Followers

Showing posts with label NIT Faridabad. Show all posts

NIT-86: वार्ड-1, राजीव कॉलोनी, गली नंबर-7 में सीवर समस्या, कीचड़नुमा नरक से जनता परेशान

 

nit-86-vidhansabha-ward-1-rajiv-colony-sewerage-news-hindi

फरीदाबाद, 21 अक्टूबर: फोटो में दिख रहा एरिया NIT-86 विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत आता है. वार्ड-1, राजीव कॉलोनी, गली नंबर 7, (Near House Number 483/1)) खान मार्किट के पास सीवर समस्या का बुरा हाल है, नालियां और सीवर बजबजा रही हैं, पूरी गली में कीचड़नुमा नरक फैला हुआ है, यहाँ पर एक प्लाट खाली है जहाँ पर गन्दगी जमा है और पानी भरा हुआ है, कीचड गली में फैला हुआ है.

यहाँ के विधायक Neeraj Sharma हैं, यहाँ की पार्षद सपना डागर हैं. 

यहाँ के लोगों ने बताया कि गली में कई दिनों से सीवर की समस्या है लेकिन ना तो MCF सुनवाई कर रहा है और ना ही विधायक पार्षद कोई कार्यवाही कर रहे हैं, बदबू और गन्दगी से हम लोग परेशान हैं.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि यह इलाका नगर निगम के क्षेत्र में आता है, नगर निगम में जाने पर लोग खुश होते हैं क़ि अब तो हमारा विकास हो जाएगा लेकिन फरीदाबाद नगर निगम ने लोगो की सोच को गलत साबित किया है. यहाँ ना तो सफाई हो रही है, सीवर लाइन डालने के बाद भी गली नरक बनी हुई है.

अब देखते हैं कि यहाँ के नेता और नगर निगम इस समस्या का समाधान कब करते हैं, जैसे ही समस्या का समाधान होगा, पाठकों को अपडेट किया जाएगा।

Faridabad NIT-2: Kiran Gera को फरीदाबाद पुलिस ने ढूंढकर परिवार से मिलाया

 

फरीदाबाद, 14 अक्टूबर: फरीदाबाद NIT-2, M-74 निवासी एक महिला किरन गेरा कई दिनों से गायब थी, पति ने कोतवाली थाने के अंतर्गत NIT-2 पुलिस चौकी  में गुमशुदगी की रिपोर्ट दी जिसपर कार्यवाही करते हुए कोतवाली थाना ने IPC 346 के तहत मामला (FIR 404) दर्ज कर किया और किरन गेरा को कश्मीर से ढूंढकर परिवार को सौंप दिया।

सचिन गेरा ने FIR में लिखा है - मैं सचिन गेरा S/O यशपाल गेरा निवासी 2M-74 एन आई टी न0 2 फरीदाबाद का रहने वाला हूँ मेरी शादी 2010 में किरन गेरा D/O रमेश निवासी 2/E/131 एन. आई. टी फरीदाबाद के साथ हुई थी जो मेरी दो बेटियां पैदा हुई थी.

उन्होंने बताया 3 साल पहले मेरी बडी बेटी की एक्सीडेन्ट के कारण मौत हो गई थी, हम पति पत्नी व एक बेटी नुतिका गेरा उम्र 5 साल व मम्पी पापा के साथ एक साथ रहते है. मैं ड्राइवरी करता हूँ. दिनांक 9-10-2020 को मैं अपनी ड्युटी पर गया हुआ था, करीब 1 बजे दिन को मेरे पिताजी का फोन आया कि किरन 10 बजे से सुबह से घर से गयी है और कुछ बता के नही गयी और अभी तक नही आ है जिसे हम अपने तौर पर अब तक तालाश करते रहे है जो नही मिली है.

सचिन गेरा ने लिखा है - मेरी पत्नी के पास मोबाईल न0 8448327312 है जो कल से ही बन्द है. कृपया करके मेरी पत्नी तालाश की जाए। जो हुलिया रंग गोरा, पतला शरीर, कद 5 फुट 1 इंच है हरा व काला रंग का सूट पहने हुए है।

नंगला एंक्लेव पार्ट-1 में गुंडों ने एक परिवार पर हमला करके कई लोगों को किया घायल

faridabad-nangla-enclave-part-1-gunde-attack-on-local-residents

फरीदाबाद, 28 सितम्बर: नंगला एंक्लेव पार्ट-1 में गुंडों ने एक परिवार पर हमला करके कई लोगों को घायल कर दिया। पीड़ित परिवार सांप निकलने की वजह से घर से बाहर निकल आया था, सांप को मारने के लिए लोग सड़क पर निकल आये थे जिसमें गली के लोग थे.

पीड़ितों ने बताया कि कुछ गुंडे बगल में पी-खा रहे थे, शोर सुनकर गुंडे बाहर निकले और सरिया, लाठी, डंडों से गली के लोगों पर हमला कर दिया।

इस हमले में जसवंत, ज्योतिष, देवी शरण सोनी जो बिहार के रहने वाले हैं पिता का नाम शक्ति भूषण प्रसाद है, इन्हें गंभीर चोट आयी है, दो घायल लड़के बीके हॉस्पिटल में पहुंचे और एमएलआर कटवाई, एक लड़के को फोर्टिस हॉस्पिटल में भर्ती किया गया.

इस वारदात की सूचना पर्वतीय कॉलोनी पुलिस चौकी को दी गयी है, पुलिस ने आज 9 बजे पीड़ित लोगों को बुलाकर कार्यवाही करने का भरोसा दिया है. पीड़ित लोगों ने गुंडों पर कड़ी कार्यवाही की मांग की है.

NIT86 विधानसभा की जनता पानी की किल्लत से परेशान, गरीब लोग पानी के लिए भटक रहे

nit-86-vidhansabha-pani-ki-killat-mcf-fail-faridabad 
फरीदाबाद 19 सितंबर: फरीदाबाद एनआईटी विधानसभा क्षेत्र में पानी की किल्लत से जनता बहुत परेशान है, पिछले 2 दिनों से टैंकर वालों ने हड़ताल कर दी है और सप्लाई का पानी भी नहीं आ रहा है जिसकी वजह से गरीब लोगों के घरों में आफत का पहाड़ टूट पड़ा है और सभी लोग कैन लेकर बाहर पानी भरने जा रहे हैं.

पानी के लिए परेशान लोग नगर निगम के खिलाफ बड़ा प्रदर्शन भी कर सकते हैं और कई पार्षद भी सड़क पर उतर सकते हैं क्योंकि अगर पानी की समस्या का समाधान नहीं हुआ तो आने वाले नगर निगम चुनाव में लोग पार्षदों के खिलाफ अपनी नाराजगी प्रकट कर सकते हैं पार्षद लोग भी इस बात को बखूबी समझ रहे हैं इसलिए पहले ही नगर निगम के खिलाफ मोर्चा खोलकर खुद को बचाने का प्रयास कर सकते हैं.

