Followers

Showing posts with label Missing. Show all posts

गुरुग्राम से भटककर फरीदाबाद आ गए थे दो बच्चे, बल्लभगढ़ बसअड्डा पुलिस चौकी ने घर पहुँचाया

ballabhgarh-bus-stand-police-chowki-news-missing-case

फरीदाबाद, 28 नवंबर: पुलिस चौकी बस स्टैंड बल्लबगढ़ प्रभारी सुरेंद्र कुमार ने गश्त के दौरान बस स्टैंड बल्लबगढ़ के पास मिले 2 बच्चों को गुरुग्राम के उनके घर पहुँचाया है.

कल शाम पुलिस चौकी बस स्टैंड प्रभारी अपनी चौकी क्षेत्र में बस स्टैंड के पास गश्त कर रहे थे तभी बस स्टैंड के पास मंडी में उन्हें 2 बच्चे जिनकी उम्र लगभग 10-11 साल थी को रोते हुए पाया। चौकी प्रभारी दोनों बच्चों के पास गए और उनसे उनके रोने का कारण पुछा।

दोनों में से एक बच्चे ने बताया कि उसका नाम शुभम है और उसके साथी का नाम जीवन है. शुभम बिहार व जीवन नेपाल का रहने वाला है. दोनों बच्चे दोस्त हैं और गुड़गांव के मोहम्मदपुर गाँव में रहते हैं. दोनों घुमने के चक्कर में किसी वाहन पर बैठकर बल्लबगढ़ आ गये थे और अब रास्ता भटक गए हैं.

चौकी प्रभारी सुरेन्द्र कुमार ने बच्चों को उनके घर पहुँचाने के लिए गुरुग्राम के थाना सेक्टर 37 प्रभारी से संपर्क किया और मोहम्मदपुर गाँव में इन दोनों बच्चों के परिवारजनों के बारे में पता लगाने का अनुरोध किया। गुरुग्राम के थाना सेक्टर 37 प्रभारी ने अपनी पुलिस टीम भेजकर दोनों बच्चों के घर का पता करवाया और इसकी जानकारी चौकी प्रभारी सुरेन्द्र कुमार को दी.

इसके पश्चात् दोनों बच्चों के परिजनों से सम्पर्क करके बच्चों को सकुशल उनके हवाले कर दिया गया. बच्चों के परिजनों ने बताया कि वह पिछले 1 दिन से घर से लापता हैं और इनकी तलाश कर रहे थे.

अपने बच्चों को वापिस पाकर उनके परिजनों ने पुलिस टीम द्वारा किए गए कार्य के लिए पुलिस चौकी प्रभारी सुरेन्द्र कुमार व पूरी फरीदाबाद पुलिस का धन्यवाद् दिया।

3 बच्चे लापता थे, परिवार परेशान था, SGM नगर थाना पुलिस ने ढूंढ लिया

faridabad-sgm-nagar-thana-police-news-26-november

फरीदाबाद, 26 नवंबर: थाना एस जी एम नगर ने 3 लापता बच्चो को उनके परिवार से मिलाया है। थाना में एक लिखित सूचना मिली जिसपर थाना प्रबन्धक ने एक पुलिस टीम गठित की टीम ने बच्चो को एक घंटे में ढुडने में कामयाबी मिली है।

थाना पुलिस ने बताया कि अमर सिहं निवासी कल्याणपुर झुग्गी एनआईटी फरीदाबाद ने थाना मे आकर आपने 2 लडकी 1 लडका शादी में आये थे जो तीनों बच्चे भीड में गुम हो गये है । जो वहा पर मौजूद बीट ऑफिसर ने व्टसअप ग्रुप में इसकी सुचना अपनी टीम को दी जिसपर पुलिस टीम ने तीनों बच्चों को पटेल चौक एस जी एम नगर से सकुशल बरामद करके बच्चों को उनके परिजनों को हवाले कर दिया।

अक्सर देखने को मिलता है कि भीड़-भाड़ वाली जगह पर बच्चे अपने माता पिता से बिछड़ जाते है और गलत लोगो के हत्थे चढ़ जाते है। इसलिए सभी नागरीको से अनुरोध है कि अपने बच्चो का ध्यान रखे ताकि वह गलत लोगो कि पहुंच से दुर रहे। 

पुलिस ने परिजनो को बच्चों के साथ हो रहे अपराध के बारे में अवगत कराया है और हिदायत दी कि वह अपने बच्चों का ध्यान रखे। अपने बच्चों को वापिस पाकर उनके माता पिता बहुत खुश हुए और पूरी पुलिस टीम को उनके द्वारा किये गये कार्य के लिये धन्यवाद किया।

पुलिस आयुक्त ने पुलिस टीम की प्रशंसा की और उन्हे प्रशंसा पत्र से सम्मानित करने का फैसला किया।

सारन थाना पुलिस की टीम ने 3 साल की बच्ची को ढूंढा, परिजन हुए खुश

fardidabad-saran-thana-police-team-searched-out-3-year-missing-girl

फरीदाबाद, 26 नवम्बर: पुलिस आयुक्त ओ पी द्वारा संशोधित बीट प्रणाली के अंतर्गत बीट पुलिस कर्मचारी लोगों की हर प्रकार से सहायता करने में लगे हुए है. घटना पुलिस थाना सारन क्षेत्र की है जहाँ पर लापता हुई बच्ची को सकुशल ढूंढकर उनके परिजनों के हवाले किया गया है.

आज सुबह बच्ची के पिता दिनेश ने पुलिस टीम को शिकायत देते हुए बताया कि वह उत्तर प्रदेश के कोसी कलां के रहने वाले हैं और कल यहाँ जवाहर कॉलोनी में उनकी रिश्तेदारी में शादी में आए थे. आज उनकी 5 वर्षीय बेटी सुबह से लापता है| उन्होंने अपनी बेटी को हर जगह तलाश कर लिया परन्तु उनकी कोई खबर नहीं मिली है.

