Palwal Assembly

Showing posts with label Gurugram. Show all posts

गुरुग्राम सेक्टर-31 CIA प्रभारी इंस्पेक्टर नवीन की टीम ने खूंखार अपराधी को हथियार सहित दबोचा

inspector-naveen-parashar-gurugram-sector-31-cia-arrested-criminal

गुरुग्राम: दिल्ली व गुरुग्राम में हत्या के प्रयास, लूट, हथियार के बल पर लूट आदि प्रकार की कई वारदातों के मामलों वान्छित व माननीय न्यायालय द्वारा उद्घोषित आरोपी (पी.ओ.) घोषित किए गए 01 शातिर आरोपी को अपराध शाखा सैक्टर-31, गुरुग्राम की पुलिस टीम ने अवैध हथियार सहित काफी किया है.

आरोपी के कब्जा से पुलिस टीम ने 01 देशी पिस्तौल व 08 जिन्दा कारतूस किए बरामद.

दिनांक 10.04.2019 को अपराध शाखा सैक्टर-31, गुरुग्राम की पुलिस टीम ने अपने गुप्त सुत्रों की सूचना व अपनी सुझबुझ से 01 आरोपी को पटौदी रोङ गाँव गाङौली से काबू करने में बङी सफलता हासिल की है। आरोपी की पहचान ऋषिराज उर्फ सोनू उर्फ लम्बू पुत्र बलबीर सिंह निवासी मकान नं. 153, गाँव सुरखपुर, थाना बाला हरिदास कालोनी, नई दिल्ली के रुप में हुई। 

उक्त आरोपी के कब्जा से अवैध 01 देशी पिस्तौल व 08 जिन्दा कारतूस बरामद होने पर आरोपी के खिलाफ थाना सैक्टर-10ए, गुरुग्राम में शस्त्र अधिनियम की धारा 25 के तहत अभियोग अंकित किया गया व उक्त आरोपी को अभियोग में नियमानुसार गिरफ्तार किया गया। 

उक्त आरोपी ने पुलिस पूछताछ में निम्नलिखित वारदातों में संलिप्त होने का खुलासा किया हैः

1. अभियोग संख्या 75 दिनांक 23.03.2018 धारा 365, 397 भा.द.स. व 25-54-59 शस्त्र अधिनियम, थाना बजघेङा, गुरुग्राम । (इस अभियोग में माननीय अदालत द्वारा उक्त आरोपी के NBW (Non Bail able Warrant) भी जारी किए हुए थे।)

2. अभियोग संख्या 136 दिनांक 09.06.2013 धारा 25.54.529 शस्त्र अधिनियम, थाना बाबा हरिदास कालोनी, नई दिल्ली ।* (इस अभियोग में उक्त आरोपी को माननीय अदालत द्वारा दिनांक 24.08.2018 को उद्घोषित अपराधी/PO (Proclaimed Offender भी घोषित किया हुआ था ) 

3. अभियोग संख्या 922 दिनांक 06.11.2006 धारा 302, 307, 34 भा.द.स. व 25-54-59 शस्त्र अधिनियम, थाना शहर, गुरुग्राम ।

4. अभियोग संख्या 91 दिनांक 10.09.2008 धारा 148, 149, 332, 353, 186 भा.द.स. व 3 पी.डी.पी. एक्ट, थाना भौन्डसी, गुरुग्राम ।

5. अभियोग संख्या 57 दिनांक 21.05.2009 धारा 332, 353, 323, 506, 34 भा.द.स., थाना भौन्डसी ।

उक्त वारदातों के अतिरिक्त उक्त आरोपी के खिलाफ दिल्ली के विभिन्न थानों में हत्या, हत्या के प्रयास, अवैध हथियार, लड़ाई झगड़े आदि प्रकार की वारदातों के संबंध में करीब 02 दर्जन अभियोग अंकित है ।

उक्त आरोपी ने पुलिस पूछताछ में अपना परिचय देते हुए निम्नलिखित प्रकार से बतलायाः-

उक्त आरोपी ने बतलाया कि पहले वह राजेश नाहरी के साथ 5 साल काम किया । (सरगना राजेश नाहरी कई मर्डर के मामले में आरोपी है ओर अपने गाँव का सरपंच भी रहा है।)

इसके बाद उक्त आरोपी ऋषिराज राजेश भारती व सन्जीत बिदरो के साथ जुङ गया ओर दिल्ली NCR में कई वारदातों में उनके साथ रहा। (कुछ दिन पहले राजेश भारती व सन्जीत बिदरो दिल्ली में पुलिस मुठभेड़ मे मारे गये।)

गुरुग्राम में थाना बजघेङा में अंकित अभियोग संख्या 75 दिनांक 23.03.2018 धारा 365, 397 भा.द.स. व 25-54-59 शस्त्र अधिनियम में उक्त आरोपी ऋषिराज राजेश भारती गैंग के साथ महेश पुत्र रामसिंह निवासी C-2 -1044 पालम विहार गुरूग्राम के शिवा प्रॉपर्टीज आफिस से 23.03.2018 को हथियार के बल पर 5 लाख रूपए व कागजात से भरा बैग लूटकर ले जाने की वारदात को अन्जाम दिया था । (इस अभियोग में उक्त आरोपी ऋषिराज के अन्य 02 साथी आरोपियों को पहले ही अवैध सहित गिरफ्तार किए जा चुके है व राजेश भारती पुलिस मुठभेड़ मे मारा जा चुका है) आरोपी पुलिस की पकड़ से बाहर था, जिसे आज अवैध हथियार सहित गाँव गाङौली से काबू करके नियमानुसार गिरफ्तार किया गया। 

उक्त आरोपी ऋषिराज को आज दिनांक 10.04.2019 को माननीय अदालत के सम्मुख पेश करके 3 दिन का पुलिस हिरासत रिमान्ड पर लिया गया है  इस दोरान आरोपी से  गहनता से पूछताछ की जाएगी तथा आरोपी से लूट की रकम बरामद की जायेगी। पुलिस पूछताछ के दौरान जो भी तथ्य सामने आएगें उनसे अवगत कराया जाएगा। अभियोग अनुसंधानाधीन है।

50 हजार रुपए के ईनामी बदमाश अमजद को इंस्पेक्टर नवीन की टीम ने दबोचा, 30 वारदातों में थी तलाश

gurugram-police-sector-31-cia-inspector-naveen-arrested-badmash-amjad

गुरुग्राम: लूट, डकैती, वाहन चोरी, घरों में चोरी व पुलिस टीम पर फायरिंग करके हत्या का प्रयास करने की लगभग 30 वारदातों में वान्छित 50 हजार रुपए के ईनामी बदमाश अमजद को अपराध शाखा सैक्टर-31, गुरुग्राम की पुलिस टीम ने काबू किया है.

