Palwal Assembly

Showing posts with label Faridabad News. Show all posts

मोदी का सपना, 2022 तक सबके पास घर हो अपना, विशेष शिविरों में दिया जा रहा सस्ता लोन, पढ़ें

pm-narendra-modi-dream-house-for-all-2022-cheap-lone-by-bank

फरीदाबादा, 11 दिसम्बर। राज्य स्तरीय बैंकर समिति द्वारा  उपायुक्त अतुल कुमार के मार्ग दर्शन में सरकार कै निर्देशानुसार गत 10 दिसम्बर से आगामी 13 दिसंबर तक प्रधानमंत्री आवासीय योजना का विशेष शिविर आयोजित किया जा रहे है। जिसके अतंर्गत गत 10 दिसम्बर 2019 को सिंडिकेट, पंजाब नेशनल बैंक, इंडियन बैंक तथा नगर निगम द्वारा कैंपो का आयोजन किया जा रहा है ।अग्रणी जिला मुख्य प्रबंधक श्री अलभ्य मिश्रा ने लोगो से निवेदन किया है कि वो इस योजना का अधिक से अधिक फायदा उठाये तथा इस शिविर में बढ़ चढ़कर हिस्सा ले।

इसी श्रंखला में बुधवार को सर्व हरियाणा ग्रामीण बैंक, इण्डियन बैंक , पंजाब एंड सिंध बैंक, ओरिएण्टल बैंक ऑफ कॉमर्स, सिंडिकेट बैंक सहित विभिन बैंको मे  कैंपो का आयोजन किया गया। 

जिला अग्रणी बैंक अधिकारी डॉ अलभ्य मिश्रा ने बताया कि  आवेदनकर्ता क्रेडिट लिंक्ड सब्सिडी स्कीम के अंतर्गत अपना आवेदन नजदीकी बैंक शाखा में जमा करवा सकता है।

उन्होंने बताया कि इस शिविर में सभी बैंक अधिकारी तथा राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन के कर्मचारी उपस्थित होकर  "प्रधानमंत्री जी का सपना 2022 में घर हो सबका अपना 'थीम पर कार्य करते हुए इस शिविर का आयोजन किया जा रहा है। जिसके बारे में सभी बैंकों को निर्देश जारी कर दिया गया है कि इस योजना के अंतर्गत अधिक से अधिक लाभार्थियों को लाभान्वित किया जाएगा ।

जिला की बैंक शाखाओ के बैंक अधिकारी,  नगर परिषद व नगर निगम के कर्मचारी तथा अधिकारी  मिलकर इन शिविरों को सफल बनाने में अपना योगदान दें रहे हैं ।

इसी प्रकार  सुभाष कुमार अग्रणी बैंक अधिकारी ने बताया कि प्रधानमंत्री आवास योजना में नागरिकों को मकान बनाने तथा मकान की मरम्मत करवाने के लिए अलग-अलग आय स्तर की श्रेणियों में अलग-अलग मात्रा व सब्सिडी पर लोन दिया जाता है। इस योजना में तीन लाख तक की सालाना आय के पात्र को इडब्ल्यूएस श्रेणी के अंर्तगत रखा गया है। तीन से छह लाख तक की सालाना आय के व्यक्ति को एलआईजी श्रेणी में तथा  छ: से बारह लाख तक की सालाना आमदनी वाले व्यक्ति को एमआईजी वन श्रेणी में  और  बारह से अठारह लाख तक की सालाना आय वाले व्यक्ति को एमआईजी 2 श्रेणी में रखा गया है ।

उन्होंने बताया कि ईडब्ल्यूएस व एलआईजी श्रेणी को 6.50 प्रतिशत, एमआईजी 1 को 4% तथा एमआईजी 2 में 3% ब्याज अनुदान का लाभ दिया जाता है।  ईडब्ल्यूएस व एलआईजी श्रेणी वाले व्यक्तियों को 6 लाख तक, एमआईजी 1 को 9 लाख तक तथा एमआईजी 2 को 12 लाख तक का ऋण बैंक की अन्य शर्तो को पुरा करने पर दिया जाता है।

राहगीरी कार्यक्रम के सबसे सफल आयोजन के लिए ठोंकी गयी फरीदाबाद के अधिकारियों की पीठ

faridabad-top-district-in-haryana-in-rahgiri-program-by-manohar-sarkar

फरीदाबाद, 12 दिसंबर। राहगिरी का मुख्य उद्देश्य सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं व परियोजनाओं तथा नीतियों बारे एक-एक करके लोगों में अधिक से अधिक जागरूकता लाना है। राहगिरी में हर वर्ग के  अधिकाधिक लोगों की भागीदारी सुनिश्चित करें और इसका मीडिया के माध्यम से प्रचार भी किया जाए। ये निर्देश मुख्यमंत्री के विशेष अधिकारी एवं एडीजीपी ओपी सिंह ने बुधवार को  सभी जिलों के अधिकारियों के साथ आयोजित वीडियो कॉन्फ्रेंस के दौरान दिए। 

मुख्यमंत्री मनोहर लाल के विशेष अधिकारी एवं एडीजीपी ओपी सिंह ने गत एक दिसंबर को बल्लभगढ़ में आयोजित राहगीरी कार्यक्रम के प्रदेश भर में सबसे  सफल आयोजन के लिए प्रशासनिक व पुलिस के अधिकारियों और प्रतिभागियों को बधाई और शुभकामनाएं भी दी । 
  
उन्होंने कहा कि थीम के विषय से संंबंधित विभाग को भी राहगिरी कार्यक्रम में जरूर शामिल करके उस विषय पर मुख्य फोकस किया जाए। आगामी 15 दिसंबर को राहगिरी कार्यक्रम में उर्जा सरक्षण के प्रति जागरूकता कार्यक्रम आयोजित करवाए जाएं और इसमें हरियाणा बिजली वितरण निगम का सक्रिय सहयोग लिया जाए।
उन्होंने कहा कि राहगिरी कार्यक्रम में आर्ट एंड कल्चर गतिविधियों को भी बढ़ावा दिया जाए। इसमें प्रतिभागियों के लिए पेंटिंग प्रतियोगिता आदि का आयोजन करवाया जाए। उन्होंने राहगिरी में योग के साथ शारीरिक गतिविधियों को बढ़ावा देने की भी हिदायतें दी हैं। 
एडीजीपी ने कहा कि राहगिरी कार्यक्रम की पूर्व सूचना व कार्यक्रम उपरांत के समाचार व फोटो आदि सोशल मीडिया पर प्रसारित किए जाएं ताकि राहगिरी का संदेश अधिक से अधिक लोगों तक पहुंच सके। उन्होंने सोशल मीडिया,  फेसबुक, ट्वीटर व वट्सअप आदि के माध्यम से राहगिरी के फॉलोअर्स की संख्या को बढ़ाया जाएगा। 

