Main Section

Palwal Assembly

Showing posts with label Faridabad Police. Show all posts

पुलिस का सन्देश, जनता रहे सावधान, कामवाली या तो खुद कर रही चोरी या दूसरों से डलवाती है डाका

faridabad-police-give-to-awareness-massage-for-public-news-in-hindi

फरीदाबाद: पुलिस ने फरीदाबाद के शहर वासियों से अपील की है कि वह अपने घरों में,  घरेलू सहायिका रखते वक्त उसका चरित्र सत्यापन (पुलिस वेरिफिकेशन) कराना अति आवश्यक समझे। यह आपकी आपके परिवार की सुरक्षा के लिय जरुरी है।

पुलिस सत्यापन नहीं कराना कानून की अवहेलना है इस संबंध में कानूनी कार्रवाई की जा सकती है।

अक्सर देखने में आया है कि घरेलू सहायिका कुछ दिन काम करती हैं और घर में  चोरी करके फरार हो जाती हैं या किसी अपने जानकार के माध्यम से चोरी करवा देती हैं। 

ATM बूथ के अन्दर पराए लोगों से ना मांगे मदद

कोई भी व्यक्ति अपने एटीएम कार्ड के माध्यम से जब भी किसी एटीएम बूथ से ट्रांजैक्शन करे तो अपना पिन किसी को ना बताएं ना दिखाएं।

ट्रांजैक्शन करने में असमर्थ होने पर किसी भी अपरिचित व्यक्ति की सहायता ना लें वह अपरिचित धोखेबाज, चीटर, फ्रॉड हो सकता है और आपके एटीएम कार्ड को बदल सकता है या आपके खाते से पैसा उड़ा सकता है।

इस संबंध में कभी मदद लेनी पड़े तो बैंक के कर्मचारियों एटीएम में बुथ में मौजूद गार्ड की सहायता लें, जनहित में जारी.

नीलम चौक पर CCTV से लैश, ट्रैफिक सहायता बूथ का CP संजय कुमार ने किया उद्घाटन, पढ़ें फायदे

police-commissioner-sanjay-kumar-traffic-assistant-booth-neelam-chowk

फरीदाबाद: पुलिस कमिश्नर फरीदाबाद संजय कुमार ने आज नीलम चौक पर फ्लाईओवर के नीचे ट्रैफिक सहायता बूथ का उद्घाटन किया. अब तक फरीदाबाद में इस तरह के 6 बूथ बनकर तैयार हैं, कुल 32 बूथ बनाए जाने हैं, सभी बूथों के चारों तरफ CCTV कैमरे लगे हैं जिनकी नजर से असामाजिक तत्वों एवं अपराधियों का बचकर निकाना मुश्किल होगा.

बूथ के चारों तरफ चार सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं ट्रैफिक व्यवस्था के अलावा कानून  क्राइम कंट्रोल करने में मदद मिलेगी। सीसीटीवी कैमरे का 15 दिन का रहेगा बैकअप इन सीसीटीवी का कंट्रोल एसीपी ट्रैफिक के ऑफिस से रहेंगे कनेक्टेड.

दिनांक 07.07.2019 को पुलिस आयुक्त श्री संजय कुमार ने भारत सुविधा कम्पनी के द्वारा तैयार किए गए 6 ट्रैफिक बूथ को उद्धाटन किया है।

cp-sanjay-kumar-news

इस दौरान पुलिस की तरफ से डीसीपी ट्रेफिक लोकेंद्र सिंह, एसीपी ट्रैफिक रविंद्र कुंडू, ट्रैफिक एसएचओ अशोक कुमार, TI  शैलेंद्र , TI जय कुमार, सब इंस्पेक्टर धनप्रकाश सब इंस्पेक्टर हुकम सिंह  एवं अन्य पुलिस अधिकारी मौजूद थे। 

भारत सुविधा कंपनी की तरफ से श्याम, हरीश कुमार, मयंक, दीपक कुमार इत्यादि मौजूद थे।

पुलिस आयुक्त ने भारत सुविधा कंपनी की तरफ से तैयार किए गए पुलिस ट्रैफिक बूथ का क्राउन इंटीरियर मॉल, अज रौंदा चौक, नीलम चौक, बाटा चौक, बड़खल चौक, सूरजकुंड चौक पर लगाए गए ट्रैफिक सहायता बूथ का उद्घाटन किया है।

आपको बताते चलें कि इन ट्रेफिक बूथ के चारों तरफ सीसीटीवी कैमरा लगे हुए हैं जिनको एसीपी ट्रैफिक के ऑफिस से जोड़ा गया है।

पुलिस आयुक्त महोदय ने सुविधा कंपनी को धन्यवाद देते हुए कहा कि ट्रैफिक बूथ के द्वारा ट्रैफिक को सुचारू रूप से चलाने में एवं क्राइम को कंट्रोल करने में सहायता मिलेगी।

ट्रैफिक बूथ में दो बेड, स्टेचर, फायर को कंट्रोल करने के लिए सभी इक्विपमेंट, रस्सी, इत्यादि से लैस रहेगा।

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि अभी फिलहाल छह जगह ट्रैफिक बूथ लगाए गए हैं इसके बाद 32 जगहों पर और ट्रैफिक सहायता बूथ लगाए जाएंगे।

इन इन जगहों पर भी लगाए जाएंगे ट्रैफिक सहायता बूथ:-

सराय चौक, एनएचपीसी चौक, डीएलएफ चौक, ओल्ड फरीदाबाद चौक, सेक्टर 15 चौक, क्राउन प्लाजा, पाली चौक, मानव रचना अरावली स्कूल चौक, नहर पार चौक, बीपीटीपी क्रॉसिंग चौक, इत्यादि जगहों पर भी कुल 32 और जगह पर स्थापित किए जाएंगे।

उन्होंने बताया कि ट्रैफिक पुलिस की पहल भारत सुविधा कंपनी के द्वारा शुरू की गई यह एक अच्छी पहल है जिसके द्वारा ट्रैफिक पुलिसकर्मी ट्रैफिक को सुचारू रूप से चलाने में मदद मिलेगी साथ ही ट्रैफिक बूथ पर लगे सीसीटीवी कैमरा से क्राइम कंट्रोल में भी मदद मिलेगी।

बदमाशों और शरारती तत्वों को दबोचने के लिए फरीदाबाद पुलिस ने चलाया नाइट डोमिनेशन चेकिंग अभियान

faridabad-police-started-night-domination-checking-abhiyan-news

फरीदाबादः पुलिस आयुक्त संजय कुमार के आदेशानुसार दिनांक 1/2 जून की रात्री पुलिस कमिश्नरेट फरीदाबाद द्वारा 10 बजे रात्री से 4 बजे प्रातः नाईट डोमिनेशन अभियान चलाया गया।

पुलिस आयुक्त ने नाइट डोमिनेशन के दौरान आवश्यक दिशा निर्देश देते हुए कहा कि रात के समय चलने वाले सभी वाहनों की चेकिंग करे। कोई संदिग्ध और अपराधी किस्म का व्यक्ति बचकर भागने ना पाए।

सभी पर्यवेक्षण अधिकारियों सभी क्राईम ब्रांच एंव सभी थाना प्रबन्धक, सभी चौकी प्रभारियो ने नाका लगाकर वाहनों को व संदिग्ध व्यक्तियों को चेक किया और अपने-2 क्षेत्रो में पङने वाले होटल, रेस्टोरेड, धर्मशाला, बस अडडा, रेलवे स्टेशन व सार्वजनिक स्थानो को चैक किया गया।

फरीदाबाद पुलिस द्वारा नाईट डोमिनेशन के दौरान कुल 3572 छोटे- बङे वाहनो को चैक किया गया। जिसमें 1248 टू व्हीलर, 1104 कारे व 707 लाइट वेहिकल और 513 हैवी व्हीकल चेक किए गये।

चेकिंग के दौरान मोटर व्हीकल एक्ट  व अन्य कानुन के तहत 153 हलके व भारी वाहनों के ड्राइवर के खिलाफ कार्रवाई की गई । 

नाइट डोमिनेशन के दौरान की गई चेकिंग में 152 वाहन चालको के चालान किए गए तथा वाहनो के दस्तावेज न होने पर इम्पाऊड भी किया गया। 

गिरफतार आरोपियों से 360 बोतल देसी शराब व 7,000/- रूपये की राशी भी पुलिस द्वारा बरामद की गई ।

