Followers

Showing posts with label Haryana. Show all posts

कोरोना इलाज: हर निजी अस्पताल में लगा होना चाहिए सरकारी रेट का बोर्ड, वरना होगी कड़ी कार्यवाही

haryana-government-covid-treatment-rate-list-for-private-hospitals

फरीदाबाद, 8 मई: अब तक निजी अस्पतालों ने कोरोना को क्राइसिस मानकर मनमानी फीस लेकर कोरोना मरीजों को अपने अस्पतालों में भर्ती किया और आपदा को अवसर मानकर खूब कमाई की लेकिन अब हरियाणा सरकार ओवर-चार्जिंग करने वालों के खिलाफ कार्यवाही कर रही है.

हरियाणा सरकार ने कोरोना बीमारी के ट्रीटमेंट के लिए एक रेट लिस्ट निर्धारित की है, यह रेट लिस्ट सभी निजी अस्पतालों को नोटिस बोर्ड पर चिपकाना है और मरीजों से यही फीस लेनी है.

जो भी अस्पताल नाभ एक्रेडिटेड नहीं हैं वे आइसोलेशन बेड के 8000 रुपये रोजाना, ICU के 13000 रुपये रोजाना और वेंटीलेटर युक्त ICU के 15000 रुपये रोजाना फीस ले सकते हैं जिसमें खाने-पीने से लेकर दवाइयों और सभी जरूरी टेस्ट भी शामिल हैं.

जो भी अस्पताल नाभ एक्रेडिटेड हैं वे आइसोलेशन बेड के 10000 रुपये रोजाना, ICU के 15000 रुपये रोजाना और वेंटीलेटर युक्त ICU के 18000 रुपये रोजाना फीस ले सकते हैं जिसमें खाने-पीने से लेकर दवाइयों और सभी जरूरी टेस्ट, ग्लव्स और PPE किट्स का चार्ज भी शामिल हैं.

नीचे आर्डर में पूरी जानकारी और डिटेल दी गयी है.

अगर किसी मरीज को Ramedisivir जैसे इंजेक्शन लगते हैं तो इसका चार्ज अतिरिक्त लिया जा सकता है.


आपकी जानकारी के लिए बता दें कि निजी अस्पतालों की मनमानी की शिकायत हरियाणा सरकार तक पहुँच गयी है, प्रशासन को सभी निजी अस्पतालों के रिकॉर्ड की जांच करने के आदेश दिए गए हैं. फरीदाबाद के डीसी यशपाल यादव ने आज जेनिथ अस्पताल का दौरा किया और अनियमितता पाए जाने पर जांच के आदेश दिए, अन्य सभी अस्पतालों से कोविड मरीजों का रिकॉर्ड माँगा जाएगा और मरीजों को फोन करके उनसे ली गयी फीस की जानकारी ली जाएगी। अगर कोई निजी अस्पताल मरीजों से ओवरचार्ज लिया होगा तो मरीज इसकी जानकारी प्रशासन को देगा और निजी अस्पताल के खिलाफ कार्यवाही होगी।

जेनिथ अस्पताल से इसकी शुरुआत हो गयी है, जल्द ही अन्य अस्पतालों के खिलाफ कार्यवाही होगी।

हरियाणा CM का एक और बड़ा ऐलान, होम आइसोलेशन वालों के घर 5000 रुपये की किट भेजेगी सरकार

haryana-sarkar-kit-for-home-isolated-patients-news

फरीदाबाद, 8 मई: कोरोना के खिलाफ फाइट में हरियाणा सरकार ने होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजों की मदद करने का फैसला किया है. हरियाणा सरकार ने करीब 5 हजार रुपये के आइटम्स वाली एक किट तैयार की है जो होम आइसोलेटेड कोरोना मरीजों के घर पर ही पहुंचाई जाएगी ताकि वे घर पर ही  रहकर कोरोना के खिलाफ जंग लड़ सकें। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने खुद ही ट्विटर पर इसकी जानकारी दी है.

राज्य के स्वास्थय विभाग ने यह किट तैयार की है जिसमें एक ऑक्सीमीटर, एक डिजिटल थर्मामीटर, स्टीमर, मास्क एवं एलोपैथिक और आयुर्वेदिक दवाइयाँ भी हैं.

हरियाणा के गृह एवं स्वास्थय मंत्री अनिल विज ने कहा कि किट बांटने का उद्देश्य घरों में रहकर इलाज करा रहे लोगों को राहत देने एवं अस्पतालों पर दबाव कम करना है. उन्होंने यह भी कहा कि अगर किट बांटे जाने में धांधली की गयी तो ऐसे लोगों के खिलाफ कडा एक्शन लिया जाएगा। 

हरियाणा सरकार अब घर पर ही पहुंचाएगी ऑक्सीजन गैस, CM मनोहर लाल ने खुद दी जानकारी, जानिये प्रोसेस

haryana-sarkar-prepare-system-to-supply-oxygen-at-home
 
फरीदाबाद, 7 मई: ऑक्सीजन की समस्या को ख़त्म करने के लिए हरियाणा सरकार ने एक उम्दा प्लान बनाया है, अब होम आइसोलेटेड जरूरतमंद मरीजों के घर पर ही ऑक्सीजन गैस रिफिल कर दी जाएगी लेकिन मरीजों के पास खाली सिलेंडर होना चाहिए।

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने खुद ही ट्विटर पर इसकी जानकारी दी है, उन्होंने लिखा - हरियाणा में डोर टू डोर होगी ऑक्सीजन की सप्लाई, होम आईसोलेटेड संक्रमितों को http://oxygenhry.in पर आवेदन कर डोर पर ही मिलेगी ऑक्सीजन की रीफिलिंग सुविधा

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि फरीदाबाद में दो तीन फिलिंग सेण्टर पर लम्बी लम्बी लाइनें लग रही हैं, मरीज लोग कई कई दिनों तक खाली सिलेंडर लेकर लाइनों में लगे रहते हैं लेकिन अब मरीजों को सिर्फ http://oxygenhry.in पोर्टल पर आवेदन करना होगा और जानकारी उपलब्ध कराने पर उनके घर पर ही ऑक्सीजन गैस रिफिल कर दी जाएगी।

ये जानकारी उपलब्ध करानी होगी

नाम, उम्र, आधार नंबर, व् ऑक्सीमीटर में अंकित लेवल की फोटो डालनी होगी। कहाँ पर गैस पहुंचानी है, इसका प्रॉपर एड्रेस बताना होगा।


