Followers

Showing posts with label Faridabad Police. Show all posts

CM मनोहर और HM अनिल विज ने CP साहब को दिए जनता पर सख्ती करने के निर्देश

faridabad-police-cp-op-singh-meeting-with-cm-hm-news

फरीदाबाद, 16 अप्रैल: पुलिस आयुक्त ओपी सिंह ने कोरोना महामारी के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए लोगों को जागरूक करने और कोविड नियमों का उल्लंघन करने वाले लोगों के खिलाफ सख्त कदम उठाते हुए पुलिस अधिकारियों को उल्लंघन करने वाले लोगों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं।

माननीय मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से हुई बैठक में कोरोना महामारी के नियंत्रण के लिए प्रशासन द्वारा सख्त कदम उठाने का फैसला लिया गया।

सरकार द्वारा जारी दिशा निर्देशों के अनुसार नाइट कर्फ्यू के दौरान मूलभूत सुविधाएं प्रदान करने वाले लोगों को ही आवागमन की अनुमति रहेगी और अनावश्यक रूप से बाहर निकलने वाले लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

कोरोना पॉजिटिव व्यक्ति स्वास्थ विभाग द्वारा जारी गाइडलाइन का पालन करें, आइसोलेशन में रहे, अपने घर से बाहर ना निकले, परिवार के लोगों से भी उचित दूरी बनाकर रखें वरना दूसरे व्यक्ति भी इसके संक्रमण का शिकार हो सकते हैं। 

फरीदाबाद पुलिस द्वारा कोविड से ग्रसित मरीजों को ट्रेस करने के लिए टीम लगाई गई है, जो इस महामारी से संक्रमित व्यक्तियों और उसके संपर्क में आने वाले लोगों पर निगरानी रखेगी।

यदि कोई व्यक्ति उक्त नियमों का उल्लंघन करता है तो उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई करते हुए आईपीसी की धारा 188 एवं डिजास्टर  मैनेजमेंट के तहत  मुकदमा दर्ज किया जाएगा।

पुलिस आयुक्त महोदय ने निर्देश देते हुए कहा कि शहर के भीड़भाड़ वाले मुख्य स्थानों पर ज्यादा से ज्यादा पुलिसकर्मियों की तैनाती की जाएगी और उनके द्वारा लोगों को इस महामारी से बचाव के लिए जागरूक किया जाएगा और पुलिस के नाको पर स्वास्थ विभाग की टीम ( सैंपलिंग) कोविड जांच भी करेगी।

शहर में भीड़भाड़ वाले मुख्य स्थानों जैसे सब्जी मंडी, अनाज मंडी, बस स्टैंड, बाजार इत्यादि स्थानों पर पुलिस नाके लगाए जाएंगे ताकि अधिक से अधिक लोगों को जागरूक करके इस महामारी से सुरक्षित रखा जा सके।

पुलिस द्वारा चलाए जा रहे इस जागरूकता अभियान में लोगों को मास्क लगाने, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने, सैनिटाइजेशन और अनावश्यक रूप से घर से बाहर न निकलने के बारे में जागरूक किया जाएगा।

सरकार द्वारा जारी दिशा निर्देशों के तहत सभी शादी  समारोह के अंदर इंडोर में 50 और आउटडोर में 200 लोगों को कोविड-19 की पालना के साथ अनुमति प्रदान की गई है वहीं अंतिम संस्कार में 20 से अधिक लोगों को शामिल होने की अनुमति नहीं होगी।

जिला प्रशासन द्वारा घोषित कंटेनमेंट जोन में पुलिसकर्मियों द्वारा विशेष तौर पर निगरानी रखी जाएगी। केवल आवश्यक सामान की आपूर्ति करने वाले लोगों को ही कंटेनमेंट जोन में जाने दिया जाएगा।

पुलिस आयुक्त ने नागरिकों से कोविड-19 का पालन करके पुलिस प्रशासन द्वारा इस महामारी के नियंत्रण में सहयोग करने का आह्वान करते हुए कहा कि इस महामारी को फैलने से रोकने में आमजन पुलिस प्रशासन का सहयोग करें।

नाईट कर्फ्यू के दौरान कानून तोड़ने वालों को सबक सिखाने के लिए पुलिस तैयार, CP ने दिए ये आदेश

faridabad-police-ready-for-night-curfew

फरीदाबाद, 13 अप्रैल: कोरोना के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए फरीदाबाद पुलिस आयुक्त एक्शन के मूड में आ चुके हैं और सरकार द्वारा कोविड के संबंध में जारी दिशा-निर्देशों का पालन न करने वाले लोगों के खिलाफ कानून के तहत सख्त कार्रवाई करने के आदेश दिए हैं।

सरकार द्वारा जारी नाइट कर्फ्यू का सख्ती से पालन करवाने के बारे में पुलिस अधिकारियों को निर्देश देते हुए उन्होंने कहा कि लोगों की सुरक्षा हमारा प्रथम कर्तव्य है इसलिए पुलिसकर्मी नाइट कर्फ्यू का सख्ती से पालन करवाकर अपने कर्तव्य का पूरी निष्ठा से निर्वाहन करें।

पुलिस आयुक्त ने जिले के सभी पुलिस उपायुक्त व सहायक पुलिस आयुक्त के साथ आयोजित बैठक में अधिक से अधिक लोगों को कोरोना के विरुद्ध जागरूक करने के निर्देश दिए हैं ताकि लोगों को इस महामारी से सुरक्षित रखा जा सके।

थाना स्तर पर फरीदाबाद के मुख्य बाजारों, बस स्टैंड, सब्जी मंडी, चौक चौराहे आदि भीड़भाड़ वाले स्थानों पर पुलिस नाके लगाए जाएंगे जिसमें महिला पुलिसकर्मी भी मौजूद रहेंगी।

नाइट कर्फ्यू के दौरान केवल जरूरी सामान की सप्लाई करने वाले लोग आवागमन कर सकेंगे और इसके अलावा यदि बिना कारण कोई व्यक्ति घूमता हुआ पाया गया तो उसके खिलाफ कानून के तहत सख्त कार्रवाई की जाएगी।

पुलिस आयुक्त ने कहा कि इस महामारी से बचने में स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी दिशा निर्देशों का पालन करना अति आवश्यक है। कोई भी व्यक्ति बिना मास्क पहने घर से बाहर ना निकले और 2 गज की दूरी बनाए रखें।

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि लोग भीड़ भाड़ वाली जगह पर जाने से बचें क्योंकि उससे महामारी फैलने का खतरा और अधिक बढ़ सकता है। हाथों को समय-समय पर सैनिटाइज करें और स्वास्थ्य संबंधी किसी भी प्रकार की परेशानी होने पर तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें और उनकी सलाह अनुसार ही दवाइयों का सेवन करें।

पुलिस अधिकारियों को निर्देश देते हुए उन्होंने कहा कि नाइट कर्फ्यू का सख्ती से पालन पालन करवाएं और लोगों को इस महामारी से बचने के उपायों के बारे में जागरूक करें।

गोली चलाकर हत्या के प्रयास में तीन आरोपी गिरफ्तार, असलहा, कारतूस बरामद

faridabad-dabua-thana-police-arrested-three-307-accused
 

फरीदाबाद: अपराधियों को सलाखों के पीछे भेजने के लिए पुलिस कमिश्नर ओ पी सिंह के द्वारा चलाए गए अभियान के तहत कार्य करते हुए क्राइम ब्रांच सेक्टर 56 की टीम ने हत्या का प्रयास करने वाले तीन आरोपियों को 3 अवैध हथियार सहित काबू करने में सफलता हासिल की है।

आरोपियों की पहचान कमल, विकास उर्फ मुन्ना और आजाद के रूप में हुई है सभी आरोपी डबुआ कॉलोनी गाजीपुर रोड फरीदाबाद के रहने वाले हैं।

