Followers

Showing posts with label Faridabad Police. Show all posts

प्राइवेट पवन अस्पताल ने प्रशासन को दान किया ट्रैक्टर

 private-pawan-hospital-donated-2-tractor

फरीदाबाद 25 जनवरी: शहर के प्राइवेट पवन अस्पताल ने फरीदाबाद प्रशासन को ट्रैक्टर दान में दिया है ताकि यह ट्रैक्टर जनता की सेवा में काम आ सकेंं.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि पवन मल्टीस्पेशलिटी हॉस्पिटल कई वर्षों से राजीव कॉलोनी क्षेत्र में चिकित्सा सेवा दे रहा है.

आज ट्रैक्टर दान करने के लिए एक प्रोग्राम का आयोजन किया गया जिसमें हरियाणा के परिवहन मंत्री और बल्लभगढ़ के विधायक मूलचंद शर्मा और फरीदाबाद के डिप्टी कमिश्नर और नगर निगम के कमिश्नर यशपाल यादव को आमंत्रित किया गया और उन्हें दोनों ट्रैक्टरों की चाभी दी गई. इनमें से एक ट्रैक्टर ट्राली सहित नगर निगम ने भी जनता को सौंपा है.

सिपाही ने लड़की का गुम हुआ कैश सहित पर्स लौटाया, खुश हुई युवती

faridabad-police-sipahi-return-lady-missing-purse

फरीदाबाद, 24 जनवरी 2021: ईमानदारी और सच्ची निष्ठा का प्रदर्शन करते हुए सिपाही  प्रवीण और सुनील ने गश्त के दौरान मिले युवती के पर्स को उसके पास वापिस पहुंचा दिया है।

दिन के समय दोनों सिपाही सेक्टर 14 मार्केट में गश्त कर रहे थे कि एक व्यक्ति ने उन्हें बताया कि किसी का पर्स यहां गिर गया है।

पुलिसकर्मियों ने आसपास लोगों से पूछताछ की परंतु उस पर के बारे में किसी को कोई जानकारी नहीं थी।

सुरक्षा की दृष्टि से पुलिसकर्मियों ने पर्स को उठाया और जब उसकी तलाशी ली तो उसमें एक फोन पाया गया।

कुछ समय पश्चात उस फोन पर उसी लड़की का कॉल आया जिसका वह पर्स था।

पुलिसकर्मियों ने युवती को पुलिस चौकी में आने के लिए कहा ताकि वह अपने पर्स को सुरक्षित वापिस लेकर जा सके.

खोए हुए पर्स की सूचना मिलने पर युवती पुलिस चौकी सेक्टर 14 आई और पुलिसकर्मियों ने इसे उसके हवाले कर दिया।

युवती ने पर्स में रखा सारा सामान और पैसे चेक किए जोकि सुरक्षित अवस्था में थे।

अपना पर्स वापस पाकर लड़की बहुत खुश हुई और पुलिस कर्मचारियों की ईमानदारी और सहज स्वभाव से बातचीत करने के लिए उनका धन्यवाद करते हुए अपना पर्स लेकर  चली गई।

ट्रैक्टर मार्च के लिए किसान जिद पर अड़े, CP ने पुलिस-बल को हर हालात से निपटने के लिए किया तैयार

faridabad-police-cp-op-singh-ready-for-tractor-march-on-republic-day

फरीदाबाद, 24 जनवरी 2021: 26 जनवरी समारोह और किसान आंदोलन के चलते पुलिस आयुक्त श्री ओपी सिंह ने फरीदाबाद के विभिन्न स्थानों पर जाकर सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया।

आपको बता दें कि सुरक्षा के मद्देनजर फरीदाबाद के चिन्हित स्थानों पर 25 से अधिक नाके लगाए गए हैं और 3500 से अधिक पुलिस कर्मचारी कानून व्यवस्था संभालने के लिए फील्ड में मौजूद हैं।

इसी क्रम में पुलिस आयुक्त सबसे पहले सेक्टर 12 स्थित हुडा ग्राउंड में पहुंचे जहां पर 26 जनवरी समारोह का आयोजन किया जाना है।

इसके पश्चात उन्होंने सेक्टर 8, चंदावली पुल, सेक्टर 58 ट्रांसपोर्ट नगर और अंत में बड़खल पुल पहुंच कर पुलिस नाके चेक किए ओर पुलिसकर्मियों को कानून व्यवस्था संबंधित आवश्यक दिशा निर्देश दिए।

पुलिस आयुक्त ने पुलिसकर्मियों द्वारा सक्रिय रुप से वाहनों को चेक करने और संदिग्ध व्यक्तियों पर निगरानी रखने हेतु आवश्यक दिशा निर्देश दिए।

उन्होंने कहा कि कुछ अपराधिक प्रवृत्ति के लोग समाज में अशांति फैलाने के मकसद से शहर में उपद्रव मचाने की कोशिश करते हैं परंतु पुलिस का काम है ऐसे व्यक्तियों पर निगरानी रखकर उन्हें ऐसा करने से रोकना और शहर में कानून व्यवस्था बनाए रखना।

पुलिस पेट्रोलिंग से संबंधित दिशा निर्देश देते हुए उन्होंने कहा कि पीसीआर और राइडर 24 घंटे शहर में गश्त करेगी ताकि कोई भी व्यक्ति शहर में उत्पात मचाने की हिम्मत ना कर सके।

पुलिस कर्मचारियों को प्रोत्साहित करते हुए श्री सिंह ने कहा कि जिस प्रकार लोहा तप-तप कर सोने का रूप धारण करता है उसी प्रकार एक पुलिसकर्मी अपने कर्तव्य का ईमानदारी और सच्ची निष्ठा के साथ निर्वहन करके ही समाज में एक अच्छा पुलिस अधिकारी बनने का दर्जा हासिल करता है।

इसी प्रकार पुलिस कर्मियों को प्रोत्साहित करते हुए पुलिस आयुक्त ने उन्हें ईमानदारी के साथ अपनी ड्यूटी निभाने के लिए प्रेरित किया।

ट्रैफिक थाना से बीके चौक तक 32वीं सड़क सुरक्षा माह रैली का आयोजन

faridabad-traffic-police-32th-sadak-suraksha-saptah-rally

फरीदाबाद, 22 जनवरी: 18 जनवरी से 17 फरवरी तक पुलिस द्वारा मनाए जा रहे सड़क सुरक्षा माह के तहत आज पुलिस द्वारा ट्रैफिक थाना से बीके चौक तक यातायात नियम जागरूकता रैली का आयोजन किया गया।

इसमें सहायक पुलिस आयुक्त यातायात-2, रमेश गुलिया मुख्य अतिथि के रूप में मौजूद रहे.

