Main Section

Palwal Assembly

Showing posts with label Faridabad Police. Show all posts

फरीदाबाद के पुलिसकर्मियों के लिए लगा जनता-दरबार, CP से सुनी सबकी समस्याएँ, दिए समाधान के आदेश

faridabad-police-commissioner-sanjay-kumar-here-police-men-complaint

फरीदाबाद: फरीदाबाद में हजारों पुलिसकर्मी रहते हैं, ये लोग जनता की सुरक्षा करते हैं लेकिन हम इनके बारे में कभी नहीं सोचते कि ये लोग कैसे रहते होंगे, इनके सामने कैसी कैसी समस्याएँ आती होंगी, इन्हें बिजली-पानी, टॉयलेट और अन्य मूलभूत सुविधाएं मिल रही होंगी या नहीं. हम सिर्फ अपने बारे में सोचते हैं, फरीदाबाद की जनता को अगर कोई समस्या होती है तो वो पार्षदों, विधायकों और अन्य नेताओं के पास पहुँच जाती है लेकिन फरीदाबाद के पुलिसकर्मी अपनी समस्याएँ लेकर नेताओं के पास नहीं जा सकते, खैर कल पुलिस कमिश्नर ने पुलिसकर्मियों का दर्द महसूस किया और इनके लिए जनता दरबार लगाकर इनकी समस्याएँ सुनीं, यही नहीं सीपी ने समस्याओं के समाधान के आदेश भी दिए.

पुलिस आयुक्त संजय कुमार ने कल पुलिस लाइन सेक्टर 31 फरीदाबाद में वेलफेयर मीटिंग का आयोजन कर फरीदाबाद पुलिसकर्मियों की समस्याएं सुनी। वेलफेयर मीटिंग में  पुलिस आयुक्त संजय कुमार के अलावा डीसीपी विक्रम कपूर, डीसीपी लोकेंद्र कुमार एवं एसीपी  साकिर हुसैन, एसीपी  देवेंद्र कुमार,  आत्माराम, थाना प्रभारी, चौकी इंचार्ज के अलावा क्राइम यूनिट एवं पुलिस हाउसिंग कॉरपोरेशन की तरफ से शमशेर सिंह, जेई एवं अन्य मौजूद पुलिसकर्मी ने इस मीटिंग में हिस्सा लिया। पुलिस आयुक्त ने मीटिंग में मौजूद सभी पुलिस कर्मचारियों से एक-एक कर उनकी समस्याएं सुनी।

पुलिसकर्मियों ने पुलिस आयुक्त को बताया की कुछ थानों में एवं चौकी में वाटर कूलर, सोने के लिए बेड, बाथरूम, वाइटवॉश, एवं कुछ थाना चौकी की बिल्डिंगों में मरम्मत की जरूरत है, और बारिश में पानी भी इकट्ठा होता है। जिस पर पुलिस आयुक्त ने तुरंत प्रभाव से बिल्डिंग की मरम्मत कराने, बाथरूम बनवाने एवं वाइटवॉश कराने के लिए पुलिस हाउसिंग कॉरपोरेशन को आदेश दिए जिस पर जल्द ही कार्रवाई शुरू की जाएगी।

पुलिस लाइन में रह रहे लोगों ने पुलिस आयुक्त से खेल कंपलेक्स बनवाने का आग्रह किया और बताया की पुलिस लाइन में कई जगह बारिश में पानी भरता है एवं जो पहले से सीवर बिछे हुए हैं वह ओवरफ्लो हो जाते हैं जिसके कारण बड़ी समस्याओं का सामना करना पड़ता है। जिस पर पुलिस आयुक्त ने उनको बताया की समस्या का समाधान जल्द ही किया जाएगा और खेल कंपलेक्स के लिए पहले से ही पुलिस हाउसिंग कॉरपोरेशन को लेटर जारी किया जा चुका है।

मीटिंग में मौजूद सभी पुलिसकर्मियों को पुलिस आयुक्त ने बताया कि एचडीएफसी बैंक के साथ हरियाणा पुलिस का जो कॉन्टैक्ट है उसे 3 साल और बढ़ाया गया है आप सभी अपने खाते एच डी एफ सी बैंक में खुलवाए क्योंकि एचडीएफसी बैंक एक्सीडेंटल केस में ₹3000000 की राशि पुलिसकर्मी को देता है और हरियाणा की एसटीएफ में तैनात पुलिसकर्मी को दुर्घटना होने पर ₹5000000 की राशि दी जाती है। पुलिस आयुक्त श्री संजय कुमार ने बताया कि पुलिसकर्मी की 24 घंटे ड्यूटी होती है जिसके चलते उनकी कुछ ऐसी छोटी-छोटी समस्याएं होती हैं जिनको वह किसी को नहीं बता पाता है। उन्होंने सभी समस्याओं के लिए वेलफेयर मीटिंग रखी गई है ताकि पुलिसकर्मी मेरे सम्मुख अपनी समस्या को पेश कर सके और उनका समाधान हो सके।

पुलिस प्रवक्ता खुबे सिंह ने बताया की पुलिस आयुक्त महोदय ने कहा कि सभी थाना चौकी इंचार्ज अपने अधीन पुलिसकर्मियों के साथ अच्छे से बर्ताव करें और उनकी समस्या को समझे, उन्होंने कहा कि अगर किसी भी पुलिस कर्मचारी को किसी भी तरह की कोई समस्या है तो वह मुझे प्रतिदिन सुबह 10:00 बजे से 11:00 बजे के बीच मे मिल सकते है।

नवादा कॉलोनी गैंगरेप केस में पुलिस ने किया खुलासा, आरोपी शकील और आशिक ने किया कबूलनामा, पढ़ें

nawada-colony-faridabad-minor-gangrape-nit-women-police-statement

फरीदाबाद: नवादा कॉलोनी में 13 साल की नाबालिक लड़की से गैंगरेप केस में आज फरीदाबाद पुलिस ने बड़ा खुलासा किया है, पुलिस ने बताया है कि नाबालिक बच्ची के साथ किस तरह से जानवरों जैसा सुलूक किया गया और दरिंदगी की गयी.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि नाबालिक लड़की ने इस मामले में पांच लोगों के नाम लिए हैं - पूर्व उर्फ़ भूत, अनिल, भगत, शकील और आशिक. पूर्व उर्फ़ भूत को पहले ही जेल भेज दिया गया है. शकील, आशिक और भगत को एक दिन की रिमांड में लिया गया है. अनिल की गिरफ्तारी बकाया है और कुछ सामान भी बरामद करने हैं. इस मामले को सुलझाने के लिए फरीदाबाद पुलिस ने पूरी ताकत झोंक रखी है.

