Main Section

Palwal Assembly

Showing posts with label Faridabad Police. Show all posts

पूरे हरियाणा में 4500 विशेष पुलिस अधिकारियों की भर्ती, फरीदाबाद में 550 पद, देखिये सरकारी आदेश

faridabad-special-police-officers-vacancy-haryana-government-order

फरीदाबाद: फरीदाबाद में 550 विशेष पुलिस अधिकारियों की भर्ती निकली है लेकिन कुछ लोगों को इसपर यकीन नहीं है, ऐसा इसलिए क्योंकि इससे पहले विशेष पुलिस अधिकारियों की भर्ती की कोई खबर नहीं आयी, जनता को यकीन दिकाने के लिए हम सरकारी आदेश दिखाने जा रहे हैं, फरीदाबाद में 50 पद पहले से खाली थी, 500 पद और निकाले गए हैं, कुल 550 पदों की भर्ती है, पूरे हरियाणा में 4500 पदों की भर्ती है. देखिये सरकारी आदेश की कॉपी -

special-police-officer-vacancy-faridabad-haryana

कौन कर सकता है आवेदन

सरकारी आदेश के अनुसार इस पदों के लिए सेना एवं अर्ध सैनिक बल के Ex Service Man ही आवेदन कर सकते हैं. इच्छूक आवेदक  22.02.2019 तक सेना शाखा, पुलिस आयुक्त कार्यालय सै0 21सी में करें आवेदन।

कितनी मिलेगी सैलरी

चयनित उर्मीदवार को 18,000/-रू0 प्रतिमाह दिया जाएगा वेतन।

फरीदाबाद- पुलिस कमीशनरेट फरीदाबाद में अतिरिक्त पुलिस बल स्थापित करने के लिये Army and Paramilitary Forces से सेवानिवृत हुए Ex SERVICE MEN को अनुबंध आधार पर एक वर्ष के लिये चयन प्रकिया पुलिस आयुक्त कार्यालय में शुरू की जाएगी। इच्छूक उर्मीदवार अपने सेवानिवृत से संबंधित पेपर दिनांक 22.02.2019 तक सेना लिपिक शाखा (पुलिस आयुक्त कार्यालय सै0 21सी फरीदाबाद) में जमा कराने होंगे।

पुलिस उपायुक्त मुख्यालय फरीदाबाद नितिका गहलोत ने यह जानकारी देते हुये बताया कि सेना एवं अर्धसैनिक बल से सेवानिवृत हुए Ex SERVICE MEN को अनुबंध पर एक साल के लिये विशेष अधिकारी के रूप में भर्ती किया जायेगा। इनको 18 हजार रूपये मासिक मानदेय व तीन हजार रूपये वर्दी भत्ता के रूप में दिये जाएगे। वर्दी भत्ता साल में एक बार मिलेगा। टीए डीए के तौर पर इन्हें 150 रूपये यात्रा भता के मिलेगे। 

सेवानिवृत कर्मचारियों के लिए यह आवश्यक है उनकी आयु 50 साल से अधिक ना हो और उन्हें अनुशासनहीनता या मैडीकल के आधार पर न हटाया गया हो।

पुलिस प्रवक्ता सुबे सिहं  ने बताया कि भर्ती के इच्छुक सेवानिवृत अपने साथ पास-पोर्ट साईज के फोटो, जन्म तिथि, शिक्षा, सेवानिवृत से संबंधित सर्टिफिकेट, मुल प्रमाण पत्र व मेडिकल फिटनैस सर्टिफिकेट और उनकी प्रति साथ लेकर आएगे। इन सेवानिवृत कर्मचारियों  को स्पेशल पुलिस अधिकारी नियुक्त किया जाएगा।

चयन हेतू निम्नलिखित सेवा शर्तें लागू होगी।

1. सेना एवं अर्धसैनिक बल से सेवानिवृत हुए Ex SERVICE MEN की आयु 50 साल से अधिक नही होनी चाहिए। 

2. Ex SERVICE MEN कर्मचारी केवल एक वर्ष की अवधि के लिए 18,000/-रू0 रुपये के मासिक मानदेय पर रखें जाऐगे। इस राशि को विशेष पुलिस अधिकारी की नकद न देकर उनके बैंक खाते में जमा किया जायेगा।

3. Ex SERVICE MEN को, उनके ग्रह पुलिस थानों में तैनात नही किया जायेगा, लेकिन यह ध्यान में रखा जायेगा कि उनकी तैनाती उनके नजदीकी पुलिस थानों में हो जो कि उनके निवास स्थान के निकट हो, में की जाए। यदपि जो इच्छुक होगें उन्हे अन्य जिला में भी तैनात किया जा सकता है।

4. Ex SERVICE MEN को भर्ती के समय दो जोडा वर्दी, एक जोडा जूते और अन्य आवशयक वर्दी से संबधित वस्तुओं के लिए 3000 रुपये केवल एक बार दिये जाएगें।

5. जब सरकारी दौरे पर होंगे तो उसके लिए 150 रुपये प्रतिदिन यात्रा भत्ता तथा दैनिक भत्ता टी0ए0डी0ए0 दिया जाऐगा।

6. उन्हें आकसमिक अवकाश जो हरियाणा पुलिस के सिपाही के लिए लागू है, प्रदान किया जाऐगा। वह निम्नलिखित अनुग्रह राशी के लिए भी पात्र होगेंः-

(क) डयुटी के दौरान मत्यु होने पर -10 लाख रूपये।

(ख) स्थाई विकलांता पर- 1 लाख से 3 लाख रूपयें तक।

(ग) गंभीर चोट पर-1 लाख रूपये तक।

7. Ex SERVICE MEN को भर्ती के समय कोई लिखित परीक्षा तथा शारीरिक मापतोल का आयोजन नही होगा।

8. राज्य सरकार द्वारा जारी हिदायतों के अनुसार अनुसूचित जाति तथा पिछडे वर्ग उम्मीदवारों को उचित प्रतिनिधित्व दिया जाऐगा।

9. इन विशेष आधिकारियों को आपातकालीन स्थिति में थोडे समय के लिए हरियाणा राज्य के किसी भी जिले में तैनात किया जा सकता है।

10. इन विशेष पुलिस अधिकारियों को एक 15 दिन के कपसूल कोर्स, जो कि पुलिस विभाग की महत्तवता बताएगा, में भेजा जाएगा। इन्हें गार्द डयूटी, पैट्रोलिंग, यातायात, कानून तथा व्यवस्था और पुलिस से संबंधित डयूटियों के लिए इस्तेमाल किया जाऐगा।

11. चयन के लिए साक्षात्कार में आने के लिए उम्मीदवारों को कोई यात्रा भत्ता तथा दैनिक भत्ता (टी0ए0डी0ए0) नही दिया जाएगा।

खुशखबरी, फरीदाबाद पुलिस में 540 विशेष पुलिस अधिकारियों की जाएगी भर्ती, पढ़ें, कैसे करें आवेदन

faridabad-police-special-officer-vacancy-500-post-how-to-apply

फरीदाबाद: सेना एवं अर्ध सैनिक बल के Ex Service Man को फरीदाबाद पुलिस में विशेष पुलिस अधिकारी के तौर पर भर्ती किया जाएगा।