इसके साथ ही थाना प्रभारी राजीव, TI सेंट्रल व NIT तथा रोड सेफ्टी ऑफिसर के साथ अन्य पुलिसकर्मी मौजूद रहे।

रमेश गुलिया ने लोगों को तय गति सीमा से अधिक स्पीड में गाड़ी न चलाने का आग्रह किया।

उन्होंने कहा कि जल्दी पहुंचने के चक्कर में लोग अक्सर जल्दबाजी में दुर्घटना का शिकार हो जाते हैं जिसकी वजह से कई लोगों को अपनी जान से भी हाथ धोना पड़ता है।

उन्होंने कहा कि यदि आप सावधानीपूर्वक यातायात नियमों का पालन करके गाड़ी चलाएंगे तो अपने साथ-साथ दूसरों की जिंदगियों को भी सुरक्षित रख पाएंगे।

किसान ट्रैक्टर रैली, उपद्रव रोकने के लिए फरीदाबाद पुलिस तैयार, सीपी ओपी सिंह ने बनायी रणनीति

faridabad-police-cp-op-singh-ready-law-and-order-tractor-rally

फरीदाबाद, 22 जनवरी: पुलिस आयुक्त श्री ओपी सिंह ने सभी जोन के पुलिस उपायुक्त, सहायक पुलिस आयुक्त, थाना व चौकी प्रभारियों के साथ आयोजित बैठक में किसान आंदोलन व 26 जनवरी समारोह के चलते कानून व्यवस्था संबंधित आवश्यक दिशा निर्देश दिए।

उन्होंने कहा कि फरीदाबाद जिले की कानून व्यवस्था पूरी तरह से कायम है और अभी तक किसी भी प्रकार की अप्रिय घटना घटित नहीं हुई है। पुलिस आगे भी सतर्कता से कार्य करती रहेगी और जिले की कानून व्यवस्था इसी प्रकार कायम रहेगी।

किसानों द्वारा संभावित ट्रैक्टर रैली के मद्देनजर पुलिस प्रशासन द्वारा सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए गए हैं और किसानों द्वारा किए जा रहे प्रदर्शन स्थलों पर कड़ी निगरानी रखी जा रही है।

शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए फरीदाबाद में 25 मुख्य स्थानों पर नाके लगाकर पुलिसकर्मियों की तैनाती की गई है ताकि जिले में किसी भी प्रकार की अप्रिय घटना को घटित होने से रोका जा सके।

इसके साथ ही उन्होंने भीड़भाड़ वाले इलाकों, बाजारों और व्यस्त मुख्य मार्गों पर संदिग्ध प्रकार के व्यक्तियों पर निगरानी रखने के निर्देश दिए।

उन्होंने कहा कि  जिले में  चप्पे-चप्पे पर  पुलिस देगी । 3500 से अधिक पुलिसकर्मी फील्ड में तैनात रहेंगे।

पुलिस अधिकारियों को निर्देश देते हुए उन्होंने कहा कि हमें किसी भी प्रकार की परिस्थिति से निपटने के लिए तैयार रहना है और अपने दैनिक कार्यों के साथ-साथ शहर में शांति व्यवस्था बनाए रखनी है।

2019 में हुई FIR, मुख्य-आरोपी ब्रह्म प्रकाश गोयल की जमानत खारिज हुई फिर भी नहीं पकड़ पायी पुलिस

nakli-rc-case-fir-649-faridabad-police-not-arresting-brahm-prakash-goyal

फरीदाबाद, 22 जनवरी 2021: फरीदाबाद पुलिस आजकल काफी अच्छा काम कर रही है, फरीदाबाद के पुलिस कमिश्नर ओपी सिंह भी अच्छा काम कर रहे हैं लेकिन एक मामले में पुलिस के हाथ खाली हैं. RC फर्जीवाड़े में एक साल पहले 1/11/2019 को FIR दर्ज हुई जिसमें ब्रह्म प्रकाश गोयल मुख्यारोपी थे. यह शिकायत गौरव अरोड़ा ने दर्ज करवाई थी. RTO के कुछ कर्मचारियों की मिलीभगत से नकली RC बनाने का फर्जीवाड़ा चल रहा था.

आश्चर्य इस बात का है कि ब्रह्म प्रकाश गोयल के खिलाफ IPC 406, 420, 467, 468, 471, 120B के तहत FIR-649 दर्ज होने के बाद भी उन्हें आज तक गिरफ्तार नहीं किया जा सका, उन्होंने एंटीसिपेटरी बेल भी लगाई, 18 जनवरी 2021 को सेशन कोर्ट से उनकी बेल खारिज भी हुई, उसके बाद भी ब्रह्म प्रकाश गोयल को गिरफ्तार नहीं किया जा सका. उनकी कंपनी के एक अन्य डायरेक्टर भी इस मामले में बराबर के अभियुक्त हैं, उनकी भी गिरफ्तारी नहीं हुई है.

पुलिस ब्रह्म प्रकाश गोयल को फरार बता रही है, उनका मोबाइल स्विच ऑफ बताया जा रहा है, अब देखते हैं कि वे कितने दिन तक फरार रहते हैं. पुलिस की कार्यवाही सवालों के घेरे में है, यह मामला फिलहाल EOW ब्रांच है, सेक्टर-12 सेंट्रल थाने में FIR दर्ज हुई थी.

इस मामले में 2 आरोपी रेगुलर जमानत पर जेल से बाहर आ गए हैं, तीसरे आरोपी ब्रह्म प्रकाश गोयल ने 14 जनवरी को सेक्टर-12 सेशन कोर्ट में Anticipatory जमानत याचिका लगाई थी, सेशन कोर्ट ने उनकी जमानत याचिका खारिज कर दी.

FIR में क्या लिखा है, पढ़ें

गौरव कुमार पुत्र श्री औम प्रकाश, निवासी म.न नम्बर-826, सैक्टर-9ए, गुरूग्राम, हरियाणा ने Himgiri Auto India Pvt. Ltd. गुरूग्राम से जनवरी, 2018 में 5 गाड़ियां M/s Tirumala Utilities Pvt. Ltd., 995, Sector-19, Faridabad को दिलवाई थी, जिसका Registration मैंने करवाया था, जिनका गाडी नम्बर HR38X1230, HR38X4403, HR38X3618, HR38X3883  HR38X4618 है। जिनकी असली आर०सी० व सारे कागजात मेरे पास है। इस कस्टूमर ने मुझे बोला था कि आप मुझे अपनी कम्पनी से मेरे पैसे रिफंड करवा दो (जो कि रजिस्ट्रेशन एमाउन्ट था), क्योंकि मुझे पैसों की सख्त जरूरत है, मैं आपको ये पैसे आर0सी0 आने पर दे दूंगा। ये सब इसने अपनी सोची-समझी साजिश के तहत मुझे हानि पहुंचाने के लिए किया है। 

रिफंड लेने के बाद इस कस्टूमर ने बिना किसी एफ0आई0आर0 और बिना कोई रसीद कटे, रजिस्टेशन अथोरिटी से दूसरी आर0सी0 बनवा लीं, जिसको मैंने नकली साबित करते हुए दिनांक 30.10.2018 को रजिस्ट्रेशन अथोरिटी को इतला की थी कि इसकी आर0सी0 की जांच की जाये, जिसका उन्होंने मुझे अभी तक कोई जबाव नहीं दिया। मैंने जन सूचना अधिकार अधिनियम 2005 के तहत इनसे सूचना मांगी थी, जिसका जबाव इन्होंने पत्र क्रमांक संख्या 789 दिनांक 25.02. 2019 में जबाव लिखित है। 

मेरे पास जो आर०सी हैं, उनका यूनिक नम्बर 0859836, 0859781, 0853782, 0856796 , 0859797, जिनका चिप नम्बर 060805100D010000010053C7, 060805100D01000001005BC6,060805100D01000001005AC6,060805100D01000001005BC6, 060805100D01000001004AC6 हैं जो कि वाहन पोर्टल की साईट पर रजिस्ट्रर्ड है। 

लेकिन इस कस्टूमर ने जो आर0सी0 नकली बनवाई थी, उनका यूनिक नम्बर 0909343, 0909360, 0909361, 0909358 व 0909359 है। जिनका कोई भी रिकॉर्ड रजिस्ट्रेशन अथोरिटी में दर्ज नहीं है। अतः मेरी आपसे विनती है कि उपरोक्त कस्टूमर गाड़ियों का दुरूपयोग कर रहा है। 