आपको बताते चलें कि दिनांक 7 अप्रैल 2021 को शिकायतकर्ता तरुण निवासी गांव गाजीपुर फरीदाबाद ने थाना डबुआ पुलिस को अपनी लिखित शिकायत में बताया था कि करीब 10 दिन पहले उसका झगड़ा आरोपी कमल के दोस्त के साथ हो गया था। रात करीब 9:00 बजे जब शिकायतकर्ता तरुण और उसके ताऊ का लड़का मोटरसाइकिल पर घर जा रहे थे तो कमल ने अपने दोस्त के साथ हुए झगड़े का बदला लेने के लिए अपने उपरोक्त साथियों के साथ उनको रास्ते में रोक लिया और उनके साथ मारपीट की और गोली चला कर हत्या करने का प्रयास किया। जिस पर आरोपियों के खिलाफ धारा 307, 506, 25- 54-59 के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरू की गई।

मामले की जांच कर रही क्राइम ब्रांच सेक्टर 56 पुलिस टीम ने जानकारी देते हुए बताया कि आरोपी कमल को थाना डबुआ एरिया से गिरफ्तार किया गया है जिसके कब्जे से एक देसी कट्टा और एक जिंदा रौंद बरामद हुआ है। जिस पर आरोपी के खिलाफ थाना डबुआ में आर्म्स एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है।

आरोपी कमल के दोस्त आरोपी विकास उर्फ मुन्ना और आजाद को थाना मुजेसर एरिया से 2 देसी कट्टा और दो जिंदा कारतूस सहित गिरफ्तार किया है जिस पर आरोपी के खिलाफ मामला थाना मुजेसर में आर्म्स एक्ट के तहत दर्ज किया गया है।

पूछताछ पर आरोपियों ने बताया कि वो यह देसी कट्टे छाता मथुरा यूपी से खरीद कर लेकर आए थे।

गिरफ्तार आरोपियों की पूर्व अपराधिक रिकॉर्ड की बात की जाए तो आरोपी कमल के खिलाफ वर्ष 2017 में हत्या का एक मामला थाना सारण, वर्ष 2020 में अवैध हथियार का एक मामला थाना डबुआ, और वर्ष 2021 में हत्या के प्रयास का एक मामला थाना डबुआ में दर्ज है।

इसके अलावा आरोपी विकास उर्फ मुन्ना के खिलाफ मारपीट और जान से मारने की धमकी का एक मामला थाना सारण में दर्ज है।

पुलिस ने आरोपियों से तीन देसी कट्टा, तीन जिंदा कारतूस और एक खाली खोल बरामद कर आज तीनों आरोपियों को अदालत में पेश कर जेल भेज दिया है।

23,000 रूपये का चालान काटने पर स्कूटी सवार हुआ नाराज, CP बोले, ट्रैफिक नियमों का कीजिये पालन

faridabad-cp-appeal-public-to-follow-traffic-rule-news

फरीदाबाद, 7.04.2021: अगर आप दोपहिया या चार पहिया वाहनों से यात्रा करते हैं तो ट्रैफिक नियमों को जानने के साथ-साथ इसका सख्ती से पालन करना सीख लें। अन्यथा, पुलिस द्वारा यातायात नियमों का पालन कराने की प्रतिबद्धता के कारण आपको भारी भरकम जुर्माना भरना पड़ सकता है।

फ़रीदाबाद ट्रैफिक पुलिस ने गत सोमवार को वाहनों के विशेष चेकिंग अभियान के दौरान एक स्कूटी  चालक को रूकवाया। स्कूटी चालक के पास स्कूटी के आवश्यक कागजात उपलब्ध नहीं थे। ट्रैफिक पुलिस ने  यातायात नियमों का उल्लंघन करने पर स्कूटी चालक का 23,000 रूपये का चालान किया। स्कूटी चालक ने पुलिस पर आरोप लगाते हुए इस कार्रवाई को पूर्वाग्रह से ग्रसित बताया। 

इस बारे में पुलिस उपायुक्त (ट्रैफिक) श्री सुरेश हुड्डा ने स्पष्ट जानकारी देते हुए कहा है कि पुलिस द्वारा वाहनों के चालान, मोटर वाहन अधिनियम एवं सरकार द्वारा जारी यातायात नियमों के तहत ही किये जाते हैं। ट्रैफिक नियमों का उचित पालन करने के साथ इसे लागू करने में आमजनों को भी अपेक्षित व विधि-सम्मत सहयोग देना चाहिए।  

पुलिस कमिश्नर श्री ओपी सिंह ने इस पर कहा कि वाहन चालकों द्वारा यातायात नियमों के उल्लंघन करने उपरांत प्राप्त की गई जुर्माना राशि सरकार के खाते में जमा की जाती है, पुलिस किसी भी वाहन चालक का चालान यातायात नियमों का उल्लंघन करने एवं वाहन से संबंधित आवश्यक कागजात ना होने पर ही चालान करती है, इसमें पुलिस का कोई भी निजी स्वार्थ नहीं होता है। पुलिस द्वारा किये गये चालान की रसीद वाहन चालक को दे दी जाती है। 

CP ने दिलवाई पुलिसवालों को ट्रेनिंग, रोड दुर्घटना में घायलों को 50000, मृतकों को 2 लाख दिलाएं

police-ki-pathshala-training-road-accident-victim-relief

फरीदाबाद, 30 मार्च 2021: पुलिस आयुक्त ओपी सिंह ने आज पुलिस लाइन फरीदाबाद में पुलिस की पाठशाला कार्यक्रम का शुभारंभ करते हुए सभी थाना व चौकी के अनुसंधान अधिकारियों के अनुसंधान स्तर की गुणवत्ता में ओर अधिक सुधार लाने के लिए प्रोत्साहित किया।

इस कार्यक्रम में ओपी सिंह के साथ सहायक पुलिस आयुक्त आदर्शदीप सिंह व प्रत्येक थाना व चौकी से अनुसंधान अधिकारी मौजूद रहे।

इस कार्यक्रम का शुभारंभ करते हुए पुलिस आयुक्त ने बताया कि इस कार्यक्रम का उद्देश्य अनुसंधान अधिकारियों द्वारा किस प्रकार लोगों की सहायता की जाए इसके बारे में ट्रेनिंग दी गई और पुलिसकर्मचारियों को  लोगों की कानूनी सहायता करने के लिए प्रोत्साहित किया गया।

आज के इस कार्यक्रम का उद्देश्य सड़क दुर्घटनाओं में अनुसंधान अधिकारियों द्वारा नागरिकों की कानूनी व आर्थिक सहायता करने के लिए प्रेरित करना था।

सड़क दुर्घटनाओं के बारे में अनुसंधान अधिकारियों को दिशा निर्देश देते हुए बताया गया कि सड़क दुर्घटनाओं में घायल व्यक्ति की मदद के लिए सरकार द्वारा आर्थिक सहायता दी जाती है जिसके लिए अनुसंधान अधिकारियों को क्लेम फॉर्म भरना होता है ताकि लोगों को आर्थिक रूप से मदद मिल सके।

अनुसंधान अधिकारी द्वारा क्लेम फॉर्म भरने के पश्चात ही दुर्घटना में घायल हुए लोगों को सरकार की तरफ से आर्थिक सहायता मिल सकेगी जिससे लोग अपना इलाज बेहतर ढंग से करवा सकेंगे।

इसके साथ ही उन्होंने ट्रैफिक एसएचओ को भी निर्देश दिए कि किसी भी प्रकार की सड़क दुर्घटना में लोगों की हर संभव मदद की जाए और दुर्घटना में घायल व्यक्तियों को जल्द से जल्द अस्पताल पहुंचाया जाए ताकि उनकी जान बचाई जा सके।

पुलिस आयुक्त द्वारा सभी अनुसंधान अधिकारियों को निर्देशित किया गया है कि वह हर प्रकार से लोगों की सहायता करें ताकि लोगों में कानून के प्रति विश्वास बना रहे।

