Followers

Showing posts with label Faridabad Police. Show all posts

फरीदाबाद: ट्रैफिक पुलिसकर्मियों ने समझी जनता की परेशानी, फावड़ा उठाकर भरे कई बड़े बड़े गड्ढे

  faridabad-traffic-police-fill-road-holes-sector-25

फरीदाबाद 20 सितम्बर: सेक्टर 25 ट्रैफिक बूथ पर तैनात पुलिसकर्मी अशोक ने बूथ इंचार्ज कन्हैया के सहयोग से सड़क पर मौजूद गड्ढों को मलबे की सहायता से भरने का सराहनीय कार्य किया है।

पूरे भारत में लगातार बारिश के बाद अब दिल्ली एनसीआर में भी मानसूनी बारिश के कारण आमजनों को यातायात की चुनौतियों का सामना करना पड रहा है। 

सड़कों पर बड़े-बड़े गड्ढे हो गए हैं जिनकी वजह से यातायात में बहुत सी बाधा बाधाएं उत्पन्न हो चुकी हैं। गड्ढों में पानी भरे रहने की वजह से सड़क दिखाई नहीं पड़ती जिसकी वजह से बहुत से वाहन दुर्घटना का शिकार हो जाते हैं या वाहनों को भारी क्षति पहुंचती है इसके साथ ही यातायात की समस्या उत्पन्न होती है सो अलग।

पुलिसकर्मी अशोक ने जब सड़क पर लगे जाम  की स्थिति को देखा तो उन्होंने सड़क पर बने गड्ढों को भरने का निर्णय लिया। इसके लिए उन्होंने ट्रैक्टर मंगवाकर मलबे को सड़क पर गिरवाया और खुद ही कस्सी-फावड़ा लेकर उसे लेवल करने में लग गए।

अशोक की मेहनत रंग लाई और बड़े-बड़े गड्ढे मलबे से भर दिए गए जिसकी वजह से दुर्घटना की आशंका अब लगभग खत्म हो चुकी है और इसके साथ ही ट्रैफिक जाम की समस्या से भी निदान मिल सकेगा।

पुलिस प्रवक्ता ने जानकारी देते बताया कि पुलिस आयुक्त श्री विकास अरोड़ा ने पुलिसकर्मी द्वारा किए गए सराहनीय कार्य के लिए शाबाशी देते हुए सेवा भाव से काम करने के लिए प्रोत्साहित किया ।

उन्होंने कहा कि फरीदाबाद के पुलिसकर्मी हर परिस्थिति में नागरिकों की सुरक्षा के लिए मौजूद है। सभी पुलिसकर्मी अपनी ड्यूटी बहुत ही ईमानदारी के साथ निभा रहे हैं। ट्रैफिक पुलिस द्वारा एमसीएफ, हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण और नेशनल हाईवे अथॉरिटी को भी सड़क की दुर्दशा के बारे में पत्राचार किया गया है। इसका मेंटेनेंस किया जाना बहुत जरूरी है।

आमजन को भी अपनी सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए पुलिस द्वारा जारी आदेशों का पालन करना चाहिए ताकि वह अपने साथ साथ दूसरों को भी सुरक्षित रख सकें।

पुलिस ने दी जानकारी, अजरौंदा मेट्रो स्टेशन पर ब्रीफकेस खोलने के लिए किया गया था ब्लास्ट

faridabad-ajronda-metro-station-blast-open-briefcase
    
फरीदाबाद, 12 सितम्बर: लावारिस पड़े सूटकेस में बम की सूचना पर तुरंत मौके पर पुलिस  टीम, डॉग स्काड, FSL की टीम और निरोधक दस्ता के प्रभारी सब इंस्पेक्टर मोहन कुमार अपनी टीम के साथ पहुचे । 

मौके पर एसीपी सेंट्रल महेंद्र वर्मा , थाना प्रबंधक सेंट्ल महेंद्र पाठक, एसएचओ मेट्रो एवं चौकी प्रभारी सेक्टर 15A टीम के साथ मौजूद थे।

सूटकेस का लॉक लगा हुआ था  जिसे मैनुअली खोलना सुरक्षित नहीं था। जिसके लिए दोनों साइड के ट्रैफिक को रोक कर बम निरोधक दस्ते द्वारा सुरक्षा के मापदंड अपनाते हुए उचित दूरी से कोर्डेक्स वायर द्वारा सूटकेस के लॉक को तोड़ा गया। कोडेक्स वायर व डेटोनेटर के स्पेशल चार्ज जो धमाका करने के लिए प्रयोग की जाती है के द्वारा सूटकेस का लॉक खोला गया था। इस तरह का धमाका बम निरोधक दस्ते द्वारा बंद दरवाजा या लॉक खोलने के लिए प्रयोग किया जाता है

पुलिस प्रवक्ता सुबे सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि सूटकेस का लॉक तोड़ने उपरांत  सूटकेस के अंदर किसी तरह की कोई विस्फोटक सामग्री नहीं मिली है। केवल कपड़े और चाबियां मिली है। कृपया अफवाह ना फैलाएं शहर में शांति बनाए रखें। यदि कोई झूठी अफवाह फैलाकर लोगों में भय का माहौल पैदा करेगा तो उसके खिलाफ  कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

नवनियुक्त पुलिस कमिश्नर विकास कुमार अरोड़ा ने फरीदाबाद पुलिस कमिश्नर का पदभार संभाला

faridabad-police-commissioner-vikas-kumar-arora-take-charge

फरीदाबाद, 6 सितंबर 2021: नवनियुक्त पुलिस आयुक्त के फरीदाबाद आगमन पर पुलिस आयुक्त कार्यालय में गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया। पहले ही दिन, जनसुनवाई के लिए इंतजार कर रहे लोगों से रूबरू हुए.

डीसीपी मुख्यालय एनआईटी श्रीमती अंशु सिंगला, डीसीपी बल्लभगढ़ श्री जयबीर सिंह, डीसीपी सेंट्रल श्री मुकेश मल्होत्रा, डीसीपी ट्रैफिक श्री सुरेश कुमार ने गुलदस्ता भेंट कर स्वागत किया।

इस मौके पर एसीपी हेड क्वार्टर श्री आदर्शदीप सिंह, एसीपी क्राइम श्री अनिल यादव, एसीपी अशोक कुमार,  एसीपी पृथ्वी सिहं, एसीपी महेंद्र वर्मा, एसीपी जयपाल सिंह भी स्वागत के दौरान पुलिस आयुक्त कार्यालय में मौजूद थे।

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि पुलिस आयुक्त ने पदभार ग्रहण करने के बाद फरीदाबाद पुलिस के सभी अधिकारियों के साथ बैठक की और क्षेत्र में पुलिसिंग की जानकारी लेते हुए आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।

विकास कुमार ने पदभार संभालते ही कार्यालय में जनसुनवाई के अंतर्गत आगन्तुकों और पीड़ितों से मिलकर उनकी समस्या का समाधान करने की पहल की।

पुलिस महानिरीक्षक श्री विकास कुमार अरोड़ा 1998 बैच, हरियाणा कैडर के आईपीएस अधिकारी हैं।

आईपीएस विकास कुमार अरोड़ा इससे पहले साउथ रेंज रेवाड़ी में बतौर आईजी तैनात थे। जो हाल ही में हुए स्थानांतरण पर फरीदाबाद के पुलिस आयुक्त नियुक्त किए गए हैं।

विकास कुमार अरोड़ा पूर्व में भिवानी, रेवाड़ी, सिरसा, झज्जर, यमुनानगर, हिसार में एसपी के रूप में अपनी सेवाएं दे चुके हैं। इसके अलावा ये गुरूग्राम के डीसीपी, हरियाणा यातायात करनाल में एसपी ट्रैफिक भी रह चुके हैं। केन्द्रीय प्रतिनियुक्ति पर भी इन्होंने अपनी सेवा दी है।

नवनियुक्त पुलिस आयुक्त पूर्व में भी फरीदाबाद में वर्ष 2011 में बतौर ज्वाइंट सीपी रह चुके हैं। इसीलिए वे फरीदाबाद की भौगोलिक स्थिति व पुलिस की कार्यप्रणाली से भलीभांति अवगत हैं।

फरीदाबाद पुलिस उनके मार्गदर्शन में जनता के साथ तालमेल रखते हुए अपराधिक गतिविधियों और अपराध पर अंकुश लगाने की अपने प्रयास और भी बेहतर करेगी।

नवनियुक्त पुलिस आयुक्त का फरीदाबाद सहित पूरे हरियाणा मे बेहतर पुलिसिंग के लिए जाने जाते हैं।

ADGP OP Singh की फरीदाबाद के पुलिस कमिश्नर के कार्यकाल की उपलब्धियां पढ़ें

faridabad-cp-op-singh-good-work

फरीदाबादः  पुलिस आयुक्त के रूप में श्री ओ पी सिंह के नेतृत्व में बेहतर पुलिसिंग के रूप में फरीदाबाद पुलिस ने बहुत-सी महत्वपूर्ण उपलब्धियाँ हासिल की है।