कृपया करके इसकी गाड़ियां जब्त की जायें व इसके खिलाफ IPC 406, 420, 467, 468, 471, 120B के तहत उचित कार्यवाही की जाये और रजिस्ट्रेशन अथोरिटी फरीदाबाद से भी जो भी कर्मचारी इन नकली आर0सी0 को बनवाने में संलिप्त हैं, उसके खिलाफ भी मुकदमा दायर किया जाये। आपकी अति कृपा होगी।

देखिये क्या कहते हैं शिकयतकर्ता गौरव अरोड़ा

फरीदाबाद के हर थाने का बनाया जाएगा फेसबुक पेज, आमजन कर पाएंगे सीधा संपर्क: सीपी ओपी सिंह

faridabad-cp-op-singh-order-facebook-page-every-thana

फरीदाबाद, 21 जनवरी: पुलिस आयुक्त ओपी सिंह ने सभी जोन के पुलिस उपायुक्तों व सहायक पुलिस आयुक्तों के साथ आयोजित एक मीटिंग में आमजन की सुविधा के लिए प्रत्येक थाने का फेसबुक पेज बनाने के निर्देश दिए। 

उन्होंने कहा कि नागरिक संबंधित थाने के फेसबुक पेज से जुड़कर अपने विचार व्यक्त कर पाएंगे और पुलिस विभाग से संबंधित सुझाव भी साझा कर सकेंगे।

पुलिस आयुक्त ने इसके साथ ही जिले में अपराधिक प्रवृत्ति के व्यक्तियों को गिरफ्तार करके जेल भेजने के आदेश भी दिए।

उन्होंने कहा कि कुछ अपराधिक प्रवृत्ति के लोग धरना प्रदर्शन की आड़ में असामाजिक गतिविधियों में शामिल होकर नुकसान पहुंचाने और कानून व्यवस्था भंग करने की कोशिश करते हैं। क्राइम ब्रांच, थाना व बीट अधिकारियों के द्वारा ऐसे लोगों की पहचान करके उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

जिले में अपराधिक प्रवृत्ति के लगभग 7 हजार लोग हैं। जिले के क्राइम ब्रांच, थाना व बीट अधिकारियों के पास इनकी जानकारी उपलब्ध करवाई जाएगी जिससे अपराधियों की पहचान करके उन्हें गिरफ्तार किया जाएगा।

क्राइम ब्रांच, थाना व बीट अधिकारियों द्वारा मोस्ट वांटेड अपराधियों,  पैरोल जंपर, बेल जंपर और किसी भी प्रकार की हिंसक गतिविधियों में शामिल होने वाले व्यक्तियों पर निगरानी रखकर उन पर शिकंजा कसा जाएगा।

उन्होंने कहा कि जनता में सुरक्षा का भाव बना रहे इसलिए समाज में सकारात्मक प्रभाव रखने वाले व्यक्तियों के साथ  बैठक आयोजित करते रहना चाहिए।

अंत में जिले की कानून व्यवस्था से संबंधित आवश्यक दिशा-निर्देश देते हुए बैठक का समापन किया गया।

फरीदाबाद पुलिस द्वारा बल्लभगढ़ में 32 वें सड़क सुरक्षा माह आयोजित किया गया

faridabad-police-road-safety-week-ballabhgarh-news

फरीदाबाद, 20 जनवरी: पुलिस आयुक्त ओ पी सिंह के दिशा निर्देशों के तहत बल्लभगढ़ बस स्टैंड के सामने 32वां सड़क सुरक्षा माह आयोजित किया गया।

इस आयोजन में सहायक पुलिस आयुक्त श्री जयवीर राठी थाना बल्लभगढ़ सिटी प्रभारी इंस्पेक्टर सुदीप, सब इंस्पेक्टर उमेश कुमार, ट्रैफिक ताऊ श्री वीरेंद्र, TI इंस्पेक्टर नरेंद्र, ZOs, अन्य पुलिसकर्मी व एस के शर्मा सहित कई रोड सेफ्टी ऑफिसर मौजूद रहे।

इस कार्यक्रम में लोगों को सुरक्षा हेतु यातायात नियमों का पालन करने बारे जागरूक किया गया.

सहायक पुलिस आयुक्त श्री जयवीर राठी नी लोगों को सड़क पर यात्रा करते समय सुरक्षा संबंधी सभी सावधानियां बरतने की हिदायत दी।

दो पहिया वाहन चालकों को हेलमेट व गाड़ी चालकों को सीट बेल्ट लगाने के बारे में जागरूक किया गया।

उन्होंने कहा कि दुर्घटना से देरी भली है इसलिए वाहन चलाते समय जल्दबाजी ना करें और ध्यानपूर्वक गाड़ी चलाएं ताकि आप अपने साथ-साथ दूसरों को भी सुरक्षित रख सकें।

DCP अर्पित जैन ने DAV पुलिस पब्लिक स्कूल में सुलेख प्रतियोगिता में किया पुरस्कार वितरण

faridabad-dcp-dr-arpit-jain-dav-police-public-school-prize-distrbution

फरीदाबाद, 20 जनवरी: डीएवी पुलिस पब्लिक स्कूल में आयोजित सुलेख प्रतियोगिता का पुरस्कार वितरण समारोह आयोजित किया गया जिसमें पुलिस उपायुक्त डॉ अर्पित जैन ने मुख्य अतिथि के रुप में शिरकत की।

मुख्य अतिथि के रुप में डॉक्टर अर्पित जैन के साथ-साथ जिला शिक्षाधिकारी श्रीमती सत्येंद्र कोर, डीएवी कमेटी के क्षेत्रीय प्रबंधक श्री एसएस चौधरी व स्कूल प्रबंधक श्री विमल कुमार दास भी मौजूद थे।

स्कूल प्रधानाचार्य श्रीमती हेमा अरोड़ा द्वारा पगड़ी पहनाकर अतिथियों का स्वागत किया गया।

आपको बता दें कि 12 जनवरी राष्ट्रीय युवा दिवस पर दक्ष फाउंडेशन, आइसोमार्स और इंडियन आर्ट गिल्ड द्वारा अलंकृति नामक सुलेख प्रतियोगिता आयोजित की गई थी आज जिसका पुरस्कार वितरण समारोह आयोजित किया गया था.

30 स्कूलों के कक्षा 6 से 12 के सभी छात्रों ने इस प्रतियोगिता में भाग लिया। उन्होंने सुलेख के विभिन्न रूपों जैसे लैमर पेन,  एफ्रोडाइट स्लिम प्रो, हमिंग बर्ड, ओल्ड इंग्लिश आदि में अपने लेखन कौशल का प्रदर्शन किया।

जूरी के सदस्यों ने छात्रों की लेखन शैली, विरासत, सुंदरता, पैटर्न, सौन्दर्यकर्ण के आधार पर छात्रों द्वारा लिखे गए लेख का मूल्यांकन किया।

पुलिस उपायुक्त ने छात्रों को पुरस्कार तथा प्रमाण पत्र वितरित करते हुए अपने अनुभवों को साझा किया और छात्रों का मनोबल बढ़ाते हुए विभिन्न प्रतियोगिताओं में भाग लेने के लिए प्रोत्साहित किया।

डॉ अर्पित जैन ने बच्चों को हमेशा रचनात्मकता से जीने और अभिनव, सरल और दूरदर्शी बनने की सलाह दी।

उन्होंने छात्रों को उनकी वास्तविक क्षमता और हुनर की पहचान करके उसमें ओर ज्यादा निखार लाने के लिए प्रेरित किया।