अभियान के तहत 157 होटल रेस्टोरेंट ढाबा मेट्रो स्टेशन बस स्टैंड इत्यादि सार्वजनिक स्थानो को  चैक कर संदिग्ध  पाए जाने वाले 262 लोगों के पर्चे अजनबी (स्ट्रेंजर रोल) काट कर उचित कानूनी कार्रवाई की गई।

QRG हॉस्पिटल ने पुलिसवालों को दिए हार्ट अटैक के दौरान मरीजों की जान बचाने के टिप्स

qrg-provide-faridabad-police-life-saving-tips-during-heart-attack-news

फरीदाबाद: आज सेक्टर 16 क्यूआरजी हॉस्पिटल में एसीपी हेड क्वार्टर श्री रविंद्र सिंह तोमर एसीपी ट्रैफिक श्री रविंद्र सिंह कुंडू सहित करीब डेढ़ सौ पुलिसकर्मियों को क्यूआरजी हॉस्पिटल के डॉक्टरों द्वारा बेसिक लाइफ सपोर्ट के बारे में ट्रेनिंग दी गई डॉ हिमांशु दीवान  डायरेक्टर  क्रिटिकल केयर  हेल्थ, इसके अलावा  डॉक्टर जितेंद्र  और डॉक्टर प्रबल राय  डॉक्टर गजेंद्र गोयल और डॉक्टर युवराज के द्वारा भी हेल्थ टिप्स ट्रेनिंग में हिस्सा लेने वाले पुलिसकर्मियों को हेल्थ टिप्स बताए गए।

 राज हॉस्पिटल की तरफ लगाए गए इस  परीक्षण शिविर में  श्री दीपक तिवारी  के अलावा  हॉस्पिटल का टेक्निकल स्टाफ  भी मौजूद था।

आजकल देखने में आता है की रोड एक्सीडेंट में अत्यधिक जाने चली जाती हैं, जिसमें  रोड एक्सीडेंट में घायल व्यक्ति को तुरंत फर्स्ट एड ना मिलना और हॉस्पिटल में पहुंचने में देरी के कारण ऐसा होता है।

आज इसी के चलते एसीपी हेड क्वार्टर श्री रविंद्र सिंह तोमर की अध्यक्षता में व एसीपी ट्रैफिक श्री रविंद्र सिंह कुंडू सहित ट्रैफिक व अन्य करीब डेढ़ सौ पुलिसकर्मियों ने डॉक्टरों द्वारा बेसिक लाइफ सपोर्ट ट्रेनिंग में हिस्सा लेकर जानकारी ली कि कैसे हार्ट अटैक आए व्यक्ति को फर्स्ट एड के तौर पर कैसे मदद दी जा सकती है और एक्सीडेंट में घायल को प्राथमिक उपचार देकर कैसे बचाया जा सकता है। 

Breaking, महिला को बेल्ट से पीटने वाले पुलिसकर्मियों को मिल गई बेल, नहीं भेजे गए जेल

faridabad-police-belt-kand-accused-get-bail-from-faridabad-court

फरीदाबाद: अभी अभी एक ब्रेकिंग खबर आई है. आदर्श कॉलोनी थाने में एक महिला को बेल्ट से पीटने वाले पांच पुलिसकर्मियों को फरीदाबाद कोर्ट से बेल मिल गई है. दो आरोपियों की कल जमानत हुई थी जबकि तीन आरोपियों की आज जमानत हो गई.

आपको बता दें कि आदर्श नगर थाने के पांच पुलिसकर्मियों के खिलाफ IPC की धारा 342/323/509 के तहत मामला दर्ज किया गया था, हालाँकि यह विल्कुल हल्की Bailable धाराएं हैं, इनमें या तो 1-3 साल तक की सजा हो सकती है, या एक हजार रुपये जुर्माना लगाया जा सकता है या सजा के साथ साथ जुर्माना भी लगाया जा सकता है.

इससे पहले हरियाणा के Addl DGP Law & Order नवदीप विर्क ने भी इस मामले में सख्त एक्शन लेने का भरोसा दिया था लेकिन दोषी पुलिसकर्मियों को आसानी से बेल मिल गई.
दर्ज हुई थी बेलेबल धाराओं में FIR

IPC 342

इस धारा के अंतर्गत किसी के साथ गलत बर्ताव करने पर दोषी व्यक्ति को एक साल की सजा हो सकता है, या एक हजार रुपये का जुर्माना हो सकता है, या दोनों हो सकते हैं. यह जमानती धारा है, बेल मिल सकती है लेकिन बेल देना या ना देना जज के विवेक पर निर्भर करता है.

IPC 323

जान बूझकर किसी को चोट पहुँचाने पर इस धारा के अंतर सजा मिली है जिसमें एक साल की सजा, एक हजार रुपये का जुर्माना हो सकता है, या दोनों हो सकते हैं. यह जमानती धारा है, बेल मिल सकती है लेकिन बेल देना या ना देना जज के विवेक पर निर्भर करता है.

IPC 509

किसी महिला के आत्मसम्मान, स्वाभिमान को ठेस पहुंचाने, महिला का अपमान करने, गलत व्यवहार करने पर इस धारा के अंतर्गत सजा मिलती है जिसमें तीन साल तक की सजा, या जुर्माना या दोनों हो सकते हैं, यह भी जमानती धारा है, कोर्ट में जमानत मिल सकती है, लेकिन बेल देना या ना देना जज के विवेक पर निर्भर करता है.

हल्की धाराओं में कैसे मिलेगी कड़ी सजा

उपरोक्त धाराएं बेलेबल धाराएं हैं, मतलब कोर्ट से जमानत मिल सकती है. बड़ी सजा भी नहीं है, अब सवाल उठ रहे हैं कि हल्की धाराएं लगाकर पुलिस इन्हें कड़ी सजा कैसे दे सकती है. इसमें तो पुलिसकर्मियों को आसानी से जमानत मिल जाएगी, जेल भी नहीं जाना पड़ेगा. हो सकता है कि पुलिस कोई और धारा जोड़े जिसमें कड़ी सजा का प्रावधान हो.

वीडियो देखकर लोगों का खून खौल रहा है, पूरे देश में यह वीडियो वायरल हो रहा है, पूरा देश इन्हें कड़ी सजा देने की मांग कर रहा है. वीडियो में महिला के खिलाफ आपत्तिजनक शब्द कहे गए हैं, गालियाँ बाकी गयी हैं. कमर से नीचे प्राइवेट पार्ट पर बेल्ट से कई बार हमला किया गया है. उसके सम्मान को तार तार किया गया है, पुलिसवाले रावणों की तरह हंस रहे हैं. अब देखते हैं पुलिस इन्हें कड़ी सजा कैसे देती है. कड़ी सजा मिलने पर ही पुलिस समाज में कडा सन्देश जाएगा और ऐसी हरकत करने से पहले लोग लाख बार भी सोचेंगे. देखें वीडियो -



घटना की जानकारी

यह घटना पिछले साल अक्तुबर 2018 की है, आदर्श नगर पुलिस को एक सूचना मिली थी कि पार्क में एक आदमी और औरत कुछ गलत काम कर रहे है, जब पुलिस मौके पर पहुंची तो पुलिस को देख कर व्यक्ति फरार हो गया था और वहां मौजूद महिला से पुलिसकर्मियों ने पूछताछ के दौरान अभद्र व्यवहार एवं मारपीट की थी। जिसका एक वीडियो भी वायरल हुआ है।

पुलिस आयुक्त ने कहा कि पुलिसकर्मियों के द्वारा किया गया कार्य अशोभनीय व नियमों के विरुद्ध है ऐसे कार्य से पुलिस की छवि धूमिल होती  है।

उन्होने कहा कि अगर इस तरह की कोई भी शिकायत मिली थी, नियम अनुसार  महिला पुलिस का सहयोग लेना चाहिए एवं जांच और पूछताछ भी महिला पुलिस कर्मी द्वारा ही की जानी चाहिए थी।

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि घटना में संलिप्त 5 पुलिसकर्मी एचसी बलदेव, रोहित  एवं  एसपीओ  कृष्ण, हरपाल, और दिनेश के खिलाफ मारपीट , महिला के सम्मान को ठेस पहुंचाने इत्यादि धाराओं के अंतर्गत थाना आदर्श नगर में मुकदमा दर्ज किया गया है।

वायरल विडियों पर सज्ञांन लेते हुए  पुलिस आयुक्त  संजय कुमार ने तुरन्त प्रभाव से  घटना मे संलिप्त दो हेड कांस्टेबल पुलिसकर्मीयों को सस्पेंड एवं अन्य 3 एस.पी.ओ को तुरन्त प्रभाव से बर्खास्त कर दिया गया है।