OP सिंह के कार्यकाल में वर्ष 2021 के जुलाई माह तक 1555 अपराधियों की गिरफ्तारी हो चुकी है। वांछित व ईनामी अपराधियों पर लगाम लगाने में सफलता प्राप्त करते हुए फरीदाबाद पुलिस ने मनोज भाटी प्रॉपर्टी डीलर हत्याकांड के आरोपी दो लाख का ईनामी बदमाश मनोज मांगरिया को गिरफ्तार कर जेल भेजा। निकिता हत्याकांड में भी तत्परता दिखाते हुए पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार किया था। नशा पर लगाम लगाते हुए भारी मात्रा में अवैध नशीले पदार्थों को जब्त कर कार्रवाई किया था। 

इनके कार्यकाल में बीते साल एक अगस्त से प्रोजेक्ट फैमिली पुलिसिंग शुरू हुई। पुलिस की इस मुहीम में 707 बीट ऑफिसर्स ने लोगों से घर-घर जाकर लोगों से संपर्क किया। इस दौरान पुलिस ने 3.91 लाख लोगों को साइबर फ्रॉड, महिला विरुद्ध अपराधों समेत कोरोना को लेकर जागरूक किया। साथ ही पुलिस ने लोगों के आपसी झगड़ों को सुलझाने में काफी मदद की। उन्हें थाने-कचहरी की दौड़ भाग से बचाया। इसके साथ ही पुलिस ने शहर में अकेले रह रहे बुजुर्गों की भी हर संभव मदद की है।

फरीदाबाद पुलिस ने प्रतिबंधित नशा सामग्री के सेवन तथा वितरण के विरूद्ध एनडीपीएस एक्ट के अंतर्गत कार्रवाई करते हुए 152 आरोपियों को गिरफ्तार किया। मतलब पिछले वर्ष से साढ़े चार गुणा से अधिक आरोपियों को पुलिस ने इस वर्ष गिरफ्तार किया।

वहीं पुलिस द्वारा शराब की अवैध डिलीवरी और व्यापार के विरूद्ध कार्रवाई करते हुए उत्पाद अधिनियम के अंतर्गत मामले दर्ज कर 631 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। यहाँ पुलिस ने बीते वर्ष की तुलना में 7 फीसदी अधिक सफलता पाई है।

अवैध हथियार रखने के मामले में पुलिस ने आर्म्स एक्ट के अंतर्गत 271 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। आर्म्स एक्ट के अंतर्गत पुलिस ने 2020 की तुलना में इस वर्ष लगभग दो गुणा अधिक आरोपियों को गिरफ्तार किया है।  

उपर्युक्त आँकड़े इस वर्ष जुलाई माह तक के हैं। इन आंकड़ों को देखने से यह स्पष्ट है कि इस शहर में नशे का आदी होने अथवा प्रतिबंधित नशा सामग्री की खरीद-बिक्री के कारण सबसे अधिक आरोपियों को जेल जाना पड़ा है। नशे के विरूद्ध 783 गिरफ्तारी में अवैध जुआ और सट्टाखाई में हुई 501 गिरफ्तारी की संख्या को मिला कर देखें तो कुल गिरफ्तारी की संख्या 1284 हो जाती है। इससे स्पष्ट हो जाता कि इस वर्ष पुलिस की सबसे अधिक कार्रवाई सामाजिक बुराई को लेकर हुई है।

पर्यावरण दिवस से शुरूआत करते हुए फरीदाबाद पुलिस ने एक वर्ष में एक लाख पेड़ लगाने का संकल्प पूरा करते हुए जापान के वनस्पतिशास्त्री मियावाकी तकनीक का प्रयोग करते हुए पुलिस लाईन में हजारों फलदार व वनस्पतिक पौधे लगाये तथा सभी थाना व पुलिस इकाई परिसर में भी पौधारोपण किया गया। सड़क दुर्घटनाओं में अपनी जान गँवाने वालों के परिजनों द्वारा थाना परिसर में पौधारोपण किया गया।

जनता की पुलिस होने की अवधारणा में श्री सिंह द्वारा सोशल मीडिया पर लोगों को फरीदाबाद पुलिस से जोड़ने का प्रयोग भी सफल रहा। फरीदाबाद पुलिस के फेसबुक और ट्वीटर पर फॉलोअर बढ़ने के साथ इसको जनोपयोगी बनाया गया।

हाल ही में शुरू हुए राज्य आपातकालीन समेकित सेवा के रूप में डॉयल 112 के फरीदाबाद में प्रभावी संचालन और सफल बनाने के लिए पर्याप्त संख्या में पुलिसकर्मियों की तैनाती की गई और उचित संसाधन उपलब्ध कराये गये। 

पुलिस प्रवक्ता सुबे सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि श्री ओ पी सिंह के नेतृत्व में फरीदाबाद पुलिस ने देशव्यापी किसान आंदोलन में भी अपने क्षेत्र की विधि-व्यवस्था को बनाये रखते हुए किसानों के साथ किसी भी प्रकार की हिंसक झड़प होने से बचाये रखा। उनकी रणनीति का एक ताजा तरीन सबूत खोरी गांव में विधि व्यवस्था बनाए रखने और बिना किसी झड़प के इतने बड़े पैमाने पर अतिक्रमण को हटाने मे रहा। उनकी रणनीतिक  सूझ बुझ और मार्गदर्शन मे फरीदाबाद पुलिस के अधिकारी कर्मचारियों द्वारा किया गया कार्य काबिले तारीफ रहा। पुलिस आयुक्त के नेतृत्व को सभी जगह सराहा गया।

अब चंद दिनों की मेहमान है फरीदाबाद की जमाई कॉलोनी, पुलिस ने पैदल मार्च करके की ये अपील


फरीदाबाद: प्रशासन द्वारा वन क्षेत्र में बसी अवैध कालोनियों से अतिक्रमण हटाने की सभी तैयारियां पूरी कर ली गई है। 

सुरक्षा की दृष्टि तथा नागरिकों को जागरूक करने के उद्देश्य से आज एसीपी बड़खल श्री सुखबीर सिंह की अगुवाई में जमाई कॉलोनी के अंदर पुलिस द्वारा शांतिपूर्वक फ्लैग मार्च निकाला गया। 

इस फ्लैग मार्च में एसीपी बड़खल के साथ पुलिस चौकी अंखीर प्रभारी व महिला पुलिसकर्मियों सहित भारी मात्रा में पुलिस बल मौजूद था।

इस फ्लैग मार्च के दौरान नागरिकों से माननीय सुप्रीम कोर्ट के आदेश का सम्मान करते हुए अतिक्रमण हटाने में प्रशासन का सहयोग करने की अपील की गई।

आपको बता दें कि इससे पहले खोरी गांव में जिला प्रशासन द्वारा अतिक्रमण हटवाया गया था जिसमें फरीदाबाद पुलिस द्वारा सुरक्षा के दृष्टिकोण से भारी पुलिस फोर्स की तैनाती की गई थी। 

इसके पश्चात अब जमाई कॉलोनी में भी अतिक्रमण हटाने की प्रक्रिया शुरू की जाएगी जिसकी सुरक्षा का एहतियात बरतते हुए एसीपी बड़खल श्री सुखबीर सिंह की अगुवाई में लोगों को प्रशासन का सहयोग करने की अपील की गयी.

संदिग्ध व्यक्तियों पर रखें नजर, शक होने पर तुरंत करें पुलिस को सूचित: CP OP SINGH

faridabad-cp-op-singh-appeal-public-inform-doubtfull-chor

फरीदाबाद: पुलिस आयुक्त ओपी सिंह ने शहर में चोरी की वारदातों पर अंकुश लगाने के लिए पुलिस अधिकारियों के साथ साथ आमजन के लिए भी कुछ दिशा निर्देश जारी किए हैं जिनकी अनुपालना करके शहर में चोरी की वारदातों पर लगाम कसी जा सकती है।

वाहन मालिकों के लिए सुझाव:

वाहन मालिकों को दिए गए सुझावों में उन्होंने कहा कि वाहन मालिक अपने वाहनों को घर के बाहर गली में ना छोड़े और अपने वाहन को अपने घर के अंदर ही खड़ा करें। यदि घर के अंदर पार्किंग करने की जगह नहीं है तो अपने वाहन को अच्छे से लॉक लगाकर तथा चेन से बांधकर ही बाहर खड़ा करें।

यदि नागरिक घर से बाहर कहीं भी जाते हैं तो वाहन को पार्किंग स्थल पर ही खड़ा करें। अपने वाहन को अच्छे से लॉक करें तथा गियर लॉक का प्रयोग करें। चाबी वाहन के अंदर लगाकर कभी भी न छोड़े।  

वाहनों की सुरक्षा के लिहाज से अपने घर के अंदर तथा बाहर सीसीटीवी कैमरे लगवाए तथा वाहनों में जीपीएस लगवाएं ताकि उनकी लोकेशन को ट्रेस किया जा सके।

वाहन निर्माताओं के लिए सुझाव:

वाहनों को चोरी से बचाने के लिए वाहनों के मेन लोक में सुधार किया जाना चाहिए ताकि तैयार की गई चाबी से या दबाव से वह टूटे ना। इसके अलावा वाहन में फ्यूल लॉक की सुविधा होनी चाहिए। वाहनों में एक ऐसा इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस लगाया जाना चाहिए कि जैसे ही वाहन अनलॉक हो तो वाहन मालिक को फोन पर मैसेज द्वारा इसकी सूचना प्राप्त हो जाए।

