Palwal Assembly

Showing posts with label NIT Faridabad. Show all posts

कोर्ट ने दिया स्टे, फिर भी प्रशासन ने तोड़ दिया गरीबों के घर और शिव मंदिर, सेठों की जमीन पर नजर

faridabad-dabua-sabji-mandi-tod-fod-mandir-poor-houses-news-video

फरीदाबाद: नीचे दिख रही फोटो कोर्ट द्वारा दिया गया स्टे आर्डर है. जज पूर्वा मेहरा की अदालत ने गरीबों का घर तोड़े जाने से पहले स्टे दे दिया था, प्रशासन को गरीबों के घर उजाड़ने से रोका था लेकिन प्रशासन तो जैसे गरीबों का घर उजाड़ने का प्लान बनाकर आया था इसलिए कोर्ट का स्टे आर्डर पहुँचने से पहले ही डबुआ सब्जी मंडी के पास न्यू राजीव कॉलोनी में रहने वाले 3-4 गरीबों के घर और उनकी आस्था के केंद्र शिव मंदिर को तोड़ दिया.

नीचे कोर्ट के आदेश में साफ़ साफ़ लिखा है कि तोड़-फोड़ के खिलाफ जो भी अप्पत्ति उठायी गयी है वो विचार करने लायक है, 24 अप्रैल को अगली सुनवाई होगी तब तक ड्यूटी मजिस्ट्रेट, जिलाधिकारी अतुल द्विवेदी, जॉइंट कमिश्नर MCF फरीदाबाद, SHO डबुआ और सम्बंधित DCP तोड़-फोड़ की कार्यवाही रोक दें.


उपरोक्त आर्डर के बावजूद भी प्रशासनिक अधिकारियों ने तोड़ फोड़ की कार्यवाही की और कई गरीबों के घर और मंदिर तोड़ दिया. बात दरअसल ये थी कि इन घरों को तोड़ने का आदेश भी कोर्ट ने दिया था, प्रशासनिक अधिकारियों को पता था कि इसके खिलाफ स्टे भी मिल जाएगा, इसलिए प्रशासनिक अधिकारियों ने एक योजना बनाकर तोड़-फोड़ स्थल पर स्टे पहुँचने से पहले ही पूरी ताकत लगाकर गरीबों के घर तोड़ दिए. प्रशासन ने गरीबों को आधे घंटे का भी समय नहीं दिया और कोर्ट की सुनवाई का भी इन्तजार नहीं किया.

हमने गरीबों से बात की तो उन्होंने बताया कि वे लोग यहाँ पर 40 वर्षों से रहते हैं, उन्हें ये जगह आवंटित की गयी थी और उनके पास दस्तावेज हैं, गरीबों के घर मंडी से विल्कुल सामने हैं इसलिए उनके घरों पर कुछ बड़े व्यापारियों की बुरी नजर पड़ गयी. इसके बाद तहसीलदार और पटवारी से मिलकर गरीबों के घरों की जमीन को खाली प्लाट दिखाकर किसी ने उसपर अपना दावा गेर दिया और कोर्ट में केस डालकर गरीबों के घर उजाड़ने का प्लान बनाया. अमीरों बड़ा वकील खड़ा करके गरीबों की आवाज को दबवा दिया गया और कोर्ट ने भी घरों को तोड़ने का आदेश दे दिया लेकिन जब गरीबों ने वकील खड़ा करके कोर्ट में अपनी बातें रखीं तो कोर्ट ने गरीबों की बातों पर विचार करते हुए स्टे भी दे दिया लेकिन तब तक प्रशासन उनके घरों को तोड़ चुका था.

तोड़े गए घर में रहने वाली दिव्यांग बूढी माँ ने बताया कि वह इस घर में 40 वर्षों से रहती हैं, उनके पास वोटर कार्ड, राशन कार्ड, आधार कार्ड, बिजली कनेक्शन, पानी कनेक्शन और सब कुछ है, वे 40 साल से बिजली बिल भर रहे हैं, उनके परिवार में बेटा-बहू और तीन छोटे बच्चे हैं जो पास के सरकारी स्कूल में पढ़ते हैं. प्रशासन ने व्यापारियों और प्रॉपर्टी दलालों को खुश करने के लिए कोर्ट के स्टे आर्डर का इन्तजार किये बावजूद उनके घर को तोड़ दिया, उन्हें ना तो कोई नोटिस दिया गया और ना ही सामान निकालने का समय दिया गया, घर टूटने के साथ साथ उनका टीवी, फ्रिज, बेड और बच्चों के बैग, कॉपी किताब और सब कुछ तहस नहस कर दिया. गरीबों का लाखों रुपये का नुकसान किया गया है. अब उनके पास रहने का कोई ठिकाना नहीं है, दोबारा घर बनाने में कई महीनें लगेंगे.

dabua-sabji-mandi-case

नीचे फोटो में देखिये, गरीबों के घरों को किस तरह से बर्बाद किया गया है. तोड़ फोड़ के वक्त हम भी वहां पर मौजूद थे, हमने अधिकारियों और ड्यूटी मजिस्ट्रेट से पूछा - क्या इन घरों को तोड़ने से पहले गरीबों को रहने की जगह दी गयी है क्योंकि ये लोग यहाँ पर 40 वर्षों से रहते हैं, हमारे सवाल पर अधिकारी कोई संतोषजनक जवाब नहीं दे पाए. आपको बता दें कि सरकार गरीबों को 2022 तक पक्के घर देने का वादा करती है वहीं दूसरी तरफ 40 साल से रह रहे गरीबों को बिना रहने का ठिकाना दिए उनके घरों को तोड़ देती है.