उन्होने बताया कि पीडित महिला की तलाश की जा रही है, उससे संपर्क करके ब्यान दर्ज किए जाएगें और मामले की गहनता से पूछताछ कर जांच की जाएगी और पीडित महिला को हरसंभव न्याय दिलवाया जाएगा।

सीखो सबक: पुलिसवाले महिला को बेल्ट से मार रहे थे, किसी ने चुपके से VIDEO बना लिया, बुरे फंसे..

faridabad-adarsh-nagar-thana-women-beating-case-with-belt-by-police

फरीदाबाद: कुछ पुलिसकर्मियों की करतूतों की वजह से पूरी पुलिस बदनाम हो जाती है और जनता के मन में पुलिस का खौफ पैदा हो जाता है, साथ ही पुलिस पर से भरोसा उठ जाता है. लोग थाने में जाने से डरते हैं. फरीदाबाद में कुछ पुलिसकर्मियों की करतूत सामने आयी है जिसकी वजह से फरीदाबाद पुलिस की छवि खराब हो रही है हालाँकि पुलिस कमिश्नर ने दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ FIR दर्ज करने और कानूनी कार्यवाही के आदेश दिए हैं, अगर इन पुलिसकर्मियों के खिलाफ कडा एक्शन हो गया तो ऐसे पुलिसकर्मियों को सबक मिलेगा और वे जनता से दुर्व्यवहार करना छोड़ देंगे, लेकिन अगर इन पुलिसकर्मियों को सजा नहीं मिली तो समाज में अच्छा सन्देश नहीं जाएगा और जनता का पुलिसकर्मियों से भय बना रहेगा.

यह मामला पिछले साल अक्टूबर 2018 का है. महिला को पार्क में किसी पुरुष के साथ देखा गया था.

कानून के मुताबिक़ बिना थोड वजह के पुलिस किसी को अरेस्ट ही नहीं कर सकती, अगर किसी महिला को अरेस्ट करना है तो महिला पुलिस का होना जरूरी है, इसके अलावा महिला पुलिस ही महिला से पूछताछ कर सकती है लेकिन आदर्श नगर पुलिस थाने के कर्मचारियों ने खुद ही महिला को पकड़ लिया, खुद ही उससे पूछताछ शुरू कर दी, यही नहीं महिला की बेल्ट से पिटाई की और उसके सामने अपशब्द भी बके गए.

policemen-beating-women

पुलिसवालों की इस करतूत की किसी ने चुपके से वीडियो बना ली. आरोपी पुलिसवालों ने सपने में भी नहीं सोचा होगा कि कोई उनकी करतूत को रिकॉर्ड कर लेगा और सोशल मीडिया पर वायरल कर देगा जिसके बाद उनकी नौकरी भी जा सकती है और अब यही हो रहा है.

अक्टूबर 2018 वाला वीडियो सोशल मीडिया पर अब वायरल हो रहा है जिसके बाद फरीदाबाद पुलिस कमिश्नर संजय कुमार एक्शन में आये और दो पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया साथ ही पांच पुलिसकर्मियों के खिलाफ FIR दर्ज करके कानूनी कार्यवाही के आदेश दिए हैं. इसके साथ ही 3 एस.पी.ओ को बर्खास्त कर दिया गया है।

इस घटना से हर किसी को सबक लेना चाहिए, गलत काम का गलत नतीजा होता है, पहले के जमाने में कैमरे नहीं होते थे जिसकी वजह से जुर्म छुप जाते थे लेकिन आज के जमाने में हर चौराहे पर कैमरे लगे हैं, सबकी जेब में कैमरे हैं, लोग चुपके से वीडियो बना लेते हैं, इसलिए गलत काम करने से पहले 100 बार सोचना चाहिए.



घटना की जानकारी

यह घटना पिछले साल अक्तुबर 2018 की है, आदर्श नगर पुलिस को एक सूचना मिली थी कि पार्क में एक आदमी और औरत कुछ गलत काम कर रहे है, जब पुलिस मौके पर पहुंची तो पुलिस को देख कर व्यक्ति फरार हो गया था और वहां मौजूद महिला से पुलिसकर्मियों ने पूछताछ के दौरान अभद्र व्यवहार एवं मारपीट की थी। जिसका एक वीडियो भी वायरल हुआ है।

पुलिस आयुक्त ने कहा कि पुलिसकर्मियों के द्वारा किया गया कार्य अशोभनीय व नियमों के विरुद्ध है ऐसे कार्य से पुलिस की छवि धूमिल होती  है।

उन्होने कहा कि अगर इस तरह की कोई भी शिकायत मिली थी, नियम अनुसार  महिला पुलिस का सहयोग लेना चाहिए एवं जांच और पूछताछ भी महिला पुलिस कर्मी द्वारा ही की जानी चाहिए थी।

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि घटना में संलिप्त 5 पुलिसकर्मी एचसी बलदेव, रोहित  एवं  एसपीओ  कृष्ण, हरपाल, और दिनेश के खिलाफ मारपीट , महिला के सम्मान को ठेस पहुंचाने इत्यादि धाराओं के अंतर्गत थाना आदर्श नगर में मुकदमा दर्ज किया गया है।

वायरल विडियों पर सज्ञांन लेते हुए  पुलिस आयुक्त  संजय कुमार ने तुरन्त प्रभाव से  घटना मे संलिप्त दो हेड कांस्टेबल पुलिसकर्मीयों को सस्पेंड एवं अन्य 3 एस.पी.ओ को तुरन्त प्रभाव से बर्खास्त कर दिया गया है।

उन्होने बताया कि पीडित महिला की तलाश की जा रही है, उससे संपर्क करके ब्यान दर्ज किए जाएगें और मामले की गहनता से पूछताछ कर जांच की जाएगी और पीडित महिला को हरसंभव न्याय दिलवाया जाएगा।

CP का एक्शन, महिला को बेल्ट से पीटने वाले 2 पुलिसकर्मी सस्पेंड, 5 पर FIR दर्ज करने के आदेश

cp-faridabad-suspend-2-policemen-beating-women-in-video-2018

फरीदाबाद: वायरल विडियों पर संज्ञान लेते हुए पुलिस आयुक्त ने 5 पुलिस कर्मियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के दिए निर्देश।

2 पुलिसकर्मी किए सस्पेंड, 3 एस.पी.ओ को किया गया बर्खास्त।

आप को बताते चले कि आज आदर्श नगर थाने में तैनात पुलिस कर्मियों के खिलाफ विडियों वायरल हुआ था जिसमें पुलिसकर्मी एक औरत को पीटते दिखाई दिए।

यह घटना पिछले साल अक्तुबर 2018 की है आदर्श नगर पुलिस को एक सूचना मिली थी कि पार्क में एक आदमी और औरत कुछ गलत काम कर रहे है जब पुलिस मौके पर पहुंची तो पुलिस को देख कर व्यक्ति फरार हो गया था और वहां मौजूद महिला से पुलिसकर्मियों ने पूछताछ के दौरान अभद्र व्यवहार एवं मारपीट की थी। जिसका एक वीडियो भी वायरल हुआ है।

पुलिस आयुक्त ने कहा कि पुलिसकर्मियों के द्वारा किया गया कार्य अशोभनीय व नियमों के विरुद्ध है ऐसे कार्य से पुलिस की छवि धूमिल होती  है।

उन्होने कहा कि अगर इस तरह की कोई भी शिकायत मिली थी, नियम अनुसार  महिला पुलिस का सहयोग लेना चाहिए एवं जांच और पूछताछ भी महिला पुलिस कर्मी द्वारा ही की जानी चाहिए थी।

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि घटना में संलिप्त 5 पुलिसकर्मी एचसी बलदेव, रोहित  एवं  एसपीओ  कृष्ण, हरपाल, और दिनेश के खिलाफ मारपीट , महिला के सम्मान को ठेस पहुंचाने इत्यादि धाराओं के अंतर्गत थाना आदर्श नगर में मुकदमा दर्ज किया गया है।

वायरल विडियों पर सज्ञांन लेते हुए  पुलिस आयुक्त  संजय कुमार ने तुरन्त प्रभाव से  घटना मे संलिप्त दो हेड कांस्टेबल पुलिसकर्मीयों को सस्पेंड एवं अन्य 3 एस.पी.ओ को तुरन्त प्रभाव से बर्खास्त कर दिया गया है।

उन्होने बताया कि पीडित महिला की तलाश की जा रही है, उससे संपर्क करके ब्यान दर्ज किए जाएगें और मामले की गहनता से पूछताछ कर जांच की जाएगी और पीडित महिला को हरसंभव न्याय दिलवाया जाएगा।

बेवफा पत्नी ने आशिक से पति को जंगल में मरवा दिया, कंकाल के जरिये Insp विमल कुमार ने सुलझाया केस

inspector-vimal-kumar-team-cia-sector-30-arrested-accused-fir-291

फरीदाबाद: क्राइम ब्रांच सेक्टर 30 के प्रभारी इंस्पेक्टर विमल कुमार और उनकी टीम को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है, विमल कुमार ने एक ब्लाइंड मर्डर केस सुलझाते हुए हत्या में शामिल महिला, उसके आशिक और एक अन्य आरोपी को गिरफ्तार किया है.