एनआईटी विधानसभा में डबुआ कॉलोनी, जवाहर कॉलोनी, पर्वतीय कॉलोनी, नंगला एनक्लेव पार्ट वन, पार्ट 2, संजय कॉलोनी, सेक्टर 23 और अधिकतर इलाकों में पानी की समस्या पैदा कर दी गई है हर तरफ की जनता परेशान है.

सीवर से जनता परेशान, देखिये क्या है MCF के इलाकों का हाल, वार्ड-5 पर्वतिया कॉलोनी, गली नंबर-12

 faridabad-mcf-work-ward-5-parvatia-colony-sewerage-problem


फरीदाबाद, 12 सितम्बर: फरीदाबाद नगर निगम ने 26 और गाँवों को अपने दायरे में लेने के मन बनाया है लेकिन अभी अपने क्षेत्रों का विकास नहीं कर पाया है. नगर निगम क्षेत्र में 40 वार्ड आते हैं.

फोटो में वार्ड - 5 की सूरत दिखाई गयी है. वार्ड-5 पर्वतिया कॉलोनी, गली नंबर-12, नजदीक विद्यासागर स्कूल के पास सीवर समस्या से जनता बहुत परेशान है. यहाँ के लोगों ने बताया कि कई बार शिकायत के बाद भी समस्या का समाधान नहीं हुआ है.

यहाँ के लोगों ने बताया कि सीवरेज समस्या और गन्दगी को ख़त्म करने के लिए सीवर लाइनें तो डाली गयीं लेकिन साफ़ सफाई के आभाव में ये किसी काम की नहीं हैं. थोड़ी सी बारिश में ही सीवर ओवरफ्लो हो जाता है और गन्दा पानी सड़कों पर और लोगों के घरों में जाने लगता है. इस गंदे पानी से इतनी बदबू आती है कि जीना मुश्किल हो जाता है.

यहाँ की पार्षद ललिता यादव हैं और विधायक नीरज शर्मा हैं जो कांग्रेस पार्टी से हैं. जनता पूरी तरह से परेशान हिअ, नगर निगम लोगों की समस्याओं का समाधान नहीं कर पा रहा है.

देखिये MCF क्षेत्र के वार्ड - 23, सूर्या विहार पार्ट-2 का हाल, डेढ़ साल से खुदी है सड़क

 

फरीदाबाद, 11 सितम्बर:  फरीदाबाद नगर निगम ने 26 गाँवों को अपने दायरे में लेने का फैसला किया है लेकिन कई गाँवों में MCF का विरोध हो रहा है. कुछ लोग कह रहे हैं कि अभी नगर निगम ने अपने क्षेत्र का विकास नहीं किया है, हर तरफ गन्दगी, सीवर समस्या, गंदे पानी की समस्या और टूटी सड़कों की समस्या है.

अगर  गौर किया जाए तो ये लोग सच बोल रहे हैं, फोटो में दिख रहा एरिया MCF क्षेत्र में आता है, वार्ड - 23, सूर्या विहार पार्ट - 2 का हाल आप खुद देख सकते हैं, यहाँ के लोगों ने बताया कि करीब डेढ़ साल पहले सीवर के लिए यह सड़क खोदी गयी थी जिसे आज तक बनाया नहीं गया है, क्षेत्र के लोगों की जिंदगी नरक बन गयी है.

यही हाल कई अन्य क्षेत्रों का भी है. पर्वतिया कॉलोनी, नंगला, ओल्ड फरीदाबाद सहित कई क्षेत्रों में ऐसे ही हालात देखने को मिल रहे हैं. इन क्षेत्रों में भी सड़कें खोद दी गई हैं लेकिन कई महीनें बीत जाने के बाद भी सड़कों को फिर से नहीं बनाया गया है और ना ही सीवर सिस्टम दुरुस्त हो पाए जिसकी वजह से जगह जगह जलभराव की समस्या देखने को मिल रही है.

विधायक ने चोटी कटवाने की कसम देकर माँगा था वोट, लेकिन नहीं बदली सूरत, यहाँ की जनता बहुत परेशान

faridabad-nit-86-vidhansabha-nangla-enclave-part-1-no-development

फरीदाबाद, 4 सितम्बर: वैसे तो NIT-86 विधानसभा के अधिकतर इलाके नरक बने हुए हैं लेकिन सोहना रोड सरूरपुर चौक संजय एनक्लेव, वार्ड नंबर 9, पार्ट वन, नजदीक मसल्स जिम का बहुत बुरा हाल है.

कांग्रेस विधायक ने यहाँ के लोगों से यह कहकर वोट मांगे थे कि अगर मैंने यहाँ की सूरत नहीं बदली तो मैं अपनी चोटी कटवा लूँगा, जनता ने उनपर भरोसा जताते हुए उन्हें वोट देकर विजयी बनाया लेकिन उनकी जीत के बाद भी यहाँ की सूरत नहीं बदली और जनता आज भी नरक में जीने को मजबूर है.

यहाँ के लोगों ने बताया कि अब उन्हें अपनी गलती पर पछतावा हो रहा है, उन्होंने विधायक पर भरोसा जताकर गलत किया कर आज इसी वजह से वे नरक जैसी जिंदगी जी रहे हैं.

विधायक भी मजबूर

दरअसल यहाँ के कांग्रेस विधायक भी मजबूर हैं, वे भले ही चुनाव जीत गए लेकिन उनकी पार्टी की सरकार नहीं है इसलिए फंड लाने में उन्हें दिक्कत हो रही है, वह इस वक्त सरकार का खुलकर विरोध कर रहे हैं इसलिए भाजपा सरकार भी अब उनपर भरोसा करने से परहेज कर रही है वरना सरकार कुछ ना कुछ फंड देकर यहाँ का विकास जरूर करवाती। अब पांच साल NIT - 86 की जनता की किस्मत में सिर्फ हाथ मलना ही लिखा है.

प्याली चौक पर मेट्रो स्टेशन, नागेंद्र भड़ाना की मांग पर बोले मंत्री KPG, वह CM से बात करेंगे

nagender-bhadana-demand-metro-station-at-pyali-chowk-faridabad

फरीदाबाद: एनआईटी विधानसभा से पूर्व विधायक नागेंद्र भड़ाना ने केंद्रीय मंत्री और फरीदाबाद से सांसद कृष्णपाल  गुज्जर के सम्मान में अभिनन्दन समारोह का आयोजन किया। इस दौरान सभी छत्तीस बिरादरी के गणमान्य लोगो ने केंद्रीय मंत्री कृष्णपाल गुज्जर को पगड़ी बांधकर  उनका सम्मान किया। इतना ही नहीं वहां मौजूद सैकड़ो लोगो ने केंद्रीय मंत्री को गुलदस्ता देकर जोरदार स्वागत किया। इस मौके पर कृष्णपाल गुज्जर ने सभी छत्तीस बिरादरी का धन्यवाद करते हुए कहा है कि आज भारत रत्न पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की पुण्यतिथि है, सबसे पहले उनके चरणों में श्रद्धांजलि अर्पित करता हूँ। 