पुलिस ने अपने प्रेस नोट में जिक्र किया है - पीड़ित लड़की ने बताया कि जब अपने घर जा रही थी तो रोड पर कैंटर ड्राइवर शकील ने उसे रोक कर पूछा कि तुम कहां जा रहे हो रात को, मैने कहा कि मुझे अपने घर जाना है।

शकील ने घर छोड़ने के बहाने से मुझे कैंटर में बिठा लिया थोड़ी देर बाद उसने पूछा कि तुम रात को कहां गई थी उसने मुझे डांटा तब मैंने उसको सच्चाई बता दी। यह सुनकर उसने मदद करने की बजाय मेरे साथ मुझे डरा कर कैन्टर में ही गलत काम किया। उसके बाद उसने अपने एक साथी आशिक को किया फोन करके बुलाया। थोडी ही देर मे उसका दोस्त भी आ गया जिसका नाम आशिक है, उसनें भी अपनी कार मे मेरे साथ गलत काम किया।

पुलिस रिमांड में आरोपी शकील का कबूलनामा

पुलिस रिमांड के दौरान आरोपी कैंटर चालक शकील ने बताया कि अकेली लड़की को रोड पर देखकर मैंने कैन्टर रोक उससे पूछा कि तुम रात क्यों घूम रहे हो तो लड़की ने बताया कि मुझे अपने घर जाना है, जिसको मैंने अपने कैंटर में बिठा लिया उसके बाद मैंने लड़की को थोड़ा डांटकर पूछा कि रात को कहां गई थी तो लड़की ने डर कर बता दिया कि उसके साथ गलत काम हुआ है। लड़की की बात सुनकर आरोपी शकील ने कहा कि मेरे मन में भी एकदम से बुरे ख्याल आ गए और कैंटर मे ही उसके साथ जबरदस्ती दुष्कर्म किया. फिर मैंने फोन करके आशिक को भी बुला लिया और लड़की को उसके हवाले कर दिया था।

आरोपी आशिक का कबूलनामा

आरोपी आशिक ने बताया कि मुझे शकील ने फोन करके कहा कि मैं पैसे में एक लड़की लेकर आया हूं तू आ जा फटाफट, मैं अपनी टैक्सी कार लेकर तुरन्त पहुंचा और लड़की के साथ अपनी कार में ही मैंने भी दुष्कर्म किया। उसके बाद आरोपी शकील पीड़ित लड़की को अपने घर ले गया उसके बाद शकील ने लड़की के पिता को फोन करके बुलाया और लड़की को उसके बाप के हवाले कर दिया था।

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि पुलिस रिमांड के दौरान दोनों आरोपियों से कैंटर और अर्टिगा कार बरामद कर ली गई है, फॉरेंसिक एक्सपर्ट टीम को कार में से सैंपल उठाने के लिए बुलाया गया है। पूछताछ और रिमांड खत्म होने के बाद कल आरोपियों को कोर्ट में पेश कर जेल भेजा जाएगा।

अभी यह सामने आना बाकी है कि आरोपी शकील और आशिक द्वारा नाबालिक लड़की के दुष्कर्म से पहले क्या अन्य आरोपी अनिल, भगत और भूत उसके साथ दुष्कर्म कर चुके थे क्योंकि लड़की ने कैंटर चालक से बताया था कि मेरे साथ गलत काम हुआ है. जल्द ही पुलिस पूरे मामले से पर्दा हटाएगी.

मोदी सरकार का एक और धमाका, ESI हॉस्पिटल में अब गैर बीमा-धारक भी करवा सकेंगे इलाज, पढ़ें कैसे

modi-sarkar-open-esi-hospitals-for-common-people-after-10-rs-opg-charge

फरीदाबाद: फरीदाबाद की गरीब जनता के लिए बड़ी खुशखबरी है, हमारे शहर में ESI हॉस्पिटल और मेडिकल कॉलेज का बहुत बड़ा स्वास्थय केंद्र है लेकिन गैर बीमा-धारक इस अस्पताल में इलाज नहीं करवा सकते थे जिसकी वजह से गैर ESI-बीमाधारक लोग अस्पताल की ऊंची ईमारत और साफ़ सफाई देखकर ललचाते थे लेकिन अब मोदी सरकार ने धमाकेदार फैसला किया है. अब ESI अस्पतालों में गैर-बीमा धारक भी इलाज करवा सकते हैं.

ईलाज के लिए कुछ शर्तें
  1. गैर बीमा-धारकों को OPD में ईलाज के लिए 10 रुपये की फीस देनी पड़ेगी
  2. भर्ती होने पर CGHC पैकेज का 25 फ़ीसदी फीस देनी होगी
  3. दवाइयाँ वास्तविक कीमत पर उपलब्ध करवाई जाएगी

मोदी सरकार की स्कीम के तहत ESI में ईलाज के लिए मामूली फीस देनी पड़ेगी और उचित रेट पर दवाइयाँ भी उपलब्ध करवाई जाएंगी. ESI अस्पतालों में स्टाफ भी बढाया जाएगा - सामाजिक सुरक्षा अधिकारी, बीमा चिकित्सा अधिकारी, इंजीनियर, अध्यापक, पैरामेडिकल और नर्सिंग कैडर, यूडीसी और स्टेनोग्राफर जैसे 5200 पदों को भरने की प्रक्रिया जारी है.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि ESI अस्पतालों में सिर्फ प्राइवेट संस्थाओं में काम करने वाले कर्मचारियों और उनके परिवार के इलाज की मंजूरी है. अन्य लोग ESI अस्पतालों में इलाज नहीं करवा सकते थे लेकिन मोदी सरकार के फैसले के बाद अब अन्य लोग भी ESI अस्पतालों में इलाज करवा सकते हैं.

नवादा कॉलोनी नाबालिग से गैंगरेप के 3 आरोपियों को 1 दिन की पुलिस रिमांड, होगी पूछताछ

nawada-colony-gangrape-three-accused-send-police-remand-nit-police

फरीदाबाद 9 दिसंबर: फरीदाबाद पुलिस के हाथों से अपराधियों का बचना मुश्किल है अपराधी बचने का कितना भी प्रयास कर ले लेकिन उन्हें उनके बुरे कर्मों की सजा मिलती है. नवादा कॉलोनी में नाबालिग से हुए गैंगरेप में महिला थाना एनआईटी पुलिस ने तीन और आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है. आज तीनों आरोपियों को कोर्ट में पेश करके उनकी रिमांड मांगी गई जिस पर कोर्ट ने 1 दिन की रिमांड दी, आरोपियों से पूछताछ कर पुलिस इस मामले के चौथे आरोपी को गिरफ्तार करने का प्रयास करेगी साथ ही कैंटर और और एक अन्य वाहन बरामद करेगी.
  1. गिरफ्तार आरोपी शकील अहमद पुत्र यसुफ निवासी फरीदाबाद जो कैंटर चलाता है विवाहित है और बाल बच्चे दार है।
  2. दूसरा आरोपी आशिक पुत्र इलियास निवासी फरीदाबाद जो टैक्सी चलाता है बालिग है लेकिन अविवाहित है। 
  3. तीसरा आरोपी हरि भगत पुत्र सुभाष विवाहित है और दुकान चलाता है। 
आरोपी पूर्व उर्फ़ अंकित उर्फ भूत पहले किया जा चुका था गिरफ्तार जिसका 5 दिन का पुलिस रिमांड पूरा होने पर कल जेल भेजा गया है। पीड़ित लड़की ने कल कुछ और नामों का खुलासा किया। इस संबंध में जज के सम्मुख पीडि़ता के दोबारा बयान कराए गए और उसके आधार पर 3 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया। 

आज कोर्ट में पेशी के दौरान आरोपियों के वकीलों की तरफ से तमाम बातें रखी गई लेकिन ड्यूटी मजिस्ट्रेट ने तीनों आरोपियों को 1 दिन की पुलिस रिमांड में भेजने का आदेश दिया.