कुछ विशेष जानकारी

- फरुखनगर, मानेसर, गुरुग्राम व मेवात में आरोपी के खिलाफ है दर्जनों अभियोग अंकित।

- दिनांक 07.05.2018 को थाना सैक्टर-53, गुरुग्राम में HDFC बैंक की ATM मशीन चोरी किए जाने के सम्बन्ध में  अभियोग अंकित किया गया था । 

- उक्त अभियोग में ATM मशीन चोरी करने की वारदात को अन्जाम देने वाले आरोपी को माननीय अदालत द्वारा अद्घोषित अपराधी (पी.ओ.) घोषित किया गया था । 

- उक्त अभियोग में कार्यवाही करते हुए निरीक्षक नवीन, प्रभारी अपराध शाखा सैक्टर-31, गुरुग्राम की पुलिस टीम ने अपने गुप्त सुत्रों की सहायता से उक्त अभियोग में ATM मशीन चोरी करने की वारदात को अन्जाम देने वाले आरोपी को दिनांक 18.03.2019 को गुरुग्राम कोर्ट के पास से काबू करने में बङी सफलता हासिल की है । आरोपी की पहचान अमजद पुत्र ईजाज निवासी धुलावट, थाना तावङू, जिला नुहूँ के रुप में हुई । 

- उक्त आरोपी को उपरोक्त थाना सैक्टर-53, गुरुग्राम में ATM मशीन चोरी करने व पी.ओ. घोषित किए जाने के सम्बन्ध में अंकित अभियोगों में नियमानुसार गिरफ्तार किया गया ।

- शुरुआती पुलिस पूछताछ में उक्त आरोपी ने फरुखनगर, मानेसर व गुरुग्राम में अपने अन्य साथियों के साथ मिलकर लूट, डकैती, वाहन चोरी व घरों में चोरी करने की लगभग 30 वारदातों को अन्जाम देने का व मेवात में पुलिस टीम पर फायरिंग करने की 02 वारतादों को अन्जाम देने का खुलासा किया है  तथा गुरुग्राम पुलिस द्वारा 50 हजार का ईनाम भी घोषित किया हुआ है ।

▪उक्त आरोपी को दिनांक 18.03.2019 को माननीय अदालत के सम्मुख पेश करके 03 दिन के पुलिस हिरासत रिमाण्ड पर लिया गया है । 

▪पुलिस हिरासत रिमाण्ड को दौरान उक्त आरोपी से गहनता से पूछताछ की जाएगी और आरोपी की निशानदेही पर बरामदगी की जाएगी व अन्य साथी आरोपियों को काबू किया जाएगा । पुलिस पूछताछ के दौरान जो भी तथ्य सामने आएगें उनके अनुसार कार्यवाही की जाएगी । अभियोग अनुसंधानाधीन है ।

इंस्पेक्टर नवीन की टीम ने जल्लू को दबोचा, लूट, डकैती, चोरी की 28 वारदातों को दे चुका है अंजाम

gurugram-sector-31-cia-inspector-naveen-team-arrested-jallu-khan-news

फरीदाबाद: अपराध शाखा सैक्टर-31, गुरुग्राम की पुलिस टीम को बड़ी कामयाबी मिली है. हथियारों के दमपर लूट, डकैती, चोरी, छीनाझपटी आदि की लगभग 28 वारदातों में वान्छित बदमाश को अपराध शाखा सैक्टर-31, गुरुग्राम की पुलिस टीम ने काबू किया है.

- तावङू, पटौदी, झज्जर, रोहतक दिल्ली, भिवानी, नुहूँ, पलवल व महाराष्ट्र में आरोपी के खिलाफ लूट, डकैती, चोरी, छीनाझपटी व हथियार के बल पर छीनाझपटी आदि के है दर्जनों अभियोग अंकित।

-दिनांक 04.07.2017 को थाना पटौदी, गुरुग्राम में ट्रक चालक व परिचाल को बन्दी बनाकर उनसे ट्रक लूटने की वारदात के सम्बन्ध में  अभियोग अंकित किया गया था । 

-उक्त अभियोग में  लूट करने की वारदात को अन्जाम देने वाले आरोपी को माननीय अदालत द्वारा अद्घोषित अपराधी (पी.ओ.) घोषित करने पर आरोपी के खिलाफ थाना पटौदी गुरुग्राम में धारा 174ए भा.द.स. के तहत पी.ओ. होने के सम्बन्ध में अभियोग अंकित किया गया था । 

-उक्त अभियोग में कार्यवाही करते हुए निरीक्षक नवीन, प्रभारी अपराध शाखा सैक्टर-31, गुरुग्राम की पुलिस टीम ने अपने गुप्त सुत्रों की सहायता से उक्त अभियोग में ट्रक लूटने की वारदात को अन्जाम देने वाले आरोपी को दिनांक 19.03.2019 को पटौदी, गुरुग्राम से काबू करने में बङी सफलता हासिल की है । 

आरोपी की पहचान जल्लू उर्फ जलालुद्दीन पुत्र रहमत खांन निवासी डालावास, थाना तावङू, मेवात* के रुप में हुई । 

-उक्त आरोपी को उपरोक्त थाना पटौदी, गुरुग्राम में ट्रक लूटने व पी.ओ. घोषित किए जाने के सम्बन्ध में अंकितशुदा अभियोगों में नियमानुसार गिरफ्तार किया गया है ।

-शुरुआती *पुलिस पूछताछ में उक्त आरोपी ने अपने अन्य साथियों के साथ मिलकर तावङू, पटौदी, झज्जर, रोहतक दिल्ली, भिवानी, नुहूँ, पलवल व महाराष्ट्र में आरोपी के खिलाफ लूट, डकैती, चोरी, छीनाझपटी व हथियार के बल पर लूट/छीनाझपटी आदि की लगभग 28 वारदातों को अन्जाम देने का खुलासा किया है ।*

-उक्त आरोपी को दिनांक 19.03.2019 को माननीय अदालत के सम्मुख पेश करके 02 दिन के पुलिस हिरासत रिमाण्ड पर लिया गया है । 

-पुलिस हिरासत रिमाण्ड को दौरान उक्त आरोपी से गहनता से पूछताछ की जाएगी और आरोपी की निशानदेही पर बरामदगी की जाएगी व अन्य साथी आरोपियों को काबू किया जाएगा । पुलिस पूछताछ के दौरान जो भी तथ्य सामने आएगें उनके अनुसार कार्यवाही की जाएगी । अभियोग अनुसंधानाधीन है ।

पढ़ें, इंस्पेक्टर नवीन पाराशर को कौन से बढ़िया कामों की वजह से मिलेगा यूनियन होम मिनिस्टर मैडल

why-inspector-naveen-kumar-will-get-union-home-minister-medal-2018

फरीदाबाद: निरीक्षक नवीन कुमार, पूर्व  प्रभारी अपराध शाखा DLF , को गृह मंत्रालय, भारत साकार द्वारा "Union Home Minister's Medal for Excellence Investigation" अवार्ड से सम्मानित किया जाएगा.

आपको बताते चलें कि निरीक्षक नवीन कुमार, प्रभारी अपराध शाखा डीएलएफ फरीदाबाद से गुडगांवा स्थानांतरण पर जाने के बाद गुड़गांव सेक्टर 31 क्राइम ब्रांच के प्रभारी हैं और वहां पर भी  बहुत कम समय में काफी केस सुलझा  चुके हैं, उन्हने ग्रह मंत्रालय, भारत सरकार के द्वारा "Union Home Minister's Medal for Excellence Investigation" के अवार्ड से सममानित किया जाएगा.

निरीक्षक नवीन कुमार ने बतौर प्रभारी अपराध शाखा बदरपुर बॉर्डर, फरीदाबाद में रहते हुए राणा प्रताप सिंह आहुजा की हत्या व खेड़ी गाँव जगदीश हत्या कांड के मामलों में बड़ी ही कुशलता, सुझबुझ, लग्न व मेहनत से कार्य करते हुए इन हत्याकांड के आरोपियों का पर्दाफाश किया था व आरोपियों को गिरफ्तार करके बहुत बड़ी सफलता हासिल की थी ।

मुकदमा नम्बर - 190 दिनांक 18.08.14 थाना - एन.आई.टी धारा 365, 302, 201 आई.पी.सी में राणा प्रताप सिंह आहुजा की हत्या के आरोपियों का खुलासा करते हुए निरीक्षक नवीन कुमार द्वारा निम्नलिखित आरोपियों को गिरफ्तार किया गया था - 

  1. अजीत सिह पुत्र शिव चरण निवासी गांव खेडी थाना भूपानी फरीदाबाद।
  2. विरेन्द्र पुत्र ताराचंद निवासी गांव महमदपुर थाना छायसा बल्लवगढ।
  3. सुरेन्द्र पुत्र ताराचंद निवासी गांव महमदपुर थाना छायसा बल्लवगढ।*