गरीबों के घर तोड़ने के साथ साथ प्रशासन ने उनकी आस्था के केंद्र शिव मंदिर को भी तोड़ दिया. मंदिर में शिवलिंग को हथौड़े से उखाड़ा गया. नीचे फोटो में मंदिर की हालत आप देख सकते हैं.


ये मंदिर में रखी गयी मूर्तियाँ हैं. मंदिर की ऐसी हालत देखकर यहाँ रहने वाले लोग प्रशासन और सरकार से नाराज हैं. खासकर भाजपा सरकार से ये लोग बहुत नाराज हैं क्योंकि स्थानीय नेताओं ने इनके घरों को ना उजाड़ने का गारंटी दी थी लेकिन जिस दिन तोड़-फोड़ हुई, सभी नेताओं के फोन बंद थे.


नीचे वीडियो में देखिये, किस तरह से प्रशासन ने तोड़ फोड़ की कार्यवाही को अंजाम दिया -



नीचे वीडियो में देखिये किस तरह से गरीब लोग प्रशासन और सरकार के खिलाफ अपनी नाराजगी व्यक्त कर रहे हैं, गरीब लोग कितने परेशान हैं और ये सरकार से क्या चाहते हैं -



नीचे वीडियो में देखिये - गरीब लोग मंदिर तोड़े जाने से किस तरह से नाराज हैं और स्थानीय नेताओं के खिलाफ उनकी क्या प्रतिक्रिया है, यहाँ पर हजारों वोटर रहते हैं और किस तरह से भाजपा नेताओं से नाराज हैं, वीडियो में साफ़ साफ दिख जाएगा -



आपको बता दें कि हमारा चैनल अवैध अतिक्रमण के खिलाफ है लेकिन कई वर्षों से एक स्थान पर रह रहे गरीबों को बिना रहने का ठिकाना दिए उनका घर नहीं तोड़ा जाना चाहिए, कम से कम नोटिस तो जरूर दिया जाना चाहिए ताकि गरीब लोग अपने घर के सामानों को बचा सकें, तोड़-फोड़ के वक्त प्रशासन इतना सख्त हो जाता है कि घरों को तोड़ने के साथ साथ उसमें रखे लाखों रुपये के सामान को भी तहस नहस कर देता है. गरीबों को इतना भी समय नहीं दिया जाता कि वे कुछ आदमियों को इकठ्ठा करके अपनी टीवी, फ्रिज, बेड, आलमारी और अन्य जरूरी सामान निकाल सकें.

3 ख़बरों के बाद जागे नेता और नगर निगम, प्याली-चौक से हार्डवेयर चौक रोड के मरम्मत का काम शुरू

pyali-chowk-hardware-chowk-road-repair-work-started-faridabad-news

फरीदाबाद: लोकसभा चुनावों में विकास मुख्य मुद्दा है लेकिन फरीदाबाद में कई सड़कों पर गड्ढे विकास की असली कहानी बता देते हैं, प्याली चौक से हार्डवेयर चौक रोड पर सबसे अधिक गड्ढे थे, हमने इसको लेकर कई ख़बरें छापी और वीडियो दिखायी. अंततः फरीदाबाद के भाजपा नेता और नगर निगम की नींद खुली और इस रोड के मरम्मत का कार्य शुरू करवा दिया गया है.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस रोड का लाखों लोग इस्तेमाल करते हैं, यही नहीं रोजाना लाखों लोग इसी रास्ते का इस्तेमाल करके तीन नंबर मस्जिद होते हुए सोहना, गुरुग्राम और सूरजकुंड की तरफ जाते हैं, गड्ढों की वजह से जाम लगा रहता है, खैर रोड के मरम्मत का काम शुरू हो गया है, वैसे तो यह पूरा रोड ही नया बनना चाहिए था लेकिन डूबते को तिनके का ही सहारा होता है, इसी तरह से जनता को कुछ दिनों तक आराम मिल जाएगा.

इसी रोड की तरह सारण चौक से आयशर चौक रोड की हालत बहुत खराब है, अगर नेताओं ने उस रोड को रिपेयर नहीं करवाया तो हम अगली बार वहां की वीडियो दिखाएंगे.

चुनाव की आहट सुनकर नेकपुर गांव पहुंचे विधायक नगेंद्र भड़ाना, शुरू कराए विकास कार्य

nit-mla-nagender-bhadana-reach-nekpur-village-development-work

फरीदाबाद: चुनाव की आहट सुनकर विधायकों ने घरों से निकलना शुरू कर दिया है और विकास कार्य शुरू करा दिए हैं ताकि इन्हें दोबारा वोट मिल सकें और यह फिर से विधायक बन सकेंं.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि नेकपुर गांव जो NIT विधानसभा के अंतर्गत आता है विकास के लिए तरस रहा था, पिछले कई महीनों से गांव की मुख्य फिरनी पर कई फुट गंदा पानी भरा हुआ था, गांव के लोग विधायक और सरपंच से कई बार समस्या का समाधान करने की गुहार की लेकिन समस्या का समाधान नहीं हुआ.