CIA-30, टीम-विमल ने बलराज भाटी के खास आदमी एवं 50,000 के ईनामी बदमाश दीपक को भेजा नीमका जेल

cia-sector-30-vimal-kumar-team-arrested-balraj-bhati-gang-member-deepak

फरीदाबाद 9 दिसंबर: फरीदाबाद पुलिस की अपराध शाखा 30 ने 50000 के इनामी बदमाश दीपक को गिरफ्तार कर लिया है. आज उसे कोर्ट में पेश करके न्यायिक हिरासत में नीमका जेल भेज दिया गया. दीपक खतरनाक बलराज भाटी गैंग से संबंध रखता था और कई मामलों में शामिल था.

पुलिस आयुक्त संजय कुमार के दिशा निर्देश पर एवं पुलिस उपायुक्त अपराध लोकेंद्र सिंह के दिशा निर्देश पर कार्यवाही करते हुए अपराध शाखा सेक्टर 30 की टीम ने कुख्यात बलराज भाटी गैंग के गुर्गे एवं 50000 की इनामी बदमाश दीपक को गिरफ्तार किया है.

वारदात की डिटेल

दीपक ने दिसंबर 2015 में बल्लभगढ़ क्षेत्र में डीजे पर नाच रहे एक व्यक्ति पर ताबड़तोड़ गोली चला कर उसे गोलियों से भून दिया गया था जिस पर दीपक के खिलाफ मुकदमा दर्ज करवाया गया था, इस मामले में दीपक फरार चल रहा था जिस पर हरियाणा के डीजीपी ने 50000 का इनाम घोषित कर रखा था.

आपराधिक मामलों की डिटेल

1. मुकदमा नंबर 881, दिनांक 6.12.2015, धारा 302 307 थाना शहर बल्लभगढ़
2. मुकदमा नंबर 826, दिनांक 8.12.2018, धारा 25-54-59 आर्म्स एक्ट थाना सराय ख्वाजा फरीदाबाद

इस वारदात की जांच अपराध शाखा सेक्टर 30 फरीदाबाद द्वारा उच्च अधिकारियों के आदेशानुसार अमल मेंं लाई और आरोपी को गिरफ्तार किया गया.

आरोपी का विवरण

दीपक पुत्र वीरेंद्र निवासी गांव शहराला थाना सदर पलवल जिला पलवल.

पुलिस कार्यवाही की डिटेल

आरोपी ने पूछताछ में बताया कि सन 2015 में बल्लभगढ़ में एक शादी समारोह में एक व्यक्ति से कहासुनी होने पर दीपक ने उसको गोलियों से भून दिया था. इस वारदात के बाद दीपक बलराज भाटी गैंग में शामिल हो गया और बलराज भाटी के साथ घूमने लगा. सन 2017 में फरीदाबाद व गुरुग्राम अपराध शाखा ने खांडसा गांव में एनकाउंटर किया था जिसमें आरोपी दीपक एवं बलराज भाटी मौका से भाग गए थे जिसमें जयवीर को गोली लगी थी.

कुछ महीनों पहले बलराज भाटी पुलिस एनकाउंटर में मारा गया था जबकि दीपक 2015 फरार चल रहा था लेकिन क्राइम ब्रांच 30 के प्रभारी इंस्पेक्टर विमल कुमार और उनकी टीम ने उसे गिरफ्तार करके जेल भेज दिया.

पुलिस टीम की डिटेल

इंस्पेक्टर विमल कुमार, प्रधान सिपाही बलवीर, सिपाही सोमबीर, प्रधान सिपाही यशपाल और प्रधान सिपाही  संदीप.

Creta कार लूट केस, आरोपी सौरभ ने CP को दी शिकायत में CIA पर लगाए गंभीर आरोप, CIA ने दी सफाई

creata-car-loot-case-accused-saurabh-complaint-cia-sector-30-team

फरीदाबाद: कुछ महीनें पहले Creta कार लूट का एक मामला सामने आया था. कुछ लड़कों ने अपना शौक पूरा करने के लिए सेक्टर-16 के सेकंड हैण्ड कार डीलर भारतभूषण से Creta कार लूटने की योजना बनायी और इसे सफलतापूर्वक अंजाम दिया लेकिन सेक्टर-30 क्राइम ब्रांच ने साइबर सेल की मदद से दो आरोपियों को दबोच लिया और लूट केस में दोनों को अन्दर भेज दिया.

गिरफ्तार आरोपियों में से एक सौरभ BSC मेडिकल साइंस का छात्र था और दूसरा योगेश पलवल निवासी था. योगेश सौरभ का दोस्त था. क्राइम ब्रांच सेक्टर-30 ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार करने के बाद Creta कार भी बरामद कर ली थी. आरोपी सौरभ ने पूछताछ में बताया कि उसनें अपनी गर्लफ्रेंड को घुमाने के लिए अपने दोस्त की मदद से Creta कार लूटी थी.

कैसे दिया था वारदात को अंजाम

सेकंड हैण्ड कार डीलर भारत भूषण ने Creta कार बेचने के लिए ऑनलाइन शोपिंग साईट पर जानकारी डाली हुई थी, सौरभ और योगेश ने वहीँ से उसका नंबर हासिल किया और कार खरीदने की इक्षा जताई, इसके बाद टेस्ट ड्राइव के लिए कार को सेक्टर-12 मंगवा लिया, सौरभ BSC मेडिकल साइंस का छात्र था इसलिए उसे नशीली दवाइयों की जानकारी थी, उसनें दो गोलियां योगेश को दीं, योगेश ने कोल्डड्रिंक खरीदी और गोलीयों को कोल्डड्रिंक में डाल दिया. कार डीलर भारतभूषण ने ड्राईवर चन्दन को कार लेकर सेक्टर-12 भेजा था, योगेश ने कार में बैठकर चन्दन को कोल्डड्रिंक पिलाई और उसके बेहोश होने के बाद खुद कार चलाने लगा, इसके बाद योगेश ने बाईपास पर गाँव कैली के पास चन्दन को कार से नीचे फेंक दिया और कार लेकर फरार हो गया. होश में आने के बाद चन्दन ने पुलिस को सूचन देकर FIR दर्ज करवाई. इसकी जांच क्राइम ब्रांच सेक्टर-30 को सौंपी गयी. पुलिस ने साइबर सेल की मदद से पहले सौरभ को गिरफ्तार किया और उसके बाद योगेश भी अरेस्ट किया गया.

देखिये FIR 390, थाना सेंट्रल की पूरी डिटेल

photo-fir-no-390

इस FIR के चार दिन बाद आरोपी सौरभ के खिलाफ सेक्टर-7 थाने में एक और FIR दर्ज की गयी - FIR-310, Date -14/04/2018. थाना - सेक्टर - 7.