क्राइम ब्रांच सेक्टर 30 की टीम ने पुलिस कमिश्नर व, डीसीपी क्राइम साहब के आदेशानुसार व  एसीपी क्राइम साहब के दिशा निर्देशानुसार इस कहावत को सच कर दिखाया है कि कानून के हाथ बहुत लंबे होते हैं वो हर सूरत में गुनहगार तक पहुंच ही जाते हैं.

मृतक की पत्नी बसंती ने किया हत्या का खुलासा

करीब 2 साल पहले अपने ही पति को अपने आशिक व उसके दोस्त से मरवाने  वाली महिला से जब पूछताछ की गई तो उसने सनसनीखेज खुलासा किया. आरोपी बसन्ती ने बतलाया कि  मेरी व मेरे आशिक घनश्याम उर्फ घुटो की जान पहचान लखानी कंपनी में हुई थी, उस वक्त हम दोनों इकट्ठे काम करते थे. वहीं से हमारा प्यार परवान चढ़ा. मैंने घनश्याम से कहा की हम दोनों के बीच में मेरा पति मिंटू शर्मा रोड़ा बन गया है, जब तक यह रहेगा हम एक दूसरे के नहीं हो सकते. घनश्याम ने अपने दोस्त दीपक के साथ मिलकर मिंटू की बेरहमी से हत्या कर दी तथा उसके बाद मैंने व घनश्याम ने कालका मंदिर दिल्ली में जाकर एक दूसरे से शादी रचा ली, जबकि मिंटू शर्मा से मेरा एक बेटा भी है.

कैसे दिया गया हत्या की वारदात को अंजाम

प्यार में अंधे आरोपी घनश्याम उर्फ घूटो ने मृतक मिंटू शर्मा की पत्नी बसंती से शादी करने के लिए मिंटू शर्मा को रास्ते से हटाने की ठान ली. करीब 2 साल पहले एक दिन आरोपी घनश्याम उर्फ गुटों ने अपने दोस्त दीपक को इस प्लानिंग के बारे में बतलाया और बाजार से दो चाकू खरीदे, फिर शाम के समय  मिंटू शर्मा के घर जाकर  मिंटू को  शराब पीने के बहाने अपनी स्कूटी पर बैठा कर दूर बड़खल पहाड़ी पर स्थित प्रसोन मंदिर से ऊपर सुनसान जगह ले गया. वहां पर आरोपी घनश्याम,  आरोपी दीपक एवं मिंटू ने शराब पी. उसके बाद योजनानुसार दोनों आरोपी मिंटू शर्मा से कहासुनी व मारपीट करने लगे. मारपीट के दौरान घनश्याम गुटों ने मिंटू शर्मा की गर्दन में चाकू गड़ा दिया और उसको पीछे से पकड़ लिया. इसके बाद दीपक व आरोपी घनश्याम चाकू से ताबड़तोड़ वार करने लगे. मृतक मिंटू छटपटा कर भागने लगा लेकिन कुछ ही दूरी पर जाकर झाड़ियों में गिर गया. उसके गिरने के बाद घनश्याम व दीपक वहां से भाग गए सुनसान जगह होने के कारण वहां पर अमूमन किसी की आवाजाही नहीं होती इसी वजह से मृतक पिंटू शर्मा ने वहीं पर अपना दम तोड़ दिया जो अब किसी राहगीर व्यक्ति ने करीब 2 साल बाद वहां पर नर कंकाल को पड़ा देख  पुलिस को सूचना दी.


पुलिस कार्यवाही की जानकारी

राहगीर के बयान व मौका वारदात का निरक्षण करने के बाद सूरजकुंड पुलिस ने मुकदमा न0 291 दिनांक 19.05.19 धारा 302, 201 IPC के तहत दर्ज किया.

इस खौफनाक ब्लाइंड मर्डर की जांच क्राइम ब्रांच सेक्टर 30 को सौंप दी गई. क्राइम ब्रांच टीम विमल कुमार ने एक स्पेशल टीम गठित कर इस ब्लाइंड मर्डर को सुलझाने के आदेश दिए. टीम ने दिन रात मेहनत कर मुखबिर खास की सूचना पर आरोपियों को गिरफ्तार किया.

गिरफ्तार आरोपियों का विवरण

1.दीपक उर्फ बब्बा पुत्र फूल सिंह निवासी मकान न0 859 गली न0 42 संजय कॉलोनी मुजेसर फरीदाबाद जो इस वारदात को अंजाम देने के बाद मुंबई भाग गया था.

2 . मुख्य आरोपी घनश्याम उर्फ घूटो पुत्र सुबोध मंडल निवासी गांव तिलकपुर थाना सुल्तानगंज घगलपुर बिहार  को 1500 किलोमीटर दूर भागलपुर बिहार से गिरफ्तार किया गया है.

3.मृतक मिंटू शर्मा की पत्नी आरोपिया बसन्ती निवासी न्यू राजीव कॉलोनी सब्जी मंडी डबुआ को फरीदाबाद से गिरफ्तार कर लिया गया है.

दिनांक 24.05.19 को  तीनो आरोपियों को पेश अदालत कर  पुलिस रिमांड पर लेकर वारदात में प्रयोग स्कूटी, चाकू, व मृतक का मोबाइल फोन इत्यादि बरामद किया जाएगा.

टोल मैनेजर ने भूसे के कमरे में छुपा रखे थे 5 लाख के नकली सिक्के, फरीदाबाद CIA ने ढूंढ निकाला


फरीदाबाद: क्राइम ब्रांच बॉर्डर प्रभारी ब्रहम सिंह और क्राइम ब्रांच सेक्टर 48 प्रभारी अनिल कुमार की टीम को एक और सफलता मिली है. क्राईम ब्रांच बार्डर और सै0 48 की टीम ने 5 रुपये के 5 लाख के नकली सिक्के सहित टोल मैनेजर को हिसार से गिरफतार किया है। 

मास्टरमाईण्ड आरोपी सुभाष उर्फ राहुल की सुचना पर टोल मैनेजर शीशपाल को हिसार से गिरफतार किया गया है। 

जब क्राईम ब्रांच की टीम लांदरी टोल हिसार पर पहुंची तो आरोेपी टोल मैनेजर डयुटी पर था। पुछताछ पर साफ मना किया कि हमारे टोल पर नकली सिक्के नहीं हैं। शक्ति व सबूत और पूर्व में पकडे गये आरोपियों का हवाला देने पर आरोपी मैनेजर ने वारदात में शामिल होने की बात कबूल की और अपने मामा के घर के भूसा वाले कमरे से 5 लाख के नकली सिक्के बरामद कराए है। 

टोल मैनेजर शीशपाल लांदरी टोल हिसार व भावदीन टोल सिरसा से 5 रुपये के नकली सिक्के ले जाकर अपने मामा के घर गांव बनवाला में भूसा के कमरे में छुपा दिए थे।

पुलिस रिमांड के दौरान चारो आरेापियोंं सुभाष /राहुल, दीपाली, नासिर और राकेश की निशानदेही पर इंडस्ट्रियल एरिया बहादुरगढ़ के गणपतिधाम से नकली सिक्के बनाने की एक अन्य मशीन बरामद की गई है। इसी केस में पुलिस रिमाण्ड पर चल रहे 4 आरोपियां से नकली सिक्के के मामले मे पुछताछ जारी हैं। नकली सिक्के बनाने के मास्टरमांईड सुभाष सहित अन्य आरोपियों से हुई पुछताछ पर आरोपियों ने बताया कि उन्होंने एनसीआर सहित कई राज्यों के टोल प्लाजा पर नकली सिक्कोंं की सप्लाई करते थे। 