ओपी सिंह ने  कहा कि इस समय हरियाणा में राहगिरी कार्यक्रम साकारात्मक दिशा में जा रहा है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल स्वयं राहगीरी की समीक्षा कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि  इसमें प्रतियोगिता के साथ-साथ सहयोग की भावना को बढ़ाना भी जरूरी है। जब आपसी सहयोग से लक्ष्य प्राप्त करने की दिशा में प्रयास किए जाते हैं, तो नागरिक समाज के उपयोगी अंग बनते हैं। उन्होंने कहा कि समस्याओं के समाधान की प्रवृति जीवन में सफलताओं के द्वार खोलती है।

पुलिस व प्रशासन के सभी विभागों के अधिकारी, कर्मचारी,  खिलाड़ी, विद्यार्थी, एनसीसी कैडेट व शहरवासी तथा नगर निगम व पंचायती राज संस्थाओं के प्रतिनिधि,समाज सेवी और समाजिक विकास के कार्य करने वाली संस्थाओं के प्रतिनिधियो को राहगीरी में  भागीदार बनाए। उन्होंने  प्रशासनिक व पुलिस के अधिकारियों को राहगीरी के भव्य आयोजन की तैयारियों के बारे में समीक्षा की और सुझाव सांझे किए ।

विडियो कान्फ्रेंस में फरीदाबाद के डीसीपी डॉ अर्पित जैन  ने  जिला में आगामी राहगीरी की तैयारियों  की जानकारी  मुख्यमंत्री के स्पेशल ऑफिसर को दी। उन्होंने बताया कि आगामी 15 दिसंबर को जिला के ग्रामीण क्षेत्र तिगावं में राहगीरी का आयोजन किया जाएगा। 

इसको लेकर प्रशासनिक अधिकारियों को  एसडीएम ने  विभिन्न विभागों के अधिकारियों  की  अलग-अलग कार्यों के लिए ड्यूटी लगाई हैं । उन्होंने कहा कि राहगीरी के माध्यम से  आम जनता में आपसी भाईचारे को बनाए रखने बारे अधिक से अधिक लोगों में जागरूकता  पहुंचाने के लिए बच्चे, बुढ्ढे और जवान,  खिलाडिय़ों व विद्यार्थियों का सहयोग लिया जाएगा। खेल विभाग व शिक्षा विभाग के अधिकारियों को विशेष दिशा-निर्देश दिए गए। पुलिस विभाग को राहगीरी बारे रूट पर वाहनों के आवागमन को डायवर्ट करने, नगर निगम के अधिकारियों को झंडे व पानी आदि की व्यवस्था करवाने, जनस्वास्थ्य अभियान्त्रिकी  विभाग को पानी के टैंकर उपलब्ध करवाने तथा स्वास्थ्य विभाग को एंबुलेंस व चिकित्सकों की ड्यूटी लगाने के निर्देश भी दिए गए। उन्होंने कहा कि राहगीरी में कालेज,उच्च शैक्षणिक संस्थानों के विद्यार्थियों के साथ - साथ स्कूलों के बच्चों को भी शामिल करके राहगीरी को और बेहतर बनाने का प्रयास किया जाएगा।

विडियो कान्फ्रेंस में डीसीपी डॉ अर्पित जैन , एसडीएम फरीदाबाद  अमित कुमार, सीटीएम श्रीमती बैलीना , एसीपी महेंद्र वर्मा, सहित अन्य विभागों के अधिकारी भी मौजूद थे।

पहली बार माँ बनने वाली महिलाओं को 5000 दे रही मोदी सरकार, लाभ पाने के लिए पूरी खबर पढ़ें

modi-sarkar-rs-5000-for-matritva-vandana-yojna-in-faridabad-india

फरीदाबाद, 12 दिसंबर। महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा संचालित प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना के तहत जिला स्तरीय सप्ताह मनाया गया है। उपायुक्त  ने कहा कि मातृत्व वंदना सप्ताह के अंतर्गत सभी आंगनवाड़ी केंद्रों पर विविध कार्यक्रमों का आयोजन किया गया है तथा साथ ही महिलाओं को इस योजना से जोडक़र उन्हें अधिक से अधिक लाभ प्रदान करने के प्रयास किए गए हैं।

जिला प्रशासन के प्रवक्ता ने बताया कि प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना के तहत पहली बार मां बनने वाली महिलाओं को 5000 रुपये की धनराशि प्रदान की जाती है। पंजीकरण कराने के साथ ही गर्भवती महिलाओ को प्रथम किश्त के रूप में 1000 रुपये दिए जाते हैं। प्रसव पूर्व कम से कम एक जांच पूर्ण होने पर दूसरी किस्त मेें 2000 रुपये और बच्चे के जन्म का पंजीकरण होने तथा बच्चे के प्रथम चक्र  का टीकाकरण पूरा होने पर तीसरी किश्त में 2000 रुपये दिए जाते हैं। 

उन्होंने बताया कि इस योजना के तहत भुगतान गर्भवती के बैंक खाते में ही किया जाता है। योजना का लाभ लेने के लिए गर्भवती महिलाएं अपने निकटतम प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, आंगनवाड़ी कार्यकता अथवा मुख्य चिकित्सा अधिकारी के कार्यालय में संपर्क कर सकती हैं। इस कार्यक्रम में प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना के तहत ज्यादा से ज्यादा फार्म फीड करने वाली आंगनवाड़ी वर्कर्स व सुपरवाईजर्स को पुरस्कृत किया जाएगा ।
           
