Palwal Assembly

Showing posts with label Faridabad News. Show all posts

सरकारी सोलर पम्प के लिए किसान 31 अगस्त तक ऑनलाइन करें आवेदन

how-to-apply-solan-pump-haryana-sarkar-online-saralharyana-portal

फरीदाबाद, 22 अगस्त। उपायुक्त अतुल द्विवेदी के मार्गदर्शन में अतिरिक्त उपायुक्त धर्मेंद्र के दिशा निर्देशों अनुसार जिला में हरियाणा नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा विभाग द्वारा कृषि कार्य करने के लिए किसानों को 3 एचपी, 5एचपी,  7.5 एचपी व 10 एचपी तक के सौर ऊर्जा पंप स्थापित करवाए जाएंगे। यह जानकारी जिला परियोजना अधिकारी ने दी।

उन्होंने बताया कि जिन किसानों ने अपने आवेदन फार्म भरने हैं, वे किसान सोलर पंप के लिए 31 अगस्त तक हरियाणा सरकार की वेबसाइट एसएआरएएलएचए आरवाईएएनए डॉट जीओवी डॉट इन saralharyana.gov.in पर ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।
  
विस्तृत रूप से जानकारी देते हुए उन्होंने बताया कि सोलर पंप पर किसानों को 75 प्रतिशत तक की धनराशि का अनुदान सौर ऊर्जा विभाग द्वारा दिया जाएगा। इसके अलावा गौशालाओं, वाटर यूजर एसोसिएशन, सामूहिक सिंचाई सिस्टम पर भी 75 प्रतिशत अनुदान राशि पर सौर ऊर्जा पंप दिए जाएंगे। नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा विभाग हरेडा का उद्देश्य है, कि किसान पंपिंग सिस्टम के लिए परंपरागत पंप सिस्टमों जैसे डीजल इंजन, बिजली पंपों पर कम निर्भर रहे और सोलर पंप का अधिक से अधिक प्रयोग करके बिजली की बचत करें।  

उन्होंने बताया कि नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा विभाग द्वारा जिला से प्राप्त निर्धारित लक्ष्यों से ज्यादा आवेदन प्राप्त होने पर ड्रा के माध्यम से सोलर पंप वितरित किए जाएंगे । उन्होंने आगे बताया कि जिन किसानों ने पहले अनुदान सोलर वाटर पंप ले लिए हैं वे किसान इस योजना के पात्र नहीं है। एक किसान को केवल एक ही सोलर पंप दिया जाएगा।जिला परियोजना अधिकारी ने बताया कि प्रार्थी किसान को आवेदन के साथ जमीन की फर्द, नवीनतम फोटो, आधार कार्ड व एक अन्य पहचान पत्र स्वयं  सत्यापित करके ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।अधिक जानकारी के लिए जिला परियोजना अधिकारी के मोबाइल नम्बर 89012-99787 पर सम्पर्क कर सकते हैं।

प्रदेश में 50 हजार  किसानों को 3 से 10 एचपी तक के सोलर पंप पर 75 प्रतिशत  राशि अनुदान के तौर पर दी जाने की योजना है । ऐसे पात्र किसान जो सूक्ष्म सिंचाई प्रणाली, भूमि पाइपलाइन का इस्तेमाल करते हो अथवा लगाने के लिए सहमत हो तो वे किसान सौर पंप लगाकर सिंचाई कर सकते है। इस योजना के तहत प्रथम चरण में 15 हजार सोलर पंप लगाने के लिए आवेदन आमंत्रित किए गए हैं।

उपायुक्त अतुल कुमार ने कृष्ण जन्माष्ठमी पर सुरक्षा के लिए तैनात किये ड्यूटी मजिस्ट्रेट

upayukt-atul-kumar-appoint-duty-magistrate-for-security-krishna-janmashthmi

फरीदाबाद, 22 अगस्त। उपायुक्त अतुल द्विवेदी ने अधिनियम 1973 की धारा 22(1)  व 23(11) के तहत शक्तियों का प्रयोग करते हुए जन्माष्टमी उत्सव-पर्व के मद्देनजर जिला में कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए ड्यूटी मैजिस्ट्रेट नियुक्त किए हैं। 

उन्होंने ड्यूटी मैजिस्ट्रेट को दिशा निर्देश दिए हैं, कि वे जन्माष्टमी महापर्व मद्देनजर मंदिरों के आसपास लोगों की सुरक्षा व्यवस्था बनाए रखना सुनिश्चित करें।
  
जिलाधीश अतुल द्विवेदी ने एनआईटी के लिए एमसीएफ ज्वाइंट कमिश्नर प्रशांत अटकान को, बल्लभगढ़ जोन में एमसीएफ के जॉइंट कमिश्नर रोहतास बिश्नोई को और ओल्ड फरीदाबाद जोन में एमसीएफ ज्वाइंट कमिश्नर महिपाल नरवत को ड्यूटी मैजिस्ट्रेट नियुक्त किया गया है। 

ड्यूटी मैजिस्ट्रेट प्रशांत अटकान के साथ पुलिस विभाग के डीसीपी एनआईटी, रोहतास बिश्नोई के साथ डीसीपी बल्लभगढ़ और महिपाल नरवत के साथ डीसीपी सेंट्रल कानून व्यवस्था बनाने में सहयोग करेंगे।

मुख्य ज्यूडिशल मजिस्ट्रेट मोना सिंह ने किया बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का दौरा

chief-judicial-magistrate-mona-singh-visit-flood-affected-areas-faridabad

फरीदाबाद, 22 अगस्त।  मुख्य ज्यूडिशल मजिस्ट्रेट एवं सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण मोना सिंह ने पूरी टीम के साथ सम्भावित बाढ़ की स्थिति का जायजा लिया। उन्होंने प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा किए गए सुरक्षा व्यवस्था के प्रबंधों की जानकारी ली गई।

मोना सिंह  जिला आपदा प्रबंधन समिति  की सदस्य भी हैं। उन्होंने  यमुना किनारे गांव  मंझावली व जमुना के इलाकों का दौरा किया जहां पर लोगों को पानी से होने वाले नुकसान के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी ली।

मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट ने लोगों को जागरूक किया कि वे अपने घरेलू सामान व पशु धन को सुरक्षित जगहों पर पहुंचाएं।
   
इस दौरान उनके साथ आईएलआर कॉलेज जसाना के स्टूडेंट भी दौरे साथ थे । उन्होंने गांव के लोगों की समस्याएं सुनी तथा आपदा प्रबंधन  के बारे में अवगत कराया।    

आपदा समिति सदस्य अधिवक्ता  जीत कुमार रावत व पैनल एडवोकेट आरसी गोला, नीना शर्मा भी मौजूद रहे।

गांव ददसिया में रैनबो गैस एजेंसी द्वारा उज्ज्वला पंचायत का आयोजन

faridabad-village-dadasia-ujjwala-panchayat-by-rainbow-gas-agency

फरीदाबाद 22 अगस्त: गांव ददसिया में उज्ज्वला पंचायत कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसमें गांव के लोगों को रसोई गैस के फायदे और प्रयोग करने के तरीके बताये गये। बीपीएल कार्ड धारक महिलाओं को मुफ्त में एलपीजी गैस चूल्हा वितरित की जानकारी दी गई। केंद्र एवं राज्य सरकार के ध्येय के अनुसार जल्द ही सभी गांवों को धुंआ मुक्त कर दिया जायेगा। इस मौके पर रैनबो गैस एजेंसी के चेयरमैन हेमसिंह राणा, पूर्व सरपंच शिवकुमार त्यागी, भाजपा नेता संजय कौशिक चेयरमैन समाजसेवी पदम सिंह त्यागी मौजूद रहे। 