उन्होंने कहा कि आप बड़े सपने देखें और उन्हें पूरा करने के लिए दृढ़ निश्चय के साथ मेहनत करें।

कुल मिलाकर यह उत्सव छात्रों को सफलता की यात्रा में मील का पत्थर स्थापित करने के लिए प्रोत्साहित करते हुए एक खुशपत्र के साथ संपन्न हुआ। 

पुलिस लाइन में निशुल्क नेत्र जांच शिविर में डॉक्टरों ने 7 लोगों में की मोतियाबिन्द की पहचान

faridabad-police-line-free-eye-check-up-camp-news

फरीदाबाद, 20 जनवरी 2021: पुलिस उपायुक्त डॉ अर्पित जैन की पहल से फरीदाबाद पुलिस लाइन  में सेंटर फॉर साइट आई हॉस्पिटल द्वारा आयोजित निशुल्क नेत्र जांच शिविर में पुलिसकर्मियों के साथ साथ आमजन ने भी बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया। 

शिविर में कुल 88 लोगों के आंखों की जांच की गई जिसमें से 7 लोगों को मोतियाबिंद पाया गया और कुछ लोगों को उनके चश्मा का नंबर बताया गया।

जांच के लिए आए लोगों को आंखों को प्रदूषण व अन्य बीमारियों से बचाने के बारे में जागरूक भी किया गया।

सेंटर फॉर साइट आई हॉस्पिटल की तरफ से डॉ अपर्णा त्रिपाठी मार्केटिंग मैनेजर अजय कुमार व उनकी टीम ने लोगों की आंखों का परीक्षण किया।

डॉ अपर्णा त्रिपाठी ने मोतियाबिंद से ग्रसित लोगों को उनकी आंखों के इलाज के लिए दवाइयों के बारे में भी जानकारी दी।

उन्होंने कहा कि शरीर के अन्य अंगों की तरह आंखों का ख्याल रखना भी अति महत्वपूर्ण है इसलिए अपनी आंखों की समय-समय पर जांच करवाते रहना चाहिए और किसी भी प्रकार की दिक्कत होने पर डॉक्टर को दिखाना चाहिए।

इस आयोजन में मुख्य अतिथि पुलिस उपायुक्त डॉ अर्पित जैन  मौजूद रहे। उन्होंने ने कहा कि पुलिसकर्मी दिन रात धूल मिट्टी में कड़ी ड्यूटी करते हैं इससे उनकी आंखों पर बुरा प्रभाव पड़ता है जिसकी वजह से आंखों में कई तरीके की बीमारियां पैदा हो जाती हैं इसलिए उनकी आंखों की निशुल्क जांच के लिए इस शिविर का आयोजन किया गया है।

कंट्रोल रूम पर सूचना मिलते ही मदद के लिए तुरंत पहुंचेगी पुलिस की पीसीआर: CP ओपी सिंह

cp-op-singh-police-control-room-help

फरीदाबाद, 20 जनवरी: जनहित व पुलिस प्रणाली में सुधार करने की अपनी कार्यशैली के लिए अलग पहचान के लिए जाने जाने वाले पुलिस कमिश्नर ओपी सिंह ने आज पुलिस आयुक्त कार्यालय में कंट्रोल रूम (डायल 100) सेवा की समीक्षा की जिसके दौरान उन्होंने कहा कि किसी भी आपातकालीन स्थति में फरीदबाद शहर के लोगो द्वारा 100 नंबर डायल करते ही आस-पास की पीसीआर वैन जरुरतमंद की सहायता के लिए उसके पास पहुँच जायेगी।

उन्होंने कहा कि जनता पुलिस विभाग से सम्बंधित किसी भी समस्या के लिए 100 नंबर डायल कर सकती है और आम जनता की समस्याओ के निवारण के लिए कण्ट्रोल रूम में तैनात स्टाफ की कार्य प्रणाली व पुलिस सहायता के लिए घटनास्थल/मौके पर पहुंचे सम्बंधित अधिकारी के कार्य की समीक्षा के लिए राजपत्रित अधिकारी नियुक्त किए जाएंगे।

पुलिस कमिश्नर ओपी सिंह के निर्देशानुसार अब एक राजपत्रित आधिकारी घटनास्थल/मौके पर गए हुए अनुसंधान अधिकारी से मामले की जानकारी लेकर शिकायतकर्ता से फीडबैक लेंगे और शिकायतकर्ता से पूछा जाएगा कि क्या वह पुलिस की सहायता से संतुष्ट हैं अथवा नहीं, जिसके बाद अनुसंधान अधिकारी द्वारा किए गए कार्य की समीक्षा की जाएगी।

पुलिस कमिश्नर श्री ओपी सिंह ने डायल 100 नंबर की समीक्षा में पाया कि कण्ट्रोल रूम में प्रतिदिन लगभग 50 हजार से 70 हजार कॉल आती है। 

19 जनवरी 2021 को वॉयस लोगर कॉल 69039, मिस्ड/साइलेंट कॉल 145, चिल्ड्रेन कॉल 11, एक्शन कॉल 156, इन्क्वारी कॉल 56, वरोंग कॉल 14, दुसरे जिलो से सम्बन्धित 54 कॉल के साथ सम्पूर्ण 436 कॉल प्राप्त हुई. ज्यादातर कॉल आने के कारण काफी बार डायल 100 नंबर व्यस्त हो जाता है जिसे तत्काल सुधारा जा रहा है जिससे आमजन को भविष्य में ऐसी परेशानियों का सामना ना करना पड़े.

पुलिसकर्मी ने किया अच्छा काम, कूड़ा बीनने वाले एक गरीब व्यक्ति का सड़क पर मिला मोबाइल लौटाया

faridabad-sipahi-karmveer-news-return-poor-mobile

फरीदाबाद, 19 जनवरी: आमतौर पर पुलिस महकमे की छवि को नकारात्मक नजरिये से देखा जाता है, जिसमे अक्सर यह देखने को मिलता है कि पुलिस अपना काम ढंग से नहीं करती और रिश्वत लेती है परन्तु फरीदाबाद के पुलिस आयुक्त कार्यालय के सिपाही कर्मबीर ने ईमानदारी और दृढनिश्चिता की एक ऐसी मिसाल पेश की जो लोगों को ईमानदारी की राह पर चलने के लिए प्रेरित करती हैं.

दरअसल पुलिस आयुक्त कार्यालय में सुबह कार्यालय आते समय सिपाही कर्मबीर को सड़क पर मोबाइल पड़ा हुआ दिखाई दिया।

सिपाही कर्मबीर ने अपना कर्तव्य निभाते हुए मोबाइल को अपने पास न रखकर इसे उसके असल मालिक तक पहुँचाने का निश्चय किया और वहाँ आसपास के लोगों और दुकानदारों से उस फ़ोन के मालिक के बारे में पूछताछ शुरू कर दी| बहुत देर पूछताछ करने के पश्चात् भी फ़ोन का मालिक नहीं मिला।

इसके बाद कर्मबीर मोबाइल को लेकर पुलिस आयुक्त कार्यालय में वापिस लौटे और इसके बारे में सहपुलिसकर्मियों को बताया।

