.पी. भल्ला, प्रोफेसर आलोक देव, शमशेर तेवतिया, कमल सौरोत, वी.के. शास्त्री, दिनेश सदाना सहित जिला सैनिक बोर्ड के सचिव आर.के. शर्मा व अनेक गणमान्य व्यक्ति उपस्थित रहे।

मतदाता सूची का हुआ अंतिम प्रकाशन, अन्य त्रुटियों को दुरुस्त करने के दिए गए आदेश

faridabad-voter-list-final-printing-done-meeting-jitender-kumar-adc

फरीदाबाद, 15 फरवरी। अतिरिक्त उपायुक्त जितेन्द्र कुमार की अध्यक्षता में मंगलवार को लघु सचिवालय परिसर में आगामी लोकसभा चुनाव के मद्देनजर एक बैठक आयोजित की गई। बैठक में मतदाता सूचियों एवं मतदान केन्द्रों सहित विभिन्न विषयों को लेकर समीक्षा की गई। 

अतिरिक्त उपायुक्त ने बैठक में उपस्थित सभी विभागों के अधिकारियों एवं राजनैतिक दलो के प्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए कहा कि भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार मतदाता सूचियों का अंतिम प्रकाशन कर दिया गया है। यदि किसी भी मतदाता सूची में कोई त्रुटी है, तो उसे दुरूस्त करवाया जाए। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि अपने-अपने निर्वाचन क्षेत्र में प्राप्त सभी प्रकार के फार्मों का निपटारा तुरंत प्रभाव से शीघ्र किया जाए। इसके अतिरिक्त उन्होंने निर्वाचन क्षेत्रों की सभी सूचनाएं, मतदान केन्द्र, बीएलओ, सुपरवाईजर की सूचना ईआरओ नेट पर अपडेट करना भी सूनिश्चित करने के निर्देश दिए।

अतिरिक्त उपायुक्त ने कहा कि यदि किसी दिव्यांगजन का नाम मतदाता सूची में दर्ज नहीं है, तो उसका फार्म भरवाकर मतदाता सूची में नाम दर्ज करना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि सभी ईआरओ, एईआरओ यह सुनिश्चित करें कि वे अपने-अपने निर्वाचन क्षेत्र में वीआईपी मतदाताओं की पहचान कर उनके नाम मतदाता सूची में चिन्हित करें। यदि किसी का नाम मतदाता सूची में दर्ज नहीं तो उनका नाम शीघ्र मतदाता सूची में दर्ज किया जाए। 

उन्होंने जिला विकास एवं पंचायत अधिकारी को निर्देश दिए कि संबंधित खंड विकास एवं पंचायत अधिकारियों के माध्यम से सभी गांवों में दिव्यागजनों को मतदाता सूची से जोडऩे के लिए विशेष कैम्प आयोजित करें और इसकी सूचना जिला निर्वाचन कार्यालय में भिजवानी सुनिश्चित की जाए। मुख्य निर्वाचन अधिकारी द्वारा यह निर्देश दिए गए हैं, कि कोई भी ऐसा युवा जिसकी आयु 18 से 19 वर्ष के बीच है और उसका नाम मतदाता सूची में दर्ज नहीं है तो उसका नाम मतदाता सूची में अवश्य शामिल किया जाए। उन्होंने कहा कि अपने-अपने निर्वाचन क्षेत्रों में सैनिक मतदाताओं के फार्मों पर भी निर्णय लेना सुनिश्चित करें। भारत निर्वाचन आयोग की हिदायतों अनुसार ईएलसी के तहत चुनाव पाठशाला का गठन भी करें। सभी निर्वाचन पंजीयन अधिकारी आयोग द्वारा निर्धारित की गई ट्रेनिंगों में भी भाग लेना सुनिश्चि करें। 

अतिरिक्त उपायुक्त ने कहा कि भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार यदि किसी मतदान केन्द्र पर ग्रामीण क्षेत्र में 1200 व शहरी क्षेत्र में 1400 से अधिक मतदाताओं की संख्या है तो नियमानुसार नया मतदान केन्द्र बनाना सुनिश्चित करें। उन्होंने बताया कि यदि मतदान केन्द्र की ईमारत क्षतिग्रस्त है, तो उसके स्थान पर नए भवन का चयन करें। 

अतिरिक्त उपायुक्त ने बैठक में मौजूद राजनैतिक दलों के प्रतिनिधियों से कहा कि वे भी आगामी लोकसभा चुनाव के दृष्टिïगत अपना सुझाव दे सकते हैं। बैठक में एसडीएम फरीदाबाद सतबीर मान, सीटीएम श्रीमती बैलीना, डीआरओ डॉ० नरेश कुमार, जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी शशी अहलावत, चुनाव तहसीलदार विनोद कुमार सहित सभी राजनैतिक दलों के प्रतिनिधि तथा बैठक से जुड़े विभागों के अधिकारियों ने भाग लिया।

अवतार भड़ाना हुए कांग्रेस में शामिल लेकिन फरीदाबाद की जनता शायद ही देगी दलबदलू को वोट, पढ़ें

avtar-bhadana-join-congress-may-fight-loksabha-election-from-faridabad

फरीदाबाद: फरीदाबाद के पूर्व सांसद और दलबदलू नेता अवतार भड़ाना ने आज फिर से कांग्रेस पार्टी का दामन थाम लिया, उन्होंने मीरपुर भाजपा विधायक पद से इस्तीफ़ा दे दिया, वह काफी समय से भाजपा के खिलाफ बगावती सुर निकाल रहे थे, आज उन्होंने अपनी पुरानी पार्टी का फिर से दामन थाम लिया. 

आपको बता दें कि अवतार भड़ाना फरीदाबाद से कांग्रेस की टिकट पर लोकसभा चुनाव लड़ना चाहते हैं लेकिन सवाल यह है कि क्या फरीदाबाद की जनता एक महा-दलबदलू नेता को वोट देगी. जिस प्रकार से गिरगिट रंग बदलते हैं उसी तरह से अवतार भड़ाना पार्टी बदलते हैं. इससे पहले उन्होंने इनेलो का दामन थामा, उसके बाद भाजपा का थामन थामा और अब फिर से कांग्रेस पार्टी में शामिल हो गए.

अवतार भड़ाना एक बार फिर से फरीदाबाद का सांसद बनने के सपना देख रहे हैं लेकिन मौजूदा समय में फरीदाबाद की जनता समझदारी से वोट देती है, दलबदलुओं को अच्छी तरह से पहचानती है, फरीदाबाद की जनता जानती है कि अवतार भडाना सिर्फ सत्ता की राजनीति करते हैं और सत्ता में रहना चाहते हैं, इसीलिए 2014 लोकसभा चुनाव हारने के बाद उन्होंने पहले इनेलो का दामन थामा लेकिन जब इनेलो विधानसभा चुनाव हार गयी तो उन्होंने भाजपा का दामन थाम लिया और मीरपुर से चुनाव लड़कर भाजपा विधायक बन गए.