गांव ददसिया में आयोजित उज्ज्वला पंचायत में ग्रामीणों को सम्बोधित करते हुए रैनबो गैस एजेंसी चेयरमैन हेमसिंह राणा ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देशभर में उज्ज्वला योजना चलाई जा रही है। गांवों में लकडी और उपलों से बनने वाले खाने के दौरान निकलने वाले धुंए से पर्यावरण और महिलाओं के स्वास्थ्य की चिंता करते हुए सरकार ने उज्जवला योजना की शुरूआत की थी जिसे सफल बनाने के लिये फरीदाबाद जिले में समय समय पर उज्ज्वला पंचायत का आयोजन किया जा रहा है। 

इस मौके पर मौजूद ग्रामीणों ने गैस के नए कनेक्शन, अपना कनेक्शन बदलवाना और अन्य जानकारी संबधित प्रश्न पूछे। महिला भाजपा नेत्री किरण सौरोत ने कहा कि एलपीजी गैस चूल्हा मिलने से महिलाओं को लाभ मिलेगा, समय से खाना बनाने के बाद महिलायें घर परिवार की आर्थिक मदद भी कर सकेेंगी और अपना स्वास्थ्य भी ठीक रहेगा।रैनबो गैस एजेंसी के चेयरमैन हेमसिंह राणा ने बताया कि कुछ साल पहले उनकी एजेंसी के गोदाम पर सिलेंडर लेने के लिये सैंकडों लोगों की लाईनें लगती थी मगर भाजपा सरकार आने  के बाद घर- घर तक रसोई गैस पहुंचाई जा रही है। उनका ध्येय ग्रेटर फरीदाबाद के गांवों को धूंआ मुक्त बनाना और हर उपभोग्ता की रसोई तक गैस सिलेन्डर पहुँचाना है।  सभी ग्रामीण शतप्रतिशत गैस इस्तेमाल करें ताकि घरेलु महिलाएं स्वस्थ रहें और परिवार में खुशहाली आए। 

राणा ने एलपीजी पंचायत के तहत ग्रामीणों को रसोई गैस के उपयोग, आवेदन की प्रक्रिया और एलपीजी गैस ग्राहकों के लिए बीमा सुरक्षा सम्बन्धित जानकारी दी। नए आवेदन करने वाले उपभोगताओं को फॉर्म वितरित किए और ऑन लाइन बुकिंग के बाद गांव में सप्ताह में दो दिन घर घर गैस सिलेंडर आपूर्ति शुरू करने का आश्वासन ग्रामीणों को दिया। 

इस पंचायत में रैनबो गैस एजेंसी के चेयरमैन हेमसिंह राणा, भाजपा नेता संजय कौशिक चेयरमैन, भाजपा नेता अनिल नागर, गांव के पूर्व सरपंच शिवकुमार त्यागी, सुशील त्यागी, सोमदत्त, विजय चेयरमैन, महेश नंबरदार, महेश त्यागी, मूलचंद शर्मा, अजय गोयल, आस मोहम्मद, आनंद त्यागी, नीरज त्यागी, धर्मपाल सागर, विजय ठेकेदार,विशाल, जतिन, नितिन, जावेद और जितेंद्र त्यागी सहित अन्य ग्रामीण मौजूद रहे। 

फरीदाबाद के पुलिस कमिश्नर संजय कुमार का ट्रान्सफर, अब केके राव के हाथों में पुलिस की कमान

faridabad-cp-kk-raoo-sanjay-kumar-transfer-ig-hisar-range-news

फरीदाबाद: फरीदाबाद के पुलिस कमिश्नर संजय कुमार ने करीब 11 महीनें तक कार्य किया. हरियाणा के DGP मनोज यादव ने फरीदाबाद में नया पुलिस कमिश्नर नियुक्त किया है, संजय कुमार की जगह केके राव को पुलिस कमिश्नर बनाकर भेजा गया है वहीं संजय कुमार अब हिसार रेंज के IG होंगे.

केके राव इससे पहले भोंडसी जेल के IGP के अलावा STF के IGP का कार्यभार देख रहे थे. अब उनके कन्धों पर हरियाणा के सबसे बड़े शहर फरीदाबाद में कानून व्यवस्था कायम रखने की जिम्मेदारी है.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि हरियाणा सरकार ने 26 IPS/HPS अधिकारियों की अदला बदली की है, अमिताभ ढिल्लों को IGP STF बनाया गया है. फरीदाबाद में DCP हेडक्वार्टर नीतिका गहलोत का भी जिले से बाहर ट्रान्सफर किया गया है, उन्हें SP /SVB हरियाणा नियुक्त किया गया है. देखिये लिस्ट -

faridabad-cp-transfer

faridabad-cp-transfer-news

फरीदाबाद जिले में उम्मीदवार बदले गए तो मोदी लहर, पुराने उम्मीदवार रहे तो सबक सिखाओ लहर

faridabad-modi-lahar-but-after-cutting-corrupt-vidhayak-ticket-news

फरीदाबाद: फरीदाबाद जिले में कुल 6 विधानसभा सीटें हैं. पिछले लोकसभा चुनाव में मोदी लहर की वजह से भाजपा लोकसभा उम्मीदवार की भारी अंतर से जीत हुई, उससे पहले 2014 में भी मोदी लहर थी और कांग्रेस सरकार के खिलाफ सत्ता विरोधी लहर थी जिसकी वजह से हरियाणा में भाजपा की सरकार बनी.

इस समय भी फरीदाबाद में मोदी लहर है और लोग भाजपा सरकार बनाना चाहते हैं लेकिन वर्तमान विधायकों के खिलाफ सबक सिखाओ लहर पैदा हो गयी है, इसकी वजह ये है कि खट्टर सरकार और मोदी सरकार ने फरीदाबाद को स्मार्ट सिटी बनाने के लिए खूब पैसे दिए लेकिन अधिकतर पैसे भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गए.

आज जिधर देखो जलभराव, कूड़ा कचरा, कीचड, गन्दगी की समस्या है, सीवर ओवरफ्लो हो रहे हैं, साफ़ सफाई की व्यवस्था नहीं है. घटिया क्वालिटी के रोड और नालियाँ, सीवरेज सिस्टम बनाए जा रहे हैं जो कुछ दिनों में टूटने लगती हैं. बिजली का भी बुरा हाल है, पीने के पानी के लिए भी जनता परेशान है.

अगर वर्तमान विधायकों ने अच्छा काम किया होता और खट्टर सरकार द्वारा फरीदाबाद में विकास के लिए भेजे गए पैसे को सिर्फ विकास में लगाया जाता तो फरीदाबाद की तस्वीर बदल चुकी होती लेकिन ऐसा नहीं हुआ, अगर मथुरा रोड को छोड़ दिया जाए तो फरीदाबाद में ज्यादा विकास नहीं दिखता, मथुरा रोड केंद्र सरकार का प्रोजेक्ट है इसलिए हाईवे और फ्लाईओवर की तस्वीर बदल गयी लेकिन विधानसभा क्षेत्रों की तस्वीर नहीं बदली.

कहने का मतलब ये है कि फरीदाबाद में मोदी लहर से इनकार नहीं किया जा सकता लेकिन यहाँ पर सबक सिखाओ लहर भी पैदा हो गयी है, अगर उम्मीदवार बदले गए और इमानदार और महनती नेताओं को टिकट दिया गया तो फिर से मोदी लहर का असर दिखेगा, अगर वही उम्मीदवार रहे तो सबक सिखाओ लहर का असर दिखेगा. हो सकता है लोग भ्रष्ट नेताओं को सबक सिखाकर ईमानदार निर्दलीय उम्मीदवार को विधायक बना दें. ऐसा इसलिए क्योंकि कांग्रेस और अन्य पार्टियों की सरकार बनाने से लोग परहेज करेंगे क्योंकि पहले लोग इनका स्वाद ले चुके हैं.