कार्यक्रम में उन लाभार्थियों को प्रोत्साहित किया गया जिन्हें प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना स्कीम का लाभ मिल चुका है। इसके तहत उन्हें सेल्फी लेने व अपने अनुभव सबके साथ साझा करने का मौका दिया गया। लाभार्थियों ने योजना का लाभ मिलने पर खुशी जाहिर की तथा सरकार के प्रयासों की सराहना भी की। जागरूकता कार्यक्रमों में एड्स से संबंधित जानकारी देते हूुए बताया कि एड्स एचआईवी वायरस से फैलता है। उन्होंने बताया कि संक्रमित सुई का प्रयोग ना करने बारे जानकारी दी गई तथा एड्स को फैलने से रोकने के संबंध में भी विस्तार से समझाया गया।
       
जागरूकता कार्यक्रमों में महिलाओं को महिला हेल्पलाइन नं 181 के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई। उन्होंने बताया कि हेल्पलाइन नंबर के माध्यम से महिलाओं से संबंधित समस्याओं का उचित समाधान किया जाता है। उन्होंने कहा कि अगर आपको या आपके आस-पास किसी भी महिला को घरेलू हिंसा, यौन शौषण, दहेज उत्पीड़न, दुव्र्यहार इत्यादि की कोई समस्या हो तो आप हेल्पलाइन नं 181 पर फोन कर सकते हैं।

मेरी फसल मेरा ब्योरा पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन के लिए 31 दिसंबर तक मिलेंगे फॉर्म

meri-fasal-mera-byora-registration-31-december-2019-news

फरीदाबाद, 12 दिसंबर। मेरी फसल मेरा ब्यौरा योजना के तहत ई-खरीद पोर्टल पर किसानो की फसल के पंजीकरण का कार्य 31 दिसंबर 2019 तक किया जा रहा है। 

कृषि एवं किसान कल्याण विभाग के परियोजना अधिकारी डा दिनेश कुमार व अन्य अधिकारियों की टीम ने बुधवार को जिला के गांव शाहपुरा में किसानों को इस बारे जागरूक करके उनके साथ फसल बीमा योजना के सुझाव साझा किए।

उन्होंने बताया कि इस योजना का लाभ लेने के लिए किसानों को अपने आवश्यक दस्तावेज जैसे आधार कार्ड, बैंक पासबुक, मोबाइल नंबर, जमीन का खसरा नंबर, जमीन के मालिक का नाम आदि बताना होगा। 
डा.दिनेश ने बताया कि पंजीकरण उसी किसान के नाम से करवाएं जिसके नाम से मंडी में फसल बेचने के इच्छुक हो। मेरी फसल मेरा ब्यौरा का उद्देश्य किसानों का पंजीकरण, फसल का पंजीकरण और खेतों का ब्यौरा करवाना है। किसानों के लिए एक ही जगह पर सारी सरकारी सुविधाओं की उपलब्धता एवं समस्या निवारण के लिए एक अनूठा प्रयास है। कृषि संबंधि जानकारियां समय पर उपलब्ध कराना, खाद, बीज ऋण एवं कृषि उपकरणों की सब्सिडी समय पर उपलब्ध कराना, फसल की बिजाई-कटाई का समय और मंडी से संबंधित जानकारी उपलब्ध कराना, प्राकृतिक आपदा विपदा के दौरान सही समय पर सहायता दिलाना, पंजीकृत किसानों के लिए कृषक उपहार योजना के उपहारों का लाभ जैसे ट्रैक्टर-ट्रॉली, कृषि यंत्र जैसे हेप्पी सीडर, रोटावेटर, साइकल व अन्य उपहारों का लाभ दिलाना शामिल हैं। उन्होंने बताया कि पंजीकृत किसान मुख्यमंत्री किसान एवं खेतिहर मजदूर योजना के पात्र होंगे जैसे सांप के काटने, आसमानी बिजली से दुर्घटना, कुए की जहरीली गैस से दुर्घटना कृषि कार्य करते समय अंग भंग होना व मृत्यु होना। उन्होंने किसानों से आह्वान किया कि सभी किसान अपनी फसल का रिकार्ड इस पोर्टल के माध्यम से पंजीकृत कराएं ताकि भविष्य में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना व सरकार द्वारा फसल पर दिए जाने वाले मुआवजे में किसी प्रकार की असुविधा न हो। सभी किसान मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल पर अपनी फसल का पंजीकरण कराने हेतु अपने साथ आधार कार्ड, मोबाइल, जमाबंदी व बैंक की पासबुक लेकर नजदीकी कॉमन सर्विस सेंटर (सी.एस.सी.) तथा मार्किट कमेटी कार्यालय में संपर्क करें।

उन्होंने बताया कि  वर्तमान में गेहूं, जौ,चना, सरसों, सूरजमुखी आदि की पांच फसलों को  योजना के तहत कवर होंगी ।

इस योजना का लाभ लेने के लिए किसानों को अपनी फसल का निर्धारित समयावधि में पंजीकरण करवाना अनिवार्य है।

उन्होंने बताया कि  गेहूं का प्रीमियम 382.43 रूपये की धनराशि पर   25492.22 रूपये की धनराशि का बीमा, जौ का प्रीमियम प्रति एकड़  247.36 रूपये की धनराशि पर  16490.95  रूपये की धनराशि का बीमा, सरसों का प्रीमियम  233.71 रूपये की धनराशि पर 15580.41 रूपये की धनराशि का बीमा, चना की फसल पर 179.68 रूपये की धनराशि के प्रीमियम पर  11978.71 रूपये की धनराशि का बीमा और सूरजमुखी के  239.78 रूपये की धनराशि प्रति एकड़ के प्रीमियम पर 15985.10 रूपये की धनराशि का बीमा किया जाता है।  इससे कम दर पर बिकने की स्थिति में भाव के अंतर की भरपाई प्रदेश सरकार द्वारा की जाएगी। डॉ दिनेश ने बताया कि किसानों की फसलें प्राकृतिक आपदा से खराब हो जाने पर 72 घण्टे के अन्दर कृषि विभाग में जानकारी लिखित में देनी होती है। 

इसके अलावा उपमंडल अधिकारी (नागरिक) ,तहसीलदार और उप कृषि निदेशक कृषि एवं किसान कल्याण विभाग के अधिकारियों को भी लिखित में किसान फसल बीमा योजना के तहत शिरकत कर सकते हैं।