होम आइसोलेशन वाले BPL मरीजों को 5000, अस्पतालों में भर्ती BPL मरीजों को 5000/Day देगी सरकार

haryana-cm-manohar-lal-make-some-big-announcement

फरीदाबाद, 7 मई। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने वीडियो कॉनफ्रैंस के माध्यम से गुरुवार को प्रदेश के सभी जिला उपायुक्तों के साथ मीटिंग की । फरीदाबाद से उपायुक्त यशपाल व जिला चिकित्सा अधिकारी डाँ रमेश पूनिया और कोविड-19 नोडल चिकित्सा अधिकारी डॉ राम भगत सहित कई अधिकारियों ने वीडियो कांफ्रेंस में हिस्सा लिया। 

इस दौरान मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने निर्देश देते हुए कहा कि वह जिला में ऑक्सीजन सप्लाई को स्कीम बना कर निर्बाध रूप से चालू करें। जिला में कोविड-19 वैश्विक महामारी कोरोना के संक्रमण के मरीजों की संख्या हरियाणा के लोगों की कितने है और बाहर के लोगों की कितनी संख्या है का रिकॉर्ड भी मेंटेन करना सुनिश्चित करें। समाजसेवी संस्थाओं है तथा अन्य सामाजिक कार्यकर्ताओ के सहयोग से निगरानी समिति बनाकर कोविड-19 के संक्रमण से ग्रस्त लोगों का उपचार को बेहतर व्यवस्था व्यवस्थित तरीके से क्रियान्वयन करें।

उन्होंने कहा कि जिला फरीदाबाद में प्राइवेट अस्पतालों का डाटा तैयार करके उनके आईसीयू बेड की संख्या सहित अन्य सुविधाएं भी सरकार द्वारा जारी निर्देशों के अनुसार पूरा करना सुनिश्चित करें । कोविड-19 के उपचार के लिए टोल फ्री शुरू करें। होम आइसोलेशन में रहने वाले लोगों के लिए चिकित्सा अधिकारियों की टीम को निर्देश दे कि वे लगातार उनके साथ तालमेल कर सामज्यस्य स्थापित करके दवाइयों के बारे समय-समय पर जानकारी देते रहे।

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि सरकार द्वारा बीपीएल परिवारों तथा अन्य गरीब परिवारों के लिए कोरोना संक्रमण से ग्रस्त लोगों के उपचार के लिए प्राइवेट अस्पतालों को भी ₹1000 प्रति दिन प्रति बिस्तर के हिसाब से 7 दिन की धनराशि मुहैया करवाई जाएगी। इसी प्रकार दूसरी घोषणा के अनुसार बीपीएल परिवारों को आयुष्मान भारत योजना के तहत ₹5000 की धनराशि प्रति बिस्तर 7 दिनों तक उपलब्ध करवाई जाएगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि तीसरी घोषणा के अनुसार होम आइसोलेशन में रहने वाले बीपीएल परिवारों को भी ₹5000 की धनराशि प्रति मरीज के हिसाब से सरकार द्वारा सहायता राशि के तौर पर दी जाएगी।

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि एनआरएचएम पोर्टल पर डेली बेसीज के हिसाब से दिन में पॉजिटिव लोगों का डाटा तीन बार लोड करना सुनिश्चित करें। इसके अलावा जिला में ऑक्सीजन गैस व कोविड-19 की दवाइयों और दैनिक उपभोग की वस्तुओं में कालाबाजारी पर अंकुश लगाना सुनिश्चित करें।

प्रत्येक जिला में एंबुलेंस के रेट भी उपायुक्त द्वारा निर्धारित करना सुनिश्चित हो। इसके अलावा मुख्यमंत्री ने कहा कि जो ऑक्सीजन के टैंकर आते हैं वह भी ऑक्सीजन गैस प्लांट में निर्धारित समय पर गैस खाली करके अगले प्लांट पर समयानुसार पहुंचना सुनिश्चित करें। इस कार्य के लिए पुलिस की टीम की ड्यूटी लगाकर निर्धारित समय पर टैंकर अगले आक्सीजन प्लांट में पहुंचाना सुनिश्चित करेंः जिलों में ऑक्सीजन की सप्लाई और दवाइयों की मोनोट्रीम उपायुक्त स्वयं करें। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि घरों में जिन लोगों को ऑक्सीजन की जरूरत हो वह भी व्यवस्था सुचारू रूप से व्यवस्थित ढंग से चालू करें। इसके लिए सामाजिक संस्थाओं का सहयोग अवश्य ले। मुख्यमंत्री ने कहा कि लोक डाउन की घोषणा के अनुसार लोग जरूरी काम से ही घरों से बाहर निकले। अन्यथा घरों को बाहर ना निकले।  इसके लिए पुलिस व प्रशासन सरकार द्वारा जारी कोविड-19 की हिदायतों को पूर्णतया लागू करें। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि शहरी इलाकों के अलावा ग्रामीण क्षेत्रों में कोविड-19 का संक्रमण ज्यादा फैल रहा है। इसलिए ग्रामीण क्षेत्रों में कोविड-19 और इस के उपचार को व्यवस्थित ढंग से चालू करें। इसके लिए ग्राम पंचायतों तथा अन्य सामाजिक संस्थाओं का सहयोग लें। 

उन्होंने ग्रामीण क्षेत्र के लिए पीजी डॉक्टर्स की टीम सरकार द्वारा श ट्रेनिंग देकर कोविड-19 के संक्रमण जरूरत अनुसार काबू पाना सुनिश्चित करें। मुख्यमंत्री ने कहा कि लोगों की टेस्टिंग बढ़ाएं। आईसीएमआर की गाइडलाइन अनुसार अधिक से अधिक लोगों को टेस्टिंग करना सुनिश्चित करें। 

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने जिला वार प्रत्येक उपायुक्त से विस्तृत जानकारी ली। जिला फरीदाबाद की जानकारी लेते हुए मुख्यमंत्री ने उपायुक्त को निर्देश दिए कि वह फरीदाबाद के प्राइवेट अस्पतालों में कितनी ऑक्सीजन युक्त बेड हैं और इन बैड है और उन पर हरियाणा के लोग कितने इलाज कर रहे हैंऊ और बाहर के लोग इतने इलाज कर रहे हैं। वह रिकॉर्ड भी बनाना सुनिश्चित करें। इसके साथ-साथ प्राइवेट अस्पतालों में आईसीयू बेड को भी सुविधा अनुसार बढ़ाना सुनिश्चित करें। 