फैक्ट्री मालिक, स्कूल, कॉलेज, हॉस्पिटल, धर्मशाला, स्टेडियम, पार्क इत्यादि के लिए सुझाव:

फैक्ट्री मालिकों द्वारा पार्किंग व्यवस्था अपने क्षेत्र चारदीवारी में सुनिश्चित की जानी चाहिए ताकि बाहर से कोई भी व्यक्ति वाहन चोरी ना कर सके। इन स्थानों पर सिक्योरिटी का पुख्ता प्रबंध किया जाना चाहिए। कूपन सिस्टम या सीसीटीवी कैमरे का प्रबंध होना चाहिए ताकि किसी भी प्रकार की वाहन चोरी की वारदात घटित ना हो सके। 

पुलिस अधिकारियों को दिए गए दिशा-निर्देश:

पुलिस के लिए दिए गए निर्देशों में उपरोक्त सुझावों को लागू करवाना सुनिश्चित करवाने की बात कही गई। 

जिन स्थानों पर ज्यादा चोरी होती है उन्हें चिन्हित करके वहां पर पुलिसकर्मियों की तैनाती की जानी चाहिए तथा रात्रि गश्त बढ़ानी चाहिए। निकासी व प्रवेश द्वारों पर इलाका थाना क्षेत्र में आवश्यकतानुसार नाकाबंदी की जानी चाहिए।

वाहन चोरी की वारदातों पर अंकुश लगाने के लिए पिछले 3 महीने में वाहन चोरी के मुकदमे खंगालकर उनके घटनास्थल व समय का निरीक्षण किया जाए। 

वारदातों पर लगाम लगाने के लिए लगातार गस्त लगाकर चोरी की वारदातों में शामिल आदतन अपराधियों को समय-समय पर चेक किया जाना सुनिश्चित किया जाना चाहिए।

OP सिंह ने कहा कि फरीदाबाद पुलिस 24 घंटे नागरिकों की सुरक्षा के लिए उपलब्ध है तथा चोरी की वारदातों पर अंकुश लगाने के लिए हर संभव प्रयास करती है। नागरिकों से अपील करते हुए उन्होंने कहा कि आमजन भी वाहन चोरी की वारदातों पर अंकुश लगाने के लिए अपने आसपास संदिग्ध व्यक्तियों पर नजर रखें और किसी पर शक होने की सूरत में तुरंत पुलिस को सूचित करें ताकि समय रहते चोरी को रोका जा सके।

चोर गैंग का पर्दाफाश, दो महिलाएं समेत तीन लोग गिरफ्तार, चोरी का काफी माल भी बरामद

faridabad-crime-branch-65-arrested-three-chor-including-2-women

फरीदाबादः त्योहारों के मौसम में जहाँ चोर नये-नये तरीके अपनाकर चोरी की घटना को अंजाम देते हैं। वहीं फरीदाबाद पुलिस भी अपराध पर लगाम लगाने के लिए नित नई रणनीति को सफल बनाते हुए आरोपियों को जेल भेज रही है।

अपराध शाखा-85 प्रभारी सुमेर सिंह की पुलिस टीम ने ऐसी ही एक चोर गिरोह का भंडाफोड़ कर दो महिला सहित गिरोह के तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

गिरफ्तार किए गए आरोपियों में अर्जुन, अर्जुन की पत्नी संगीता तथा उनकी पड़ोसी आरोपिता कांता का नाम शामिल है।

चोरी करने के लिए आरोपियों ने बहुत ही अनोखा तरीका अपनाया हुआ था। आरोपी अर्जुन ने एक ऑटो लिया था और अपनी पत्नी के साथ पड़ोसन को ऑटो पर बिठा कर भीड़-भाड़ वाले स्थानों से सवारी को उनके गंतव्य तक पहुँचाने के लिए झाँसा देकर ऑटो पर बिठा लेता था। 

ऑटो पर पहले से सवार दोनों महिला आरोपी सवारियों से सहयात्री के रूप में बातचीत करते हुए घुलमिल जाती थी और अवसर देखते ही उनके गहने-आभूषण पर हाथ साफ कर देती थी। 

चालक के रूप में आरोपी अर्जुन गिरोह की महिलाओं को कामयाब देख सवारियों से आगे नहीं जाने का बहाना बनाकर ऑटो से सवारी को उतार देता और उसे सुनसान जगह पर उतार देता था। 

कई बार आभूषण चोरी करने के बाद गिरोह की महिला सदस्य भी किसी भीड़भाड़ वाली अनजान जगह पर उतरकर गुम हो जाती थी। पीड़ित सवारी को जबतक उसके गहने चोरी होने की सुध होती तबतक आरोपी महिलायें गायब हो चुकी होती थी।

चोरी के आभूषण खपाने का तरीका भी अद्भूत था। महिला आरोपी किसी अस्पताल के सामने दुधमुंहे अथवा अबोध बच्चे को लेकर खड़ी हो जाती और वहाँ आने-जाने वाले से, इलाज कराने के लिए पास में पैसे नहीं होने के कारण आभूषण बेचने की मजबूरी बता देती थी। भावना में बहकर व सस्ते मूल्यों पर आभूषण मिलने के लालच में आमजन चोरी के गहने खरीद लेते थे और इस तरह चोरी की पूरी प्रक्रिया को सफलतम अंजाम दिया जा रहा था। 

इसमें से एक महिला आरोपी कांता वर्ष 2018 में स्नैचिंग के मामले में जेल भी जा चुकी है।  

जब पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर दोनों महिला आरोपियों को एनआईटी गोलचक्र से गिरफ्तार किया तो उसके पास से दो मंगलसूत्र और एक जोड़ी कान की बाली बरामद हुई। आरोपी इसे बेचने के लिए ग्राहक तलाश रही थी। महिला आरोपियों की निशानदेही पर गिरोह का मास्टरमाइंड अर्जुन को कोढ़ी कॉलोनी से गिरफ्तार किया गया।

पुलिस द्वारा गिरफ्तार आरोपियों की कुंडली खंगालने पर पता चला कि यह गिरोह पिछले दो साल से सक्रिय है। तीनों आरोपियों ने फरीदाबाद के विभिन्न थानाक्षेत्र में चोरी की 16 घटना को अंजाम दिया है और पुलिस ने सभी मामलों में इन आरोपियों के विरूद्ध मामले भी दर्ज किये हैं। पुलिस को बहुत दिनों से तीनों आरोपियों की तलाश थी।

अन्य मामलों में गिरफ्तार आरोपी के पास से पुलिस ने चोरी में प्रयोग किया गया ऑटो, दो लाख सोलह हजार रूपये, दो सोने की चैन व 3 सोने की मंगलसूत्र, 1 जोड़ी सोने के टॉपस और एक मोबाईल फोन बरामद किया है। 

पुलिस ने तीनों आरोपियों से मामले में आवश्यक पूछताछ पूरा करने के बाद न्यायालय में प्रस्तुत किया। न्यायालय के आदेश पर तीनों आरोपियों को स्थानीय कारावास भेज दिया गया।

गाड़ियों का रिम-टायर चोरी करके कर रखा था जनता का जीना हराम, 32 वारदात करने वाले 3 अपराधी गिरफ्तार

faridabad-crime-branch-48-arrested-three-chor

फरीदाबाद: पुलिस आयुक्त ओपी सिंह के दिशा निर्देश के तहत कार्य करते हुए क्राइम ब्रांच सेक्टर 48 की टीम ने 4 साल से दिल्ली एनसीआर में सक्रिय वाहनों के रिम-टायर चोरी करने वाले गिरोह के 3 सदस्यों को गिरफ्तार किया है।

गिरफ्तार किए गए आरोपियों में बलविंदर सिंह उर्फ गग्गी, लव राघव उर्फ गौरव तथा फहीम अहमद का नाम शामिल है। तीनों आरोपी दिल्ली के रहने वाले हैं। 

आरोपी बलविंदर तथा गौरव टैक्सी ड्राइवर है वहीं आरोपी फहीम अहमद पुराने टायर खरीदने बेचने का काम करता है।

आरोपी बलविंदर तथा गौरव गाड़ियों के टायर चोरी की वारदात को अंजाम देते थे और चोरी किए गए टायरों को आरोपी फहीम को बेच देते थे।

आरोपियों के खिलाफ चोरी की धाराओं के तहत 32 मुकदमे दर्ज है जिसमें फरीदाबाद के 10 तथा गुरुग्राम व दिल्ली के 22 मुकदमे शामिल हैं। 

आरोपी बहुत ही शातिर किस्म के अपराधी हैं। आरोपी मौका देखकर वाहनों के टायर चोरी कर लेते थे और चोरी के पश्चात गाड़ी को ईंटों के ऊपर खड़ा करके भाग जाते थे। 

चोरी की वारदात को अंजाम देने के लिए आरोपी पहले एक गाड़ी चोरी करते थे जिसका प्रयोग करके टायर चोरी की वारदात को अंजाम दिया जाता था और चोरी होने के पश्चात उस गाड़ी को वापस उसी स्थान पर छोड़ आते थे जहां से उन्होंने गाड़ी चोरी की थी।

इससे पहले आरोपी वर्ष 2017 में दिल्ली के अंदर टायर चोरी की वारदातों को अंजाम देते थे जिन्हें दिल्ली पुलिस द्वारा वर्ष 2018 में गिरफ्तार किया गया था। गिरफ्तारी के पश्चात आरोपी अपना चोरी करने का स्थान बदल लेते थे। 