सारी जानकारी प्राप्त करने के पश्चात् थाना प्रभारी इंस्पेक्टर शैफ्फुदीन ने अपने बीट अधिकारियों को  उस क्षेत्र के लोगों से बच्ची के बारे में पूछताछ करने के आदेश दिए. बच्ची की पूछताछ के लिए सब-इंस्पेक्टर रामकिशन और प्रधान सिपाही सुरेन्द्र ने बच्ची के पिता के साथ जाकर थानाक्षेत्र में बच्ची के बारे में लोगों से पूछताछ की.

काफी देर पूछताछ करने के पश्चात् पता चला कि वह बच्ची जवाहर कॉलोनी में दयानंद स्कूल के पास किसी व्यक्ति के पास थी. उस व्यक्ति से पूछताछ करने के पश्चात् उसने बताया कि यह बच्ची यहाँ रास्ता भटक गई थी. बच्ची कहीं ओर न चली जाए और किसी आपराधिक प्रवर्ती के व्यक्ति के हाथ ने लग जाए इसलिए उसने बच्ची को अपने पास बैठाया था और पुलिस के पास लेकर आने ही वाला था कि पुलिस टीम वहीँ पहुँच गई.

पुलिस टीम ने बच्ची को सकुशल बरामद करके उनके पिता के हवाले कर दिया। अपनी बेटी को वापिस पाकर उनके पिता बहुत खुश हुए और इसके लिए उन्होंने पुलिस आयुक्त ओ पी सिंह, थाना प्रभारी इंस्पेक्टर शैफ्फुदीन और बीट अधिकारियों के साथ-साथ पूरी फरीदाबाद पुलिस का धन्यवाद किया।

सिपाही राकेश ने गुम हुआ पर्स, ऑटो के कागजात और पैसे उसके मालिक को वापिस लौटाए, CP भी खुश हुए

faridabad-police-sipahi-rakesh-news-in-hindi

फरीदाबाद, 26 नवंबर: पर्स गायब होने के बाद नींद उड़ जाती है क्योंकि पर्स में पैसों के अलावा कुछ महत्वपूर्व डॉक्यूमेंट आईडी प्रूफ और बैंक के कागजात होते हैं जिन्हें फिर से बनवाने में पैसे के अलावा कई दिनों तक दौड़ना भागना पड़ता है. इसीलिए जब पर्स वापस मिलता है तो सबसे अधिक ख़ुशी भी होती है.

फरीदाबाद के एक सिपाही को ऐसे ही एक पर्स मिला जिसमें पैसों के अलावा जरूरी कागजात भी थे, थाना ओल्ड के सिपाही राकेश ने व्यक्ति का गुम हुआ 2430 रुपए सहित पर्स और ऑटो के कागजात वापिस उसके मालिक को वापिस लौटा दिए, जिसे वापस मिलते ही व्यक्ति बहुत खुश हुआ और सिपाही की ईमानदारी की तारीफ की.

दरअसल सिपाही राकेश देर शाम सेक्टर 16 में टहल रहे थे कि उन्हें रास्ते के साइड में कोई वस्तु पड़ी दिखाई दी. राकेश ने जब नजदीक जाकर देखा तो वहां एक पर्स और कुछ कागजात थे. सिपाही राकेश को लगा कि यह किसी की की बहुत कीमती वस्तु है और इसे उसके मालिक के पास पहुँचाना चाहिए। इसके लिए सिपाही राकेश ने इसके मालिक का पता लगाने के लिए बटुए में उसके आइडेंटिटी कार्ड ढूंढने की कोशिश की परन्तु ऐसा कोई कागजात नहीं मिला जिससे उस व्यक्ति का पता लग सके जिसका यह बटुआ था.

इसके बाद सिपाही राकेश ने पर्स के साथ मिले ऑटो के कागजात खंगाले तो इसमें एक मोबाइल नंबर मिला जिसपर संपर्क करने पर पता चला कि वह तो किसी अन्य व्यक्ति का नंबर है परन्तु उसने पर्स के मालिक के जानने वाले का नंबर राकेश को दिया। राकेश ने जब दुसरे व्यक्ति को संपर्क किया तो उसके पास भी पर्स के मालिक का नंबर नहीं था तो उसने किसी और व्यक्ति का नंबर दिया जो पर्स के मालिक का नंबर बता सके. इस प्रकार 15-20 लोगों से संपर्क स्थापित करने के पश्चात् अंत में पर्स के मालिक से बात हुई और उसे उसके खोए हुए पर्स के बारे में बताया।

जिस व्यक्ति का वह पर्स था उसका नाम विनोद कुमार जोकि पलवल जिले का रहने वाला था और बिजली महकमे में अस्थाई रूप से कार्यरत था. सिपाही राकेश ने विनोद को सेक्टर 16 में बुलाया और उसकी आइडेंटिटी वेरीफाई करने के पश्चात् पर्स और ऑटो के कागजात विनोद के हवाले कर दिए. विनोद ने अपने पर्स में अपने एटीएम कार्ड, पैसे व अन्य जरूरी कागजात चेक किए तो उसमे एटीएम कार्ड, कुछ कागजात और 2430 रुपए नगद मिले। विनोद ने बताया कि जो-जो चीजें गुम होने से पहले मेरे पर्स में थी वह सब इसमें मौजूद है जिसके लिए मैं सिपाही राकेश का आभारी हूँ और दिल से उनका धन्यवाद करता हूँ.

सिपाही की ईमानदारी को देखते हुए विनोद ने उन्हें 500 रुपए इनाम के तौर पर देने की पेशकश की परन्तु सिपाही राकेश ने यह कहते हुए मना कर दिया कि यह तो मेरा कर्तव्य था और हमें इनाम के रूप में पैसे नहीं बल्कि पुलिस के प्रति आपके विश्वास और सम्मान की आवश्यकता है.