दूसरे मामले को आरोपी सौरभ के पिता ने फर्जी बताया और इसकी शिकायत पुलिस कमिश्नर को दी है.

आरोपी सौरभ के पिता ने CIA-30 के खिलाफ CP को दी शिकायत

अब इस मामले में नया मोड़ आ गया है. इस मामले में मुख्य आरोपी सौरभ के पिता ने पुलिस कमिश्नर को क्राइम ब्रांच सेक्टर-30 के खिलाफ शिकायत दी हैं. जिसका विवरण नीचे दिया गया है.




जैसा कि उपरोक्त शिकायत में लिखा है कि क्राइम ब्रांच ने BSC मेडिकल साइंस के छात्र को झूठे केस में फंसाया. अगर ये सच है तो -
  • क्या Creta कार लूट की बात गलत है, 
  • क्या ड्राईवर चन्दन को बेहोश करके कार से नीचे फेंकने की बात भी गलत हैं
  • क्या Creta कार की बरामदगी भी गलत है
  • क्या योगेश का इस मामले में शामिल होने की बाद भी गलत है
  • तो फिर सौरभ ने इस मामले में योगेश का नाम क्यों लिया जिसके बाद ही क्राइम ब्रांच ने उसे गिरफ्तार किया था
फिलहाल इस मामले की जांच ACP क्राइम द्वारा की जा रही है, जब इस मामले में CIA सेक्टर-30 क्राइम ब्रांच के पूर्व प्रभारी संदीप मोर से बात की गयी तो उन्होंने बताया कि हमारी टीम ने कोई गलत काम नहीं किया है. कार लूट का मामला सही है. आरोपी खुद को बचाने के लिए क्राइम ब्रांच सेक्टर-30 (पूर्व स्टाफ पर) पर फर्जी आरोप लगा रहे हैं.

NIT महिला थाना पुलिस का जबरदस्त एक्शन, नाबालिग से गैंगरेप के 3 और आरोपी दबोचे गए

nit-women-thana-police-arrested-3-accused-minor-gangrape-case

फरीदाबाद 9 दिसंबर: फरीदाबाद पुलिस के हाथों से अपराधियों का बचना मुश्किल है अपराधी बचने का कितना भी प्रयास कर ले लेकिन उन्हें उनके बुरे कर्मों की सजा मिलती है. नवादा कॉलोनी में नाबालिग से हुए गैंगरेप में महिला थाना एनआईटी पुलिस ने तीन और आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है.

आरोपी पूर्व उर्फ़ अंकित उर्फ भूत पहले किया जा चुका था गिरफ्तार जिसका 5 दिन का पुलिस रिमांड पूरा होने पर कल जेल भेजा गया है। पीड़ित लड़की ने कल कुछ और नामों का खुलासा किया। इस संबंध में जज के सम्मुख पीडि़ता के दोबारा बयान कराए गए और उसके आधार पर 3 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया। 

  1. गिरफ्तार आरोपी शकील अहमद पुत्र यसुफ निवासी फरीदाबाद जो कैंटर चलाता है विवाहित है और बाल बच्चे दार है।
  2. दूसरा आरोपी आशिक पुत्र इलियास निवासी फरीदाबाद जो टैक्सी चलाता है बालिग है लेकिन अविवाहित है। 
  3. तीसरा आरोपी हरि भगत पुत्र सुभाष विवाहित है और दुकान चलाता है। 
तीनों आरोपियों को कल कोर्ट में पेश कर पुलिस रिमांड लेकर पूछताछ की जाएगी। पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि एक आरोपी अभी फरार है लेकिन पुलिस के रडार पर है जिसको जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

5 दिन की रिमांड खत्म, नवादा कॉलोनी गैंगरेप के एक आरोपी को भेजा गया नीमका जेल

nawada-colony-minor-gangrape-case-one-accused-send-neemka-jail

फरीदाबाद 8 दिसंबर: फरीदाबाद डबुआ कॉलोनी क्षेत्र की नवादा कॉलोनी में नाबालिग से हुए गैंगरेप मामले में एक आरोपी को 5 दिन की रिमांड के बाद आज नीमका जेल भेज दिया गया है. आरोपी को FIR के दूसरे दिन ही गिरफ्तार कर लिया गया था.

बता दें कि 30 नवम्बर को डबुआ थाना क्षेत्र की नवादा कॉलोनी में एक 13 साल की नाबालिक से गैंगरेप की खबर आयी थी. पुलिस में शिकायत के बाद 1 दिसम्बर को NIT महिला थाने में मुकदमा नंबर 0098 धारा 363, 450, 506 और Posco (6) के तहत मामला दर्ज हुआ था.

FIR में दी गयी जानकारी के अनुसार पीडिता ने बताया - दिनांक 12.11.18 को रात करीब 12 बजे मैं अपने घर के ऊपर वाले कमरे में सो रही थी तो मुझे मेरा पडोसी हरिभगत एवं उसके तीन साथी जिनका नाम पता मैं नहीं जानती, मुझे जबरदस्ती मुंह पर कपडा बांधकर उठाकर थ्रीव्हीलर में अनजान जगह पर ले गए और मेरे साथ हरिभगत और तीन अन्य साथियों ने जबरदस्ती बलात्कार किया. उस दिन मुझे सुबह 5 बजे 17 नंबर चुंगी पर छोड़कर चले गए और मुझे धमकी दी कि अगर यह बात किसी को बताई तो परिवार वालों को जान से मार देंगे.

पीडिता ने लिखा - उस दिन मैंने डर से किसी को यह बात नहीं बताई,  दिनांक 1.12.2018 को करीब रात 12.30 AM  पर मैं अपने घर के ऊपर कमरे में सो रही थी तो उस समय हरिभगत एवं उसके तीन साथी फिर से मेरे कमरे में आ गए और मेरे मुंह में कपडा बांधकर मुझे पीछे के रास्ते सीढ़ियों से उतार ले गए और सफ़ेद कार में बिठाकर अनजान जगह पर ले गए और मेरे साथ हरिभगत और उसके अन्य तीनों साथियों ने मेरे साथ कार में ही बलात्कार किया और सुबह 5 बजे 17 नंबर चुंगी पर छोड़कर चले गए और मुझे धमकी दी कि अगर यह बात किसी को बतायी तो जान से मार देंगे.


आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस मामले मेंं अभी चार और आरोपी हैं जिन्हें पुलिस गिरफ्तार करने का प्रयास कर रही है.

नाबालिक गैंगरेप पीड़िता का रो रो कर बुरा हाल, NIT महिला थाना SHO ने नहीं दिखाया अपनापन एवं प्यार

nawada-colony-gangrape-victim-afraid-of-sho-sushila-faridabad

फरीदाबाद: नवादा कॉलोनी की नाबालिक गैंगरेप पीडिता का रो रो कर बुरा हाल है, वह NIT महिला थाने की SHO से नाराज है, पीड़िता का आरोप है कि पुलिस थाने में उसके साथ बुरा बर्ताव किया गया. अब पीड़िता को थाने में जाने डर लगता है, उसे SHO से भी डर लगने लगा है, पीड़िता की ऐसी देख कर उससे पुलिस वालों को प्यार से पूछताछ करनी होगी.