अब अवतार भडाना सोच रहे हैं कि प्रियंका वाड्रा के आने के बाद कांग्रेस थोडा मजबूत हुई है और फरीदाबाद लोकसभा सीट से कांग्रेस की जीत हो सकती है, इसीलिए उन्होंने झट से कांग्रेस का दामन थाम लिया लेकिन फरीदाबाद की समझदार जनता अगले चुनाव में समझदारी से वोट देगी, अब जनता इमानदार और पढ़े लिखे नेताओं को वोट देगी, अवतार भडाना पहले भी 10-12 वर्षों तक फरीदाबाद के सांसद रहे हैं लेकिन फरीदाबाद के इंफ्रास्ट्रक्चर का कोई विकास नहीं हुआ. जनता ने उनका विकास देखा है, किस तरह से उनके राज में सभी सड़कों पर गड्ढे रहते थे, पूरा शहर बेहाल था, अरावली का चीरहरण जोरों पर था, इसलिए 2019 में वोट देने से पहले जनता द्वारा नेताओं के पहले का हिसाब किताब जरूर देखा जाएगा. 

खैर अब फरीदाबाद की राजनीतिक लड़ाई दिलचस्प होने वाली है, 2014 में अवतार भडाना के खिलाफ सत्ता विरोधी लहर थी, जनता उनके कामों से बहुत नाराज थी इसलिए कृष्णपाल गुर्जर को करीब 5 लाख वोटों से जिताया था और अवतार भडाना की जमानत जब्त करवा दी थी, अब 2019 में देखा जाएगा कि जनता उनके पुराने काम-काज को भूल गयी या अभी भी याद है, अगर जनता की याददास्त तेज हुई तो अवतार भडाना का कांग्रेस में आना सफल नहीं होगा और उनका राजनैतिक कैरियर भी चौपट हो जाएगा. अगर जनता समझदार निकली तो अवतार भड़ाना ना घर के रहेंगे और ना घाट के रहेंगे.

पप्पीजी पहले बन जाते बडखल के विधायक तो जनता को मिलता लाभ, हमारा इनको पूरा आशीर्वाद है: गुरूजी

guruji-vaibhav-sharma-wish-prem-krishan-arya-may-be-badkhal-mla

फरीदाबाद: दिल्ली के मरघट वाले बाबा प्राचिन हनुमान मंदिर के गुरूजी पंडित वैभव शर्मा का आशीर्वाद खाली नहीं जाता यही वजह है कि दिल्ली और एनसीआर के बड़े बड़े नेता उनसे आशीर्वाद लेने मंदिर में पहुँचते हैं, कल गुरूजी अपने ख़ास शिष्य प्रेमकृष्ण आर्य उर्फ़ पप्पी के बडखल विधानसभा स्थिर आवास पर पधारे.

हमने उनसे ख़ास बीतचीत की जिसमें उनसे पप्पी के भविष्य के बारे में पूछा. गुरूजी ने कहा कि पप्पीजी इतने लोकप्रिय और ऊर्जावान नेता हैं कि इन्हें बडखल क्षेत्र का विधायक होना चाहिए था, अगर ये पहले ही विधायक बन जाते तो जनता को काफी लाभ होता लेकिन दुर्भाग्य से ऐसा नहीं हुआ. हम तो चाहते हैं कि पार्टी इन्हें टिकट दे और ये विधायक बनें ताकि जनता की सेवा कर सकें. हमारा इनको पूरा आशीर्वाद है, हम तन मन और धन से इनके साथ हैं.

नीचे वीडियो में देखिये -



आपकी जानकारी के लिए बता दें कि कल आर्ट फॉर पीस संस्था की संस्थापक डॉ मुनि आइरोनी भी पप्पी के घर पर पधारीं थीं, इसी मौके पर गुरूजी भी पधारे, पप्पी ने उपरोक्त गणमान्य व्यक्तियों के जोरदार स्वागत किया.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि प्रेमकृष्ण आर्य उर्फ़ पप्पी मिशन मोदी अगेन संस्था के हरियाणा के प्रभरी हैं. पप्पी का प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के परिवार से घनिष्ठ रिश्ता बन चुका है. अगर पप्पी को 2019 में भाजपा से टिकट मिल गयी तो उन्हें विधायक बनने से कोई नहीं रोक सकता क्योंकि बडखल की विधायक सीमा त्रिखा के खिलाफ एंटी-इनकम्बेंसी है और उनकी हार तय है. अगर भाजपा को बडखल की सीट फिर से लानी है तो उम्मीदवार बदलना पड़ेगा और लोकप्रियता के मामले में पप्पी के अलावा दूसरा उम्मीदवार नहीं है.

अमेरिका तक पहुंची युवा नेता प्रेमकृष्ण आर्य की गूँज, घर पहुँची मुनि आइरोनी का जोरदार स्वागत

prem-krishna-arya-pappi-ward-welcome-dr-munni-irone-art-for-peace-awards

फरीदाबाद: बडखल विधानसभा क्षेत्र के दिग्गज युवा नेता प्रेमकृष्ण आर्य उर्फ़ पप्पी की गूँज अमेरिका तक हो रही है, यही वजह है कि कई क्षेत्रों में फैली अंतर्राष्ट्रीय संस्था आर्ट फॉर पीस फाउंडेशन की संस्थापक अमेरिका निवासी डॉ. दामे मुनि आइरोनी कल उनके घर पहुँच गयीं. प्रेमकृष्ण आर्य ने भी विदेशी मेहमान का जोरदार स्वागत करके इस पल को ख़ास एवं यादगार बना दिया. नीचे वीडियो में देखिये -



पप्पी के घर पर पहुंची डॉ मुन्नी आइरोनी को उनके घर पर फूलों की मालाओं से लाद दिया गया. भारत में डॉ मुन्नी आइरोनी का पहली बार इतना जोरदार स्वगर किया गया था, इतना जोरदार स्वागत देखकर मुन्नी आइरोनी ख़ुशी से गदगद दिखीं.


आर्ट फॉर पीस (बरवाली हिल्स कैलिफोर्निया) फाउंडेशन की संस्थापक मुनि आइरोनी ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि उन्होंने दुनिया के कई दर्जन देशों का दौरा किया लेकिन जिस तरह की मेहमाननवाजी भारत में देखने को मिली उस तरह कहीं नहीं देखा गया। उन्होंने कहा कि फरीदाबाद में पप्पी ने उनका जिस तरह से स्वागत किया उसके लिए वो पप्पी का आभार जताती हैं और आगे वो जब कभी भारत आएंगी सबसे पहले फरीदाबाद आएंगी।


मुनि आइरोनी ने बताया कि भारत से उन्हें बचपन से ही लगाव है लेकिन उनकी संस्था पूरी दुनिया के लिए काम करती है इसलिए भारत का दौरा कम कर पाती हैं। इस मौके पर उन्होंने पप्पी की जमकर तारीफ की और कहा कि जब मैंने पहली बार पप्पी को देखा था तो उन्हें हँसते हुए देखा था और मुझे मुस्कुराता चेहरा बहुत पसंद है क्यू कि ऐसे लोग रोते हुए इंसान को भी हंसाने की क्षमता रखते हैं इसलिए मैंने पप्पी को भारत का एम्बेस्डर नियुक्त किया और आज उनके घर पहुँच मैंने देख लिया कि मैंने एक सही निर्णय लिया था।