जैसे ही इस बात की खबर पुलिस आयुक्त ओ पी सिंह को मिली तो उन्होंने ख़ुशी जाहिर करते हुए सिपाही राकेश द्वारा किए गए कार्य के लिए उनको ग्रेड-I प्रशंसा पत्र और 500 रुपए इनाम देने की घोषणा की. उन्होंने कहा कि ऐसे पुलिस जवानों मुझे पर गर्व है जो इतनी ईमानदारी से अपने कर्तव्य का निर्वाहन करते हैं।

फरीदाबाद सेक्टर-11 पुलिस चौकी ने 8 साल की बच्ची को ढूंढकर परिवार को सौंपा

faridabad-sector-11-police-chowki-news-missing-case

फरीदाबाद, 25 नवंबर: 8 साल की बच्ची को फरीदाबाद पुलिस ने उसके परिजनों से मिलाया है, आपको बताते चले कि फरीदाबाद पुलिस को इलेक्ट्रॉनिक माध्यम से रेलवे चाइल्डलाइन आगरा द्वारा एक सूचना प्राप्त हुई कि एक नाबालिग 8 साल की बच्ची जो अपने आप को कृष्णा कॉलोनी फरीदाबाद की रहने वाली बता रही है और आगरा रेलवे स्टेशन पर घुमती मिली है।

जिस सूचना पर तुरंत प्रभाव से चौकी इंचार्ज सेक्टर 11 प्रदीप ने 2 टीम गठित करके व बीट अधिकारियो को साथ लेकर कृष्णा कॉलोनी की रेजिडेंट वेलफेयर एसोसियेशन की मदद से बच्ची के परिवार के बारे में पता लगाया तो लड़की की माँ अपने घर पर मिली, लड़की की माँ ने पूछताछ में बताया कि उसकी 8 साल की बेटी रात को घर से बिना बताये चली गई थी और वापस नहीं लौटी है।

इस सूचना को गंभीरता को समझते हुए मुख्य सिपाही सुमित और सुरेंद्र व महिला सिपाही मंजू को चौकी इंचार्ज द्वारा प्राइवेट गाडी का इंतजाम करके बच्ची की माँ सहित आगरा भेजा गया और नाबालिग 8 साल की बच्ची को उसकी माँ से मिलाया गया और बच्ची का कोविड परीक्षण कराया गया जिसके उपरांत आगरा चाइल्ड कमेटी ने बच्ची को पुलिस की मौजूदगी में माँ के हवाले किया गया।

जिसके तुरंत बाद पुलिस चौकी सेक्टर 11 के स्टाफ द्वारा बच्ची व माँ को अच्छे से समझाकर व खाना खिलाकर सही सलामत घर पर पहुँचाया गया, जिसके बाद लापता नाबालिग 8 वर्षीय बच्ची को वापस पाकर परिजनों का ख़ुशी का ठिकाना नहीं रहा, उन्होंने पुलिस चौकी प्रभारी व उनकी टीम द्वारा किए गए सराहनीय कार्य के लिए उनका धन्यवाद किया।

लापता बच्चो को ढूंढ़ परिवार की खुशियाँ लौटा रही है फरीदाबाद पुलिस 

फरीदाबाद: लापता बच्चो को ढूंढने में आजकल फरीदाबाद पुलिस अच्छी खासी सतर्क है, बच्चो के गमशुदगी के मामले पुलिस की प्राथमिकता पर है| घटना की सूचना मिलते ही प्रयास शरू कर दिए जाते है, इसमें तकनीकी मदद के साथ ही मुखबिरों की भी मदद ली जाती है।

तकनीकी मदद से हाल के दिनों में कई गुमशुदा बच्चो को पुलिस ने उनके परिजनों से मिलाया है।

दरअसल ज्यादतर बच्चे अपनी अनुचित मांग नहीं माने जाने, परीक्षा में कम अंक आने, परिजनों की डांट अथवा अन्य कारणों से खुद घर छोड़कर चले जाते है|  वही, कुछ बच्चे लापता हो जाते है और अपने परिवार से बिछड़ जाते है। 

कुछ मामलो में ही बच्चो के अगवा करने के मामले में मानव तस्करों की भूमिका सामने आती है, तस्कर बच्चो से भीख मंगवाने के अलावा नाबालिग बच्चियों से गलत काम तक करवाते है| लेकिन, फरीदाबाद में इस तरह की घटना ना के बराबर है, बावजूद इसके बच्चो के मामले में पुलिस की जांच में कोई कमी ना छोड़ी जाए इसके लिए फरीदाबाद पुलिस आयुक्त श्री ओपी सिंह ने अधिकारीयों को सख्त निर्देश दे रखा है।

पुलिस की सतर्कता के कारण गत दिनों कई बच्चो को सकुशल बरामद किया गया है।

Faridabad: भारत कॉलोनी रोड पर एक छोटी बच्ची रोती हुई घूम रही थी, पुलिस ने पहुंचाया घर

faridabad-police-find-missing-girl-kid-news-hindi

फरीदाबाद, 21 नवंबर: फरीदाबाद पुलिस ने एक बार फिर अपने बीट सिस्टम को कारगर साबित किया है, फरीदाबाद पुलिस ने चंद ही घंटों में लापता 6 वर्षीय बच्ची को  ढूंढकर उसके स्वजनों के हवाले किया है। 6 वर्षीय बच्ची को वापस पाकर स्वजनों के चेहरे खिल उठे। 

बीट अधिकारियों को शाम को लगभग 6:30 बजे सूचना मिली कि भारत कॉलोनी रोड पर एक छोटी बच्ची रोती हुई घूम रही है मौके पर मुख्य सिपाही अजीत एवं मुख्य सिपाही मुकेश गए और बच्ची की फोटो खींचकर थाना क्षेत्र के बीच व्हाट्सएप ग्रुप में डाली और गाड़ी से अनाउंस किया।