इसी बीच अज्ञात फोन पर एक कॉल आया, कॉल रिसीव कर बात की गई तो वह कॉल फोन मोबाइल के असल मालिक के दोस्त का था। उसने बताया कि नत्थू सिंह जो बड़खल पुल के नीचे झुग्गी में रहता है वह इस मोबाइल का असल मालिक है जो कि कूड़ा बिनने का काम करता है । कर्मबीर ने फोन मालिक के दोस्त को बताया कि यह फोन पुलिस आयुक्त कार्यालय के सामने सड़क पर गिरा पड़ा मिला तथा नत्थू सिंह को अपना मोबाइल वापस लेने के लिए संपर्क करने को कहा। पुलिसकर्मी कर्मबीर ने नत्थू सिंह से मिलकर उनको उनका फोन लौटाया।

इस दौरान नत्थू सिंह ने बताया कि वह रोजाना की तरह सुबह-सुबह कूड़ा बिनने के लिए घर से निकला था और उनका मोबाइल कहीं गुम हो गया है| इसके पश्चात् वह बहुत ही ज्यादा परेशान हो गया था क्योंकि उसने बताया कि वह मुश्किल से ही अपने परिवार का पालन पोषण कर पाता है और अचानक से उसका मोबाइल जो कि उसके लिए बहुत ही कीमती वस्तु है और बहुत ही मेहनत करने के बाद पैसे इक्कठे करके खरीदा था उसके गुम हो जाने के बाद वह काफी निराश और हताश सा हो गया था।

नत्थू सिंह ने मोबाइल वापस लेते समय पुलिसकर्मचारी कर्मबीर को नम आंखों से भगवान का फरिश्ता बताते हुए कहा कि मुझ गरीब द्वारा अब दोबारा ऐसा मोबाइल नहीं खरीदा जाता और आजकल मोबाइल एक बहुत ही ज्यादा जरूरत की वस्तु हो गई है आपने मुझे मेरा मोबाइल वापस देकर मुझ गरीब पर बहुत बड़ी मेहरबानी की है।

उधर पुलिस कर्मचारी कर्मबीर ने नत्थू सिंह को भविष्य में अपना मोबाइल संभालकर रखने की हिदायत देते हुए कहा कि ईमानदार व्यक्ति हमेशा अपने जीवन में तरक्की पाते हैं, और दूसरों को आगे बढ़ने के लिए प्रोत्साहित करते हैं। ईमानदारी से न सिर्फ किसी का भरोसा जीता जा सकता है बल्कि किसी भी रिश्ते को मजबूत किया जा सकता है और आत्मनिर्भर बना जा सकता है।

ईमानदारी के साथ जी गई जिंदगी सही मायने में जिंदगी होती है। इसलिए ईमानदारी का मनुष्य के जीवन में बहुत महत्व है। समाज में इस तरह की घटनाओं से आने वाली नई पीढ़ी को ईमानदारी की राह पर चलने की प्रेरणा मिलती है।

पाली स्कूल में पहुंचकर CP ओपी सिंह ने भरा विद्यार्थियों में जोश, कामयाब होने के दिए गुरुमंत्र

faridabad-pali-school-cp-op-singh-inaugurated-development-project

फरीदाबाद, 19 जनवरी 2021: पुलिस आयुक्त ओपी सिंह ने आज स्थानीय ग्राम पाली स्थित दो स्कूलों में लगवाए गए सोलर एनर्जी सिस्टम स्मार्ट क्लास व सीसीटीवी निगरानी सिस्टम सहित अन्य कई विकास कार्यो का मुख्य अतिथि के रूप में पधार कर उद्घाटन किया।

कार्यक्रम के आयोजक श्याम वीर भड़ाना ने मुख्य अतिथि पुलिस आयुक्त ओ पी सिंह को फूल माला पहनाकर करके उनका भव्य स्वागत किया।

पुलिस आयुक्त के साथ पुलिस उपायुक्त डॉ अर्पित जैन भी प्रमुख रूप से उपस्थित थे.

श्री सिंह ने दोनों स्कूलों में पीपल का पौधा लगाकर पौधारोपण किया व क्लासरूम्स का दौरा किया।

गर्ल्स स्कूल की छात्राओं ने पुलिस आयुक्त के स्वागत में “करते हैं स्वागत आपका” गीत गाया।

राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय पाली के प्रांगण में आयोजित समारोह को संबोधित करते हुए श्री सिंह ने बच्चों के उज्जवल भविष्य की कामना करते हुए कहा कि बच्चों को पूरी लगन व गंभीरता के साथ सफलता हासिल करके अपने सामान्य ज्ञान को भी मजबूत बनाना चाहिए तभी कामयाबी उनके चरण चूमेगी।

उन्होंने कहा कि बच्चों की जिस क्षेत्र में रूची है उसी में और मेहनत करके सर्वश्रेष्ट बने. उन्होंने बच्चों को अपने क्षेत्र में सिद्धि प्राप्त करके अपनी वैल्यू क्रिएट करने और प्रॉब्लम सॉल्वर बनने के लिए प्रेरित किया।

उन्होंने कहा कि बच्चे अपने आपको किसी से कम न आंके। हर इन्सान किसी न किसी क्षेत्र में श्रेष्ट होता है. इसलिए अपने आप पर विश्वास रखें और हुनर की पहचान करके उसमे और निखार लाएँ।

पुलिस आयुक्त ने पढाई के साथ-साथ समाज से सरोकार रखकर रिलेशन मैनेजमेंट बनाने पर जोर दिया और कहा कि अपने परिवार और साथियों से बातचीत करके किसी भी समस्या का हल निकाला जा सकता है.

शिक्षकों को भी बच्चों में सवाल पूछने की प्रवृति को बढ़ाने के बारे में कहा गया जिससे उनमे दुसरे लोगों का नजरिया जानने में मदद मिल सके और उनमे ज्ञान का विस्तार हो सके.

उन्होंने के लोगों की भी तारीफ करते हुए कहा कि गांव के लोग शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए में विशेष योगदान दे रहे हैं और इसी के तहत स्कूल में सुविधाएं प्रदान किए हैं.

उन्होंने गांव की प्रतिभाशाली मेडलिस्ट खिलाड़ी कुमारी किरण व खिलाड़ी लक्ष्य को भी सम्मानित किया। समारोह में उपस्थित छात्र राजू ने भगत सिंह की कविता गाकर समा बाँध दिया जिससे खुश होकर पुलिस आयुक्त ने उसे प्रशंसा पत्र देकर समान्नित किया।

इस समारोह में उपस्थित छात्रा भूमि ने कहा कि उसका डॉक्टर बनने का सपना है जिसपर पुलिस उपायुक्त डॉ अर्पित जैन ने प्रिंसिपल महोदया से कहा कि जो छात्र-छात्राएं डॉक्टर बनना चाहते हैं वह उन्हें लेकर उनके कार्यालय में आएं| वह बच्चों के साथ मीटिंग करके उनका मार्गदर्शन करेंगे।

श्यामवीर भड़ाना व उनकी पत्नी मधु भडाना ने आयुक्त ओपी सिंह को स्मृति चिन्ह व शाल भेंट करके सम्मानित किया उन्होंने पुलिस उपायुक्त मुख्यालय अर्पित जैन राजकीय बाल वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय पाली की प्राचार्या श्रीमती मनदीप कौर राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय पाली की प्राचार्या श्रीमती दीप्ति यादव व स्वागत गीत प्रस्तुत करने वाले कई छात्र-छात्राओं को शाल व प्रशस्ति पत्र आदि भेंट करके सम्मानित किया।

श्याम ने कहा कि उनका सपना है कि उनके गांव के छात्र छात्राओं के अलग-अलग यह दोनों स्कूल सभी आधुनिक सुविधाओं सहित मॉडल संस्कृति स्कूल बने. वह अपने पाली गांव को जगमग गांव बनाकर सभी प्रकार की मूलभूत सुविधाओं से युक्त करवाना अपना परम कर्तव्य मानते हुए समर्पित होकर कार्य करने में जुटे हुए हैं.