बता दें कि आज पीडिता के घर पर सामाजिक संगठन की कार्यकर्ता माधवी सक्सेना ने भी दौरा किया. उन्होंने पीडिता से प्यार से बातचीत की.

सक्सेना ने जब पीडिता से प्यार और अपनेपन से पूछताछ की तो उसनें पांच लोगों के नाम बताए जिसमें - अनिल, भगत, भूत, शकील और आशिक है. पीडिता ने यह भी बताया कि अनिल की उसकी पहले से बातचीत होती थी, अनिल से 11 नवम्बर की रात उसके पास फोन किया था लेकिन उसनें उसके साथ जाने से मना कर दिया, उसके बाद अनिल, भगत अपने दो अन्य दोस्तों के साथ आये और उसे सूनसान जगह पर उठा ले गए, बाद में एक और दोस्त को बुला लिया और सभी ने उसके साथ गैंगरेप किया.

पीडिता के पिता ने बताया कि उन्होंने 11 नवम्बर की वारदात के बाद भी डबुआ पुलिस थाने गए थे लेकिन उनकी शिकायत पर FIR नहीं दर्ज की गयी, उनकी बेबसी पर आरोपी हँसते थे और उन्हें गरीब बताकर उनका मजाक उड़ाते थे. 30 नवम्बर को जब दोबारा गैंगरेप की वारदात हुई तो मीडिया में खबर आने के बाद FIR दर्ज की गयी लेकिन अब पीड़िता के साथ टॉर्चर हो रहा है.

बता दें कि 30 नवम्बर को डबुआ थाना क्षेत्र की नवादा कॉलोनी में एक 13 साल की नाबालिक से गैंगरेप की खबर आयी थी. पुलिस में शिकायत के बाद 1 दिसम्बर को NIT महिला थाने में मुकदमा नंबर 0098 धारा 363, 450, 506 और Posco (6) के तहत मामला दर्ज हुआ था.

FIR में दी गयी जानकारी के अनुसार पीडिता ने बताया - दिनांक 12.11.18 को रात करीब 12 बजे मैं अपने घर के ऊपर वाले कमरे में सो रही थी तो मुझे मेरा पडोसी हरिभगत एवं उसके तीन साथी जिनका नाम पता मैं नहीं जानती, मुझे जबरदस्ती मुंह पर कपडा बांधकर उठाकर थ्रीव्हीलर में अनजान जगह पर ले गए और मेरे साथ हरिभगत और तीन अन्य साथियों ने जबरदस्ती बलात्कार किया. उस दिन मुझे सुबह 5 बजे 17 नंबर चुंगी पर छोड़कर चले गए और मुझे धमकी दी कि अगर यह बात किसी को बताई तो परिवार वालों को जान से मार देंगे.

पीडिता ने लिखा - उस दिन मैंने डर से किसी को यह बात नहीं बताई,  दिनांक 1.12.2018 को करीब रात 12.30 AM  पर मैं अपने घर के ऊपर कमरे में सो रही थी तो उस समय हरिभगत एवं उसके तीन साथी फिर से मेरे कमरे में आ गए और मेरे मुंह में कपडा बांधकर मुझे पीछे के रास्ते सीढ़ियों से उतार ले गए और सफ़ेद कार में बिठाकर अनजान जगह पर ले गए और मेरे साथ हरिभगत और उसके अन्य तीनों साथियों ने मेरे साथ कार में ही बलात्कार किया और सुबह 5 बजे 17 नंबर चुंगी पर छोड़कर चले गए और मुझे धमकी दी कि अगर यह बात किसी को बतायी तो जान से मार देंगे.


30 नवम्बर की वारदात के बाद पीड़ित लोग फिर से डबुआ थाने गए और मीडिया को इसकी सूचना दी. मीडिया में खबर आने के बाद पुलिस पर दबाव पड़ा और NIT महिला पुलिस थाने में मामला दर्ज हुआ, इस मामले में NIT महिला पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार करके पांच दिन की रिमांड में लिया था.

नाबालिक गैंगरेप पीड़िता के साथ NIT महिला थाने में शर्मनाक बर्ताव, SHO सुशीला पर गंभीर आरोप

nawada-colony-minir-gangrape-victim-torture-in-nit-women-thana-news

फरीदाबाद: फरीदाबाद में महिलाओं के साथ जघन्य अपराधों के मामलों में महिला पुलिस को अपनापन दिखाना चाहिए, पीड़िताओं के साथ नरमी से पेश आना चाहिए लेकिन नवादा कॉलोनी गैंगरेप पीड़िता के साथ महिला पुलिस SHO ने सख्ती दिखा दी. पीड़ित पिता ने SHO पर पीडिता को मेंटल टॉर्चर के आरोप लगाए हैं.

बता दें कि 30 नवम्बर को डबुआ थाना क्षेत्र की नवादा कॉलोनी में एक 13 साल की नाबालिक से गैंगरेप की खबर आयी थी. पुलिस में शिकायत के बाद 1 दिसम्बर को NIT महिला थाने में मुकदमा नंबर 0098 धारा 363, 450, 506 और Posco (6) के तहत मामला दर्ज हुआ था.

FIR में दी गयी जानकारी के अनुसार पीडिता ने बताया - दिनांक 12.11.18 को रात करीब 12 बजे मैं अपने घर के ऊपर वाले कमरे में सो रही थी तो मुझे मेरा पडोसी हरिभगत एवं उसके तीन साथी जिनका नाम पता मैं नहीं जानती, मुझे जबरदस्ती मुंह पर कपडा बांधकर उठाकर थ्रीव्हीलर में अनजान जगह पर ले गए और मेरे साथ हरिभगत और तीन अन्य साथियों ने जबरदस्ती बलात्कार किया. उस दिन मुझे सुबह 5 बजे 17 नंबर चुंगी पर छोड़कर चले गए और मुझे धमकी दी कि अगर यह बात किसी को बताई तो परिवार वालों को जान से मार देंगे.

पीडिता ने लिखा - उस दिन मैंने डर से किसी को यह बात नहीं बताई,  दिनांक 1.12.2018 को करीब रात 12.30 AM  पर मैं अपने घर के ऊपर कमरे में सो रही थी तो उस समय हरिभगत एवं उसके तीन साथी फिर से मेरे कमरे में आ गए और मेरे मुंह में कपडा बांधकर मुझे पीछे के रास्ते सीढ़ियों से उतार ले गए और सफ़ेद कार में बिठाकर अनजान जगह पर ले गए और मेरे साथ हरिभगत और उसके अन्य तीनों साथियों ने मेरे साथ कार में ही बलात्कार किया और सुबह 5 बजे 17 नंबर चुंगी पर छोड़कर चले गए और मुझे धमकी दी कि अगर यह बात किसी को बतायी तो जान से मार देंगे.


इस मामले में NIT महिला पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार करके पांच दिन की रिमांड में लिया था.