इस दौरान केंद्रीय मंत्री कृष्णपाल गुज्जर विपक्ष पर जमकर बरसे। उन्होंने कहा है कि फरीदाबाद का विकास करने के लिए कांग्रेस सरकार को किसने रोका था।  लेकिन विकास कार्यो के लिए साफ़ नियत होनी चाहिए, कांग्रेस सरकार केवल भ्रष्टाचार में लिप्त रही। कांग्रेस को विकास कार्यो के बारे में तो सोचने के समय ही नहीं था। लेकिन जबसे प्रदेश में भाजपा की सरकार बनी है फरीदाबाद में सड़को, स्कूल, फ्लाईओवर का जाल बिछ रहा है।  नहरपार जाने के लिए लोगों को घंटो जाम में फसना पड़ता था, लेकिन मनोहर सरकार ने नहरपार के लोगों के लिए इतने पुल बना दिए है कि अब लोग जाम में नही फसते है, पूरा नहरपार जाम मुक्त हुआ है।  कांग्रेस सरकार ने पुल की बात तो छोड़िये एक पुलिया तक नहीं बनाई,

सरकार ने पूरे पांच साल में सभी विधानसभा में कॉलेज और स्कूल बनाये, आज शहरो की सभी कॉलोनियों में पीने के पानी और सीवर की लाइन डाली जा रही है।  काम करने की नीयत होने चाहिए, अगर कांग्रेस सरकार ने काम किया होता तो हमें मौका नहीं मिलता, मोदी-मनोहर के राज में सबका साथ सबका विकास एक समान हो रहा है। केंद्र में मोदी और प्रदेश में मनोहर की सरकार है। दोनों ईमानदार भी है-शानदार भी है और जानदार भी है। पूरी दुनिया इनका लोहा मानाती है।

इस मौके पर पूर्व विधायक नागेंद्र भड़ाना ने कहा है कि केंद्रीय मंत्री कृष्णपाल गुज्जर और मनोहर लाल खट्टर के बदौलत NIT विधानसभा में 300 करोड़ के काम शुरू कराये, जिसके लिए उन्होंने कृष्णपाल गुज्जर का धन्यवाद भी किया।  इस दौरान नागेंद्र भड़ाना ने कहा है कि दुर्भाग्य से इस बार NIT विधानसभा को एक ऐसा विधायक मिला है जिसे विधानसभा के विकास से कोई लेना-देना नहीं है। उसे बस किसी कंपनी के आगे बैठकर कीर्तन और मंजीरा बजाने से फुर्सत नहीं है। साथ ही उन्होंने मौजूदा विधायक पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा है विधायक कंपनी मालिकों को ब्लैकमेल कर अपनी जेब भरने का काम कर रहे है। लोगों ने प्रॉपर्टी डीलर विधायक चुना है जहां विधायक का शेयर नहीं होता है वहां विधायक कुछ अधिकारियो से मिलकर गरीब मज़दूर के घरो को तुड़वा देता है।  मैं उन अधिकारियो को चेतावनी देना चाहता हूँ कि भारतीय जनता पार्टी की सरकार मनोहर की सरकार है-कृष्णपाल गुज्जर की सरकार है जो गरीब मज़दूर की सरकार है। इस सरकार में कोई गलत काम नहीं होने दिया जायेगा । उन्होंने कहा है कि आज NIT विधानसभा की जनता कांग्रेस का विधायक चुनकर पछता रही है।

इस मौके पर पूर्व विधायक नागेंद्र भड़ाना ने केंद्रीय मंत्री कृष्णपाल गुज्जर से मांग की है कि फरीदाबाद गुरुग्राम मेट्रो रुट के लिए प्याली चौक / बाबा दीप सिंघ शहीद चौक पर मेट्रो स्टेशन बनाया जाये। इस मेट्रो स्टेशन बनाने के बाद NIT-बल्लभगढ़ और बड़खल विधानसभा के लोगों को फायदा पहुँचेगा। यह मेट्रो स्टेशन त्रिवेणी का काम करेगा। इसलिए मैं केंद्रीय मंत्री से निवेदन करता हूँ कि प्याली चौक पर ही मेट्रो स्टेशन बनाया जाये।  

नागेंद्र भड़ाना की मांग को लेकर कृष्णपाल गुज्जर ने कहा है कि भड़ाना की मांग जायज है,उसपर पर गंभीरता से विचार करेंगे।  मैं इस मुद्दे पर प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर से बात करेंगे और समस्या का समाधान करेंगे

इस मोके पर केंद्रीय मंत्री कृष्णपाल गुज्जर, विधायक सीमा, भाजपा फ़रीदाबाद के अध्यक्ष गोपाल शर्मा, पूर्व विधायक राजेंद्र बीसला, भाजपा नेत्री अंजु भड़ाना जी,एन॰आई॰टी॰ विधानसभा के सभी पार्षद वार्ड 5 से ललिता यादव, वार्ड 6 से सुरेंदर अग्रवाल, वार्ड 7 से बीर सिंह नैन, वार्ड 9 से महेन्द्र सरपंच, वार्ड 10 से मानवीर भड़ाना व एन॰आई॰टी॰ विधानसभा के सभी गाँव के सरपंच भी मोज़ुद रहे। सरपंच बलबीर भड़ाना, सुंदर सरपंच, पप्पू सरपंच, जयचंद पोसवाल, भारत चैरमेन, गजराज सरपंच, जनकी सरपंच, गिर्राज सरपंच, सरपंच केड़ी खान, अच्च खाँ तवर, सबिर सरपंच, ज़ैद सरपंच, अरसद सरपंच, इसूप सरपंच, केसर सरपंच, करमबीर सरपंच, हरेन्द्र नम्बरदार, रोहित सरपंच,  ममचंद प्रधान व इसके साथ समाज के अन्य गणमान्य लोग मोज़ुद रहे।

भाजपा सरकार में पत्थरों पर अपना नाम लिखवाना चाहते हैं कांग्रेस विधायक, हुए नाराज

nit-86-congress-mla-neeraj-sharma-angry-with-haryana-bjp-sarkar

फरीदाबाद, 14 अगस्त: यह बात तो सब जानते हैं कि जब कांग्रेस की सत्ता होती है तो भाजपा विधायकों और सांसदों के नाम पत्थरों पर नहीं लिखे जाते, इसी तरह से भाजपा सरकार में कांग्रेस विधायकों के नाम पत्थर पर नहीं लिखे जा रहे हैं.

NIT-86 के कांग्रेस विधायक भाजपा सरकार में गाड़े जा रहे पत्थरों पर अपना नाम लिखवाना चाहते हैं इसलिए वह भाजपा सरकार ने नाराज हो गए हैं.