कल विधायक नगेंद्र भड़ाना नेकपुर गांव पहुंचे और नारियल फोड़ते हुए विकास कार्य शुरू कराए, उन्होंने ग्राम सरपंच सुनीता देवी को सभी कार्य जल्द से जल्द पूरा कराने के निर्देश दिए.

फरीदाबाद NIT-5 होंडा शोरुम मेंं लगी आग

faridabad-nit-5-honda-showroom-fire-news

फरीदाबाद: अभी अभी खबर आई है ना NIT 5 होंडा शोरूम में आग लग गई है, मौके पर भारी भीड़ जमा हो गई है और इस घटना की सूचना फायर ब्रिगेड को दे दी गई है.

प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार शोम रूम में काफी नुकसान हुआ है, कई स्कूटी और मोटरसाइकिल आग की चपेट में आ गयी, वास्तविक नुकसान का बाद में पता चलेगा.

आग के कारणों का अभी तक पता नहीं चल पाया है. जांच के बाद ही इस मामले की जानकारी सामने आएगी .आगे की अपडेट कुछ देर में दी जाएगी.

कल फरीदाबाद वालों को ESI मेडिकल कॉलेज की सौगात देंगे प्रधानमंत्री मोदी, पढ़ें कार्यक्रम की डिटेल

pm-narendra-modi-will-inaugurate-esi-medical-college-faridabad-news

फरीदाबाद: भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी कल फरीदाबाद की जनता को बड़ी सौगात देंगे. 12 फरवरी 2019 मंगलवार को प्रात: 11:30 बजे कुरूक्षेत्र से रिमोर्ट कंट्रोल के माध्यम से स्थानीय एनआईटी-3 (फरीदाबाद) में बादशाह खान नागरिक अस्पताल के पीछे ई.एस.आई. मैडिकल कॉलेज का उद्घाटन करेंगे.

प्रधानमंत्री मोदी फरीदाबाद नहीं आयेंगे लेकिन ESI मेडिकल कॉलेज कैम्पस में बड़े प्रोग्राम का आयोजन किया गया है, इस मौके पर इसमें केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर व फरीदाबाद जिले की सभी विधानसभा क्षेत्रों के विधायक मौजूद रहेंगे। 

विकास के लिए तरस रहे हैं नंगला गांव के लोग, एनआईटी विधानसभा के लोग जी रहे हैं नरक जैसी जिंदगी

nit-vidhansabha-nangla-village-uttam-nagar-no-development

फरीदाबाद: फरीदाबाद एनआईटी विधानसभा के अंतर्गत आने वाले नगला गांव के लोग अभी भी विकास के लिए तरस रहे हैं. 

डबुआ गाजीपुर रोड पर स्थित उत्तम नगर में ना तो आने जाने का रास्ता है और ना ही बिजली के खंबे हैं, यही नहीं सीवर लाइन भी यहां तक नहीं पहुंची है जिसकी वजह से लोग नरक जैसी जिंदगी जीने के लिए मजबूर हैंं.

यहां के विधायक नगेंद्र भड़ाना है और पार्षद महेंद्र सरपंच हैं. विधायक ने वादा किया था कि विधायक बनने के बाद मैं एनआईटी विधानसभा को नंबर 1 विधानसभा बना दूंगा लेकिन डबुआ, नंगला, पर्वतीय कॉलोनी आदि क्षेत्रों में अभी तक विकास नहीं पहुंचा है जिसे फोटो में साफ साफ देखा जा सकता है.

एक हप्ते पहले हमने दी थी वार्निंग, सोते रहे नेता-MCF और टूटी रेलिंग से हो गया कार-एक्सीडेंट

pyali-hardware-raod-relling-car-accident-no-action-mcf-leaders-faridabad

फरीदाबाद: हमने 30 जनवरी 2019 को प्याली हार्डवेयर रोड का एक वीडियो दिखाया था जिसमें रेलिंग रोड पर झुकी हुई थी, हमने रेलिंग उठाने का प्रयास किया, हमारे साथ मौजूद RTI एक्टिविस्ट दीपक मिश्रा ने भी दोनों हाथों से रेलिंग सही करने का प्रयास किया गया लेकिन लोहा भारी होने की वजह से रेलिंग नहीं उठ सकी.

हमने उसी दिन शहर के नेताओं और नगर निगम को रेलिंग जल्द से जल्द उठाने की वार्निंग दी थी लेकिन नेता और नगर निगम के अधिकारी गहरी नींद में सोते रहे और परसों रात एक कार का उसी टूटी रेलिंग से एक्सीडेंट हो गया.

देर शाम हुए हादसे में दो लोग घायल हो गए, कार में उस वक्त चार लोग सवार थे, बड़ी मुश्किल से उन्हें निकालकर अस्पताल पहुंचाया गया. देखें 30 जनवरी 2019 का वीडियो - 



अभी भी कई जगह रेलिंग टूटी हुई है, रोड पर झुकी हुई है लेकिन ऐसा लगता है कि हमारे शहर के नेता और नगर निगम के अधिकारी किसी की जान लेकर मानेंगे क्योंकि इसी प्रकार की एक दुर्घटना में बल्लभगढ़ के एक युवक रिंकू की जान जा चुकी है.