बीट अधिकारियों ने 6 वर्षीय बच्ची की फोटो सहित सारी जानकारी पुलिस संबंधित व्हाट्सएप ग्रुप में भेज दी और उनको ढूंढने में सह-पुलिसकर्मियों की मदद मांगी। जिसके पश्चात फोटो देखकर सहपुलिसकर्मियों ने बच्ची के माता-पिता को ढूंढ लिया और सही सलामत 6 वर्षीय बच्ची को परिवारजनों के हवाले कर दिया। 

बच्ची को वापस पाकर उनके परिवारजन बहुत खुश हुए और इसके लिए उन्होंने पुलिस आयुक्त ओ पी सिंह और इनके द्वारा चलाए गए बीट सिस्टम का आभार व्यक्त किया एवं बीटकर्मियों के साथ-साथ पूरी फरीदाबाद पुलिस का धन्यवाद किया।

15 दिन पहले यूपी से गुम हुआ 10 वर्षीय बच्चा फरीदाबाद पुलिस को मिला

faridabad-police-news-missing-kid-up-recovered

फरीदाबाद, 19 नवंबर: लावारिस हालत में मिले मंदबुध्दि बच्चे उम्र 10 साल को बस्टैंड पुलिस चौकी बल्लबगढ़ ने परिवार से मिलाकर सराहनीय कार्य किया है।

आपको बताते चलें कि गस्त के दौरान पुलिस चौकी बस्टैंड को एक मंदबुध्दि बच्चा लावारिस हालत में बल्लबगढ़ बस्टैंड पर मिला। जिससे नाम पात पूछा तो बच्चे ने अपना नाम करण पुत्र मुन्ना सिंह निवासी सुरीर थाना माट मथुरा उत्तर प्रदेश बताया।

बच्चे को पुलिस टीम ने चौकी मे ले जाकर बैठाया और खाना उपलब्ध कराया। बच्चे से घर का कोई फोन नम्बर मांगा जो बच्चा बताने मे असर्थ था। पुलिस टीम ने थाना माठ उत्तर प्रदेश में फोन से सम्पर्क किया गया। थाना माठ से बच्चे करण के बारे में सूचना हासिल कि तो बताया कि इस का थाना माठ में गुमशुदगी का मुकदमा दर्ज है। 

थाना माठ उत्तर प्रदेश से बच्चे करण के घर वालो का फोन नम्बर लेकर सम्पर्क  किया गया। पुलिस टीम ने फोन के द्वारा करण के भाई से सम्पर्क कर उसको,उसके गुमशुदा भाई के बारे मे बताया तो पूरा परिवार खुशी से झूम उठा।

सूचना मिलने के बाद गुमशुदा बच्चे करण का परिवार उत्तर प्रदेश से फरीदाबाद पहूंचा और बस्टैंड पुलिस चौकी से सम्पर्क कर बच्चे करण को अपने साथ लेकर उत्तर प्रदेश के लिए रवाना हुए।

गुमशुदा बच्चे के परिवार ने फरीदाबाद पुलिस को बताया कि बच्चा 15 दिन से गायब था परिवार में दुख का पहाड़ टूट चुका था। बच्चे को ढूंढने के लिए घर परिवार, रिश्तेदार चारों तरफ संपर्क कर रहे थे लेकिन कुछ पता नहीं चला। बच्चे के परिवार ने पुलिस का आभार जताया है।

पुलिस चौकी सैक्टर 11 की टीम ने लापता 12 वर्षीय बच्चे को परिवार से मिलाया

faridabad-news-sector-11-police-chowki-missing-case

फरीदाबाद, 19 नवम्बर: पुलिस चौकी सैक्टर 11 में आज सुबह एक अपाहिज व्यक्ति अशोक निवासी सैक्टर 3 फरीदाबाद ने हाजिर चौकी आकर एक सूचना दी की उसका भांजा रमन निवासी झुग्गी सैक्टर 11 उम्र 12 साल को काफी तलाश किया जो नही मिला। लडका रमन कल रात से घर नही आया है। 

सूचना पाते ही पुलिस चौकी इंचार्ज सैक्टर 11 ने एक टीम गठित कि और गठित टीम ने तुरन्त बच्चे रमन को तलाशना शुरु कर दिया है। पुलिस टीम ने आस पास की कॉलोनीयों में तलाश किया गया व आने जाने वाले लोगो से पूछताछ की गई व पार्की में तलाश किया गया। 

बहुत तलाश करने के बाद बच्चा रमन आग्रवाल सेवा सदन के नजदीक वाले पार्क में बैठा मिला। जब नाम पता पूछा गया तो लडके ने अपना नाम रमन पिता का नाम अमरजीत बताया।

लडके को चौकी में सुरक्षित हालत मे लाया गया। घर वालो को चौकी में बुलाकर लडके रमन को सकुशल परिवारजनो को सौंप दिया है। लडके के परिवार वालो को समाज में बच्चों के प्रति बढ़ रहे अपराधों व उनकी रोकथाम वारे मे अवगत करवाया गया।

बच्चे के परिवार ने फरीदाबाद पुलिस का धन्यवाद किया है।

लावारिस हालत में मिले 5 वर्षीय बच्चे को थाना ओल्ड पुलिस ने मुनियादी करा कर परिवार से मिलवाया

news-faridabad-old-thana-police-news-in-hindi

फरीदाबाद, 18 नवम्बर: आपको बताते चले की कि आज गस्त के दौरान मुख्य सिपाही सूबे सिंह एवं महिला पुलिसकर्मी बबली को बाईपास के पास करीब 5 वर्षीय बच्चा लावारिस हालत मे मिला था।

थाना ओल्ड मे तैनात महिला सिपाही ने बच्चे को गोद में उठाकर, बच्चे से नाम पता पूछा तो बच्चे ने अपना नाम राज बताया और अधिक जानकारी देने में असमर्थ जाहिर की थी।

बच्चे को बिस्कुट खिलाया और आसपास के एरिया में उसके परिवार की तलाश शुरु की पता नही मिलने पर बच्चे को थाना में लाया गया।