इच्छूक आवेदक  22.02.2019 तक सेना शाखा, पुलिस आयुक्त कार्यालय सै0 21सी में करें आवेदन। चयनित उर्मीदवार को 18,000/-रू0 प्रतिमाह दिया जाएगा वेतन।

फरीदाबाद- पुलिस कमीशनरेट फरीदाबाद में अतिरिक्त पुलिस बल स्थापित करने के लिये Army and Paramilitary Forces से सेवानिवृत हुए Ex SERVICE MEN को अनुबंध आधार पर एक वर्ष के लिये चयन प्रकिया पुलिस आयुक्त कार्यालय में शुरू की जाएगी। इच्छूक उर्मीदवार अपने सेवानिवृत से संबंधित पेपर दिनांक 22.02.2019 तक सेना लिपिक शाखा (पुलिस आयुक्त कार्यालय सै0 21सी फरीदाबाद) में जमा कराने होंगे।

पुलिस उपायुक्त मुख्यालय फरीदाबाद नितिका गहलोत ने यह जानकारी देते हुये बताया कि सेना एवं अर्धसैनिक बल से सेवानिवृत हुए Ex SERVICE MEN को अनुबंध पर एक साल के लिये विशेष अधिकारी के रूप में भर्ती किया जायेगा। इनको 18 हजार रूपये मासिक मानदेय व तीन हजार रूपये वर्दी भत्ता के रूप में दिये जाएगे। वर्दी भत्ता साल में एक बार मिलेगा। टीए डीए के तौर पर इन्हें 150 रूपये यात्रा भता के मिलेगे। 

सेवानिवृत कर्मचारियों के लिए यह आवश्यक है उनकी आयु 50 साल से अधिक ना हो और उन्हें अनुशासनहीनता या मैडीकल के आधार पर न हटाया गया हो।

पुलिस प्रवक्ता सुबे सिहं  ने बताया कि भर्ती के इच्छुक सेवानिवृत अपने साथ पास-पोर्ट साईज के फोटो, जन्म तिथि, शिक्षा, सेवानिवृत से संबंधित सर्टिफिकेट, मुल प्रमाण पत्र व मेडिकल फिटनैस सर्टिफिकेट और उनकी प्रति साथ लेकर आएगे। इन सेवानिवृत कर्मचारियों  को स्पेशल पुलिस अधिकारी नियुक्त किया जाएगा।

चयन हेतू निम्नलिखित सेवा शर्तें लागू होगी।

1. सेना एवं अर्धसैनिक बल से सेवानिवृत हुए Ex SERVICE MEN की आयु 50 साल से अधिक नही होनी चाहिए। 

2. Ex SERVICE MEN कर्मचारी केवल एक वर्ष की अवधि के लिए 18,000/-रू0 रुपये के मासिक मानदेय पर रखें जाऐगे। इस राशि को विशेष पुलिस अधिकारी की नकद न देकर उनके बैंक खाते में जमा किया जायेगा।

3. Ex SERVICE MEN को, उनके ग्रह पुलिस थानों में तैनात नही किया जायेगा, लेकिन यह ध्यान में रखा जायेगा कि उनकी तैनाती उनके नजदीकी पुलिस थानों में हो जो कि उनके निवास स्थान के निकट हो, में की जाए। यदपि जो इच्छुक होगें उन्हे अन्य जिला में भी तैनात किया जा सकता है।

4. Ex SERVICE MEN को भर्ती के समय दो जोडा वर्दी, एक जोडा जूते और अन्य आवशयक वर्दी से संबधित वस्तुओं के लिए 3000 रुपये केवल एक बार दिये जाएगें।

5. जब सरकारी दौरे पर होंगे तो उसके लिए 150 रुपये प्रतिदिन यात्रा भत्ता तथा दैनिक भत्ता टी0ए0डी0ए0 दिया जाऐगा।

6. उन्हें आकसमिक अवकाश जो हरियाणा पुलिस के सिपाही के लिए लागू है, प्रदान किया जाऐगा। वह निम्नलिखित अनुग्रह राशी के लिए भी पात्र होगेंः-

(क) डयुटी के दौरान मत्यु होने पर -10 लाख रूपये।

(ख) स्थाई विकलांता पर- 1 लाख से 3 लाख रूपयें तक।

(ग) गंभीर चोट पर-1 लाख रूपये तक।

7. Ex SERVICE MEN को भर्ती के समय कोई लिखित परीक्षा तथा शारीरिक मापतोल का आयोजन नही होगा।

8. राज्य सरकार द्वारा जारी हिदायतों के अनुसार अनुसूचित जाति तथा पिछडे वर्ग उम्मीदवारों को उचित प्रतिनिधित्व दिया जाऐगा।

9. इन विशेष आधिकारियों को आपातकालीन स्थिति में थोडे समय के लिए हरियाणा राज्य के किसी भी जिले में तैनात किया जा सकता है।

10. इन विशेष पुलिस अधिकारियों को एक 15 दिन के कपसूल कोर्स, जो कि पुलिस विभाग की महत्तवता बताएगा, में भेजा जाएगा। इन्हें गार्द डयूटी, पैट्रोलिंग, यातायात, कानून तथा व्यवस्था और पुलिस से संबंधित डयूटियों के लिए इस्तेमाल किया जाऐगा।

11. चयन के लिए साक्षात्कार में आने के लिए उम्मीदवारों को कोई यात्रा भत्ता तथा दैनिक भत्ता (टी0ए0डी0ए0) नही दिया जाएगा। PRO

धारदार हथियार से डबल मर्डर करने वाले को मिली उम्रकैद, इंस्पेक्टर नवीन पाराशर ने सुलझाया था केस

inspector-naveen-parashar-hard-wark-let-double-murder-convict-umrakaid

फरीदाबाद: क्राइम ब्रांच DLF के पूर्व इंचार्ज और वर्तमान में गुरुग्राम में सेवा दे रहे इंस्पेक्टर नवीन पाराशर की कड़ी मेहनत का एक और अच्छा परिणाम आया है. 2017 में पति पत्नी का डबल मर्डर करने वाले को फरीदाबाद सेशन कोर्ट ने उम्रकैद की सजा सुनायी है.

यह मामला सेक्टर थाने का है जिसकी जांच अपराध शाखा DLF के प्रभारी नवीन पाराशर को सौंपी गयी थी, FIR के अनुसार लोहामंडी सेक्टर-59 में रहने वाले अंशु ने बच्चों के साथ हुए झगडे का बदला लेने के लिए पड़ोस में रहने वाले सिद्धू एवं उसकी पत्नी को धारदार हथियार से क़त्ल कर दिया था, दोषी ने बेटी को भी घायल कर दिया था. हत्या के बाद दोषी फरार हो गया था. इस मामले की FIR सेक्टर-58 थाने में दर्ज करवाई है, प्रीतपाल उस समय वहां के SHO थे.

इस मामले की जांच तत्कालीन DLF क्राइम ब्रांच प्रभारी इंस्पेक्टर नवीन पाराशर को सौंपी गयी. उन्होंने कड़ी मेहनत से केस को सुलझाया और आरोपी को पकड़कर नीमका जेल भेजा. कल वीरेंद्र मालिक की अदालत में इस मामले का फैसला सुनाया है जिसमें दोषी को उम्रकैद एवं 44 हजार रुपये जुर्माना भी ठोंका गया.