पुलिस आयुक्त ने बताया कि पुलिस की पाठशाला कार्यक्रम समय-समय पर आयोजित किया जाएगा और पुलिस अधिकारियों द्वारा लोगों को भी इसके बारे में जागरूक किया जाएगा ताकि लोग कानून के प्रति जागरूक हो और अपने अधिकारों के लिए उत्तम तरीके से पुलिस प्रशासन की सहायता ले सकें।

पुलिस आयुक्त ने बताया कि पुलिस प्रशासन का कार्य लोगों की सुरक्षा के साथ साथ उन्हें हर प्रकार की कानूनी सहायता प्रदान करना भी है जिसके लिए वह हर समय प्रयासरत रहेंगे और अपने अधीनस्थ पुलिसकर्मियों को भी लोगों की सहायता करने के लिए प्रोत्साहित करते रहेंगे।

Video CP OP Singh Press Statement (Byte)
   

Video 2: Police Ki Pathshala, CP OP Singh Speech
 

सार्वजनिक स्थानों पर होली ना मनाए, वरना मिलेगा दंड: फरीदाबाद पुलिस

faridabad-police-strict-warning-holi-celebration

फरीदाबाद, 27 मार्च 2021: जिला पुलिस द्वारा होली के अवसर पर लोगों से हुड़दंगबाजी न करने और कोरोना महामारी से बचने के लिए सावधानियों का प्रयोग करने का आह्वान किया गया।

CP ओपी सिंह ने रंगो के त्योहार होली के शुभ अवसर पर प्रदेश के नागरिकों, फरीदाबाद पुलिस के समस्त अधिकारियों व जवानों सहित उनके परिवारों को अग्रिम शुभकामनाएं देते हुए कहा कि होली का त्यौहार लोगों के जीवन में और अधिक रंग भरकर सभी को समाज में सद्भाव से रहने के लिए प्रेरित करता है।

हरियाणा सरकार के आदेशानुसार कोरोना महामारी को देखते हुए सार्वजनिक स्थानों पर होली मनाने पर रोक लगाई गई है।

सार्वजनिक स्थानों पर सामूहिक रूप से होली उत्सव मनाने पर पाबंदी के मद्देनजर पुलिस आयुक्त ने उम्मीद जताई कि इस बार लोग घर पर होली का त्योहार भारी उत्साह और हर्षोल्लास के साथ मनाएंगे। इस बार होली पर खुशियों भरे माहौल में सभी को अपनी सुरक्षा को लेकर ज्यादा एहतियात बरतने की जरूरत है ताकि यह पर्व सभी के लिए खुशियों से भरा हो और सभी कोरोना संक्रमण से भी बचे रहें।

फील्ड में तैनात पुलिस अधिकारियों को विशेष निर्देश जारी करते हुए कहा कि वे होली के अवसर पर प्रदेश में कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए अतिरिक्त सतर्क रहें।

पुलिस उपायुक्त डॉ अर्पित जैन ने इसकी जानकारी देते हुए कहा कि कोरोना का प्रभाव फिर से बढ़ रहा है इसलिए होली के इस पावन अवसर पर लोगों को सावधानी बरतनी की आवश्यकता है।

होली के अवसर पर लोगों को मिलन समारोह में शामिल न होने और एक जगह पर भीड़ एकत्रित न करने की हिदायत दी गई।

होली के अवसर पर कुछ उपद्रवी लोग भांग या शराब के नशे में धुत होकर वाहनों पर सवार हो जाते हैं और तेज गति से सड़कों पर वाहन दौड़ाते हैं जिसके परिणामस्वरूप गंभीर दुर्घटनाएं घटित होती हैं।

इन दुर्घटनाओं में वाहन चालक के साथ साथ अन्य लोगों को भी इसके गंभीर दुष्परिणाम भुगतने पड़ते हैं।

कुछ लोग नशे में  होकर छोटी मोटी बातों के चलते आपस में लड़ाई झगड़ा करते हैं जिसकी वजह से दोनों पक्षों को गंभीर चोट पहुंचती है और भाईचारा बिगड़ता है।

पुलिस प्रशासन इस प्रकार हुड़दंगबाजी और नशे का सेवन कर लड़ाई झगड़ा करने वाले उपद्रवियों के साथ सख्ती से पेश आएगा और उनके खिलाफ सख्त कानून कार्रवाई की जाएगी.

उन्होंने कहा कि कोरोनावायरस को देखते हुए लोग एक जगह पर एकत्रित ना हो और प्रशासन द्वारा जारी आदेशों की पालना करके दंड के भागीदार बनने से बचें।

उन्होंने नागरिकों से रंगों के त्यौहार को मनाते समय दूसरों की भावनाओं का सम्मान करने और उनकी संवेदनशीलता को ठेस न पहुंचाने की भी अपील की।

फरीदाबाद पुलिस द्वारा ’सेफ’ होली के संदेश को जन-जन तक पहुंचाने के लिए सोशल मीडिया पर भी एक जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है।

प्राइवेट कंपनी ने फरीदाबाद पुलिस को भेंट की बोलेरो गाड़ी

private-company-donated-faridabad-police-bolero-car

फरीदाबाद: अपनी जान को जोखिम में डालकर नागरिकों की सुरक्षा करने व जिले में कानुन  व्यवस्था बनाऐ रखने वाली पीपुल्स पुलिस- फरीदाबाद पुलिस को भारत गियर्स लिमिटेड कंपनी ने सीएसआर के तहत महिंद्रा बोलेरो गाड़ी भेंट की है।

सीएसआर फडं जिसमें कंपनियों द्वारा अपने लाभ का कुछ अंश सामाजिक कार्यों में खर्च  किया जाता है। 

कंपनी के संयुक्त प्रबंधक निदेशक श्री समीर कुमार ने यह गाड़ी डीसीपी मुख्यालय श्री अर्पित जैन के सुपुर्द की। इस मौके पर सूरजकुंड थाने के एसएचओ के साथ-साथ कंपनी के कॉरपोरेट हेड श्री नरेश वर्मा, असिस्टेंट जनरल मैनेजर श्री रोहित मुंजाल, ह्यूमन रिसोर्सेज टीम से श्री अमित अरोड़ा, श्री अरुण पवार और श्री आर सुधीर भी मौके पर मौजूद रहे

पुलिस उपायुक्त डॉ अर्पित जैन ने कंपनी द्वारा दी गई भैंट के लिए उनका धन्यवाद किया।

 उन्होंने कहा कि सीएसआर के तहत दी गई गाड़ियां पुलिस टीम द्वारा गस्त में प्रयोग की जाएंगी जिससे कि पुलिस पेट्रोलिंग में बढ़ोतरी होगी और नागरिकों में सुरक्षा का भाव पैदा होगा।

पुलिसकर्मी दिन में विभिन्न प्रकार की कड़ी ड्यूटिया करते हैं और रात में नागरिकों की सुरक्षा और अपराधों पर रोक लगाने के लिए पुलिस टीम द्वारा गस्त की जाती है। कंपनियों द्वारा भेंट की गई गाड़ियां पुलिसकर्मियों द्वारा की जाने वाली गस्त में लाभकारी साबित होंगी जिससे अपराधियों का जल्दी से पीछा करके उन्हें पकड़ने में सहायता मिल सकेगी।

फरीदाबाद पुलिस के बेड़े में भेंट की गई 46 गाड़ियां अब तक शामिल हो चुकी हैं जिसमें 13 बोलेरो, 12 स्कॉर्पियो, 10 iSUZU, 8 अर्टिगा, 2 टाटा सुमो और 20 बाईक एक एंबुलेंस शामिल हैं जिन्हें विभिन्न कंपनियों द्वारा भेंट किया गया है।