वीडियो कांफ्रेंस में उपायुक्त यशपाल जिला चिकित्सा अधिकारी डॉ रमेश पूनिया जिला कोविड-19नोडल अधिकारी डॉ राम भगत सिहं ऑनलाइन मौजूद रहे। बैठक में हेल्थ विभाग की ऐसीए राजीव अरोड़ा और हेल्थ विभाग की निदेशक डॉ विना सिंह ने वीडियो कांफ्रेंस में दिशा निर्देश दिए। 

हरियाणा बाल कल्याण परिषद 17 मई से 4 जून के बीच आयोजित करेगी 'ऑनलाइन ग्रीष्मकालीन शिविर 2021'

haryana-bal-kalyan-parishad-update-for-studenst-haryana
 

फरीदाबाद, 6 मई: जिला बाल कल्याण परिषद फरीदाबाद के अध्यक्ष एवं उपायुक्त यशपाल ने बताया कि ज़िला बाल कल्याण परिषद बच्चों के सर्वांगीण विकास के लिए विभिन्न गतिविधियों का आयोजन करती रहती है। इसी कड़ी को आगे बढ़ाते हुए हरियाणा राज्य बाल कल्याण परिषद चंडीगढ़ ऑनलाइन प्लेटफॉर्म ग्रीष्मकालीन शिविर 2021 के माध्यम से प्रदेशभर के बच्चों के सपनों को पंख लगाएगी।         

इस संबंध में हरियाणा राज्य बाल कल्याण परिषद के मानद महासचिव प्रवीण अत्री ने घोषणा करते हुए कहा कि संकट की स्थिति में बच्चों के कल्याण के लिए परिषद पूरी प्रतिबद्धता के साथ कार्य करेगी। उन्होंने बताया कि कोरोना महामारी के संकटकालीन दौर के दौरान जब हर कोई अपने घरों में रहने को मजबूर है और बच्चे घरों में अकेलापन महसूस कर रहे हैं। ऐसे में हरियाणा राज्य बाल कल्याण परिषद बाल कल्याण के प्रति अपनी प्रतिबद्धता को दोहराते हुए बच्चों को ऑनलाइन प्लेटफॉर्म के माध्यम से बड़ा मंच प्रदान करने जा रही है।  

उन्होंने कहा कि कोविड-19 संकट के दौरान परिषद 17 मई से 4 जून के बीच "ऑनलाइन ग्रीष्मकालीन शिविर 2021" का आयोजन करने जा रही है। जिसके माध्यम से विभिन्न विषयों के विशेषज्ञ बच्चों को ऑनलाइन प्रशिक्षण देंगे और सप्ताहांत में उन्हीं विषयों को लेकर बच्चों की विभिन्न प्रतियोगिताएं करवाई जाएंगी। ऑनलाइन प्लेटफॉर्म की उपलब्धता से बच्चे विभिन्न प्रतियोगिताओं के माध्यम से घर बैठे अपने प्रतिभा का प्रदर्शन कर सकेंगे। 

उन्होंने कहा कि "ऑनलाइन ग्रीष्मकालीन शिविर 2021" में विशेषज्ञ बच्चों को कोविड-19 में सकारात्मक विचारों की जागरूकता, कोविड-19 वैक्सीन लगवाने की जागरूकता, कोरोना वॉरियर्स का सम्मान बढ़ाने वाले जागरूकता समेत अन्य महत्वपूर्ण विषयों पर प्रशिक्षित करेंगे और प्रशिक्षण उपरांत बच्चे विभिन्न प्रतियोगिताओं में भाग ले सकेंगे। इन प्रतियोगिताओं में पेंटिंग, स्केचिंग, एकल लोकगीत,  एकल लोक नृत्य, एकल देशभक्ति गीत ब्लॉग व अन्य गतिविधियों के माध्यम से बच्चे ऑनलाइन अपनी प्रस्तुतियां परिषद द्वारा जारी पोर्टल लिंक summervacationcamp.in पर अपलोड की जा सकेंगी। जोकि परिषद की वेबसाइट www.childwelfareharyana.com पर उपलब्ध रहेगा। 

उन्होंने कहा कि इस दौरान बच्चों को विभिन्न प्रतियोगिताओं के साथ साथ शारीरिक रूप से मजबूती के लिए ऑनलाइन माध्यम के द्वारा ही सूर्य नमस्कार का भी प्रशिक्षण दिया जाएगा और प्रतियोगिता भी करवाई जाएगी। मानद महासचिव प्रवीण अत्री ने सभी मंडल बाल कल्याण अधिकारियों और जिला बाल कल्याण अधिकारियों की ऑनलाइन मीटिंग में सभी अधिकारियों से सुझाव लिए और सभी अधिकारियों को आवश्यक निर्देश निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि बच्चे कोविड-19 के कारण पिछले लंबे समय से घर बैठने को मजबूर हैं इसीलिए ऑनलाइन प्रतियोगिताओं के माध्यम से बच्चे अपनी प्रतिभा को निखार सकेंगे और उन्हें परिषद ऑनलाइन माध्यम से बच्चों के सपनों को उड़ान देने के लिए बड़ा मंच प्रदान कर रही है। 

उन्होंने कहा कि परिषद संकट की इस स्थिति के दौरान स्लम बस्तियों में सेफ्टी किट वितरित करेगी और लोगों को कोरोना महामारी से बचाव के लिए जागरूक करेगी। उन्होंने कहा कि परिषद का उद्देश्य बाल कल्याण के कार्य व गतिविधियों को प्रदेश के हर उस बच्चे तक पहुंचाना है, जिसमें प्रतिभा है लेकिन वह संसाधनों के अभाव में अपनी प्रतिभा नहीं दिखा पाता। उन्होंने सभी से अपील करते हुए कहा कि सभी सरकार और स्वास्थ्य मंत्रालय की गाइडलाइन का पालन करें और जहां तक संभव हो अपने घरों में रहे। उन्होंने कहा कि कोविड-19 महामारी से अपना व अपने आसपास के लोगों का बचाव कर हम देश के जिम्मेदार नागरिक होने का कर्तव्य निभा सकते हैं।

जो बिना मूवमेंट पास के आवागमन करता दिखे उसके खिलाफ कड़ी कार्यवाही की जाय: गृह मंत्री अनिल विज

movement-pass-for-public-in-haryana-make-mandatory-anil-vij

फरीदाबाद, 5 मई: हरियाणा में 3 मई से 10 मई तक का पूर्ण लॉकडाउन लगा है, इससे पहले बिना मूवमेंट पास के आवागमन की परमीशन थी, लोग अपनी गाडी में एक जिले से दूसरे जिले और हरियाणा से दूसरे राज्यों में जा सकते थे लेकिन अब आवागमन के लिए मूवमेंट पास को अनिवार्य कर दिया गया है.

हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ने प्रशासन को आदेश दिए हैं कि जो बिना मूवमेंट पास के आवागमन करता दिखे, उसके खिलाफ कड़ी कार्यवाही की जाय.

DPR हरियाणा ने इस बात की जानकारी देते हुए लिखा है - हरियाणा के गृहमंत्री श्री अनिल विज ने कहा कि राज्य में चल रहे लॉकडाऊन के दौरान आवागमन के लिए विभागीय आई-कार्ड या सरकार द्वारा जारी पास अनिवार्य होंगे। इनके बिना सडक़ों पर घुमने वाले लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए। पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों की बैठक में उन्होंने कहा कि स्थानीय स्तर पर ऑनलाइन आवागमन पास बनाने के लिए उपायुक्तों को आदेश दिए हैं। इसलिए लोग बेवजह अपने घरों ने बाहर न निकलें और जिन कैटेगिरी को लॉकडाऊन में आने जाने की छूट दी गई है, उन्हें भी पास या आई-कार्ड दिखाना होगा।


कैसे बनवाएं मूवमेंट पास

मूवमेंट पास बनवाने के लिए ऑनलाइन प्लेटफॉर्म तैयार किया गया है. सरल हरियाणा पोर्टल (https://saralharyana.gov.in/) पर ऑनलाइन अप्लाई किया जा सकता है. लिंक पर क्लिक करने पर वेबसाइट खुलेगी और मूवमेंट पास बनवाने के लिए लिंक दिखेगा। फोटो में दर्शाया गया है.

movement-pass-in-haryana-hindi-news

मूवमेंट पास लिंक पर क्लिक करने के बाद नीचे वाली विंडो खुलेगी जिसमें पूछे गए सभी डिटेल आपको देने होंगे और उसके बाद सब्मिट बटन पर क्लिक करना पड़ेगा। उपायुक्त ऑफिस आपके आवेदन को पहले चेक करेंगे और जरूरी समझेंगे तो आपको मूवमेंट पास उपलब्ध कराएंगे।

movement-pass-in-haryana-news

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इसी प्रकार का मूवमेंट पास लॉकडाउन-1 में भी जरूरी किये गए थे, अब फिर से इसे जरूरी कर दिया गया है. बिना मूवमेंट पास के आवागमन करना गैरकानूनी बना दिया गया है, ऐसा करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही के आदेश दिए गए हैं.

CM खट्टर ने बताया, छायंसा में भारतीय सेना 2 दिन में तैयार करेगी 100 ऑक्सीजन बेड का अस्पताल

faridabad-100-bed-oxygen-hospital-ready-in-2-days-says-cm-khattar

फरीदाबाद, 26 अप्रैल। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि कोरोना महामारी से निपटने के लिए प्रदेश सरकार हर संभव प्रयास कर रही है। इसी कड़ी में फरीदाबाद के छांसया गांव में वर्षों से बंद पड़े गोल्ड फील्ड मेडिकल कॉलेज को हरियाणा सरकार ने टेकओवर कर लिया है। 

24 घंटे के अंदर यहां 100 ऑक्सीजन बैड का अस्पताल तैयार करने का काम शुरू कर दिया जाएगा। मुख्यमंत्री मनोहर लाल सोमवार को मेडिकल कॉलेज का दौरा करने के बाद पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। इससे पहले उन्होंने मेडिकल कॉलेज में अधिकारियों के साथ व्यवस्थाओं को लेकर मीटिंग भी की।

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि जैसे-जैसे कोरोना के मरीज बढ़े हैं तो अस्पतालों के उपर दवाब भी बढ़ा है। ऑक्सीजन को लेकर भी कुछ कठिनाई आ रही थी और इसमें हमने समस्या का हल निकाला है। उन्होंने कहा कि लिक्विड ऑक्सीजन की बजाए रेसियस फोर्म में हमें ऑक्सीजन मिल जाएगी और इससे हम पानीपत और हिसार में दो 500-500 बैड के अस्पताल डीआरडीओ की मदद से तैयार करने जा रहे हैं। आज इन दोनों स्थानों का निरीक्षण भी किया गया है। 

उन्होंने कहा कि हम चाहते हैं कि मेडिकल कॉलेजों में भी बिस्तरों की संख्या बढ़े और इसके लिए हम कार्य कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि इन्हीं मेडिकल कॉलेजों में एक यह फरीदाबाद के छायसां में है। यह मेडिकल कॉलेज किन्हीं कारणों से बंद हो गया था लेकिन अब सरकार ने इसे टेकओवर कर लिया है। हम इस अस्पताल में तुरंत 100 बैड ऑक्सीजन के साथ तैयारी कर रहे हैं। इसमें डॉक्टरों का स्टाफ आर्मी का स्टाफ पालमपुर से आएगा। 

उन्होंने कहा कि अगले दो से तीन दिन में हम इस अस्पताल को शुरू कर देंगे। प्रदेश के अस्पतालों में दवाओं के व्यवस्था को लेकर पूछे गए एक सवाल के जवाब में मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि प्रदेश में दवाओं की कोई कमी नहीं है। रेमेडेसेवियर इंजेक्शन की सरकारी अस्पतालों में कोई कमी नहीं है और प्राईवेट अस्पतालों में कुछ दिक्कत आई है। इसके लिए प्राईवेट अस्पतालों के लिए भी डीलर्स की देखरेख सरकार ने शुरू कर दी है। 

प्रदेश में ऑक्सीजन की व्यवस्था को लेकर मुख्यमंत्री ने कहा कि हमें अब तक 160 मीट्रिक टन कोटा मिल रहा था लेकिन अब हमारे अनुरोध पर केंद्र सरकार ने इसे बढ़ाकर 200 मीट्रिक टन कर दिया है। उन्होंने कहा कि 40 मीट्रिक टन की अलग से भी डिमांड की है और इसे हमें जमशेदपुर से लेकर आना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि इसे लाने के लिए प्रदेश सरकार व्यवस्था भी करेगी। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि किसी को भी यह अंदेशा नहीं था कि कोरोना की दूसरी लहर इतनी तेजी से आएगी, लेकिन इसके बावजूद हम व्यवस्थाओं को व्यवस्थित कर रहे हैं। 