बरामद की गई मशीन से आरोपी लोहे की सीट से 5 रुपये के सिक्केे के आकार की कटिंग करते थे फिर उस कटे हुए 5 रुपये के लोहे के सिक्के पर सुनहरी निकल चढा देते थे। उस चढे हुए सुनहरी निकल के सिक्के को डाई के माध्यम से हु-बा-हु 5 रुपये के असली सिक्के के आकार में परिवर्तित कर दिया जाता था। 

आपको बताते चले कि दिनांक 19.05.19 को एम.वी.एन नाका पर मुखबर की सूचना पर नाकाबंदी की गई। क्राइम ब्रांच ने चैकिंग के दौरान इनौवा कार की सीटो के नीचे 5 रूपये के करीब 50 हजार सिक्के बरामद किए थे। निम्नलिखित चारो आरोपियोंं को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की।  

1. दीपाली पुत्री विमल राय हाडा निवासी 32/ए फ्लैट मधुबन मादीपुर दिल्ली। 2. राकेश भाटी पुत्र खेम सिंह भाटी निवासी जगदम्बा नगर हीरापुर जयपुर।

3. सुभाष उर्फ राहुल पुत्र नन्द किशोर निवासी प्लाट न0 28 आनन्दपुर कराला दिल्ली।

4. नासिर अली पुत्र रहीश अहमद निवासी रेवड़ी खुर्द थाना मिल्क जिला रामपुर 

उपरोक्त आरोपियों के खिलाफ थाना सुरजकुंड में विभिन्न धाराओं में 420, 467, 468, 471, 238, 239, 34 आई.पी.सी के तरत मुकदममा दर्ज किया गया था। 

आरोपी दिपाली धोखा देने के नियत से आपााहिज  बच्चोंं की देखभाल के लिए एनजीओ चलाती थी जबकि काम नकली सिक्के के गोरख धन्धे में शामिल थी। 

दूसरा आरोपी नासीर  भी पर्यवारण फाउंडेशन के नाम से यू.पी. में एनजीओ चलाता था।

तीसरा आरेापी राकेश दीपाली के साथ नकली सिक्कों की खपत का कार्य करता था।

दीवाली के पति निरज गोस्वामी की मुलाकात जेल मेंं सुभाष/राहुल से हुई थी। सुभाष को नकली सिक्के बनाने और कम समय में अमीर बनने की तरकीब नरेश निवासी चरखी दादरी से ली थी, नरेश नकली सिक्के बनाने के आरोप में पहले से ही जेल में बन्द है। 

उपरोक्त चारो आरोपियों के कब्जे से अभी तक कुल 5 लाख के नकली सिक्के, नकली सिक्के बनाने की मशीन, डाई व अन्य कच्चा मैटेरियल भी बरामद किया गया था।

पुलिस प्रवक्ता सुबे सिंह ने बताया कि आरोपी शीशपाल टोल मैनेजर को हिसार से गिरफतार कर 5 लाख के नकली सिक्के बरामद करके आज फरीदाबाद कोर्ट में पेश किया गया। आज अदालत ने आरोपी को नीमका जेल भेज दिया गया है। 

पुलिस रिमाण्ड के दौरान चारो आरोपियों की निशानदेही पर कल गणपतिधाम बहादुरगढ से एक और अन्य मशीन भी बरामद की गई है जिससे लोहे के सिक्के बनाए जाते थे। आरोपियों से पुछताछ जारी है।

राजीव गांधी की बरसी पर फरीदाबाद पुलिस ने मनाया आतंकवाद विरोधी दिवस, आतंक से लड़ने की ली शपथ

faridabad-police-21-may-atankwad-virodhi-divas-rajiv-gandhi-death

फरीदाबाद: पुलिस कमिश्नर संजय कुमार की अध्यक्षता में  पुलिस आयुक्त  कार्यालय  सेक्टर 21c फरीदाबाद के प्रांगण में आज प्रात 11.00 बजें आतंकवादी विरोधी दिवस मनाया गया।

इस अवसर संजय कुमार ने यहांं कार्यरत सभी वरिष्ठ अधिकारियों व कर्मचारियों को शपथ दिलाते हुए कहा की  - हम सभी प्रकार के आंतकवाद और हिसां का डटकर विरोध करने, मानव जाति के सभी वर्गों के बीच शान्ति, सामाजिक सद्भाव तथा सूझबूझ कायम करने और मानव जीवन मूल्यों को खतरा पहुंंचाने वाली और विघटनकारी शक्तियो से लडेगे।
              
इस शपथ समारोह में आई.पी.एस वरुण सिंगला एसएचओ धौज, ए.सी.पी मुख्यालय रविन्द्र सिंह तोमर, सुपरिडैन्ट सुरेन्द्र सिंह, हैड क्लर्क प्रकाष देवी, आईओ इन्सपैक्टर राम निवास, इन्सपैक्टर वेद लिगल सैल, पी.ए मुकेश कुमार, सहायक कर्मबीर रंगा, रिडर निहाल सिहं, आईटी सैल प्रभारी सुरेन्द इत्यादि के अलावा आफिस के सभी स्टाॅफ मौजूद था।

भारत के छठे प्रधानमंत्री राजीव गांधी की 21 मई 1991 को चुनावी रैली के दौरान श्रीपैरूमबदूर, तमिलनाडू मे मानव बम के द्वारा हत्या कर दी थी। उनकी पुण्यतिथि 21 मई को आतंकवाद विरोधी दिवस के रूप में मनाया जाता है। 

पुलिस ने सुलझाया सेक्टर 3 मर्डर केस, आकाश ने पहले किया रेप का प्रयास, नाकाम रहने पर मार दिया

faridabad-police-arrested-accused-akash-in-sector-3-murder-case

फरीदाबाद: फरीदाबाद पुलिस ने काफी मेहनत करते हुए सेक्टर 3 मर्डर केस को सुलझा लिया है और आरोपी आकाश को गिरफ्तार कर लिया गया है. आपकी जानकारी के लिए बता दें कि 17 मई 2019 को सेक्टर 3 में एक 18 वर्षीय लड़की को उसके घर में घुस कर हत्या कर दी गई थी जिसके बाद पूरे शहर में हड़कंप मच गया था.

संजय कुमार पुलिस आयुक्त ने मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस उपायुक्त अपराध, राजेश कुमार को आरोपियों के धर पकड़ के निर्देश दिये थे जिसके फल स्वरूप पुलिस उपायुक्त अपराध, ने तीन टीमों को गठित किया गया जिसमें दो टीम क्राईम ब्रान्च व एक टीम सैक्टर-8 थाना की टीम शामिल थी। 

तीनों टीमों ने अलग अलग बिन्दु पर तेजी से कार्य करते हुए आरोपियों की धर पकड़ं में जुटी। एक टीम के द्वारा  मृतक लडकी के स्कुल, टयूशन सैन्टर व कोचिगं सैन्टर, व सहेलियोंं से पुछताछ की गई। 

दूसरी टीम द्वारा सी0सी0टी0वी0 की फुटैज चैक करके पुराने संदिग्ध आरोपियों से पुछताछ की गई।

तीसरी टीम के द्वारा उस ईलाके में आने जाने वाले आटो चालको व पड़ोसियों व मार्केट में आरोपियों का हुलिया देखाकर पुछताछ की गई। 

सी0सी0टी0वी0 फुटैज के आधार पर आरोपी का हुलिया का पता लगा उसकी चाल ढाल व उसकी पहने हुए कपड़ो से पहचान हुई. पड़ोसियों ने उसकी पहचान की.  कत्ल का आरोपी उनका पड़ोसी ही था और आरोपी व उसका परिवार फरार हो गए थे।

दिनांक 19.05.2019 का देर रात मुखबर की सुचना पर एस0एच0ओ0 सैक्टर-8 निरीक्षक योगेन्द्र एवं उसकी टीम ने  रिवाड़ी सादी नदी के पास से आरोपी आकाश निवासी सैक्टर-3 बल्लबगढ को गिरफ्तार किया गया। 

प्रारभिक पुछताछ में आरोपी ने बताया की वह इस लड़की को आते जाते देखता और इसके प्रति गलत नीयत रखता है। उससे कई बार दोस्ती की कोशिश की. उससे एक तरफा प्यार करता था उससे शादी करना चाहता था। लेकिन लड़की ने मना कर दिया था। दिनांक 17.05.19 को अकेली देख कर घर में रेप करने की नियत से घुसा। आरोपी ने लड़की के साथ जोर जबरदस्ती की. लड़की के विरोध करने पर इसके मुहं पर बधां हुआ नकाब उतर गया और लड़की ने उसे पहचान लिया।