उक्त आरोपी अजित से पुलिस रिमाण्ड के दौरान खुलासा हुआ कि उसने महमदपुर गाँव के 2 सगे भाइयों को उक्त आरोपी सुरेंदर व आरोपी विरेंद्र के साथ मिलकर राणा आहुजा की हत्या करने की नियत से दिनांक 18.08.14  को योजना अनुसार उसको जमीन दिखाने के बहाने से तीनों ने NIT में स्थित उसके आफिस के पास से विरेन्द्र की Wagon-R कार में बैठा लिया व SRS सैक्टर-12 के पास अजित उक्त की डस्टर कार मे बिठाकर नहर पार BPTP में सुनसान जगह पर ले जाकर रस्सी से गला घोटकर मार दिया तथा उसको डस्टर कार की डिग्गी मे डालकर अन्धेरा होने का इंतजार करते रहे बाद मे तीनों आरोपियों ने Deadbody को खुर्द-बुर्द करने के लिए पनेहड़ा गाँव बल्लभगढ अड्डे पर इकट्ठे होकर योजना अनुसार मोहना पुल पर ले जाकर 20-20 किलो के बाट Deadbody के साथ रस्सी की सहायता से बांधकर जमुना नदी में डाल दिया था । 

उक्त हत्याकांड के कारण का खुलाशा करते हुए उक्त आरोपी अजित ने बतलाया की उसका मृतक राणा के साथ 2 करोड़ 33 लाख रुपयों का लेन-देन था जिस कारण अजित ने राणा की हत्या करने के लिए वीरेंद्र व सुरेन्द्र दोनों सगे भाइयो को पैसों का लालच देकर अपने साथ शामिल किया तथा राणा को मारने की योजना बनाई तथा योजना अनुसार बल्लभगढ़ मार्केट से 20-20 किलो के बाट व रस्सी पहले ही खरीदकर अजित व उसके साथियों ने उसकी डस्टर कार की डिग्गी में रखे हुए थे।

इसी प्रकार से निरीक्षक नवीन कुमार ने बतौर प्रभारी अपराध शाखा बदरपुर बॉर्डर, फरीदाबाद रहते हुए जगदीश मर्डर केश के मुकदमा नंबर - 95 थाना भूपानी दिनांक 20.03.17 धारा 302, IPC व 25/54/59 आर्म्स एक्ट में बड़ी ही कुशलता, मेहनत व लगन से निम्न प्रकार से जाँच करते हुए सराहनीय कार्य किया गया.

उक्त अभियोग में भी वारदात को अन्जाम देने वाला उपरोक्त आरोपी अजित को पहले भी कई बार अन्य पुलिस अधिकारियों द्वारा तफतीश में शामिल किया गया था और तफ्तीश के दौरान उपरोक्त आरोपी अजित का लाई टेस्ट भी अन्य पुलिस अधिकारियों द्वारा करवाया गया था लेकिन आरोपी काफी शातिर दिमाग का होने के कारण गिरफ्तार नही किया गया ।

निरीक्षक नवीन कुमार ने जगदीश मर्डर केश के मुकदमा 95 थाना भूपानी दिनांक 20.03.17 धारा 302 IPC व 25/54/59 आर्म्स एक्ट की जाँच के आदेश अपने नाम करवाया ।

जगदीश मर्डर केश के इस अभियोग में निरीक्षक नवीन द्वारा   आरोपी अजित को तफ्तीश में शामिल करके नियमानुसार गिरफ्तार किया व आरोपी को माननीय अदालत से 06 दिन के पुलिस हिरासत रिमाण्ड पर लिया।

पुलिस हिरासत रिमाण्ड के दौरान आरोपी अजित से पुलिस पूछताछ में निरीक्षक नवीन कुमार ने पाया कि आरोपी अजित व मृतक जगदीश बचपन के दोस्त थें और दोनो प्राॅपर्टी व शेयर मार्केट में रूपये लगाते थें जो अजित ने पैसों के लेन-देन के चक्कर में ही जगदीश की प्लान के अनुसार दिनांक 20.03.17 को मोती महल सैक्टर-16 मार्किट के पास बुलाकर उसके साथ उसकी गाडी में बेैठ लिया तथा उसको कहा कि बाईपास पर कोई पैसे देने के लिए आयेगा। उसके बाद जगदीश को सैक्टर-29 बाईपास रोड पर ले जाकर बाथरूम करने के बहाने से गाड़ी रुकवाकर जगदीश की गोली मारकर गाडी में ही हत्या कर दी तथा उसको गाड़ी की अगली दोनों सिटो के बीच डाल लिया जब थोडी दूर जाकर गाडी के गियर नही लगने के कारण गाडी हिट हो गई तो वह जगदीश की Deadbody कार सहित बाईपास पर छोडकर वापिस बाईक लेने ऑटो से मोती महल सैक्टर-16 चला गया । आरोपी अजीत का यह पूरा कारनामा CCTV कैमरे में भी कैद हो गया था। निरीक्षक नवीन कुमार ने आरोपी अजित से मोटरसाइकिल व मौके से खाली खोल व वारदात में प्रयोग हथियार भी बरामद किया था।

उपरोक्त दोनों हत्याकांड को सुलझाना पुलिस के लिए सिरदर्द बना हुआ था, किन्तु निरीक्षक नवीन कुमार द्वारा दोनों हत्या के अभियोगों सुलझाकर आरोपियों को गिरफ्तार करके बहुत ही अच्छी तफ्तीश व कार्य कुशलता का परिचय दिया । 

निरीक्षक नवीन कुमार, बतौर प्रभारी अपराध शाखा सैक्टर-31, गुरुग्राम में तैनात है । इनके द्वारा अच्छी कुशलता के साथ जाँच करते हुए विभिन्न मामलों को सुलझाया गया है । अतः गृह मंत्रालय, केन्द्र सरकार, भारत के द्वारा उन्हें उनके अच्छी तफ्तीश, अच्छी कार्यकुशलता, ईमानदारी, मेहनत व लग्न से किए गए कार्यों के लिए *"Union Home Minister's Medal for Excellence Investigation" के अवार्ड* से सम्मानित करने के आदेश दिए गए है । सुबे सिहं

गुरुग्राम के बिजनेसमैन जहूर बटाली पर आतंकी संगठनों को फंडिंग का आरोप, ED ने जब्त की संपत्ति

gurugram-businessman-zahoor-as-watali-asset-seized-by-ed-under-pmla

गुरुग्राम: शहर के बिजनेसमैन जहूर बटाली के खिलाफ प्रवर्तन निदेशालय यानी ED ने PMLA के खिलाफ कड़ा एक्शन लेते हुए उनकी 1.03 करोड़ की संपत्ति को जब्त कर लिया है.

जानकारी के अनुसार जहूर बटाली पर कश्मीर में आतंकवाद फैलाने के लिए आतंकी संगठनों - लश्करे-तैयबा, हिजबुल मुजाहिद्दीन, जमात उद दावा और अन्य को फंडिंग करने का आरोप है. आपकी जानकारी के लिए बता दें कि जहूर बटाली कश्मीरी व्यापारी हैं 

जहूर बटाली के खिलाफ खुफिया एजेंसियों की कई महीनों से नजर थी, सबूत मिलने के बाद उनके खिलाफ कार्यवाही की गयी है.

इंस्पेक्टर नवीन पाराशर की टीम को बड़ी कामयाबी, तांत्रिक की हत्या में शामिल युवक गिरफ्तार

gurugram-cia-sector-31-inspector-naveen-parashar-arrested-murder-accused

गुरुग्राम: सेक्टर-48 सोहना रोड पार्शवनाथ ग्रीन विला के सामने विजय बत्रा उर्फ तान्त्रिक की हत्या करने में शामिल रहे 1 आरोपी को अपराध शाखा सैक्टर-31, गुरुग्राम के इंचार्ज इंस्पेक्टर नवीन पाराशर की टीम ने गिरफ्तार किया है.