उन्होंने कहा कि लोगों से भी अपील की गई है कि वह कोरोना नियमों का पालन करें और घरों में ही रहें। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन किसी भी समस्या का हल नहीं है। लॉकडाऊन की बजाए अगर सख्ती की जाए और लोगों की समझ बढ़ाई जाए तो संक्रमण की चेन को जल्दी तोड़ सकते हैं। उन्होंने कहा कि हम बीमारी के फैलाव को रोकने के लिए रात्रि कर्फ्यू, स्कूलों को बंद करने, सांय छह बजे के बाद बाजारों को बंद करने सहित सभी जरूरी कदम उठा रहे हैं। 

इस अवसर पर उनके साथ प्रदेश के परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा, मंडल आयुक्त संजय जून, उपायुञ्चत डॉ. गरिमा मित्तल, अतिरिक्त उपायुक्त सतबीर मान, एसडीएम बल्लभगढ़ अपराजिता, एसडीएम फरीदाबाद परमजीत सिंह चहल, एसडीएम बडख़ल पंकज सेतिया भी मौजूद थे।

हरियाणा: DHBVN विजली विभाग ने 1 साल के लिए रोकी "अग्रिम खपत जमा (ए.सी.डी.)" वसूली

haryana-dhbvn-extend-advance-security-deposit-for-one-year

फरीदाबाद, 25 अप्रैल। कोविड-19 महामारी के बढ़ते संक्रमण व उपभोक्ताओं की परेशानियों को ध्यान में रखते हुए हरियाणा सरकार के निर्देशानुसार दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम द्वारा अपने सभी सक्रिय बिजली उपभोक्ताओं की पिछले वित्तीय वर्ष की औसत बिलिंग के आधार पर उनके द्वारा जमा करवाई जाने वाली अग्रिम खपत जमा (ए.सी.डी.) को एक साल के लिए रोक दिया गया है। इस संदर्भ में हरियाणा विद्युत विनियामक आयोग (एच.ई.आर.सी.) को आवेदन किया जाएगा।

दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम के प्रबंध निदेशक डॉ. बलकार सिंह ने आज यहां जानकारी देते हुए बताया कि एचईआरसी की हिदायतों के अनुसार सभी श्रेणियों के उपभोक्ताओं की एसीडी राशि को पिछले वर्ष की खपत के आधार पर दो औसत बिलिंग चक्र के बराबर रखना अनिवार्य है। 

विभाग द्वारा वैश्विक कोरोना महामारी के चलते उपभोक्ताओं को राहत देने के उद्देश्य से एसीडी को एक वर्ष के लिए स्थगित / टाला जा रहा है ताकि उपभोक्ताओं को ऐसे विकट समय में आर्थिक तौर पर जूझना न पड़े।

प्रबन्ध निदेशक ने बताया कि दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम अपने उपभोक्ताओं को सुचारू रूप से निर्बाध बिजली आपूर्ति उपलब्ध करवाने व उनकी समस्याओं के समाधान के प्रति वचनबद्ध हैं.

हरियाणा में फैलाया गया शनिवार-रविवार लॉकडाउन का झूठ, मंत्री KPG बोले, कृपया अफवाहों से बचें

haryana-lockdown-sunday-saturday-fake-news-viral
 

फरीदाबाद, 17 अप्रैल: हरियाणा सरकार बार बार कह रही है कि यहाँ पर लॉकडाउन नहीं लगाया गया है, लेकिन कुछ लोगों ने शनिवार रविवार को लॉकडाउन का झूठ फैला दिया है, कुछ लोग झूठ पर यकीन भी कर लेते हैं और ऐसी ख़बरें सोशल मीडिया पर वायरल हो जाती हैं.

कल हरियाणा सरकार के DPR विभाग ने साफ़ साफ़ कहा कि शनिवार और रविवार को लॉकडाउन लगाए जाने का मैसेज फेक है, ऐसे लोगों के खिलाफ कानूनी कार्यवाही की जाएगी, इसे साजिश बताया गया है.

केंद्र सरकार में राज्य मंत्री और फरीदाबाद के सांसद कृष्णपाल गुर्जर ने भी ट्विटर पर DPR के ट्वीट को कोट करते हुए लिखा - कृपाय अफवाहों से बचें।

सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाने वाले एक लेटर भी वायरल कर रहे हैं जिसमें लिखा गया है कि हरियाणा में शनवार और रविवार को लॉकडाउन लग गया है, अब पता नहीं चल पा रहा है कि यह फेक लेटर किसने बनाया और कौन लोग इसे वायरल कर रहे हैं. ऐसा लग रहा है कि कुछ लोग जान बूझकर जनता में डर भ्रम और पैनिक क्रिएट करने की कोशिश कर रहे हैं.

हरियाणा के लिए बड़ी खबर, अभी नहीं लगेगा लॉकडाउन, CM मनोहर लाल ने मीटिंग में लिया निर्णय

haryana-cm-manohar-lal-says-lock-down-will-not-impose-at-this-stage
 

फरीदाबाद, 15 अप्रैल: हरियाणा राज्य के सभी नागरिकों और सभी व्यवसायियों, दुकानदारों के लिए बहतु बड़ी राहत की खबर है. हरियाणा में अभी लॉकडाउन नहीं लगेगा। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने आज अधिकारियों के साथ मीटिंग के बाद यह फैसला लिया है.

CMO ऑफिस की तरफ से कहा गया है - फिलहाल लॉकडाउन नही लगेगा, लेकिन सभी को सावधान रहने की जरूरत है। ऑक्सीजन व वेंटीलेटर की कोई कमी नहीं है, सैंपलिंग और कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग और बढ़ाई जाएगी।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि हरियाणा की जनता और खासकर दुकानदारों और व्यवसायियों को लॉकडाउन का डर सत्ता रहा था और लोग लॉकडाउन ना लगाने की अपील कर रहे थे, हमने कई लोगों से बातचीत भी की थी जिसे आप नीचे की वीडियो में देख सकते हैं. सरकार ने लोगों की अपील को स्वीकार किया और फिलहाल के लिए लॉकडाउन लगाने का फैसला स्थगित कर दिया है. 

गृह मंत्री अनिल विज ने पूरे हरियाणा राज्य में लगवाया नाईट कर्फ्यू, पढ़ें क्या कर सकते हैं, क्या नहीं

night-curfew-imposed-in-haryana-12-april-9-pm-to-5-am
 

फरीदाबाद, 12 अप्रैल: हरियाणा सरकार ने पूरे राज्य में रात में नाईट कर्फ्यू लगाने के आदेश दिए हैं. गृह मंत्री अनिल विजि ने स्वयं इसकी पुष्टि करते हुए ट्विटर पर लिखा - बढ़ते कोरोना के केसों को देखते हुए हरियाणा में नाइट कर्फ्यू हरदिन रात 9:00 बजे से प्रातः 5:00 बजे तक आगामी आदेश तक जारी रहेगा ।

देखिये आर्डर की कॉपी और आप खुद जानिये,  सरकार ने नाईट कर्फ्यू के दौरान आपको क्या काम करने की इजाजत दी है और किन चीजों पर रोक है. 