दिल्ली पुलिस द्वारा गिरफ्तारी के पश्चात आरोपियों ने गुरुग्राम को अपना नया अड्डा बना लिया और वहां पर चोरी की वारदातों को अंजाम देना शुरू कर दिया। 

वर्ष 2019 में आरोपियों को गुरुग्राम पुलिस द्वारा गिरफ्तार किया गया जिसके पश्चात आरोपियों ने चोरी करने का नया स्थान फरीदाबाद को चुना और फरीदाबाद में चोरी की वारदातें करनी शुरू की दी। 

आरोपियों के खिलाफ फरीदाबाद में चोरी के 10 मुकदमे दर्ज हुए जिसमें आरोपियों ने सेक्टर 17 थाना क्षेत्र से एक स्विफ्ट गाड़ी तथा नौ अन्य जगहों से गाड़ी के टायरों की चोरी की वारदात को अंजाम दिया था।

फरीदाबाद पुलिस काफी समय से इस गिरोह के पीछे लगी हुई थी कि क्राइम ब्रांच को गुप्त सूत्रों की सहायता से सूचना प्राप्त हुई जिस पर तुरंत कार्रवाई करते हुए क्राइम ब्रांच सेक्टर 48 प्रभारी राकेश सिंह की टीम ने दोनो आरोपियों बलविंदर तथा गौरव को दिनांक 26 अगस्त को दिल्ली के छतरपुर से गिरफ्तार कर लिया। 

दोनों आरोपियों को अदालत में पेश करके 4 दिन के पुलिस रिमांड पर लिया गया जिसमें आरोपियों ने चोरी का सामान खरीदने वाले अपने तीसरे साथी फहीम के बारे में पुलिस को बताया।

आरोपियों ने बताया कि चोरी करने के पश्चात उन टायरों को तीसरे आरोपी फहीम को बेच देते थे जिसकी फरीदाबाद के सेक्टर 28 में पुराने टायर खरीदने बेचने की दुकान है। इसके पश्चात 30 अगस्त को आरोपी फहीम को भी गिरफ्तार कर लिया गया। 

आरोपियों के कब्जे से चोरी की गई गाड़ी, चोरी की गई टायर सहित 10 एलॉय व्हील स्टेपनी, जैक, टूल-किट, वारदात में प्रयोग की गई कार तथा ₹28000 नगद बरामद किए गए।

पूछताछ पूरी होने के पश्चात तीनों आरोपियों को अदालत में दोबारा पेश करके जेल भेज दिया गया है.

टेकचंद गैंग का गुर्गा 3 अवैध हथियारों सहित चढ़ा क्राइम ब्रांच के हत्थे, 11 जिंदा कारतूस बरामद

cia-uncha-gaon-faridabad-arrested-criminal

फरीदाबाद: पुलिस आयुक्त श्री ओपी सिंह के दिशा निर्देश के तहत कार्य करते हुए क्राइम ब्रांच ऊंचागांव की टीम ने टेकचंद गैंग के एक सदस्य को अवैध हथियार सहित काबू किया है। 

गिरफ्तार किए गए आरोपी का नाम निखिल है जो फरीदाबाद के घुड़ासन गांव का रहने वाला है। 

क्राइम ब्रांच ऊंचा गांव प्रभारी जगमिंदर सिंह की टीम ने गुप्त सूत्रों की सहायता से आरोपी को मंझावली बस स्टैंड से अवैध हथियार सहित गिरफ्तार किया था।

मौके पर आरोपी के कब्जे से 1 इटली मेड पिस्टल व 5 जिंदा कारतूस बरामद की गई जो आरोपी ने अपने किसी साथी से 30 हजार रूपए में ली थी।

आरोपी के खिलाफ थाना तिगांव में अवैध हथियार अधिनियम की धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है।

पुलिस पूछताछ में सामने आया कि आरोपी नोएडा के गैंगस्टर टेकचंद-डीलर गैंग का गुर्गा है और उसके दोस्त का असलाह भी उसके पास रखा हुआ है। 

आरोपी की शिनाख्त पर उसके कब्जे से 1 देसी पिस्टल, 1 देसी कट्टा व 6 जिंदा कारतूस और बरामद किए गए।

पूछताछ में यह भी सामने आया कि आरोपी के खिलाफ थाना तिगांव में वर्ष 2017 में हत्या के प्रयास के तहत मुकदमा दर्ज हुआ था जिसमें आरोपी ने अपने साथियों के साथ मिलकर फरीदाबाद के गांव अलीपुर के रहने वाले दीपक को जान से मारने की कोशिश की थी। 

पुलिस प्रवक्ता ने जानकारी देते हुए बताया कि आरोपी को उक्त मामले में 10 साल की सजा हो चुकी थी, जिसमे 32 महीने की जेल काटने के बाद आरोपी करीब 7 महीने पहले जमानत पर आया था। आरोपी अपने पास अवैध हथियार रखता था। 

पूछताछ पूरी होने के पश्चात आरोपी को अदालत में पेश करके जेल भेज दिया गया है। असला सप्लाई करने वाले  आरोपियो  को जल्द तलाश गिरफ्तार किया जाएगा।

सारन एरिया में किरण नेगी की हत्या में मुख्य आरोपी इसताक का चाचा मुश्ताक गिरफ्तार

kiran-negi-murder-case-update

फरीदाबाद 25 अगस्त 2021: फरीदाबाद के पुलिस कमिश्नर ओ पी सिंह के दिशा निर्देश पर कार्य करते हुए क्राइम ब्रांच डीएलएफ की टीम ने मृतका किरण की हत्या के मामले में चौथे आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

आरोपी की पहचान मुस्ताक पुत्र जुम्मा निवासी गांव नौझील जिला मथुरा यूपी के रूप में हुई है।

बता दें कि इस मामले में पहले से गिरफ्तार आरोपी इसताक अली, हमीद, और अरबाज ने सारन थाना एरिया से गुमशुदा लड़की की हत्या कर उसके शव को आगरा नहर में चंदावली के पास दिनांक 29/30-06-21 की रात को फेंक दिया था। जिस पर आरोपी के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया गया था।

उपरोक्त मामले को पुलिस पहले ही सुलझा चुकी है जिसमें मुख्य आरोपी इसताक अली, अरबाज और हमीद सहित तीन आरोपी गिरफ्तार किए जा चुके हैं।

अब क्राइम ब्रांच की टीम ने मुख्य आरोपी इसताक के चाचा को भी गिरफ्तार कर लिया है पूछताछ में सामने आया कि आरोपी के चाचा ने मृतका किरण की जबरदस्ती शादी अपने भतीजे इसताक के साथ कराने की भूमिका निभाई थी।

पुलिस ने आज आरोपी को अदालत में पेश कर जेल भेज दिया है।

पिता ने डांटा तो गुरुग्राम से साइकिल से फरीदाबाद निकला 12 साल का बच्चा, भूल गया बुआ के घर का रास्ता

faridabad-police-dial-112-find-missing-kid

फरीदाबाद 25 अगस्त 2021: डायल 112 की टीम को 12 वर्षीय नाबालिग बच्चे की लावारिस अवस्था में बल्लबगढ बस स्टैंड पर घूमने की सूचना मिली जिसपर तुरंत कार्रवाई करते 112 ERV गाड़़ी बस स्टैंड पहुंचीं  लडके से नाम पता पूछा तो लडका ने बताया कि उसके पिता शराब का नशा करते है और शराब पीकर घर में  लडाई-झगडा करते है। नाबालिग लडका गुरुग्राम से परसो निकला साइकिल से अपनी बुआ के घर फरीदाबाद के लिए निकला था।

 पुलिस टीम ने बच्चे से उसकी बुआ के घर का पता पूछा तो उसने बताया कि वह रास्ता जानता है स्थान का नाम नही जानता है। 

पुलिस टीम बच्चे के द्वारा बताऐ  रास्ते पैदल चलकर  बल्लबगढ़ सेक्टर-2 में गए। बच्चे ने बताया कि उसकी बुआ एक तीकोना  पार्क के पास रहती है। लेकिन वहा पूछने पर पता चला वहां एक औरत किराए पर रहती थी जो की अब वहा से चली गई है। 

पुलिस टीम बच्चे को लेकर सूरदास मैट्रो स्टेशन पर लेकर आई उसके घरवालो का मो० न० पूछा बच्चे ने बताया कि उसको अपने घर का फोन नम्बर याद है मिलाने पर संपर्क नहीं हुआ। लडके ने एक और नम्बर बताया जिस फोन नम्बर से सम्पर्क करने पर उसके पिता बात हुई जिसने बताया कि वह उसका ही लडका है। 

उसकी बहन सेक्टर 8 में किराये पर रहती है। उसका फोन नम्बर लेकर सम्पर्क करने पर उसकी बुआ से उसके घर का पता पूछकर लडके को उसके घर लेकर गये।

ERV पुलिस टीम ने पिता के कहने पर लडके को पड़ोसियों की मौजूदगी में बुआ के हवाले कर दिया।

पुलिस टीम ने लडके को उसकी बुआ के हवाले करते हुए हिदायत दी की बच्चे का ख्याल रखे। बुआ ने पुलिस टीम का तह दिल से धन्यवाद किया.