आपको बता दें कि हरियाणा के शिक्षामंत्री कंवरपाल गुर्जर ने शुक्रवार फरीदाबाद में एनआइटी, बड़खल और तिगांव विधानसभा क्षेत्र के तीन गांव क्रमश: अनंगपुर, गौंछी,फरीदपुर के सरकारी स्कूल के नए भवनों का नींव पत्थर रखे। अनंगपुर और गाैंछी गांव के सरकारी स्कूल के भवनों के नींव पत्थर गांव अनंगपुर में आयोजित एक कार्यक्रम में रखे गए जबकि एक कार्यक्रम फरीदपुर स्कूल में रखा गया। गौंछी गांव चूंकि एनआइटी-86 में है, इसलिए यहां के सरकारी स्कूल के नए भवन का नींव पत्थर अनंगपुर गांव के कार्यक्रम से ही रखा गया।

गौंछी गांव के सरकारी स्कूल के नींव पत्थर पर एनआइटी-86 से कांग्रेस विधायक नीरज शर्मा का नाम नहीं लिखा गया। जबकि तिगांव और बड़खल क्षेत्र के विधायक का नाम लिखा गया। केंद्रीय राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर का नाम भी लिखा गया। 

NIT-86 के कांग्रेस विधायक नीरज शर्मा ने इसकी शिकायत विधानसभा अध्यक्ष से की है। विधानसभा अध्यक्ष को लिखे पत्र में नीरज शर्मा ने इसे विधायक के विशेषाधिकार का हनन बताया है और इसकी जांच विशेषाधिकार समिति काे सौंपने का आग्रह किया है। इसके साथ ही नीरज शर्मा ने कहा है कि सरकार एक तरफ तो सबका साथ, सबका विकास करने का नारा दे रही है दूसरी तरफ इस तरह के कार्य करके जनभावनाओं का निरादर कर रही है। यह नीरज शर्मा का अपमान नहीं है बल्कि एनआइटी-86 के लाखों लोगों का अपमान है। वैसे भी जिस संकीर्ण मानसिकता के साथ यह कार्य हुआ है,उससे सरकार यह सोच रही है कि पत्थर पर नाम नहीं लिखकर नीरज शर्मा का नाम नहीं मिटाया जा सकता बल्कि नीरज शर्मा का नाम तो एनआइटी-86 के लोगों के दिलो-दिमाग पर लिखा है।

यशवीर डागर की मांग को पसंद कर रहे हैं लोग, बल्लभगढ़, सोहना मोड़, प्याली चौक से GM जाए मेट्रो

nia-86-vidhansabha-bjp-leader-yashvir-dagar-demand-metro-route

फरीदाबाद, 4 अगस्त: फरीदाबाद गुरुग्राम मेट्रो प्रोजेक्ट की फाइनल DPR को देखकर NIT विधानसभा की जनता को काफी दुःख और निराशा हुई क्योंकि इस DPR के मुताबिक़ प्याली चौक पर मेट्रो स्टेशन नहीं बनेगा बल्कि बाटा चौक से अंडरग्राउंड होकर बड़खल एन्क्लेव से होते हुए गुरुग्राम के लिए मेट्रो रेल जाएगी।

फरीदाबाद विधानसभा के नेता प्याली चौक पर मेट्रो स्टेशन बनाने की मांग कर रहे हैं. भाजपा नेता और पूर्व विधानसभा उम्मीदवार यशवीर डागर ने कहा कि सिर्फ प्याली चौक पर मेट्रो स्टेशन बनाने से NIT विधानसभा की जनता की यातायात की समस्या नहीं हल होगी।

उन्होंने कहा कि मैंने मुख्यमंत्री मनोहर लाल जी से मिलकर उनसे मांग की है कि मेट्रो के प्रस्तावित रुट में बदलाव किया जाय और गुरुग्राम को बल्लभगढ़ से जोड़ा जाए. हम चाहते हैं कि बल्लभगढ़ से सोहना मोड़ और प्याली चौक होते हुए गुरुग्राम की तरफ मेट्रो रेल जाए. अगर ऐसा होगा तो NIT विधानसभा के लोगों को बल्लभगढ़ जाने के लिए भी साधन मिल जाएगा और बड़खल विधानसभा भी बल्लभगढ़ से जुड़ जाएगा।

उन्होंने कहा कि अगर मुख्यमंत्री जी इस रुट पर विचार करेंगे तो पूरे शहर की जनता का फायदा होगा। उन्होंने कहा की फरीदाबाद की ज्यादातर जनता कॉलोनियों में है, सेक्टर में तो चौड़ी चौड़ी सड़कें हैं और सबके के पास अपने वहां होते हैं लेकिन गरीबों के पास ना तो वाहन हैं और ना ही NIT विधानसभा में चौड़ी चौड़ी सड़के हैं. इसलिए गरीबों को मेट्रो की सबसे ज्यादा जरूरत है.

उन्होंने कहा कि मेट्रो रेल की सबसे अधिक जरूरत सोहना रोड के आरपार बसे लोगों - सेक्टर 55, 56, राजीव कॉलोनी, वार्ड - 1, सरूरपुर क्षेत्र, सेक्टर-22, 23, 24, 25, संजय कॉलोनी, परवतिया कॉलोनी, जवाहर कॉलोनी, प्रेस कॉलोनी, नंगला, डबुआ कॉलोनी क्षेत्र में रहने वाली गरीब जनता को है. अगर मुख्यमंत्री जी ने इस रुट पर विचार किया तो इसे पूरी NIT विधानसभा की जनता का भला होगा।


महा-फ्रॉड का पर्दाफाश: राशन कार्ड किसी और का, बीच में घुसकर कई वर्षों से पंकजा ले रहा राशन

ration-card-fraud-in-ghonchi-jeewan-nagar-part-2-nit-vidhansabha-news
फरीदाबाद, 7 मई: फरीदाबाद में राशन वितरण में महालूट जारी है. ऐसा लगता है कि लुटेरों को राशन डिपो वितरित कर दिए गए हैं और वे फ्रॉड करके गरीबों का राशन खुद ही खा रहे हैं.

आज जीवन नगर, गाँव गोंछी, के रहने वाले नीरज कुमार ने हमें बताया कि उनके राशन कार्ड नंबर - 066002124179 से कोई अज्ञात आदमी पिछले पांच वर्षों से राशन ले रहा है. जब नीरज डिपो वाले के पास गया तो उसे बताया गया कि उसका राशन कार्ड कट गया है. नीरज उसके बाद चुपचाप घर बैठ गए जबकि 8 उनके परिवार के 8 सदस्यों के लिए लगातार राशन आ रहा है और पंकजा नाम का कोई अज्ञात आदमी जिसे वो जानते भी नहीं हैं, वो राशन ले रहा है. देखिये राशन कार्ड की फोटो - 


बात दरअसल ये है कि नीरज के साथ फ्रॉड किया गया है. उसके राशन कार्ड में फर्जी तरीके से पंकजा नाम के आदमी को एड किया गया है जिसे नीरज के परिवार का सदस्य बना दिया गया है. अब पंकजा हर महीनें डिपो पर पहुँच जाता है और 8 सदस्यों का राशन भी लेता है और अपना भी लेता है. हो सकता है यह राशन पंकजा और उसे फर्जी तरीके से नीरज के राशन कार्ड में एंट्री दिलाने वाला डिपो आपस में बाँट लेता हो.