पीड़ित पिता ने बताया कि इस मामले में मुख्य आरोपी भगत को भी गिरफ्तार कर लिया गया है जिसकी पहचान के लिए पीडिता को बुलाया गया था. पीडिता ने आरोपी को पहचान भी लिया लेकिन SHO के द्वारा उसे परेशान किया गया.

इस मामले में पुलिस का कहना है कि पीडिता के साथ ऐसा कोई दुर्व्यहार नहीं किया गया है. पीडिता को पूरा न्याय मिलेगा और सभी दोषियों की पहचान करके उन्हें उचित सजा दिलवाई जाएगी.

दहशत फैलाने के लिए नेकपुर गाँव में हांडला गैंग ने की थी ताबड़तोड़ फायरिंग, CIA-30 ने 2 को दबोचा

cia-sector-30-vimal-kumar-team-arrested-nekpur-firing-2-accused-news

फरीदाबाद: पुलिस कमिश्नर संजय कुमार और DCP क्राइम लोकेन्द्र सिंह के नेतृत्व में कार्य करते हुए क्राइम ब्रांच सेक्टर-30 फरीदाबाद ने गाँव नेकपुर की पंचायत पर ताबड़तोड़ गोलियां चलाकर 7-8 व्यक्तियों को घायल करने वाले दो बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया है.

वारदात की डिटेल

दिनांक 2 दिसम्बर 2018 को नेकपुर गाँव के कुछ लोग गाँव में पानी की समस्या को लेकर इकठ्ठे होकर पंचायत कर रहे थे, उसी समय पाली गाँव के कुछ व्यक्ति बिजेंद्र वगैरह वहां पर आ गए और वहां पर पंचायत कर रहे व्यक्तियों के साथ कहा सुनी हो गयी, इसके बाद बिजेंद्र वगैरह ने हांडला एवं रवि निवासी नंगला को अपने साथियों के साथ वहां पर बुला लिया और उन्होंने बिजेंद्र के साथ मिलकर पंचायत पर ताबड़तोड़ गोलियां चला दीं जिसमें 7 व्यक्तियों को गोली लगी. आरोपियों ने सरपंच को भी अपशब्द कहे. गाँव वालों ने बताया कि हांडला एवं रवि पहले भी आपराधिक गतिविधियों में शामिल रहे हैं और उस क्षेत्र में अपना बर्चस्व कायम रखना चाहते थे, इसी वजह से गाँव में उन्होंने भय का माहौल बना दिया.

गिरफ्तार आरोपियों का विवरण
  1. बिजेंद्र पुत्र सोहन लाल, निवासी - गाँव पाली, थाना - डबुआ फरीदाबाद.
  2. प्रवीन पुत्र बिजेंद्र निवासी - गाँव पाली, थाना - डबुआ फरीदाबाद.
पुलिस पूछताछ की डिटेल

पुलिस पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि हमारे और नेकपुर गाँव वालों के बीच में पानी को लेकर कहा सुनी हो गयी थी जिसपर हमने हांडला एवं रवि निवासी नंगला को बुला लिया, वे लोग अपने साथियों को लेकर आ गए, उनके आते ही हमने आपस में सलाह मशवरा करके वहां मौजूद लोगों पर ताबड़तोड़ गोलियां चला दी. उन्होंने यह भी बताया कि हांडला इस क्षेत्र में लोगों के बीच में अपना भय कायम करना चाहता है और पहले भी आपराधिक गतिविधियों में लिप्त रहा है.

हथौड़ा. रॉड, सरिया से तोड़ डाले थे युवक के हाथ-पैर, CIA-30 विमल की टीम ने 4 बदमाशों को दबोचा

cia-sector-30-vimal-kumar-team-arrested-4-accused-in-fir-no-469-photo

फरीदाबाद: पिछले महीनें सेक्टर 21D में दिनेश शर्मा नाम के एक युवक पर जानलेवा हमला हुआ था जिसपर NIT थाना पुलिस ने मुकदमा नंबर 469 दिनांक 11.11.2018 धारा - 148, 149, 323, 325, 307, 384, 511, 379B, 506 IPC, 25, 54,59 Arms Act के तहत मामला दर्ज किया था.

इस मामले में 9 से अधिक लोगों को आरोपी बनाया गया था जिसका विवरण निम्नलिखित है - 
  1. जीरो उर्फ़ मनोज उसके हाथों में पिस्टल थी (आदित्य कात्या का भाई, गाँव - मछगर)
  2. दिनेश के हाथों में पिस्टल थी (आदित्य कात्या का भाई, गाँव - मछगर)
  3. राजू देशभाल निवासी फतेहपुर चंदेला, निवासी छोड़ी, पिस्टल लिया था
  4. शिवराम निवासी पृथला, पिस्टल लिया था
  5. प्रीतम निवासी मछगर, 
  6. चिड्डी निवासी दयालपुर
  7. ऋषि, निवासी फतेहपुर चंदेला 
  8. भोपाल खटाना, निवासी डबुआ
  9. जीतन, निवासी जाजरू 
पुलिस कमिश्नर और DCP क्राइम ने इस मामले की जांच क्राइम ब्रांच सेक्टर 30 के प्रभारी इंस्पेक्टर विमल कुमार को सौंपी.

पुलिस कमिश्नर संजय कुमार और DCP क्राइम लोकेन्द्र सिंह के नेतृत्व में कार्य करते हुए क्राइम ब्रांच सेक्टर 30 प्रभारी इंस्पेक्टर विमल कुमार की टीम ने इस गैंग के चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया है.

वारदात की डिटेल

दिनांक 3 नवम्बर 2011 को सेक्टर 21-D में दिनेश शर्मा निवासी एसजीएम नगर को 10-15 व्यक्तियों ने लोहे के हथौड़े, रॉड, सरिया और डंडे से हमला किया था, दिनेश पर हमला करके उसे अधमरा छोड़कर फरार हो गए लेकिन दिन-दहाड़े हुए हमले से जनता में भय फैला.

गिरफ्तार आरोपियों का विवरण
  1. सतीश उर्फ़ सत्ते पुत्र रामकिशन, निवासी - मकान नंबर - 417, गली नंबर - 18, भीकम कॉलोनी, थाना शहर बल्लबगढ़
  2. सूरज पुत्र सुखराम, निवासी - मकान नंबर - 200, गली नंबर - 4, शिव कॉलोनी, थाना शहर, बल्लभगढ़
  3. प्रीतम उर्फ़ आकाश, पुत्र राजेंद्र उर्फ़ जसवंत, निवासी - गाँव मछगर, फरीदाबाद
  4. हिमांशु उर्फ़ वासु, पुत्र अमित शर्मा, निवासी - मकान नंबर - 456, गली नंबर 12, प्रेम नगर, थाना शहर, बल्लभगढ़.
पुलिस पूछताछ की डिटेल

आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि दिनेश शर्मा की शिवराम निवासी पृथला से बहुत पुरानी रंजिश है और हम सभी उसी के कहने पर आये थे, हम सभी लोहे की रॉड, लोहे के हथौड़े, सरिया और डंडों से लैस होकर आये थे और हमने दिनेश को बेरहमी से जान से मारने की नीयत से पीटा, हम लोग उसको मारकर क्षेत्र में अपनी दहशत फैलाना चाहते थे.