जेल भेजे गए इंस्पेक्टर अब्दुल, अब IG अमिताभ ढिल्लो निकलवाएंगे DCP आत्म-हत्याकांड का सच

faridabad-dcp-vikram-kapoor-suicide-case-inspector-abdul-shahid-jail

फरीदाबाद: DCP विक्रम कपूर आत्महत्या केस में मुख्य आरोपी इंस्पेक्टर अब्दुल शाहिद को नीमका जेल भेज दिया गया है, कल क्राइम ब्रांच ने उन्हें चार दिन की रिमांड के बाद कोर्ट में पेश किया जिसके बाद उन्हें जेल भेज दिया गया. 

इस मामले में मीडिया से बातचीत करके हुए डिफेंस लॉयर सत्येन्द्र भडाना ने कहा कि हमारे मुवक्किल को टॉर्चर किया गया है, उनका मेडिकल भी नहीं कराया गया, हमने कोर्ट से उनका मेडिकल कराने की मांग की है, उन्होंने यह भी कहा कि यह हनीट्रैप का मामला हो सकता है और इसीलिए बदनामी के डर से DCP विक्रम कपूर ने आत्महत्या की होगी, उन्होंने इसके लिए अखबारों की ख़बरों का रेफरेंस दिया.

इस मामले में पीपी की तरफ से मीडिया से बात करते हुए वकील एल एन पाराशर ने बताया कि यह हनी ट्रैप का मामला नहीं है, आरोपी से पूछताछ कर ली गयी है. उसे कोर्ट में भेज दिया गया है, आरोपी का मेडिकल कराया गया है, जाँच में पूरी बात सामने आ जाएगी.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस मामले में भ्रष्टाचार निरोधी कानून के तहत भी कार्यवाही की जा रही है और इसकी जांच फरीदाबाद का पूर्व कमिश्नर और IG अमिताभ सिंह ढिल्लो को सौंपी गयी है. उनकी निगरानी में एक SIT का गठन किया गया है. 

ऐसा आरोप है कि इंस्पेक्टर अब्दुल शाहिद के पास आय से अधिक संपत्ति है, इस बात की जांच की जाएगी कि उनके पास अकूत संपत्ति कहाँ से आयी. SIT की जांच में इस मामले से जुड़े अन्य राज भी सामने आ सकते हैं.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस मामले में पुलिस ने इस बात का खुलासा किया है कि इंस्पेक्टर अब्दुल शाहिद DCP विक्रम कपूर को अपनी महिला मित्र के जरिये झूठा आरोप लगाकर बदनाम करने की धमकी देता था. सवाल ये उठ रहा है कि अगर आरोप झूठे थे तो उसके लिए DCP साहब को आत्महत्या करने की जरूरत क्यों पड़ी, DCP एक प्रेस कांफ्रेंस करके या पुलिस में रिपोर्ट करके या खुद से एक्शन लेकर ब्लैकमेलरों को सबक सिखा सकते थे. अब इस मामले में असली सच का पूरा देश इन्तजार कर रहा है जो SIT जांच में ही सामने आ सकता है.

इस मामले में अभी सह-आरोपी पत्रकार सतीश मालिक और इंस्पेक्टर अब्दुल शाहिद की महिला मित्र की गिरफ्तारी बकाया है. दोनों की गिरफ्तारी के बाद भी कई राज खुल सकते हैं.

जान की चिंता छोड़कर, उफनती यमुना नदी में कूदकर डूबते युवक को बचा लाए ACP सराय मौजीराम

acp-saray-maujiram-save-human-life-in-yamuna-nadi-faridabad-news

फरीदाबाद: हथिनी कुंड बाँध से पानी छोड़े जाने के बाद यमुना नदी का जलस्तर काफी बढ़ गया है, फरीदाबाद पुलिस और प्रशासन की टीमें किसी भी परिस्थित से निपटने के लिए तैयार हैं. ACP सराय मौजीराम की ड्यूटी यमुना बाढ़ प्रभावित क्षेत्र  में लगाई गयी है.

20 अगस्त की रात एक व्यक्ति यमुना नदी में डूब रहा था. यमुना नदी के बाढ़ प्रभावित क्षेत्र में ड्यूटी के दौरान मौजीराम ए.सी.पी. सराय फरीदाबाद ने उफनती नदी में छलांग लगा दी और डूबते व्यक्ति को यमुना नदी से निकालकर उसकी जान बचाई.

ACP मौजीराम ने बनाया कि करीब 22 वर्षीय अवनीश नामक युवक अपने परिवार से नाराज होकर पल्ला साइड में खड्डा कॉलोनी से आगे बसंतपुर गाँव में यमुना नदी में कूद गया था, वहां पर 7-8 फूट पानी था जिसकी वजह से युवक डूब रहा था, वहां उपस्थित लोगों को तैरना नहीं आता था, जब यह बात ACP सराय मौजीराम को पता चली तो वे अपने गनमैन के साथ वहां पहुंचे और यमुना में कूदकर युवक को ढूँढने लगी, काफी ढूँढने के बड़ा युवक झाड़ियों में फंसा मिला, उन्होंने युवक को नदी से बाहर निकालकर उसकी जान बचा ली.

ACP सराय मौजीराम के इस बहादुरी भरे कार्य की हर तरफ तारीफ हो रही है. ऐसा कार्य करके उन्होंने फरीदाबाद पुलिस का नाम रोशन किया साथ ही इंसानियत का अद्भुत उदाहरण पेश किया है.

राजीव गाँधी जी देश को विकास की राह पर ले गए: विश्वेंद्र अत्री एडवोकेट

rajiv-gandhi-75-birthday-celebrated-lawyer-chamber-building-faridabad

फरीदाबाद: भारत के पूर्व प्रधानमंत्री व भारत रत्न राजीव गाँधी के 75वी जयंती के अवसर पर लॉयर्स चैम्बर्स बिल्डिंग में दर्जनों वकीलों द्वारा एक सभा का आयोजन किया गया जिसमे वकीलों द्वारा राजीव गाँधी जी का स्मरण किया गया और उनके द्वारा देश के विकास मे दिए योगदान पर प्रकश डाला. 

इस मौके पर प्रवक्ता एडवोकेट विश्वेंद्र अत्री ने कहा की देश मे सूचना प्रौद्योगिकी और दूरसंचार व कंप्यूटर क्रांति  राजीव गाँधी जी की देन हैँ व 73वें सविंधान संशोधन से पंचायती राज को सशक्त करने वाले भूतपूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न राजीव गाँधी जी ही थे उनकी  वजह से देश ने बहुत विकास किया हैँ.

इस अवसर पर मुख्य रूप से उपस्थित जिला बार एसोसिएशन के प्रधान संजीव चौधरी ने कहा कि उनके व्यक्तित्व व उनके द्वारा किये गए कार्यों को देश कभी नही भूल सकता, देश के हर नागरिक के लिए राजीव गाँधी जी मार्गदर्शक हैँ. 

इस अवसर पर बार के पूर्व प्रधान बॉबी रावत,  एडिशनल सेक्रेटरी सर्वेश कौशिक, कांग्रेस लीगल के निबरास अहमद, सुशील रावत, मौ.शाहनवाज, सयुंक्त सचिव विपिन यादव, प्रवक्ता विश्वेन्द्र अत्री, रविंदर चंदीला, संदीप नरवत, विकास मक्कड़, अनिल गाँधी, अमित शर्मा, अभिषेक शर्मा, संदीप नरवत, प्रमोद शर्मा, दिनेश भाटी,पवन पाराशर, प्रवेश कुमार,प्रमोद शर्मा, अंकुर सिंह, घनश्याम सहित काफी एडवोकेट मौजूद थे.