आइरोनी ने कहा कि आने वाले समय में संस्था कई देशों की हस्तियों को आर्ट फॉर पीस ब्रेव हार्ट लाइफ टाइम अचीवमेंट अवार्ड सहित कई अन्य आवार्ड देगी और मैं प्रयास करूंगी कि पप्पी हर आवार्ड के समय हर देश में हमारे साथ रहें। मुनि आइरोनी ने कहा कि हमारी संस्था दुनिया भर में अच्छे काम करने वालों को कई तरह के आवार्ड प्रदान करती है। शिक्षा, स्वास्थ्य, पर्यावरण जैसे मुद्दों पर अच्छे काम करने वालों को कई तरह के आवार्ड दिए जाते हैं।

मुनि आइरोनी ने बताया कि हमारे भारत के एम्बेस्डर पप्पी के घर किया हुआ लजीज भोजन का स्वाद मुझे ताउम्र याद रहेगा। उन्होंने कहा कि दुनिया के अनेक देशों में मैं जाती हूँ और मेरा वश चले तो मैं पप्पी के घर का भोजन हर रोज खाऊं और अपने घर अमेरिका कभी न जाऊं। उन्होंने कहा कि इंसान को समाजसेवा के लिए कुछ खोना पड़ता है इसलिए मेरी मजबूरी है कि मैं फरीदाबाद आकर पप्पी के घर का भोजन बार-बार चाहते हुए भी नहीं खा सकती हूँ।

इस मौके पर पप्पी ने कहा कि जिस हस्ती को दुनिया देखने के लिए तरसती हैं वो अचानक मेरी कुटिया में पहुंचीं जिसके लिए मैं उनका आभार जताता हूँ और जल्दबाजी में मैं उन्हें सरसों का साग और मक्के की रोटी ही खिला सका और उन्हें मैंने एक चटनी परोसा जिसे वो दुनिया का लाजबाब व्यंजन बता रहीं हैं इसलिए लिए मैं उनका अपने फरीदाबाद ही नहीं अपने देश की तरह से दिल से शुक्रिया करता हूँ।

इस मौके पर प्रसिद्ध समाजसेवी गुरू जी पंडित वैभव शर्मा जी, मरघट वाले बाबा प्राचिन हनुमान मंदिर भी प्रेमकृष्ण आर्य के घर पर पधारे. पप्पी ने उनका भी जोरदार स्वागत किया.


इस मौके पर मिशन मोदी अगेन पीएम 2019 के राष्ट्रीय समन्वयक संजय मौर्य जी व नासा में वैज्ञानिक गिरिजा यदुवंशी और मुंबई से खास रूप से पधारे बॉलीवुड और हॉलीवुड के बड़े अभिनेता रेन मोर खास रूप से मौजूद थे। रेन मोर हॉलीवुड की कई सुपरहिट फिल्मों में अभिनय कर चुके हैं लेकिन फरीदाबाद को चुपचाप पहुंचे थे इसलिए चुपचाप आये और चले गए।

तीन IAS से नहीं संभल रहा था फरीदाबाद, दो IAS और भेजे गए - सोनल गोयल और मुहम्मद इमरान रजा

ias-sonal-goel-additional-ceo-faridabad-metropolitan-development-authority-news

फरीदाबाद: आमतौर पर किसी जिले में एक ही IAS अधिकारी होता है लेकिन फरीदाबाद में अब तक तीन IAS अधिकारी सेवा दे रहे थे लेकिन आज फरीदाबाद को दो IAS अधिकारी और मिल गए.

IAS सोनल गोयल जो झज्झर की उपायुक्त थीं, उन्हें फरीदाबाद मेट्रोपोलिटन की एडिशनल चीफ एग्जीक्यूटिव ऑफिसर बनाकर भेजा गया है. यह पोस्ट अब तक खाली थी.

ias-sonal-goel-additional-ceo-faridabad-metropolitan-development-authority

इसी तरह से IAS मुहम्मद इमरान रजा को एडिशनल उपायुक्त और RTA सेक्रेटरी बनाकर भेजा गया है, ये फरीदाबाद के पांचवे IAS होंगे. मुहम्मद इमरान रजा इससे पहले घरौंदा के सब-डिविजनल ऑफिसर थे.

mohammad-imran-raja-news
इससे पहले फरीदाबाद डिविजन कमिश्नर अनुपमा जयसवाल, फरीदाबाद के उपायुक्त अतुल कुमार, MCF कमिश्नर अनीता यादव IAS रैंक की अधिकारी हैं.

कहने का मतलब ये है कि फरीदाबाद में इतने घोटाले, भ्रष्टाचार हैं कि तीन IAS अधिकारी इसे हैंडल नहीं कर पा रहे हैं, सोशल मीडिया और ट्विटर के जरिये मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री को इन अधिकारियों के खिलाफ खूब शिकायत भेजी जा रही है, इसीलिए दो IAS अधिकारी और भेज दिए गए हैं, एक ही जिले में पांच पांच IAS अधिकारी तैनात किया जाना इसी बात को साबित करता है. अब देखते हैं कि भ्रष्टाचार, घोटाले, अवैध निर्माण, अवैध कब्जे, अरावली चीरहरण रुकता है या नहीं.

किसानों को लूटने के लिए बनाया गया था ग्रेटर फरीदाबाद, रॉबर्ट वाड्रा कमा चुके हैं अरबों, पढ़ें

how-greater-faridabad-looted-by-robert-vadra-land-scam-in-faridabad

फरीदाबाद: देश में कई जगह जमीन घोटाले के आरोपी रॉबर्ट वाड्रा ने हमारे फरीदाबाद में भी बड़े बड़े काण्ड किये हैं, ग्रेटर फरीदाबाद सिर्फ घोटाला करने के लिए डेवेलोप किया गया था, ग्रेटर फरीदाबाद इसलिए डेवेलोप किया गया क्योंकि किसानों से सस्ती जमीनें खरीदकर उसे मंहगे दामों में बचा जा सके और हुआ भी यही, किसानों से पहले सस्ती जमीनें ले लीं गयीं, उसके बाद ग्रेटर फरीदाबाद का प्लान बनाया गया, उसके बाद किसानों से ली गयीं सस्ती जमीनों को बड़े बड़े उद्योगपतियों के हाथों मंहगे दामों में बेच दिया गया, मतलब दो तीन वर्षों में कुछ लाखों के कई अरब रुपये बना लिए गए.