इस अवसर पर मौजूद ग्राम पाली के प्रमुख लोगों में शामिल गर्ल्स स्कूल प्राचार्या मंदीप कौर, बॉयज स्कूल की प्राचार्या दीप्ति यादव, नंदराम भड़ाना, टेकराम, सूबेदार दुलीचंद, नंबरदार राजवीर दयानंद, जसवीर चेयरमैन, राजवीर  भड़ाना, नरेश, गेपिल कंपनी के प्रतिनिधि विवेक सहित कई अन्य लोगों ने भी मुख्य अतिथि ओपी सिंह को फूल मालाएं व पुष्पगुच्छ भेंट करके उनका जोरदार स्वागत किया।

 इस अवसर पर एसीपी बड़खल सुखबीर सिंह, डबुआ थाना प्रभारी संदीप कुमार, पाली चौकी प्रभारी ओमप्रकाश, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पाली के प्रभारी डॉ राजेश सहित कई अन्य अधिकारियों सहित भारी तादाद में गांव के गणमान्य लोग उपस्थित थे.

घर से नाराज होकर निकली 13 वर्षीय लड़की को पुलिस ने मात्र 3 घंटे में गुड़गांव से किया बरामद

faridabad-sarai-khwaja-thana-police-searched-missing-13-year-girl

फरीदाबाद, 18 जनवरी 2021: थाना सराय ख्वाजा प्रभारी इंस्पेक्टर दयानंद व उनकी टीम ने घर से नाराज होकर निकली 13 वर्षीय लड़की को गुरुग्राम से सकुशल बरामद करने में सफलता हासिल की है।

दिनांक 17 जनवरी 2021 को दोपहर करीब 12:00 बजे लड़की के परिजनों ने पुलिस को शिकायत दी जिसमें उन्होंने बताया कि उनकी 13 वर्षीय लड़की सुमन (बदला हुआ नाम) बिना बताए कहीं चली गई है।

लड़की के परिजनों ने बताया कि लड़की का पिता शराब पीता है और शराब पीकर उसने लड़की को किसी बात को लेकर डांट दिया था जिससे वह नाराज होकर घर से चली गई है।

उन्होंने बताया कि उन्होंने लड़की को ढूंढने की बहुत कोशिश की परंतु उसका कोई पता नहीं लग पाया है।

लड़की के परिजनों की शिकायत पर थाना सराय में मुकदमा दर्ज किया गया। थाना प्रभारी इंस्पेक्टर दयानंद ने लड़की की तलाश के लिए टीम गठित की और लड़की को ढूंढने के आदेश दिए।

काफी समय लड़की की तलाश करने के पश्चात पुलिस को गुप्त सूत्रों से सूचना मिली कि लड़की गुड़गांव में सेक्टर 56 में है जो सूचना पर तुरंत कार्रवाई करते हुए पुलिस टीम गुड़गांव पहुंची और लड़की को मात्र 3 घंटे में सकुशल बरामद किया गया।

लड़की को बरामद करके उसके परिजनों के हवाले किया गया और उन्हें अपनी लड़की के साथ शांतिपूर्वक तरीके से बातचीत करने की हिदायत दी।

लड़की के परिजनों ने पुलिस टीम के कार्य की सराहना करते हुए उन्हें धन्यवाद दिया और अपनी लड़की को सकुशल अपने साथ ले गए।

पुलिस आयुक्त श्री ओपी सिंह ने पुलिस टीम के कार्य को सराहते हुए उन्हें प्रशंसा पत्र दिया और भविष्य में ऐसे ही मेहनत के साथ अपना कर्तव्य निभाने के लिए प्रेरित किया। 

वैक्सीनेशन पूर्ण होने तक पुलिस काटती रहेगी चालान, पहनकर निकलें मास्क, अबतक 3.66 करोड़ जुर्माना

faridabad-police-will-mask-challan-till-vaccination-complete

फरीदाबाद, 16 जनवरी 2021कोरोना वैक्सीन बाजार में आ चुकी है परंतु कोरोना से बचाव के लिए मास्क लगाना अभी भी अनिवार्य है। 

जब तक वैक्सीनेशन प्रोग्राम पूर्ण रूप से संपन्न नहीं हो जाता फरीदाबाद पुलिस लोगों को इस महामारी से बचाने का हरसंभव प्रयास करती रहेगी।

नवीनतम आंकड़ों के अनुसार फरीदाबाद पुलिस ने कल 2486 लोगों को नुक्कड़ सभाएं करके कोरोना बारे जागरूक किया और मास्क ना पहनने वाले 107 लोगों के चालान किए हैं।

इसके अलावा पुलिस ने कोरोनावायरस के दौरान अभी तक 73318 लोगों के चालान किए हैं और साथ ही नुक्कड़ सभाएं करके 4,58,826 लोगों को कोरोनावायरस के प्रति जागरूक भी किया है।

पुलिस उपायुक्त मुख्यालय, डॉक्टर अर्पित जैन ने कहा कि फरीदाबाद की जनता ने पुलिस प्रशासन का बहुत सहयोग किया है। बस अब कुछ समय ओर हमें  इस महामारी से बचने के लिए सावधानी बरतने की आवश्यकता है।

उन्होंने कहा कि देश में आज से वैक्सीनेशन प्रोग्राम शुरू हो चुका है। जब हर व्यक्ति को कोरोनावायरस की वैक्सीन लग जाएगी उसके पश्चात इसका खतरा लगभग खत्म हो जाएगा,  जनता से अनुरोध है कि सावधानी बरतकर अपने और अपने परिवार की सुरक्षा करने में पुलिस प्रशासन का सहयोग करें।

आगरा से भटककर फरीदाबाद आयी 12 वर्षीय नादान बालिका को पुलिस ने गाडी भेजकर पहुँचाया घर, CP खुश

faridabad-police-help-missing-12-year-minor-girl-news

फरीदाबाद, 15, जनवरी 2021: पुलिस चौकी सेक्टर 19 प्रभारी उप-निरीक्षक कैलाश ने जिंदादिली की मिसाल पेश करते हुए मानसिक रूप से बीमार चल रही 12 वर्षीय युवती को गाड़ी भेजकर उसके परिजनों के पास आगरा पहुंचाया है। 

दिनांक 13 जनवरी 2021 को चौकी प्रभारी अपनी टीम के साथ थाना क्षेत्र में गश्त कर रहे थे कि बड़खल चौक के पास  पेट्रोल पंप पर उन्हें एक छोटी लड़की दिखाई दी जोकि अजमेर जाने का रास्ता पूछ रही थी।

उप-निरीक्षक कैलाश ने लड़की से उसके और उसके परिजनों के बारे में पूछा तो उसने बताया कि उसका नाम ज्योति (बदला हुआ नाम) है। वह आगरा के जवाहर पुरम कॉलोनी की रहने वाली है और अजमेर जाना चाहती है।

लड़की के हाव-भाव और बात करने के तरीके से पुलिस टीम को लगा कि वह मानसिक रूप से बीमार है।

चौकी प्रभारी ने लड़की से उनके परिजनों का फोन नंबर पूछा परंतु वह इसे बताने में असमर्थ थी।

चौकी प्रभारी कैलाश को लगा कि यदि लड़की को उसके परिजनों के पास नहीं पहुंचाया गया तो उसके साथ किसी भी प्रकार की अप्रिय घटना घटित हो सकती है इसलिए अति शीघ्र इसे अपने परिजनों के पास पहुंचाना चाहिए।