आज नीरज ने मुख्यमंत्री मनोहर के नाम एक शिकायत लिखी है, देखिये - 



ration-card-fraud


जब हमने नीरज का राशन कार्ड को ऑनलाइन चेक किया तो पता चला कि नीरज के परिवार के 8 सदस्यों सहित फर्जी सदस्य पंकजा के हिस्से का राशन हर महीनें आ रहा है और पंकजा उसे ले रहा है. मार्च और अप्रैल महीनें का राशन डिपो वाले  (FPS नंबर - 108800100353) ने लिया है. देखिये डिटेल - 


ration-card-fraud

यह बहुत बड़ा फ्रॉड है, हो सकता है इसी प्रकार की लूट और फ्रॉड कई लोगों के साथ हो रहा हो. हो सकता है कि सरकारी राशन फर्जी तरीके से गबन किया जा रहा हो. इसकी जांच होनी चाहिए और सभी राशन कार्ड धारकों का मोबाइल ऑनलाइन जोड़ा जाना चाहिए ताकि राशन कटने पर ग्राहकों को SMS के माध्यम से पता चल जाए. जब तक ये काम नहीं किया जाएगा तब तक ये फ्रॉड ख़त्म नहीं होगा।

क्यों नहीं होती फ्रॉड डिपो वालों के खिलाफ कार्यवाही

फ्रॉड डिपो वालों एक नेटवर्क बहुत मजबूत होता है, नेताओं के साथ अधिकारियों से भी इनकी काफी साठ - गाँठ होती है. जैसे ही इनके खिलाफ शिकायत की जाती है और हम लोग खबर छापते हैं, वैसे ही ये लोग शिकायतकर्ता से मिलते हैं और उसपर शिकायत वापस लेने का दबाव बनाते हैं, ये लोग शिकायतकरता को तुरंत ही राशन देना शुरू कर देते हैं और उनसे लिखवा लेते हैं कि उन्होंने गलती से शिकायत की है, उन्हें हर महीने राशन मिलता है. गरीब लोग भी दबाव में आ जाते हैं और अपने साथ हुए फ्रॉड को भूलकर डिपो वाले जो चाहते हैं, लिखकर दे देते हैं, डिपो वाले वही बयान अधिकारियों को पकड़ाकर बच जाते हैं.

वार्ड-6 में दुलीचंद अग्रवाल ने 230 गरीबों, विधवाओं को बांटा राशन

ward-6-dulichand-aggrawal-help-poor-ration-aata-dal-lock-down

फरीदाबाद, 7 अप्रैल: लॉक डाउन की वजह से गरीबों, दिहाड़ी मजदूरों, विधवाओं का जीवन प्रभावित हो गया है, इन्हें राशन की दिक्कत पैदा हो गयी है लेकिन अब लोग ऐसे लोगों की मदद के लिए आगे भी आये हैं.

NIT विधानसभा के अंतर्गत वार्ड 6 के पार्षद सुरेंद्र अग्रवाल के पिताजी दुलीचंद अग्रवाल ने अगवाल स्कूल, नंगला रोड पर करीब 230 लोगों को राशन वितरित किया जिसमें 10 किलो आटे का कट्टा और एक किलो दाल शामिल थी.

यह मदद वार्ड नंबर 6 में रहने वाले जरूरतमंदों, गरीबों और विधवाओं को प्रदान की गयी, मदद पाकर लोग खुश दिखे।

कबाड़ बिनकर पेट भरते थे गाजीपुर गाँव के गरीब, काम बंद होने से भूखा मरने की नौबत, मदद का इन्तजार

faridabad-nit-86-gajipur-ganv-poor-need-food-help-during-lock-down

फरीदाबाद, 27 मार्च: वार्ड-9, गाजीपुर गांव में, चेची चौक, ब्राइट फ्यूचर स्कूल के पास सैकड़ो गरीब कबाड़ बीनकर अपना गुजारा करते हैं, ये लोग झुग्गी झोपडी बनाकर रहते हैं लेकिन लॉक डाउन की वजह से इनका भी घर से निकलना बंद हो गया, काम भी बंद हो गया, कबाड़ के गोदाम भी बंद हो गए. अब इनके भूखे मरने की नौबत आ गयी है.

नीचे इन लोगों के नाम और लिस्ट दी गयी है, मोबाइल नंबर भी दिया गया है, ये सैकड़ों लोग हैं और मदद के इन्तजार में बैठे हैं.

यह इलाका NIT विधानसभा के अंतर्गत आता है, डबुआ गाँव के पास है. सरकार ने गरीबों तक भोजन पहुंचाने का आश्वासन दिया है लेकिन अभी तक इनके पास कोई मदद नहीं पहुंची है और ना ही किसी NGO का ध्यान इनकी तरफ गया है.

poor-need-help-in-faridabad

poor-need-help-in-faridabad

पर्वतिया कॉलोनी में इस मकान से 12 अप्रैल 2020 तक दूर रहें

what-is-truth-about-corona-patient-in-parvatiya-colony-faridabad-news

फरीदाबाद, 24 मार्च: पर्वतिया कॉलोनी, NIT फरीदाबाद में ऐसी अफवाह फ़ैली है कि एक कोरोना का मरीज मिला है जबकि सच्चाई कुछ अलग है. दरअसल यह  कोरोना का करीज नहीं है बल्कि विदेश से आया अभिषेक नामका एक व्यक्ति है जिसे 16 मार्च से 12 अप्रैल तक (28 दिन के लिए) अपने घर (मकान नंबर - 3091) में कारण्टीन रहने के लिए कहा गया है लेकिन जनता से भी अपील की गयी है कि इस मकान से 12 अप्रैल तक दूर रहें और घर में रह रहे व्यक्ति से मुलाकात ना करें।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि फरीदाबाद और पलवल में कई जगह खतरे के बोर्ड लगे हैं जिसे लोग कोरोना मरीज समझकर अफवाह फैला रहे हैं लेकिन हमें सच जानने की जरूरत है और अफवाहों से बचने की जरूरत है.

जब भी कोई विदेश से आता है तो उसका एयरपोर्ट पर चेक-अप किया जाता है, एयरपोर्ट पर ज्यादा सुविधा नहीं होती इसलिए टेम्परेचर, सर्दी खांसी के आधार पर ही फैसला किया जाता है कि किसे आइसोलेशन सेण्टर में ले जाना है और किसे घर भेजना है.