कुछ जरूरी जानकारी

आरोपी द्वारा मृतक विजय बत्रा उर्फ तान्त्रिक की रेकी करके अपने अन्य साथियों को दी गई थी सूचना जिसके आधार पर गोली मारकर हत्या की वारदात को दिया गया था अन्जाम.

दिनांक 22.02.2019 को समय करीब 11.00 बजे रात में सैक्टर-48, सोहना रोड पार्श्वनाथ ग्रीन विला के सामने सर्विस रोड पर अज्ञात कार चालकों द्वारा विजय बत्रा उर्फ तान्त्रिक पुत्र किशन लाल बत्रा निवासी मकान नं. जी-201, पार्क व्यू सिटी-1, सोहना रोड सैक्टर 48, गुरुग्राम को गोली मारने की वारदात को अन्जाम दिया गया था, जिसकी हस्पताल पहुंचने से पहले मौत हो गई थी। 

उक्त वारदात के सम्बन्ध में थाना बादशाहपुर, गुरुग्राम में कानून की उचित धाराओं के तहत अभियोग अंकित किया गया था और इस मामले को सुलझाने के लिए थाना की टीम के अतिरिक्त क्राईम ब्रान्च की कई टीमें गठित करके आरोपियों की पहचान करके पकड़ने हेतु लगाया गया था।

एक आरोपी को किया गया गिरफ्तार

उक्त अभियोग में कार्यवाही करते हुए निरीक्षक नवीन पाराशर, प्रभारी अपराध शाखा सैक्टर-31, गुरुग्राम की पुलिस टीम ने अपने गुप्त सुत्रों की सहायता से उक्त हत्या की वारदात में शामिल 1 शातिर आरोपी को कल दिनांक 28.02.2019 को समय करीब 07 बजे सांय खाण्डसा मण्डी अण्डर पास के नजदीक से काबू करने में सफतला हासिल की है.

आरोपी की पहचान सुजीत उर्फ बुलट पुत्र विनोद गुप्ता निवासी लालपुर शिवराम, थाना बहेङी, जिला दरबंगा, बिहार हाल निवासी गली नं. 9, मस्जिद वाली गली देवीलाल कालोनी, गुरुग्राम के रुप में हुई.

उक्त आरोपी को उपरोक्त अभियोग में नियमानुसार गिरफ्तार किया गया । इसकी उम्र 22 वर्ष है तथा 10वीं पास है ।

उक्त आरोपी ने पुलिस पूछताछ में बतलाया कि वह विजय बत्रा उर्फ तान्त्रिक के घर पर व उसके अन्य स्थानों पर रेकी कर रहा था कि किस समय वह घर से निकलता है और कब उसे मारने का सही समय है। दिनांक 22.02.2019 को (वारदात वाले दिन) भी उसी ने रेकी करते हुए अपने अन्य साथियों को फोन करके सूचना दी थी कि वह घर से निकल चुका है और इसी सूचना पर उसके साथियों ने विजय उर्फ तान्त्रिक उक्त को गोली मारकर हत्या की गई थी । 

उक्त आरोपी ने पुलिस पूछताछ में यह भी बतलाया कि वह 2/3 साल पहले खाण्डसा मण्डी में भेलपुरी की रेहड़ी लगाता था, जहाँ उसका झागदा खाण्डसा मण्डी के रहने वाले आकाश छोकर के साथ हो गया था और उसने रंजीश रखते हुए आकाश छोकर को हत्या करने की नियत से उसको गोली मारी थी। इस सम्बन्ध में थाना सैक्टर-37 में हत्या करने के प्रयास में अभियोग भी अंकित किया गया था और इस अभियोग में उसे गिरफ्तार करके जेल भेजा गया था । करीब 7/8 महिने पहले ये जमानत पर जेल से बाहर आया था। इनके साथियों ने इसे मृतक विजय बत्रा उर्फ तान्त्रिक की रेकी पर लगाया गया था । जिस पर वह लगातार रेकी कर रहा था और जिस दिन विजय बत्रा की हत्या की वारादात को अन्जाम दिया गया था उस दिन भी वह उसकी रेकी कर रहा था और उसी ने अपने साथियों को विजय बत्रा की सूचना दी थी । जिसके परिणामस्वरुप उसके अन्य दो साथियों ने इस हत्या को अन्जाम दिया था । 

उक्त आरोपी को आज दिनांक 01.03.2019 को माननीय अदालत के सम्मुख पेश किया करके पुलिस हिरासत रिमाण्ड पर लिया जाएगा और उपरोक्त अभियोग की वारदात में शामिल रहे अन्य साथियों व वारदात में प्रयोंग किया गया असला व साधन बरामद किए जाएगें। अभियोग अनुसंधानाधीन है।

गुरुग्राम में कांड, चार मंजिला ईमारत हुई धराशाई, मलबे में फंसे लोगों को ढूँढने का काम जारी

gurugram-sector-65-ullawas-village-building-collapse-ndrf-at-the-spot

गुरुग्राम: गुरुग्राम सेक्टर-65, उल्लावास गाँव में एक चार मंजिला निर्माणाधीन ईमारत धराशायी हो गयी है. कई लोगों के मलबे में फंसे होने की संभावना है.

NDRF और पुलिस की टीमों ने राहत एवं बचाव कार्य शुरू कर दिया है, करीब 150 लोग मलबे में फंसे लोगों को ढूँढने के काम में लगे हैं.

सूचना मिल रही है कि ईमारत में गैरकानूनी तरीके से चौथी मंजिल बनाने का काम चल रहा था, नियमों का पालन नहीं किया जा रहा था, इसीलिए यह हादसा हुआ है लेकिन पूरा कांड पुलिस की जांच के बाद ही सामने आएगा.

गौ-टास्क नूह और बजरंग दल ने गौतस्करों के मंसूबों पर फेरा पानी, दबोची गयी पिक-अप, 3 गायें बरामद

gau-task-nuh-and-bajrang-dal-manesar-caught-gau-taskar-vehicle-news

फरीदाबाद: गुरुग्राम और NCR में गौ-तस्करी के अपराध जारी हैं लेकिन कई जगहों पर गौ-रक्षक और पुलिस गौ-तस्करों के मंसूबों पर पानी फेर रहे हैं. नूह और आसपास के इलाके में कई दिनों से गौतस्कर पकडे जा रहे हैं. 

दिनाक 07.01.19 को गौ-टास्क नूह इंचार्ज बलबीर को सूचना मिली के तावडू में एक पिकअप गाड़ी आएगी जिसपर साइड में सिलेन्डर छप रहे हैं, सूचना सही मान गौ-टास्क नूह के साथ बजरंग दल मानेसर ने नाकेबन्दी की. जब गाडी आती दिखाई दी तो हमें देखकर उन्होंने रफ़्तार और तेज कर दी लेकिन हमने उनके टायर में काँटा मार दिया जिसकी वजह से 2 टायर फट गए.

उसके बाद भी गौ-तस्कर काफी दूर तक गाडी को भागकर ले गए हालाँकि गाडी को दबोच लिया गया, गाडी को चेक करने पर 3 गाय बुरी तरह बांन्ध रखी थीं और एक कट्टे में नुकीले पत्थर भर रखे थे.

गौ-वंशों को गोशाला भेज दिया और  FIR दर्ज करवा दी. कार्यवही में उपस्थित - गौ टास्क नूह से बलबीर ,सतबीर ASI, प्रवीण, बलराज, भूपेन्द्र, सन्नी, होमगार्ड, गिरवर, ललित, बजरंग दल मानेसर से मंगल पचगांव, बनवारी, डॉ प्रदीप, यशपाल, मोनू मानेसर.