लड़की की मदद करने के उद्देश्य से उन्होंने इंटरनेट से नंबर निकालकर आगरा के कई पुलिस थानों में संपर्क करके संबंधित पुलिस थाने से उसके परिजनों का पता लगवाया।

लड़की के परिजनों से बात करके पता चला कि लड़की के पिता की मृत्यु हो चुकी है और लड़की की मां आर्थिक तंगी के चलते उसे लेने फरीदाबाद नहीं आ सकती थी।

लड़की को सुरक्षित उसके परिजनों के पास पहुंचाया जा सके इसलिए चौकी प्रभारी कैलाश ने कानूनी प्रक्रिया पूरी करने के पश्चात महिला पुलिसकर्मी सहित तीन पुलिसकर्मियों को लड़की के साथ भेजकर उसके घर तक पहुंचाया।

लड़की के परिजन लड़की को वापस पाकर बहुत खुश हुए और उन्होंने पूरी पुलिस टीम को तहे दिल से धन्यवाद दिया और कहा कि यदि वह नहीं होते तो उनकी लड़की के साथ कोई भी अप्रिय घटना घटित हो सकती थी परंतु पुलिस ने सक्रिय रूप से कार्य करते हुए उनकी लड़की को सुरक्षित उन तक पहुंचा दिया।

पुलिस आयुक्त श्री ओपी सिंह ने चौकी प्रभारी व उनकी टीम की हौसला अफजाई करते हुए उन्हें प्रथम श्रेणी प्रशंसा पत्र प्रदान किया और भविष्य में इसी प्रकार लोगों की मदद करते रहने के लिए प्रेरित किया।

मेहनत का खाओ, संकट से मत डरो, बोलकर, युवाओं के साथ अरावली के 20km खतरनाक जंगल में घुस गए CP OP SINGH

faridabad-cp-opsingh-tracking-aravali-jangal-with-youth-12-january

फरीदाबाद, 13 जनवरी: फरीदाबाद के पुलिस कमिश्नर ने स्वामी विवेकानंद जयंती और उन्हीं के सम्मान में 12 जनवरी को मनाये जाने वाले युथ डे पर अरावली के जंगलों में एक कार्यक्रम आयोजित किया गया जिसे ट्रैकिंग का नाम दिया गया.

यह दौड़ आसान नहीं थी, करीब 20 किलोमीटर जंगल में कंकड़, पत्थर और काँटों भरे रास्ते में खतरनाक जंगली जानवरों का सामना भी करना पड़ सकता था, कुछ लोग यह भी बता रहे थे कि इस वक्त जंगल में कुछ चीते, तेंदुए और अन्य खतरनाक जानवर हैं, लेकिन सीपी साहब ने युवाओं को संकट से ना घबराने की नसीहत देते हुए उनका हौसला मजबूत किया और उन्हें साथ लेकर खतरनाक सफर पर निकल पड़े, देखिये यह वीडियो - 


सीपी साहब ने कहा क़ि जिंदगी में रिष्क लेने से कभी घबराना चाहिए, संकटों का डटकर सामना करना चाहिए और मेंहनत करके खाना चाहिए, मेहनत करने से हमें जो रोटी मिलती है वो हमें इज्जत देती है. उन्होंने ट्रैकिंग से पहले युवाओं को प्रेरणाश्रोत भाषण दिया और उनका मार्गदर्शन किया, देखिये ये वीडियो -  


इस खतरनाक और रोमांचक सफर में युवाओं को ऐसी ऐसी अद्भुत चीजें दिखीं कि वे सीपी साहब की तारीफ करते नहीं थके, उन्होंने कहा कि दौड़ लगाते हुए हम काफी थक गए लेकिन हम सीपी साहब का धन्यवाद करते हैं कि वह हमें ऐसे रोमांचक सफर पर ले गए, रास्ते में हमने कई झीलें, कई पहाड़, कई जानवर देखे, कई जगह हमें रास्ता ढूंढने में बहुत परेशानी हुई लेकिन हमने इधर उधर भटककर रास्ता ढूंढा और मंजिल पर पहुँच गए, देखिये यह वीडियो - 


आपकी जानकारी के लिए बता दें कि यह ट्रैकिंग सूरजकुंड कान्त एन्क्लेव से शुरू हुई और मांगर चौक पर ख़त्म हुई, करीब 20 किलोमीटर का सफर था, कुछ लोग 22 किलोमीटर भी बता रहे हैं. सीपी ओपी सिंह से इस दौड़ में पहले, दूसरे और तीसरे स्थान पर आने वाले युवाओं को 3000, 2000 और 1000 रुपये का ईनाम दिया और अन्य सभी को एक सर्टिफिकेट देने की घोषणा की. सीपी साहब ने कार्यक्रम के अंत में युवाओं और फरीदाबाद की जनता को एक प्रेरणाश्रोत भाषण दिया, देखिये वीडियो - 

जुलाई 2020 से दिसंबर 2020 की समयावधि में फरीदाबाद पुलिस द्वारा हासिल की गई उपलब्धियां पढ़ें

faridabad-police-work-july-2020-december-2020

1. 671 बीट अधिकारियों ने 88,794 परिवारों का दौरा किया और शिकायतकर्ताओं को चालान और एफआईआर की 5,428 प्रतियां दीं। 13,981 स्ट्रीट कॉर्नर मीटिंग कीं और COVID-19, साइबर धोखाधड़ी, सुरक्षा सावधानी बरतने और कानूनों का स्वेच्छा से पालन करने के बारे में लोगों को जागरूक किया। इन बैठकों में 2,23,767 लोगों ने हिस्सा लिया। बीट अधिकारियों ने 357 युवा क्लबों का गठन किया और 16,789 युवाओं को सदस्य के रूप में नामांकित किया।

2. पुलिस ने 536 गुमशुदा व्यक्तियों में से 412 को बरामद किया। इस अवधि में विवाह के उन्मूलन और अपहरण के 183 में से 138 मामलों को भी हल किया गया।

3. संपत्ति से सम्बंधित अपराधों की श्रेणी में पुलिस ने इस अवधि में 4 डकैती, 6 लूट, 58 स्नैचिंग, 67 सेंधमारी, 71 चोरी और 157 वाहन चोरी के मामलों में 384 अपराधियों को गिरफ्तार किया।

4. स्थानीय और विशेष कानूनों के तहत पुलिस ने 686 आबकारी, 548 जुआ, 115 एनडीपीएस व 173 हथियार अधिनियम के तहत मामले दर्ज किए. 

5. पुलिस ने 186 घोषित अपराधियों, 247 जमानतकर्ताओं, 17 मोस्ट वांटेड (जिनपर इनाम घोषित किया जा चूका है) और 1 पैरोल जम्पर को गिरफ्तार किया।

6. पुलिस ने प्रधानमंत्री शिकायत पोर्टल पर दर्ज 1125 में से 1051, सीएम विंडो पर दर्ज 1709 में से 1533, हरसमय पोर्टल पर दर्ज 1505 में से 1437, कमिशन में प्राप्त 440 में से 406, पुलिस हेडक्वार्टर में प्राप्त 1180 में से 1147 और गृह मंत्रालय में प्राप्त 516 में से 493 शिकायतों का निस्तारण किया। 

7. पुलिस आयुक्त फरीदाबाद कार्यालय में प्राप्त 5582 शिकायतों में से 5525 का पुलिस ने निपटारा किया। डाक द्वारा पुलिस आयुक्त कार्यालय में प्राप्त 873 शिकायतों में से 702 का भी निस्तारण किया गया।

8. पुलिस कमिश्नर ने इस अवधि के दौरान 1299 शिकायतकर्ताओं से मुलाकात की और उनकी शिकायतों का मौके पर निवारण किया।

9. पुलिस ने इस अवधि में COVID-19 के बारे में लोगों को जागरूक करने के लिए 8,278 स्ट्रीट कॉर्नर मीटिंग की और 4,19,709 लोगों को संबोधित किया। 1,11,050 मास्क वितरित किए गए और मास्क न पहनने वाले 69,677 लोगों का चालान किया गया। कोरोना पॉजिटिव रोगियों के 21,101 संपर्कों को ट्रेस करने में जिला प्रशासन की भी मदद की।

10. 292 में से 291 पुलिसकर्मी कोरोनो संक्रमित होने के पश्चात् ठीक हो गए। दुर्भाग्यवश एक पुलिसकर्मी की मृत्यु हो गई जब वह यूपी में अपने परिवार से मिलने गया था. 