How's the Josh, So High, देश भक्ति का जोश हाई रखने के लिए पाखल टोल प्लाजा पर लगाया गया तिरंगा

pakhal-toll-plaza-faridabad-40-feet-indian-flag-influred

फरीदाबाद: पखल टोल प्लाजा फरीदाबाद पर 40 फीट ऊंचा तिरंगा फहराया गया है जिसे देखते ही देशभक्ति का जोश फिर से नया हो जाता है, अखल टोल प्लाजा वालों ने देशभक्ति का जोश ताजा रखने के लिए यह बढ़िया काम किया है ताकि रोड से गुजरने वाले लाखों लोग झंडे को देखें और उनके अंदर ऊर्जा पैदा हो.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि फरीदाबाद सोहना रोड पर इतना ऊंचा यह पहला तिरंगा है, फरीदाबाद के टाउन पार्क में हरियाणा का सबसे ऊंचा तिरंगा लगाया गया है.

आजकल उडीं The Surgical Strike फिल्म का एक डायलॉग बहुत ही ज्यादा ट्रेंड कर रहा है और युवाओं की जुबान पर है - How's the Josh, So High, भारतीयों का जोश हाई रखने के लिए पाखल टोल प्लाजा वालों ने यह तिरंगा लगाया है.

नंगला में लापरवाही, 6 महीनें में सिर्फ ट्रांसफार्मर बदला गया, कनेक्शन किसी को नहीं दिया गया

nangla-mandal-vijli-vibhag-change-transformer-without-vijli-connection

फरीदाबाद: बिजली विभाग द्वारा समय समय पर लापरवाही की ख़बरें आती रहती हैं. नंगला में भी एक लापरवाही की सूचना है.

नंगला मंडल विजली विभाग ने 6 महीने पहले गाजीपुर साइंस स्कूल के पीछे ट्रांसफार्मर लगाया था, इसमें आज तक केबल नहीं लगी, किसी को कनेक्शन नहीं गया उसके बावजूद भी ट्रांसफार्मर बदल दिया गया.

स्थानीय व्यक्ति ने बताया कि ट्रांसफार्मर लगने के बाद उसने कनेक्शन के लिए JE प्रदीप गिल को कई बार फोन किया लेकिन समस्या का समाधान नहीं हुआ, कुछ दिनों पहले नए ट्रांसफार्मर को निकालकर उसके स्थान पर पुराना ट्रांसफार्मर लगा दिया गया. पूछने पर बताया गया कि यह ट्रांसफार्मर किसी कंपनी में जाना था लेकिन गलती से यहाँ लग गया था.

अब सवाल यह उठता है कि विजली विभाग वालों से इतनी बड़ी भूल कैसे हो जाती है, एक तो ट्रांसफार्मर लगाकर कनेक्शन देना भूल गए, 6 महीनें बाद याद आया कि कंपनी का ट्रांसफार्मर यहाँ गलती से लग गया. ये भूल है या गोलमाल है ये तो विजली विभाग वाले ही जाने लेकिन जनता परेशान है.

बारिश ने NIT विधानसभा में विकास की खोली पोल, सड़कें हुईं लबालब

faridabad-nit-vidhansabha-rain-road-water-logging-60-foot-javahar-colony

फरीदाबाद: फरीदाबाद के विधायक अपनी अपनी विधानसभाओं में खूब विकास कराने के दावे कर रहे हैं लेकिन भगवान इंद्र समय समय पर बारिश करके नेताओं की पोल खोलते रहते हैं.

फरीदाबाद में कल रात बारिश हुई, NIT विधानसभा में कई जगह जलभराव की खबर आयी। क्षेत्र की जवाहर कालोनी में तो बारिश आते ही कई स्कूलों को बंद करने का एलान कर दिया गया।

जवाहर कालोनी का 45 फ़ीट रोड तालाब नजर आ रहा है। डबुआ कालोनी की कुछ सड़कों पर जलभराव की सूचना है। संजय कालोनी सेक्टर 23 से भी जलभराव की सूचना आ रही है। 

जलभराव से परेशान लोग स्थानीय विधायक पर सवाल उठा रहे हैं जिनका कहना है आज नगेन्द्र भड़ाना एनआईटी का दौरा करें और देखें उन्होंने क्षेत्र का किस तरह से विकास करवाया है।

शर्मनाक, पाली गाँव वालों ने एक लाख खर्च करके किया था विधायक का स्वागत, फिर भी नहीं बना रोड

faridabad-pali-village-nekpur-road-condition-very-bad-mla-not-worked

फरीदाबाद: पाली से नेकपुर की तरफ जाने वाले रोड की हालत बहुत खराब है. यहाँ के लोगों को नरक का अनुभव होता है लेकिन मौजूदा सरकार के 4 साल के कार्यकाल में भी रोड नहीं बन पाया.

यहाँ के निवासी प्रदीप भड़ाना ने बताया कि गली वालों ने वर्तमान विधायक का 1 लाख रुपये खर्च करके स्वागत किया था फिर भी रोड का काम नहीं हुआ.

प्रदीप भडाना ने बताया कि पाली से नेकपुर की तरफ जाने वाली गली पिछले चार साल से इतनी बुरी हालत में है कि यहाँ से पैदल की बात तो दूर मोटरसाइकिलों से निकलना भी बहुत मुश्किल है, हालत ये है कि हमें 500 मीटर दूर स्कूल के लिए भी स्कूल बसों का प्रयोग करना पड़ता है, यही नहीं बड़े बूढ़े घर से बाहर नहीं निकल पा रहे हैं.

pali-village-image-faridabad

प्रदीप भड़ाना ने बताया कि हमने सीएम विंडो पर भी इसकी शिकायत की लेकिन कोई कार्यवाही नहीं हुई, सरकार एवं प्रशासन बताए, हमारे साथ दोहरे व्यवहार का क्या कारण है.