नहरपार भारत कॉलोनी में प्रिंस ज्वेलर्स दुकान में करीब 10 लाख कीमत के आभूषण और कैश की लूट

faridabad-naharpar-prince-jewelers-loot-bhart-colony-hanuman-nagar

फरीदाबाद: नहरपार भारत कॉलोनी, खेड़ी रोड, हनुमान नगर, 45 फूट रोड, गली नंबर 3 पास स्थित प्रिंस ज्वेलर्स की दुकान में 19 अगस्त की रात को चोरों ने करीब 10 लाख रुपये कीमत के आभूषण और करीब 35 हजार रुपये कैश लूट लिए। 

दुकानदार अमित वर्मा ने बताया कि मैंने 19 अगस्त को करीब 8 बजे शाम अपनी दुकान बढ़ाई और दूकान से कुछ दूरी पर स्थित अपने घर चला गया, सुबह दुकान पर आया तो पड़ोसियों ने बताया कि तुम्हारी दुकान का शटर उठा हुआ है, ऐसा लगता है कि चोरी हुई है। 

इसके बाद अमित वर्मा ने 100 नंबर पर फोन किया, काफी देर बार पुलिस पहुंची और जांच पड़ताल की, खेड़ीपुल थाना पुलिस में लिखित शिकायत दी गयी है। 

पुलिस में दी गयी शिकायत में दुकानदार अमित वर्मा ने लिखा है - मेरी दुकान से 6 किलो चांदी, 250 ग्राम सोना, मेरी आईडी प्रूफ (आधार कार्ड, पैन कार्ड, एटीएम कार्ड, मेरा मोबाइल फोन मॉडल जोलो, मेरी एक फाइल जिसमें बैंक एवं एलआईसी पालिसी के कागजात थे चोरी हो गया है। शिकायतकर्ता ने चोरी हुए सामान की जल्द से जल्द बरामद करने और चोरों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की मांग की है.

पृथला विधानसभा के भावी BJP उम्मीदवार सोहनपाल सिंह ने कई गाँवों में किया जनसंपर्क

prithla-vidhansabha-bjp-leader-sohan-pal-singh-chunav-prachar

पृथला: भाजपा जिला महामंत्री सोहनपाल सिंह छोकर ने जनसंपर्क अभियान तेज कर दिया है। वह कई महीनों से गाँव गाँव जाकर मनोहर सरकार और मोदी सरकार की नीतियों और जन-कल्याणकारी योजनाओं का प्रचार कर रहे हैं। 

19 अगस्त 2019 को सोहनपाल सिंह ने गांव हीरापुर, सोतई, अटाली और मौजपुर में जनसंपर्क किया। इस अवसर पर उन्होंने मनोहर सरकार की नीतियों और योजनाओं की चर्चा की साथ ही आगामी चुनावों में भाजपा को समर्थन देने की अपील की। 

इस अवसर पर सभी गाँवों के सैकड़ों लोगों ने सोहनपाल सिंह को आशीर्वाद दिया और भाजपा सरकार बनाने का भरोसा दिया। सोहनपाल सिंह ने गाँव वालों का आभार जताते हुए कहा कि अगर मुझे आपका आशीर्वाद मिला तो क्षेत्र का विकास करके आपका अहसान ब्याज सहित चुकाऊंगा।

तिगांव लूट-काण्ड का पर्दाफाश, इकोग्रीन कंपनी की कूड़ा उठाने वाली गाड़ी का ड्राईवर निकला लुटेरा

faridabad-eco-green-company-driver-looted-tigaon-sheeshram-nagar

फरीदाबाद: क्राइम ब्रांच बदरपुर बॉर्डर ने तिगांव में रात के समय परिवार के सभी सदस्यो को बेहोश करके चोरी करने वाले आरोपी को गिरफतार किया।  

पुलिस कमिश्नर संजय कुमार IPS के दिशा निर्देश तथा DCP क्राइम राजेश कुमार व ACP क्राइम अनिल यादव के नेत्रत्व में कार्य करते हुए SI ब्रहम प्रकाश व उनकी टीम ने  तिगांव थाना एरिया में 2 दिन पहले परिवार के सदस्यों को बेहोश कर घर में चोरी करने वाले आरोपी योगेश पुत्र राजेन्द्र सिंह निवासी गांव नवादा थाना सदर बल्लभगढ़ को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की 

गिरफ्तार आरोपी ने पूछताछ में बतलाया की वह इको ग्रीन कंपनी की गाड़ी चलाता है जो घरो से कूड़ा उठाने का काम करता है जिसने तिगांव में एक घर में शाम के समय रसोई में उबल रहे दूध में नींद की गोलिया डाल दी व रात को सब बेहोश हो गये तब घर में सोए हुए परिजनों जिसमें अधिकतर महिलाएं थी, के गहने, नकदी व मोबाइल फोन चोरी कर लिए थे। जिस संबंध में थाना के तिगांव में अज्ञात लोगों के खिलाफ चोरी का मुकदमा दर्ज कर तफ्तीश क्राइम ब्रांच बॉर्डर को सौंपी गई थी।

आरोपी को गिरफ्तार करके चोरी किए गए जेवरात  जिसमें 2 सोने की चैन, 6 जोड़ी कानो के झुमके 2 जोड़ी कानो के झालर व एक मोबाइल फोन वह वारदात में प्रयोग की गई मोटरसाइकिल बरामद की गई. पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि आरोपी को आज कोर्ट में पेश करके 2 दिन का पुलिस रिमांड लिया गया है जिससे चोरी के जेवरात, कैश व चोरी किया गया फोन बरामद किया जायेगा। आरोपी का पूर्व कोई आपराधिक रिकॉर्ड नहीं है.

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया में दो बार लूट करने वाले चार लुटेरे गिरफ्तार

crime-branch-sector-85-arrested-4-accused-looted-state-bank-of-india

फरीदाबाद: क्राइम ब्रांच सेक्टर 85 ने भारतीय स्टेट बैंक में दो बार चोरी की कोशिश करने वाले 4 आरोपियों को दबोचा।

आरोपी वाहन चोरी की वारदात को भी देते थे अंजाम।

क्राइम ब्रांच सेक्टर 85 ने विशेष सूत्रों से मिली सूचना के आधार पर छापेमारी कर वाहन चोरी एवं एसबीआई बैंक में दो बार चोरी की कोशिश करने वाले आरोपियों को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है।

गिरफ्तार आरोपी

1) उमेश कुमार पुत्र रणवीर गांव गाजीपुर थाना बरला  जिला अलीगढ़ यूपी। 

2) चंद्रपाल पुत्र जसवंत गांव गाजीपुर   थाना  बरला जिला अलीगढ़ यूपी।

3) अली पुत्र सतबीर गांव अटेला कला थाना बाढड़ा जिला भिवानी।

4) देवेंद्र पुत्र उदयवीर गांव सिकंदरपुर थाना अकराबाद जिला अलीगढ़ यूपी।

उपरोक्त आरोपियों को निम्नलिखित वारदात में संलिप्त होने पर गिरफ्तार किया गया है।

1) Fir No. 140 Dt. 16 -8-19 U/S 398,401IPC 25-54-59 A. Act PS BPTP Faridabad ।

2) Fir No. 524 Dt. 16 -8-19 U/S 457, 380 ,511  IPC PS SEC- 7 Faridabad ।

3) Fir No. 468 Dt. 23-7-19 U/S 457, 380 ,511  IPC PS SEC- 7 Faridabad ।

4) Fir No. 227 Dt. 5 -8-19 U/S 379 IPC PS Kheri Pul Faridabad ।

5) Fir No. 40 Dt. 17-02-19 U/S 379 IPC PS Tigaon  Faridabad ।

6) Fir No. 637 Dt. 13-08-19 U/S 379 IPC PS Sec-58 Faridabad ।

प्रभारी क्राइम ब्रांच सेक्टर 85 एस आई सुमेर ने बताया की आरोपीयान बड़े ही शातिर और चालाक किस्म के है जो नशे के आदि हैं।