11. इसी अवधि में, समाचार पत्रों ने 6554 सकारात्मक रिपोर्ट प्रकाशित कीं, इसी के साथ ही टीवी में 349 सकारात्मक अपराध रिपोर्ट प्रसारित हुई। 

12. पुलिस आयुक्त, फरीदाबाद ने इस अवधि में क्षेत्र के सकारात्मक प्रभावशाली व्यक्तियों के साथ 26 बैठकें की जिसमे 624 लोगों ने भाग लिया। पुलिस आयुक्त ने लोगों के बीच सुरक्षा की भावना पैदा करने के लिए पुलिस संसाधनों का सर्वोत्तम तरीकों से उपयोग करने बारे अपने विचार भी मांगे।

13. ऑनलाइन भरे गए IIF के प्रतिशत में, फरीदाबाद पुलिस राज्य में जुलाई 2020 के चौदहवें स्थान से दिसम्बर 2020 में चौथे स्थान पर आ गई है।

कमिश्नर ऑफिस में किया गया निशुल्क नेत्र जांच शिविर का आयोजन, 88 लोगों ने करवाई आंखों की जांच

faridabad-cp-office-eyes-check-up-camp-for-police-public

फरीदाबाद, 6 जनवरी: फरीदाबाद: पुलिस उपायुक्त डॉ अर्पित जैन की पहल से पुलिस आयुक्त कार्यालय में सेंटर फॉर साइट आई हॉस्पिटल द्वारा आयोजित निशुल्क नेत्र जांच शिविर में पुलिसकर्मियों के साथ साथ आमजन ने भी बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया। 

शिविर में कुल 88 लोगों के आंखों की जांच की गई जिसमें से 3 लोगों को मोतियाबिंद पाया गया और कुछ लोगों को उनके चश्मा का नंबर बताया गया।

जांच के लिए आए लोगों को आंखों को प्रदूषण व अन्य बीमारियों से बचाने के बारे में जागरूक भी किया गया।

सेंटर फॉर साइट आई हॉस्पिटल की तरफ से डॉ बरखा मेहता और उनकी टीम ने लोगों की आंखों का परीक्षण किया।

डॉ बरखा मेहता ने मोतियाबिंद से ग्रसित लोगों को उनकी आंखों के इलाज के लिए दवाइयों के बारे में भी जानकारी दी।

उन्होंने कहा कि शरीर के अन्य अंगों की तरह आंखों का ख्याल रखना भी अति महत्वपूर्ण है इसलिए अपनी आंखों की समय-समय पर जांच करवाते रहना चाहिए और किसी भी प्रकार की दिक्कत होने पर डॉक्टर को दिखाना चाहिए।

इस आयोजन में मुख्य अतिथि पुलिस उपायुक्त डॉ अर्पित जैन  मौजूद रहे। उन्होंने ने कहा कि पुलिसकर्मी दिन रात धूल मिट्टी में कड़ी ड्यूटी करते हैं इससे उनकी आंखों पर बुरा प्रभाव पड़ता है जिसकी वजह से आंखों में कई तरीके की बीमारियां पैदा हो जाती हैं इसलिए उनकी आंखों की निशुल्क जांच के लिए इस शिविर का आयोजन किया गया है।

जान देने के लिए नहर में कूद गयी 15 वर्षीय युवती, लेकिन पुलिसकर्मियों ने भी कूदकर बचा लिया

faridabad-police-save-girl-life-in-agra-nahar-news-in-hindi

फरीदाबाद, 6 जनवरी: जिला पुलिस की बहादुरी और बुद्धिमता की जितनी दात दी जाए कम है। पुलिस कर्मचारियों ने कर्तव्य ईमानदारी और मानवता की ऐसी मिसाल पेश की है जो हर नागरिक के लिए प्रेरणा का स्रोत है। 

आज सुबह सेक्टर 28 बाईपास रोड के पास आगरा नहर मैं खुदकुशी के लिए कूदी 15 वर्षीय युवती को बचाने के लिए अपनी जान की परवाह न करते हुए ट्रैफिक इंस्पेक्टर दलबीर सिंह और उनकी टीम ने नहर में छलांग लगा दी और लड़की को सुरक्षित बाहर निकाल लिया।

घटना सुबह 8:30 बजे की है जब ट्रेफिक इंस्पेक्टर दलबीर सिंह अपनी ड्यूटी पर तैनात थे तो उन्हें सूचना मिली कि एक लड़की आगरा कैनाल में कूद गई है।

घटना की गंभीरता को देखते हुए इंस्पेक्टर दलबीर सूचना मिलते ही बिना देरी किए अपनी टीम के साथ घटनास्थल पर पहुंचे।

मौके पर पहुंचते ही उन्होंने देखा कि युवती नहर में डूब रही है। यदि मौका रहते उसे बाहर नहीं निकाला गया तो उसकी जान भी जा सकती है यही सोचते हुए इंस्पेक्टर दलबीर व उनकी टीम के प्रधान सिपाही ने लड़की को बचाने के लिए नहर में छलांग लगा दी।

पुलिस टीम ने लोगों की सहायता से युवती को नहर से बाहर निकाला और उसके उपचार के लिए सरकारी अस्पताल में भर्ती करवा दिया।

प्राथमिक उपचार के पश्चात अब लड़की की हालत खतरे से बाहर है।

लड़की से जब पूछा गया कि उसने खुदकुशी करने की कोशिश क्यों की तो उसने बताया कि कल उसकी मां के साथ उसकी कहासुनी हो गई थी इसलिए वह अपने घरवालों से नाराज थी और इसी कारण से उसने अपनी जान देने की कोशिश की। 

इसके पश्चात लड़की के परिजनों को अस्पताल में बुलाया गया और अपनी बेटी के साथ स्नेहकपूर्ण व्यवहार करने की हिदायत देकर लड़की को सकुशल उनके हवाले कर दिया गया।

लड़की के परिजनों ने भी इंस्पेक्टर दलबीर और पूरी पुलिस टीम का लड़की की जान बचाने के लिए तहे दिल से धन्यवाद दिया।

इंस्पेक्टर दलबीर ने बताया कि यदि देरी हो जाती तो लड़की की जान को खतरा हो सकता था इसीलिए उन्होंने बिना अपनी जान की परवाह करते हुए नहर में छलांग लगा दी और सकुशल लड़की को बाहर निकाल लिया।

उन्होंने कहा कि नागरिकों की सुरक्षा करना हमारा पहला कर्तव्य है और इसके लिए वह हर प्रकार से समृद्ध हैं और किसी भी प्रकार की परिस्थितियों का डटकर सामना करने के लिए तैयार हैं।