क्या है लूट का तरीका

मान लो किसी आदमी को लूट करनी है, पहले किसी क्षेत्र में किसानों से सस्ती जमींनें खरीद ली जाती है, उसके बाद सरकार से उस क्षेत्र को डेवेलोप करने का प्लान पास करवाया जाता है, उसके बाद उस क्षेत्र का नक्शा बनाया जाता है और उसे बड़े बड़े उद्योगपतियों को दिखाया जाता है, बड़े उद्योगपतियों को लगता है कि अगर यहाँ पर जमीनें खरीद ली जांय तो मोटा मुनाफ़ा होगा क्योंकि रोड बनने और बड़े बड़े प्रोजेक्ट आने के बाद जमीनें कई गुना मंहगी हो जाती है, रॉबर्ट वाड्रा ने अपने आदमियों के जरिये पहले ही किसानों की जमीनें खरीद ली थीं, उस समय कांग्रेस की हुड्डा सरकार सत्ता में थी, उनसे ग्रेटर फरीदाबाद का नक्शा पास करवाया गया, रोड पास करवाए गए, कई प्रोजेक्ट पास करवाए गए और उसके बाद किसानों से ली हुई सस्ती जमीनों को कई गुना मंहगे दामों में उद्योगपतियों के हाथों में बेच दिया गया, उन्हीं जमीनों पर आज बड़ी बड़ी इमारतें खड़ी हैं. ग्रेटर फरीदाबाद में किसानों की जमीनों पर आज सैंकड़ों बड़ी बड़ी इमारतें खड़ी हैं, आप सोचिये कितना बड़ा घोटाला किया गया होगा.

दुनिया में सबसे तेजी से अरबपति बने हैं रॉबर्ट वाड्रा

रॉबर्ट वाड्रा के बारे में कहा जाता है कि वह दुनिया में सबसे तेजी से अरबपति बनने वाले आदमी हैं. सिर्फ नाम की कंपनी बनाकर उन्होंने हुड्डा सरकार और राजस्थान की पूर्व गहलोत सरकार का इस्तेमाल किया, पहले कई स्थानों पर किसानों से सस्ती जमीनें खरीदी गयीं, उसके बाद वहां पर कोई बड़ा प्रोजेक्ट पास करके जमीनों को मंहगा करवाया गया, उसके बाद किसानों से ली गयीं सस्ती जमीनों को कई गुना मंहगे दामों में बेचकर अरबों रुपये बना लिए गए.

उदाहरण के लिए समझिये, मान लो मैंने किसी स्थान पर किसानों से सस्ती जमीनें खरीद लीं, उसके बाद मैं सरकार से कहूँगा कि यहाँ पर कोई बड़ा मेडिकल कॉलेज, यूनिवर्सिटी, अस्पताल आदि बना दो, ये सब प्रोजेक्ट बनने से इनके आसपास की जमीनें कई गुना मंहगी हो जाती हैं. रॉबर्ट वाड्रा ने इसी ट्रिक का इस्तेमाल किया, हुड्डा सरकार ने पूरी तरह से रॉबर्ट वाड्रा का साथ दिया इसीलिए उनके खिलाफ भी CBI जांच चल रही है.

किसान आज भी झेल रहे हैं इस घोटले की मार

ग्रेटर फरीदाबाद में किसानों को नहीं पता था कि उनकी जमीनों को सस्ते दामों में खरीदकर मोटा मुनाफ़ा कमाने का प्लान बनाया गया है, उन्होंने सरकारी प्रोजेक्ट समझकर अपनी जमीनें बेच दीं लेकिन बाद में जब उन्हें लगा कि उनकी जमीनों का रेट और अधिक होना चाहिए था तो उन्होंने सेशन कोर्ट में अर्जी दी, सेशन कोर्ट ने मुआवजा बढाने का आदेश दिया लेकिन हजारों किसानों को आज भी उचित मुआवजा नहीं मिला है. अब सरकार बदल गयी है, किसानों को मुआवजा देने के लिए करीब 2200 करोड़ रुपये का बजट खर्च होगा. किसान अब खट्टर सरकार से मुआवजे की मांग कर रहे हैं, देखिये ये VIDEO.



इस वीडियो में साफ़ दिख रहा है कि किसान करीब 2010 से मुआवजे के लिए परेशान हैं, उस समय कांग्रेस की सरकार थी, उनसे सस्ते दामों में जमीनें ली गयीं थी, बाद में जब किसानों को लूटखोरों की चाल का अहसास हुआ तो वे जमीन का मुआवजा बढ़वाने के लिए सेशन कोर्ट पहुँच गए, सेशन कोर्ट ने मुआवजा बढाने का आदेश दिया लेकिन अब सरकार बदल गयी है, पुरानी सरकार की गलती का हर्जाना वर्तमान सरकार को भुगतना पड़ेगा. रॉबर्ट वाड्रा जैसे लोग लूटकर निकल गए लेकिन किसान मुआवजे के लिए आज भी रो रहे हैं.

कैसे और किसने की लूट

प्रवर्तन निदेशालय पिछले कई दिनों से सोनिया गाँधी के दामाद रॉबर्ट वाड्रा और उनकी माँ से पूछताछ कर रहा है, सूत्रों के मुताबिक़ इस पूछताछ में बड़े खुलासे हुए हैं. फरीदाबाद से भी एक बड़े दलाल का खुलासा हुआ है, इस दलाल ने रॉबर्ट वाड्रा के आदमी सीसी थम्पी को अमीपुर, पलवल और फरीदाबाद में जमीन दिलवाई थी और बदले में मोटा कमीशन खाया था.

जानकारी के अनुसार सीसी थम्पी के जरिये रॉबर्ट वाड्रा ने फरीदाबाद पलवल और हरियाणा के अन्य क्षेत्रों में जमीन खरीदवाई, फरीदाबाद के दलाल जो एक विधायक के भाई हैं, उन्होंने दलाल का किरदार निभाया. खूब पैसे भी कमाए.

सीसी थम्पी ने लंदन में दर्जनों फ्लैट खरीदे और उसे रॉबर्ट वाड्रा की कंपनी के एक कर्मचारी के नाम कर दिए. रॉबर्ट वाड्रा ने इन संपत्तियों को अपने नाम से नहीं खरीदा बल्कि अपने ड्राईवर, अपने ख़ास कर्मचारियों के नाम से खरीदा है ताकि वे पकडे ना जा सकें लेकिन ED रॉबर्ट वाड्रा से पूछ रही है कि आपकी कंपनी के पास इतना पैसा कहाँ से आया जो आप अपने कर्मचारियों को लन्दन में इतने मंहगे फ्लैट दे रहे हैं.

इस मामले में रॉबर्ट वाड्रा, उनकी माँ, सीसी थम्पी, संजय भंडारी के अलावा फरीदाबाद का दलाल बुरी तरह से फंस चुके हैं. दलाल के घर पर पिछले दिनों जांच एजेंसी ने छापा भी मारा था.

फरीदाबाद में भी रहता है रॉबर्ट वाड्रा का एक बड़ा दलाल, ED जांच में सामने आया नाम, MLA का भाई

robert-vadra-property-dealer-in-faridabad-may-be-arrested-news

फरीदाबाद: प्रवर्तन निदेशालय पिछले कई दिनों से सोनिया गाँधी के दामाद रॉबर्ट वाड्रा और उनकी माँ से पूछताछ कर रहा है, सूत्रों के मुताबिक़ इस पूछताछ में बड़े खुलासे हुए हैं. फरीदाबाद से भी एक बड़े दलाल का खुलासा हुआ है, इस दलाल ने रॉबर्ट वाड्रा के आदमी सीसी थम्पी को अमीपुर, पलवल और फरीदाबाद में जमीन दिलवाई थी और बदले में मोटा कमीशन खाया था.