आरोपी चोरी करते वक्त CCTV केमरा की डिजिटल रिकार्डिंग डिवाइस (DVR) को साथ चोर कर ले जाते थे। ताकि किसी को कोई सुराग ना लग सके।

गिरफ्तार सभी आरोपी अपने शौक पूरा करने के लिए वाहन चोरी के अलावा दो बार स्टेट बैंक ऑफ इंडिया शाखा सेक्टर 11 फरीदाबाद में चोरी करने की कोशिश जैसी वारदात को अंजाम दे चुके हैं।

आरोपियों ने गैस कटर की सहायता से अभी कुछ दिनों पहले ही एसबीआई बैंक के तीन दरवाजों को काटकर बैंक के अंदर प्रवेश किया जो बैंक के खजाना रूम तक पहुंच गए जहां पर स्ट्रांग रूम को भी गैस कटर से काटने की कोशिश की लेकिन अपराधियों की गैस सिलेंडर की गैस खत्म हो गई थी।

आरोपियान बैंक में चोरी करने में विफल हो गए जिनका उपरोक्त मुकदमा दर्ज है इसके अलावा आरोपीयान व्हीकलो की भी चोरी करते हैं।

पुलिस प्रवक्ता सुबे सिंह ने बताया कि आरोपियों से 1 इको कार, 1 मोटरसाइकिल, 1 डिजिटल वीडियो रिकॉर्डर, 1 देसी कट्टा, एवं बैंक में चोरी की वारदात को अंजाम देने की कोशिश करने में इस्तेमाल किए गए 1 गैस कटर, सिलेंडर एवं हथोड़ा बरामद किया गया है।

उन्होंने बताया कि आज सभी आरोपियों को कोर्ट में पेश किया गया था ,,,, माननीय कोर्ट ने आरोपी अली को जेल भेजा है,,, बाकी तीन आरोपियों से आईसर कैंटर बरामद करने हेतु 1 दिन का पुलिस रिमांड दिया गया है।

CRPF जवान ने जताया अपने लापता भाई की हत्या या किडनैप किये जाने का शक, CIA से जांच की मांग

shiv-singh-missing-case-crpf-jawan-doubt-murder-or-kidnaip-news

फरीदाबाद: CRPF जवान मनोज कुमार ने अपने लापता भाई शिवसिंह की हत्या किये जाने या किडनैप किये जाने का शक जताया है और पुलिस कमिश्नर से मिलकर इस मामले की जांच क्राइम ब्रांच से करवाने की मांग की है, पुलिस कमिश्नर ने इस शिकायत को DCP सेंट्रल लोकेन्द्र सिंह को मार्क कर दी है.

मनोज कुमार ने अपनी शिकायत में लिखा है - मैं CRPF (कैम्प) में तैनात होकर देश की सेवा कर रहा हूँ, मेरा छोटा भाई शिवसिंह पिछले लगभग 20 दिन से लापता है जिसकी FIR - 223 Date 30.07.2019 खेडीपुल थाने में दर्ज है, मुझे शक है कि मेरे भाई की किसी ने हत्या कर दी है या कहीं किडनैप कर रखा है और इस काम में वेदराम पुलिसवाला और मेरे छोटे भाई की पत्नी किरण का हाथ हो सकता है इसलिए FIR-223 की कार्यवाही क्राइम ब्रांच से करवाई जाय ताकि न्याय मिल सके, अति कृपा होगी.

manoj-kumar-image

खेडीपुल थाने पर क्यों नहीं है CRPF जवान को भरोसा

शिवसिंह की गुमशुदगी का मामला उसका पत्नी ने खेडीपुल थाने में दर्ज करवाया है लेकिन केस के IO वेदराम मामले की सही जांच नहीं कर रहे थे, जब CRPF जवान ने उनसे फोन पर बातचीत की तो उन्होंने गन्दी गन्दी गालियाँ दी और फौजियों को पागल बोला. उनपर कार्यवाही हुई और उन्हें सस्पेंड किया गया. देखिये वीडियो - 



क्या था मामला?

बात दरअसल ये थी कि CRPF जवान मनोज कुमार का भाई शिव सिंह 28 जुलाई को गायब हो गया. शिव सिंह नहरपार हनुमान नगर, गली नंबर 3 में अपनी पत्नी किरण देवी के साथ रहता था, उसकी पत्नी ने 30 जुलाई को गुमशुदगी की रिपोर्ट लिखवाई. पत्नी ने लिखा - मेरा पति किसी से मिलने गया था उसके बाद नहीं आया. मैंने उसे कई जगह ढूंढा लेकिन नहीं मिला.

जब मनोज कुमार को अपने भाई के गुम होने की सूचना मिली तो वे ड्यूटी से छुट्टी लेकर अपने भाई को ढूँढने निकल पड़े. पुलिस में रिपोर्ट लिखवा दी गयी थी इसलिए उन्होंने केस के IO हेड कांस्टेबल वेदराम से संपर्क किया. मदद के बजाय वेदराम ने उन्हें गालियाँ दी, उन्हें पागल बोला, उनकी बेटी को भी गालियाँ दी. उन्हें दोबारा फोन ना करने की धमकी दी. वेदराम ने यह भी कहा कि तू कौन है अपने भाई के बारे में जानकारी करने वाला, उसकी पत्नी है, हम उसे बता देंगे. मनोज कुमार ने कहा कि क्या भाई का कोई फर्ज नहीं होता, क्या हम अपने भाई के बारे में जानकारी नहीं ले सकते, जिस प्रकार से वेदराम ने मुझसे बात की वैसे तो कोई भी पुलिसवाला बात नहीं करता, उन्होंने हम फौजियों को भी पागल बोला.

पुलिसकर्मी वेदराम ने CRPF जवान मनोज कुमार को थाने में बुरी तरह से धमकाया, उसके छोटे भाई को थप्पड़ मारे गए. थक हारकर मनोज कुमार ने फरीदाबाद लेटेस्ट न्यूज़ से संपर्क किया. जब हमने वेदराम से रिपोर्ट ली तो उन्होंने हमसे भी बदतमीजी से बात की और बोले - तुम ढूंढ लो उसके भाई को, तुम पता लगवा लो उसका मोबाइल कहाँ है, तुम ट्रेस करवा लो उसका मोबाइल, हमें इतना पता नहीं है.

इसके बाद मनोज कुमार ने हमसे बताया कि वेदराम की मेरे पास फोन रिकॉर्डिंग है. उसके बाद हमने CRPF जवान मनोज कुमार के टॉर्चर की कहानी को अपने फेसबुक पेज पर डाला जिसके बाद फरीदाबाद पुलिस ने तुरंत एक्शन लेते हुए वेदराम को सस्पेंड कर दिया. पुलिस उपायुक्त सेंट्रल लोकेन्द्र सिंह ने इस एक्शन की जानकारी दी.