राज्यपाल ने किये 46 ट्रांसफर, ACP देवेंदर कुमार, पूजा डाबला, जय प्रकाश, आत्मा-राम का हुआ तबादला

acp-devender-kumar-pooa-dabla-jai-prakash-atma-ram-transfer-news
फरीदाबाद: हरियाणा के राज्यपाल के आदेश पर हरियाणा के HPS कैडर के ACP/DSP रैंक के 46 अफसरों का ट्रान्सफर हुआ है. फरीदाबाद के 4 ACP रैंक के अफसरों का ट्रान्सफर किया गया है.

ट्रान्सफर किये गए अफसरों के नाम

  1. देवेंदर कुमार, ACP फरीदाबाद को DSP/CID नियुक्त किया गया है.
  2. पूजा डाबला ACP फरीदाबाद को DSP पानीपत ट्रान्सफर किया गया है.
  3. जय प्रकाश, ACP फरीदाबाद को DSP पानीपत ट्रान्सफर किया गया है.
  4. आत्मा राम, ACP सेंट्रल फरीदाबाद को DSP/SCB ट्रान्सफर किया गया है.
देखिये पूरी लिस्ट - 




हरियाणा पुलिस के अशोक कुमार, वेद प्रकाश और प्रीतपाल सहित 9 इंस्पेक्टर बने DSP

9-inspector-got-promoted-as-dsp-in-haryana-police-news-in-hindi

फरीदाबाद: हरियाणा सरकार ने बड़ा फैसला लेते हुए 9 इंस्पेक्टर को DSP पद पर प्रमोशन दिया है, इनमें से अधिकतर इंस्पेक्टर फरीदाबाद में अपनी सेवाएं दे चुके हैं.

प्रमोशन पाने वाले इंस्पेक्टर के नाम हैं - 

  1. शमशेर सिंह, (No. 278/RR)
  2. अशोक कुमार No. RR/4)
  3. अशोक कुमार (No. A/109)
  4. प्रदीप कुमार (No. A/96)
  5. बलजीत सिंह (No. A/120)
  6. विनोद शंकर (No. H/60)
  7. वेद प्रकाश (No. G/115)
  8. सुनील कुमार (No. G/118)
  9. प्रीत पाल (No. G/120)

मिसिंग सेल ने 7 वर्षीय गायब बच्ची को ढूंढ निकाला, परिजनों के चेहरे पर वापस लौटी मुस्कान

faridabad-missing-cell-search-out-missing-girl-neha-dabua-sabji-mandi

फरीदाबाद: मिसिंग सेल ने 7 वर्षीय गायब बच्ची को ढूंढकर उसके परिजनों के हवाले कर दिया और इस तरह से परिजनों के चेहरे पर मुस्कान वापस लौटा दी. 

पुलिस आयुक्त संजय कुमार के दिशा निर्देश पर कार्य करते हुए मिसिंग पर्सन सेल प्रभारी एस आई नरेंद्र ने सराहनीय कार्य करते हुए डबुआ सब्जी मंडी से खोई हुई 7 वर्षीय बच्ची को उसके परिवार से मिलवाने की कामयाबी हासिल की।

आपको बताते चलें कि दिनांक 5 फरवरी 2019 को 7 वर्षीय बच्ची डबुआ सब्जी मंडी में अपने परिवार से अलग हो गई थी। 7 वर्षीय बच्ची नेहा को राहगीर ने डबुआ पुलिस थाने के हवाले कर दिया था

डबुआ पुलिस ने बच्ची से उसका पता लगाने की कोशिश की लेकिन पता नहीं लग पाया। डबुआ पुलिस थाना ने बच्ची को दिनांक 6 फरवरी 2019 को मिसिंग सेल के हवाले कर दिया था।

मिसिंग सेल ने बच्ची नेहा को CWC के माध्यम से चाइल्ड शेल्टर होम सिंही गांव में भेज दिया तथा बच्ची की बार बार काउंसलिंग की गई।

की गई काउंसलिंग में  पता चला कि उसके मामा पलवल मे रहते हैं पलवल उसके मामा का पता लगा कर बच्ची को उसके परिवार से मिलवा कर उनके चेहरे पर खुशी लौटाई हैं।

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया की बच्ची को पाकर परिवार बेहद खुश हैं मिसिंग पर्सन सेल के द्वारा किए गए सराहनीय कार्य की बच्ची के परिजनों ने काफी सराहना भी की है।

सूरजकुंड मेले में पुलिस ने किया डिजास्टर मैनेजमेंट व बेसिक लाइव स्पोर्ट वर्कशॉप का आयोजन

faridabad-police-organised-disaster-management-workshop-surajkund-mela

फरीदाबाद: दिनांक 5 फरवरी 2019 को मेला पुलिस अधिकारी नीतिका गहलोत एवं मेला नोडल अधिकारी राजेश जून की अध्यक्षता में कोई भी अप्रिय घटना घटने पर उस स्थिति से निपटने के लिए डिजास्टर मैनेजमेंट फॉर बेसिक लाइफ सपोर्ट वर्कशॉप का आयोजन किया गया।

इस मौके पर मेला पुलिस अधिकारी नीतिका गहलोत, राजेश जून नोडल अधिकारी सूरजकुंड मेला, अमन यादव पुलिस नोडल अधिकारी सूरजकुंड मेला, अरुण सिंगला आईपीएस, एसीपी आत्माराम, रमेश कुमार, एसीपी पूजा डाबला इत्यादि मौजूद थे।

स्वास्थ्य विभाग फरीदाबाद की तरफ से गुलशन अरोड़ा, डॉ विशाल, सर्वोदय हॉस्पिटल की तरफ से डॉ राज मिश्रा, अनिल भारद्वाज, पंकज मिश्रा, साहिल एवं शिवा मौजूद थे।

फायर ब्रिगेड की तरफ से हरि सिंह सैनी सूरजकुंड मेला नोडल ऑफिसर, राजेंद्र दहिया डिस्ट्रिक्ट फरीदाबाद फायर ऑफिसर इत्यादि मौजूद थे।

उपायुक्त नीतिका गहलोत ने बताया कि यह डिजास्टर मैनेजमेंट वर्कशॉप का आयोजन मेले में किसी भी अप्रिय घटना होने पर कैसे निपटा जाएगा इस बारे में इसमें बताया गया है।

वर्कशॉप में सभी जोन से चार चार पुलिसकर्मियों को बुलाया गया था और इस बारे ट्रेनिंग दी गई है।

faridabad-police-surajkund-mela

पुलिस प्रवक्ता सुबे सिंह ने बताया कि डिजास्टर वर्कशॉप आयोजन का मुख्य उद्देश था कि डिजास्टर के समय पुलिस, फायर ब्रिगेड, डॉक्टर कैसे अपना अपना काम करेंगे उनको इस बारे में बताया गया है। वर्कशॉप के माध्यम से लोगों को डिजास्टर के दौरान अपने आप को वह दूसरे को कैसे बचाना चाहिए इस बारे में जागरूक करना था। पुलिस व अन्य संबंधित सभी सरकारी संस्थाएं एकजुट होकर कैसे एक दूसरे के साथ काम करें ताकि डिजास्टर से होने वाली जन हानी को रोका जा सके।

फायर ब्रिगेड की तरफ से आई हुई टीम ने बताया कि आग चार प्रकार की होती है और चारों प्रकार की आग को बुझाने के लिए अलग-अलग फायर एक्सटिंग्विश का प्रयोग किया जाता है।