कोरोना संक्रमण होने के बाद लक्षण दिखने में 15 - 20 दिन लग जाते हैं इसलिए जब कोई नार्मल दिखता है तो उसे घर भेज दिया जाता है लेकिन यह हिदायत दी जाती है कि वह कुछ दिन अपने घर में सबसे अलग रहेगा और कोरोका के लक्षण दिखने पर स्वास्थय विभाग, पुलिस या प्रशासन को सूचित करेगा।

पहले ऐसे लोगों पर भरोसा करके छोड़ दिया जाता था लेकिन कुछ लोग घर आकर घूमने लगे और लोगों से मिलने लगे. कई लोगों ने तो अपने पूरे परिवार को संक्रमित कर दिया और उसके बाद ही अन्य लोगों में संक्रमण फैला। इसलिए प्रशासन ने अब ऐसे लोगों के घर के बाहर बोर्ड लगाना शुरू कर दिया है जिसपर लिखा रहता है - Please Do Not Visit, Home Under Quarantine.

ऐसे लोगों को 28 दिन निगरानी में रखा जाता है, जब ऐसे लोगों में कोरोना के कोई लक्षण दिखते हैं तो इनका कोरोना टेस्ट किया जाता है और पॉजिटिव आने पर ही इन्हें कोरोना मरीज माना जाता है और जरूरत पड़ने पर अस्पताल में भर्ती करके इलाज किया जाता है.

जिनके अंदर 28 दिनों में कोरोना संक्रमण के लक्षण नहीं दिखते उन्हें 28 दिनों के बाद फ्री कर दिया जाता है और उन्हें नार्मल माना जाता है.

फरीदाबाद में 264 लोग विदेश से आये हैं, सबका टेस्ट नहीं किया गया है, जिनके अंदर कोरोना के लक्षण दिखेंगे उनका ही टेस्ट किया जाएगा लेकिन ऐसे लोगों के घरों के बाहर खतरे वाले बोर्ड लगा दिए गए हैं और जनता को ऐसे लोगों के घरों में ना जाने की हिदायत दी गयी है क्योंकि अगर ऐसे लोगों को कोरोना का संक्रमण हुआ तो अन्य लोगों को भी हो सकता है.

कहने का मतलब ये है कि जिनके घरों के बाहर ऐसे बोर्ड लगे हैं वे कोरोना के मरीज नहीं हैं, बल्कि निगरानी में हैं. कुछ लोग इन्हें कोरोना मरीज समझकर अफवाह फैला रहे हैं जो गलत है. लेकिन ऐसे लोगों के घरों से दूर रहने की भी जरूरत है, जब 28 दिन का समय पूरा हो जाएगा तो इनके घरों से यह बोर्ड हटा दिया जाएगा, उसके बाद लोग इनके घरों में जा सकते हैं.

देखने में ऐसा आ रहा है कि जहाँ भी ऐसा बोर्ड देखा जा रहा है वहां पर अफवाह फैलाई जा रही है कि फलां एरिया में कोरोना का मरीज मिला है, यह विल्कुल गलत है. फरीदाबाद में सिर्फ एक कोरोना संक्रमित मरीज की पुष्टि हुई है. बाकी लोग विदेश से आएं हैं और इन्हें इनके घर में ही कारण्टीन करके निगरानी में रखा गया है.

विधायक नीरज शर्मा ने सरकार को वापस लौटाए दोनों गन-मैन, पढ़ें क्या थी वजह

nit-mla-neeraj-sharma-return-gunman-haryana-police-sarkar-news

फरीदाबाद, 15 मार्च: NIT विधानसभा के कांग्रेस विधायक नीरज शर्मा ने खुद को मिले दोनों गन मैनों को सरकार को वापस लौटाने का पैसला किया है. वह साधारण इंसानों की तरह ही जनता के बीच रहना चाहते हैं जबकि उनके मुताबिक़ कई जनप्रतिनिधि सुरक्षाकर्मियों को ही अपना स्टेटस सिम्बल मानने लगते हैं.

कांग्रेस विधायक नीरज शर्मा ने इस बारे में हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज और DGP मनोज यादव को पत्र लिखा था जिसपर DGP मनोज यादव ने तुरंत संज्ञान लिया और विधायक नीरज शर्मा की पहल का स्वागत करते हुए दोनों सुरक्षाकर्मियों को वापस लेने एक आदेश जारी कर दिए साथ ही विधायक के आवास के नजदीकी सारन थाने को निर्देश दिए हैं कि जब भी विधायक नीरज शर्मा को सुरक्षा की जरूरत पड़े उन्हें तुरंत सुरक्षा उपलब्ध की जाए.

विधायक नीरज शर्मा का कहना है कि एक गनमैन पर सरकार का करीब 50 हजार प्रति महीनें का खर्चा आता है, 2 गनमैन पर प्रति महीनें 1 लाख रुपये का खर्चा आता है, अधिकतर विधायकों को अपने साथ सुरक्षाकर्मियों को रखने  में मुसीबत झेलनी पड़ती हैं. यही सब सोचकर उन्होंने सुरक्षाकर्मियों को वपास करने का फैसला किया।

राशन डिपो वाले को फटकार लगाते हुए बोले विधायक नीरज शर्मा, राशन पूरा दो, गरीबों का हक़ मत मारो

nit-86-mla-neeraj-sharma-raise-rashan-dipo-loot-in-jawahar-colony-news

फरीदाबाद: देश से गरीबी ख़त्म करने के लिए केंद्र सरकार गरीबों को 2 रुपये प्रति किलो अनाज उपलब्ध कराती है ताकि गरीबों का पेट भरता रहे लेकिन राशन डिपो वाले गरीबों को पूरा राशन नहीं देते, परिवार के एक सदस्य के लिए 5 किलो प्रति महीना राशन मिलता है, अगर किसी परिवार में 4 सदस्य होते हैं तो उन्हें सरकार 20 किलो प्रति महीना राशन देती है लेकिन राशन डिपो वाले 20 किलो के बजाय 10-12 किलो ही राशन देते हैं, गरीबों के हिस्से का राशन हर महीना ब्लैक कर लिया जाता है, कई बार तो गरीबों का अंगूठा लगवाकर उनके हिस्से का राशन ले लिया जाता है लेकिन उन्हें राशन नहीं दिया जाता, कुछ डिपो वाले तीन चार महीनें में एक बार ही राशन देते हैं लेकिन अंगूठा हर महीनें लगवा लेते हैं, ये लोग गरीबों के हिस्से का राशन ब्लैक करके मुनाफा कमा रहे हैं.

NIT-86 के विधायक नीरज शर्मा ने आज जवाहर कॉलोनी गली नंबर 2 में एक राशन डिपो का निरीक्षण किया तो पाया कि जनता को राशन कम दिया जा रहा है, हर किसी के हिस्से से राशन काटा जा रहा है, ना तो Computerized पर्ची दी जाती है और ना ही पूरा राशन दिया जाता है.

विधायक नीरज शर्मा ने राशन डिपो वाले को फटकार लगाते हुए कहा कि सरकार आपको प्रॉपर कमीशन दे रही है तो आप गरीबों के हिस्से का राशन उन्हें क्यों नहीं दे रहे हैं. हमारे क्षेत्र में ये सब नही चलेगा और आपको पूरा राशन देना पड़ेगा।

कई लोगों ने बताया कि उन्हें जबरन बाजरा दिया जा रहा है, गेंहू कम मिलता है, नीरज शर्मा ने कहा कि बाजरा आ रहा है तो दो लेकिन गेंहू भी दो, उन्होंने कहा कि एक आदमी को सरकार 5 किलो राशन देती है तो आप कम क्यों दे रहे हैं, उन्होंने डिपो वाले की डायरी ले ली और उसे चेक किया तो पाया कि हर आदमी को राशन कम दिया जा रहा है.