थाना ओल्ड प्रबन्धक ने तुरन्त एक टीम गठित की और बच्चे को पी.सी.आर मे लेकर गली-गली मे मुनादी करवाके काफी समय बाद बच्चे को उसके मां बाप से मिलवाया है। 

बच्चे के माता-पिता ने फरीदाबाद पुलिस का धन्यवाद किया है।

थाना डबुआ पुलिस ने गुम शुदा 2 वर्षिय बच्ची सहित महिला को घर पहुंचाया

faridabad-dabua-thana-police-news-in-hindi

फरीदाबाद: थाना डबुआ पुलिस ने गुम 2 वर्षिय बच्ची सहित महिला को सेक्टर 46 से ठीक हालत मे बरामद करके परिवार के हवाले किया है।

आपको बताते चले की महिला दिनांक 11 नम्बर को अपने 2 वर्षिय बच्ची के साथ घर से बिना बताये कही चली गई थी। जिस पर थाना डबुआ में अभियोग दर्ज कर महिला व बच्ची की तलाश डबुआ पुलिस ने शुरु कर दी थी। 

थाना डबुआ पुलिस ने इलेक्ट्रोनिक्स माध्यम से महिला और बच्ची को सेक्टर 46 फरीदाबाद से सुरक्षित हालत मे बरामद कर परिवार के हवाले कर दिया है।

पहाड़ों पर लावारिश घूम रहा था 10 साल का बच्चा, पुलिस चौकी ने पकड़कर परिवार को सौंपा

faridabad-police-chowki-pali-find-out-10-year-kids-news

फरीदाबाद, 12 नवंबर: पुलिस चौकी पाली ने लावारिस हालत में पहाड़ों में घूम रहे 10 वर्षीय बच्चे को उसके परिवार से मिलवाया है।

 आपको बताते चलें कि मामला कल रात पाली थाना क्षेत्र एरिया का है। पाली पुलिस टीम को रात्रि गश्त के दौरान एक बच्चा लावारिस हालत में घूमता हुआ मिला था।

जिसने अपना नाम व अपना एरिया निवासी नगला, पुलिस को बताया। पुलिस ने तुरंत बच्चे को नंगला एरिया में ले जाकर उसके मकान के बारे में पूछताछ कर उसके परिवार वालो के हवाले किया है।

बच्चे के परिवार वालों ने पुलिस का धन्यवाद किया है।

Faridabad: पुलिस चौकी दयालबाग ने 2 लापता बच्चों को सकुशल ढूँढकर किया परिजनों के हवाले

faridabad-police-dayalbagh-chowki-news-in-hindi

फरीदाबाद, 7 नवम्बर: पुलिस आयुक्त ओ पी द्वारा संशोधित बीट प्रणाली के अंतर्गत बीट पुलिस कर्मचारी लोगों की हर संभव सहायता करने में लगे हुए है. घटना पुलिस चौकी दयालबाग क्षेत्र की है जहाँ पर लापता हुए दो बच्चों को सकुशल ढूंढकर उनके परिजनों के हवाले किया गया.

बच्चों के पिता फागु राम ने पुलिस टीम को बताया कि उनके 9 व 13 वर्षीय दोनों बच्चे दोपहर 3 बजे से लापता है. उन्होंने अपने बच्चों को हर जगह तलाश कर लिया परन्तु उनकी कोई खबर नहीं मिली है.

सारी जानकारी प्राप्त करने के पश्चात् चौकी प्रभारी उपनिरीक्षक राजेश कुमार ने सबसे पहले उनसे दोनों बच्चों की फोटो मांगी। फोटो प्राप्त करके उन्होंने अपने बीटकर्मियों को वह फोटो भेजकर बच्चों को तलाश करने के लिए कहा।| बीट अधिकारियों ने उस क्षेत्र के लोगों को वह फोटो दिखाई और दोनों बच्चों के बारे में पूछताछ की परन्तु उनकी कोई खबर बीट कर्मचारियों को नहीं मिली।

काफी कोशिशों के पश्चात् भी जब बच्चों की खबर नहीं मिली तो बीट अधिकारियों ने उनकी फोटो सहित सारी जानकारी पुलिस सम्बंधित व्ट्सएप ग्रुप में भेज दी और उनको ढूँढने में सह-पुलिसकर्मियों की मदद मांगी जिसके पश्चात् फोटो देखकर सहपुलिसकर्मियों ने उस क्षेत्र से थोड़ी दूर उन बच्चों की पहचान करके इसकी सूचना चौकी प्रभारी को दी.

सूचना प्राप्त होते ही चौकी प्रभारी ने दोनों बच्चों को सकुशल बरामद करके उनके परिवारजनों के हवाले कर दिया| अपने बच्चों को वापिस पाकर उनके परिवारजन बहुत खुश हुए और इसके लिए उन्होंने पुलिस आयुक्त श्री ओ पी सिंह, चौकी प्रभारी सब-इंस्पेक्टर राजेश और बीटकर्मियों के साथ-साथ पूरी फरीदाबाद पुलिस का धन्यवाद किया।

Faridabad: 6 वर्षीय लापता लड़की को डबुआ थाना पुलिस ने तलाशकर परिजनों को सौंपा

faridabad-police-dabua-thana-police-find-out-missing-kid

फरीदाबाद, 4 अक्टूबर: पुलिस आयुक्त श्री ओ पी द्वारा दिए गए निर्देशों पर कार्य करते हुए थाना डबुआ की पुलिस टीम ने लापता 6 वर्षीय लड़की नेहा (बदला हुआ नाम) को शिकायत मिलने के मात्र 3 घंटे में कड़ी मुशक्कत के बाद सकुशल बरामद करके उनके माता-पिता के हवाले कर दिया| थाना डबुआ प्रभारी इंस्पेक्टर संदीप कुमार के नेतृत्व व सूझ-बूझ से सीसीटीवी फुटेज की सहायता से लड़की की तलाश की गई.