मास्क ना पहनने वालों का चालान काटकर उन्हें कोरोना से बचा रही फरीदाबाद पुलिस: सीपी

faridabad-cp-op-singh-told-police-challan-public-without-face-mask

फरीदाबाद, 23 मार्च 2021: दोबारा बढ़ रहे कोरोना महामारी के प्रकोप को देखते हुए फरीदाबाद पुलिस द्वारा बड़ी संख्या में फेस मास्क के चालान काटे जा रहे हैं ताकि लोगों को इस महामारी से सुरक्षित रखा जा सके।

सरकार के आदेशों के तहत 19 मार्च से 20 अप्रैल 2021 तक मास्क में पहनने वाले व्यक्तियों के चालान काटे जा रहे हैं। 

पुलिस आयुक्त ओ पी सिंह द्वारा सभी थाना व चौकी प्रभारियों को निर्देशित किया गया है की लोगों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए कोरोनावायरस से बचाव के लिए लोगों को जागरूक किया जाए और मास्क में पहनने वाले व्यक्तियों के चालान काटे जाएं।

उन्होंने बताया कि कोरोना की वैक्सीन अस्पतालों में उपलब्ध है और यह पूरी तरह सुरक्षित है। इसलिए ज्यादा से ज्यादा लोग टीकाकरण करवाएं और इस महामारी से बचने के लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी किए गए दिशा निर्देशों का पालन करें।

पुलिस ने फरीदाबाद में 22 मार्च को 938 फेस मास्क चालान किए  हैं और 3588 लोगों को कोरोनावायरस के संबंध में जागरूक भी किया है।

पुलिस प्रशासन द्वारा अभी तक फेस मास्क के 83094  चालान काटे गए हैं और 574726 लोगों को कोरोना महामारी से बचने के बारे में जागरूक किया गया है।

पुलिस आयुक्त डॉ अर्पित जैन ने कहा की कोरोना महामारी का दूसरा फेज पहले से भी खतरनाक है इसलिए उचित सावधानियां बरतकर नागरिक अपने साथ-साथ अपने परिवार को भी सुरक्षित रखें।

उन्होंने कहा कि नागरिक अपने साथ साथ दूसरे लोगों को भी कोरोना से बचने के लिए उचित सावधानियों के बारे में जागरूक करें और कोरोना महामारी को फैलने से रोकने में पुलिस प्रशासन का सहयोग करें।

पिछले 24 घंटे में 808 बिना मास्क वालों का चालान काटकर पुलिस ने वसूला 4.04 लाख रुपये जुर्माना

faridabad-police-808-without-mask-challan-22-march-2021

फरीदाबाद, 22 मार्च: फरीदाबाद पुलिस बार बार चेतावनी देती है कि लोग घर से बाहर मास्क पहनकर निकलें लेकिन कुछ लोग पुलिस की चेतावनी को हलके में ले लेते हैं जो उन्हें भारी पड़ रहा है.

फरीदाबाद पुलिस ने पिछले 24 घंटे में 808 लोगों का मास्क ना पहनने पर चालान काट दिया। हर चालान का 500 रूपया जुर्माना वसूला जाता है इसलिए एक ही दिन में 4,04,000 रुपये का जुर्माना वसूल लिया गया.

आपकी जानकारी के लिए  बता दें कि पुलिस चालान काटने के अलावा मास्क पहनने के लिए पब्लिक को जागरूक भी कर रही है. पिछले 24 घंटे में  2700 से ऊपर लोगों को जागरूक भी किया गया है.

856 पुलिसकर्मियों को पुलिस कमिश्नर ओपी सिंह ने दिया प्रथम श्रेणी प्रशंसा पत्र

faridabad-police-commissioner-op-singh-awarded-856-policemen

फरीदाबाद, 21 मार्च 2021: डीसीपी मुख्यालय ने जानकारी देते हुए बताया कि पुलिस कमिश्नर ओपी सिंह द्वारा फरीदाबाद शहर में अच्छे कार्य करने वाले एवं अपराधियों को दबोच कर हिम्मत और दिलेरी का परिचय देने वाले 856 पुलिसकर्मियों को प्रथम श्रेणी प्रशंसा पत्र दिया गया है।

उन्होने  जानकारी देते हुए बताया कि फरीदाबाद पुलिस थानों व् क्राइम ब्रांचो में तैनात कई पुलिसकर्मीयों ने अपराध की रोकथाम में बहुत ही सराहनीय कार्य किया है सैकड़ों अपराधियों को सलाखों के पीछे पहुँचाया है।

पुलिस कमिश्नर ने 856 पुलिस कर्मियों को प्रशंसा पत्र देकर प्रोत्साहित किया है जिसमे प्रभारी अपराध शाखा सेक्टर 17 निरीक्षक संदीप कुमार, प्रभारी अपराध शाखा सेंट्रल  निरीक्षक सुरेंदर, प्रभारी अपराध शाखा बॉर्डर निरीक्षक सेठी मलिक, प्रभारी महिला थाना बल्लभगढ़ महिला निरीक्षक माया, प्रभारी अपराध शाखा सेक्टर 48 उप-निरीक्षक राकेश, प्रभारी अपराध शाखा सेक्टर 85 उप-निरीक्षक सुमेर सिंह, प्रभारी अपराध शाखा ऊंचा गांव उप-निरीक्षक जगमिंदर, सहायक उप-निरीक्षक सुभाष अपराध शाखा सेक्टर 48, मुख्य सिपाही आनंद अपराध शाखा डीएलएफ, मुख्य सिपाही नरेंदर अपराध शाखा सेक्टर 48, सिपाही अनिल अपराध शाखा डीएलएफ, सिपाही मनोज अपराध शाखा सेक्टर 30, आईटी एक्सपर्ट एएसआई कमल एवं अन्य पुलिसकर्मचारी शामिल है।

इंस्पेक्टर संदीप मोर प्रभारी अपराध शाखा सेक्टर 17 व P/SI रविन्द्र ने नवम्बर 2020 से लेकर अब तक बहुत ही इमानदारी कर्मठता व साहस से फरीदाबाद पुलिस के लिए सराहनीय कार्य किए हैं जिसमें इन्होंने 14 अपराधी मोस्ट वांटेड इनामी बदमाश को सलाखों के पीछे भेजा है जिनमें 200000 का एक इनामी बदमाश, 50000 के दो इनामी बदमाश व 25000 रुपये के 4 इनामी बदमाश व 5000 रुपये के 7 इनामी बदमाश शामिल है इसी कड़ी में कार्य करते हुए इंस्पेक्टर संदीप मोर ने अपने कुशल नेतृत्व का परिचय देते हुए हत्या व लूट के संगीन अपराधो को सुलझाने में कामयाबी हासिल की और 14 अपराधी मोस्ट वांटेड इनामी बदमाश व गांजा बेचने वालों पर नकेल कसते हुए 15 गांजा तस्करों को सलाखों के पीछे भेजा है।

क्राइम ब्रांच सेक्टर 30 की बात करें तो उसने 23 पिओ गिरफ्तार किए हैं इसके अलावा ₹50000 के तीन इनामी बदमाश ₹25000 का एक और ₹5000 के चार इनामी बदमाशों को काबू किया है एवं नशा तस्करी और अवैध असला रखने वाले दर्जनों अपराधियों को सलाखों के पीछे पहुंचाया है।

क्राइम ब्रांच सेक्टर 85 की बात करें तो उन्होंने नाजायज असला रखने वाले 30 अपराधियों एवं लूट स्नैचिंग के अपराध में 53 अपराधियों, 16 पीओ और मर्डर के केस में संलिप्त 8 आरोपियों के अलावा गांजा, चरस, स्मैक की तस्करी करने वाले 21 अपराधियों को दबोच कर उनसे 115 किलो गांजा, 342 ग्राम स्मैक, 1250 ग्राम चरस बरामद की है।