लड़की को रेप करने की कोशिश में नाकाम होने पर आरोपी ने यह सोचकर की इसने मुझे पहचान लिया ओर पकड़ा जाऊंगा इसलिए उसने लड़की को बैट व चाकु से हमला करके जान से मार दिया।  

आरोपी पीछे से बीरण तोशाम जिला भिवानी का रहने वाला है और मेरठ ओपन युनिवर्सिेटी से बी0ए0 सेकेंडीयर कर रहा है और शराब के आहता बल्लबगढ में काम करता है ओर उसका पिता भी वही काम करता है।

कुख्यात सरगना मनोज माँगरिया का गुर्गा शार्प शूटर ब्रह्म को क्राइम ब्रांच सेक्टर 30 की टीम ने दबोचा

crime-branch-sector-30-arrested-badmash-brahm-manoj-mangaria-gang

फरीदाबाद: अपराध शाखा सैक्टर 30 टीम इंस्पेक्टर विमल कुमार को पुलिस कमिश्नर संजय कुमार IPS के आदेशानुसार एवम सहायक पुलिस आयुक्त क्राइम अनिल यादव HPS  के दिशानिर्देश अनुसार कार्य करते हुए बड़ी सफलता हासिल हुई है 

क्राइम ब्रांच सैक्टर 30 की टीम ने  बलराज भाटी के शार्प शूटर ब्रहम पुत्र धर्मबीर निवासी गांव अलीपुर को गिरफ्तार किया है जिसने बलराज भाटी के साथ सन 2015 में डबल बहुचर्चित शशि हत्याकांड के मुख्य गवाह मृतक शशि का छोटा भाई  जितेंद्र उर्फ जित्ते व एक अन्य युवक जिसको शशि के बड़े भाई सत्ते के होने की गलत फहमी के चलते घरोंडा गॉव के बस अड्डे पर बलराज भाटी के साथ मिलकर गोली मार दी थी जिसको अपराध शाखा इंचार्ज इंस्पेक्टर विमल द्वारा पहले भी गिरफ्तार किया जा चुका है.

अपराध

दिनांक  17. 05.19 को अपराध शाखा सैक्टर 30 की टीम ने आरोपी ब्रहम जो माननीय अदालत से जमानत पर रिहा है को मुखबिर खास की सूचना पर अवैध देशी कट्टे व कारतूस समेत गिरफ्तार किया है जो आरोपी ने पूछताछ पर बतलाया की मैं ओर मेरा साथी अमित पुत्र अजित निवासी डबुआ मंडी देशी कट्टा व एक अन्य देशी पिस्तौल वारदात को अंजाम देने के लिए उतर प्रदेश से खरीद कर लाये थे जो आरोपी अमित को एक देशी पिस्तौल व लगभग 20 कारतूस के साथ गिरफ्तार कर लिया गया है 

दोनों आरोपियों पर मुकदमा न. क्रमशः दर्ज रजिस्टर करवाये गए है.

1.मुकदमा न0 141 दिनाँक 17.05.19 धारा 25.54.59 A. Act थाना खेड़ी पुल फरीदाबाद 

2. मुकदमा न0 218 दिनाँक 17.05.19 धारा 25.54.59 A. Act थाना डबुआ फरीदाबाद 

इसके अलावा क्राइम ब्रांच सैक्टर 30 की टीम ने ऑनलाइन शॉपिंग का सामान ले जा रहे कंटेनर से सामान चुराने वाले एक आरोपी जाहुल पुत्र यूनुस निवासी गांव जुरहेड़ा राजस्थान को मुकदमा न0 217 दिनांक 14.05.19 धारा 379 IPC थाना  सैक्टर 58 फरीदाबाद के मुकदमा में गिरफ्तार किया है.

chor-jahul

रिकवरी 

1. एक देशी कट्टा 
2. एक देशी पिस्तौल 
3. एक जिंदा राउंड 315 बोर 
4. 19 जिंदा राउंड 32 बोर
5. एक कारटून चोरी शुदा

क्राइम ब्रांच सेक्टर-48 ने छीना झपटी करने वाले एक आरोपी को किया गिरफ्तार

crime-branch-sector-48-arrested-one-snatcher-news

फरीदाबाद: पुलिस आयुक्त संजय कुमार के दिशा-निर्देश पर प्रभारी क्राइम ब्रांच सेक्टर 48 एसआई अनिल व उनकी टीम ने फरीदाबाद शहर में छीना झपटी की वारदात को अंजाम देने वाले एक आरोपी को गिरफ्तार करने में कामयाबी हासिल की है।

गिरफ्तार आरोपीः

1. हनीफ उफ हनी पुत्र जुम्मा खान निवासी गांव ईदाना थाना बिछोर जिला नूहँ।

प्रभारी क्राइम ब्रांच ने बताया कि आरोपी फरीदाबाद में छीना झपटी की वारदात को अंजाम देता हैं आरोपी से थाना सेक्टर 58  एरिया की छीना झपटी की एक वारदात सुलझाए गई है।

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि आरोपी से ₹2000 रुपया कैश बरामद किया गया है. आज आरोपी को अदालत में पेश कर जेल भेजा गया है।

क्राईम ब्रांच सेक्टर-48 ने मोटरसाइकिल चोरी करने वाले एक आरोपी को दबोचा

faridabad-crime-branch-sector-48-arrested-one-motorcycle-chor

फरीदाबाद: पुलिस आयुक्त संजय कुमार के दिशा निर्देश पर प्रभारी क्राईम ब्रांच सेक्टर 48 व उनकी टीम ने मोटरसाईकिल चोरी करने वाले एक आरोपी को
गिरफतार करने में कामयाबी हासिल की है।

गिरफतार आरोपीः

रवि उफ चवनी पुत्र रामजीलाल उर्फ पप्पू निवासी मकान नंबर 372/1 कृष्णा कॉलोनी सेक्टर 20b एस्कॉर्ट नगर फरीदाबाद।

प्रभारी क्राईम ब्रांच ने बताया कि सूचना के आधार पर रेड करके उपरोक्त आरोपी को गिरफतार किया गया है. आरोपी से थाना सेक्टर 58 की मोटरसाइकिल चोरी की वारदात सुलझाई है।

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि आरोपी को गिरफतार कर उसके कब्जे से स्प्लेंडर मोटरसाइकिल बरामद की गई है. आरोपी को आज अदालत में पेश
कर जेल भेजा गया है।

क्राइम ब्रांच सेक्टर 48 ने छीना झपटी करने वाले दो आरोपियों को किया गिरफ्तार

cia-sector-48-arrested-2-chor-chain-snatching-news

फरीदाबाद: पुलिस आयुक्त संजय कुमार के दिशा-निर्देश पर प्रभारी क्राइम ब्रांच सेक्टर 48 एसआई अनिल व उनकी टीम ने फरीदाबाद शहर में छीना झपटी की वारदात को अंजाम देने वाले दो आरोपियों को गिरफ्तार करने में कामयाबी हासिल की है।

गिरफ्तार आरोपीः

1. रोकी पुत्र पूर्ण सिंह निवासी पवन हस्पताल के सामने समयपुर कॉलोनी महाराणा प्रताप चौक फरीदाबाद।

2. रोहताश उर्फ रॉकी पुत्र रज्जे निवासी गांव समयपुर थाना सेक्टर 58 फरीदाबाद।

प्रभारी क्राइम ब्रांच ने बताया कि आरोपी फरीदाबाद में छीना झपटी की वारदात को अंजाम देते हैं आरोपियों से थाना मुजेसर  एरिया की छीना झपटी की एक वारदात सुलझाए गई है।

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि आरोपियों से एक एप्पल आईफोन 6 बरामद किया गया है. आज आरोपियों को अदालत में पेश कर जेल भेजा गया है।

क्राइम ब्रांच ऊंचा गांव ने वाहन चोरी करने वाले एक आरोपी को दबोचा, कई वाहन बरामद

cia-uncha-gaon-arrested-one-chori-accused-recovered-vehicle

फरीदाबाद: पुलिस आयुक्त संजय कुमार के दिशा-निर्देश पर प्रभारी क्राइम ब्रांच ऊंचा गांव व उनकी टीम ने वाहन चोरी करने वाले एक आरोपी को गिरफ्तार कर आरोपी से वाहन चोरी की 6 वारदात सुलझाते हुए उसके कब्जे से 6 वाहन बरामद करने में कामयाबी हासिल की है।

 गिरफ्तार आरोपीः

1. नरोत्तम पुत्र अमर सिंह निवासी गांव बंचारी थाना  होडल जिला पलवल।

प्रभारी क्राइम ब्रांच ऊंचा गांव ने बताया कि आरोपी को दिनांक 14 मई 2019 को थाना सदर बल्लभगढ़ की वाहन चोरी की एक वारदात में गिरफ्तार किया गया था।

आरोपी को कोर्ट में पेश कर  2 दिन का पुलिस रिमांड लेकर  पूछताछ  की गई तो उसने ने बताया की उसने फरीदाबाद एरिया में 6 वाहन चोरी की वारदात को अंजाम दिया हुआ है। जो इस प्रकार हैंः-

आरोपी से सुलझाए गई वारदातः

1.Fir no.135 dt.12/3/19 u/s 379 ipc ps sadar b.Garh fbd.