सागर नरवत ने जीती लगातार 8वीं प्रो-बॉक्सिंग फाइट, अंतर्राष्ट्रीय बॉक्सर राहुल थापा को धोया

boxer-sagar-narwat-win-8th-pro-boxing-fight-in-gurugram-rahul-thapa

गुरुग्राम: फरीदाबाद में जन्में अंतर्राष्टीय प्रोफेशनल बॉक्सर सागर नरवत ने एक बाद फिर से फरीदाबाद का नाम रोशन किया है. DLF साइबर-हब गुरुग्राम में आयोजित मेगा बॉक्सिंग नाईट में बॉक्सर सागर नरवत  ने नेपाली मूल के भारतीय बॉक्सर राहुल थापा को हरा दिया.

यह फाइट जीतकर सागर नरवत लगातार आठवीं प्रोफेशनल बॉक्सिंग जीतने वाले बॉक्सर बन गए हैं, उनके प्रतिद्वंदी राहुल थापा ने भी लगातार चार अंतर्राष्ट्रीय प्रोफेशनल बॉक्सिंग फाइट जीतने का कीर्तिमान रचा था लेकिन वह सागर नरवत के सामने नहीं टिक पाए.

बता दें कि सागर नरवत भारत के टॉप प्रोफेशनल बॉक्सर हैं, वह रोजाना कड़ी मेहनत करते हैं और उनका अपना खुद का बॉक्सिंग क्लब है जिसमें बच्चों को ट्रेनिंग दी जाती है. वह दुनिया के टॉप प्रोफेशनल बॉक्सर बनना चाहते हैं. हाल ही में पाकिस्तानी बॉक्सर आमिर खान से सभी भारतीय बॉक्सरों को चुनौती दी थी तो सागर नरवत ने उसकी चुनौती को स्वीकार किया था लेकिन पाकिस्तानी बॉक्सर ने चुप्पी साध ली.

दिल्ली नहीं मिली लेकिन दिल्ली वालों को प्रदूषण से बचाने के लिए PM मोदी ने बना दिया सुरक्षा कवच

pm-narendra-modi-inaugurate-kundali-manesar-expressway-news

नई दिल्ली, 19 नवम्बर: 2015 विधानसभा चुनाव में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को दिल्ली वालों पर बहुत भरोसा था, उन्हें लगता था कि दिल्ली वाले भाजपा को वोट देकर दिल्ली में भाजपा की सरकार बनाएंगे ताकि प्रधानमंत्री मोदी बिना रोक टोक दिल्ली का विकास कर सकें लेकिन ऐसा नहीं हुआ, फ्री बिजली, पानी और वाई-फाई के लालच में दिल्ली वालों ने आम आदमी पार्टी की सरकार बना दी.

अक्सर देखा जाता है कि किसी राज्य में सरकार ना बनने पर केंद्र सरकार उस राज्य को उसके हाल पर छोड़ देती है लेकिन मोदी सरकार ने ऐसा नहीं किया, दिल्ली दुनिया की सबसे प्रदूषित राजधानी माना जाता है, प्रदूषण से दिल्ली वाले मर रहे हैं, अगर मोदी सरकार चाहती तो दिल्ली को उसके हाल पर छोड़ सकती थी लेकिन ऐसा नहीं किया गया, दिल्ली के बाहर एक्सप्रेसवे का घेरा बना दिया गया ताकि भारी वाहन बिना दिल्ली में प्रवेश किये पंजाब, उत्तराखंड, उत्तरप्रदेश, हरियाणा, राजस्थान और अन्य राज्यों में जा सकें.

अब बड़े वाहन दिल्ली में भारी संख्या में प्रवेश नहीं करेंगे जिसकी वजह से दिल्ली के प्रदूषण में कमीं आएगी, दिल्ली में प्रदूषण की बड़ी वजह बड़े वाहनों का दिल्ली में प्रवेश था लेकिन अब 30-35 भारी वाहन दिल्ली में बिना प्रवेश किये ही दूसरे राज्यों में निकल जाएंगे, इसके अलावा 50 फ़ीसदी हलके वाहन भी दिल्ली में बिना प्रवेश के दूसरे राज्यों में निकल जाएंगे, इसके बनने से दिल्ली वालों को प्रदूषण की समस्या कम होगी, वहीँ लोगों का समय, पैसा और पेट्रोल भी बचेगा.

पहले चरण में ईस्टर्न परिफेरल एक्सप्रेसवे (135KM) का उद्घाटन किया गया था लेकिन आज वेस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेसवे के कुंडली-मानेसर सेक्शन का उद्घाटन किया गया. अब दिल्ली के चारों तरफ पेरिफेरल एक्सप्रेस-वे का घेरा बन गया है जिसकी लम्बाई करीब 270 किलोमीटर है. अत्याधुनिक तकनीक से बना यह एक्सप्रेस-वे 6 लेन है. यहाँ पर जनता को कई सुविधाएं और सुरक्षा भी मिलेगी.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि पेरिफेरल एक्सप्रेसवे (कुंडली-मानेसर-पलवल) केंद्र सरकार और हरियाणा की बहुत ही महत्वकांक्षी परियोजना है जिसका प्लान पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने 2003 में बनाया था लेकिन 2004 में उनकी सरकार चली गयी. उसके बाद कांग्रेस की सरकार आ गयी तो 2006 ने रोड निर्माण का काम शुरू किया गया लेकिन आठ वर्षों में आधा काम भी पूरा नहीं हुआ, उसके बाद हरियाणा और केंद्र दोनों जगह भाजपा की सरकार आयी तो तेजी से इस एक्सप्रेसवे का काम पूरा किया गया और आज इसे राष्ट्र को समर्पित कर दिया गया.

दारू के नशे में अपनी बहन पर टूट बड़ा हैवान भाई, पिता ने दर्ज करवाया बलात्कार का मुकदमा

manesar-police-lodge-fir-on-brother-for-balatkar-with-his-sister-news

गुरुग्राम, 9 नवम्बर: गुरुग्राम के मानेसर से बहुत ही शर्मनाक खबर आयी है. दारू के नशे में एक भाई ने अपनी बहन की आबरू पर हमला कर दिया. चीखने चिल्लाने पर पड़ोसियों ने आवाज सूनी तो पीडिता को उसके भाई के चंगुल से बचाया. आरोपी के पिता ने उसपर बलात्कार का मुकदमा दर्ज करवा दिया है, पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है.

खबर के मुताबिक़ दिवाली पर पूजन में बाद आरोपी घर से बाहर गया और नशे में धुत्त होकर वापस आया. जब परिवार के लोग सो गए तो आरोपी अपनी बहन के पास गया और उसके साथ जोर-जबरदस्ती करने लगा. इस दौरान उसनें रेप की वारदात को अंजाम दे डाला, पीडिता ने जब शोर मचाया तो आस पास के लोगों ने वहां पहुंचकर पीडिता को उसके भाई के चंगुल से आजाद करवाया. आरोपी को पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया गया.

पुलिस ने कल आरोपी को कोर्ट में पेश किया जहाँ से उसे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया. इस घटना ने ना सिर्फ इंसानियत को शर्मशार किया है, बल्कि भाई बहन के पवित्र रिश्ते को शर्मनाक किया है.

गुरुग्राम पुलिस ने की जनता से अपील, गनर-काण्ड वाले दिन की फोटो-वीडियो SHO को व्हाट्स-अप करें

gurugram-police-appeal-public-to-send-photo-video-gunner-shooting

गुरुग्राम, 25 अक्टूबर: गुरुग्राम पुलिस ने जनता से अपील की है कि 13 अक्टूबर को आर्केडिया मार्किट में हुई गोलीबारी की घटना की वीडियो/फ़ोटो व अन्य जानकारी भेजें.