जानकारी के अनुसार सीसी थम्पी के जरिये रॉबर्ट वाड्रा ने फरीदाबाद पलवल और हरियाणा के अन्य क्षेत्रों में जमीन खरीदवाई, फरीदाबाद के दलाल जो एक विधायक के भाई हैं, उन्होंने दलाल का किरदार निभाया. खूब पैसे भी कमाए.

सीसी थम्पी ने लंदन में दर्जनों फ्लैट खरीदे और उसे रॉबर्ट वाड्रा की कंपनी के एक कर्मचारी के नाम कर दिए. रॉबर्ट वाड्रा ने इन संपत्तियों को अपने नाम से नहीं खरीदा बल्कि अपने ड्राईवर, अपने ख़ास कर्मचारियों के नाम से खरीदा है ताकि वे पकडे ना जा सकें लेकिन ED रॉबर्ट वाड्रा से पूछ रही है कि आपकी कंपनी के पास इतना पैसा कहाँ से आया जो आप अपने कर्मचारियों को लन्दन में इतने मंहगे फ्लैट दे रहे हैं.

इस मामले में रॉबर्ट वाड्रा, उनकी माँ, सीसी थम्पी, संजय भंडारी के अलावा फरीदाबाद का दलाल बुरी तरह से फंस चुके हैं. दलाल के घर पर पिछले दिनों जांच एजेंसी ने छापा भी मारा था.

करनेरा गाँव गोलीकांड, मृतक अकबर की हुई पहचान, धौज थाने में FIR दर्ज, पढ़ें अबतक की अपडेट

ballabhgarh-karnera-village-property-dealer-akbar-murder-case-news

फरीदाबाद: बल्लभगढ़ तहसील के करनेरा गाँव में आज एक प्रॉपर्टी डीलर की डेड बॉडी एक कार के अन्दर दिखाई दी, मृतक की पहचान कर ली गयी है, मृतक अकबर पुत्तर जलेब खान निवासी नुनेरा तहसील सोहाना जिला गुडगांव का रहने वाला था, वह अपने पार्टनर के साथ प्लाटिंग का काम करता था।

अकबर का नीलम बाटा रोड पर प्रॉपर्टी डीलिंग का ऑफिस है, आज इसी सिलसिले में साइट पर आया था।

धौज थाना पुलिस को कंट्रोल रूम के माध्यम से सूचना मिली कि मेन रोड, करनेरा गांव नजदीक मंदिर के पास गाड़ी में एक डेड बॉडी पडी है।

कंट्रोल रूम  की सूचना पर पुलिस तुरंत मौके पर पहुंची, साथ ही मौके पर फॉरेंसिक टीम डॉक्टर, एसीपी मुझेसर एसएचओ धोज, क्राइम ब्रांच 56 क्राइम ब्रांच, सेक्टर 30 , बड़खल और डीएलएफ ने भी मौके पर पहुंचकर घटनास्थल का निरीक्षण किया।

 मृतक के पुत्र की शिकायत पर थाना धोज में एफआईआर दर्ज की गई है।

थाना पुलिस, फॉरेंसिक टीम और क्राइम ब्रांच घटना की हर एंगल से जांच कर रही है।

मृतक की नाश को बीके हॉस्पिटल भिजवाया गया है  जिसका  कल बीके हॉस्पिटल में डॉक्टरस के बोर्ड द्वारा पोस्टमार्टम कराया जाएगा.

अभी तक यह कन्फर्म नहीं हो पाया है कि मृतक ने आत्महत्या की है या उसे किसी और ने गोली मारी है.

पीएम मोदी ने किया डब्बा ESI अस्पताल का उद्घाटन, एक साथ दिखे मंत्री गुर्जर और मंत्री गोयल

pm-narendra-modi-inaugurate-faridabad-esi-hospital-medical-college

फरीदाबाद, 12 फरवरी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कुरुक्षेत्र में आयोजित स्वच्छ शक्ति कार्यक्रम में विडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये फरीदाबाद NIT-3 में बने ई.एस.आई.सी. मेडिकल कॉलेज व अस्पताल का लोकार्पण किया। इस परियोजना के निर्माण पर करीब 800 करोड़ रुपये की राशि खर्च हुई है।

यह हॉस्पिटल भले ही इतना बड़ा दिखता है लेकिन यहाँ पर गंभीर मरीजों के इलाज की कोई सुविधा नहीं है, मतलब ये डब्बा अस्पताल है, थोड़ी सी गंभीर बीमारी देखते ही यहाँ के डॉक्टर अपनी सेटिंग वाले प्राइवेट अस्पतालों में रिफर कर देते हैं और वहां से मोटा कमीशन खाते हैं, इसके अलावा एक ही पोस्ट के बार बार इंटरव्यू करवाकर सरकारी पैसा लूटा जाता है, अब सवाल यह है कि मोदी द्वारा मेडिकल कॉलेज के उद्घाटन के बाद क्या रेफर घोटाला और इंटरव्यू घोटाला बंद हो जाएगा.

ई.एस.आई.सी. मेडिकल कॉलेज व अस्पताल फरीदाबाद में आयोजित विडियो कांफ्रेंसिंग कार्यक्रम में केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्य मंत्री कृष्णपाल गुर्जर व हरियाणा के उद्योग मंत्री विपुल गोयल, विधायक मूलचंद शर्मा व टेकचंद शर्मा, मुख्यमंत्री के राजनैतिक सचिव दीपक मंगला, प्रधान सचिव श्रम विभाग हरियाणा डा. महावीर सिंह, पुलिस आयुक्त संजय सिंह, उपायुक्त अतुल कुमार, अतिरिक्त उपायुक्त जितेंद्र दहिया, एसडीएम फरीदाबाद सतबीर मान, एसडीएम बडख़ल अजय कुमार, मेडिकल कालेज के डीन डा. असीम दास व भाजपा जिला अध्यक्ष गोपाल शर्मा भी उपस्थित थे। 

केंद्रीय राज्य मंत्री कृष्णपाल गुर्जर ने कहा कि यह अस्पताल आधुनिक सुविधाओं से सुसज्जित है। इस कॉलेज के निर्माण से फरीदाबाद भी मेडिकल क्षेत्र में अग्रणी जिला बन गया है। सरकार का प्रयास है कि प्रदेश के हर जिला में एक मेडिकल कालेज खोला जाए। आज प्रधानमंत्री ने फरीदाबाद को इस मेडिकल कालेज की सौगात देकर ऐतिहासिक कार्य किया है। 

उन्होंने कहा कि ईएसआईसी मेडिकल कॉलेज और अस्पताल फरीदाबाद 29.75 एकड़ भूमि पर बना है। इसमें अस्पताल, कॉलेज और आवासीय क्षेत्र है। इसमें चार मंजिल भवन में 80 ओपीडी रूम, 20 प्रोसीजर रूम, 9 क्लास रूम और मरीजों के लिए पर्याप्त वेटिंग एरिया है तथा पांचवी मंजिल से 11वीं मंजिल तक 15 वार्ड बनाए गए हैं, जिसमें 510 बेड हैं। इसमें 13 प्रमुख ओटी और 7 छोटी ओटी हैं। इस अस्पताल में 200 से अधिक विशेष बेड हैं, जिसमें आईसीयू, आईसीसीयू, एनआईसीयू, पीआईसीयू आपातकालीन वार्ड, लेबर रूम बेड व डायलिसिस यूनिट शामिल हैं।