घटना दरअसल डबुआ थाना क्षेत्र के 27 फुट रोड़ की है| नेहा के पिता ने रात को लगभग 9 बजे थाना डबुआ शिकायत में शिकायत दी थी की उनकी 6 वर्षीय लड़की नेहा घर से गायब हो गई है. दरअसल लड़की के माता-पिता डबुआ में किराए पर रहते हैं और फैक्ट्री में मजदूरी का कार्य करते हैं. शाम को जब लड़की के माता-पिता कार्य से वापिस घर आए तो उन्होंने अपनी लड़की को घर पर न पाकर आस-पास के क्षेत्र में उसकी तलाश की परन्तु इसमें उनको कोई सफलता नहीं मिली| इसके पश्चात् उन्होंने थाने में इसकी शिकायत दी. उनकी शिकायत पर थाना डबुआ में मुकदमा दर्ज कर लिया गया और लड़की की तलाश शुरू कर दी गई.

डबुआ थाना प्रभारी इंस्पेक्टर संदीप कुमार ने शिकायत पर कार्यवाही करते हुए स्वयं जाकर लड़की के घर के आस-पास लगे सीसीटीवी की फुटेज निकाली जिसमे लड़की पाली रोड़ की तरफ जाती दिखाई दी. इसके पश्चात् थाना प्रभारी ने अपने थाना के पुलिसकर्मियों की अलग-अलग टीम बनाई और उन्हें पाली रोड़ की तरफ अलग-अलग क्षेत्र में लड़की की तलाश करने के लिए भेज दिए.

पुलिस टीम ने लड़की की तलाश करने के लिए क्षेत्र के लोगों से पूछताछ शुरू कर दी| काफी देर तक पूछताछ करने पर पता चला कि दिन के समय एक छोटी बच्ची वहां सड़क पर रो रही थी और एक बुजुर्ग महिला उसे अपने साथ ले गई थी| फिर लोगों द्वारा उस बुजुर्ग महिला के घर का पता पूछकर पुलिस टीम उस बुजुर्ग महिला के घर गई जहाँ पर उस छोटी लड़की को सकुशल पाया गया| बुजुर्ग महिला ने बताया कि वह बच्ची को पुलिस थाने ले जाने में असमर्थ थी इसलिए इसे रोता देखकर इसे अपने साथ ले आई.

इसके पश्चात् लड़की को सकुशल उस घर से बरामद करके लड़की के माता-पिता के हवाले कर दिया गया| अपनी बेटी को वापिस पाकर उनके परिवारजन बहुत खुश हुए और इसके लिए उन्होंने पुलिस आयुक्त श्री ओ पी सिंह, थाना डबुआ प्रभारी इंस्पेक्टर संदीप और बीटकर्मियों के साथ-साथ पूरी फरीदाबाद पुलिस का धन्यवाद किया।

Faridabad: 13 साल की नाबालिग लडकी को ढूंढकर सैनिक कॉलोनी पुलिस चौकी ने परिवार को सौंपा

faridabad-sanik-colony-police-chowki-news-missing-girl-recovered

फरीदाबाद, 23 अक्टूबर: सैनिक कालोनी चौकी पुलिस ने दिनांक 22.10.2020 को घर से नाराज होकर जाने वाली एक नाबालिग लडकी को तलाश कर उस के परिजनो को सौंपने का एक सराहनीय कार्य किया है।

मामला सैनिक कालोनी के अंतर्गत आने वाली नेहरु कालोनी फरीदाबाद एरिया का है। दिनांक 22.10.2020 को एक नाबालिग लडकी घर से नाराज होकर चली गई थी। परिजनो की शिकायत पर पुलिस ने थाना डबुआ मे मुकदमा दर्ज किया था।

पुलिस ने अपने सूत्रों एवं इलैक्टौनिक माध्यम से लडकी को फरीदाबाद एरिया से बरामद परिजनो को सौंपा है।

Faridabad: 6 साल के गुमशुद्धा बच्चे को थाना डबुआ पुलिस ने तलाश कर परिजनों को लौटाया

 

फरीदाबाद, 22 अक्टूबर: थाना डबुआ पुलिस ने सराहनीय कार्य करते हुए एक 6 साल के गुमशुद्धा बच्चे को तलाश कर उनके परिवार को लौटाकर उनको खुशी दी है।

आपको बता दे कि मामला थाना डबुआ मंडी एरिया का है दिनांक 21.10.2020 को एक 6 साल के बच्चे को उसकी चाची निवासी गाजिपुर डबुआ, स्कूल में एडमिशन कराने के लिए लेकर गई थी। चाची स्कूल के स्टाफ से बाते कर रही थी तभी बच्चा खेलते-खेलते नजर बचाकर स्कूल से बाहर निकल गया और गुम हो गया था। 

बच्चे की चाची ने काफी तलाश की, स्कूल के स्टाफ ने भी बच्चे की तलाश में मदद की, लेकिन बच्चा नही मिला तो इस संबध्ंा में बच्चे के परिजनों ने थाना डबुआ पुलिस को सूचना दी। थाना डबुआ एस.एच.ओ इंस्पेक्टर संदीप ने बिना देरी किए अलग-अलग टीम गठित की और बच्चे की तलाश के लिए आगामी कार्यवाही की गई।

पुलिस टीम ने आसपास के सभी एरिया में तलाश की और लगभग शाम 7 बजे के करीब पुलिस टीम ने बच्चे को सकुशल तलाश कर उसके परिजनों को सौंप दिया। परिजनों ने पुलिस टीम के इस सराहनीय कार्य के लिए धन्यवाद किया है।

Faridabad NIT-2: Kiran Gera को फरीदाबाद पुलिस ने ढूंढकर परिवार से मिलाया

 

फरीदाबाद, 14 अक्टूबर: फरीदाबाद NIT-2, M-74 निवासी एक महिला किरन गेरा कई दिनों से गायब थी, पति ने कोतवाली थाने के अंतर्गत NIT-2 पुलिस चौकी  में गुमशुदगी की रिपोर्ट दी जिसपर कार्यवाही करते हुए कोतवाली थाना ने IPC 346 के तहत मामला (FIR 404) दर्ज कर किया और किरन गेरा को कश्मीर से ढूंढकर परिवार को सौंप दिया।

सचिन गेरा ने FIR में लिखा है - मैं सचिन गेरा S/O यशपाल गेरा निवासी 2M-74 एन आई टी न0 2 फरीदाबाद का रहने वाला हूँ मेरी शादी 2010 में किरन गेरा D/O रमेश निवासी 2/E/131 एन. आई. टी फरीदाबाद के साथ हुई थी जो मेरी दो बेटियां पैदा हुई थी.