यहां करवा सकते हैं पंजीकरण:

उपायुक्त अतुल कुमार ने बताया कि योजना के तहत पंजीकरण करवाने के लिए फसल एचआरवाई डॉट इन पर लिंक उपलब्ध है। पंजीकरण केवल निर्धारित अवधि के दौरान ही खुला रहेगा। सर्व सेवा केंद्र, ई-दिशा केंद्र, मार्केटिंग बोर्ड, बागवानी विभाग, कृषि विभाग और इंटरनेट क्यिोस्क पर पंजीकरण सुविधा उपलब्ध हैै। उन्होंने बताया कि फसल बीमा योजना किसानो को उचित दाम दिलवाना सुनिश्चित करती है तथा यह योजना किसानों को फसल विविधिकरण की ओर प्रोत्साहित करने में एक सहायक कदम है।

 उन्होंने किसानों से आह्वान करते हुए बताया कि किसान इस संबंध में अधिक जानकारी के लिए जिला कृषि एवं किसान कल्याण विभाग, मार्केटिंग बोर्ड के जिला विपणन प्रवर्तन अधिकारी के कार्यालय से संपर्क कर सकते हैं।
 उन्होंने आगे बताया कि किसान टोल-फ्री हेल्पलाइन नंबर 1800-180-2060,1800-180-2117 पर फोन करके भी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। उन्होंने किसानों से आह्वान किया कि वे इस योजना के बारे में जानकारी प्राप्त करके इसके तहत अपनी फसल का पंजीकरण करवाएं और इस योजना का अधिक से अधिक लाभ प्राप्त करें।

अरावली चीरहरण पर LN पाराशर की याचिका का असर DC फरीदाबाद सहित कई अधिकारियों को SC से नोटिस जारी

advocate-ln-parashar-writ-petition-supreme-court-notice-faridabad-dc

फरीदाबाद: अरावली पर अवैध खनन और अवैध निर्माण को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने फरीदाबाद के डीसी सहित कई अधिकारियों को अदालत की अवमानना का नोटिस जारी किया है। कांत एन्क्लेव मामले के बाद बार एसोशिएशन के पूर्व प्रधान एवं न्यायिक सुधार संघर्ष समिति के प्रधान एडवोकेट एलएन पाराशर ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की थी और कहा था कि अरावली पर सुप्रीम कोर्ट के आदेशों की अब भी धज्जियां उड़ाई जा रही हैं जिसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने वकील पाराशर लिबर्टी दिया था कि सबूत सहित दुबारा याचिका फ़ाइल करें। 

इसके बाद वकील पाराशर ने सबूत सहित 13 अगस्त 2018 को फिर याचिका फ़ाइल की और इस याचिका ने उस समय के हरियाणा के मुख्य सचिव डीएस ढेसी, फरीदाबाद के जिला अधिकारी अतुल कुमार सहित वन और खनन विभाग के अधिकारियों को पार्टी बनाया था। वकील पाराशर ने बतौर सबूत सुप्रीम कोर्ट में कई अवैध खनन के वीडियो और तस्वीरें, खनन माफियाओं पर इस दौरान दर्ज कई एफआईआर के नंबर और अखबारों में प्रकाशित ख़बरों की कटिग को पेश किया था।  इस याचिका पर ऐक्शन लेते हुए सुप्रीम कोर्ट ने 9 दिसंबर को फरीदाबाद के डीसी अतुल कुमार सहित अन्य अधिकारियों को नोटिस जारी किया। 

वकील पाराशर ने बताया कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद कांत एन्क्लेव को जहां ढहाया गया वहीं अरावली के अन्य हिस्से पर अवैध निर्माण और अवैध खनन जारी थे। कान्त एन्क्लेव पर आये सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद भी आधा दर्जन से ज्यादा मामले अवैध खनन और अवैध निर्माण के दर्ज हुए जिससे साबित हुआ कि अरावली पर अब भी अवैध निर्माण और अवैध खनन जारी हैं। वकील पाराशर ने कहा कि मैंने जब कंटेम्प्ट याचिका फ़ाइल की तो पूरे सबूत पेश किये थे जिसके बाद अब सुप्रीम कोर्ट ने इस अधिकारियों को अदालत की अवमानना का नोटिस जारी किया है। 

वकील पाराशर ने कहा कि अरावली पर बिना  अधिकारियों की मिलीभगत के अवैध निर्माण और अवैध खनन नहीं किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद भी खाना माफियाओं ने अरावली के पहाड़ों से अरबों के पत्थर चुराए और अब भी कहीं-कहीं अवैध खनन जारी है। अवैध खनन से जहां अरावली के पहाड़ों को तवाह किया जा रहा है वहीं शहर को  प्रदूषित भी बनाया जा रहा है। पाराशर ने कहा कि आगे देखते हैं कि ये अधिकारी अब सुप्रीम कोर्ट को क्या जबाब देते हैं। उन्होंने कहा कि मैं कोर्ट से मांग करूंगा कि इन अधिकारियों को तुरंत बर्खाश्त किया जाए और इनसे जुर्माना वसूला जाना चाहिए।

महावतपुर गाँव में दलितों - राजपूतों के बीच झगड़ा ख़त्म, पुलिस ने दोनों पक्षों के बीच कराया समझौता

faridabad-mahawatpur-village-dalit-rajput-case-solve-by-police-compromise

फरीदाबाद: महावतपुर गाँव में दलितों और राजपूतों के बीच में झगडे में पुलिस ने ख़त्म करा दिया है। ACP BPTP  रतनदीप बाली और SHO भूपानी ने दोनों पक्षों की मीटिंग कराकर विवाद को सुलझा लिया और दोनों पक्षों में समझौता करा दिया, पुलिस ने गाँव वालों ने शांति और भाईचारा बनाये रखने की अपील की जिसपर दोनों पक्षों ने सहमति जताई।

mahawatpur-village-news-hindi

आपकी जानकारी के लिए बता दें की महावतपुर गाँव में बारात में DJ की वजह से दलितों और राजपूतों में कहासुनी हो गयी थी जिसके बाद दलित पक्ष ने राजपूत परिवार के कुछ लोगों पर SC/ST के तहत मामला दर्ज करवा दिया था, FIR दर्ज होने के बाद राजपूत पक्ष ने पुलिस कमिश्नर से मामले को ख़ारिज करने की अपील की थी. देखते ही देखते ये मामला तूल पकड़ने लगा ने पुलिस ने सही समय पर दोनों पक्षों में समझौता कराकर इसे सुलझा लिया और गाँव में फिर से भाई चारा कायम कर दिया।

