Palwal Assembly

Showing posts with label India News. Show all posts

तमंचे से फायरिंग करके काटा गया केक, VIDEO वायरल

video-viral-cutting-cake-with-pistal-firing-in-meerut-up

फरीदाबाद: खुलेआम फायरिंग करना कानूनन जुर्म है लेकिन कुछ लोग नियम कानूनों को ठेंगा दिखा रहे हैं, सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें कुछ युवक तमंचे से फायरिंग करके केक काटते हुए दिखाई दे रहे हैं. तीन चार फायर करने के बाद केक में गोली लगती है जिसके बाद वहां मौजूद लड़के जश्न मनाते हैं.

यह वीडियो पियूष राज नाम के एक युवक ने ट्विटर पर पोस्ट किया है, वीडियो मेरठ का बताया जा रहा है लेकिन अभी इसकी पुष्टि नहीं हुई है. जल्द ही पुलिस इस मामले की जांच कर सकती है.

बांग्लादेश को 2-0 से धोने वाली भारतीय दिव्यांग क्रिकेट टीम का मंत्री केपी गुर्जर ने किया स्वागत

faridabad-mp-minister-krishan-pal-gurjar-welcome-divyang-cricket-team

फरीदाबाद, 10 मई: बांग्लादेश के ढाका में संपन्न हुयी दूसरी अंतरार्ष्ट्रीय 20-20 व्हीलचेयर क्रिकेट प्रतियोगिता में बांग्लादेश को 2-0 से हराकर भारत लौटी भारतीय व्हीलचेयर क्रिकेट टीम का फरीदाबाद के सांसद एवं केन्द्रीय राज्यमंत्री ने दिल्ली हवाई अड्डे पर जोरदार स्वागत किया. 

इस दौरान मंत्री गुर्जर ने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय T-20 व्हीलचेयर क्रिकेट सीरीज को जीतकर भारतीय दिव्यांग टीम ने देश को गौरवान्वित किया है. उन्होंने कहा की दिव्यांग खिलाडियों की प्रबल इच्छाशक्ति पूरे देश के लिए मिसाल बनी है. 

कश्मीर में निपटाए गए 3 पत्थरबाज, 1 तो इतना डर आया कि दिल का दौरा पड़ने से मर गया

kashmir-three-stone-pelter-killed-by-security-forces-on-bakra-eid

श्रीनगर, 13 सितम्बर: आज बकरा-ईद का त्यौहार था, कश्मीर में सुरक्षाबलों ने आज तीन पत्थरबाजों को हलाल करके देश वासियों का दिल जीत लिया, आज कश्मीर घाटी में पत्थरबाजों की उग्र भीड़ और सुरक्षा बलों के बीच हिंसक झड़प में तीन पत्थरबाजों की मौत हो गई। पुलिस के अनुसार, शोपियां जिले में बकरीद की नमाज के दौरान भीड़ ने सुरक्षा बलों पर हमला कर दिया। इस दौरान सुरक्षा बलों की कार्रवाई में एक युवक की मौत हो गई, जिसकी पहचान 24 साल के शाहिद अहमद के रूप में की गई।
पुलवामा जिले के अवंतीपुरा कस्बे में पुलिस के साथ झड़प के दौरान एक पत्थरबाज जलालुद्दीन (45) का दिल का दौरा पड़ने से मर गया, बताया जाता है कि पत्थरबाजी की वजह से पुलिस ने उसे दौड़ा लिया जिसकी वजह से वह इतना डर गया कि दिल का दौरा पड़ने से मर गया।
पुलिस क अनुसार, प्रदर्शनकारियों की भीड़ को तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस के गोले दागे गए थे, जो मस्जिद तक पहुंच गया, जहां जलालुद्दीन की मौत हो गई।
इससे पहले बांदीपोरा जिले में एक युवक मुर्तजा (25) की सुरक्षा बलों के साथ झड़प में मौत हो गई थी।
प्रशासन ने कश्मीर घाटी के सभी 10 जिलों में हिंसक गतिविधियों की रोकथाम के लिए कर्फ्यू लगा दिए हैं।
कहीं भी ईद की नमाज के लिए बड़ी भीड़ को एकत्र होने की अनुमति नहीं दी गई।
घाटी में आठ जुलाई को सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में हिजबुल मुजाहिदीन के आतंकवादी बुरहान वानी के मारे जाने के बाद नौ जुलाई से जारी हिंसा व तनाव में मरने वालों की संख्या बढ़कर 86 हो गई है, जबकि हजारों घायल हुए हैं।