आर्डर में कहा गया है कि कोई भी आदमी जो जरूरी सेवाओं से नहीं जुड़ा है वह अपने घर से ना निकले और सार्वजनिक स्थानों पर ना घूमें, ना गाड़ियों से बाहर निकले और ना ही पैदल।

आर्डर में कहा गया है कि निजी वाहनों से एक राज्य से दूसरे राज्य में जा रहे हैं तो उन्हें रोका नहीं जाएगा लेकिन उन्हें कहाँ से कहाँ तक जाना है इस बात की पूछताछ की जाएगी।

यह भी कहा गया है कि रेलवे स्टेशन, एयरपोर्ट या ISBT बसअड्डा आने जाने वालों को रोका नहीं जाएगा।

अस्पताल, केमिस्ट शॉप और ATM हमेशा खुले रहेंगे।

प्रेग्नेंट महलाओं और बीमार मरीजों को अस्पताल से आने जाने की छूट रहेगी।

जरूरी सेवाओं और गैर जरूरी सेवाओं से जुडी वस्तुओं के ट्रांसपोर्ट की छूट रहेगी।

आदेश में कहा गया है कि आर्डर का उल्लंघन करने पर कानूनी कार्यवाही की जाएगी।

night-curfew-imposed-in-haryana-news

night-curfew-imposed-in-haryana-news


मंत्री अनिल विज का फरमान, अंतिम संस्कार में सिर्फ 50, खुले में 500, हॉल में 200 लोग ही जुटें

haryana-state-restriction-imposed-on-gathering-news

फरीदाबाद, 5 अप्रैल: हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ने एक फरमान सुनाया है जिसके तहत लोगों के एक स्थान पर जुटने पर प्रतिबन्ध लगाया गया है.

फरमान के अनुसार अंतिम संस्कार में अधिकतर 50 लोग ही जुट सकते हैं. इसके अलावा खुले में हो रहे कार्यक्रमों में सिर्फ 500 लोग जबकि हॉल में सिर्फ 200 लोग ही जुट सकते हैं.

इसके अलावा हॉल की कुल क्षमता का 50 प्रतिशत लोग ही जुट सकते हैं. मान लो किसी हॉल की क्षमता 200 लोगों की है तो वहां सिर्फ 100 लोग ही जुट सकते हैं.

गृह मंत्री अनिल विज ने इसके लिए राज्य में बढ़ते कोरोना संक्रमण को जिक्र किया है.

गृह मंत्री अनिल विज ने सुनाया फरमान, सार्वजनिक तौर पर होली मनाने पर रोक लगाई जाती है

holi-ban-in-haryana-on-public-places-2021
 
फरीदाबाद, 24 मार्च: हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ने हरियाणा सरकार का एक कड़ा फरमान सुनाया है. उन्होंने ट्विटर पर लिखा - हरियाणा सरकार ने कोरोना के मद्देनजर होली का त्योहार सार्वजनिक तौर मनाने पर रोक लगाई।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि आगामी 29 मार्च को होली का त्यौहार है, 28 मार्च को होलिका दहन होना है. अब सार्वजनिक तौर पर होली नहीं मना सकते। 

100 करोड़ वसूली कांड पर बोले गृह मंत्री अनिल विज, बिना CM की जानकारी के नहीं हो सकता उगाही कांड

haryana-home-minister-anil-vij-reaction-maharashtra-vasooli-kand

फरीदाबाद, 23 मार्च: हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ने महाराष्ट्र के वसूली कांड पर प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने कहा - महाराष्ट्र में 100 करोड़ मासिक उगाही का कांड बिना मुख्यमंत्री की जानकारी के नही हो सकता और यदि मुख्यमंत्री को जानकारी नही है कि उसके मंत्री व अधिकारी क्या गुल खिला रहे हैं तो उनको एक पल भी मुख्यमंत्री के पद पर रहने का अधिकार नही है । उद्धव ठाकरे को अविलम्भ इस्तीफा देना चाहिए ।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि फरीदाबाद के मूल निवासी और मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह भड़ाना ने एक बड़ा खुलासा किया। उन्होंने एक पत्र लिखा जिसमें दावा किया कि महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने अस्सिस्टेंट पुलिस इंस्पेक्टर API सचिन वाजे के जरिये हर महीनें 100 करोड़ वसूलने के आदेश दिए थे.

फिलहाल सचिन वाजे NIA की गिरफ्त में है और उससे पूछताछ की जा रही है. मुकेश अम्बानी के घर एंटीलिया  के बाहर विस्फोटक रखने में भी उसका हाथ मिला है. 

CM मनोहर लाल का अफसरों को निर्देश, कोरोना को रोकने के लिए जनता पर सख्ती करें

haryana-cm-manohar-lal-order-officers-strict-for-public

फरीदाबाद, 19 मार्च। कोरोना महामारी से बचाव के उपायों को अपनाकर ही कोरोना के बुरे प्रभावों को कम किया जा सकता है। यह आवश्यक दिशा-निर्देश मुख्यमंत्री हरियाणा, मनोहर लाल ने आज एक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जिले के संबंधित विभागों के अधिकारियों को दिए। 

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान मुख्यमंत्री हरियाणा ने जिले के अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि अधिकारी कोरोना के संबंध में आमजन के बीच प्रचार-प्रसार कर उन्हे जागरूक कर दायित्वों से अवगत कराएं और  इसके उपरांत समय रहते लोगों को अनुशासनात्मक कार्रवाई करते हुए जानबूझकर ढिलाई बरतने वालों के खिलाफ शक्ति से भी पेश आएं ताकि आमजन के बीच कोरोना के प्रति सतर्कता को बनाए रखा जा सके। 

उन्होंने 3 सदस्य कमेटी बनाने बारे भी अधिकारियों को आदेश दिए जिसमें उपायुक्त, पुलिस व स्वास्थ्य विभाग के प्रतिनिधि शामिल हो जो समय-समय पर भीड़भाड़ वाले इलाकों, मार्केट सामाजिक, धार्मिक आयोजनों मॉल्स, स्कूलों में औचक निरीक्षण कर अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत करें और जानबूझकर ढिलाई बरतने वालों के खिलाफ सख्ती से पेश आएं। उन्होंने कहा कि कोरोना की लड़ाई बड़ी हिम्मत के साथ सतर्कता के साथ लड़ी जानी चाहिए। जिसके लिए सभी आवश्यक कदम उठाए जा रहे हैं। इसमें आमजन सहित सभी विभागों की सामूहिक भागीदारी जरूरी है। इसके लिए अधिकारी योजनाबद्ध तरीके से मिलकर कार्य करें और इस संबंध में जारी की गई हिदायतों का समय रहते सख्ती से पालन करवाना सुनिश्चित करें। 

उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को सम्बंधित क्षेत्रों में टेस्टिंग, वैक्सिनेशन बारे  योजनाबद्ध रूप से कार्य करने बारे कहा इसके साथ ही मेरी फसल मेरा ब्यौरा, परिवार पहचान पत्र जैसे विषयों पर मुख्यमंत्री हरियाणा ने संबंधित विभागों के अधिकारियों को अंतिम रूप दिए जाने बारे निर्देश दिए। 

इस अवसर पर मंडल आयुक्त संजय जून, उपायुक्त यशपाल, सीएमओ रणदीप पुनिया, डब्लूएचओ प्रतिनिधि सहित संबंधित विभागों के अधिकारी विशेष रूप से उपस्थित थे।

बच्चे से मिलकर हाई हुआ दुष्यंत चौटाला का जोश, बोले, इनको सुन्दर भविष्य देना हमारा सपना

haryana-deputy-chief-minister-dushyant-chautala-meet-child
 

फरीदाबाद, 18 मार्च: हरियाणा के उप-मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने बच्चे से मुलाकात की जिसके बाद हरियाणा वासियों की सेवा करने का उनका जोश और बढ़ गया और उन्होंने ट्विटर पर अपनी भावना व्यक्ति की.

उन्होंने कहा - हर समय जनता के बीच रहते हुए, सरकार में जिम्मेदारियों को निभाते हुए, युवाओं के रोजगार के लिए काम करते हुए, जब इस तरह प्रदेश के किसी बच्चे से मिलना होता है तो बहुत सुकून मिलता है। इनको सुंदर भविष्य देने लिए हम संघर्ष करेंगे।

फरीदाबाद में अवैध कॉलोनियों में रहने वालों को सरकार उपलब्ध कराएगी सड़क, बिजली, पानी व सीवर

faridabad-illegal-colonies-will-get-bijli-sewerage-water-raod

फरीदाबाद, 11 मार्च। आमजन को विषयक अवगत करवाया जाता है कि हरियाणा सरकार ने अवैध कॉलोनियों में मूलभूत सुविधांए जैसे (सड़क, बिजली, पानी व सीवर) इत्यादि सुविधाएं उपलब्ध करवाने के बारे में निर्णय लिया गया है। 

अवैध कॉलोनियों में मूल भूत सूविधाएं प्रदान करने के लिए ऑनलाईन आवेदन निमन्त्रित किए गए हैं, जिसकी अन्तिम तिथि 31.03.2021 है। अभी तक जिला फरीदाबाद में किसी भी कॉलोनाईजर/रेजिडेंट वैलफेयर एसोसिएशन (RWA) ने अभी तक आवेदन नहीं किया है। 

अतः सभी संबंधित को सूचित किया जाता है कि नगर तथा ग्राम आयोजना विभाग, हरियाणा, चण्डीगढ की वैबसाईट www.tcpharyana.gov.in पर ऑनलाईन आवेदन करें। 

आवेदन या करते वक्त किसी भी असुविधा के लिए कार्यालय जिला नगर योजनाकार, ईन्फोर्समैन्ट, फरीदाबाद, एस.सी.ओ. - 22, प्रथम तल, एस.आर.एस. शॉपिंग कॉम्प्लेक्स के सामने, सेक्टर-12, फरीदाबाद के दूरभाष नम्बर 0129-4881559 व सुभाष शर्मा, कनिष्ठ अभियंता (9818425157), ओमप्रकाश राघव, कनिष्ठ अभियंता (9312500025), अजरूद्दीन, कनिष्ठ अभियंता (9873056655), अमित, कनिष्ठ अभियंता (7206701768) पर सम्पर्क कर सकते हैं।

56 पाकर कांग्रेस पर तमतमाए CM मनोहर लाल, और डूबेगी कांग्रेस, हरियाणा में 10 साल तक नहीं आएगी

haryana-cm-manohar-lal-says-congress-finish-in-haryana
 

फरीदाबाद, 11 मार्च: हरियाणा में भाजपा-गठबंधन सरकार पर मंडरा रहा खतरा दूर हो गया है और कांग्रेस पार्टी द्वारा पेश किया गया अविश्वासमत प्रस्ताव बुरी तरह से फेल हो गया है.

हरियाणा विधानसभा में पेश हुए अविश्वास प्रस्ताव के विपक्ष में 55 और पक्ष में 32 विधायकों ने मत दिया। अविश्वास प्रस्ताव अस्वीकृत हुआ।

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने विधानसभा में कहा कि कम से कम मुझे इस अविश्वास प्रस्ताव के बहाने अपनी सरकार का लेखा जोखा पेश करने का मौका मिला।

उन्होंने कांग्रेस पार्टी पर  कटाक्ष करते हुए कहा कि हरियाणा में अब 10 साल तक कांग्रेस नहीं आएगी।

हरियाणा के कृषि और किसान मंत्री जेपी दलाल ने किसान आंदोलन पर फिर दिया बड़ा बयान

haryana-kisan-leader-jp-dalal-news-in-hindi
 

फरीदाबाद, 6 मार्च: हरियाणा के कृषि एवं किसान मंत्री जेपी दलाल ने किसान आंदोलन पर एक बार फिर से बड़ा बयान देते हुए कहा है कि किसान आंदोलन का समर्थन करने वाले विपक्षी दलों और विपक्षी नेताओं का किसानों के कल्याण से कुछ भी लेना देना नहीं है, अगर किसानों के कल्याण के बारे में कोई पार्टी सोचती है तो वह भाजपा है और भाजपा सरकार ही किसानों के कल्याण के लिए काम करेगी.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि किसानों का एक प्रतिनिधिमंडल ने कल हरियाणा के कृषि मंत्री जेपी दलाल से चंडीगढ़ में मुलाकात की थी और उनसे गन्ना मूल्य में बढ़ोतरी करने, बिजली दरों को कम करने और अन्य मांगे रखी थी.

किसानों के प्रतिनिधि मंडल ने कहा कि हमारी कृषि मंत्री के साथ मुलाकात कारगर रही और उन्होंने हमारी बातें ध्यान से सुने और मदद का भरोसा दिया है.