सन्देश में लिखा गया है - जैसा कि आप सभी को ज्ञात है कि दिनांक 13.10.2018 को सांय 3 बजे के बाद आर्केडिया मार्केट सेक्टर-50 गुरुग्राम में एक PSO सिपाही महिपाल (बर्खास्त) ने गुरुग्राम के माननीय ADJ कृष्ण कांत की पत्नी रितु व पुत्र ध्रुव को गोलियां मार दी थी। इस संबंध में थाना सेक्टर-50 गुरुग्राम में अभियोग अंकित है जिसकी तफ़्तीश DCP ईस्ट गुरुग्राम की अगुवाई में गठित SIT द्वारा की जा रही है।

घटना के समय मौके पर मौजूद कुछ लोगों ने इस वारदात की अपने मोबाइल/कैमरे आदि द्वारा फ़ोटो/वीडियो बना लिए थे तथा बाद में इनमे से कुछ वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल भी हुए थे। इस घटना से संबंधित मौके पर लिए गए फ़ोटो/वीडियो इस केस में अहम सबूत हैं।

अतः इस मैसेज द्वारा आमजन से अनुरोध है कि यदि किसी व्यक्ति के पास उस घटना से संबंधित कोई भी वीडियो/फ़ोटो हो तथा वह व्यक्ति गवाह या कोई भी साक्ष्य (सबूत) पुलिस के सम्मुख पेश करना चाहता हो तो वह प्रबंधक थाना (SHO) सेक्टर-50 गुरुग्राम के मोबाइल न0 9205892111 पर संपर्क करके दे सकता है।

जज के बेटे ने भी तोडा दम, दान किये जाएंगे अंग

gurugram-asj-krishnakant-son-dhruva-dead-in-medanta-hospital-news

गुरुग्राम, 23 अक्टूबर: गुरुग्राम में 13 अक्टूबर को एडिशनल सेशन जज कृष्णकांत की पत्नी और बेटे को उनके गनर महिपाल सिंह ने ही गोली मार दी थी, जज की पत्नी रितु की उसी दिन हॉस्पिटल में मौत हो गयी थी जबकि बेटे ध्रुव को पार्क हॉस्पिटल से निकालकर मेदांता हॉस्पिटल में भर्ती करवाया गया था.

करीब 10 दिन जिंदगी और मौत के बीच संघर्ष करते हुए आज ध्रुव ने भी मेदांता हॉस्पिटल में दम तोड़ दिया. अपने बेटे की मौत से जज कृष्णकांत बहुत दुखी हैं लेकिन फिर भी उन्होंने अपने बेटे के अंगों को दान करने का फैसला किया है.

इससे पहले आरोपी गनर को पुलिस ने गिरफ्तार करके जेल में डाल दिया है, उसे नौकरी से भी हटा दिया गया है. इस घटना ने पूरे देश को हिलाकर रख दिया था.

क्या हुआ था वारदात के दिन

गोलीकांड की घटना सेक्टर-49 की एक मार्किट में हुई. दोनों को गोली मारने के बाद हेड कांस्टेबल महिपाल सिंह ने पहले उनकी घायल बॉडी को कार में डालने का प्रयास किया लेकिन इसमें असफल रहने पर वह दोनों को वहीँ पर छोड़कर फरार हो गया.

इसके बाद कुछ लोगों ने दोनों को ऑटो में डालकर पार्क हॉस्पिटल पहुंचाया जहाँ से उन्हें मेदांता हॉस्पिटल में शिफ्ट करवाया गया. 

घायलों को फटाफट अस्पताल पहुंचाकर जान बचाने वाले गुरुग्राम पुलिस के तीन सिपाही सम्मानित, पढ़ें

gurugram-police-three-policemen-deepak-gurmeet-naresh-honored

फरीदाबाद, 18 अक्टूबर: गुरुग्राम पुलिस में अच्छा कम करने वाले अफसरों और सिपाहियों को मान सम्मान मिलता है. कल पुलिस कमिश्नर ने 3 पुलिसकर्मियों को इसलिए सम्मानित किया क्योंकि उन्होंने रोड एक्सीडेंट में घायल हुए लोगों को फटाफट अस्पताल पहुंचाकर उनकी जान बचाई थी.

दुर्घटना का विवरण, कैसे पहुँचाया अस्पताल: पढ़ें

पलवल सोहना रोड पर सिलानी नाका पर तैनात थे तीनों पुलिस कर्मी। इनके नाम सिपाही दीपक, सिपाही गुरमीत व SPO नरेश हैं।

दिनांक 10.10.2018 को रात को लगभग 10 बजे रोड पर खराब खड़े एक ट्रोला में एक टाटा-407 टेम्पो ने टक्कर मार दी थी। इस टेम्पो में ड्राइवर के अतिरिक्त सवार दंपत्ति वीरेंद्र व निर्मला निवासी गांव कचौरा जिला आगरा (UP) गंभीर रूप से घायल हो गए थे।

सिलानी नाका पर तैनात उपरोक्त पुलिस कर्मियों को जैसे ही इस दुर्घटना की सूचना मिली तो इन्होंने बिना देरी तुरंत मौका पर पहुंचे। घायलों की हालत ज्यादा गंभीर थी तथा रात के समय कोई वाहन/एम्बुलेंस भी वहां पर उपलब्ध नहीं थे।

नाका पर SPO नरेश की गाड़ी खड़ी थी तथा इन तीनों पुलिस कर्मियों ने घायलों को उस गाड़ी में बैठाया तथा सोहना स्थित हॉस्पिटल में पहुंचाया। सोहना से प्राथमिक उपचार के बाद इन्हें गुरूग्राम के लिए रेफर कर दिया था तथा अब इनका गुरूग्राम के एक प्राइवेट हॉस्पिटल में इलाज चल रहा है।

इस प्रक्रिया में इनकी गाड़ी व वर्दी भी खून से लथपथ हो गई थी लेकिन उसकी परवाह ना करते हुए इन्होंने अपनी ड्यूटी के साथ साथ मानवता का परिचय देते हुए सराहनीय कार्य करके घायलों की जान बचाई है।

इन पुलिस कर्मियों द्वारा किए गए इस सराहनीय कार्य के लिए आज दिनांक 17-10-2018 को इन्हें प्रोत्साहित करने हेतु श्री के0के0 राव, IPS पुलिस आयुक्त गुरूग्राम ने इन्हें प्रथम श्रेणी प्रशंसा पत्र व 3-3 हजार रुपये नकद इनाम देकर सम्मानित किया है।

ओम स्वीट पर गोली चला कर आतंक फैलाने वाले बदमाशों पर सख्त हुई पुलिस, रख दिया 5 लाख का इनाम

gurugram-police-5-lakh-prize-3-badmash-firing-on-om-sweet-news

गुरुग्राम, 16 अक्टूबर: गुरुग्राम सेक्टर-49 स्थित ओम स्वीट एंड रेस्टोरेंट पर गोलियां चला कर फरार हुए बदमाशों पर गुरुग्राम पुलिस सख्त हो गई है और उनकी पहचान करने वालों पर ₹500000 का इनाम घोषित कर दिया है.

कल शाम 7:30 बजे  ओम स्वीट  पर  गोलियां चलाकर  तीन अज्ञात बदमाश फरार हो गए थे. बताया जाता है कि 3 बदमाश लूट के इरादे से आये थे, पहले गोलियां चलाकर आतंक फैलाने की कोशिश की गयी लेकिन लोग नहीं डरे तो बदमाश वहां से फरार हो गए.

इस घटना की सूचना तुरंत पुलिस को दी गयी लेकिन जब तक पुलिस पहुंची बदमाश फरार हो गए थे, घटना की जांच शुरू हो चुकी है.