36 बिरादरियों की पंचायत के माध्यम से पुलिस ने कराया निपटारा


आपको बताते चलें कि गांव महावतपुर में दलितों द्वारा बारात निकालने को लेकर दलित एवं गांव के प्रभावशाली व्यक्तियों के बीच विवाद उत्पन्न हो गया था। जिस पर थाना भूपानी में मुकदमा दर्ज करआरोपियों की गिरफ्तारी के लिए आगामी कार्यवाही शुरू कर दी गई थी।

गुरुवार रात को भूपानी पुलिस गांव महावतपुर में आरोपियों को गिरफ्तार करने गई तो पुलिस पर कई तरह के आरोप लगाए गए थे।

मामला तूल पकड़ने पर पुलिस आयुक्त केके राव ने एसीपी बीपीटीपी रतनदीप बाली एवं एसएचओ भूपानी इंस्पेक्टर कैलाश चंद को जल्द मामले को सुलझाने के दिशा निर्देश दिए थे।

जिस पर एसीपी रतनदीप बाली एवं एसएचओ कैलाश चंद ने मामले को सुलझाने के लिए दोनों पक्षों को साथ में बिठाकर मामला सुना।

एसीपी बीपीटीपी रतनदीप बाली ने दोनों पक्षों का मामला सुलझाने के लिए 36 बिरादरियों की बैठक बुलाने का फैसला किया।

एसीपी एवं एसएचओ की पहल पर 36 बिरादरियों की पंचायत के साथ दोनों पक्षों के मौजिज व्यक्तियों को शामिल किया गया।

एसीपी बीपीटीपी रतनदीप बाली ने पंचायत के सामने दोनों पक्षों के मामले को सुना एवं उसके बाद पंचायत से बातचीत कर दोनों पक्षों के मामले को सुलझाने में कामयाबी हासिल की।

एसीपी रतनदीप बाली ने बताया कि पुलिस एवं पंचायत के फैसले से दोनों पक्षों का आपस में निपटारा किया गया है।

एसीपी बीपीटीपी ने बताया कि दोनों पक्षों ने माना है कि उनकी कहीं ना कहीं गलती हुई थी जिससे यह विवाद उत्पन्न हुआ था।

रतन दीप बाली ने पंचायत में मौजूद सभी लोगों को कहा कि गांव में गांव समाज में इस तरह की घटना नहीं होनी चाहिए।

जैसे कि सभी जानते हैं गांव में विभिन्न धर्म एवं विभिन्न जाति के लोग रहते हैं।

हमें धर्म एवं जाति से ऊपर उठकर सोचना चाहिए, एक दूसरे की मदद करनी चाहिए। सबसे पहले इंसानियत को प्राथमिकता देनी चाहिए।

उन्होंने गांव महावतपुर के लोगों से अपील करते हुए कहा कि सभी भाईचारे से आपस में खुश रहें एक-दूसरे की मदद करें।

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि श्री रतनदीप बाली एसीपी बीपीटीपी ने बड़े ही सूझबूझ के साथ मामले को सुझाया है।

एबीवीपी ने नेहरू कालेज में नवनियुक्त प्रिंसिपल सुनिधि चौहान का किया स्वागत

nehru-college-principal-sunidhi-chauhan-welcom-by-abvp-faridabad

फरीदबाद: अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् (एबीवीपी) की पंडित जवाहरलाल नेहरू कॉलेज इकाई ने छात्र नेता पुनीत चौधरी के नेतृत्व में कॉलेज की नवनियुक्त प्रिंसिपल सुनिधि चौहान का फूलों का गुलदस्ता देकर उनका स्वागत किया। 

प्रिंसिपल सुनिधि चौहान ने अपने स्वागत के लिए एबीवीपी कार्यकर्ताओं सहित सभी विद्यार्थियों का धन्यवाद किया। इस मौके पर प्रिंसिपल सुनिधि चौहान जी ने कहा कि आप कॉलेज को प्रतिनिधित्व करते हो और अच्छे से संभालो।  

उन्होंने उन्होंने एबीवीपी कार्यकर्ताओं के साथ-साथ सभी विद्यार्थियों के उज्जवल भविष्य की कामना करते हुए सभी को आशीर्वाद दिया। छात्र नेता पुनीत चौधरी ने प्राचार्य को हर संभव रचनात्मक सहयोग देने का आश्वासन दिया है। 

इस मौके पर एबीवीपी कार्यकर्ताओं में नेहरू कॉलेज छात्र नेता पुनीत चौधरी, संजीव अत्री, साहिल राजपूत, मोहित शर्मा, आकाश शर्मा, निरज, दीपक, अख्तर अली, रनिश, समेत अनेक कार्यकर्ता मौजूद रहे।

फरीदाबाद में बढ़ता जा रहा चोरों का दुस्साहस, केनरा बैंक ATM तोड़कर निकाल लिए रुपये

hardware-bata-raod-canara-bank-atm-loot-police-started-investigation

फरीदाबाद: शहर में चोरों और लुटेरों का दुस्साहस बढ़ता जा रहा है, आज हार्डवेयर - बाटा रोड पर स्थित केनरा बैंक के ATM को तोड़कर उसमें रखे रुपये लूट लिए गए.

पुलिस ने घटनास्थल पर पहुंचकर जांच शुरू कर दी है लेकिन अभी  तक कोई जानकारी नहीं मिल पायी है. 