इस अवसर पर कृषि मंत्री जेपी दलाल ने कहा कि कुछ लोग किसानों के नाम पर सिर्फ राजनीति कर रहे हैं और राजनीतिक फायदा लेने का प्रयास कर रहे हैं इनका किसानों के कल्याण से कुछ भी लेना देना नहीं है किसानों को यह बात भलीभांति समझना चाहिए.

16 शिकायतों में से 8 शिकायतों को डिप्टी CM दुष्यंत चौटाला ने निपटाया, 8 शिकायतें रखी पेंडिंग

faridabad-grievance-committee-meeting-dcm-dushyant-chautala

फरीदाबाद, 02 मार्च। उप मुख्यमंत्री एवं फरीदाबाद जिला लोक सम्पर्क एवं परिवाद समिति के अध्यक्ष दुष्यंत चौटाला की अध्यक्षता में आज मंगलवार को स्थानीय सेक्टर-12 स्थित कन्वेंशन हॉल में जिला लोक संपर्क एवं परिवाद समिति की बैठक का आयोजन किया गया। 

बैठक में विधायक नरेंद्र गुप्ता, विधायक राजेश नागर, पुलिस आयुक्त ओ.पी. सिंह, उपायुक्त यशपाल, अतिरिक्त उपायुक्त सतबीर मान सहित बैठक से जुड़े विभिन्न विभागों के जिला अधिकारी तथा जिला लोक संपर्क एवं जन परिवाद शिकायत से संबंधित विभागों के अधिकारियों ने भाग लिया।

जिला लोक सम्पर्क एवं परिवाद समिति की बैठक में 16 शिकायतें रखी गई। जिनमें से आठ शिकायतों का निपटारा किया गया और बाकी आठ शिकायतों को आगामी बैठक के लिए पेंडिंग रखा गया है। पेंडिंग रखी गई शिकायतों के लिए जिला स्तरीय कमेटी बनाकर उन कमेटियों को निर्देश दिए गए कि वे जिला लोक सम्पर्क एवं परिवाद समिति की बैठक को अपनी रिपोर्ट यथाशीघ्र प्रस्तुत करें। 

जिला लोक सम्पर्क एवं परिवाद समिति की पहली शिकायत राकेश कुमार प्रधान सिद्ध पीठ महाकाली मंदिर संस्था नजदीक बस स्टैंड एनआईटी द्वारा रखी गई यह शिकायत आपसी सहमति से इसका निस्तारण कर दिया गया। दूसरी शिकायत आवासीय भूखंडों के नाम पर धोखाधड़ी से संबंधित है। जिसके लिए अतिरिक्त उपायुक्त की अध्यक्षता में डीटीपी, 2-2 सदस्य कमेटी तथा आवेदकों के और रिवेन्यू विभाग के अधिकारियों नियुक्त की गई है। यह कमेटी आपने 15 दिन में रिपोर्ट जिला लोक सम्पर्क एवं परिवाद समिति की बैठक को करेगी। तीसरी शिकायत बलवीर सिंह की थी। उनकी शिकायत का निपटारा कर दिया गया। इसी प्रकार चौथी शिकायत प्रताप सिंह नंबरदार गांव इमामुद्दीन पुर द्वारा संबंधित पंचायती जमीन पर अवैध कब्जे से संबंधित थी, जिसका निपटारा कर दिया गया। जिला लोक सम्पर्क एवं परिवाद समिति की बैठक में पांचवी शिकायत आर.सी. भाटिया ने की थी, इसके लिए सीपी की अध्यक्षता में एक कमेटी गठित की गई है, जो आगामी मीटिंग में अपनी रिपोर्ट देगी इस शिकायत को पेंडिंग रखा गया। 

अगली शिकायत गांव मलेरना निवासी बलबीर सिंह द्वारा की गई थी, जिसमें एसीपी बल्लभगढ़ को अगली मीटिंग में रिपोर्ट करने के आदेश दिए गए हैं। यह आपसी मारपीट से संबंधित मामला था। अगली शिकायत योगेश धारीवाल की थी, जिसमें जिसका निपटान कर दिया गया। इसी प्रकार शिकायत नंबर-8 कृष्ण डागर की थी, जिसको अगली बैठक के लिए पेंडिंग रखी है। 

इसी प्रकार बीएस नागर की शिकायत को भी अगली मीटिंग के पेंडिंग रखा गया। अगली शिकायत अरुण कुमार बडौली निवासी की थी, जिसमें लाइन टूटने से संबंधित थी को पाइप लगवा कर स्थाई समाधान करने के निर्देश सम्बंधित अधिकारियों दिए गए। इसका स्थायी समाधान करके विधायक राजेश नागर की विजिट करवाने को कहा गया।

इसी प्रकार अगली शिकायत राजकुमार कौशिक की थी, जिसमें सर्वे करवाकर बिजली का प्रपोजल सरकार को भिजवा कर उसके पास पास करवाने के निर्देश बिजली विभाग को दिए गए। अगली शिकायत परवीन टुडे की थी जो कि सर्वोच्च न्यायालय में जमीन की याचिका से मुआवजा देने संबंधित थी, उसे एक महीना में मुआवजा देने के निर्देश बैठक में उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला द्वारा अधिकारियों को दिए गए। अगली शिकायत किशन सिंह की थी, जिसमें एक सप्ताह पूरा करने के निर्देश दिए। इसी प्रकार अगली शिकायत सुरेंद्र सिंह, राजेंद्र नंबरदार की थी, जिसमें गांव में जाने वाले रास्ते में पानी से संबंधित थी। पानी का नाला ठीक करवा कर सड़क बनाने के निर्देश अधिकारियों को दिए गए। अगली शिकायत आर.के. गुप्ता की थी, जिसका निपटारा किया गया। 

परिवाद समिति की बैठक की अन्तिम शिकायत रघुवीर सिंह की थी, जो कि खाद्य एवं आपूर्ति विभाग द्वारा राशन वितरण से संबंधित थी। जिस पर उप मुख्यमंत्री कम सीमिती के अध्यक्ष दुष्यंत चौटाला ने डीएफएससी को निर्देश दिया कि वे जितने भी ऐसे मामले हैं उनका यथा शीघ्र निपटान करें और अपना रिकॉर्ड मेंटेन रखें। भविष्य में ऐसी कोई भी शिकायत नहीं आनी चाहिए। इसके अलावा जिला लोक सम्पर्क एवं जन परिवाद समिति की बैठक में अन्य लोगों की शिकायतों की सुनवाई कर संबंधित अधिकारियों को दिशा निर्देश निपटान करने के दिए।