झूठी निकली इसाई और धर्मपरिवर्तन की अफवाह, गनर ने जज की पत्नी-बेटे को क्यों मारा, पढ़ें असली वजह

why-gunner-killed-adj-krishnkant-wife-and-son-gurugram-police-told

गुरुग्राम, 14 अक्टूबर: गुरुग्राम सेक्टर-49 में 13 अक्टूबर को आर्केडिया मार्किट के सामने जज की पत्नी-बेटे की हत्याकांड में बड़ा खुलासा हुआ है, पहले कई कहानियाँ चल रही थीं, तरह तरह की अफवाहें उड़ाई जा रही थीं, कोई कह रहा था कि महिपाल सिंह ने चार वर्ष पहले इसाई धर्म अपना लिया था और जज की पत्नी और बेटे को भी इसाई धर्म में परिवर्तन करने का दबाव बना रहा था, जब दोनों उसकी बात नहीं मानें तो उसनें दोनों को मार डाला. कोई अलग कहानी बता रहा था.

आज गुरुग्राम पुलिस ने एक प्रेस कांफ्रेंस करके सभी अफवाहों को झूठा साबित कर दिया, पुलिस ने इसाई वाली कहानी को मनगढ़ंत बताया और गोली मारने की असली वजह भी बतायी है.

गुरुग्राम पुलिस ने बताया कि इस मामले में पुलिस कमिश्नर द्वारा SIT का गठन किया गया था जिसकी पूछताछ में महिपाल सिंह ने अपना गुनाह कबूल कर लिया है. महिपाल सिंह की चार दिन की पुलिस रिमांड कल ख़त्म हो जाएगी. जिस हथियार से क़त्ल किया गया था वह हथियार पुलिस ने बरामद कर लिया है. गाडी भी बरामद कर ली गयी है.

पुलिस ने बताया कि - अर्कैडिया मार्किट के सामने यह घटना हुई, वहां पर मैडम अपने किसी काम से गयीं थीं, जब वह वापिस आयीं तो महिपाल सिंह गाडी के पास नहीं मिला, उसके बाद वहां पर दोनों पार्टियों के बीच बहस हुई, मैडम ने महिपाल सिंह से गुस्से में गाडी की चाबी मांगी, दोनों में लड़ाई हुई, इसी वजह से उसनें गुस्से में आकर दोनों को गोली मार दी.

मीडिया ने पूछा कि क्या सिर्फ छोटी से बहस से महिपाल सिंह को इतना गुस्सा आ गया कि उसनें गोली मार दी, क्या गुरुग्राम पुलिस में इतना गुस्सा भरा है, इसके जवाब में कहा गया कि महिपाल सिंह ने किसी और काम में ध्यान बटा रखा था, कहीं किसी की गाडी चला लेता था, किसी स्कीम में उसका पैसा फंसा हुआ था जिसकी वजह से उसे गुस्सा था.

पुलिस ने बताया कि दोनों में बहस के बाद सभी लोग गाडी में बैठ गए, ध्रुव आगे वाली सीट पर बैठा था, महिपाल सिंह ने पहले उसको गोली मारी, जब मैडम ने बीच बचाव किया तो उन्हें भी गोली मार दी.

मीडिया ने पूछा कि - महिपाल सिंह के परिवार का कहना है कि वह जज परिवार द्वारा बहुत ज्यादा प्रेशर में था, उसे बहुत परेशान किया जाता था, हम किसे सही मानें, आपकी बातों को या उसके परिवार की बातों को.

इसके जवाब में गुरुग्राम पुलिस ने कहा कि - महिपाल सिंह ने खुद ही जज की तारीफ की है, उस पर किसी भी तरह का प्रेशर नहीं था, यह बात पूरी तरह से गलत है, यह सब निराधार है.

आपको बता दें कि गनर से ड्राइविंग करान सुप्रीम कोर्ट के कानून का उल्लंघन है, गाडी में ड्राईवर होना चाहिए था, गनर सिर्फ सुरक्षा के लिए होते हैं, घटना के दिन गाडी में ड्राईवर नहीं था जिससे साफ है कि गनर से ही ड्राइविंग कराई जाती रही होगी, हो सकता है कि उससे और भी काम करवाए जाते रहे हों और जज साहब को पता ना हो, हो सकता है कि अन्य काम करके गनर का सेल्फ रेस्पेक्ट डाउन हो रहा हो, उसके मन में गुस्सा भर रहा हो, इसी गुस्से को उसनें थोड़ी सी बहस के बाद निकाला हो. आगे सभी चाजें सामने आयेंगी लेकिन इतना तो साफ़ हो गया कि महिपाल ने इसाई घर्म में परिवर्तन नहीं किया था, वह जज की पत्नी-बेटे को इसाई बनने के लिए कोई दबाव नहीं डाल रहा था. आगे और भी चीजों का खुलासा होगा.

ओम स्वीट एंड रेस्टोरेंट पर गोलीबारी करके भागे बदमाश

gurugram-om-sweets-and-restaurant-firing-by-unknown-badmash

गुरुग्राम, 16 अक्टूबर: गुरुग्राम सेक्टर-49 स्थित ओम स्वीट एंड रेस्टोरेंट पर गोलियां चलाकर अज्ञात बदमाश फरार हो गए. बताया जाता है कि दो बदमाश लूट के इरादे से आये थे, दोनों ने नकाब डाल रखा था, पहले गोलियां चलाकर आतंक फैलाने की कोशिश की गयी लेकिन लोग नहीं डरे तो बदमाश वहां से फरार हो गए.

इस घटना की सूचना तुरंत पुलिस को दी गयी लेकिन जब तक पुलिस पहुंची बदमाश फरार हो गए थे, घटना की जांच शुरू हो चुकी है. इस वारदात में कई लोग बाल बाल बच गए.

गनर को मिली गलत काम की सजा, गुरुग्राम पुलिस की नौकरी से किया गया बर्खास्त

gunner-mahipal-singh-out-from-gurugram-police-job-killed-judge-wife-son

गुरुग्राम, 14 अक्टूबर: गुरुग्राम में 13 अक्टूबर को हुए हत्याकांड में आरोपी गनर को उसके बुरे काम की सजा मिल गयी है, उसे गुरुग्राम पुलिस की नौकरी से हटा दिया गया है. गनर महिपाल सिंह को भारतीय संविधान की धारा (आर्टिकल) 311 (2) के तहत पुलिस विभाग से बर्खास्त कर दिया गया है।

गनर को घटना के दूसरे दिन ही गिरफ्तार कर लिया गया था. गनर से पूछताछ की जा रही है, इस मामले के कई लोग फंस सकते हैं. आज पुलिस ने पूछताछ के लिए गनर महिपाल सिंह की माँ और चचेरे भाई को हिरासत में लिया है. दोनों से पूछताछ जारी है.

गुरुग्राम में 13 अक्टूबर को बड़ा काण्ड हो गया था, एक गनर ने एडिशनल सेशन जज कृष्णकांत  की पत्नी रितु शर्मा और बेटे ध्रुव शर्मा को गोली मार दी. यह घटना सेक्टर-49 की एक मार्किट में हुई. दोनों को गोली मारने के बाद हेड कांस्टेबल महिपाल सिंह ने पहले उनकी घायल बॉडी को कार में डालने का प्रयास किया लेकिन इसमें असफल रहने पर वह दोनों को वहीँ पर छोड़कर फरार हो गया.

इसके बाद कुछ लोगों ने दोनों को ऑटो में डालकर पार्क हॉस्पिटल पहुंचाया जहाँ से उन्हें किसी और हॉस्पिटल में शिफ्ट करवाया गया. आज जज की पत्नी रितु शर्मा की मौत हो गयी जबकि बेटा अभी भी क्रिटिकल अवस्था में वेंटिलेटर पर रखा गया है.