नेकपुर गाँव वालों को नरक से आजादी नहीं दिलवा पाए सरपंच एवं NIT विधायक, इनके तो आ गए बुरे दिन

faridabad-nekpur-village-firni-water-logging-become-narak-no-action

फरीदाबाद: नेकपुर गाँव की फिरनी गाँव वालों के लिए नरक बन गयी है लेकिन इस नरक को साफ़ करने में गाँव के सरपंच और NIT विधायक नाकाम हो गए हैं, पिछले दो महीने से अखबारों में ख़बरें आ रही हैं लेकिन सरपंच और विधायक ने अपनी ऑंखें बंद कर रखी हैं, गाँव की फिरनी में कई फीट गन्दा पानी जमा हुआ है, जिसे फोटो में साफ़ साफ़ देखा जा सकता है.

गाँव वालों की शिकायत जब खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी तक पहुंची तो उन्होंने सरपंच सुंदरी देवी को तुरंत पानी निकालने की व्यवस्था करने  का आदेश दिया लेकिन सरपंच अभी तक समस्या का समाधान नहीं कर सकी हैं.

गाँव वाले परेशान हैं, अधिकारी, सरपंच और विधायक से गुहार लगाकर परेशान हो चुके हैं लेकिन समस्या का समाधान नहीं हो रहा है, यह रास्ता चार गाँवों को जोड़ता है, फतेहपुर तगा से नेकपुर होकर रोजाना पाखल जाने वाले हजारों लोग परेशान होते हैं, सबसे अधिक परेशानी स्कूली बच्चों को होती है, अब देखते हैं कि गाँव वालों को इस नरक से आजादी कब मिलती है.

इस मामले के शिकायतकर्ता जगबीर सिंह पोसवाल जो गाँव के ही निवासी हैं, उन्होंने कई बार इसकी शिकायत सरपंच, BDO को दी लेकिन अभी तक कोई कार्यवाही नहीं हुई है, अब उन्होंने इसकी शिकायत DC से की है, देखते हैं कि इसपर क्या एक्शन होता है.

पाखल में सरपंच परिवार पर हमला, दोनों भाईयों की तोड़ी गयी हड्डियाँ, फोर्टिस हॉस्पिटल में भर्ती

faridabad-pakhal-sarpanch-family-attacked-hoshiyar-singh-bishan-singh-injured

फरीदाबाद: पाखल के सरपंच परिवार पर आज गाँव के ही कुछ दबंगों ने हमला कर दिया. सरपंच वर्णिका के दोनों जेठ होशियार सिंह और बिशन सिंह को घर में घुसकर पीटा गया. दोनों भाइयों की हड्डियाँ तोड़ डाली गयीं जिनका इलाज फोर्टिस हॉस्पिटल में चल रहा है.

बिशन सिंह की हालत बिगडती देखकर उन्हें ICU में शिफ्ट किया गया है जबकि होशियार सिंह का कन्धा ही तोड़ दिया गया है. कई जगह और चोटें आयीं हैं. उनका CN Scan करवाकर प्लास्टर चढ़ाया जाएगा.

होशियार सिंह ने बताया कि उन्होंने पिछले एक साल से गाँव में कब्ज़ा हटाओ अभियान शुरू किया है, इसी सिलसिले में उनकी मांग पर कुछ महीनों पहले प्रशासन द्वारा शमशान घाट और एक फार्म हाउस तोडा गया था, तभी से कुछ लोग उनसे रंजिश पाले हुए थे, गाँव के ही कुछ लोग सरकारी जमीन पर प्राइवेट जिम बनाए हुए थे, उन्हें थोडा सा कंस्ट्रक्शन करवाना था इसलिए उन्होंने जिम हटाने को कहा था, हमलावर पक्ष ने जिम का सामान हटा भी लिया था लेकिन सरपंच परिवार से रंजिश पाले हुए थे.

होशियार सिंह और बिशन सिंह ने बताया कि इसी रंजिश वश गाँव के कुछ लोगों ने आज सरपंच परिवार में घुसकर हमला बोल दिया, वे लोग SC/ST तबके से हैं इसलिए उन्हें जातिसूचक शब्द बोले गए, गालियाँ दी गयीं, सरपंच वर्णिका सहित कई महिलाओं के साथ मारपीट और दुर्व्यहार किया गया, शराब पीकर उनके घर के सामने बाथरूम किया गया.

होशियार सिंह ने बताया कि पहले हमलावर लोग बिशन सिंह से लड़ाई कर रहे थे लेकिन जब उन्होंने विरोध किया तो उनपर लाठी डंडों, सरिया और ईंटों से हमला कर दिया गया. किसी तरह से उनकी जान बची. उन्होंने यह भी बताया कि सरपंच वर्णिका और घर में मौजूद अन्य महिलाओं के साथ मारपीट और दुर्व्यवहार किया गया.

इस मामले में नजदीकी धौज थाने की पुलिस को सूचना दे दी गयी है. पुलिस ने एस्कॉर्ट हॉस्पिटल में पहुंचकर दोनों के बयान लेने की कोशिश की लेकिन दोनों ही बालत बिगडती देखकर डॉक्टरों ने बयान नहीं लेने दिया, हमने पहले ही पहुंचकर बयान ले लिया था जिसका वीडियो नीचे दिया गया है.