अगर बात करें महिला थाना बल्लभगढ़ में तैनात इंस्पेक्टर माया तो उन्होंने भी महिला अपराध की रोकथाम   में बहुत ही सराहनीय कदम उठाए हैं इस दौरान उन्होंने महिला विरुद्ध अपराध के कई आरोपियों को जेल में पहुंचाया है।

क्राइम ब्रांच बदरपुर बॉर्डर एवं क्राइम ब्रांच ऊंचा गांव, क्राइम ब्रांच सेक्टर 48 और डीएलएफ की टीम ने भी सराहनीय कार्य करते हुए कई आरोपियों को सलाखों के पीछे पहुंचाया है।

साइबर अपराध शाखा ने जामताड़ा से एक बहुत बड़े साइबर गिरोह का भंडाफोड़ करने में कामयाबी हासिल हुई थी इसके अलावा मैजिक पेन गिरोह एवं आरबीएल बैंक गिरोह का भी भंडाफोड़ करने में कामयाबी हासिल हुई थी।

बात करें ट्रैफिक पुलिस एवं थानों में तैनात पुलिसकर्मियों की तो उन्होंने भी अपनी ड्यूटी को अच्छे से निभाया है। जिसके चलते पुलिस कमिश्नर ने फरीदाबाद शहर में तैनात सराहनीय कार्य करने वाले पुलिसकर्मियों को प्रथम श्रेणी प्रशंसा पत्र दिया है।

इसके अलावा पुलिस आयुक्त ने आईटी एक्सपर्ट एएसआई कमल को भी सम्मानित किया है। एएसआई कमल फरीदाबाद में सभी थानों, एसीपी, डीसीपी, सीपी, ऑफिस, में लगे कंप्यूटर में किसी भी तरह की कोई दिक्कत आती है तो वह तुरंत ही समाधान करते हैं। इसके अलावा सभी थानों में एफ आई आर दर्ज करने के लिए चल रहे सॉफ्टवेयर सीसीटीएनएस में किसी भी तरह की कोई रुकावट आती है तो तुरंत पुलिस हेड क्वार्टर से संपर्क साध कर उनका समाधान करते हैं।

डीसीपी मुख्यालय डॉ० अर्पित जैन ने बताया कि पुलिस आयुक्त महोदय ड्यूटी में तैनात सभी अधिकारियों/ पुलिसकर्मियों की सभी तरह की वेलफेयर संबंधित आवश्यक चीजों का पूरा ध्यान रखते हैं और इसके अलावा अच्छी ड्यूटी करने वाले पुलिस कर्मचारियों को समय-समय पर प्रथम श्रेणी प्रशंसा पत्र देकर उनका मनोबल बढ़ाते रहते हैं।

नाबालिक से Sexual Harassment Case: पुलिस ने अशोक कालिया को गिरफ्तार करके भेजा जेल

ashok-kalia-arrested-and-send-nimka-jail-women-police-sector-16-faridabad
 

फरीदाबाद, 22 मार्च: फरीदाबाद पुलिस ने नाबालिक लड़की से छेड़छाड़ के आरोपी अशोक गोयल उर्फ़ अशोक कालिया को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया है. फरीदाबाद सेक्टर सेक्टर-16 महिला पुलिस ने इस कार्यवाही को अंजाम दिया।

आपको बता दें कि अशोक गोयल उर्फ़ अशोक कालिया के खिलाफ एक नाबालिक युवती ने छेड़छाड़ के आरोप लगाए थे जिसपर कार्यवाही करते हुए फरीदाबाद महिला थाना पुलिस सेक्टर 16 ने पॉस्को एक्ट 8, IPC 323, 506 के तहत मुकदमा नंबर 40 दर्ज 

आपको बता दें क़ि एक महिला ने बताया कि वह अशोक गोयल के यहाँ झाड़ू-पोछे का काम करती थी, दोनों के बीच शारीरिक रिश्ते भी हैं. अशोक गोयल ने उसे फ्लैट में हिस्सेदार भी बना रखा है. महिला और उसकी बेटी ऊपर रहते हैं. नीचे अशोक गोयल का ऑफिस है. महिला ने बताया कि अशोक गोयल उसके साथ मारपीट भी करते हैं, उसने मारपीट का एक वीडियो भी दिखाया जिसमें अशोक गोयल उसे कुबरी से पीट रहे हैं.

इस मामले में उसकी बेटी की शिकायत पर नया मोड़ आ गया. सेक्टर-16 महिला थाने में शिकायत  लेकर पहुंची नाबालिक ने बताया क़ि अशोक गोयल उसके पीछे टच करते हैं और उसके साथ रिलेशन बनाने का दबाव डालते हैं और उसे धमकी दी जाती है. देखिये वीडियो - 


इस मामले में अशोक गोयल ने कहा कि महिला के साथ उनकी करवा चौथ की फोटो भी है, उन्होंने खुद यह फोटो दिखाई, उन्होंने महिला के साथ रिश्ते का कबूलनामा भी किया हालाँकि बेटी के आरोपों को उन्होंने निराधार बताया। हालाँकि वह नाबालिक युवती को पुलिस में शिकायत  करते देखकर सौमझौते के लिए गिड़गिड़ा भी रहे थे और उसे मीडिया में बयान ना देने की प्रार्थना कर रहे थे. ऊपर वीडियो में उनका बयान और उनकी सारी हरकत कैद है.

फरीदाबाद पुलिस ने एक दिन में 765 लोगों का काटा मास्क ना पहनने पर चालान, पौने 4 लाख रुपये वसूले

faridabad-police-cut-challan-rs-765-people-one-day-without-mask
 
फरीदाबाद, 21 मार्च: फरीदाबाद पुलिस बार बार चेतावनी देती है कि लोग घर से बाहर मास्क पहनकर निकलें लेकिन कुछ लोग पुलिस की चेतावनी को हलके में ले लेते हैं जो उन्हें भारी पड़ रहा है.

फरीदाबाद पुलिस ने सिर्फ एक दिन में 765 लोगों का मास्क ना पहनने पर चालान काट दिया। हर चला हर चालान का 500 रूपया जुर्माना वसूला जाता है इसलिए एक ही दिन में 3,82,500 रुपये का जुर्माना वसूल लिया गया.

पुलिस ने यह भी जानकारी दी है कि बीते 1 दिन में 2849 को किया गया जागरूक। 23 Containment Zones में 92 #policemen दे रहे हैं ड्यूटी।

गरीब लोग सावधान रहें और मास्क पहनें, वरना फिर से 500 रुपये का चालान काटने वाली है पुलिस

faridabad-police-will-start-challan-mask-rs-500-news-in-hindi

फरीदाबाद, 20 मार्च 2021: फरीदाबाद के लोग खासकर गरीब लोग सावधान रहें और घर से मास्क पहनकर निकलें वरना फरीदाबाद पुलिस फिर से चालान काटने वाली है. अमीर लोग तो चालान भर सकते हैं लेकिन गरीबों और बाइक सवार लोगों के लिए 500 रुपये देना बहुत कष्टकारक होता है.