इस घटना के आरोपी हेड कांस्टेबल को गिरफ्तार कर लिया गया है. वह हरियाणा के नारनौल जिले के भुंगरका गाँव के निवासी हैं, वह परिवार के साथ 2017 से गुरुग्राम के एडिशनल सेशन जज कृष्णकांत शर्मा के घर नौकरी करते थे, पुलिस पूछताछ में उन्होंने बताया कि वह एक गनर हैं इसके बावजूद भी उनसे घर के काम कराए जाते हैं, मार्किट में ले जाया जाता है जिसकी वजह से वह मानसिक रूप से परेशान रहते थे. इसलिए उन्होंने 13 अक्टूबर को आर्काडिया मार्किट के सामने दोनों को अपनी सर्विस रिवाल्वर से गोली मार दी. महिपाल सिंह ने यह भी बताया कि घटना से पहले उनकी ध्रुव के साथ बहस भी हुई थी.

पुलिस के अनुसार अभी पूछताछ चल रही है. हो सकता है वारदात की वजह कुछ और हो लेकिन पूछताछ में आरोपी ने यही बताया है. आगे पूछताछ में कई बातें सामने आएँगी. यह भी कहा जा रहा है कि महिपाल सिंह ने पांच दिन पहले इसाई में धर्मपरिवर्तन करा लिया था और कुछ धार्मिक वीडियो देखता था.

यह भी कहा जा रहा है कि गनर महिपाल सिंह जज की पत्नी और बेटे को इसाई में धर्म परिवर्तन के लिए दबाव बना रहा था लेकिन दोनों इसके लिए तैयार नहीं थी, इसकी जांच चल रही है. आज गनर की माँ और चचेरे भाई को गिरफ्तार किया गया है. अगर यह बात सच निकली तो बहुत बड़े काण्ड का खुलासा हो सकता है.

गुरुग्राम हत्याकांड में फंसने लगा गनर का परिवार, हिरासत में लिए गए गनर की माँ और चचेरा भाई

gurugram-gunner-mother-cousin-arrested-for-enquiry-double-murder

गुरुग्राम, 14 अक्टूबर: गुरुग्राम में 13 अक्टूबर को हुए हत्याकांड में गनर का परिवार फंसने लगा है, आज पुलिस ने पूछताछ के लिए गनर महिपाल सिंह की माँ और चचेरे भाई को हिरासत में लिया है. दोनों से पूछताछ जारी है.

गुरुग्राम में 13 अक्टूबर को बड़ा काण्ड हो गया था, एक गनर ने एडिशनल सेशन जज कृष्णकांत  की पत्नी रितु शर्मा और बेटे ध्रुव शर्मा को गोली मार दी. यह घटना सेक्टर-49 की एक मार्किट में हुई. दोनों को गोली मारने के बाद हेड कांस्टेबल महिपाल सिंह ने पहले उनकी घायल बॉडी को कार में डालने का प्रयास किया लेकिन इसमें असफल रहने पर वह दोनों को वहीँ पर छोड़कर फरार हो गया.

इसके बाद कुछ लोगों ने दोनों को ऑटो में डालकर पार्क हॉस्पिटल पहुंचाया जहाँ से उन्हें किसी और हॉस्पिटल में शिफ्ट करवाया गया. आज जज की पत्नी रितु शर्मा की मौत हो गयी जबकि बेटा अभी भी क्रिटिकल अवस्था में वेंटिलेटर पर रखा गया है.

इस घटना के आरोपी हेड कांस्टेबल को गिरफ्तार कर लिया गया है. वह हरियाणा के नारनौल जिले के भुंगरका गाँव के निवासी हैं, वह परिवार के साथ 2017 से गुरुग्राम के एडिशनल सेशन जज कृष्णकांत शर्मा के घर नौकरी करते थे, पुलिस पूछताछ में उन्होंने बताया कि वह एक गनर हैं इसके बावजूद भी उनसे घर के काम कराए जाते हैं, मार्किट में ले जाया जाता है जिसकी वजह से वह मानसिक रूप से परेशान रहते थे. इसलिए उन्होंने 13 अक्टूबर को आर्काडिया मार्किट के सामने दोनों को अपनी सर्विस रिवाल्वर से गोली मार दी. महिपाल सिंह ने यह भी बताया कि घटना से पहले उनकी ध्रुव के साथ बहस भी हुई थी.

पुलिस के अनुसार अभी पूछताछ चल रही है. हो सकता है वारदात की वजह कुछ और हो लेकिन पूछताछ में आरोपी ने यही बताया है. आगे पूछताछ में कई बातें सामने आएँगी. यह भी कहा जा रहा है कि महिपाल सिंह ने पांच दिन पहले इसाई में धर्मपरिवर्तन करा लिया था और कुछ धार्मिक वीडियो देखता था.

यह भी कहा जा रहा है कि गनर महिपाल सिंह जज की पत्नी और बेटे को इसाई में धर्म परिवर्तन के लिए दबाव बना रहा था लेकिन दोनों इसके लिए तैयार नहीं थी, इसकी जांच चल रही है. आज गनर की माँ और चचेरे भाई को गिरफ्तार किया गया है. अगर यह बात सच निकली तो बहुत बड़े काण्ड का खुलासा हो सकता है.

अस्पताल में जज की पत्नी ने तोडा दम, बेटा क्रिटिकल, गनमैन ने बतायी गोली मारने की वजह, पढ़ें

gurugram-addiotional-session-judge-wife-dead-in-hospital-news-story

गुरुग्राम, 14 अक्टूबर: गुरुग्राम में कल एक बड़ा काण्ड हो गया है, एक गनर ने एडिशनल सेशन जज कृष्णकांत  की पत्नी रितु शर्मा और बेटे ध्रुव शर्मा को गोली मार दी. यह घटना सेक्टर-49 की एक मार्किट में हुई है. दोनों को गोली मारने के बाद हेड कांस्टेबल महिपाल सिंह ने पहले उनकी घायल बॉडी को कार में डालने का प्रयास किया लेकिन इसमें असफल रहने पर वह दोनों को वहीँ पर छोड़कर फरार हो गया.

इसके बाद कुछ लोगों ने दोनों को ऑटो में डालकर पार्क हॉस्पिटल पहुंचाया जहाँ से उन्हें किसी और हॉस्पिटल में शिफ्ट करवाया गया. आज जज की पत्नी रितु शर्मा की मौत हो गयी जबकि बेटा अभी भी क्रिटिकल अवस्था में वेंटिलेटर पर रखा गया है.

इस घटना के आरोपी हेड कांस्टेबल को गिरफ्तार कर लिया गया है. वह हरियाणा के नारनौल जिले के भुंगरका गाँव के निवासी हैं, वह परिवार के साथ 2017 से गुरुग्राम के एडिशनल सेशन जज कृष्णकांत शर्मा के घर नौकरी करते थे, पुलिस पूछताछ में उन्होंने बताया कि वह एक गनर हैं इसके बावजूद भी उनसे घर के काम कराए जाते हैं, मार्किट में ले जाया जाता है जिसकी वजह से वह मानसिक रूप से परेशान रहते थे. इसलिए उन्होंने 13 अक्टूबर को आर्काडिया मार्किट के सामने दोनों को अपनी सर्विस रिवाल्वर से गोली मार दी. महिपाल सिंह ने यह भी बताया कि घटना से पहले उनकी ध्रुव के साथ बहस भी हुई थी.

पुलिस के अनुसार अभी पूछताछ चल रही है. हो सकता है वारदात की वजह कुछ और हो लेकिन पूछताछ में आरोपी ने यही बताया है. आगे पूछताछ में कई बातें सामने आएँगी. यह भी कहा जा रहा है कि महिपाल सिंह ने पांच दिन पहले ईसाई में धर्मपरिवर्तन करा लिया था और कुछ धार्मिक वीडियो देखता था.