पुलिस ने अभी तक FIR दर्ज नहीं की गयी थी, अब देखना है कि धौज पुलिस आरोपियों पर क्या कार्यवाही करती है लेकिन सरपंच परिवार में घुसकर हमला करना इस बात का सबूत है कि आरोपियों को पुलिस-प्रशासन और कानून का कोई डर नहीं है.

MLA नगेन्द्र भडाना का एक और बढ़िया काम, वार्ड-3 में फोड़ा 1 करोड़ 74 लाख के विकास का नारियल

mla-nagender-bhadana-started-road-1-crore-74-lakh-ward-3-nit-faridabad

फरीदाबाद। एनआईटी विधानसभा क्षेत्र 86 की जनता को अधिक से अधिक सुविधाएं देना ही मेरा परम कर्तव्य है यह उदगाार एनआईटी के विधायक श्री नगेन्द्र भडाना ने क्षेत्र की मोजिज सरदारी से लगभग 1 करोड़ 74 लाख की लागत से बनने वाली सडक का शुभारंभ किया। यह सडक नगर निगम वार्ड 3 संजय कालोनी एनआईटी विधान सभा में राजेंदर चोक से लेकर शहीद पार्क, पूलिस चोकी, तक 33 फीट सडक के दोनो तरफ़ पानी निकासी के लिये सीमेटेड द्वारा बनायी जायेगी। इस मौके पर उपस्थित जनता ने नगेन्द्र भडाना का आभार जताया।

इस मौके पर उपस्थित लोगों के सम्बोधित करते हुए विधायक नगेन्द्र भडाना ने कहाकि आज एनआईटी विधानसभा क्षेत्र ममें जो भी विकाास कार्य हो रहे है उसका श्रेय माननीय मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल खट्टर को जाता है जिन्होंने इस क्षेत्र को अपना आशीर्वाद दे रखा है और सदैव इस क्षेत्र के विकास के लिए खजाने का दरवाजा खोल रखा है। जिसके लिए मैं एनआईटी विधानसीभाा क्षेत्र की तरफ से माननीय मुख्यमंत्री का आभार जताता हूं। उन्होंने कहा कि इस सडक के बनने से संजय कोलोनी के हज़ारों लोगों को लाभ मिलेगा व जल भराव से छुटकारा मिलेगा।

इस अवसर पर पूर्व पार्षद धर्मवीर खटाना, पूर्व पार्षद गजिंदर पाल, पार्षद जयवीर खटाना, ड महेश कुमार, श्याम सिंह तंवर,अजब सिंह रावत, तेग़बहांदूर सिंह, अरूण सिंहए, लाल साहब, प्रेमी बैसला, संजीव कुमार, देविंदर सिंह, सुन्दर मावी, सुनील गुप्ता , नेतराम शर्मा, राजाराम चपराना, राकेश देशवाल, सल्लाऊदीन, रफ़ीक, मनोज पटेल, ऊधम वर्मा, प्रकाश शर्मा, अनिल,दर्शन मौर्य,मनीष तंवर, अश्वनी पाण्डेय, विनोद शर्मा, उमेश कुंडु, रोशन प्रधान, महिंदर पाण्डेय, ओमपाल शर्मा,एस.एन.सिंह, डब्बू प्रधान, राजवीर बैसला, विजय सिंह सहित दर्जनो गणमान्य लोग मौजूद रहे। सभी लोगों से सहयोग बनायें रखने की अपील की ।

टूटी रेलिंग, जर्जर और गड्ढे युक्त रोड, प्याली चौक से हार्डवेयर की हालत ख़राब, कहाँ हैं नेता लोग

pyali-chowk-hardware-road-condition-very-bad-relling-broken-hole-on-road

फरीदाबाद: ऐसा लगता है कि फरीदाबाद कुछ जगह नेता और MCF गायब हो गया है, शहर में कई जगह रेलिंग टूटी हुई है जिससे साबित होता है कि नेता लोग MCF के भ्रष्ट अधिकारियों से मिलकर नकली और घटिया रेलिंग लगवाते हैं और सरकारी पैसा खा जाते हैं, कई जगह रेलिंग लगाने के एक दो महीनें बाद टूट जाती है.

प्याली चौक से हार्डवेयर रोड की हालत बहुत खराब है, जगह जगह रेलिंग टूटी एवं मुड़ी हुई है जिसकी वजह से बड़ा एक्सीडेंट हो सकता है, इसके अलावा पूरे रोड पर जगह जगह गड्ढे हैं, पूरा रोड ही जर्जर है, लाखों लोग इस रास्ते से गुरुग्राम जाते हैं लेकिन रोड पर गड्ढे होने से जाम भी लगता है और लोगों को परेशानी भी होती है.

इस रोड की हालत देखकर लगता है कि इस क्षेत्र में विधायक-पार्षद हैं और ना ही MCF है, सबने आँखें बंद कर रखी हैं, हमने कई बार खबर लगाई जिसकी बाद रोड पर सिर्फ मिटटी डाल दी गयी लेकिन मिटटी फिर से गायब हो गयी है और रोड पर फिर से बड़े बड़े गड्ढे हो गए हैं.