विधायक नीरज शर्मा ने जनता को जागरूक करते हुए कहा कि आप किसी भी राशन डिपो से अंगूठा लगाकर राशन ले रकते हैं, अगर कोई मना करे तो आप मेरे मोबाइल 9717312121 पर फोन करें, पूरे हरियाणा में जो होता है होने दो लेकिन मैं NIT-86 में धांधलेबाजी नहीं चलने दूंगा। अगर आप मुझे फोन करोगे तो 10 मिनट में हाजिर हो जाऊँगा।

देखिये वीडियो -  

हैरान रह गए सब लोग जब DCM दुष्यंत चौटाला बोले, ये काम तो विधायक नीरज शर्मा करेंगे, पढ़ें

dcm-dushyant-chautala-says-neeraj-sharma-development-work-rajiv-colony

फरीदाबाद, 15 फरवरी। आपने देखा होगा भाजपा और कांग्रेस में किस तरह से जंग चल रही है लेकिन फरीदाबाद में NIT विधानसभा में ऐसा नहीं है. हरियाणा में भाजपा-जजपा की सरकार है जिसमें कांग्रेस विधायक नीरज शर्मा को भी जिम्मेदारी दी जाती है.

हरियाणा के उप-मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने सेक्टर-12 स्थित एचएसवीपी कन्वेंशन हॉल में जिला लेाक संपर्क एवं परिवाद समिति की मासिक बैठक की अध्यक्षता की और जनता की शिकायतों पर एक्शन लिया। इस मीटिंग में NIT से कांग्रेस विधायक नीरज शर्मा भी उप-मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला के साथ बैठे नजर आये.

इस मीटिंग में राजीव कॉलोनी बांके बिहारी चौक निवासी देवीचरण शर्मा की शिकायत थी कि उनकी कॉलोनी का मुख्य मार्ग ठीक नहीं है तथा जगह-जगह पानी जमा है तथा पेयजल की भी समस्या है। उप मुख्यमंत्री ने बैठक में उपस्थित विधायक नीरज शर्मा को गली का निर्माण उन्हें सरकार द्वारा दी जाने वाली पांच करोड़ रुपये की राशि में से करवाने बारे कहा।

वैसे तो सत्ताधारी पार्टी विरोधी पार्टी के विधायकों को पैसे देने में कोताही बरतती है लेकिन हरियाणा की भाजपा जजपा सरकार कांग्रेस विधायकों को भी उनेक क्षेत्र के विकास के लिए 5 करोड़ रुपये दे रही है. नीरज शर्मा को भी 5 करोड़ रुपये मिले हैं.

इस अवसर पर हरियाणा वेयरहाउसिंग कॉपोरेशन के चेयरमैन नयनपाल रावत, मेयर सुमन बाला, विधायक नरेंद्र गुप्ता, राजेश नागर व नीरज शर्मा, आयुक्त नगर निगम यश गर्ग, उपायुक्त यशपाल, एचएसवीपी के प्रशासक प्रदीप दहिया, जिला भाजपा अध्यक्ष गोपाल शर्मा, जेजेपी जिलाध्यक्ष ग्रामीण राजाराम, जेजेपी जिलाध्यक्ष शहरी अरविंद सरदाना, जेजेपी के राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य धर्मबीर तेवतिया सहित अन्य मौजिज व्यक्ति उपस्थित थे।

बहुत परेशान हैं वार्ड-5/6 के इस गली के लोग, 6 महीनें पहले खोदा, काम कुछ नहीं किया

ward-5-parvatia-colony-maya-kunj-gali-number-1-no-development

फरीदाबाद, 10 फ़रवरी: फरीदाबाद NIT विधानसभा के अंतर्गत वार्ड 5/6 के बॉर्डर पर स्थित मायाकुंज गली नंबर -1  के लोग बहुत परेशान हैं, 6-7 महीनें पहले इस गली को खोद दिया गया लेकिन उसके बाद से काम बंद है, जनता परेशान है, ना तो पैदल चलने का रास्ता और ना ही किसी वाहन के जाने का रास्ता है. यहाँ पर काम पूरी तरह से बंद है.

यहाँ के लोगों ने बताया कि कई बार वार्ड 5 की पार्षद ललित यादव और वार्ड 6 के पार्षद सुरेंद्र अग्रवाल से इस समस्या की शिकायत की गयी लेकिन कोई कार्यवाही नहीं हुई, सभी नेताओं ने अपनी ऑंखें बंद कर रखी हैं. जब से नागेंद्र भड़ाना विधायक का चुनाव हारे हैं, यहाँ पर सभी तरह के काम बंद हो चुके हैं, नए विधायक नीरज शर्मा कांग्रेस पार्टी की तरफ से चुनाव जीते हैं इसलिए उनके अंदर  काम कराने की पावर नहीं है. नगर निगम भी कोई कार्यवाही करने के लिए तैयार नहीं है.

यहाँ के लोगों ने 2014 लोकसभा चुनाव में विकास की उम्मीदें लगाकर कृष्णपाल गुर्जर को वोट दिया था, उसके बाद नागेंद्र भड़ाना ने विकास कराने का वादा किया तो उन्हें वोट दिया, 2019 चुनाव में फिर से कृष्णपाल गुर्जर को वोट देकर सांसद बनाया लेकिन इनके यहाँ विकास नहीं आया. ये लोग पूरी तरह से निराश हो चुके हैं.

हुड्डा ने नीरज शर्मा को दिया ये पद, पढ़ें

hooda-appoint-neeraj-sharma-sachetak-of-congress-in-vidhansabha

फरीदाबाद: एनआईटी विधानसभा से कांग्रेस पार्टी के विधायक नीरज शर्मा को पार्टी की तरफ से व्हिप (सचेतक) की जिम्मेदारी दी गई है। 

कांग्रेस पाटी के कार्यकारी अध्यक्ष एवं विपक्ष के नेता भूपेन्द्र सिंह हुड्डा ने कांग्रेस पार्टी के चुने हुए विधायकों में से चौ. आफताब अहमद को उप नेता, राव दान सिंह को महासचिव, वरुण चौधरी को सचिव, धर्मसिंह छोकर को कोषाध्यक्ष, भारत भूषण बत्रा को मुख्य सचेतक एवं नीरज शर्मा, चिरंजीव राव एवं शीशपाल सिंह को विधानसभा में सचेतक नियुक्त किया है। 