उद्योग मंत्री विपुल गोयल ने कहा कि प्रदेश व केंद्र सरकार ने आम जनता की सुविधा के लिए अनेक विकास कार्यों को शुरू कराया है। प्रदेश सरकार ने जनता को अधिक से अधिक मेडिकल सुविधा देने के लिए हर जिला में मेडिकल कालेज खोलने की घोषणा की है। अब लोगों को आपातकालीन मेडिकल सुविधा के लिए दूर नहीं जाना पड़ेगा। सरकार ने आयुष्मान योजना के तहत हर गरीब परिवार को पांच लाख रुपए तक के निशुल्क इलाज की सुविधा देनी शुरू कर दी है। 

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने संबोधन में मुख्यमंत्री मनोहरलाल की प्रदेश के विकास व स्वच्छ भारत मिशन व नारी शक्ति के उत्थान की दिशा में हुए कार्यों के लिए किए गए प्रयासों की सराहना की और कहा कि हरियाणा व कुरुक्षेत्र ज्ञान, धर्म और कर्म की भूमि है, जहां भगवान श्री कृष्ण ने मानवता को जीवन का रास्ता बताया था। स्वच्छ भारत मिशन का आज दुनिया के कई देश अनुसरण कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि देश में एक नया एम्स रेवाड़ी के मनेठी में बनाया जाएगा। 

मेडिकल कालेज के डीन डा. असीम दास ने बताया कि इस मेडिकल कालेज में आधुनिक सुविधाओं से सुसज्जित लेबोरेट्री है तथा सीटी स्कैन, एमआरआई अल्ट्रासाउंड और डिजिटल एक्स-रे जैसी सुविधाएं उपलब्ध हैं। इस समय यहां पर 400 मेडिकल विद्यार्थी शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं तथा इसमें पांच लेक्चरर थिएटर और अलग-अलग विभागों में आधुनिक लैब बनाई गई हैं। इस कालेज में 380 मेडिकल विद्यार्थियों के लिए 260 कमरे बनाए गए हैं, जो ट्रिपल, डबल और सिंगल ऑक्यूपेंसी टाइप हैं तथा सीनियर व जूनियर रेजिडेंस के लिए 70 क्र्वाटर बनाए गए हैं। इसी प्रकार स्टाफ नर्स और अन्य पैरामेडिकल स्टाफ के लिए 18 फैकल्टी हाउस व आवासीय आवास बनाए गए हैं। उन्होंने कार्यक्रम में उपस्थित अतिथियों को स्मृति चिन्ह भेंट कर उन्हें सम्मानित किया।

निगमायुक्त से मिले कांग्रेसी नेता, सुमित गौड़ ने की BJP नेताओं के दफ्तरों को भी सील करने की मांग

congress-leader-sumit-gaur-demand-bjp-leader-office-also-be-sealed

फरीदाबाद। नगर निगम द्वारा सेक्टर-10, 11/12 व डीएलएफ में की गई सीलिंग की कार्यवाही के विरोध में मंगलवार को हरियाणा प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सचिव सुमित गौड़ ने नगर निगम आयुक्त अनीता यादव से मुलाकात करके इस कार्यवाही के प्रति अपना रोष जताया।

सुमित गौड़ ने कहा कि निगम प्रशासन की यह कार्यवाही पूरी तरह से भेदभावपूर्ण रही है और इस कार्यवाही में भाजपा नेताओं के प्रतिष्ठानों को जानबूझकर छोड़ दिया गया है। गौड़ ने कहा कि सेक्टर-28 में केंद्रीय राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर घर में ही अपना कार्यालय चलाते है वहीं सेक्टर-16 स्थित सिनेमा हॉल में उद्योगमंत्री विपुल गोयल का कार्यालय है, सेक्टर-11 में विधायक मूलचंद शर्मा का कार्यालय है तथा भाजपा का जिला कार्यालय भी सेक्टर-9 के रिहायशी क्षेत्र में चल रहा है, क्या यह सब निगम प्रशासन को नजर नहीं आता। 

उन्होने कहा कि कांग्रेस पार्टी इन पीडि़त व्यापारियों के साथ है और उनकी इस लड़ाई को हर स्तर पर लडऩे का कार्य करेगी। गौड़ ने निगमायुक्त से कहा कि अब निगम प्रशासन न्यायालय के आदेश की पालना कर चुका है इसलिए अब दुकानदारों व व्यापारियों को सीलिंग के नाम पर नजायज परेशान न किया जाए और अगर ऐसा हुआ तो वह धरना प्रदर्शन करने से भी नहीं चूकेंगे। 

निगमायुक्त ने गौड़ को विश्वास दिलाया कि अब आगे कोई कार्यवाही नहीं होगी। गौरतलब है कि सोमवार को निगम प्रशासन द्वारा बड़े स्तर पर की गई सीलिंग की कार्यवाही का कांग्रेसी नेता सुमित गौड़ ने डटकर विरोध करते हुए व्यापारियों के साथ घण्टों प्रशासन से लड़ाई लड़ी और प्रशासन की इस कार्यवाही को तानाशाही करार दिया। इस दौरान सुमित गौड़ की उपस्थिति में व्यापारियों ने जाम भी लगा दिया था।

गजब हो गया, दुकान भी सील, तीन कर्मचारी भी सील, वकील LN पाराशर ने झट से पुलिस बुला करवाया आजाद

hua-administration-seal-sector-12-shop-with-three-workers-ln-parashar

फरीदाबाद: प्रशासन की आज लापरवाही सामने आयी. सेक्टर-12 में रिहाइशी इलाके में चल रही अवैध दुकानों को सील करते समय दूकान के अन्दर तीन कर्मचारियों को भी सील कर दिया गया, भगवान की कृपा से सर्दी का मौसम है इसलिए तीनों की जान बची रही, अगर गर्मी का मौसम होता और बिजली नहीं होती तो तीनों युवाओं की जान भी जा सकती थी.

इस घटना की सूचना जब वरिष्ठ वकील एल एन पाराशर को मिली तो उन्होंने घटनास्थल का दौरा किया, उन्होंने इसकी सूचना तुरंत सेक्टर-12 सेंट्रल थाना पुलिस को दी, पुलिस ने भी तेजी से एक्शन दिखाते हुए तीनों युवाओं को आजाद करवाया. SDM ऑफिस से एक पुलिसकर्मी ने आकर सीलिंग को फिर से खोला और तीनों युवाओं को आजाद करने के बाद दूकान को फिर से सील कर दिया. देखिये फोटो -

faridabad-sector-12-sealing-photo

इस मामले पर प्रतिक्रिया देते हुए वकील एल एन पाराशर ने कहा - अदालत ने दुकानों को सील करने का आदेश दिया था इंसानों को नहीं इसलिए ऐसे अधिकारियों पर कार्यवाही होनी चाहिए जिन्होंने दुकान सील करने के पहले उसमे से इंसानों को निकलने का मौका नहीं दिया और वो तीन युवकों को दुकानों में बंद कर बाहर से ताला लगाकर चले गए.