LN पाराशर ने फिर रुकवाई अवैध खनन के तीन आरोपियों की अग्रिम जमानत, धारा 420 और लगवा दी

advocate-ln-parashar-successfully-opposed-anticipatory-bail-three-mining-accused

फरीदाबाद: जिला बार एसोसिएशन के पूर्व प्रधान और न्यायिक सुधार संघर्ष समिति के प्रेसिडेंट वकील एल एन पाराशर ने आज फिर से अवैध खनन के तीन आरोपियों की अग्रिम जमानत रुकवा दी है, यही नहीं आरोपियों के खिलाफ उन्होंने धारा 420 जुड़वाकर उनके नीमका जेल जाने के रास्ते साफ़ कर दिए हैं.

आज राजेश मल्होत्रा की कोर्ट में आरोपियों की तरफ से अग्रिम जमानत लगाई गयी लेकिन वकील एल एन पाराशर ने उनकी जमानत का विरोध किया जिसपर कोर्ट ने सहमति जताते हुए जमानत नहीं दी अरु अगली सुनवाई 18-12-2018 को तय कर दी.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि पल्ला थाना क्षेत्र के बसंतपुर गाँव में पुलिस को किसी मुखबिर से जमुना नदी में अवैध रेती के खनन की सूचना मिली थी जिसपर पुलिस ने कार्यवाही करते हुए रेड मारा, पुलिस को आते देखकर आरोपी फरार हो गए लेकिन ट्रैक्टर जब्त करके जब पुलिस ने जांच की तो उसके आधार पर तीन लोगों अजय अवाना, धर्मेन्द्र एवं सत्येन्द्र को पूछताछ में शामिल किया.

पुलिस को इनकी गिरफ्तारी के सबूत मिल गए थे लेकिन आरोपियों ने गिरफ्तारी से बचने के लिए कोर्ट में अग्रिम जमानत लगा दी लेकिन वकील एल एन पाराशर ने उनका खेल बिगाड़ दिया, पुलिस ने 379, 188, माइंस एक्ट के तहत FIR-142 दर्ज की थी लेकिन वकील पाराशर ने धारा 420 भी लगवा दी.

palla-thana-fir-142-illegal-mining

palla-thana-fir-142-illegal-mining-2

बंद करो 10 साल पुराने वाहन, नो पार्किंग जोन में गाड़ियाँ खड़ी करने पर चालान के साथ ठोंको FIR: CP

faridabad-police-cp-order-fir-on-no-parking-zone-vehicle-close-10-year-old-vehicle

फरीदाबाद: फरीदाबाद पुलिस कमिश्नर ने आदेश जारी करते हुए कहा है कि नो पार्किंग जोन में गाड़ियाँ खड़ी करने वालों का चालान काटने के साथ उनपर FIR भी दर्ज की जाए.

बता दें कि कल पुलिस आयुक्त संजय कुमार ने ट्रैफिक व्यवस्था में सुधार के लिए ट्रैफिक पुलिस अधिकारियों और रोड सेफ्टी ऑफिसर के साथ मीटिंग की जिसमें उन्होंने फरीदाबाद पुलिस को दो आदेश दिए - 

  • नो पार्किंग जोन में गाड़ी खड़ी करने वालो के खिलाफ चालान के साथ FIR भी दर्ज करे
  • 10/15 साल पुराने वाहन बन्द किए जाए।
faridabad-police-commissioner-sanjay-kumar-news

CIA-30, विमल कुमार की टीम ने 5 साल से वांटेड क्रिमिनल अमन ठाकुर को किया गिरफ्तार

cia-sector-30-vimal-kumar-team-arrested-wanted-criminal-aman-thakur

फरीदाबाद 3 दिसंबर: फरीदाबाद सेक्टर 30 क्राइम ब्रांच के प्रभारी इंस्पेक्टर विमल कुमार और उनकी टीम ने वांटेड क्रिमिनल अमन ठाकुर को गिरफ्तार किया है.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि अमन लड़ाई झगड़े वा लूट पर जैसे संगीन मामले में अभी तक वांछित चल रहा था.  उसके ऊपर फरीदाबाद के छायंसा थाने में में 7 मामले दर्ज हैंं.

अमन ठाकुर को पकड़ने के लिए फरीदाबाद थाना पुलिस एवं सीआईए की टीमें 5 साल से प्रयास कर रही थी आखिरकार क्राइम ब्रांच सेक्टर 30 ने उसे गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त कर ली, देखिए प्रेस नोट.


DLF-CIA प्रभारी नवीन पराशार की टीम ने मुखबिर ख़ास की सूचना पर असलहे के साथ दबोचा बदमाश, पढ़ें

dlf-cia-inspector-naveen-kumar-team-arrested-badmash-manjeet-news

फरीदाबाद: DLF क्राइम ब्रांच के प्रभारी इंस्पेक्टर नवीन और उनकी टीम को एक बदमाश को गिरफ्तार करने में कामयाबी मिली है. आरोपी के पास से एक देशी कट्टा और एक जिन्दा कारतूस भी बरामद की गयी है. केस के IO हेड-कांस्टेबल क्रिशन हैं. 

गिरफ्तार आरोपी का विवरण

मंजीत पुत्र खजान सिंह, निवासी - गली नंबर - 1, इस्माइलपुर, पुलिस थाना - पल्ला, फरीदाबाद;

आरोपी के खिलाफ FIR दर्ज

इस मामले में आरोपी के खिलाफ पल्ला थाने मामला दर्ज किया गया है जिसका विवरण है - FIR No 201 Date 29-11-18 u/s 25-54-59 A, Act.

बरामदगी

एक देशी कट्टा, एक जिन्दा कारतूस

dlf-cia-news

देशी कट्टा और कारतूस के साथ वारदात को तैयार था बदमाश, DLF-CIA नवीन की टीम ने दबोच लिया

faridabad-dlf-crime-branch-inspector-naveen-parashar-arrested-sudhir-fir-no-211

फरीदाबाद: DLF क्राइम ब्रांच के प्रभारी इंस्पेक्टर नवीन और उनकी टीम को एक बदमाश को गिरफ्तार करने में कामयाबी मिली है. आरोपी के पास से एक देशी कट्टा और एक जिन्दा कारतूस भी बरामद की गयी है. कहा जा रहा है कि यूपी से आकर आरोपी बदमाश फरीदाबाद में किसी बड़ी वारदात को तैयार था लेकिन उससे पहले इसे दबोच लिया गया.

गिरफ्तार आरोपी का विवरण

सुधीर पुत्र सुरेश, निवासी - खानपुर चौक, थाना ओरेवा, जिला ओरैया, यूपी, वर्तमान में रिंकू के घर में रहता है, एड्रेस - 08, दीपाली एन्क्लेव, इस्माइलपुर, थाना - पल्ला, फरीदाबाद.