आग को लगने के लिए ऑक्सीजन की बेहद जरूरत होती है अगर हम ऑक्सीजन को रोक देते हैं तो आग अपने आप बुझ जाती है।

नीतिका गहलोत ने बताया कि जब आग लगती है तो सबसे पहले हमें यह देखना चाहिए कि जान और माल को कोई भी नुकसान ना हो।

हमें आग को फैलने से रोकना चाहिए जिस जगह पर आग लगी हुई है वहां की चारों तरफ जो भी और चीज है उनको सबसे पहले दूर हटाना चाहिए ताकि आग वहां तक ना पहुंच पाए।

फायर ब्रिगेड की टीम ने बताया कि सबसे पहले हमें आग को बुझाते समय इस बात का भी विशेष ख्याल रखना चाहिए कि हवा किस तरफ की है।

फायर ब्रिगेड की तरफ से आई हुई टीम ने फायर फॉर्म एक्सटिंग्विशर का प्रयोग कर मौजूद पुलिसकर्मियों को इसके इस्तेमाल का तरीका भी बताया और पुलिसकर्मियों ने वर्कशॉप में चलाकर भी देखा।

उपायुक्त नीतिका गहलोत एवं पूजा डाबला ने भी बताए गए तरीकों का प्रयोग स्वयं करके देखा

सूरजकुंड मेले के फायर ब्रिगेड नोडल ऑफिसर हरि सिंह सैनी ने बताया कि आग लगने पर सबसे पहले हमें घबराना नहीं चाहिए संयम से काम लेना चाहिए उसके बाद बताए गए तरीके से आग पर कंट्रोल पाना चाहिए

स्वास्थ्य विभाग एवं सर्वोदय अस्पताल की तरफ से आई हुई टीम ने बताया कि घायल व्यक्ति को किस तरह से उठाकर उसको एंबुलेंस तक कैसे पहुंचाया जाएगा.

उन्होंने बताया कि हमें एंबुलेंस से हॉस्पिटल के बीच में जाते वक्त यह देखना है कि घायल व्यक्ति की सांस और पल्स चल रही है या नहीं, नहीं चलने पर हमें उसे रास्ते में ही फर्स्ट एड देनी जरूरी है.

फरीदाबाद स्वास्थ्य विभाग की टीम ने मौजूद पुलिसकर्मियों को सीपीआर देने का तरीका भी समझाया कि किस तरह से सीपीआर देनी चाहिए और उसका सही तरीका क्या होता है.

उपायुक्त नीतिका गहलोत ने स्वास्थ्य विभाग की टीम एवं सर्वोदय हॉस्पिटल की तरफ से आई हुई टीम को धन्यवाद देते हुए कहा कि इस तरह की वर्कशॉप का आयोजन आगे भी होता रहेगा ताकि फरीदाबाद पुलिस किसी भी अप्रिय घटना से निपटने के लिए हमेशा तैयार रहे.

Black Flag: फरीदाबाद पुलिस ने दिखाई मुस्तैदी, LN पराशर की टीम को चेंबर के गेट पर ही रोका

faridabad-police-stop-advocate-ln-parashar-black-flag-inspecting-judge

फरीदाबाद: फरीदाबाद कोर्ट में भ्रष्टाचार की शिकायत के लिए वकील एलएन पाराशर ने हाई कोर्ट के इंस्पेक्टिंग जज से मिलने की मांग की थी, आज उन्होंने इंस्पेक्टिंग जज को काले झंडे दिखाने की तैयारी की थी लेकिन फरीदाबाद पुलिस ने भारी संख्या में पहुंचकर एलएन पाराशर की टीम को चेंबर के गेट पर ही रोक दिया.

पुलिस की सुरक्षा शाखा भी पहले से मुस्तैद थी और एलएन पाराशर को रोकने की पूरी तैयारी कर ली गई थी इसके अलावा दुर्गा शक्ति की टीम भी मौके पर पहुंच गई और किसी भी परिस्थिति से निपटने की पूरी तैयारी कर ली गई थी.

सेंट्रल थाने के एसएचओ राजदीप मोर ने काफी देर तक वकील एनएन पाराशर को समझाया और उन्हें कानून के दायरे में रहकर अपनी मांग रखने की अपील की.

वकील LN पाराशर ने कहा कि मुझे इंस्पेक्टिंग जज से मिलने के लिए समय चाहिए ताकि मैं विस्तार से फरीदाबाद कोर्ट में फैले भ्रष्टाचार के बारे में उन्हें बता सकूं लेकिन अभी तक मुझे समय नहीं दिया गया है. फरीदाबाद पुलिस ने मुझे भले रोक दिया लेकिन मैं भ्रष्टाचार के खिलाफ आवाज उठाता रहूंगा और अपनी लड़ाई जारी रखूंगा.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि पुलिस का काम कानून व्यवस्था मेंटेन रखने का होता है. किसी भी न्यायिक अधिकारी को काले झंडे दिखाने से पहले पुलिस जरूरी कदम उठाती है, यहां पर फरीदाबाद पुलिस ने काफी मुस्तैदी का परिचय दिया और वकीलों को चेंबर के गेट पर ही रोक लिया. अब देखते हैं वकील इन पराशर इंस्पेक्टिंग जज से मिल पाते हैं या नहीं.

सेक्टर-7 के SHO पर धारा 323, 506, 427, 500, 217, 218 और 120B लगवाना चाहते हैं वकील, पढ़ें क्यों

faridabad-advocate-brij-mohan-sharma-send-notice-to-sector-7-sho-mahesh-kumar

फरीदाबाद: सेक्टर-7 के SHO इंस्पेक्टर महेश कुमार और अन्य स्टाफ के खिलाफ वकील ब्रिज मोहन शर्मा कोर्ट में चले गए हैं, SHO के खिलाफ अधिकतर वकील एकजुट हैं. इंस्पेक्टर महेश कुमार, ASI जयचंद एवं अन्य 4 (ट्रम्प हुंडई एजेंसी के कर्मचारियों) के खिलाफ कोर्ट से समन भेजा गया है. 20 फ़रवरी को अगली सुनवाई है.

वकील ब्रिज मोहन शर्मा SHO महेश कुमार और अन्य आरोपियों के खिलाफ  धारा 323, 506, 427, 500, 217, 218 और 120B लगवाकर उन्हें जेल भेजना चाहते हैं.

ब्रिज मोहन शर्मा ने आरोप लगाया है कि एक ऑडियो टेप में SHO महेश कुमार गलत लहजे में बात कर रहे हैं और वकीलों के लिए अपशब्दों का इस्तेमाल कर रहे हैं जिसकी वजह से वकील समाज अपमानित महसूस कर रहा है. ऑडियो में उठाने, लूट का केस ठोंकने, कूटने आदि की बात भी की जा रही है. वकीलों के लिए अपशब्दों का इस्तेमाल किया जा रहा है. अगर ये टेप SHO का है तो ऐसा लगता है कि हरियाणा पुलिस का श्रीमान अभियान SHO तक नहीं पहुंचा. इस अभियान के तहत फरीदाबाद पुलिस कमिश्नर ने सभी पुलिस अधिकारियों एवं पुलिसकर्मियों को जनता से प्रेम एवं सम्मान से बातचीत करने का आदेश दिया था, अभिवादन में श्रीमान लगाने का आदेश दिया गया था.