फरीदाबाद में सड़क दुर्घटनाओं में आई भारी कमी, सीपी OP Singh ने बताई वजह

road-accident-in-faridabad-dicreased

Faridabad News, 25 August: पुलिस कमिश्नर श्री ओ पी सिंह के द्वारा दिए गए निर्देशों पर कार्रवाई करते हुए यातायात पुलिस ने सड़क दुर्घटना के मामलों में कमी लाने का सराहनीय कार्य किया है।

बता दें कि पुलिस कमिश्नर श्री ओ पी सिंह ने यातायात पुलिस को सभी तीनों जोनों में दुर्घटना संभावित क्षेत्रों को चिन्हित करने के निर्देश दिए थे।

दुर्घटना संभावित क्षेत्रों को चिन्हित कर ट्रैफिक पुलिस फरीदाबाद ने वहां पर आवश्यक यातायात बल तैनात कर चालान किए, लोगों को जागरूक किया, अलर्ट सिंबल्स लगाए गए, जिनके कारण सड़क दुर्घटना के मामलों में भारी कमी दर्ज की गई है।

अगर बात की जाए चालान की तो ट्रैफिक पुलिस ने इस वर्ष पिछले वर्ष के मुकाबले ज्यादा चालान किए हैं इस वर्ष 1 जनवरी 2021 से 23 अगस्त 2021 के बीच ट्रैफिक नियमों की अवहेलना करने वाले 61821 वाहन चालकों के चालान काटे गए है।

ट्रैफिक इंस्पेक्टर यातायात ने जानकारी देते हुए बताया कि पुलिस कमिश्नर के निर्देश पर सभी ज़ोनो के दुर्घटनाग्रस्त क्षेत्रो को चिन्हित कर सभी स्थानों पर पुलिस कर्मियों की ड्यूटियाँ बढ़ा दी गई हैं तथा रॉन्ग साइड ड्राइविंग करने वाले वाहन चालकों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की गई है जिसके चलते सड़क दुर्घटना के मामलों में भारी कमी आई हैं।      

पुलिस कमिश्नर के निर्देशानुसार एक्सीडेंटल प्रोन जॉन, जॉन वाइज, आईटी एक्सपर्ट की सहायता से चिन्हित किए गए है जो कि एन.आई.टी. जॉन में 6 स्थानों, बल्लभगढ़ जॉन में तीन स्थानों और सेंट्रल जॉन में 4 स्थानों को चिन्हित किया गया हैं।                   

इस समय अवधि के दौरान ट्रैफिक पुलिस ने मुख्यतः रॉन्ग साइड के सबसे ज्यादा 12480, बिना हेलमेट यात्रा करने वालों के 7731, ओवरस्पीडिंग के 9633, सीट बेल्ट के 4062, प्रदूषण के 1244, बुलेट के मॉडिफाइड साइलेंसर के 281 चालान शामिल है। इसके साथ ही एक्सपायर 64 वाहनों को जप्त भी किया गया है।

पुलिस आयुक्त श्री ओपी सिंह ने नवीनतम आंकड़ों को मद्देनजर रखते हुए कहा कि गलत दिशा में गाड़ी चलाने वालों की संख्या सबसे अधिक है जिसकी वजह से सबसे ज्यादा दुर्घटना घटित होती हैं तथा ट्रैफिक जाम की समस्या भी पैदा हो जाती है। इसके पश्चात बिना हेलमेट और सीट बेल्ट यात्रा करने की वजह से दुर्घटना होने पर बचाव की संभावना बहुत कम रहती है।

बुलेट के साइलेंसर को मॉडिफाई करवाने का शौक रखने वाले मनचलों को यह ज्ञात होना चाहिए कि उनके बुलेट के पटाखों की वजह से पर्यावरण को भी काफी नुकसान होता है और साथ में लोगों के कानों पर भी इसका बुरा प्रभाव पड़ता है।

यातायात नियम, नागरिकों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए बनाए गए हैं ताकि लोग उनका पालन करके अपने साथ-साथ अपने परिजनों को भी सड़क दुर्घटना से सुरक्षित रख सकें परंतु कुछ लोग लापरवाही का शिकार होकर इन नियमों को ताक पर रखते हुए सड़कों पर निकल जाते हैं जिसकी वजह से किसी भी प्रकार की दुर्घटना घटित हो सकती है।

यदि कोई व्यक्ति यातायात नियमों का पालन करते हुए सड़क पर यात्रा करता है तो वह अपने साथ-साथ दूसरों की जिंदगी को भी बचा कर रखता है

नागरिकों से ट्रैफिक नियमों का पालन करने का अनुरोध करते हुए पुलिस आयुक्त ने कहा कि पुलिस अपना कार्य करती रहेगी परंतु यदि नागरिक ट्रैफिक नियमों की पालना करें तो इससे सड़क दुर्घटनाओं में कमी आएगी, साथ ही ट्रैफिक जाम की स्थिति भी उत्पन्न नहीं होगी और नए लोगों को चालान कटवा कर आर्थिक नुकसान का भागीदार बनना पड़ेगा।

फरीदाबाद QRG हॉस्पिटल के इस रेपिस्ट आरोपी को लोग कह रहे फांसी पर लटकाओ जी

rape-accused-qrg-hospital-staff

फरीदाबाद: फरीदाबाद के क्यूआरजी हॉस्पिटल के इस कर्मचारी पर एक नाबालिक लड़की से अस्पताल में ही बलात्कार का आरोप है और लोग इतना आक्रोशित हैं कि इसके लिए फांसी की सजा की मांग की जा रही है.

पुलिस कमिश्नर ओपी सिंह के दिशा निर्देश पर कार्रवाई करते हुए महिला थाना सेक्टर 16 की प्रभारी इंस्पेक्टर गीता और अनुसंधान अधिकारी सब इंस्पेक्टर माया और उनकी टीम ने दुष्कर्म के आरोपी को वारदात के कुछ ही घंटों बाद धर दबोचने में कामयाबी हासिल हुई है।

हनुमान नगर भारत कॉलोनी फरीदाबाद निवासी आरोपी की पहचान राज किशोर पुत्र डालचंद के रूप में हुई है।

बता दें कि घटना कल दिनांक 21 अगस्त 2021 की है सुबह करीब 11:00 बजे 14 वर्षीय नाबालिग लड़की अपने पिता का डायलिसिस कराने के लिए क्यूआरजी हॉस्पिटल सेक्टर 16 में गई थी।

डायलिसिस शुरू होने के करीब 2 घंटे बाद लड़की वॉशरूम गई थी जब वह वॉशरूम से बाहर आई तो वहां पर उपरोक्त आरोपी राजकिशोर खड़ा था और उसने लड़की को कहा कि उसको कुछ काम है और नाबालिक लड़की को अस्पताल की बेसेंट में ले गया और उसके साथ वहां पर दुष्कर्म कर फरार हो गया।

लड़की ने इस संबंध में पूरी जानकारी अपने परिवार वालों को दी जो कि परिवार वालों ने तुरंत सूचना महिला थाना सेक्टर 16 को दी। सूचना पर तुरंत कार्रवाई करते हुए पोक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज कर नाबालिक लड़की का मेडिकल कराया गया।

मामला पुलिस कमिश्नर श्री ओपी सिंह के संज्ञान में आने पर उन्होंने आरोपी को तुरंत गिरफ्तार कर सलाखों के पीछे पहुंचाने के दिशा निर्देश दिए थे। जिस पर महिला थाना सेक्टर 16 प्रभारी इंस्पेक्टर गीता ने तुरंत प्रभाव से सब इंस्पेक्टर माया सहित एक टीम का गठन किया और तुरंत प्रभाव से घटनास्थल का क्राइम ब्रांच की टीम एवं एफएसएल की टीम के साथ दौरा कर जरूरी साक्ष्य हासिल किए गए।

क्यूआरजी हॉस्पिटल में लगे हुए सभी कैमरे को पुलिस ने खंगालना शुरू किया और अस्पताल में मौजूद स्टाफ से पूछताछ कर आरोपी का पता लगाकर उसे गिरफ्तार किया गया।

पुलिस प्रवक्ता ने जानकारी देते हुए बताया कि पीड़ित नाबालिग लड़की की उम्र 14 वर्ष है एवं आरोपी राजकिशोर की उम्र 24 वर्ष है। आरोपी क्यूआरजी अस्पताल में हाउसकीपिंग सुपरवाइजर का काम करता है।

 गिरफ्तार आरोपी को आज अदालत में पेश किया जाएगा।

निर्माणाधीन मकानों के बाहर रखे लोहा सरिया और अन्य सामान चुरा लेते थे यह दोनों चोर

crime-branch-sector-65-arrested-two-chor

फरीदाबाद, 22 अगस्त: पुलिस कमिश्नर ओपी सिंह के दिशा निर्देश पर कार्य करते हुए क्राइम ब्रांच सेक्टर 65 ने लोहा सरिया चोरी की 7 वारदातों को अंजाम देने वाले तीन आरोपियों को काबू किया है।

गिरफ्तार आरोपियों की पहचान रोहन, रवि और आकाश के रूप में हुई है। तीनों आरोपी गांव गदपुरी जिला पलवल के रहने वाले हैं।

क्राइम ब्रांच प्रभारी सेक्टर 65 ने जानकारी देते हुए बताया कि आरोपियों को उनकी टीम ने विशेष सूत्रों से मिली सूचना के आधार पर काबू किया है। 