आरोपी के खिलाफ FIR दर्ज

इस मामले में आरोपी के खिलाफ पल्ला थाने मामला दर्ज किया गया है जिसका विवरण - FIR No 211 Date 2-12-18 u/s 25-54-59 A, Act.

बरामदगी

एक देशी कट्टा, एक जिन्दा कारतूस

नवादा कॉलोनी में नाबालिक से गैंगरेप करने वाले आरोपियों को दबोचने के लिए CP ने बनायी चार टीमें

faridabad-cp-action-in-nawada-colony-gangrape-case-with-minor

फरीदाबाद: नवादा कॉलोनी में नाबालिक के साथ गैंगरेप मामले में फरीदाबाद पुलिस कमिश्नर ने तेज एक्शन दिखाया है. उन्होंने आरोपियों की धर पकड़ के लिए चार टीमें गठित की हैं. एसीपी एनआईटी और एसीपी मुजेसर सहित क्राइम ब्रांच और महिला थाना 21A व डबुआ थाना की 4 टीमें आरोपियों की गिरफ्तारी के लिय छापेमारी कर रही है।

पीड़िता का बीके हॉस्पिटल में मेडिकल कराया गया है इसके अलावा जज पूर्व मेहरा की कोर्ट में पीडिता के बयान दर्ज करवाए गए.

पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक़ एक पीडिता एक आरोपी भगत को पहचानती है जबकि तीन अन्य आरोपियों को नहीं पहचानती है, पुलिस इन्हें शीघ्र पकड़ने का भरोसा दे रही है.



आपकी जानकारी के लिए बता दें कि 4 दबंगों ने इसी नाबालिक के साथ 11 नवम्बर को भी गैंगरेप किया था और डरा धमकाकर उसे चुप रहने को मजबूर कर दिया था. कल दो आरोपी फिर से रात में नाबालिक को उठा ले गए और रात भर उसके साथ गैंगरेप किया. सुबह पीडिता को डरा धमकाकर वापस भेज दिया गया लेकिन उसने परिजनों के सामने सारी कहानी बयान कर दी जिसके बाद पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई गयी.

फरीदाबाद पुलिस ने इस मामले में काफी तेज एक्शन दिखाया. इस मामले में तुरंत FIR दर्ज करके पीडिता को मेडिकल के लिए भेजा गया. इसके बाद पुलिस ने कोर्ट में पीडिता के बयान भी दर्ज करा दिए.

इस मामले में कोर्ट में वकील विश्वेन्द्र अत्री ने बताया कि पुलिस ने FIR दर्ज कर ली है, FIR नंबर 98/2018 है. धारा - IPC  363, 450, 506, 6 Posco Act (अपहरण,जान से मारने की धमकी व दुष्कर्म) लगाई गयी हैं.

CIA-NIT बड़खल प्रभारी अनिल छिल्लर की टीम ने शातिर चोर को दबोच कर सुलझाए 3 केस, पढ़ें

cia-nit-badkhal-arrested-chor-rajesh-raju-solved-three-fir-faridabad

फरीदाबाद 1 दिसंबर: फरीदाबाद एनआईटी बडखल खेल प्रभारी अनिल छिल्लर की टीम ने शातिर चोर राजेश को दबोच कर तीन मामले सुलझा लिए हैं. आरोपी के पास से 5 मोबाइल फोन और एक सोने की अंगूठी भी बरामद की गई है.

गिरफ्तार आरोपी का विवरण

राजेश उर्फ राजू पुत्र बाबूलाल निवासी कल्याण पुरी झुग्गी, संजय कॉलोनी, एसजीएम नगर फरीदाबाद.

सुलझाई गई वारदातों का विवरण

1. FIR No. 443 Dt 07-09-18
U/S 457,380 ,IPC Ps  kotwali  Faridabad

2. FIR NO. 876 DT 21.09.18 U/S 380 IPC PS CITY BALLABGARH

3 . FIR NO. 403 DT 15.08.18 U/S 380 IPC PS SGM NAGAR

बरामदगी

8 मोबाइल फोन और एक सोने की अंगूठी

पुलिस कार्यवाही का विवरण

क्राइम ब्रांच NIT प्रभारी अनिल छिल्लर ने बताया कि आरोपी नशे का आदि है और पहले भी फोन चोरी व अन्य वारदातों में CIA 85 व DLF CIA ने भी नीमका जेल भेजा हुआ है. आरोपी सुबह के समय जब लोग सैर के लिए बाहर निकलते हैं तो मौका देखकर घरों में घुस जाता हैं व पैंट की पॉकेट से पैसे व चार्जिंग में लगे हुए फोन चोरी कर लेता है और इन फोनों को झुग्गी में गरीब आदमियों को 1000- 1500 रुपये में बेच कर अपनी नशे की जरूरतों को पूरा करता है।

डबुआ-नवादा कॉलोनी में 15 वर्षीय नाबालिग को धमकाकर कई दिनों से हो रहा गैंगरेप, पुलिस में शिकायत

faridabad-navada-colony-gangrape-case-nit-police-complaint-news

फरीदाबाद: डबुआ थाना क्षेत्र की नवादा कॉलोनी में एक 15 वर्षीय नाबालिग को डरा धमकाकर कई दिनों से गैंगरेप किया जा रहा था, 11 नवम्बर को 4 लोगों से गैंगरेप किया और किसी को बताने पर जान से मारने की धमकी दी. कल रात फिर से दो लोगों से गैंगरेप किया और जान से मारने की धमकी दी लेकिन पीडिता ने अपने परिजनों को आप बीती बतायी. 

पीड़ित परिजन शिकायत लेकर डबुआ थाने पहुंचे जिन्हें NIT महिला थाना भेज दिया गया. पीड़िता को दो घंटे से थाने में बिठाकर रखा गया है, सूचना मिलने तक ना तो FIR दर्ज की गयी थी और ना ही मेडिकल कराया गया था.

पीड़ित लोगों ने हमें इस मामले की जानकारी दी. पीड़ितों को डर है कि पुलिस कहीं मामले को दबा ना दे क्योंकि आरोपी पास के ही दबंग हैं, वह युवती को डरा धमकाकर कई दिनों से गैंगरेप करते आ रहे हैं. वे लोग पुलिस प्रशासन को अपनी जेब में समझते हैं इसलिए उन्हें पुलिस-कानून का कोई डर नहीं है.

फिलहाल पुलिस ने अभी तक FIR दर्ज नहीं की है, हमें NIT SHO सुशीला से बात की तो उन्होंने कहा कि अभी अभी तो पीड़ित लोग हमारे सामने आकर बैठे हैं, हम करेंगे FIR। आपको बता दें कि पीडिता को थाने में बैठे 2 घंटे बीत चुके हैं लेकिन जिस प्रकार से SHO सुशीला ने जवाब दिया उसे देखकर लग रहा है कि पुलिस ज्यादा सीरियस नहीं है. खैर देखते हैं कि पुलिस इस मामले में क्या एक्शन लेती है, अब तक पीडिता का मेडिकल हो जाना चाहिए था लेकिन पुलिस ढीलापन दिखा रही है.