2.Fir no.146 dt.20/4/19 u/s 379 ipc ps saran fbd.

3.Fir no.135 dt.15/4/19 u/s 379 ipc ps saran fbd.

4.Fir no.95 dt.3/4/19 u/s 379 ipc ps kheriPul fbd.

5.fir no.177 dt.10/4/19 u/s 379 ipc ps kotwali find.

6.fir no.171/19 u/s 379 ipc ps kotwali fbd.

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि आरोपी से दो ऑटो एवं चार मोटरसाइकिल बरामद कर अदालत में पेश कर जेल भेजा गया है.

दबोचा गया क्लोन-गैंग, Dabit Card का क्लोन बनाकर खाते से उड़ा लेते थे पैसे, पढ़ें और रहे सावधान

dlf-crime-branch-arrested-dabit-card-clone-gang-4-accused

फरीदाबाद: एटीएम कार्ड क्लोन बनाकर लोगों से धोखाधड़ी कर चूना लगाने वाले गैंग का क्राइम ब्रांच डीएलएफ ने खुलासा यह और गैंग के चार आरोपियों को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है, यह आरोपी स्वैप मशीन के जरिए कार्ड की जरूरी डिटेल चुरा लेते थे और उसके बाद बैंक खाते से रुपए उड़ा लेते थे. फरीदाबाद में यह गैंग काफी दिनों से सक्रिय था  और आम लोगों का जीना हराम कर रखा था.

दिनांकः- 16 मई 2019 को अनिल कुमार ए.सी.पी क्राईम ने प्रेस को संबोधित करते हुए एटीएम कार्ड क्लोन बनाकर लोगों से धोखाधडी करने वाले एक गैंग के 4 आरोपियों को गिरफतार करने के बारे में खुलासा किया है।

आपको बताते चलें कि जिला फरीदाबाद में क्लोन एटीएम कार्ड तैयार करके लोगो के खाते से रूपए निकलने की बढती हुई वारदातो को देखते हुए पुलिस कमिश्नर संजय कुमार ने सभी क्राईम ब्रांच को आरोपियों को पकडने के दिशा निर्देश दिए हुए थें।

जिसपर पुलिस उपायुक्त अपराध राजेश कुमार एवं सहायक पुलिस आयुक्त अनिल कुमार के नेत्रत्व में कार्य करते हुए प्रभारी क्राईम ब्रांच डी.एल.एफ इंस्पेक्टर संजीव कुमार ने गैंग के 4 आरोपियों को गिरफतार करने में कामयाबी हासिल की है।

गिरफतार आरोपियानः

1. शिवम् सिंह पुत्र घनश्याम निवासी म.न. 64 सेक्टर -56 फरीदाबाद।
2. नरेंद्र सिंह पुत्र भाग्य चंद निवासी हाल किरायेदार पर्वतीय कॉलोनी फरीदाबाद।
3. राहुल पुत्र अशोक कुमार निवासी पर्वतीय कॉलोनी फरीदाबाद।
4. हिमांशु तायल पुत्र संजय तायल निवासी मुकेश कॉलोनी बल्लभगढ़ फरीदाबाद।

सहायक पुलिस आयुक्त अपराध अनिल कुमार ने बताया कि आरोपी नरेन्द्र सिंह एवं राहुल सै0 12 फरीदाबाद में बने सिल्वर सिटी माॅल में एक सिनेमा में काम करते थें।

सिनेमा में आने वाले लोग जो अपना कार्ड स्वैप कराते थें उनके कार्ड को स्वैप मशीन में स्वैप कर पास रखी दूसरी मिनी डी.एक्स मशीन में भी स्वैप कर देते थें। साथ ही कार्ड मेम्बर के द्वारा डाले गए पास्वर्ड (पिन कोड) भी देख कर नोट कर लेते थें।

यह सभी जानकारी आरोपी नरेन्द्र और राहुल अपने दोस्तों शिवम सिंह व हिमांशु को दे देते थें एक व्यक्ति के कार्ड का डाटा देने पर आरोपी नरेन्द्र व राहुल शिवम और हिमांशु से 1500 रू0 लेते थें।

आरोपी हिमांशु व शिवम कार्ड का जरूरी डाटा मिनी डी.एक्स मशीन से उसको एम.एस.आर मशीन में फिड करके एक बलैंक कार्ड में सभी डाटा डालकर कार्ड बना लेते थें और बाद में कार्ड से पैसे निकाल लेते थें।

प्रभारी क्राइम ब्रांच इंस्पेक्टर संजीव ने बताया कि आरोपियों को थाना सेक्टर-7 फरीदाबाद के मुकदमा नंबर 314 दिनांक 16 अप्रैल 2018 धारा 420 आई.पी.सी मे गिरफ्तार किया गया है।

उन्होने बताया कि आरोपियान द्वारा और बहुत सारी वारदाते करना बतलाया है जिनको आज पेश अदालत करके पुलिस रिमांड पर लिया जायेगा व अन्य वारदातों का खुलासा किया जायेगा ।

अन्य मुकदमे जिनमे आरोपियों से पूछताछ की जाएगी:- 

1. मुकदमा न. 752 दिनांक 27.09.18 धारा 420 आई.पी.सी थाना सेक्टर-7 फरीदाबाद ।

2. मुकदमा न. 58 दिनांक 14.01.18 धारा 420 आई.पी.सी थाना शहर बल्लभगढ़  फरीदाबाद।

3. मुकदमा न. 708 दिनांक 14.07.18 धारा 420 आई.पी.सी थाना शहर बल्लभगढ़  फरीदाबाद।

4. मुकदमा न. 1087 दिनांक 26.12.18 धारा 420 आई.पी.सी थाना शहर बल्लभगढ़  फरीदाबाद।

अनिल कुमार सहायक पुलिस आयुक्त अपराध ने जनता से अपील करते हुए कहा कि जब कभी भी ए.टी.एम कार्ड को स्वैप करें तो अपना पिन नं0 छूपाकर डायल करें और नजर रखे कि आपका कार्ड एक बार से ज्यादा व अन्य पास रखी किसी दूसरी मशीन में स्वैप ना हो, अगर आप कही शाॅपिंग करते है तो इन बातो को ध्यान में रखकर कार्ड का इस्तेमाल करें और हो रही धोखाधडी से सावधान रहें।

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि आरोपीयान से वारदात में प्रयोग की जाने वाली एम.एस.आर मशीन, 1 लैपटॉप, 3 मिनी डी.एक्स मशीन, चार्जर, लीड एवं 10 ब्लैंक कार्ड इत्यादि इलेक्ट्रॉनिक इक्विपमेंट बरामद किए गए हैं।

आरोपियों को कोर्ट में पेश कर 5 दिन का पुलिस रिमांड लिया गया है आरोपियों से पूछताछ की जाएगी।

एस्कॉर्ट ग्रुप के चेयरमैन निखिल नंदा ने फरीदाबाद पुलिस को भेंट की 10 ISUZU गाड़ियां

escorts-group-chairman-nikhil-nanda-gift-faridabad-police-10-isuzu-car

फरीदाबाद: दिनांक 14.05.19 को एस्कॉर्ट कंपनी  ने फरीदाबाद पुलिस को पैट्रोलिंग के लिये 10 ISUZU गाड़ियां आपकी सुरक्षा - आपके साथ, प्रोग्राम के तहत भेंट की।

पुलिस आयुक्त श्री संजय कुमार एवं एस्कॉर्ट ग्रुप के चेयरमैन निखिल नंदा ने पुलिस आयुक्त मुख्यालय सैक्टर-21ब से हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया।