फरीदाबाद: जैसी मुख्यालय ने जानकारी देते हुए बताया कि जैसा की विधित है पूरे भारतवर्ष में कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं साथ ही साथ हरियाणा में भी मामले सामने आ रहे हैं इससे फरीदाबाद शहर भी अछूता नहीं रहा है यहां पर भी मामले बढ़ रहे हैं।

सरकार के आदेश पर, पुलिस कमिश्नर श्री ओ पी सिंह ने सभी डीसीपी एसीपी एवं सभी थाना प्रबन्धक एवं चौकी प्रभारियों को निर्देश दिए हैं कि जो भी कोई मास्क का इस्तेमाल नहीं करेगा तो उसके खिलाफ पुलिस  सख्ती बरते और मास्क का  प्रयोग ना करने पर चालान काटे जाये ।

उन्होंने बताया कि हमें कोरोना महामारी से सावधानी बरतते हुए कोरोना टीकाकरण के साथ-साथ हमें जरूरी उपाय करने चाहिए जैसे कि मास्क लगाना, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना, हाथों को सैनिटाइज करना इत्यादि का ध्यान रखना चाहिए।

उन्होंने बताया कि कोरोना महामारी को देखते हुए सरकार के आदेश अनुसार शहर में 19 मार्च से 20 अप्रैल 2021 तक मास्क चालान किए जाएंगे।

पुलिस ने फरीदाबाद में 19 मार्च को 199 फेस मास्क चालान किए  हैं और 1247 लोगों को कोरोनावायरस के संबंध में जागरूक भी किया है।

डॉक्टर जैन ने जानकारी देते हुए बताया कि  पुलिस को निर्देश दिए गए हैं कि लोगों में कोरोनावायरस को लेकर जागरूकता फैलाई जाए और नियमों की अनदेखी करने वालों के खिलाफ सख्ती से पेश आए जाए।

इस दौरान उन्होंने फरीदाबाद वासियों से अपील भी की है कि महामारी से बचने के लिए सभी उचित कदम उठाएं अपने व दूसरों की जान की कीमत समझे।

पुलिस प्रवक्ता

 



वरिष्ठ नागरिक कल्ब सेक्टर-21-ए में वरिष्ठ नागरिकों का होगा कोरोना टीकाकरण: डॉ अर्पित जैन

dcp-dr-arpit-jain-latest-news-in-hindi

फरीदाबाद, 17 मार्च 2021: डॉ अर्पित जैन ने जानकारी देते हुए बताया कि पुलिस आयुक्त महोदय के दिशा निर्देश एवं वरिष्ठ नागरिक सर्वोच्च कमेटी फरीदाबाद के द्वारा, सेक्टर-21 ए क्लब मे टीकाकरण  शिविर का आयोजन किया जा रहा है। जिसमें सरकारी डॉक्टरों की टीम वरिष्ठ नागरिकों को कोरोना टीका लगाएगी।

डा० जैन ने बताया कि बुजुर्गों के स्वास्थ को ध्यान में रखते  हुए यह शिविर का अयोजन 19 मार्च को सुबह 9.30 बजे, वरिष्ठ नागरिक कल्ब सेक्टर-21 ए में  किया जा रहा है।

 डॉ अर्पित जैन ने बताया की फरीदाबाद शहर को वरिष्ट नागरिकों के लिए एक सुरक्षित शहर बनाने के उद्देश्य से वरिष्ठ नागरिको की सहायता के लिए फरीदाबाद पुलिस कंट्रोल रूम में वरिष्ठ नागरिक हेल्पलाईन नम्बर-7290010000 की सुविधा दी गई है जिस पर 24 घंटे किसी भी प्रकार की पुलिस सहायता के लिए  पुलिस कंट्रोल रुम में सम्पर्क कर सकते है।

उन्होने बताया कि श्रीमान पुलिस आयुक्त महोदय के दिशा निर्देशों पर वरिष्ठ नागरिकों की समस्याओं का तुरंत समाधन करने के लिए थाना स्थर पर थाना पुलिस सहायता के लिए कमेटी का गठन किया गया है। जो वरिष्ठ नागरिकों के घर पर जाकर उनकी समस्या का उचित निवारण किया जाता है।

इसके अलावा उन्होने बताया कि जिला विधिक संघ प्राधिकरण द्वारा नि:शुल्क कानूनी सहायता प्रदान करने के लिए कानून विषेशज्ञों की नियुक्ति की गई है।

पुलिस कमिश्नर ने वेलफेयर मीटिंग के माध्यम से सुनी पुलिसकर्मियों की समस्याएं

police-commissioner-op-singh-welfare-meeting-news

फरीदाबाद, 17 मार्च 2021: पुलिस कमिश्नर ओ पी सिंह ने आज पुलिस लाइन सेक्टर 30 में वेलफेयर मीटिंग आयोजित कर थानों, क्राइम ब्रांच यूनिट, चौकी इत्यादि से आए पुलिस कर्मियों की वेलफेयर मीटिंग लेकर उनकी समस्याएं सुनी।

इस दौरान पुलिस कमिश्नर श्री ओ पी सिंह के अलावा डीसीपी मुख्यालय श्री अर्पित जैन, डीसीपी सेंट्रल मुकेश मल्होत्रा, डीसीपी बल्लबगढ़ सुमेर सिंह, डीसीपी ट्रेफिक सुरेश कुमार के अलावा एसीपी मुख्यालय श्री आदर्श दीप सिंह एवं सभी एसीपी और पुलिस कर्मचारी मौजूद रहे।

इस दौरान खेड़ी पुल पुलिस लाइन में रह रहे पुलिस कर्मचारियों ने पुलिस कमिश्नर को बताया कि उनके यहां पर जो क्वार्टर में मीटर लगे हैं वह कमर्शियल है और उनका बिल ज्यादा आता है जिस पर पुलिस कमिश्नर ने तुरंत बिजली विभाग के एमडी से फोन पर बातचीत कर जल्द इसका समाधान निकालने के लिए कहा।

कुछ चौकी एवं थाना में तैनात पुलिस कर्मियों ने कहा कि उनके यहां पर पीने के लिए आरओ वाटर कूलर नहीं है। जिस पर पुलिस कमिश्नर ने कहा कि जल्द ही इस समस्या का समाधान किया जाएगा।

कुछ थानों एवं चौकियों से आए पुरुष एवं महिला पुलिसकर्मियों ने बताया कि उनके यहां पर बाहर से काफी लोग आते हैं जिसके चलते टॉयलेट/वॉशरूम की कमी है। जिस पर पुलिस कमिश्नर ने पुलिस हाउसिंग बोर्ड के अधिकारियों से तुरंत बात कर जल्द से जल्द समस्या का समाधान करने के लिए कहा।

पुलिस कमिश्नर ने कहा कि पुलिस थाना एवं चौकियों में पुलिस कर्मियों की जो भी जरूरी जरूरत है वह जल्द से जल्द पूरी की जाएगी।

उन्होंने कहा कि थाना एवं चौकियों में तैनात पुलिसकर्मी 24 घंटे ड्यूटी देते हैं इस दौरान उनकी मूलभूत सेवाओं का ध्यान रखना भी बेहद जरूरी है.

पुलिस ने बिना मास्क 79,546 लोगों के किए चालान, 5,59,995 लोगों को किया जागरूक

faridabad-dcp-dr-arpit-jain-awareness-cyber-crime-coronavirus

फरीदाबाद, 16 मार्च 2021: जैसा की विधित है कि कोरोनावायरस चारों ओर फैला हुआ है। कोरोनावायरस के चलते कई अपराधिक किस्म के लोग इसका फायदा उठा रहे हैं और भोले भाले लोगों को अलग अलग तरीके से केवाईसी व अन्य  स्कीम के नाम पर ऑनलाइन ठगी का शिकार बना रहे हैं।

डीसीपी मुख्यालय डॉ० अर्पित जैन ने जानकारी देते हुए बताया कि बीट पुलिस कर्मियों द्वारा शहर वासियों को कोरोनावायरस, साइबर क्राइम / साइबर ठगी , नशाखोरी और चोरी इत्यादि जैसी वारदातों पर लगाम लगाने के लिए पुलिस प्रतिदिन रोजाना जनसंपर्क और नुक्कड़ सभाओं के माध्यम से लोगों को जागरूक भी कर रही है।

अभी तक पुलिस ने कोरोनावायरस और साइबर क्राइम के प्रति 5,59,995 लोगों को जागरूक किया है।

पुलिस ने बिना मास्क के 79,546 लोगों के चालान भी किए हैं।

इस बात से सभी भलीभांति परिचित है कि फरीदाबाद शहर में पुलिस आयुक्त द्वारा बीट सिस्टम चालू किया गया है।