अगर नेताओं का यही रवैया रहा तो आने वाले चुनावों में जनता इन्हें सबक जरूर सिखाएगी इसलिए इस रोड को तुरंत सही करवाया जाए, रेलिंग सही करवाई जाए एवं गड्ढों को भरा जाए. सड़कों की ऐसे हालत देखकर स्मार्ट सिटी का दावा करने वाले नेताओं पर जनता हंसती है.

NIT-2 में दिखाई दी बुलेट, नंबरप्लेट पर लिखा था - कुरैशी के ठिकाने, तू क्या तेरा बाप भी ना जानें

faridabad-nit-2-lakhani-dharmshala-bullet-seen-qureshi-without-number-plate

फरीदाबाद: हमारे चैनल ने फरीदाबाद में नंबर-प्लेट अभियान शुरू किया है, हमारे पाठक जहाँ भी बिना-नंबरप्लेट की बाइक या कार देखते हैं तो उसकी फोटो खींचकर भेजते हैं, कई लोग नंबरप्लेट पर नंबर की जगह अपनी जाति लिख देते हैं.

हमारे पास ऐसी ही एक बुलेट की फोटो NIT-2 से आयी है, बुलेट पर नंबरप्लेट नहीं था, नंबरप्लेट पर लिखा था - कुरैशी के ठिकाने, तू क्या, तेरा बाप भी ना जानें.  हमारे एक पाठक ने यह फोटो खींचकर भेजी है.

ट्रैफिक नियम के मुताबिक़ वाहनों के आगे और पीछे नंबरप्लेट होनी जरूरी है, पुलिस को ऐसे वाहनों का चालान काटना चाहिए क्योंकि अगर ऐसे वाहन के जरिये चोरी, लूट की वारदात को अंजाम दिया जाएगा तो लोग नंबर नहीं नोट कर पाएंगे, यही नहीं ऐसे लोग अगर किसी को एक्सीडेंट में मारकर भाग जाएंगे तो भी उनकी गाड़ियों का नंबर नहीं पता चलेगा.

घोंची में दिखी बिना नंबरप्लेट की मोटरसाइकिल

faridabad-ghonchi-bike-seen-without-number-plate

फरीदाबाद: हमारे चैनल ने फरीदाबाद में नंबर-प्लेट अभियान शुरू किया है, हमारे पाठक जहाँ भी बिना-नंबरप्लेट की बाइक या कार देखते हैं तो उसकी फोटो खींचकर भेजते हैं, कई लोग नंबरप्लेट पर नंबर की जगह अपनी जाति जैसे - गुर्जर, जाट, ठाकुर, राजपूत या अन्य लिख देते हैं.

हमारे पास ऐसी ही बाइक की एक फोटो घोंची से आयी है जिसपर नंबरप्लेट पर नंबर की जगह गुर्जर जाति लिखी हुई है. हमारे एक पाठक ने यह फोटो खींचकर भेजी है.

ट्रैफिक नियम के मुताबिक़ वाहनों के आगे और पीछे नंबरप्लेट होनी जरूरी है, पुलिस को ऐसे वाहनों का चालान काटना चाहिए क्योंकि अगर ऐसे वाहन के जरिये चोरी, लूट की वारदात को अंजाम दिया जाएगा तो लोग नंबर नहीं नोट कर पाएंगे, यही नहीं ऐसे लोग अगर किसी को एक्सीडेंट में मारकर भाग जाएंगे तो भी उनकी गाड़ियों का नंबर नहीं पता चलेगा.

खबर का हुआ असर, नेकपुर गाँव की फिरनी से गन्दा पानी निकालने के लिए सरपंच को दिए गए आदेश

faridabad-nekpur-village-water-logging-problem-bdo-order-sarpanch-to-solve

फरीदाबाद: पिछले काफी दिनों से हमने नेकपुर गाँव वालों की समस्या उठा रखी है जिसपर अब अधिकारियों का ध्यान गया है और ग्राम सरपंच को समस्या का समाधान करने के आदेश दिए गए हैं.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि नेकपुर गाँव की फिरनी में कई फूट गन्दा और बदबूदार पानी भरा हुआ है, यहाँ से लोगों का निकलना मुश्किल है. खासकर स्कूली बच्चों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है. हमने वीडियो के जरिये गाँव वालों की समस्या से प्रशासन को अवगत कराया था, देखिये - 



हमारे अभियान का असर हुआ है, खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी ने नेकपुर गाँव की सरपंच सुंदरी देवी को पानी की निकासी करवाने का आदेश दिए हैं. इस सम्बन्ध में ग्राम सरपंच को एक पत्र जारी किया गया है.

faridabad-nekpur-village-water-logging-problem

नागेंद्र भड़ाना ने की CM खट्टर से मांग, हमारी जनता के लिए प्याली चौक पर भी बनाइये मेट्रो स्टेशन

mla-nagender-bhadana-demand-cm-khattar-metro-station-pyali-chowk

फरीदाबाद: NIT विधानसभा के विधायक नागेन्द्र भड़ाना भी कल शंखनाद रैली में भाजपा के मंच पर नजर आये. उन्होंने मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर से एक बड़ी मांग की.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि फरीदाबाद से गुरुग्राम के लिए मेट्रो का रूट प्याली चौक से होकर जाएगा लेकिन प्याली चौक पर मेट्रो स्टेशन बनाने की योजना प्रोजेक्ट में शामिल नहीं है, बडखल एन्क्लेव मेट्रो स्टेशन बनाया जाएगा लेकिन NIT विधानसभा वालों को इससे कोई लाभ नहीं होगा, डबुआ कॉलोनी, जवाहर कॉलोनी, पर्वतिया कॉलोनी, सेक्टर 22, 23, प्रेस कॉलोनी, सारन, भड़ाना चौक, नंगला, NIT-1, 2 आदि क्षेत्रों में रहने वाली जनता को मेट्रो पकड़ने के लिए बडखल जाना पड़ेगा.