इस मौके पर पुलिस विभाग की तरफ से डीसीपी सैट्रल लोकेंद्र सिंह, डीसीपी एनआईटी विक्रम कपूर, एसीपी हैडक्वार्टर रविंद्र सिंह तोमर, एसीपी क्राईम अगेंस्ट वूमेन धारणा यादव, एसीपी ट्रैफिक अभिमन्यु, एसीपी गजेंद्र एनआईटी, एसीपी राधेश्याम मुजेसर, एसीपी सराय मौजीराम, एसीपी तिंगाव भगत सिंह, एसीपी सैंट्रल महेंद्र वर्मा, एसीपी बडखल सुखबीर सिंह, मौजूद रहे।

एस्कॉर्ट्स ग्रुप की तरफ से चेयरमैन निखिल नंदा, वीरेंद्र प्रताप सिंह ग्रुप हेड, बीएस डागर ग्रुप हैड ईआर, मेजर अरोडा सीएसओ, राजेश वर्मा, एडमिन प्रतीक जैन व हरित शर्मा, यूनियन प्रेसिडेंट वजीर सिंह डागर, राजकुमार गुप्ता, के अलावा कम्पनी के अन्य प्रमुख अधिकारी मौजूद रहे। 

अपाको बताते चले कि फरीदाबाद पुलिस के द्वारा स्मार्ट पुलिसिंग के अन्तर्गत चलाये गये अभियान ’’आपकी सुरक्षा  - आपके साथ’’ के तहत एस्कॉर्ट ग्रुप के चेयरमैन ने पुलिस को पैट्रोलिंग के लिए 10 ISUZU गाड़ियां दी है। 

पुलिस आयुक्त संजय कुमार ने बताया कि ये और 10 गाड़ियां पुलिस बेडे में बढने से वाहनों की कमी काफी हद तक कम होगी। पुलिस अब और अधिक तत्परता से कार्य करते हुए जनता/पीडित की मदद करने के लिए मौके पर जल्दी पहुॅच सकेगी। साथ ही पुलिस की पेट्रोलिंग बढेगी और अपराध में भी कमी आएगी, जिससे पब्लिक का पुलिस के प्रति विश्वास बढेगा। 

उन्हांने एस्कोर्ट ग्रुप के चैयरमैन निखल नंदा के द्वारा फरीदाबाद पुलिस को 10 गाडिया देने के लिए धन्यवाद किया। 

एस्कोर्ट ग्रुप के चैयरमैन निखल नंदा ने पुलिस आयुक्त महोदय को गांडियों की भेंट कर कहा कि एस्कॉर्ट कंपनी फरीदाबाद, हमेशा अपराध नियंत्रण व कानून व्यवस्था बनाए रखने में सहयोग करने के लिए फरीदाबाद पुलिस के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खडी रहती हैं। इसी के तहत फरीदाबाद पुलिस को हमने आज 10 गाड़ियां पेट्रोलिंग के लिए और दी है। 

उन्होंने कहा कि हम सामाजिक उत्थान व फरीदाबाद की जनता के सुरक्षा के लिए पुलिस का सहयोग आगे भी करते रहेगे। फरीदाबाद पुलिस अपराध नियंत्रण में बहुत सराहनीय कार्य कर रही हैं। इसके लिए हम फरीदाबाद पुलिस आयुक्त धन्यवाद करता हुं। 

निखिल नंदा ने कार्यक्रम के मुख्य अतिथि पुलिस आयुक्त संजय कुमार का धन्यवाद करते हुये कहा कि फरीदाबाद पुलिस को पैट्रोलिंग के लिए 10 ISUZU गाड़ियां देकर हमें बहुत खुशी हो रही है। हम इसी तरह आगे भी पुलिस की मदद करते रहेंगे।

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि ’’आपकी सुरक्षा - आपके साथ’’ कार्यक्रम के तहत एस्कॉर्ट्स ग्रुप के चेयरमैन के चेयरमैन श्री निखिल नंदा ने पहले भी फरीदाबाद पुलिस को 5 अर्टिगा पीसीआर और 20 मोटरसाईकिल दे चुके है। इनके द्वारा दी गई 20 मोटरसाईकिल ट्रैफिक व्यवस्था बनाने के काम में लगाई गई है।

EVM की तरफ कोई आँख उठाकर भी नहीं देख पाएगा, स्ट्रांग रूम के बाहर थ्री-लेयर सुरक्षा-व्यवस्था

faridabad-police-security-strong-room-evm-after-loksabha-electio-2019

फरीदाबाद: अक्सर कुछ राजनीतिक पार्टियाँ मतगणना के बाद EVM में छेड़छाड़ और हैकिंग का आरोप लगाती हैं लेकिन फरीदाबाद पुलिस ने स्ट्रांग रूम की ऐसी सुरक्षा व्यवस्था की है कि EVM की तरफ कोई आँख उठाकर भी नहीं देख पाएगा.

स्ट्रांग रूम के सबसे इनर सर्कल में  केंद्रीय बल एसएसबी के जवान तैनात रहेंगे, सेकंड लेयर में आईआरबी  और आउटर सर्कल थर्ड लेयर में फरीदाबाद पुलिस की रहेगी तैनाती रहेगी।

लोक सभा इलेक्शन के बाद सभी  छह विधानसभा क्षेत्र मे हुए मतदान की ईवीएम मशीनों को अलग अलग - 6 मतगणना केंद्रों में रखा गया है सभी मतगणना केंद्र की सुरक्षा के लिए संजय कुमार पुलिस आयुक्त ने थ्री लेयर सिक्योरिटी तैनात कर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं.

पुलिस प्रवक्ता सुबे सिंह  ने बताया कि हर मतगणना केंद्र की सुरक्षा के लिए 100 से अधिक सुरक्षाकर्मी लगाए हैं जो 24 घंटे सुरक्षा में तैनात रहेंगे एसएसबी के जवानो की गार्द का मुख्य पहरा रहेगा उसके बाद सेकंड लेयर में आईआरबी के जवान  पहरा देंगे और स्ट्रांग रूम के चारों तरफ पेट्रोलिंग करेंगे. और थर्ड लेयर में फरीदाबाद पुलिस की सुरक्षा रहेगी.

इसके अलावा मतगणना केंद्र के चारों तरफ 4 नाके लगाए गए हैं व एक पीसीआर 24 घंटे हाजिर रहेगी. यह सुरक्षा 23 मई तक रहेगी संबंधित एसएचओ एवं चौकी इंचार्ज हर घंटे चेकिंग करेंगे।  इसके अलावा एसीपी हर 2 घंटे में स्ट्रॉन्ग रूम पर तैनात सुरक्षाकर्मियों की चेकिंग करेगा।

फरीदाबाद पुलिस ने कराया शांतिपूर्वक मतदान, बुजुर्गों, दिव्यान्गों की मदद करके किया अच्छा काम

faridabad-police-help-vote-senior-citizen-12-may-2019-loksabha

फरीदाबाद: आपको बता दें कि फरीदाबाद जिले में 6 निर्वाचन क्षेत्र हैं जिसमें 1351 पोलिंग बूथ बनाए गए थे। सभी 6 निर्वाचन क्षेत्र में 190 संवेदनशील एवं 194 अति संवेदनशील पोलिंग बूथ बनाए गए थे। 

चुनाव के दिन कानून व्यवस्था एवं शांति बनाए रखने के लिए करीब 5000 पुलिस अधिकारी एवं कर्मचारी लगाए थे। जिसमें 60 इंस्पेक्टर, 540 एनजीओ रैंक के ऑफिसर, 500 हवलदार, 2000 कांस्टेबल एवम 1500 होमगार्ड के अलावा केंद्रीय बल व गुजरात पुलिस की 4 कंपनियों के जवान बूथ, नाके, पेट्रोलिंग व मतगणना केंद्रो पर तैनात किए गए थे।

चुनाव के दौरान मतदान केंद्रों पर मतदान करने आये वरिष्ठ/वृृद्व व चलने में असहाय नागरिकों को प्राथमिकता देेते हुए उनकी मतदान कराने में पुलिस ने की मदद। असामाजिक व शरारती तत्वों पर फरीदाबाद पुलिस ने रखी पैनी नजर, जिसकी वजह से बिना डर के नागरिकों ने किया अपना मतदान। 

पुलिस आयुक्त महोदय ने शातिंपूर्वक वोट डालने वाले नागरिकों का भी किया धन्यवाद।