आज इस मामले में वकील लोग एकजुट होकर एडिशनल चीफ जुडिसियल मजिस्ट्रेट तरुण सिंगल की कोर्ट में पहुंचे और ऑडियो टेप के आधार पर आरोपियों के खिलाफ उपरोक्त धाराओं के तहत कार्यवाही की मांग की, जिसके बाद कोर्ट से आरोपियों को समन भेजा गया है, आर्डर की कॉपी नीचे दी गयी है - 

sector-7-sho-case

फरीदाबाद से विदा होकर बोले इंस्पेक्टर नवीन पाराशर, जनता एवं पुलिस ने बहुत प्यार दिया, धन्यवाद

inspector-naveen-parashar-farewell-leave-for-gurugram-thanks-public-police

फरीदाबाद: DLF क्राइम ब्रांच के प्रभारी इंस्पेक्टर नवीन पाराशर आज फरीदाबाद से गुरुग्राम के लिए विदा हो गए. उन्हें गुरुग्राम में पोस्टिंग मिली है.

इंस्पेक्टर नवीन पाराशर ने फरीदाबाद की जनता और पुलिस का धन्यवाद करते हुए कहा - यहाँ की जनता और पुलिस ने बहुत प्यार दिया. आप सबका आभार.

आज नवीन पाराशर से मिलने के लिए DLF क्राइम ब्रांच में लोगों का तांता लगा रहा. कई पुलिस अफसर भी उन्हें विदा करने पहुंचे.

inspector-naveen-parashar

आपको बता दें कि 2019 लोकसभा चुनाव से पहले पुलिस अफसरों का फेरबदल होता है, नवीन पराशर का भी इसी रुल के तहत गुरुग्राम ट्रान्सफर हुआ है, उन्होंने जब से DLF क्राइम ब्रांच का पदभार सम्भाला, अनेकों मामले सुलझाए, बड़े बड़े मर्डर केसों को वह चुटकियों में सुलझा लेते हैं इसलिए उन्हें अधिकतर मर्डर केस मिलते थे. अब कुछ दिनों तक फरीदाबाद वालों को उनकी कमीं खलेगी, चुनाव के बाद हो सकता है कि उनका ट्रान्सफर फिर से फरीदाबाद हो जाए और फरीदाबाद वालों को फिर से उनकी सेवा मिल सके. 

पुलिस कमिश्नर संजय कुमार ने पल्ला थाने की नई बिल्डिंग का किया उद्घाटन

faridabad-police-commissioner-sanjay-kumar-inaugurate-palla-thana-building

फरीदाबाद: पुलिस आयुक्त संजय कुमार ने थाना पल्ला के पुलिस कर्मियों के लिए बनी बिल्डिंग थाना पल्ला का उद्घाटन किया।

इस मौके पर पुलिस आयुक्त संजय कुमार के अलावा लोकेंद्र कुमार डीसीपी सेंट्रल, एसीपी यशपाल खटाना, एसीपी आत्माराम एवं जीवा स्कूल के प्रबंधक ऋषि पाल व अन्य गणमान्य व्यक्ति मौजूद थे।

पुलिस आयुक्त ने बताया कि पल्ला थाने के पुलिसकर्मियों को अब रहने की किसी भी तरह की असुविधा का सामना नहीं करना पड़ेगा।

पल्ला थाने के एसएचओ  इंस्पेक्टर अनिल ने मौजूद सभी लोगों का धन्यवाद करते हुए बताया की इस बिल्डिंग का निर्माण जीवा स्कूल के प्रबंधक ऋषि पाल एवं अन्य गणमान्य व्यक्तियों की मदद से कराया गया है।

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया के इंस्पेक्टर अनिल की पहल पर पल्ला थाने की बिल्डिंग का निर्माण किया गया है बिल्डिंग बनने से पहले पल्ला थाने के पुलिस कर्मियों को असुविधा का सामना करना पड़ता था।
PRO CP Office FBD

फरीदाबाद ट्रैफिक पुलिस का बढ़िया काम, नियम की धज्जियां उड़ा रहे ऑडी कार मालिक के घर भेजा चालान

faridabad-traffic-police-issue-e-chalan-audi-car-owner-shreeram-concrete

फरीदाबाद: विदेशों में ट्रैफिक नियम तोड़ने वालों के घरों पर चालान भेज दिया जाता है. फरीदाबाद पुलिस ने भी दुनिया के नक्शे कदम पर चलना शुरू कर दिया है. जिस प्रकार से विदेशों में ट्रैफिक नियम तोड़ने वालों के घरों पर ई चालान भेज दिया जाता है उसी प्रकार से फरीदाबाद पुलिस ने की ट्रैफिक नियम तोड़ने वालों के घर पर e-challan भेजना शुरू किया है.

कल हमने खबर डाली थी जिसमें कुछ युवक युवतियां लग्जरी कारों की छतों और खिड़की पर बैठे हुए थे, देखिए फोटो -

traffic-rule-broken-at-mathura-road-by-young-boys-and-girls-news

यह खबर सोशल मीडिया पर वायरल हुई और फरीदाबाद ट्रेफिक पुलिस तक भी पहुंची, फोटो में एक ऑडी कार का नंबर दिख रहा था जबकि दो कारों का नंबर नहीं दिखाई दिया. फरीदाबाद ट्रैफिक पुलिस तुरंत हरकत में आई और एस आई रघुवीर सिंह ने नंबर प्लेट पर दिख रहे नंबर HR-26-BZ-1551 के आधार पर कार मालिक के घर पर ई चालान भेज दिया. देखिए फोटो -

faridabad-traffic-police

ट्रैफिक पुलिस के सब इंस्पेक्टर रघुवीर सिंह ने आरोपियों पर डेंजरस कार ड्राइविंग और नंबर प्लेट पैटर्न/ विदाउट हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट के तहत कार्रवाई की है और 1500 रुपए का चालान कार मालिक श्रीराम कंक्रीट के घर पर भिजवा दिया है जो गुरु ग्राम के निवासी हैं.

सोशल सोशल मीडिया पर खबर देखने के बाद कुछ लोग फरीदाबाद ट्रेफिक पुलिस पर सवालिया निशान लगा रहे थे और कह रहे थे ट्रेफिक पुलिस अमीर लोगों पर कार्यवाही नहीं करती लेकिन फरीदाबाद ट्रैफिक पुलिस ने ऑडी कार मालिक के खिलाफ कार्यवाही करके साबित कर दिया है फरीदाबाद पुलिस अमीर गरीब में भेदभाव नहीं करती और नियम कानून सबके लिए बराबर हैं. नीचे देखें वायरल वीडियो.