इसी प्रकार से पहले भी कई एटीएम में लूट हो चुकी है, पुलिस ने कई लुटेरों को गिरफ्तार भी किया था लेकिन चोरों के अंदर पुलिस-प्रशासन का भय नहीं है, अगर ऐसे लोगों के खिलाफ ठोस कार्यवाही हो तो ऐसे अपराध घटेंगे।

रेडियो स्टेशन के माध्यम से ACP धारणा यादव और रेनू भाटिया ने महिला अधिकारों के प्रति किया जागरूक

acp-dharna-yadav-renu-bhatia-aware-women-right-radio-station

फरीदाबाद: मानव अधिकार दिवस के अवसर पर एसीपी, महिला विरुद्ध अपराध धारणा यादव एवं महिला आयोग की मेंबर रेनू भाटिया ने महिलाओं को अधिकारों के प्रति किया जागरूक।

आज दिनांक 10 दिसंबर 2019 को एसीपी, क्राईम अगेंस्ट विमेन, धारणा यादव एवं महिला आयोग की मेंबर रेनू भाटिया ने मानव रचना रेडियो स्टेशन के माध्यम से महिलाओं को उनके अधिकारों के प्रति जागरूक किया है।

धारणा यादव एवं श्रीमती रेनू भाटिया ने कहा कि महिला चाहे किसी भी धर्म एवं जाति हो ग्रहणी हो या कामकाजी हो सभी के समान अधिकार होते हैं।

महिलाओं का सबसे पहला अधिकार होता है समानता का अधिकार। सभी के घरों में महिलाएं होती है। पुरुषों को घर में महिलाओं का आदर सम्मान करना चाहिए। महिलाओं को पुरुषों के समान समझना चाहिए।

उन्होंने कहा कि बहुत ऐसी महिलाएं हैं जिनको अपने अधिकारों के बारे में पता नहीं है।

महिला सुरक्षा पर बात करते हुए एसीपी धारणा यादव ने कहा कि पुलिस ने महिला सुरक्षा के लिए काफी ऑनलाइन सर्विस शुरू की हुई है।

अगर महिला चाहे तो फरीदाबाद पुलिस की वेबसाइट, फेसबुक, ट्विटर, व्हाट्सएप, के माध्यम से भी पुलिस तक पहुंच सकते हैं।

उन्होंने कहा कि आज के दौर में पुलिस तक पहुंचना बहुत आसान हो गया है। फरीदाबाद पुलिस रोजाना 11 से 12 एक घंटे खुला दरबार लगाती है।

जिसमें कोई भी अपनी परेशानी को पुलिस के सामने रख सकता है।

उन्होंने फरीदाबाद की सभी महिलाओं को कहां की आपके एरिया में आने वाले थाने के एसएचओ के मोबाइल नंबर एवं महिला हेल्पलाइन नंबर अपने मोबाइल में अवश्य रखें। मुसीबत आने पर तुरंत डायल करें।

उन्होंने कहा कि महिलाओं के ऊपर कोई भी मुसीबत आने पर महिलाएं समझ नहीं पाती कि उन्हें क्या करना चाहिए। ऐसे मौके पर आपके मोबाइल में सेव मोबाइल नंबर आपके काम आते हैं।

धारणा यादव ने बताया कि महिलाओं को ऐसे एरिया के बारे में पुलिस को बताना चाहिए जहां पुलिस पेट्रोलिंग की ज्यादा जरूरत है। हम वहां पर पुलिस की पेट्रोलिंग बढ़ाएंगे।

उन्होंने कहा कि अगर किसी भी महिला के साथ कुछ होता है तो सबसे पहले वहां से निकलने का प्रयास करें।

उन्होंने कहा कि जिस भी व्यक्ति ने महिला के साथ गलत हरकत करने की कोशिश की है वह किस गाड़ी में था एवं बाइक से था या पैदल था उसका क्या हुलिया था। उसके शरीर पर कोई निशान था, गाड़ी एवं बाइक का नंबर क्या था यह सब ध्यान रखना चाहिए।

ताकि पुलिस आसानी से आरोपी तक पहुंच सके और उसे सलाखों के पीछे भेज सकें।

धारणा यादव ने कहा कि कई बार महिलाएं ऐसे स्थान पर होती है जहां उन्हें एरिया का ज्ञान नहीं होता है अगर ऐसी जगह आपके साथ कोई गलत हरकत करने की कोशिश करता है तो जोर जोर से चिल्लाए ताकि आपके आसपास लोग इकट्ठा हो सके और ऐसे व्यक्ति को तुरंत दबोचा जा सके।

उन्होंने कहा कि फरीदाबाद पुलिस 24 घंटे आपकी सुरक्षा में तैनात है। फरीदाबाद पुलिस ने 24 घंटे नाकेबंदी शुरू की हुई है जिसके मद्देनजर कोई भी आरोपी पुलिस से बचकर नहीं निकल सकता है।

उन्होंने फरीदाबाद शहर की सभी महिलाओं से अपील की है कि पब्लिक प्लेस पर सतर्क रहें।

अक्सर देखने में आता है कि महिला बस में बैठकर कानों में लीड लगाकर फोन देखने लग जाती है उनको यह भी नहीं पता होता कि उनके बगल वाली सीट पर कौन बैठा है।

कानों में लीड लगाकर रोड पर चलना घातक सिद्ध हो रहा है उनको यह नहीं पता होता कि उनके पास से कोई गाड़ी एवं बाइक गुजर रही है।

अतः मेरा सभी से निवेदन है कि पब्लिक प्लेस पर अपनी आंख, कान को खुला रखें। आपके पास हो रही गतिविधियों पर ध्यान रखें।

उन्होंने कहा कि पब्लिक प्लेस पर हम कई बार इतना बिजी हो जाते हैं कि हमें यह पता नहीं होता कि कौन व्यक्ति हमें रोजाना observe कर रहा है।

उन्होंने कहा कि महिलाएं किसी भी तरह का उत्पीड़न सहन ना करें, इस बारे में तुरंत पुलिस को बताए। फरीदाबाद पुलिस महिला विरुद्ध अपराध के प्रति सजग है।

फरीदाबाद कोर्ट में 14 दिसम्बर को राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन: मोना सिंह

faridabad-court-rashtrya-loke-adalat-14-december-2019-news

फरीदाबाद, 10 दिसंबर। मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट एवं जिला विधिक सेवाएं प्राधिकरण की सचिव मोना सिंह ने बताया कि स्थानीय अदालत में आगामी 14 दिसम्बर को राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया जाएगा। 