आपको बता दें कि उच्च न्यायालय के आदेश पर नगर निगम प्रशासन ने आज सेक्टर नौ और दस में सीलिंग की और कई अवैध दुकानों को तोड़ दिया। सेक्टर 11 स्थित धर्मा ढाबा भी ढहा दिया गया और ढाबे के आस पास की दुकानों को सील कर दिया गया। ढाबे के पास एक फास्टफूड की दुकान को भी सील कर दिया गया लेकिन इसमें अंदर काम कर रहे तीन युवकों को बाहर निकलने का मौका नहीं दिया गया और बाहर से दुकानों को सील कर दिया गया। अंदर बंद युवक जोर-जोर से चिल्लाते रहे लेकिन अधिकारियों को कुछ नहीं सुनाई दिया। अधिकारी दूकान सील कर चलते बने। देखिये अन्दर कैद युवक की फोटो - 


इस घटना की सूचना मिलने पर LN पाराशर तुरंत मौके पर पहुंचे और सेंटर थाने के इंस्पेक्टर को मौके पर बुलाया। सेन्ट्रल थाने के SHO ने सम्बंधित अधिकारियों को सूचित किया और लगभग तीन घंटे बाद सील दूकान का ताला खोल तीनों युवकों को निकाला गया। वकील पाराशर ने कहा कि अवैध निर्माण कहीं भी हों उसे गिराए जाने का मैं स्वागत करता हूँ लेकिन इंसानों का ख़याल रखा जाए उन्हें इस तरह से बंद करने से उनकी जान भी जा सकती है। उन्होंने कहा कि अधिकारी ऐसी लापरवाही न करें।

मालुम हो कि पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्यायालय ने योगेंद्र सिंह बनाम हरियाणा सरकार केस में सुनवाई के दौरान अवैध रूप से वाणिज्यिक गतिविधियां चलाने वाले संस्थानों के खिलाफ सीलिंग की कार्रवाई का आदेश जारी किया था जिसके बाद आज कार्यवाही हुई। कई दुकाने सील की गईं और कइयों को तोड़ दिया गया।

प्रशासन ने गरीबों का तोड़ा, विधायक का छोड़ा, दीपक चौधरी बोले 'सैंया भये थानेदार तो डर काहे का'

parshad-deepak-choudhary-ask-why-huda-left-mla-moolchand-sharma-hotel

फरीदाबाद: HUDA प्रशासन ने भारी पुलिस दल-बल के साथ आज शहर के सेक्टर-9-10, 10-11 तथा 11-12 के डिवाइडिंग रोड पर अवैध रूप से चल रही व्यवसायिक गतिविधियों के खिलाफ कार्यवाही की, कई दुकानों में तोड़फोड़ की गयी, कई दुकानों को सील किया गया लेकिन एक विधायक के होटल और मैरिज गार्डन को हाथ तक नहीं लगाया, इसके अलावा एक नेता के ख़ास आदमी के ढाबे को भी नहीं छुवा, जबकि राजनीतिक पहुँच से दूर दुकानदारों की दुकानों पर बेरहमी से JCB चलाई जिसका वीडियो नीचे दिया जा रहा है -



प्रशासन के इस भेदभाव पर शहर के सामाजिक कार्यकर्ताओं और नेताओं की नजर पड़ गयी. लोगों ने कहा कि प्रशासन ने सत्ताधारी नेताओं और उनके ख़ास आदमियों के व्यावसायिक स्थलों को न सील किया और न तोडा वहीं गरीब लोगों की दुकानों में तोड़फोड़ भी की गयी और सीलिंग भी की गयी.

पार्षद दीपक चौधरी ने कहा - जो अधिकारी व राजनीतिक लोग मोटी रकम लेकर 9-10 व 10-11 सेक्टर व 11-12 सेक्टरों के रिहाशी क्षेत्र मे को कमर्शियल निर्माण करवा रहे और वही लोग इस सीलिंग के लिए जिम्मेदार हैं, अगर विधायक स्वयं ही गलत काम करेगा तो ओर लोगों को गलत काम करने की हिम्मत मिलती है और करोड़ो रूपये का नुकसान उठाना पड़ रहा है.

ओर जिन लोगों ने हुडा के इन सेक्टरों शांति और सकून से रहने के लिये घर बनाये है वहा रात को 2 बजे तक इन DJ बजते है शराबी मुर्गो के दुकान पर उनके घर के आस पास गाड़ियां लगा कर शराब पीते है इन सब के जिम्मेदार इन अधिकारियो ओर नेताओ पर भी कार्यवाही होकर आपराधिक मामला दर्ज होना चाइये ।।इस सिलिग कि कार्यवाही इन्ही लोगो से स्टार्ट होनी चाहिये थी पर

जब.. सैंया थानेदार तो फिर डर काहे का..

सेक्टर-12 में कई अवैध दुकानों में तोड़फोड़, पुलिस-प्रशासन ने लगाई पूरी ताकत, देखें सनसनीखेज VIDEO

hud-administration-demolition-sealing-drive-with-police-news-video

फरीदाबाद: सेक्टर-11-12 के रिहाइशी इलाकों में बनी कामर्सियल दुकानों में सीलिंग और तोड़-फोड़ की. इस ऑपरेशन को सफल बनाने में प्रशासन ने पूरी ताकत लगा दी. सैकड़ों पुलिसकर्मी प्रशासन के ऑपरेशन को सफल बनाने के लिए तैनात थे. नीचे VIDEO में पूरी कार्यवाही कैद है.



इस ऑपरेशन में धर्मा ढाबा, सिटी ढाबा, एक रेस्टोरेंट और कई दुकानें तोड़ दी गयीं जबकि दर्जनों दुकानों को सील कर दिया गया. इस मौके पर प्रभावित दुकानदार प्रशासन की कार्यवाही का विरोध करते रहे.



प्रशासन की कार्यवाही के बाद दुकानदारों ने बताया कि उन्हें सीलिंग एवं तोड़-फोड़ का कोई नोटिस नहीं दिया गया था, नोटिस सेक्टर-11 वालों को दिया गया था लेकिन तोड़-फोड़ सेक्टर-12 में कर दी गयी. सेक्टर-11 की तरफ हाथ भी नहीं लगाया गया क्योंकि वहां नेताओं के ख़ास लोगों की दुकानें एवं ढाबे हैं. हम लोगों को इसलिए परेशान किया गया क्योंकि अधिकारियों को खाने पीने के लिए नहीं देते हैं.