बीट सिस्टम के द्वारा फरीदाबाद पुलिस ने अपराधों पर भी लगाम लगाई है।

बीट सिस्टम के द्वारा पुलिस का आमजन से सरोकार बड़ा है पुलिस और आम जनता  का तालमेल बहुत अच्छा चल रहा हैं।

इसी तालमेल के चलते बीट ऑफीसर अपने क्षेत्रों में लोगों को साइबर क्राइम और कोरोनावायरस के प्रति सचेत कर रहे हैं ताकि लोगों के साथ हो रही ठगी को रोका जा सके और कोरोनावायरस पर भी लगाम लगाई जा सके।

पुलिस कमिश्नर ओपी सिंह ने पुलिस लाइन सेक्टर 30 में क्रिकेट स्टेडियम का किया शिलान्यास

faridabad-cp-op-singh-stadium-police-line-sector-30

फरीदाबाद, 16 मार्च 2021: पुलिस कमिश्नर ओपी सिंह ने आज पुलिस लाइन सेक्टर 30 में क्रिकेट स्टेडियम की आधारशिला रखी है।

इस मौके पर क्रिकेट स्टेडियम को तैयार करने वाले स्लेज हैमर कंपनी के मालिक प्रदीप मोहंती भी मौजूद रहे।

पुलिस कमिश्नर ने जानकारी देते हुए बताया कि यह स्टेडियम पुलिसकर्मियों, उनके बच्चों और आम लोगों के लिए रहेगा। स्टेडियम में प्रैक्टिस के साथ-साथ हो सका तो हम रेगुलर टूर्नामेंट भी कराएंगे। इससे उच्च क्वालिटी के खिलाड़ी बाहर निकल कर आएंगे और अपनी प्रतिभा को दिखा सकेंगे।

उन्होंने बताया कि पुलिस लाइन में काफी स्पेस है यहां पर पुलिस कर्मियों की फैमिली के अलावा बाहर से भी फैमिली घूमने के लिए आती है जिस पर उनके मन में आइडिया आया कि क्यों ना यहां पर क्रिकेट स्टेडियम बना दिया जाए क्योंकि हमारे देश में क्रिकेट का काफी स्कोप है और बच्चे रुचि भी लेते हैं।

उन्होंने कहा कि बच्चों के लिए हम जितने भी स्पोटिंग फैसिलिटी क्रिएट कर पाए यह हमारे लिए उतना ही अच्छा होगा। पुलिस आयुक्त ने कहा कि बच्चों को खेलों में लगाएं और राष्ट्र निर्माण में अपनी भूमिका निभाए।

उन्होंने स्लेजेहम्मर के मालिक प्रदीप मोहंती का धन्यवाद देते हुए कहा कि उन्होंने जो बीड़ा उठाया है वह बहुत ही सराहनीय है।

हम चाहेंगे कि हम इस क्रिकेट ग्राउंड को इंटरनेशनल लेवल के तौर पर डेवलप कर सकें।

खेल के बारे में उदाहरण देते हुए पुलिस कमिश्नर ने कहा कि अगर आपको घोड़े को पानी पिलाना है तो नदी के पास लेकर जाना पड़ेगा जो खेल लोग पसंद करते हैं उसी खेल को लेकर आगे बढ़ना चाहिए।

उन्होंने कहा कि जीतने के लिए तीन विनिंग पर्सनालिटी होती है उसमें तीन खास बात होती हैं, लगे रहना, कुछ करना, दूसरों से अच्छा करना, किसी देश की तरक्की के लिए उपरोक्त तीन बातें आज के वक्त में युवाओं में होनी चाहिए।

उन्होंने कहा कि क्रिकेट ग्राउंड बनाने का पुलिस का मकसद है कि खेलों के साथ-साथ लोगों को भी जोड़ा जाए।

प्रदीप मोहंती जी के बारे में बताते हुए उन्होंने कहा कि मोहंती जी प्रेरणा स्त्रोत है छोटी उम्र में काफी मेहनत करने के बाद उन्होंने अपनी एक अलग जगह बनाई है अगर उनको उनके सराहनीय कार्य के लिए सम्मान रैंक देना हो तो वह उनको डीआईजी का रैंक देंगे।

सीपी साहब का मानना है कि जो खेल वाला यह बिजनेस है यह एक सामाजिक सेवा है बिजनेस में दो जो बड़ी बातें होती है एक तो रोजगार बढ़ाने का तो जितने रोजगार मिलेंगे जो लोग उससे जुड़ेंगे वह अपना जीवन यापन करेंगे इससे समाज में स्थिरता बनी रहेगी।

उन्होंने कहा कि अगर लोगों को रोजगार मिलता रहेगा तो लोग बुरे कामों से दूर रहेंगे। सबका जीवन अच्छा होगा।

बच्चों के लिए खेल बेहद जरूरी है ताकि खेल के जरिए बच्चे अपने मन को व्यस्त रख सके क्यों के लिए खाली दिमाग शैतान का काम होता है। अगर बच्चे खेल नहीं खेलेंगे कोई फिजिकल एक्टिविटी नहीं करेंगे तो उन्हें हॉस्पिटल की जरूरत पड़ेगी जिसके लिए हॉस्पिटल बनाने पड़ेंगे अगर उनका मन व्यस्त नहीं रहेगा तो कुछ ना कुछ शैतानी वाला काम करेंगे जिससे जेल भी जाना पड़ सकता है जिससे कि जेल भी बढ़ेगी। इससे अच्छा होगा कि बच्चे अपने आप को खेल में व्यस्त रखें।

पुलिस कमिश्नर ने कहा कि जीतने के लिए हमें खेल में लगे रहना चाहिए। खेल में एक जो सबसे बड़ी बात है की जीतना तो सब हैंडल कर लेते हैं लेकिन हार बहुत ही कम लोग हैंडल कर पाते हैं। हार से हमें बहुत सीख मिलती है। इससे हमें मन छोटा नहीं करना चाहिए।

उन्होंने कहा कि हमारा लक्ष्य है कि हम इस स्टेडियम को जुलाई महीने तक तैयार कर देंगे।

इस मौके पर मौजूद प्रदीप मोहंती ने कहा कि वह बहुत ही भाग्यशाली है जो उनको पुलिस के साथ काम करने और पुलिस के लिए काम करने के लिए मौका मिला है।

पुलिस कमिश्नर से मुलाकात कर 70 वर्षीय बुजुर्ग ने दिखाई अपनी कला, CP हुए खुश

faridabad-cp-op-singh-praised-senior-citizen

फरीदाबाद, 12 मार्च 2021: आज दिल्ली के उत्तम नगर निवासी 70 वर्षीय बुजुर्ग श्री द्रोणाचार्य ने पुलिस आयुक्त कार्यालय सेक्टर 21c पहुंचकर पुलिस कमिश्नर ओ पी सिंह से मुलाकात की और चावल के दाने से नाम लिख कर अपनी कला का हुनर भी दिखाया।

आपको बताते चलें कि 70 वर्षीय द्रोणाचार्य, उत्तम नगर दिल्ली में रह रहे हैं पीछे से मेरठ यूपी के रहने वाले हैं।

द्रोणाचार्य दिल्ली यूनिवर्सिटी से बीएससी पास है और भारत मौसम विज्ञान विभाग दिल्ली में अपनी सेवा दे चुके हैं।

द्रोणाचार्य ने पुलिस कमिश्नर श्री ओपी सिंह से चावल के दाने के द्वारा श्री राम लिख कर अपनी प्रतिभा को पेश किया।

इस दौरान द्रोणाचार्य ने पुलिसकर्मियों को स्वस्थ रहने के लिए 5 मूल मंत्र भी दिए

1. श्री द्रोणाचार्य के अनुसार किसी भी व्यक्ति को चाय नहीं पीनी चाहिए- चाय पीने से ना सिर्फ आप का रक्तचाप बढ़ता है बल्कि पेट की कई अन्य समस्याओं से भी जूझना पड़ता है और वही समस्याएं आगे चलकर छोटी से बड़ी हो जाती हैं।