IAXN कंपनी संचालक ने डबुआ थाने के पुलिसकर्मियो को भेंट किए गरम जैकेट, रात को गश्त मे होगी आसानी

Iaxn-company-gifted-warm-jacket-to-dabua-thana-policeman-news

फरीदाबाद: शहर में अब भी जोरदार सर्दी पड़ रही है और रात्रि का तापमान काफी कम रहता है और ऐसे में रात्रि में ड्यूटी करने वाले पुलिसकर्मियों को जहाँ चोर-बदमाशों से दो चार होना पड़ता है वहीं सर्दी से भी जंग लड़नी पड़ती है। 

रात्रि में गस्त करने वाले पुलिसकर्मियों को सर्दी से न जूझना पड़े इसलिए इंटरनेट प्रोवाइड करने वाली कंपनी IAXN ने डबुआ कालोनी में स्थित थाने में तैनात कई पुलिसकर्मियों को मंगलवार गरम जैकेट भेंट किया। इस मौके पर डबुआ थाने के SHO इंस्पेक्टर पंकज व् अन्य पुलिसकर्मी मौजूद थे। 

इंटरनेट प्रोवाइड करने वाली कंपनी IAXN शहर में तमाम तरह की समाजसेवाओं में काफी सक्रिय रहती है और शहर में तमाम समाजसेवी संस्थाओं को कंपनी ने मुफ्त में इंटरनेट कनेक्शन दिया है और फरीदाबाद के तमाम गांवों में भी कंपनी अपनी सेवायें दे रही है। 

कंपनी के पदाधिकारियों का कहना है कि जरूरतमंदों की मदद करने से उन्हें अपार खुशी मिलती है और आगे भी कंपनी शहर वासियों की भलाई के लिए आगे कदम बढ़ाती रहेगी।  

बढ़िया काम, फरीदाबाद के ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन ने पुलिस कमिश्नर को भेंट की स्कॉर्पियो गाड़ी

transport-association-faridabad-gift-scorpio-car-to-police-commissioner-sajnay-kumar

फरीदाबाद: फरीदाबाद शहर की ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन ने एक बढ़िया काम किया है, पुलिस की गस्त बढाने और जनता की मदद के लिए पुलिस कमिश्नर संजय कुमार को एक नई स्कार्पियों भेंट की गयी है. आपकी सुरक्षा आपके साथ, पुलिस पब्लिक पार्टनरशिप के तहत पुलिस को यह स्कॉर्पियो गाड़ी भेंट की गयी है।

आल फरीदाबाद ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन ने आज फरीदाबाद पुलिस कमिश्नर को ट्रैफिक व्यवस्था को दुरुस्त बनाए रखने के लिए स्कॉर्पियो गाड़ी सौंपी। 

इस मौके पर पुलिस कमिश्नर संजय कुमार ने सभी ट्रांसपोर्टर एसोसिएशन के पदाधिकारियों का धन्यवाद करते हुए कहा कि पुलिस को मिली यह स्कॉर्पियो गाड़ी आम जनता व ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन के लिए कारगर सिद्ध होगी। 

उन्होंने कहा कि ट्रांसपोर्टरों द्वारा दी गई यह गाड़ी एस एच ओ ट्रैफिक को दी जाएगी क्योंकि ट्रांसपोर्टरों को एस एच ओ ट्रैफिक से अधिक संबंध रहता है, अब उनको और तेजी से समय पर सहायता मिल सकेगी

नए साल में, नए पुलिस आयुक्त  संजय कुमार को आज पहली गाड़ी पुलिस सहायता के लिए सौंपी गई है। एसोसिएशन के प्रधान सुरेश शर्मा ने बताया कि पूर्व में कई कंपनियों ने फरीदाबाद पुलिस को कई गाड़ियां गस्त के लिए दी थी। ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने पिछले दिनों यह निर्णय लिया कि एसोसिएशन पुलिस को एक स्कॉर्पियो गाड़ी सौंपेगी, उसी के तहत आज यह गाड़ी सौंपी गई है। 

अपने संबोधन में पुलिस कमिश्नर संजय कुमार ने ट्रांसपोर्टरों का धन्यवाद करते हुए कहा की जितनी यह गाड़ी पुलिस के लिए सहायक सिद्ध होगी उससे कहीं अधिक आम जनता और ट्रांसपोर्टरों के लिए भी सार्थक सिद्ध होगी। पुलिस कमिश्नर ने कहा कि कभी भी ट्रांसपोर्टर अपने किसी भी समस्या के लिए अब उनसे सीधे मिल सकते हैं पुलिस उनकी हर संभव मदद करेगी।

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि इस मौके पर डीसीपी ट्रैफिक लोकेंद्र सिंह, डीसीपी एडीसीपी एनआईटी विक्रम कपूर, एसीपी ट्रैफिक देवेंद्र यादव, रविंद्र कुंडू, SHO ट्रैफिक हेमंत कुमार, ट्रैफिक इंस्पेक्टर धर्मवीर सिंह के अलावा ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन के पदाधिकारी सुभाष कौशिक, महावीर सैनी, दिनेश भाटिया, राकेश भाटिया के अलावा अन्य ट्रांसपोर्टर प्रमुख रूप से मौजूद रहे।

CIA DLF नवीन पराशर की टीम ने एक घर में छापा मारकर भारी मात्रा में पकड़ी अवैध शराब, देखें VIDEO

faridabad-dlf-crime-branch-raid-fatehpur-chandila-village-caught-illegal-wine

फरीदाबाद: क्राइम ब्रांच डीएलएफ की टीम ने नशाखोरी के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई करते हुए भारी मात्रा में अवैध शराब बरामद की है.

आपको बता दें कि दिनांक 26 जनवरी को पूरा भारत वर्ष बड़े धूमधाम से गणतंत्र दिवस मना रहा है, आज समस्त भारत में सरकार  द्वारा ड्राई डे घोषित है, क्राइम ब्रांच DLF की टीम को खबर लगी कि कुछ लोग इस अवसर का फायदा उठाकर अवैध शराब बेचकर मोटा मुनाफा कमा रहे हैं, इसी सूचना के आधार पर कार्यवाही की गयी.

पुलिस कार्यवाही:

पुलिस उपायुक्त अपराध फरीदाबाद के दिशा निर्देश पर कार्यवाही करते हुए क्राइम ब्रांच डीएलएफ प्रभारी इंस्पेक्टर नवीन कुमार की टीम ने फरीदाबाद के गांव फतेहपुर चंदेला जोकि थाना एनआईटी के क्षेत्र में आता है  के रहने वाले कर्मवीर पुत्र संतराम उर्फ सत्ता के मकान पर रेड की, वहां पर करीब 70 पेटी अवैध इंग्लिश व देसी शराब का स्टॉक कर रखा था, इस ऑपरेशन में एक्साइज टीम, फरीदाबाद थाना एनआईटी एवं महिला थाना एनआईटी की टीम की मदद ली गयी, मकान के अन्दर से अवैध शराब बरामद कर आरोपी कर्मवीर के विरुद्ध थाना एनआईटी फरीदाबाद में मुकदमा दर्ज करवाया गया है.

मुकदमा न0 32 दिनांक 26.01.19 धारा 61-1-14 Ex. Act थाना NIT फरीदाबाद

पुलिस टीम:

इंस्पेक्टर नवीन कुमार एसआई जमील अहमद, एसआई असरूद्दीन ,एएसआई अश्वनी कुमार, एचसी ईश्वर सिंह, सिपाही नितिन कुमार, सिपाही प्रवीण कुमार , सिपाही मनोज कुमार सिपाही प्रीतम, सिपाही संदीप.