पृथला विधानसभा के भावी BJP प्रत्याशी सोहनपाल की पत्नी डॉ आशा सिंह से मच्छगर गाँव में जनसंपर्क

prithla-candidate-sohanpal-singh-wife-dr-asha-singh-prachar-news

पृथला: भाजपा पार्टी के जिला महामंत्री और पृथला के भावी भाजपा प्रत्यशी सोहनपाल सिंह छोकर की धर्मपत्नी डॉ आशा सिंह ने आज विस क्षेत्र के मछगर गाँव में जन संपर्क किया और अपने पति के लिए समर्थन माँगा। इस अवसर पर सैकड़ों महिलाओं के इकठ्ठा होकर उनका स्वागत किया और उन्हें समर्थन देने का भरोसा दिया। 

जनता से बातचीत करते हुए डॉ आशा सिंह ने कहा कि सोहनपाल सिंह ने हमेशा पृथला क्षेत्र की जनता की समस्याओं को उठाया है और सबकी मदद की है, वह भाजपा में भी काफी लम्बे समय से सेवा दे रहे हैं, अगर जनता विधानसभा चुनाव में उन्हें अपना आशीर्वाद दे दे तो पूरी ताकत के साथ क्षेत्र का विकास कर पाएंगे और सरकार के जरिये समस्याओं का समाधान करवा पाएंगे।

dr-asha-singh-wife-sohanpal-singh

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि सोहनपाल सिंह छोकर पृथला विधानसभा के पढ़े लिखे, ऊर्जावान और युवा नेता हैं जो भाजपा टिकट के सबसे मजबूत दावेदार हैं। भाजपा इस बार पढ़ें लिखे युवाओं को टिकट में तरजीह देगी। सोहनपाल हर पैमाने पर फिट बैठ रहे हैं लेकिन टिकट का अंतिम फैसला आलाकमान ही करेगा। 

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि पृथला विधानसभा में इस वक्त तीन भाजपा नेता टिकट के मजबूत दावेदार हैं, पहले नंबर पर सोहनपाल सिंह छोकर हैं, दूसरे नंबर पर नयनपाल रावत हैं जबकि तीसरे नंबर पर वर्तमान विधायक टेकचंद शर्मा हैं। अगर चयन समिति ने शैक्षणिक और लीडरशिप के आधार पर चयन किया तो युवा और पढ़े लिखे नेता सोहनपाल सिंह को टिकट मिलना तय है।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि सोहनपाल सिंह ने भी जनसंपर्क में अपनी पूरी ताकत झोंक दी है, उन्होंने लोकसभा चुनाव में भी भाजपा प्रत्याशी कृष्णपाल गुर्जर को बड़ी जीत दिलवाने के लिए खूब पसीना बहाया था, इस बार वह खुद मैदान में उतरना चाहते हैं इसलिए उन्होंने पहले से ही जनसंपर्क अभियान शुरू कर दिया है, कल उन्होंने अलावलपुर गाँव में जनसंपर्क किया।

sohanpal-singh-chhokar-news

पढ़ें, कैसे गिरफ्तार हुआ कौशल, इंटरपोल ने कैसे की मदद, कैसे ट्रेस हुई कॉल

how-gangster-kaushal-arrested-by-crime-branch-interpol-help

फरीदाबाद: विकास चौधरी मर्डर केस में मुख्य आरोपी गैंगस्टर कौशल को दुबई में गिरफ्तार कर लिया गया है, इस गिरफ्तारी से लोग हैरान हैं क्योंकि पहले लोगों को ऐसा लगता था कि कौशल पर दुबई में हाथ डालना मुश्किल है, लोग सोचते थे कि जिस तरह से दाउद विदेश में छुपा बैठा है उसी तरह से कौशल का भी भारतीय पुलिस कुछ नहीं बिगाड़ सकती. हो सकता है कि कौशल भी यही सोचता रहा हो लेकिन उसकी सोच गलत साबित हुई और पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया.

आपने ख़बरों में पढ़ा होगा कि कौशल किसी विशेष नंबर से विदेश से भारत में फोन करता था. मोबाइल और लैंडलाइन के जरिये की जा रही कॉल को पुलिस आसानी से ट्रेस कर लेती है लेकिन कौशल VoIP के जरिये फोन करता था इसलिए उसकी कॉल ट्रेस करना बहुत मुश्किल था. 

सूत्रों से खबर मिली है कि कौशल की गिरफ्तारी में इंटरपोल की मदद ली गयी. इंटरपोल ने Deep Technical Surveillance के जरिये कौशल द्वारा की जा रही VoIP कॉल ट्रेस कर ली और उस तक जा पहुंची. दरअसल VoIP कॉल को ट्रेस करना बहुत मुश्किल होता है इसलिए बड़े बड़े माफिया इसी टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करके कॉल करते हैं. VoIP का मतलब होता है Voice over Internet Protocol. यह कॉल इन्टरनेट के जरिये की जाती है जिसमें पैकेट के जरिये सूचना का आदान प्रदान होता है जबकि मोबाइल और लैंडलाइन में Circuit-switched टेक्नोलॉजी के जरिये सूचना का आदान प्रदान होता है जिसे ट्रेस करना बहुत आसान है.

ऐसी खबर आयी कि इंटरपोल ने कौशल को गिरफ्तार करके क्राइम ब्रांच के हवाले का दिया है. फरीदाबाद क्राइम ब्रांच के दो इंस्पेक्टर विमल कुमार (CIA सेक्टर 30 प्रभारी) और संदीप मोर (साइबर सेल प्रभारी) ने भी काफी मेहनत की है, विमल कुमार करीब एक महीनें दुबई में रहे और फील्डिंग की, हालाँकि पुलिस ने अभी तक उनकी तरफ से की गयी कार्यवाही का खुलासा नहीं किया है, जल्द ही इस बारे में सूचना दी जाएगी. दोनों इंस्पेक्टर कौशल को दुबई से फरीदाबाद ला रहे हैं.

बता दें कि कौशल कुछ महीनों से हरियाणा और खासकर फरीदाबाद में आतंक का पर्याय बना हुआ था, एक तरह से कहें तो कौशल हरियाणा का दाउद बनकर दुबई से अपने गैंग को ऑपरेट का रहा था और फरीदाबाद हरियाणा के व्यापारियों से रंगदारी मांगता था.

जानकारी के लिए बता दें कि विकास चौधरी मर्डर केस में कौशल गैंग के दर्जनों सदस्यों को गिरफ्तार किया गया है. पहले ऐसा लगता था कौशल और विदेश में हाथ डालने में मुश्किल होगी लेकिन पुलिस ने उसे गिरफ्तार करके एक बार फिर से साबित कर दिया कि अपराधी भले ही विदेश में जाकर छुप जाएं पुलिस के हाथों से उनका बचना मुश्किल है.

जिला एवं सत्र न्यायाधीश दीपक गुप्ता ने फरीदाबाद में की ‘वर्चुअल कोर्ट’ की शुरूआत

faridabad-district-and-session-judge-deepak-gupta-started-virtual-court

फरीदाबाद, 17 अगस्त। ई-न्यायालयों के एक नए युग की शुरुआत में फरीदाबाद में पहले ‘वर्चुअल कोर्ट’ की शुरूआत हो शनिवार से हो गई। पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश न्यायामूर्ति कृष्णा मुरारी ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से फरीदाबाद में पहले ‘वर्चुअल कोर्ट’ की शुरूआत की। फरीदाबाद स्थित यह ‘वर्चुअल कोर्ट’ पूरे हरियाणा राज्य के ट्रैफिक चालान के मामलों से निपटेगा। इस ‘वर्चुअल कोर्ट’ का उद्देश्य न्यायालय में विवादी की उपस्थिति को समाप्त करना और मामले को ऑनलाइन निपटाना है।

परियोजना का शुभारंभ करते हुए मुख्य न्यायाधीश ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से जिला एवं सत्र न्यायाधीश दीपक गुप्ता फरीदाबाद के साथ बातचीत की और परियोजना के सफल कार्यान्वयन पर बल दिया। इस अवसर पर पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्यायालय के अन्य न्यायाधीशों के अलावा पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्यायालय की कंप्यूटर समिति के अध्यक्ष न्यायमूर्ति डॉ. रवि रंजन के साथ-साथ समिति के सदस्य न्यायमूर्ति सुरिंदर गुप्ता और न्यायमूर्ति बी.एस. वालिया भी उपस्थित थे।