2. जीवन में कभी भी चीनी नहीं खानी- श्री द्रोणाचार्य ने बताया कि हमें जीवन में कभी भी चीनी नहीं खानी चाहिए, किसी भी रूप में क्योंकि चीनी मीठा जहर है जो कि हमारे शरीर को धीरे धीरे से अंदर से नष्ट कर देता है।

चीनी की जगह गुड, खांड और बुरा खा सकते हैं। जो कि उपरोक्त यह चीजें, चीनी जितनी खतरनाक नहीं होती है।

3. भोजन को चबाकर खाएं- उनके अनुसार इंसान को भोजन के एक निवाले को 32 बार चबाएं, अगर 32 बार ना हो सके तो 20 से 25 बार तो जरूर चबाकर खाएं।

4. चमक-दमक से दूर रहें- उन्होंने कहा कि इंसान को बनावटी चमक-दमक से दूर रहना चाहिए। इसका एक उदाहरण देते हुए उन्होंने कहा कि लोग सफेद बाल और मूछें सफेद होने पर, तरह-तरह के मार्केट में चल रहे कलर से काला करते हैं जिसे की नजरों पर एवं मस्तिष्क पर गहरा प्रभाव पड़ता है अतः इंसान को साधारण प्रकृति के बनाए हुए रूप में ही रहना चाहिए।

5. चाहा करो परोपकार की चाहे मन लगे, तन लगे, या धन लगे- इस संबंध में उनके कहने का मकसद यह था कि इंसान को जरूरतमंदों की सहायता करते रहना चाहिए इससे पिता परमेश्वर बहुत खुश होते हैं। 

श्री द्रोणाचार्य के अनुसार गांव में जो गन्ने के रस के लिए कोहलू लगे होते हैं साल में एक बार सीजन के वक्त में हमें उस कोहलू का रस नींबू मिलाकर जरूर पीना चाहिए इससे हमारी आंत साफ होती है।

श्री द्रोणाचार्य की जो सबसे खास बात रही जीवन की, कि जब वह 18 साल की उम्र में थे तब भी उनका 50 किलो वजन था और आज 70 साल की उम्र में भी 50 किलो ही वजन है।

श्री द्रोणाचार्य ने बताया कि उन्होंने अपने जीवन में कभी भी बाहर का खाना नहीं खाया।

इस दौरान उन्होंने अपनी 50 वर्ष पुरानी कल्मो की फोटो पुलिस कमिश्नर साहब को दिखाई।

पुलिस कमिश्नर ने श्री द्रोणाचार्य को उनकी कला दिखाने और स्वस्थ रहने के मूल मंत्र देने के लिए उनका धन्यवाद किया।

चूहों ने नहीं गटकी 29 हजार लीटर शराब, फरीदाबाद पुलिस ने दिया स्पष्टीकरण

faridabad-police-reject-novbharat-times-report-chuhe-drink-wine

फरीदाबाद, 10 मार्च: फरीदाबाद पुलिस ने एक अखबार की खबर का खंडन करते हुए स्पष्टीकरण दिया है कि दिनांक 09 मार्च 2021 को एक न्यूज़ पेपर में प्रकाशित खबर जिसका शिर्षक *चूहे गटक गए 29 हजार लीटर शराब!* , का फरीदाबाद पुलिस खंडन करती है।

आज एक अखबार द्वारा प्रकाशित खबर *चूहे गटक गए 29 हजार लीटर शराब!* की खबर में दर्शाए गए आंकड़े तथ्यहीन है और अखबार में प्रकाशित खबर से सम्बंधित विभिन्न पोर्टल एवं सोशल मीडिया पर वायरल ख़बरों में कोई सच्चाई नहीं है।

फरीदाबाद पुलिस के आंकड़ों के अनुसार फरीदाबाद के सभी 24 थानों के लंबित मुकदमों में जब्त शराब बतौर माल-मुकदमा थानों में मौजूद है।

खबर में दी गई जानकारी के अनुसार पुलिस थानों के मालखानो से 29 हजार लीटर शराब बोतलों व् कंटेनरों से गायब मिली है इस संबंध में फरीदाबाद पुलिस द्वारा कोई भी प्रेस रिलीज़ या जानकारी पुलिस विभाग की तरफ से मीडिया के साथ साँझा नहीं की गई है।

खबर में दिए गए आंकड़ों के अनुसार फरीदाबाद पुलिस द्वारा शराब का ऐसा कोई भी डाटा तैयार नहीं किया गया है जिसमें 29 हजार लीटर शराब चूहों द्वारा गट की गई हो।

इसके साथ ही चूहों द्वारा शराब के साथ-साथ गांजा, अफीम जैसे मादक पदार्थों के डिब्बे व् पोटली कुतरने की बात कही गई है वह भी निराधार है।

इंस्पेक्टर गीता ने घरेलू हिंसा के विरुद्ध महिलाओं को किया जागरूक

inspector-geeta-awareness-against-women-crime
 

फरीदाबाद, 8 मार्च 2021: अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के साप्ताहिक कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में हिस्सा लेते हुए थाना एनआईटी प्रभारी इंस्पेक्टर गीता ने महिलाओं के विरुद्ध घटित हो रहे अपराधों के बारे में महिलाओं को जागरूक किया।

यह कार्यक्रम वन स्टॉप सेंटर द्वारा आयोजित किया गया था जिसमें महिला पुलिस के साथ-साथ महिला एवं बाल विकास के मुख्य अधिकारीगण भी मौजूद रहे।

इस कार्यक्रम में समाज के विभिन्न वर्गों से आई महिलाओं ने हिस्सा लिया।

इंस्पेक्टर गीता ने घरेलू हिंसा के बारे में महिलाओं को जागरूक करते हुए बताया कि इस पुरुष प्रधान समाज में महिलाओं के अधिकारों को दबाकर विभिन्न प्रकार से उनका शोषण किया जाता है और सामाजिक बंधनों के चलते महिलाएं उनके खिलाफ आवाज नहीं उठा पाती।

पुरुष चाहे सौ तरह के बुरे काम करके घर आए परंतु इसका दोष भी महिलाओं के ऊपर मढ़ दिया जाता है जिसका खामियाजा उन्हें गाली गलौज या मारपीट के रूप में झेलना पड़ता है।

प्रकृति ने महिला और पुरुष के बीच कोई भेदभाव नहीं किया परंतु कुछ नासमझ पुरुष महिलाओं को प्रताड़ित करना अपना जन्मसिद्ध अधिकार समझते हैं।

महिलाओं को इस प्रकार के अपराधों के विरुद्ध जागरूक करते हुए इंस्पेक्टर गीता ने कहा की महिलाओं को उनके विरुद्ध घटित हो रहे घरेलू व सामाजिक अपराधियों के विरुद्ध आवाज उठानी चाहिए और इसकी शिकायत पुलिस प्रशासन से करनी चाहिए।

पुलिस प्रशासन द्वारा इन अपराधों के आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी इसलिए महिलाएं जहां कहीं भी महिला विरुद्ध अपराध घटित होता देखें तो इसकी सूचना 1091 पर देकर उन महिलाओं के विरुद्ध अपराधों में कमी लाने में अपना महत्वपूर्ण योगदान दें।

इसके साथ ही उन्होंने बताया कि उन्हें किसी भी प्रकार से डरने की जरूरत नहीं है। पुलिस प्रशासन द्वारा इस प्रकार के अपराधों से पीड़ित महिलाओं को संरक्षण दिया जाएगा।

महिलाओं की सुरक्षा के लिए पुलिस थानों के साथ-साथ दुर्गा शक्ति का गठन किया गया है जो अपराधियों के विरुद्ध महिलाओं के अधिकारों की रक्षा करने में शत प्रतिशत योगदान देगी।