बरामदगी:

1. 32 पेटी देशी शराब
2. 38 पेटी अंग्रेजी शराब

एक्सीडेंट में घायल युवक को बचाने वाले ऑटो-चालक को CP ने डिप्टी स्पीकर के हाथों करवाया सम्मानित

police-commissioner-sanjay-kumar-cash-price-auto-driver-for-saving-life

फरीदाबाद: पुलिस आयुक्त संजय कुमार ने एक अच्छी पहल की है, घायल बाइक सवार को अस्पताल पहुंचाने वाले ऑटो चालक साहिल को गणतंत्र दिवस के शुभ अवसर पर मुख्य अतिथि संतोष यादव के हाथों सम्मानित करवाया. ऑटो चालक को ईनाम के तौर पर ₹5000 रुपया कैश एवं प्रशंसा पत्र दिया गया।

पुलिस कमिश्नर ने यह भी कहा की घायलों को अस्पताल पहुंचाने वाले लोगों को आगे भी सम्मानित किया जाएगा.

आपको बताते चलें कि दिनांक 22 जनवरी 2019 को NH-3 में डीएवी कॉलेज के नजदीक एक बाइक सवार स्लिप होकर सड़क पर गिरकर गंभीर रूप से घायल हो गया था। 

वहां पर मौजूद भीड़ घायल को देखती रही लेकिन किसी ने भी घायल बाइक सवार को अस्पताल पहुंचाने की कोशिश नहीं की।

घायल की मदद के लिए भगवान बनकर ऑटो चालक साहिल वहां पर आया और उसने घायल को देखकर तुरंत ऑटो में बैठी सवारी को बिना पैसों की परवाह किए उतार दिया और घायल को ऑटो में लेकर बीके अस्पताल में एडमिट कराया।

ज्यादा चोट आने की वजह से घायल बाइक सवार को दिल्ली के ट्रॉमा सेंटर रेफर कर दिया गया था। घायल व्यक्ति की पहचान आजाद नाम एवं 22 साल उम्र से की गई है।

ऑटो-चालक के अच्छे काम से खुश थे CP

पुलिस आयुक्त ने 70वें गणतंत्र दिवस के मौके पर  घायल बाइक सवार को अस्पताल पहुंचाने वाले ऑटो ड्राइवर साहिल को उसके द्वारा किए गए सराहनीय कार्य के लिए आज  मुख्य अतिथि संतोष यादव (डिप्टी स्पीकर हरियाणा विधानसभा) के हाथो  ₹5000 रुपए कैश एवं प्रशंसा पत्र देकर सम्मानित कराया है।

पुलिस आयुक्त संजय कुमार ने कहा कि ऑटो चालक साहिल ने बहुत ही प्रशंसा के योग्य कार्य किया है।

उन्होंने कहा कि ऑटो चालक साहिल के द्वारा किया गया उत्कृष्ट कार्य और लोगो के लिए प्रेरणा का काम करेगा। अन्य लोग भी साहिल की तरह घायल लोगों को अस्पताल पहुंचाने का कार्य करेंगे। फरीदाबाद पुलिस पहले भी एक्सीडेंट में घायल  को अस्पताल पहुंचाने वाले को एक हजार रुपए इनाम देती रही है, लेकिन आज हम उसको ₹5000 का इनाम दे रहे हैं। 

उन्होंने कहा कि चौकी नंबर 3 में  तैनात  एड कांस्टेबल गाजी राम को भी प्रशंसा पत्र नकद इनाम दिया जाएगा। जिसने घायल युवक की मोटरसाइकिल के नंबर से नंबर के आधार पर उसका पता ढूंढ कर उसके परिवार को सूचित किया। घायल युवक अभी सफदरजंग ट्रामा सेंटर में उपचाराधीन है

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि ऑटो चालक साहिल संजय कॉलोनी एसजीएम नगर का रहने वाला है जो ऑटो चला कर अपने परिवार का गुजारा करता है।

जनता से अपील:

पुलिस आयुक्त संजय कुमार ने जनता से अपील करते हुए कहा कि गणतंत्र दिवस के उपलक्ष में नयी शुरुआत करें और ट्रैफिक नियमों का पालन शुरू कर दें. उन्होंने बताया कि घायल बाइक सवार आजाद ने अगर हेलमेट लगाया होता तो उसको अधिक चोट नहीं आती.


उन्होंने कहा कि दुपहिया वाहन पर चलते समय हेलमेट का इस्तेमाल करें ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन ना करें, एक अच्छे नागरिक होने का परिचय दे।

पुलिस और गौ-रक्षकों ने गौ-तस्करों का वाहन पकड़कर बचाई 7 गायों की जान

nuh-police-and-gau-taskar-caught-gau-taskar-vehicle-save-7-cow-life

फरीदाबाद: दिनांक 25 जनवरी 2019 को गौ-टास्क इंचार्ज बलबीर व सतबीर को सूचना मिली कि मेवात के कंसाली में एक कैंटर गाड़ी गौ-वंश भरकर गौ-कसी के लिए आएगी.

सूचना सही मान बजरंग दल मानेसर की टीम के साथ नाकेबन्दी की गई. काफी मेहनत करके गाडी पकड़ी गयी जिसमें 7 गोवंश बुरी तरह बांन्ध कर रखे हुवे थे जिनको गोशाला भेज दिया गया.

मौके पर CS स्टाफ नूह से - बलबीर इंचार्ज, सतबीर ASI, मनोज, भूपेंदर, सूरज, धर्मबीर, प्रवीण,राकेश, बजरंग दल मानेसर से मंगल पचगांव ,यशपाल, डॉ प्रदीप, दीपक, संदीप मानेसर, मोनू मानेसर उपस्थित थे.

इन 6 पुलिसकर्मियों का हुआ प्रमोशन, ASI से बनेंगे SI

faridabad-police-6-asi-promoted-to-si-by-police-commissioner-sanjay-kumar

फरीदाबाद: गणतंत्र दिवस के मौके पर पुलिस आयुक्त संजय कुमार ने पुलिस कर्मचारियो को एएसआई से एसआई के पद पर पदोन्नत किया है।

1 एएसआई आस मोहम्मद।
2 एएसआई सम्मसुदीन।
3 एएसआई कैलाश कुमार।
4 एएसआई बलजीत सिंह।
5 एएसआई हरीश चंद।
6 एएसआई नरेश।

उपरोक्त सभी मुलाजमान को पदोन्नत कर पुलिस आयुक्त महोदय ने उनको शुभकामनाएं दी हैं। (PRO)

गणतंत्र दिवस पर इन पुलिसकर्मियों को किया जाएगा सम्मानित

faridabad-policemen-will-be-honored-by-chief-guest-republic-day

फरीदाबाद: गणतंत्र दिवस के मौके पर मुख्य अतिथि द्वारा पुलिस अधिकारी व कर्मचारियो को सम्मानित किया जाऐगा। विभिन्न थाना, चौकी व क्राईम ब्रांच में नियुक्त पुलिस अधिकारियों और कर्मचारियों को उनकी डयुटी के दौरान किए गए अति सराहनीय कार्य के लिए गणतंत्र दिवस के मौके पर मुख्य अतिथि द्वारा सम्मानित किया जाऐगा।