आरोपियों ने जुलाई माह में थाना आदर्श नगर 1, थाना शहर बल्लभगढ़ 1, सेक्टर 58- 1, और अगस्त माह में थाना सदर बल्लभगढ़ 1, सेक्टर 58- 2, आदर्श नगर में 1 लोहा सरिया चोरी करने की वारदात को अंजाम दिया था। 

उपरोक्त सभी 7 वारदातों को सुलझाते हुए क्राइम ब्रांच सेक्टर 65 की टीम ने आरोपियों से 5530 किलोग्राम लोहा सरिया, एक ट्रैक्टर और दो ट्रॉली बरामद किए हैं।

पूछताछ पर आरोपियों ने बताया कि पहले लोहा मंडी में ट्रैक्टर ट्रॉली पर लोहा ढोने का काम करते थे लॉकडाउन में नौकरी छूट जाने के कारण आरोपियों ने निर्माणाधीन मकानों से सरिया चोरी करने की वारदात को अंजाम देने लगे थे।

पुलिस ने आज तीनों आरोपियों को अदालत में पेश कर जेल भेज दिया है।

12 से 15 अगस्त तक फरीदाबाद से दिल्ली की तरफ भारी वाहनों के जाने पर रोक: ट्रैफिक पुलिस फरीदाबाद

faridabad-traffic-police-advisory-for-heavy-vehicle
 
Faridabad News 13 August 2021: स्वतंत्रता दिवस को लेकर फरीदाबाद पुलिस ने सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी है, इसी को लेकर फरीदाबाद ट्रैफिक पुलिस ने भी एक एडवाइजरी जारी की है जिसके तहत स्वतंत्रता दिवस की परेड के चलते दिनांक 12 अगस्त 2021 से 15 अगस्त 2021 तक फरीदाबाद से दिल्ली की तरफ जाने वाले भारी व्हीकल को बंद किया गया है.

ट्रैफिक पुलिस ने इसकी जानकारी ट्विटर पर दी है.

आपको बता दें क़ि आगामी 15 अगस्त को भारत 75वां स्वाधीनता दिवस मनाएगा। दिल्ली और देश में कई जगह ध्वजारोहण कार्यक्रम हैं,  फरीदाबाद में भी हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल मुख्य अतिथि के तौर पर पधार रहे हैं और वह यहाँ पर ध्वजारोहण भी करेंगे।

एनएचपीसी चौक पर बैठे लावारिस बच्चे को पुलिस ने परिजनों को सौंपा

faridabad-saray-khwaja-thana-police-bring-missing-kids-his-home

फरीदाबाद, 13 अगस्त 2021: 12 अगस्त को सराय ख़्वाजा थाना की पीसीआर-1 में पुलिस बल गश्त लगा रही थी। इसी क्रम में एनएचपीसी चौक पर पुलिस की नजर एक लावारिस बच्चे पर पड़ी। बच्चा घबराया हुआ इधर-उधर देखते हुए घूम रहा था। 

पीसीआर-1 में उपस्थित पुलिस टीम के प्रधान सिपाही नरेन्द्र ने बच्चे के पास जाकर पुलिस वाहन रोक दिया और साथी सिपाही सुरज व एसपीओ सुभाष के साथ उस लावारिस बच्चे के बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए बच्चे को प्यार से अपने पास बुलाया।

बच्चा रोने लगा और रोते-रोते ही उसने अपना नाम कान्हा बताया। पुलिस ने बच्चे के घर का पता जानना चाहा। इसपर बच्चा केवल इतना बता पाया कि वह किसी सब्जी मंडी के पास अपने माता-पिता के साथ रहता है।

पुलिस टीम ने बच्चे को अपने साथ गाड़ी पर बिठा लिया और सबसे पहले सेक्टर 16 स्थित सब्जी मंडी, बल्लभगढ़ गई। वहाँ बच्चे के घर का पता नहीं चल पाया।

फिर पुलिस टीम उस बच्चे को लेकर ओल्ड सब्जी मंडी गई। वहाँ भी बच्चे के घर के बारे में कोई जानकारी नहीं मिली सकी। 

पुलिस टीम ने अपना प्रयास जारी रखा और इस बार बच्चा सहित सब्जी मंडी, खेड़ी पुल पहुँची। इस सब्जी मंडी में भी पुलिस को बच्चे के अभिभावक और घर के बारे में कुछ पता नहीं चला। 

सुबह होने में कुछ ही घंटे बाकी थे। पुलिस टीम ने हार नहीं मानी और अंततः बच्चे के साथ भारत कॉलोनी स्थित सब्जी मंडी पहुँच गयी। यहाँ आस-पास के लोगों से पूछताछ करने और बच्चे के बारे में पता करने पर पुलिस को जानकारी प्राप्त करने में सफलता हाथ लगी।

अब पुलिस सफलतापूर्वक इस लापता बच्चे के घर, इसके अभिभावक तक पहुँच चुकी थी।

लापता बच्चे के पिता ने बताया कि कान्हा उसका इकलौता पुत्र है और वह 12 अगस्त को सुबह घर के बाहर से खेलते-खेलते लापता हो गया था। घर के सभी लोग सुबह से बहुत परेशान थे।

अपने बच्चे को सुरक्षित पाकर उसकी माँ खुशी से रो पड़ी। बच्चे के परिजनों ने पुलिस टीम के साथ-साथ फरीदाबाद पुलिस की मानवता और कर्त्तव्य के प्रति समर्पण के लिए हृदय से आभार जताया।

CP ने फरीदाबाद ट्रैफिक पुलिस को किया सशक्त, सड़क दुर्घटना में खुद कर सकेगी अनुसंधान

faridabad-traffic-police-will-do-investigation-in-road-accident

Faridabad News 11 August 2021: पुलिस आयुक्त ओपी सिंह ने सड़क दुर्घटनाओं में कमी लाने के लिए दिए गए दिशा-निर्देशों के तहत ट्रैफिक पुलिस ने कमर कस ली है। 

ट्रैफिक नियमों का पालन न करने की वजह से सड़क दुर्घटनाएं घटित होती हैं जिसमें चालक के साथ साथ अन्य व्यक्तियों को भी चोट पहुंचने का खतरा रहता है। 

पुलिस आयुक्त श्री ओपी सिंह ने इन सड़क दुर्घटनाओं में कमी लाने के लिए ट्रैफिक पुलिस को आवश्यक दिशा निर्देश दिए हैं। इन मामलों में तफ्तीश करने के लिए ट्रैफिक पुलिस को और अधिक सशक्त बनाया गया है।

पुलिस आयुक्त द्वारा सड़क दुर्घटनाओं में ट्रैफिक पुलिस को इन्वेस्टिगेशन करने का अधिकार प्रदान किया गया है जिसमें  यातायात पुलिस अब हिट एंड रन केसों में खुद तफ्तीश कर सकेगी जिससे दुर्घटनाग्रस्त व्यक्तियों को न्याय दिलाने में तेजी आएगी और समय रहते पीड़ितों को न्याय मिल सकेगा। ट्रैफिक पुलिस थाना मे पर्याप्त अनुसंधान अधिकारी नियुक्त किए जाएंगे।

ट्रैफिक पुलिस द्वारा फरीदाबाद के दुर्घटना संभावित 11 स्थानों को चिन्हित किया गया है जहां पर सड़क दुर्घटनाएं ज्यादा घटित होती हैं।

चिन्हित किए गए इन 11 स्थानों में नीलम चौक न्यू आईएमटी राउंड, सेक्टर 48 में स्थित मस्जिद तथा श्मशान घाट, बल्लभगढ़ सोहना रोड पर स्थित सनी यादव फार्म हाउस, लखानी मेट्रो स्टेशन, नीलम चौक, लखानी धर्मशाला, बल्लबगढ़ मेट्रो अनाज मंडी कट, चंदावली पुल बाईपास, क्रॉउन इंटीरियर्ज मॉल, सराय ख्वाजा बायपास रोड तथा सीएचसी तिगांव–शिव कॉलेज रोड़ शामिल हैं।

उक्त स्थानों पर वर्ष 2020 में कुल 30 एक्सीडेंट हुए जिनमें 12 व्यक्तियों की मृत्यु हुई और 31 व्यक्ति घायल हुए वहीं वर्ष 2021 की बात करें तो जुलाई महीने तक इन स्थानों पर 16 एक्सीडेंट हो चुके हैं जिसमें 7 व्यक्तियों की मृत्यु हुई है और 11 व्यक्ति घायल हुए हैं।

इन यातायात दुर्घटनाओं पर अंकुश लगाने के लिए ट्रैफिक पुलिस की तरफ से 5 बड़े कदम उठाए गए हैं जिसमें इन स्थानों पर ज्यादा पुलिसकर्मियों की तैनाती करना, नागरिकों के बीच यातायात नियमों से संबंधित जागरूकता,यातायात नियमों की अवहेलना करने वालों के चालान, सीसीटीवी कैमरे तथा लोगों को सड़क दुर्घटना के प्रति सचेत करने के लिए लगवाए गए बोर्ड शामिल हैं।