जनता की इस परेशानी को विधायक नागेन्द्र भड़ाना ने समझा और मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर से मांग की कि प्याली चौक पर भी मेट्रो स्टेशन जरूर बनाया जाय, अगर सरकार उनकी मांग मंजूर करती है तो लाखों लोगों खासकर NIT विधानसभा क्षेत्र की जनता को बहुत फायदा होगा.

अब देखना है कि भाजपा सरकार उनकी मांग मंजूर करती है या नहीं लेकिन अगर उनकी मांग मंजूर की गयी तो आने वाले लोकसभा चुनाव और विधानसभा चुनाव में भाजपा को बहुत फायदा होगा क्योंकि प्याली चौक पर मेट्रो स्टेशन बनने से लाखों लोगों को फायदा होगा.

फरीदाबाद-गुरुग्रं मेट्रो के प्रस्तावित रूट-मैप की फोटो

faridabad-gurugram-metro-route-map

LN पाराशर ने HUDA अधिकरियों को सेक्टर-56 जाने को किया मजबूर, घोटालेबाज अफसरों पर FIR की मांग

advocate-ln-parashar-demand-corrupt-huda-officer-fir-sector-56-flats

फरीदाबाद: शहर के विभिन्न जगहों पर गरीबों के लिए बने लगभग 5000 फ़्लैट लगभग पूरी तरह से जर्जर हो गए लेकिन सम्बंधित अधिकारी सोते रहे। अब जब मैंने इन्हे आइना दिखाया तक ये कुछ जगहों पर फ्लैटों का निरीक्षण करने पहुंचे। इन अधिकारियों को डबुआ कालोनी में बने फ़्लैट भी देखना चाहिए जहाँ के सैकड़ों फ़्लैट पूरी तरह से जर्जर हो चुके हैं। ये कहना है बार एसोशिएशन के पूर्व प्रधान एवं न्यायिक सुधार संघर्ष समिति के अध्यक्ष एडवोकेट एल एन पाराशर का जिन्होंने इन जर्जर फ्लैटों का मामला उठाया था। वकील पाराशर ने कहा कि मुझे सूचना मिली कि शुक्रवार को हुडा एडमिस्ट्रेटर धर्मेंद्र सिंह की अध्यक्षता में उनके विभाग के कई अधिकारियों ने इस सेक्टर 56 ,56ए में बनाए गए फ्लैटो का निरीक्षण किया था और अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे फ्लैटों में पेयजल सप्लाई ,बिजली ,सिवरेज व्यवस्था सहित तमाम कार्यों को सुचारू रूप से पूरा करवाना सुनिश्चित करें।

वकील पाराशर ने सेक्टर पहुंचे हुडा के अधिकारियों के बारे में कहा कि देर से वहाँ पहुंचे हैं लेकिन अब भी वो जल्द वहाँ रहने वालों को ये सभी सुविधाएँ देते हैं तो वहाँ रहने वालों को थोड़ी ख़ुशी जरूर मिलेगी। वकील पाराशर ने कहा कि मैंने सवाल उठाया था कि इन फ्लैटों के निर्माण में बड़ा घोटाला हुआ है और इसकी जांच कराई जानी चाहिए क्यू कि लगभग 10 साल पहले ये फ़्लैट बनाये गए थे और 10 वर्षों में तो मिट्टी की दीवार भी नहीं गिरती। वकील पाराशर ने कहा कि मैंने कई ऐसे निर्माण देखे हैं जहाँ सीमेंट की जगह मिट्टी का प्रयोग किया जाता है लेकिन 10 वर्षों में वो निर्माण भी नहीं गिरते और यहाँ मिट्टी नहीं सीमेंट से फ़्लैट बने हैं और 10 वर्षों में गिरने लगे हैं। वकील पाराशर ने कहा कि इस निर्माण में घटिया मैटेरियल लगा है और जांच करवाने पर कई करोड़ का घोटाला सामने आ जाएगा।

उन्होंने कहा कि जो अधिकारी मौके पर गए थे उन्हें इस बारे में भी सोंचना चाहिए कि सरकारी निर्माण इतनी जल्दी क्यू गिरने लगा। वकील पाराशर ने कहा कि जो अधिकारी सेक्टर 56 गए वो नेताओं जैसे आश्वाशन दे आये हैं लेकिन मैं इनका तब तक पीछा नहीं छोडूंगा जब तक उन गरीबो को सभी सुविधाएँ नहीं मिल जातीं। वकील पाराशर ने कहा कि वहां 2080 फ़्लैट बने हैं और अरबों की लागत से बने हैं जिनमे घटिया मैटेरियल लगाया गया है, यही हालत डबुआ में बने फ्लैटों के है। मैं सीएम को पत्र लिख मांग करूंगा कि इसकी जांच करवाई जाए और जिसने ये घोटाला किया है उसकी संपत्ति जब्त की जाए और उस पर मामला दर्ज किया जाए।