इस राष्ट्रीय लोक अदालत में बैंकर चेक बाउंस के नेगोशिएबल इंस्ट्रूमेंट एक्ट के सैक्शन 138 , बैंक रिकवरी, लेबर डिस्प्यूट केसों, बिजली व पानी के बिल सम्बंधित केसों, मैट्रीमोनियल डिस्प्यूट, क्रिमिनल कम्पाउंडेबल ऑफेसं,एमएसीटी केसिज,भूमि अधिग्रहण, सर्विस के वेतन तथा भत्तों से सम्बंधित, राजस्व विभाग के केसों सहित अन्य सिविल केसों के अलावा आपसी सहमति से हल होने वाले केसों की सुनवाई की जाएगी। 

मोना सिंह ने बताया कि लोक अदालत में सुनाए गए फैसले का भी सामान्य अदालत के फैसले के बराबर महत्व होता है और लोक अदालत के फैसले के खिलाफ देश के किसी भी न्यायालय में अपील दायर नहीं की जा सकती है। चीफ ज्यूडिशल मजिस्ट्रेट ने उन सभी लोगों से अपने केस लोक अदालत में लगवाने की अपील की है जिनके केस जिला की विभिन्न अदालतों में विचाराधीन है। 

उन्होंने कहा कि लोक अदालत में अपने केस रखवा कर न्यायालय और कोर्ट कचहरी के चक्कर से मुक्ति पाएं।

15 दिसंबर को तिगांव में होगा राहगिरी कार्यक्रम, पढ़ें क्या होगा ख़ास

tigaon-rahgiri-program-15-december-in-faridabad-police-informed

फरीदाबाद,9 दिसम्बर। सरकार के दिशा-निर्देश अनुसार उपायुक्त अतुल कुमार द्विवेदी के मार्ग दर्शन में  जिला में अगली राहगीरी का आयोजन 15 दिसम्बर को  किया जाएगा। इसके लिए प्रशासनिक व पुलिस के अधिकारियों को दिशा-निर्देश दिए गए हैं ।

सोमवार को दोपहर बाद तीन बजे लघु सचिवालय के बैठक कक्ष में डीसीपी डॉ अर्पित जैन, एसडीएम फरीदाबाद अमित कुमार, एसीपी महेंद्र सिंह वर्मा तथा पुलिस और प्रशासनिक  एचएसवीपी,एमसीएफ,जिला  समाज कल्याण,जिला कल्याण,शिक्षा, स्वास्थ्य, खेल एवं युवा कार्यक्रम, जिला विकास एवं पंचायत विभाग, कृषि एवं किसान कल्याण विभाग,कृषि विपणन बोर्ड, उद्योग, महिला एवं बाल विकास विभाग, दक्षिणी हरियाणा बिजली वितरण निगम, बाल सरक्षण ,नेहरू युवा केंद्र सहित राहगीरी से जुड़े विभिन्न विभागों के अधिकारी तथा इण्डियन आयल, वाईएमसीए, मानव रचना  विश्व विद्यालय और विभिन्न समाज सेवी संस्थाओं के प्रतिनिधि उपस्थित रहे ।

बैठक को संबोधित करते हुए एसडीएम फरीदाबाद अमित कुमार ने कहा कि राहगीरी के लिए जिन विभागों को जो भी जिम्मेदारी मिले उसे निर्धारित समय पर पहले से और बेहतर  पूरा करें। उन्होंने बताया कि 15 दिसंबर को राहगीरी कार्यक्रम का आयोजन फरीदाबाद पुलिस एवं जिला प्रशासन फरीदाबाद के द्वारा तिगावं विधानसभा में किया जा रहा है। राहगीरी का मुख्य थीम उर्जा सरक्षण रहेगा। इसके लिए उर्जा को बढ़ावा देने और उसके सरक्षण बारे लोगों मे अधिक से अधिक जागरूकता लाने का काम करें ।

उन्होंने आमजन से कहा कि वे अपने अपने परिवार के साथ साथ एवं दोस्तों के साथ इस राहगीरी कार्यक्रम में पहुंचकर स्वास्थ लाभ के साथ मनोरंजन प्रोग्रामों का भी आनंद अवश्य ले।

डीसीपी डॉ अर्पित जैन ने बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि सरकार द्वारा राहगीरी का संचालन पुलिस व प्रशासन के अधिकारी व कर्मचारी तथा आम जन एक साथ रविवार को छुट्टी के दिन सुबह-सुबह इक्कठा हो कर आपसी बेहतर तालमेल से सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं व परियोजनाओं तथा नीतियों के क्रियान्वयन के लिए साझा कार्यक्रम हर्ष और उल्लास के साथ आपसी विचार विमर्श करना।

राहगीरी में मुख्य गतिविधियां:

भंगड़ा ,सड़क सुरक्षा ,दुर्गा शक्ति  , योगा, जुम्बा, नुक्कड़ नाटक, सांस्कृतिक कार्यक्रम सहित साइकिलिग आदि के कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। साइकिलिग के लिए अपने साथ साईकिल साथ लेकर आये और साइकिलिंग के साथ खेलों का मजा लें।

राहगीरी में पूरे फरीदाबाद के सभी निवासी इसमें सादर आमंत्रित हैं। राहगीरी प्रातः  7.00 बजे से 9  बजे तक आयोजित की जाएगी।

फोटो कैप्शन- डीसीपी डॉ अर्पित जैन तथा एसडीएम अमित कुमार बैठक को संबोधित करते हुए तथा बैठक में उपस्थित अधिकारी और प्रतिनिधि गण।

भ्रष्ट अफसरों की वजह से अरावली के फार्म हॉउसों मे भी हो सकता है दिल्ली जैसा अग्निकांड: LN पराशर

advocate-ln-parashar-warn-faridabad-administration-aravali-farm-house

फरीदाबाद: फरीदाबाद-सूरजकुंड रोड पर आये दिनों कई-कई घंटे का जाम लग जाता है और अगर दिल्ली जैसा हादसा किसी फ़ार्म हाउस में हो गया तो फ़ार्म हाउस में मौजूद सैकड़ों लोगों को भगवान् ही बचा सकता है।क्यू कि समय से फायर फ्रिगेड शायद ही घटना स्थल पर पहुँच सके। ये कहना है बार एसोशिएशन के पूर्व प्रधान एवं न्यायिक सुधार संघर्ष समिति के प्रधान एडवोकेट एलएन पाराशर का जिन्होंने एक प्रेस विज्ञप्ति के माधयम से फरीदाबाद प्रशाशन से कई सवाल पूंछा है। 