सम्मानित होने वाले पुलिस कर्मीयों की सूची इस प्रकार है।  

1. श्रीमति पूजा डाबला, सहायक पुलिस आयुक्त, महिला विरुद्व अपराध, फरी0।
2. उप निरीक्षक विजय कुमार 
3. उप निरीक्षक जामील अहमद 
4. उप निरीक्षक ब्रहमप्रकाश 
5. ई/एसआई भगत सिंह न0 1533/सी
6. सहायक उप निरीक्षक वजीर सिंह 
7. सहायक उप निरीक्षक जलाउददीन 
8. सहायक उप निरीक्षक अशोक कुमार 
9. सहायक उप निरीक्षक विजय कुमार
10. सहायक उप निरीक्षक मुकेष कुमार 
11. प्रधान सिपाही जगदीप सिंह 
12. सिपाही चांद सिंह 
13. प्रधान सिपाही दलवीर 

दारू पीकर अपनी खोपड़ी में गोली मारने वाला था विजय, 3 मिनट पहले पहुँच गयी DLF CIA की टीम, पढ़ें

lakshman-murder-case-accused-vijay-want-to-suicide-dlf-cia-arrested-him

फरीदाबाद: लक्ष्मण मर्डर केस के आरोप विजय उर्फ़ सन्नी ने बड़ा खुलासा किया है. आरोपी ने बताया कि उसे अहसास हो गया था कि फरीदाबाद पुलिस उसे कभी भी गिरफ्तार कर सकती है इसलिए पकडे जाने से पहले उसनें आत्महत्या का प्लान बनाया था, प्लान के मुताबिक़ आरोपी दारू के नशे में टुन्न होकर अपनी खोपड़ी में गोली मारने वाला था, सिर्फ तीन मिनट पहले क्राइम ब्रांच की टीम दरवाजे पर खड़ी थी, पुलिस ने दरवाजा नॉक किया, आरोपी ने दरवाजा खोला, क्राइम ब्रांच ने आरोपी को धर दबोचा. देखिये ये वीडियो -



आरोपी ने बताया कि मृतक लक्ष्मण ने उसके पारिवारिक मामलों में दखल देकर उसका जीना हराम कर रखा था, उसकी माँ के साथ भी लक्ष्मण के नजायज सम्बन्ध थे, वह उसकी जमीन जायदाद हड़पना चाहता था, इसी वजह से उसनें एक साल पहले लक्ष्मण को मारने की तैयारी की, उत्तर प्रदेश से पिस्टल लाया और लक्ष्मण पर मौका देखकर पांच गोलियां दाग दी.

आपको बताते चलें कि दिनांक 19 जनवरी  2019 की रात को लगभग 7 बजे लक्ष्मण पुत्र तेजपाल शर्मा निवासी कैलाश नगर पलवल को थाना SGM नगर इलाके में गोली मारकर हत्या की गई थी.

मृतक लक्ष्मण को उसी की गाडी में आरोपी विजय ने एक के बाद एक कुल पांच गोलियाँ मारकर फरार हो गया था व अपने फ़ोन से अपनी माँ ममता, कंचन शर्मा, स्वामी महिपाल पुर व सोनू अपनी बुआ के लड़के को भी मारने के लिए धमकी दी थी जिसका ऑडियो भी वायरल हो चुका है।

इस संदर्भ में थाना SGM नगर फरीदाबाद में मुकदमा नंबर 38 दिनांक 19 जनवरी 2019 धारा 302 IPC  और 25-54-59 A.ACT के तहत दर्ज किया गया था। 

डीएलएफ क्राइम ब्रांच को सौंपी गई जांच की कमान

पुलिस कमिश्नर संजय कुमार व पुलिस उपायुक्त अपराध लोकेन्द्र सिंह के दिशा निर्देश पर कार्यवाही करते हुए क्राइम ब्रांच DLF प्रभारी नवीन कुमार व उनकी टीम के उप निरीक्षक ब्रहम प्रकाश, सहायक उपनिरीक्षक कप्तान सिंह, आनंद सिंह, हवलदार कृषण ,सिपाही नसीब,सिपाही मनोज ,सिपाही आदित्य,सिपाही नितिन,सिपाही बिजेंद्र ,सिपाही प्रवीन,सिपाही प्रीतम ने सराहनीय कार्य करते हुये विजय उर्फ़ सन्नी को लक्ष्मण हत्या कांड में गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की।

पुलिस कार्रवाई की डिटेल

अपराध शाखा DLF फरीदाबाद प्रभारी निरीक्षक नवीन कुमार ने बताया कि आरोपी को  रानी गार्डन गीता कॉलोनी दिल्ली से गिरफ्तार करके पूछताछ में पता चला कि पिछले 5-6 साल से  लक्ष्मण हमारे घरेलू मामलो में दखलंदाजी करता था, जिस कारण आरोपी विजय अपने दिमाग में लक्ष्मण के प्रति रंजिश पालने लगा और लक्ष्मण को अपने रास्ते से हटाने के लिए मोके की तलाश करने लगा और लगभग 1 साल पहले ही लक्ष्मण को मारने की योजना बना ली।

आरोपी ने बताया कि लक्ष्मण मेरी माँ को यह कहता था कि अपने बेटे से अपना हिस्सा ले और मेरे साथ चल. मैंने SGM नगर स्थित अपना मकान 23 लाख रूपए में बेचा था, लक्ष्मण कहता था कि आधा हिस्सा वह अपनी माँ को दे जिसके लिए लक्ष्मण ने मेरी माँ से कोर्ट का नोटिस भी दिलवाया था लक्ष्मण हमारी जायदाद हडपना चाहता था।

आरोपी ने बताया कि लक्ष्मण को रास्ते से हटाने के लिए मैं UP से एक पिस्टल व 20 जिन्दा कारतूस लाया था जिसमे से 1 गोली मैंने दिनांक 08.03.18 को NIT में 1 कुत्ते को भी मार दी थी जिसका भी मेरे खिलाफ मुकदमा दर्ज है, जिसमे मैं अभी तक गिरफ्तार नही हुआ हूँ और कुछ गोलियां मैंने दिल्ली में हवाई फायर कर दी थी. दिनांक 19.01.19 को मैं दोपहर लगभग 2 बजे फरीदाबाद आ गया था और लक्ष्मण की तलाश कर रहा था।

आरोपी ने कहा कि उसे लक्ष्मण की गाडी का  न. 9343 याद था व मैं उसका पीछा करने लग गया और शाम को लगभग 7 बजे जैसे ही लक्ष्मण भूजल भवन NH-4 से गाँधी कॉलोनी की तरफ मुड़ा तो मैंने उसके छोटे हाथी के सामने अपनी बुलेट बाइक लगा दी और उसको रुकवा लिया और लक्ष्मण के ऊपर लगातार 5 गोलियां दाग दी और मैं मौके से फरार हो गया था।
क्राइम ब्रांच प्रभारी इंस्पेक्टर नवीन ने बताया कि आरोपी विजय उर्फ़ सन्नी को कल दिनांक 22.01.19 को गिरफ्तार किया जा चुका है और वारदात में प्रयोग किया गया पिस्टल और कारतूस बरामद किये जा चुके हैं।

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि आरोपी को आज अदालत में पेश कर 2 दिन के पुलिस रिमाण्ड पर लिया गया है, रिमांड के दौरान वारदात में प्रयोग बुलेट बाइक बरामद की जायेगी। आरोपी के खिलाफ कई और मामले भी दर्ज हैं जिनमेंं भी अभी तक गिरफ्तार नही हुआ है उनके बारे में भी गहनता से पूछताछ की जाएगी । (PRO CP Office Fbd).