चिन्हित किए गए इन स्थानों पर ज्यादातर दुर्घटनाएं गलत दिशा में गाड़ी चलाने, ओवर स्पीडिंग, बिना सीट बेल्ट यात्रा तथा ड्रिंक एंड ड्राइव की वजह से घटित होती हैं जिसपर अंकुश लगाने के लिए ट्रैफिक पुलिस द्वारा इन स्थानों पर सचेतात्मक बोर्ड लगवाए गए हैं जिनके माध्यम से लोगों को उक्त स्थानों पर ध्यानपूर्वक गाड़ी चलाने के लिए निर्देशित किया गया है।

नागरिकों को जब मार्गों पर ट्रैफिक पुलिस खड़ी दिखाई देती है तो वह चालान कटने के डर से अपने आप ही ट्रैफिक नियमों का पालन करना शुरू कर देते हैं। इसी को ध्यान में रखते हुए जोनल ऑफिसर द्वारा उक्त चिन्हित स्थानों पर अधिक पुलिसकर्मियों की नियुक्ति की गई है ताकि नागरिक पुलिस को देखकर ही सही परंतु नागरिक यातायात नियमों का पालन करें।

सड़क दुर्घटनाओं का दूसरा मुख्य कारण है नागरिकों में यातायात नियमों की जानकारी का अभाव। ज्यादातर नागरिक यातायात नियमों का पालन इस वजह से नहीं करते कि उन्हें यातायात नियमों का पता ही नहीं रहता जिसके अभाव में वह दुर्घटना का शिकार हो जाते हैं। इसी को ध्यान में रखते हुए इन स्थानों पर ट्रैफिक पुलिसकर्मियों द्वारा अधिक से अधिक नागरिकों को ट्रैफिक नियमों के प्रति जागरूक किया जा रहा है ताकि इन नियमों की जानकारी नागरिकों तक पहुंचाकर उनको सड़क दुर्घटनाओं का शिकार होने से बचाया जा सके।

यातायात नियमों की अवहेलना करने वाले व्यक्तियों पर आर्थिक दंड लगाकर भी सड़क दुर्घटनाओं पर अंकुश लगाया जा सकता है इसलिए इस प्रकार के व्यक्तियों के ट्रैफिक नियमों के तहत चालान काटे जा रहे हैं जो यातायात नियमों की अवमानना करते हैं।

नवीनतम आंकड़ों के अनुसार ट्रैफिक पुलिस द्वारा वर्ष 2021 में अब तक 58640 वाहन चालको के यातायात अधिनियम के तहत चालान काटकर 4 करोड़ 22 लाख 34 हज़ार 700 रुपए का जुर्माना लगाया गया है।

इस वर्ष काटे गए 58640 चालानों में 11974 चालान गलत दिशा में गाड़ी चलाने, 7416 ओवर स्पीडिंग, 7475 बिना हेलमेट तथा 3898 चालान बिना सीट बेल्ट यात्रा करने के शामिल हैं।

चिन्हित किए गए इन स्थानों पर सीसीटीवी कैमरे लगवाने के लिए ट्रैफिक पुलिस के तरफ से स्मार्ट सिटी फरीदाबाद को पत्राचार किया गया है जिन्हें जल्द ही उपलब्ध करवाया जाएगा। 

इन सीसीटीवी कैमरों के माध्यम से ट्रैफिक पुलिस द्वारा यातायात नियमों की अवमानना करने वाले व्यक्तियों पर निगरानी रखी जाएगी और उनके ऑनलाइन चालान किए जाएंगे जिसकी वजह से भी सड़क दुर्घटनाओं में कमी आएगी।

पुलिस आयुक्त श्री ओपी सिंह ने नागरिकों से यातायात नियमों का पालन करने की अपील करते हुए कहा की दूसरों के लिए आप सिर्फ एक आंकड़ा है परंतु आप अपने परिवार के लिए सब कुछ हैं। यदि किसी सड़क दुर्घटना में आपको किसी भी प्रकार का नुकसान होता है तो वह आपके साथ-साथ आपके परिजनों को भी परेशानी में डाल देगा, इसलिए नागरिकों से अनुरोध है कि वह ट्रैफिक नियमों का पालन करें और अपने गंतव्य तक सुरक्षित पहुंचे।

75वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर फरीदाबाद पुलिस पूरी तरह से अलर्ट, चाक-चौबंद रहेगी सुरक्षा व्यवस्था

faridabad-police-on-high-alert-due-to-independence-day-2021

Faridabad News 11 August 2021: पुलिस आयुक्त ओपी सिंह ने 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर सुरक्षा व्यवस्था के कड़े इंतजाम करने के लिए आवश्यक दिशा निर्देश दिए हैं।

पुलिस आयुक्त महोदय ने आदेश जारी किए हैं कि प्रत्येक थाना प्रभारी, चौकी इंचार्ज, क्राइम यूनिट अपने-अपने एरिया में मौजूद होटल, गेस्ट हाउस, रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड, बाजार, माल, धर्मशाला को निरंतर चेक करेंगे तथा संदिग्ध वाहन और व्यक्ति को अच्छे से चेक किया जाए।

जिला प्रशासन द्वारा सुरक्षा के मद्देनजर शहर में ड्रोन उड़ाने पर पूर्ण प्रतिबंध लगाया गया है इसलिए सभी थाना व चौकी प्रभारी अपने अपने एरिया में यह सुनिश्चित करेंगे कि कोई भी व्यक्ति ड्रोन का उपयोग न करें।

फरीदाबाद में आने वाले भारी वाहनों पर कल से रोक लगा दी जाएगी। फरीदाबाद के बाहर से आने वाला कोई भी भारी वाहन दिल्ली बॉर्डर की तरफ नहीं जाएगा और यह प्रतिबंध अगले 4 दिन तक जारी रहेगा। सभी थाना प्रभारी अपने थाना क्षेत्र में ट्रांसपोर्ट मालिकों को इसके बारे में अवगत करवाकर नियमों की पालना सुनिश्चित करवाएंगे।

पुलिस आयुक्त ने कहा कि साइबर कैफे मालिकों को निर्देश दिए जाए कि वह प्रत्येक व्यक्ति का डाटा रजिस्टर में दर्ज करें। बिना आईडी के किसी भी व्यक्ति को साइबर कैफे में एंट्री नहीं मिलनी चाहिए। सभी अपने सीसीटीवी कैमरा के रिकॉर्ड को कम से कम 30 दिन तक बरकरार रखेंगे।

साइबर कैफे मालिक को अगर किसी व्यक्ति पर शक होता है तो उसकी जानकारी तुरंत पुलिस को दें।

यदि किसी थाना क्षेत्र मे ISD/STD/PCO इत्यादी है , तो मालिक कॉल करने के लिए आने वाले प्रत्येक व्यक्ति का ब्यौरा रखें खासकर जो लोग पाकिस्तान और बांग्लादेश बात करते हैं।

फरीदाबाद जिले में पुराने वाहन मोटरसाइकिल/कार बेचने वाले डीलर प्रत्येक ग्राहक के बारे में अच्छे से जानकारी प्राप्त करें और उसी को ही वाहन बेचे जिसके पास खुद की ओरिजिनल आईडी हो और सही पता हो।

जिस किसी को भी वाहन बेचे गए हैं उन सभी का रिकॉर्ड (ऑटो फोर सेल/परचेज डीलर) के पास होना अति आवश्यक है।

पुलिस आयुक्त महोदय ने सुरक्षा के मद्देनजर सिम कार्ड और मोबाइल फोन बेचने वाले दुकानदारों के लिए भी दिशा निर्देश जारी किए हैं कि वह बिना फोटो और ओरिजिनल आईडी के किसी भी व्यक्ति को सिम कार्ड और फोन ना दें।

इसके अलावा श्रीमान पुलिस आयुक्त ने संदिग्ध वाहनों की निरंतर चेकिंग और उल्लंघन करने वालों के खिलाफ सख्त कार्यवाही करने के निर्देश दिए हैं।

पुलिस आयुक्त महोदय ने सभी फरीदाबाद शहर वासियों से अपील की है कि शहर को सुरक्षित रखने और कानून व्यवस्था बनाए रखने में पुलिस की मदद करें। किसी भी व्यक्ति को कोई भी संदिग्ध वाहन/वस्तु/व्यक्ति के बारे में पता लगता है अथवा सूचना मिलती है तो तुरंत इस बारे में पुलिस को 112 नंबर पर या 9999150000 व्हाट्सएप नंबर पर एवं नजदीकी थाना में सूचना दें।

कैट के नाम से नयी अपराध शाखा गठित, सभी अपराध शाखाओं को दी गई अलग अलग जिम्मेदारी, पढ़ें

faridabad-crime-branch-work-distributed-by-cp-op-singh 

Faridabad News 11 August: पुलिस आयुक्त कार्यालय में आयोजित अपराध समीक्षा बैठक में पुलिस अधिकारियों की कार्यशैली व दक्षता के आधार पर पुलिस आयुक्त ओ पी सिंह ने अपराध शाखा के प्रभारियों को नयी जिम्मेदारी सौंपी है।