फरीदाबाद में माफियाराज है, नेता-अधिकारी बेच देते हैं ईमान, PM को करूँगा शिकायत: LN पाराशर

advocate-ln-parashar-will-complain-tahsil-mcf-huda-corrupt-officer-to-pm-modi

फरीदाबाद: जिला बार एसोसिएशन के पूर्व प्रधान एवं वरिष्ठ वकील एल एन पाराशर कई दिनों से तहसील में भ्रष्टाचार की पोल खोल रहे हैं, एक युवक को सेंट्रल थाना पुलिस ने हिरासत में भी लिया था, कई और गडबडझाले पकडे जा रहे हैं, अधिकारी लोग बिना सर्वे के ही रिपोर्ट जारी कर देते हैं, बिल्डिंग को खाली प्लाट दिखाकर रजिस्ट्री करवा ली जाती है और सरकार को चूना लगाया जाता है, भ्रष्टाचार साफ़ साफ दिखाई दे रहा है, हरियाणा सरकार भ्रष्ट अधिकारियों के खिलाफ कोई एक्शन नहीं ले रही है.

वकील एल एन पाराशर ने कहा कि फरीदाबाद में माफियाओं के राज है, नेताओं का इनके सर पर हाथ है और यहाँ के अधिकारी अपना ईमान बेच देते हैं जिसकी वजह से जगह जगह अवैध निर्माण हो रहे हैं, अवैध कब्जे हो रहे हैं, तहसील में घोटाले एवं भ्रष्टाचार हो रहे हैं, सरकार को चूना लगाया जा रहा है लेकिन इनके खिलाफ कोई एक्शन नहीं हो रहा है.

वकील एल एन पाराशर ने कहा कि वह प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति और मुख्यमंत्री हरियाणा को पत्र लिखकर फरीदाबाद में हो रहे घोटालों की शिकायत करेंगे और दोषी अधिकारियों को बर्खास्त करने की मांग करेंगे. देखें वीडियो.

तहसील, HUDA और MCF के रिश्वतखोर अधिकारी मिलकर आवेदन से पहले पास करते हैं रिपोर्ट: LN पाराशर

advocate-ln-parashar-accuse-tahsil-mcf-huda-officer-corruption-news

फरीदाबाद: शहर के कुछ अधिकारियों का वश चले तो वो फरीदाबाद को बेंचकर खा जाएँ और शहर को डकार भी जाएँ। शहर के इन अधिकारियों ने खुलेआम लूट मचा रखी है और इन्हे रोकने वाला भी कोई नहीं है जिस कारण इनका मनोबल और बढ़ गया है। ये कहना है बार एसोशिएशन के पूर्व अध्यक्ष  एवं न्यायिक सुधार संघर्ष समिति के अध्यक्ष एडवोकेट एल एन पाराशर का जिन्होंने रजिस्ट्री कांड में कई और चौंकाने खुलासे किये हैं। 

वकील पाराशर ने कहा कि 12थ एवेन्यू सेक्टर 49 के रजिस्ट्री काण्ड में करोड़ों नहीं अरबों का चूना साकार को लगाया गया है और चूना लगाने वालों में जेई, एसडीओ, डीटीपी, सहित कई अधिकारी शामिल हैं। वकील पाराशर ने कहा कि सरकार तमाशा देख रही है और फरीदाबाद के अधिकारी मोटे पैसे लेकर बिना बच्चे पैदा हुए ही जन्मदिन का सर्टीफिकेट बना दे रहे हैं। वकील पाराशर ने कहा कि 12th एवेन्यू सेक्टर 49 में प्लाट नंबर 4837, 4836, 4818, 4815, 4816, 4817, 4814, 4822, 4819, 4820, 4821, 4827, 4829, 4828, 4830 के कंप्लीशन में बड़ा हेरफेर किया गया और सम्बंधित अधिकारियों ने किया। पाराशर ने बताया कि इन प्लाटों के कंप्लीशन के लिए आवेदन 10 नवम्बर 2017 को किया गया था। और 14  नवम्बर को कंप्लीशन मिल भी गई। 

जब इसकी जानकारी आरटीआई से माँगी गई तो बताया गया कि जेई, डीटीपी और एसडीओ ने 16 अगस्त 2017 को ही कंप्लीशन सर्वे रिपोर्ट पास कर रखी है यानी आवेदन के तीन महीने पहले ही कंप्लीशन यानि बच्चा पैदा होने के पहले ही जन्मदिन सर्टिफिकेट तैयार कर ली गई थी। 


पाराशर ने कहा कि रजिस्ट्री कांड में दिन प्रतिदिन बड़े बड़े भ्रष्टाचार के मामले सामने आ रहे हैं। उन्होंने कहा कि बुधवार देर शाम हमने जब अचानक तहसील का दौरा किया था और युवक को दो दर्जन रजिस्ट्री के साथ पकड़कर पुलिस के हवाले किया था। अगर उस दिन तहसीलदार उस मामले को संज्ञान में लेते तो वहाँ मौजूद कई भ्रष्ट और रिश्वतखोर पकडे जाते और सरकार को जो अरबों रूपये का चूना लगा रहे हैं उनका चेहरा बेनकाब हो जाता। वकील पाराशर ने कहा कि बुद्धवार देर शाम छापेमारी के समय वहां अधिकतर दो नम्बरी मौजूद थे और इस मामले के दोनंबरी में मौजूद थे। पाराशर ने कहा कि 12th एवेन्यू गडबडझाले में एक कागज़ में एक चपरासी के भी हस्ताक्षर हैं। 

उन्होंने बताया कि जेई आरिफ ने सर्वे रिपोर्ट पर 11 अगस्त 2018 को हस्ताक्षर किये, 16 अगस्त को डीटीपी महिपाल से उस कागज़ पर हस्ताक्षर किये। 17 अगस्त को उस कागज पर ज्वाइंट कमिशनर  मुकेश सोलंकी  के हस्ताक्षर हुए। जेई आरिफ उस दौरान सैनिक कालोनी या उस क्षेत्र के जेई नहीं थे। उसके बाद उस कागज़ पर एसडीओ ओपी मोर ने हस्ताक्षर किये जबकि जेई के बाद एसडीओ के हस्ताक्षर होने चाहिए थे। यहाँ इन अधिकारियों ने बेतुके तरीके से लेन देन करके हस्ताक्षर किये होंगे तभी ऐसा हुआ था। 


वकील पराशर ने कहा कि ये सभी अधिकारी आवेदन के पहले कंप्लीशन पेपर पर हस्ताक्षर किये थे जबकि आवेदन इनके हस्ताक्षर के तीन महीने बाद किया गया। पाराशर ने कहा कि यहाँ इन अधिकारियों ने मिलकर गलत तरीके से कंप्लीशन पास कर सरकार को अरबों का चूना लगाया। उन्होंने बताया कि बने मकान को खाली बता रजिस्ट्री हुई और ये सब अधिकारी सरकार को चूना लगाते हैं। पाराशर ने कहा कि उन्हें पता  चला है कि वीपी स्पेसेस के मालिक ने अधिकारियों की मिलीभगत से सरकार के साथ ये बड़ा फ्रॉड  किया है। उन्होंने कहा कि इस घोटाले की जानकारी मैं सीएम हरियाणा के पास भेज रहा हूँ और अगर जल्द इन सभी पर कार्यवाही न की गई तो इन सभी के ऊपर धारा 409, 217, 218, 219 120 बी एवं भ्रष्टाचार अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज करवाऊंगा और प्रयास करूंगा कि इन सभी को तुरन्त सस्पेंड कर इनपर कार्यवाही की जाए ताकि ये जांच में बाधा न पहुंचा सकें।