वीडियो कांफ्रेंसके उपरांत इस प्रणाली के संदर्भ में जिला एवं सत्र न्यायधीश दीपक गुप्ता ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए बताया कि यह परियोजना भारत के सर्वोच्च न्यायालय की ई-समिति के मार्गदर्शन में शुरू की गई है और इस सॉफ्टवेयर को राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र (एनआईसी) द्वारा विकसित किया गया है। इस परियोजना के तहत, ‘वर्चुअल कोर्ट’ में प्राप्त मामलों को स्क्रीन पर जुर्माना की स्वचालित गणना के साथ न्यायाधीश द्वारा देखा जा सकता है। जब एक बार समन जेनरेट होने और आरोपी को ई-मेल या एसएमएस पर जानकारी मिल जाने के बाद, आरोपी ‘वर्चुअल कोर्ट’ की वेबसाइट पर जा सकते हैं और अपने संबंधित केस का सीएनआर नंबर या अभियुक्त का नाम या यहां तक कि ड्राइविंग लाइसेंस नंबर इत्यादि देकर अपना केस सर्च कर सकते हैं।

यदि अभियुक्त ऑनलाइन दोषी पाया जाता हैं, तो जुर्माना राशि प्रदर्शित होगी और अभियुक्त जुर्माना भरने के लिए आगे बढ़ सकता है। सफल भुगतान और जुर्माना राशि की वसूली पर मामले का स्वत: निपटारा हो जाएगा। जब अभियुक्त दोषी नहीं है, तो ऐसे मामलों को नियमित न्यायालयों को संबंधित क्षेत्रीय अधिकार क्षेत्र में भेजा जाएगा।

उन्होंने कहा कि ‘वर्चुअल कोर्ट’ नियमित अदालतों पर बोझ कम करेगा। निपटान की पूरी प्रक्रिया ऑनलाइन घंटों में होगी। न्यायालयों में लोगों का आना काफी कम होगा क्योंकि अभियुक्तों को दोषी ठहराने के लिए अदालत में जाने की आवश्यकता नहीं होगी। इस अवसर पर ज्यूडिशि यल मेजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी श्रीमती प्रियंका जैन, मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी एवं जिला लीगल सेवा प्राधिकरण की सचिव श्रीमती मोना, अधिवक्ता रविंद्र जैन भी उपस्थित थे।

सेक्टर-56 में हुड्डा द्वारा बनाए फ्लैट कभी भी हो सकते हैं धराशायी, खूब हुई है लूट: LN पाराशर

sector-56-flats-ln-parashar-accused-corruption-on-huda-officers

फरीदाबाद:  फरीदाबाद में शहर के सौंदर्यकरण और विकास के चलते गरीबों के बर्षों पुराने आशियाने तोडकर उन्हें खंडहर पडे हुए सरकारी फ़्लैट  दे दिये गये हैं, जिसमें रहने वाले गरीब परिवारों के ऊपर  हर वक्त मौत मंडराती रहती है।  सेक्टर-56 में  करीब 10 साल पहले बनाये गये सरकारी आशियाने अब पूरी तरह से खंडहर हो गये हैं दीवरें टूटने लगी हैं तो छतें झडने लगी हैं कभी इस कोने से पलस्तर  टूटता है तो कभी उस कोने से। गरीबों के लिये बनाये गये सपनों के आशियानों में न तो बिजली है और न ही पानी, सीवर जाम होने से बीमारियां फैल रही है, ऐसी सुविधायें देकर सरकार गरीबों से करीब 28 सौ रूपये महीने की किस्त ले रही है जो कि 20 साल तक भरनी होगी। गरीब परिवारों की जिंदगी के साथ खिलवाड करने वाले अधिकारियों के खिलाफ शिकायतकर्ता एल एन पराशर ने प्रधानमत्री, मुख्यमंत्री सहित संबंधित विभागों को पत्र लिखकर अवगत करवाया था मगर कोई कार्यवाही नहीं हुई।

 समस्याओं से परेशान स्थानीय लोगों ने शनिवार फिर एडवोकेट एलएन पाराशर को मौके पर बुलाया। लोगों ने बताया कि वो मानसून के सीजन में बहुत दुखी हैं और रात में घर में सोते हैं तो लगता है किसी भी वक्त फ़्लैट गिर जायेंगे और उनका परिवार बेमौत मारा जाएगा। लोगों ने बताया कि हल्की आहत से भी वो डर जाते हैं। 
वकील पाराशर ने बताया कि करीब 10 साल पहले बनाये गये आशियाने लोगों को शिफ्ट  न करने की बजह से जर्जर हो चुके हैं। अब इन्हीं खंडहर फलैटों में गरीब परिवार अपनी जान जोखिम में डाल कर रह रहे हैं और जायें भी तो कहां, शहर के सौंदर्यकरण और विकास के चलते गरीबों के बर्षों पुराने आशियाने तोड दिये गये हैं उसके बाद इन परिवारों को ये फ़्लैट दिये गये हैं जिनका हर महीने एक परिवार करीब 28 सौ रूपये किस्त देता है जो कि 20 साल तक देनी होगी, बेशक फलैट 20 साल तक रहें या न रहें मगर किस्त तो भरनी पडेगी।

पाराशर ने कहा कि इन सरकारी आशियानों में रहने वाले परिवारों को मौत के मुंह में ढकेल दिया है, जो फलैट उन्हें रहने के लिये दिये गये हैं वो पूरी तरह से जर्जर हो चुके हैं कभी पलस्तर गिरता है तो कभी छतें टूटती है, वो डर के साये में अपने बच्चों के साथ रहने के लिये मजबूर है कोई भी अधिकारी उनकी सुध लेने के लिये भी नहीं आता। पराशर ने बताया कि यहाँ न बिजली है न पानी है और शौचालय के लिये भी ईधर उधर से पानी का जुगाड करना पडता है। सीवरों से गांदा पानी ओवर हो रहा है गंदगी के चलते बिमारियां फैल रही हैं। ये लोग पूरी तरह से नरकीय जीवन जीने के लिय मजबूर हैं।

पराशर ने कहा कि इस बारे में मैंने चीफ सेक्रेटरी हरियाणा, जिला उपायुक्त फरीदाबाद, नगर निगम आयुक्त फरीदाबाद, हाउंसिग बोर्ड चंडीगढ, हाउंसिग बोर्ड फरीदाबाद और प्रिंसीपल सेके्रटरी हरियाणा सहित सात विभागों के खिलाफ हाईकोर्ट में याचिका दायर की है। जिसका अभी कोई जबाब नहीं मिला है फिर से वह इसकी शिकायत देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और मुख्यमंत्री मनोहर लाल को करेंगे। 

DCP को महिला मित्र से झूठा आरोप लगवाने और बदनाम करने की धमकी देता था इंस्पेक्टर अब्दुल शाहिद

dcp-vikram-kapoor-suicide-case-inspector-abdul-shahid-exposed

फरीदाबाद: डीसीपी विक्रम कपूर सुसाइड केस में  फरीदाबाद पुलिस ने बड़ा खुलासा किया है जिसके अनुसार  आरोपी निलंबित इंस्पेक्टर अब्दुल शहीद अपने भांजे को केस से निकलवाने के लिए बना रहा था दबाव।

साथ ही महिला मित्र के पति के द्वारा दी गई दरखास्त पर महिला के पति के हक में कार्यवाही कराने हेतु भी बना रहा था दबाब, कहना ना मानने पर अपनी महिला मित्र के द्वारा झूठे आरोप लगाने और बदनाम करने की धमकी देता था.