लोग सोचकर परेशान, कितने राशन कार्ड बनवाये होंगे AAP ने अबतक

sandeep kumar sex scanda latest news

New Delhi, 6 September: राशन कार्ड बनवानी का लालच देकर एक महिला की आबरू के साथ खेलने की खबर से सोशल मीडिया पर ट्विटर पर आम आदमी पार्टी की जमकर खिंचाई हो रही है, इससे पहले भी भी आम आदमी पार्टी के विधायकों पर महिलाओं से छेड़छाड़ के आरोप लगते थे लेकिन दिल्ली के मुख्यमंत्री उन आरोपों को मोदी और बीजेपी की साजिश बताकर अपने विधायकों को बचा लेते थे लेकिन हाल ही में संदीप कुमार की सेक्स सीडी ने आम आदमी पार्टी के सभी विधायकों को गलत साबित कर दिया साथ ही केजरीवाल को भी शर्मशार कर दिया, जिसकी वजह से मजबूरीवश उन्हें अपने मंत्री को पद से हटाना पड़ा।

जैसे ही इस मामले का खुलासा हुआ और पता चला कि पूर्व मंत्री संदीप कुमार ने राशन कार्ड बनवाने के लालच देकर महिला के साथ गलत काम किया है तो सोशल मीडिया पर केजरीवाल और संदीप कुमार की जमकर खिंचाई होने लगी, लोग उनसे सवाल पूछने लगे कि ना जाने संदीप कुमार जैसे लोगों ने कितनी महिलाओं का राशन कार्ड बनवाया है, उनकी इज्जत के साथ खिलवाड़ किया है और उसकी वीडियो बनाकर उनका भविष्य बर्बाद करने या उन्हें जीवन भर ब्लैकमेल करने का घृणित प्रयास किया है।

आज संदीप कुमार को रोहिणी की कोर्ट ने तीन दिन के लिए पुलिस रिमांड पर भेज दिया, तीन दिन में पुलिस किसी भी तरीके से उनसे पूरा सच उगलवाने का प्रयास करेगी, संदीप कुमार के बाद उनके पूर्व सचिव प्रवीण कुमार को भी पुलिस ने गिरह्तार कर लिया है, संदीप कुमार ने उनपर आरोप लगाया था कि उन्होंने संदीप कुमार के वीडियो से यह क्लिप चोरी की थी और 20 लाख रुपये मांगकर उन्हें ब्लैकमेल करने की कोशिश की थी।

सूत्रों से यह भी पता चला है कि संदीप कुमार ने यह वीडियो जानबूझकर खुद ही बनाया था, बाद में यह वीडियो प्रवीण के हाथ लग गया और संदीप कुमार की पोल खुल गयी।

पत्थर बाजों को अपना बच्चा बताकर महबूब मुफ़्ती ने कर दिया गुड़ गोबर

mehbooba mufti on kashmir

Srinagar: महबूबा मुफ़्ती बहुत तेजी से अपना रंग बदल रही हैं, दो दिन पहले उन्होंने श्रीनगर में एक प्रेस कांफ्रेंस करके पत्थरबाजों और अलगाववादियों को खूब खरी खोटी सुनायी थी, उन्होंने कहा था कि ये पत्थरबाज बच्चे जो फ़ौज की गोलियों के शिकार हो रहे हैं, क्या ये सुरक्षाबलों के पास दूध या टॉफी खरीदने जाते हैं, या ये मिलिट्री कैम्प या पुलिस थानों में आग लगाकर कोई नेक काम कर रहे हैं, ये लोग उन्हीं सुरक्षाबलों पर हमले कर रहे हैं जो हमारी रक्षा करते हैं। 

आज दिल्ली में महबूबा मुफ़्ती बदल गयीं, आज उन्होने पत्थरबाजों को अपना बच्चा बता दिया, आज उन्होंने कहा कि इन बच्चों को वह अच्छे से जानती हैं, ये उनके साथ जुलूसों में जाते थे, खतरे के वक्त ये पत्थरबाज युवक उनकी ढाल बन जाते थे, ये युवक उन्हें माँजी माँजी कहते थे, लेकिन आज ये उनसे नाराज हो गए हैं इसलिए पत्थरबाजी कर रहे हैं। 