किडनैपिंग एंड एबडक्शन टीम (कैट)  अपराध शाखा

पुलिस आयुक्त ने अब एक अहम फेरबदल करते हुए मिसिंग पर्सन सेल को अपराध शाखा के अंतर्गत कार्य करने का आदेश दिया है। इस नये अपराध शाखा का नाम किडनैपिंग एंड एबडक्शन टीम (कैट) है। यह अपराध शाखा फरीदाबाद के सभी थानों में दर्ज अपहरण एवं लापता लोगों के मामले में कार्रवाई एवं अनुसंधान करेगी। यह अपराध शाखा विशेषकर नाबालिग बच्चियों के अपहरण तथा लापता होने के मामले में पूरी तत्परता से कार्रवाई करेगी। आँकड़ो के अनुसार, जुलाई अंत तक फरीदाबाद पुलिस ने कुल 134 लापता नाबालिगों को उनके परिजनों से मिलाया। इन आँकड़ों में 71 लापता किशोर आयु के बच्चे हैं जबकि,  माइनर गर्ल्स की संख्या 63 है। 

अपराध शाखा, सेक्टर-14

अदालत से जमानत पर रिहा होने के किस की ट्रायल के दौरान कोर्ट में हाजिर ना होने वाले बेल जंपर एवं भगोड़े अपराधियों PO की तलाश एवं सजा काट रहे जेल से पैरोल पर आये अपराधी जो वापिस जेल ना जाकर फरार हो जाते है, उपरोक्त आरोपियो की गिरफ्तारी कर न्यायालय में प्रस्तुत करने की नयी जिम्मेवारी अब अपराध शाखा, सेक्टर-14 की है। अपराध शाखा, सेक्टर-14 के द्वारा पुलिस आयुक्त, फरीदाबाद के क्षेत्र में आने वाले सभी भगोड़े अपराधियों पर कार्रवाई सुनिश्चत की जाएगी। इसका मतलब यह है कि पीओ सेल अब क्राइम ब्रांच के तौर पर कार्य  करेगी। अपराध शाखा ने इस वर्ष जुलाई माह के अंत तक 73 उद्घोषित अपराधियों तथा 70 बेल जम्पर को गिरफ्तार कर न्यायालय में प्रस्तुत करने उपरांत जेल भेज दिया है। 

अपराध शाखा बीपीटीपी (सेन्ट्रल)

नया प्रभार मिलने के बाद बीपीटीपी (सेन्ट्रल) अब सामान्य चोरी की घटनाओं पर अंकुश लगाते हुए पेशेवर चोरों को चिन्हित कर उनकी सूची तैयार करेगी। सूची में शामिल नाम पर एक निश्चित समयांतराल में समीक्षा की जाएगी और चोरी की घटनाओं में संलिप्त अपराधियों की गतिविधियों को अंकित किया जाएगा। सक्रिय चोरों के विरूद्ध कठोर कार्रवाई सुनिश्चित करने के लिए बीपीटीपी (सेन्ट्रल) को नये प्रभार के साथ तैनात किया गया है।

अपराध शाखा, सेक्टर-48

नये कार्यभार मिलने की दशा में अपराध शाखा, सेक्टर-48 अब एनआईटी जोन के सभी थानों में दर्ज झपटमारी तथा फिरौती के केस में अपनी कार्यकुशलता दिखाते हुए इसके निष्पादन का उचित निर्वहन करेगी।

अपराध शाखा, सेक्टर-30 

लूट, डकैती एवं फिरौती के ऐसे मामले, जो सेन्ट्रल और बल्लभगढ़ जोन के थानों से संबंधित हैं। इन मामलों के प्रभावी निष्पादन का कार्य अपराध शाखा, सेक्टर-30 को सौंपा गया है।

अपराध शाखा, सेक्टर-17

अपराध शाखा, सेक्टर-17 को, जघन्य मामलों के अलावा अन्य मामलों में वांछित अपराधियों पर कार्रवाई सुनिश्चित करने का कार्यभार सौंपने के साथ ही आपराधिक इतिहास वाले वांछित अपराधियों पर शिकंजा कसने का प्रभार दिया गया है।

अपराध शाखा, सेक्टर- 85

गृहभेदन कर चोरी करने वाले सेंधमारों पर अपराध शाखा, सेक्टर-85 की कार्रवाई भारी पड़ने वाली है। क्योंकि, अपराध शाखा, सेक्टर- 85 को गृहभेदन के विरूद्ध अंकित मामलों में सेंधमारों का पता कर उसपर कार्रवाई करने का जिम्मा सौंपा गया है।

अपराध शाखा, बदरपुर बॉर्डर

अब प्रतिबंधित नशा सामग्री जैसे- गाँजा, स्मैक इत्यादि के सेवन व खरीद-बिक्री के विरूद्ध एनडीपीएस एक्ट से जुड़े सभी मामलों के निष्पादन का उत्तरदायित्व अपराध शाखा, बदरपुर बॉर्डर के हाथों में दिया गया है।

अपराध शाखा, सेक्टर-65

हाल के दिनों में हुई हिंसक आपराधिक झड़पों के मामले को फरीदाबाद पुलिस की ओर से गंभीरतापूर्वक लेते हुए पुलिस आयुक्त श्री ओ पी सिंह ने जहाँ, अपराध शाखा, सेक्टर-65 को नयी जिम्मेवारी के रूप में छायंसा, तिगाँव तथा सदर बल्लभगढ़ थानाक्षेत्र में हिंसक आपराधिक घटनाओं में शामिल आरोपियों के विरूद्ध कार्रवाई सुनिश्चित करते हुए मामले के निष्पादन करने का आदेश दिया है।

अपराध शाखा, ऊँचागाँव

वहीं, सेक्टर-7, आदर्शनगर तथा सिटी बल्लभगढ़ थाना में हिंसक झड़पों के विरूद्ध दर्ज मामलों का प्रभावी निष्पादन का कार्यभार अपराध शाखा, ऊँचागाँव को मिला है।

अपराध शाखा, सेक्टर-56

अपराध शाखा, सेक्टर-56 द्वारा पूरे फरीदाबाद में हो रहे वाहन चोरी तथा एटीएम चोरी की घटनाओं का उद्भेदन करते हुए मामले के निष्पादन का निर्वहन किया जाएगा।

अपराध शाखा, बड़खल

सीपी ओपी सिंह ने वाहन चोरी के मामलों में पुलिस की संवेदनशीलता बढ़ाते हुए अपराध शाखा, बड़खल को वाहन चोरी के मामले के निष्पादन का अतिरिक्त प्रभार दिया है। अपराध शाखा, बड़खल को लापता लोगों की बरामदगी के साथ अन्य मामलों का प्रभार भी दिया गया है। 

इन सब के अलावा पुलिस आयुक्त ने कहा है कि फरीदाबाद पुलिस के सभी डीसीपी एवं एसीपी स्तर के अधिकारी मामले की गंभीरता को देखते हुए अनुसंधान के क्रम में प्राप्त तथ्यों व साक्ष्यों पर वैज्ञानिक व तार्किक आधार पर पर्यवेक्षण करेंगे। 

साई एक्सपोर्ट कंपनी में काम करने वाली युवती ने किया आत्महत्या का प्रयास, पुलिसकर्मी ने बचाई जान

faridabad-sector-28-metro-station-police-save-girls-suicide
Faridabad Sector 28 Metro Station police save girls life during suicide attempt working in Sai Export Company.

फरीदाबाद:  पुलिस आयुक्त ओपी सिंह के मार्गदर्शन पर कार्य कर रही फरीदाबाद पुलिस ने एक बार फिर कमाल कर दिखाया है खुदकुशी करने पर आमदा लड़की को जान हथेली पर रखकर बचाया। ऐसा फिल्मों में भी नहीं होता है जैसा फरीदाबाद के जांबाज पुलिसकर्मी ने कर दिखाया.

वाक्या कल  24.07.2021 करीब 06.30 बजे शायं का था, प्रबंधक थाना मैट्रो फऱीदाबाद को सुचना प्राप्त हुई की एक लडकी सै0 28 मैट्रो स्टेशन प्लेटफार्म नं.-2 पर खुदखुशी करने की कोशिश कर रही है, जिसपर तुरंत तत्परता दिखाते हुए बिना किसी विलंब के मेट्रो पुलिस स्टेशन में तैनात एसआई धन प्रकाश एवं सिपाही सरफराज मौके पर पहुंचे एसआई धन प्रकाश ने सीआईएसफ एवं मेट्रो कर्मचारियों के साथ लड़की का ध्यान बटा कर रखा, बात करते रहे , दूसरी तरफ से सिपाही सरफराज छज्जे पर चढ़कर लड़की के नजदीक पहुंचकर उसको काबू किया, CISF स्टाफ व मैट्रो के कर्मचारियों की सहायता से लडकी को सुरक्षित बचा लिया गया।

लड़की से पूछताछ में सामने आया कि वह दिल्ली की रहने वाली है और सेक्टर 28 फरीदाबाद मे स्तिथ एक साईं एक्सपोर्ट कंपनी मे नौकरी करती है जो काम के रिजल्ट को लेकर मानसिक तनाव एंव डिपरेशन मे आ गई थी जिस कारण उसे यह कदम उठाया था और अब वह पुर्णत: ठीक है।

लड़की को सकुशल उसके परिजनों के हवाले कर पुलिस ने काउंसलिंग करते हुए समझाया की आत्महत्या करना किसी भी समस्या का हल नहीं है, किसी भी कारण से डिप्रेशन का शिकार हो तो किसी अपने से बात करें। उन चीजों को तलाश करें जो आपको खुशी देती हैं। बुरे विचारों को मन पर हावी ना होने दें अपनी समस्याओं को परिजनों के साथ शेयर करें।