अपनी नियुक्ति पर नीरज शर्मा ने विपक्ष के नेता चौ. भूपेन्द्र सिंह हुड्डा एवं कांग्रेस पार्टी की प्रदेश अध्यक्षा कुमारी शैलजा का आभार व्यक्त किया और कहा कि जो जिम्मेदारी उनको पार्टी द्वारा दी गई है, उसका वह पूरी ईमानदारी एवं तन्मयता के साथ पालन करेंगे। इसके अतिरिक्त प्रदेश की जनता की भलाई से सम्बंधित सभी मामलों एवं पाटी के हितों की रक्षा के लिए सदन की बैठक में हमेशा आवाज उठाता रहूंगा। 

BJP उम्मीदवार बदल दिया जाता, या उम्मीदवार अपना व्यवहार बदल लेता तो NIT में भी खिल जाता कमल

why-bjp-lost-election-in-nit-vidhansabha-86-faridabad-nagender-bhadana

फरीदाबाद, 29 अक्टूबर: हरियाणा में भाजपा की सरकार बन चुकी है, फरीदाबाद की 9 में से 7 सीटों पर कमल खिला है और निर्दलीय विधायक नयनपाल रावत के भाजपा को समर्थन देने के बाद 8 सीटों पर कमल खिल चुका है। अब सिर्फ NIT फरीदाबाद विधानसभा कांग्रेस के खाते में है। 

चुनाव से पहले हमने पूरी NIT विधानसभा का सर्वे किया। अधिकतर लोग कमल खिलाना चाहते थे लेकिन उन्हें उम्मीदवार और उनका व्यवहार पसंद नहीं था इसलिए यहाँ पर कांग्रेस की जीत हुई, अगर भाजपा ने उम्मीदवार बदल दिया होता या उम्मीदवार अपना व्यवहार बदल लेता तो यहाँ पर भी कमल खिल जाता। 

कोई भी विधायक अपने क्षेत्र का 100 फ़ीसदी विकास नहीं कर सकता, यहाँ तक कि अगर प्रधानमंत्री मोदी को किसी क्षेत्र का विधायक बना दिया जाए तो भी वह 100 फ़ीसदी विकास नहीं कर पाएंगे, कुछ ना कुछ कमी रह ही जाती है लेकिन विधायक को उस बात को स्वीकार करना चाहिए और जनता को भी यह बात समझानी चाहिए। 

नगेंदर भड़ाना इनेलो पार्टी से चुनाव जीतकर विधायक बने थे, कोई भी सत्ताधारी पार्टी विपक्षी पार्टी के विधायक को पैसे नहीं देती लेकिन नगेंदर भड़ाना ने भाजपा सरकार से तालमेल बिठाया, तालमेल बिठाने में डेढ़-दो साल निकल गए। तालमेल बिठाने के बाद क्षेत्र का विकास कराने के लिए नगेंदर भड़ाना के पास सिर्फ 3 साल बचे थे, इन तीन वर्षों में उन्होंने कई रोड बनवाये, कई गलियां भी बनवायीं, कई कॉलोनियों में सीवर बिछाने के लिए सड़कों को खोद दिया गया लेकिन तय समयानुसार काम नहीं हो पाया जिसकी वजह से जलभराव की समस्या पैदा हो गयी, नगेंदर भड़ाना जनता को यह भी नहीं समझा पाए कि ये सब काम आपके ही लिए किये जा रहे हैं। 

तीन वर्षो में भाजपा ने उन्हें करीब पौने 300 करोड़ रुपये दिए। अगर समझदारी से विचार करें तो NIT का विकास करने, सीवर, रोड, बिजली के खम्बे, लाइट, वाटर पाइपलाइन, गलियां पक्की करने, पार्क बनाने और जल निकासी की व्यवस्था करने के लिए कम से कम 5000 करोड़ रुपये रुपये चाहिए। इतना पैसा भाजपा दूसरी पार्टी के विधायक को कभी दे ही नहीं सकती। इसीलिए इस बार नगेंदर भड़ाना को भाजपा की टिकट दी गयी। 

नगेंदर भड़ाना ने कुछ महीनों पहले भाजपा ज्वाइन की थी। उन्होंने भाजपा तो ज्वाइन कर ली लेकिन NIT मंडल के भाजपा कार्यकर्ताओं को अपना नहीं बना पाए। अगर उन्होंने भाजपा कार्यकर्ताओं, क्षेत्र के पार्षदों को अपना बना लिया होता तो ये कार्यकर्ता उन्हें चुनाव जिताने के लिए जी जान से जुट जाते और नगेंदर भड़ाना को हार का मुंह ना देखना पड़ता। 

चुनाव प्रचार के दौरान नगेंदर भड़ाना अकेले ही अपनी ढपली बजाते रहे, उनके साथ ना तो भाजपा कार्यकर्ता दिखे और ना ही संघ के कार्यकर्ता। इससे जनता में उनके प्रति निगेटिव सन्देश गया कि जब भाजपा कार्यकर्ता ही उनका साथ नहीं दे रहे हैं तो हम उन्हें वोट क्यों दें, नगेंदर भड़ाना कई क्षेत्रों में प्रचार करने गए ही नहीं। वह सिर्फ अपने पक्के वोट बैंक को साधने में लगे रहे। उन्हें गुर्जर वोटबैंक पर अधिक भरोसा था इसलिए गुर्जर महापंचायत करके अपने लिए समर्थन माँगा लेकिन उन्हें इसका सबसे अधिक नुकसान हुआ क्योंकि जाट सहित अन्य समाज के लोग उनसे नाराज हो गए। 

2014 में नगेंदर भड़ाना का स्वभाव जनता को बहुत पसंद था। सबसे मिलना, सबसे राम राम करना। जनता को उनका सिंपल और साधारण स्वरूप बहुत पसंद था। पानी सप्लाई करके उन्होंने पहले ही जनता का दिल जीत लिया था। 2019 चुनाव में वह एक विधायक के रूप में चुनाव प्रचार करने गए। जनता को उनसे उम्मीद थी कि उनकी गली में आकर वह वोट जरूर मांगेगे और काम में जो कुछ कमी रह गयी है उसके लिए माफी मांगेंगे लेकिन नगेंदर भड़ाना ने कई कॉलोनियों में प्रचार ही नहीं किया। कमी-बेसी के लिए जनता से माफी भी नहीं मांगी। अपने ही गुरूर में पड़े रहे, भाजपा कार्यकर्ताओं और संघ को भी अपने साथ नहीं लिया  जो घर घर जाकर उनके काम का प्रचार करें और जनता को भाजपा सरकार का फायदा बताएं। 

यही सब वजहें उनकी हार का कारण बनी। अगर वह अपना स्वभाव बदल लेते और विकास कार्यों में कमी-बेसी के लिए जनता से माफी मांग लेते तो न सिर्फ उनकी जीत होती, हो सकता है कि उन्हें कोई मंत्री पद भी मिल जाता। अब सरकार भाजपा की है, विधायक कांग्रेस का है। पता नहीं कोंग्रेसी विधायक को विकास के लिए पैसे मिलेंगे या जनता को पांच साल इसी हालत में गुजारने पड़ेंगे।