उन्होंने बताया 3 साल पहले मेरी बडी बेटी की एक्सीडेन्ट के कारण मौत हो गई थी, हम पति पत्नी व एक बेटी नुतिका गेरा उम्र 5 साल व मम्पी पापा के साथ एक साथ रहते है. मैं ड्राइवरी करता हूँ. दिनांक 9-10-2020 को मैं अपनी ड्युटी पर गया हुआ था, करीब 1 बजे दिन को मेरे पिताजी का फोन आया कि किरन 10 बजे से सुबह से घर से गयी है और कुछ बता के नही गयी और अभी तक नही आ है जिसे हम अपने तौर पर अब तक तालाश करते रहे है जो नही मिली है.

सचिन गेरा ने लिखा है - मेरी पत्नी के पास मोबाईल न0 8448327312 है जो कल से ही बन्द है. कृपया करके मेरी पत्नी तालाश की जाए। जो हुलिया रंग गोरा, पतला शरीर, कद 5 फुट 1 इंच है हरा व काला रंग का सूट पहने हुए है।

Faridabad: पर्वतिया कॉलोनी पुलिस चौकी ने 14 वर्षीय गुमशुदा बच्ची को ढूंढकर परजनों को सौंपा

faridabad-parvatiya-colony-police-chowki-find-out-14-year-missing-girl

फरीदाबाद, 10 अक्टूबर: पुलिस चौकी पर्वतीय कॉलोनी की टीम ने घर से लापता 14 वर्षीय नाबालिग लड़की को मात्र 8 घंटे में जयपुर जाकर सकुशल बरामद कर परिवारजनों के हवाले किया।

आपको बता दें कि लड़की की माँ ने दिनांक 09 अक्टूबर को रात 8 बजे पुलिस चौकी में आकर शिकायत दी थी कि उनकी बेटी आज सुबह से लापता है और अभी तक घर नहीं आई है। उसके पास न ही कोई मोबाइल फ़ोन है जिससे हम उससे संपर्क कर सकें। लड़की की माँ द्वारा दी गई शिकायत पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया।

फिर रात लगभग 10 बजे पुलिस को सूचना मिलती है कि वह लड़की जयपुर में है और उसका एक ऑटो के साथ एक्सीडेंट हो गया है। एक्सीडेंट होने के पश्चात् लड़की ने अपने परिवारजनों का फ़ोन नंबर वहां पर मौजूद लोगों को दिया। वहां पर मौजूद लोगों में से एक व्यक्ति ने उस नंबर पर फ़ोन करके एक्सीडेंट की सूचना लड़की की माँ को दी। लड़की की माँ ने ये सब जानकारी  पुलिस को बताई।

पुलिस टीम ने सूचना मिलते ही गूगल मैप की सहायता से जयपुर में जिस जगह पर उस लड़की का एक्सीडेंट हुआ था उसके पास के पुलिस थाना का फ़ोन नंबर निकालकर थाना प्रभारी से संपर्क किया तथा उन्हें मामले के बारे में अवगत कराया। जिस पर जयपुर पुलिस की टीम मौके पर पहुंची व लड़की को सकुशल थाने में ले गए।

इधर पुलिस चौकी पर्वतीय कॉलोनी प्रभारी उपनिरीक्षक सुरेन्द्र ने उपनिरीक्षक राजकुमार, सिपाही मोहित और मजींत की एक टीम तैयार कर उन्हें बिना देरी किए जयपुर के लिए रवाना कर दिया। जयपुर पहुंचकर लड़की को सकुशल बरामद कर लिया गया और उसे वापिस फरीदाबाद ले आए। पूछताछ करने पर पता चला कि उस लड़की को मॉडलिंग करने का शौक है जिसके लिए वह मुंबई जा रही थी परन्तु रास्ते में ही उसका एक्सीडेंट हो गया था।

फरीदाबाद लाने करने के पश्चात् लड़की को सकुशल उसके परिवारजनों के हवाले कर दिया गया। लड़की को वापिस पाकर लड़की के परिवार के सदस्य बहुत खुश है। लड़की की माँ ने कहा कि यह सिर्फ पुलिस प्रशासन की मेहनत से ही संभव हो पाया है। इसके लिए वह पुलिस कमिश्नर, पुलिस चौकी पर्वतीय कॉलोनी के पुलिस अधिकारियों व पूरी फरीदाबाद पुलिस का धन्यवाद करते हैं।

पुलिस आयुक्त ओ पी सिंह इस प्रकार पुलिस अधिकारियों द्वारा किए गए कार्यों से खुश हुए हुए और उन्हें सम्मानित करने के लिए प्रशंसा पत्र देने की घोषणा की है।

Faridabad Missing Cell ने घंटों मेहनत कर लापता युवक को दिल्ली से ढूंढ निकाला

faridabad-missing-cell-searched-out-gumshuda-vyapari-from-delhi

फरीदाबाद, 2 अक्टूबर: फरीदाबाद पुलिस दिन-प्रतिदिन बेहतरीन कार्यों का परिचय देती जा रही है, इसी क्रम में कार्य करते हुए, सेक्टर 17 स्थित मिसिंग सेल ने एक सप्ताह से लापता व्यापारी को अपनी बुद्धिमता और तकनीक का प्रयोग करते हुए दिल्ली जाकर ढूंढ निकाला।