गिरफ्तार s.h.o. अपनी महिला मित्र के नाम पर  स्वर्गीय डीसीपी को झूठे केस में फंसाने और अंजाम भुगतने की लगातार दे रहा था धमकी।

ऐसा ना करने पर  पत्रकार दोस्त सतीश के साथ मिलकर फरीदाबाद शहर में बदनाम करने की दे रहा था धमकी।

जिसके चलते दिनांक 14 अगस्त 2019 को स्वर्गीय श्री विक्रम कपूर डीसीपी एनआईटी ने खुद को सरकारी आवास पर सुबह करीब 5:45 बजे, गोली मारकर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली थी।

आत्महत्या के समय स्वर्गीय डीसीपी ने एक सुसाइड नोट लिखा था जिसमें उन्होंने अब्दुल शहीद एसएचओ थाना भूपानी को अपनी आत्महत्या  का जिम्मेदार ठहराते हुए लिखा था कि आई एम डूइंग दिस डयु टू अब्दुल ,   इंस्पेक्टर अब्दुल शहीद वाज ब्लैकमेलीग, विक्रम । सुसाइड नोट व परिजनों की शिकायत के आधार पर अब्दुल शहीद और उसके पत्रकार मित्र सतीश को आत्महत्या करने  के लिए मजबूर करने की धाराओं के अंतर्गत थाना सेक्टर 31में मुकदमा दर्ज किया गया था।

श्रीमान संजय कुमार पुलिस आयुक्त महोदय  ने इस केस की तफ्तीश के लिए एसीपी क्राइम श्री अनिल कुमार के नेतृत्व में एसआईटी गठित की गई जिसमें इंस्पेक्टर विमल, एसआई रविंदर और एसआई सतीश को शामिल किया गया था।

एसआईटी ने आरोपित  अब्दुल शहीद को गिरफ्तार कर कोर्ट मे पेश कर 4 दिन के पुलिस रिमांड पर लिया था।

एसआईटी टीम ने बताया कि एसएचओ अब्दुल शहीद के भांजे का नाम थाना मुजेसर मे दर्ज हत्या के प्रयास के मुकदमे में शामिल था, जिसका नाम मुकदमा से निकालने के लिए निलंबित एसएचओ अब्दुल शहीद लगातार स्वर्गीय डीसीपी पर दबाव बना रहा था।

पूछताछ में गिरफ्तार आरोपी अब्दुल शहीद ने बताया की उनकी एक महिला मित्र है जिनका अपने ससुर से प्रॉपर्टी का विवाद चल रहा है जो प्रॉपर्टी विवाद की दरखास्त महिला मित्र के पति के द्वारा दी गई थी  जिसकी जांच स्वर्गीय डीसीपी साहब के क्षेत्राधिकार में आती थी, पर महिला मित्र के हक में जांच करवाना चाह रहा था।

आरोपित ने बताया कि उसने डीसीपी को बोला था कि अगर मेरे भांजे को बाहर नहीं किया और मेरी महिला मित्र की दरखास्त पर कार्यवाही नहीं की तो मैं अपनी महिला मित्र ""जो कि मेरे इशारों पर चलती है"" उसके साथ मिलकर तुझे झूठे केस में फंसा दूंगा।

और मै अपने पत्रकार साथी सतीश से फरीदाबाद के अखबारों में तेरे खिलाफ ऐसी-ऐसी खबर छप आऊंगा कि तू आत्महत्या करने के लिए मजबूर हो जाएगा।

आरोपी ने पूछताछ में कबूला है कि वह और उसका दोस्त सतीश  पिछले 3 महीने से लगातार स्वर्गीय डीसीपी को परेशान कर रहे थे। 

पूछताछ पर आरोपी अब्दुल शहीद ने बताया कि कई बार  वह डीसीपी की कोठी पर जाकर डीसीपी साहब को दोनों के केसो के संबंध में अपने मन मुताबिक कार्य करने के लिए  बनाता था दबाब।

आरोपी ने पूछताछ पर  बताया कि दिनाक 13.07.19 को भी वह डीसीपी साहब के सरकारी आवास पर गया था और डीसीपी साहब को मेरे हक के मुताबिक मेरी इच्छा के मुताबिक कार्य करने के लिए कहा, लेकिन उन्होंने मना किया तो, मैने गुस्से में आकर उनको तेज आवाज में बात कर ही रहा था, की, तभी, मेरी तेज आवाज सुनकर स्वर्गीय डीसीपी साहब की पत्नी भी वहां पर आ गई थी। इसके बावजूद भी , आरोपी ने कहा की  अगर मेरे भांजे अरसद को केस से नहीं निकाला वा मेरी महिला मित्र के पति के द्वारा दी गई दरखास्त पर आपने सही कार्यवाही नहीं करी तो मैं अपने दोस्त सतीश पत्रकार से कहकर आपके खिलाफ झूठी खबर निकलवा दूंगा व अपनी महिला मित्र से आपके ऊपर झूठे इल्जाम भी लगवा दूंगा।और इस झुठे इल्जाम के सहारे तेरा वो हाल कर देंगे कि आत्महत्या करने के अलावा तेरे पास और कोई रास्ता नही बचेगा,,,, ये धमकी देकर मै उनके घर से आ गया था।

मैंने अपने दोस्त सतीश पत्रकार से मिलकर पहले भी तेरे खिलाफ अखबार में तेरी छवि धूमिल करने व बदनाम करने के लिए काफी छपवाया है। लेकिन इस बार कुछ ऐसा अखबार में निकलवाएंगे जिसे तू बर्दाश्त नहीं कर सकेगा।

एसआईटी हेड और एसीपी क्राइम श्री अनिल यादव ने बताया कि आरोपित अब्दुल शहीद व उसके आरोपित  दोस्त सतीश पत्रकार से परेशान होकर डीसीपी साहब ने खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली थी।

इस केस में अभी तफ्तीश जारी है जो भी अन्य तथ्य सामने आएंगे वह आपको अवगत कराए जाएंगे। एफआईआर में नामजद व आरोपित अब्दुल शहीद के पत्रकार दोस्त सतीश की तलाश जारी है जिसको जल्द गिरफ्तार किया जाएगा।

इंस्पेक्टर विमल कुमार और इंस्पेक्टर संदीप मोर कौशल को दबोच कर फरीदाबाद लाने दुबई पहुंचे

inspector-vimal-kumar-sandeep-more-reach-dubai-to-arrest-kaushal

फरीदाबाद: अभी-अभी बहुत बड़ी ब्रेकिंग खबर आई है. विकास चौधरी मर्डर केस में मुख्य आरोपी कौशल को दुबई में गिरफ्तार कर लिया गया है. कौशल को गिरफ्तार करने में फरीदाबाद पुलिस का भी बड़ा रोल है फरीदाबाद क्राइम ब्रांच के प्रभारी इंस्पेक्टर विमल कुमार और साइबर सेल प्रभारी इंस्पेक्टर संदीप मोर कौशल को फरीदाबाद लाने के लिए दुबई पहुंच गए हैं और जल्द ही कौशल को फरीदाबाद लाया जाएगा.

जानकारी के अनुसार कौशल को दिल्ली क्राइम ब्रांच ने दुबई में गिरफ्तार कर लिया के बाद हरियाणा पुलिस को सूचना दी.

जानकारी के लिए बता दें कि विकास चौधरी मर्डर केस में कौशल गैंग के दर्जनों सदस्यों को गिरफ्तार किया गया है. पहले ऐसा लगता था कौशल और विदेश में हाथ चलने में मुश्किल होगी लेकिन पुलिस ने उसे गिरफ्तार करके एक बार फिर से साबित कर दिया कि अपराधी भले ही विदेश में जाकर छुप जाएं पुलिस के हाथों से उनका बचना मुश्किल है.

सूत्रों से इस बात की भी जानकारी मिली है कि कौशल को दबोचने में सेक्टर 30 क्राइम ब्रांच के प्रभारी विमल राय,  और साइबर सेल प्रभारी  संदीप मोर की भी विशेष भूमिका रही है लेकिन अभी तक इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं हो पाई है.