सच तो यह है कि ये पत्थरबाज बच्चे कोई आजादी मांगने के लिए पत्थरबाजी नहीं करते, ये अलगाववादियों के कहने पर पत्थरबाजी करते हैं, अलगाववादियों को पाकिस्तान पैसे देता है, अलगाववादी उन्हीं पैसों से कश्मीर घाटी में पत्थर खरीदते हैं और पत्थर फेंकने वाले युवाओं को पैसे देते हैं, कभी कभी तो युवाओं को भी नहीं पता होता कि वे किसलिए पत्थर फेंक रहे हैं, जब पत्थर फेंक दिए जाते हैं, सुरक्षाबल घायल कर दिए जाते हैं, कश्मीर का नुकसान कर दिया जाता है तो कश्मीरी अलगाववादी पाकिस्तान को कश्मीर में की गयी पत्थरबाजी का हिसाब देते हैं, अलगाववादी पाकिस्तान से कहते हैं कि - हुकुम आपने हमें 10 करोड़ रुपये भेजे थे, हमने इस इस जगह पर सैनिकों पर पत्थर फेंकवा दिया है, इन थानों और मिलिट्री कैम्पों को आग के हवाले कर दिया है, इतने लोगों को मार दिया है, इसके बाद का काण्ड तभी होगा जब आप और पैसे भिजवाओगे। अलगाववादियों को फायदा यह होता कि पाकिस्तान के दिए गए 10  करोड़ रुपये में से 5 -6  करोड रुपये बचा लेते हैं और ऐश करते हैं, अपने बच्चों को विदेशों में बढ़िया संस्थानों में पढने के लिए भेज देते हैं और उन्हें ऐश कराते हैं। 

सच तो यह है कि सरकार में आने से पहले महबूबा मुफ़्ती भी कश्मीरियों को आजादी के सपने दिखाती थीं, एक तरह से ये भी अलगाववादियों की गैंग से सम्बन्ध रखती थीं, 2008 और 2010 में भी कश्मीर में हिंसा और पत्थरबाजी हुई थी और महबूबा जी पत्थरबाजों को खुद उकसाती थीं, इसीलिए आज वे पत्थरबाजों को अपना बच्चा बता रही हैं, खैर सरकार बनाने के बाद उनका दिमाग खुला और उन्हें हिन्दुस्तानी होने का अहसास हुआ, शायद इसीलिए परसों की प्रेस कांफ्रेंस में उन्होंने पत्थरबाजों को खूब खरी खोटी सुनाई, उनकी बहुत तारीफ भी हुई, उन्हें शेरनी तक बोला गया लेकिन आज उन्होंने सब गुड गोबर कर दिया, उन्होंने पत्थरबाजों को अपना बच्चा बता दिया, इन्होने उन पत्थरबाजों को अपना बच्चा बता दिया जो पाकिस्तान से पैसे लेकर हमारे सैनिकों पर पत्थर बरसाते हैं।

काश महबूबा मुफ़्ती ये कहतीं कि अब पत्थरबाजों को पत्थरबाजी करने की जरूरत नहीं है, अब मै मुख्यमंत्री बन चुकी हूँ, बीजेपी के साथ हमारा गठबंधन है, अब आप स्वतंत्र हैं, आप कुछ भी करने के लिए आजाद हैं, बस पाकिस्तान से बचकर रहें, वहां के आतंकवादियों से बचकर रहें, जिहाद के जहर से बचकर रहें, आप अच्छी तरह पढ़ाई करें, पढ़ाई करके नौकरी करें, अपने माँ बाप का सहारा बनें और पूरे भारत में शान से घूमें। अगर महबूबा पत्थरबाजों से ऐसी अपील करतीं तो उनपर अधिक असर होता लेकिन महबूबा को भी पता है कि ये उनके बच्चे हैं, उनके साथ बहुत से जुलूसों में घूमें हैं, सरकार का बहुत विरोध किया है, सरकार के विरोध में बहुत नारेबाजी की है, सैनिकों पर बहुत पत्थर बरसाए हैं, ये पत्थरबाज ऐसे नहीं मानने वाले हैं, इसलिए वे हुर्रियत और अलगाववादियों से बातचीत करने की अपील कर रही हैं।