दरअसल NIT के रहने वाले व्यापारी साहिल अरोड़ा की कपड़े के बेग की एक दुकान है लॉकडाउन में काम बंद होने की वजह से वह मानसिक दबाव में चल रहे थे।इसी वजह से वह एक सप्ताह पहले बिना किसी को बताए हुए अपने घर से कहीं चले गए।काफी समय तक भी जब वह अपने घर वापिस नहीं लौटे तो उनके परिवारजनों ने इसकी शिकायत थाना कोतवाली में दर्ज करवाई। उनकी शिकायत पर थाना कोतवाली में मुकदमा दर्ज कर लिया गया।

मुकदमा दर्ज होने पर थाना कोतवाली ने इसकी सूचना मिसिंग सेल को दी जिसपर कार्यवाही करते हुए मिसिंग सेल ने साहिल का मोबाइल नंबर ट्रेसिंग पर लगवा दिया

आज मिसिंग सेल को दिल्ली के करोल बाग क्षेत्र में साहिल के मौजूद होने की सुचना  मिली थी, जिस Asi सुन्दर Hc चान्द साहिल को ढूँढने के लिए दिल्ली के लिए रवाना हो गए। दिल्ली जाते समय पुलिस टीम लगातार साहिल की मौजूदगी की  सुचना मिलती  रही वहां पहुंचकर करोल बाग के विभिन्न होटलों में साहिल की तलाश की गई परन्तु साहिल का  काफी देर तक कोई सुराग नहीं लग पाया 

घंटो भर साहिल की तलाश करने के पश्चात् भी पुलिस कर्मचारियों ने उम्मीद नहीं छोड़ी और पूरे जज्बे के साथ उसकी तलाश जारी रखी।

अंत में कम से कम 12 होटलों में पूछताछ के पश्चात् साहिल को ढूँढ निकाला गया और थाना कोतवाली की टीम  हवाले कर दिया गया।बाद में थाना कोतवाली के अनुसंधान अधिकारी ने साहिल को उसके परिवारजनों के सौंप दिया।

साहिल के परिवारजन साहिल को वापिस अपने घर में पाकर बहुत खुश हुए और इसके लिए उन्होंने पुलिस आयुक्त के साथ-साथ पूरी फरीदाबाद पुलिस का धन्यवाद किया।

इस तरह की घटनाओं को देखते हुए पुलिस प्रशासन का सभी नागरिकों से अनुरोध है कि विपरीत परिस्थितियों में अपने परिवारजनों व दोस्तों का साथ न छोड़ें तथा उनका ख्याल रखें| उनकी हर प्रकार से सहायता करें ताकि विपरीत परिस्थितियों में भी आपके अपनों का हौंसला बना रहे और वह हर समस्या को आपकी सहायता से हल कर सकें।

सतीश चंद बिल्ला डबुआ कॉलोनी से हुए गुमशुदा, ढूंढने में करें मदद

 satish-kumar-billa-missing-dabua-sabji-mandi-faridabad-news

फरीदाबाद, 26 सितम्बर: फरीदाबाद डबुआ कॉलोनी के मकान नंबर 1D-91 के रहने वाले सतीश कुमार बिल्ला गुमशुदा हो गए हैं. अगर किसी को ये दिखाई दें तो Phone 9818187446, 9958947997, 9999718901 पर संपर्क करें।

सतीश कुमार बिल्ला क्रीम कलर का कुरता और कोकाकोला कलर का पायजामा पहने हैं. वह डबुआ सब्जी मंडी के लिए निकले थे लेकिन वापस नहीं आये. उनकी लम्बाई 5.2 फुट है. इनकी उम्र 65 वर्ष है.

सतीश कुमार के परिवार वालों ने उन्हें ढूंढने में सोशल मीडिया की मदद मांगी है. अगर किसी को भी ये दिखाई दें तो ऊपर लिखे नंबरों पर जरूर सूचित करें।

मुजेसर थाना पुलिस ने दो नाबालिक बच्चों को तलाश कर उनको माता-पिता के हवाले किया

faridabad-mujesar-thana-police-find-out-2-missing-minors

फरीदाबाद, 25 सितंबर: थाना मुजेसर पुलिस ने सराहनीय कार्य करते हुए दो नाबालिग बच्चों को तलाश कर उनके माता-पिता को सौंप कर उनके चेहरे पर खुशी लौटाई हैं।

थाना मुजेसर पुलिस को नीतू देवी पत्नी निशु प्रसाद झूग्गी सेक्टर 24 फरीदाबाद ने शिकायत दी थी कि उनकी 14 वर्षीय लड़की घर से बिना बताए कहीं चली गई है।

जिस पर थाना मुजेसर पुलिस ने मुकदमा नंबर 532 धारा 363 आईपीसी के तहत दर्ज किया गया था।

दूसरा मामला आजाद नगर सेक्टर 24 का है जिसमें शिकायतकर्ता ईशा प्रवीण पत्नी मोहम्मद रिजवान ने थाना मुजेसर पुलिस को बताया था कि उसका 15 वर्षीय भाई घर से बिना बताए कहीं चला गया है जो अभी तक घर नहीं पहुंचा है जिस पर दिनांक 22 सितंबर को धारा 363 आईपीसी के तहत मामला दर्ज किया गया था।

एसएचओ थाना मुजेसर श्री राम ने बताया कि थाने में मौजूद सभी पुलिसकर्मियों को व्हाट्सएप पर बच्चों की फोटो सेंड कर दिए गए थे और बीट अफसरों को भी इस बारे में सूचित कर दिया गया था।

मुजेसर थाना पुलिस टीम ने उपरोक्त दोनों नाबालिग लड़का एवं लड़की को सोशल मीडिया एवं पूछताछ के आधार पर बाटा रेलवे स्टेशन प्लेटफार्म से बरामद कर उनको उनके माता पिता के हवाले किया गया है।

माता-पिता अपने बच्चों को पाकर बहुत खुश हैं और उन्होंने मुजेसर थाना पुलिस का तहे दिल से शुक्रिया अदा किया है।