पाराशर का सवाल है कि कई वर्षों से फरीदाबाद-सूरजकुंड रोड पर बने 100 से ज्यादा अवैध फ़ार्म हाउसों पर निगम कार्यवाही की बात करता है लेकिन अब तक कोई कार्यवाही क्यू नहीं हुई? पाराशर के मुताबिक़ निगम में जब भी कोई नया निगम कमिश्नर आता है उसका बयान आता है कि अरावली क्षेत्र में 140 फ़ार्म हाउस ढहाए जाएंगे लेकिन आगे कोई कार्यवाही नहीं की जाती। पाराशर का कहना है कि शायद फ़ार्म हाउस मालिकों को डराने के लिए ऐसे बयान दिए जाते हैं ताकि फ़ार्म हाउस मालिकों से मोटा चढ़ावा मिल सके। 

पाराशर ने कहा कि फरीदाबाद-सूरजकुंड रोड पर कई  फ़ार्म हाउस ऐसे हैं जिनमे पार्किंग की कोई सुविधा नहीं है और ये  शादी-पार्टियों के लिए कई-कई लाख लेते हैं और सड़क पर पार्किंग करवाते हैं जिस कारण भारी जाम लग जाता है क्यू कि कई फार्म हाउस के बाहर हजारों की संख्या में वाहन सड़क पर खड़े कर दिए जाते हैं। 

पाराशर ने कहा कि आग लगने की एक घटना एक फ़ार्म हाउस में हो चुकी है लेकिन वो घटना दिन में हुई थी इसलिए जानमाल का कोई नुकशान नहीं हुआ। उन्होंने कहा कि मई 2018 में जन्नत वैली में आग लगी थी और करोड़ों का नुक्सान हुआ था और इस साल भी मई में एक फ़ार्म हाउस में आग लगी थी। 

पाराशर ने कहा कि फरीदाबाद-सूरजकुंड रोड पर स्थित अवैध फ़ार्म हाउसों में बुकिंग कराने वाले हजारों लोगों की जान खतरे में डाल रहे हैं और फरीदाबाद प्रशासन चुपचाप तमाशा देख रहा है। उन्होंने कहा कि दिल्ली जैसी घटना कभी किसी फ़ार्म हाउस में हो जाएगी तभी प्रशासन नींद से जागेगा। उन्होंने कहा कि कभी यहाँ कोई हादसा होगा तो फरीदाबाद प्रशासन ही जिम्मेदार होगा। उन्होंने कहा कि मैं गृह मंत्री अनिल विज को पत्र लिख रहा हूँ और उनसे मांग करूंगा कि तुरंत सभी अवैध फ़ार्म हाउसों पर कार्यवाही की जाए। पाराशर ने कहा कि अब भी कई अवैध फ़ार्म हाउसों का निर्माण हो रहा है तो इसमें सम्बंधित अधिकारीयों की  मिलीभगत है। 

CM ने किया एंटी-करप्शन सेल के गठन का ऐलान, शिकायत के लिए व्हाट्सप्प और विशेष फोन नंबर होगा जारी

bad-news-for-corrupt-officer-in-haryana-anti-corruption-cell-by-cm-khattar

फरीदाबाद: भ्रष्टाचार में हरियाणा को नंबर वन कहा जाता है लेकिन अब भ्रष्टाचारियों और रिश्वतखोरों के बुरे दिन आ सकते हैं, हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने एंटी करप्शन सेल के गठन का ऐलान किया है जिसके लिए व्हाट्सप्प 9417891064 पर कोई भी व्यक्ति करप्शन की  शिकायत भेज सकता है.

शिकायत के साथ वीडियो या ऑडियो क्लिप भी भेजनी होगी ताकि विभाग के लोग आसानी से कार्यवाही कर सकतें, सहायता के लिए एक हेल्प लाईन नंबर 1064 (टोल फ्री नंबर) जारी किया जाएगा।

इसके अलावा ट्विटर पर भी भ्रस्टाचार की शिकायत की जा सकेगी। इन शिकायतों में  जो शिकायत सत्य मिलेगा़ी उन सभी को पब्लिक किया जाएगा, वरना जानकारी गुप्त रखी जाएगी। अगर शिकायतकर्ता की  एक से ज्यादा शिकायत सत्य मिलती है तो उनको सम्मानित किया जाएगा।

फरीदाबाद के युवाओं ने की "यूथ अगेंस्ट रेप' मुहीम की शुरुआत, सेक्टर-16 में निकाला प्रदर्शन मार्च

youth-against-rape-in-faridabad-started-by-youth-news

फरीदाबाद, 9 दिसंबर: फरीदाबाद में "यूथ अगेंस्ट रेप" नामक एक मुहिम की शुरुआत की गयी है। इस मुहिम का मुख्य लक्ष्य देश के युवा पीड़ी को एकजुट कर समाज से बलात्कार जैसी बीमारी को समाप्त करना है। इसके लिए इंस्टाग्राम , ट्विटर और टेलीग्राम के माध्यम से देश की युवा पीड़ी को एकजुट कर विभिन्न राज्यो में अलग अलग टीमें  बनाई गई.

इस मुहिम में साक्षी का साथ 15 से 25 साल के युवा दे रहे है, जो अपने देश को बलात्कार और बलात्कार के झूठे आरोप लगाकर मासूमों को फसाने वालो से आज़ाद करना चाहते है। 

इस टीम की खासियत यह है कि ये लोग अपनी  पढ़ाई और नोकरी छोड़ कर, खाने ओर रहने की व्यवस्था के बारे में सोचे बिना देश सेवा करने निकले है। 

इसी मुद्दे को लेकर 8 दिसंबर को "यूथ अगेंस्ट रेप" के    हरियाणा टीम अध्यक्ष साक्षी के साथ मोनिका, वैशाली, प्रज्ञा, स्पर्श, अंकित, भावुक और अन्य सदस्यों ने एक साइलेंट प्रोटेस्ट का आयोजन किया sector 16 Faridabad me  जिसमें उन्होंने मुंह पर कपड़ा बांध कर पोस्टर लेकर जनता को रोज़ होने वाले रेप और झूठे रेप के इल्जामों के बारे में जगुरक किया। उन्होंने प्रधान मंत्री ऑफिस को भारी मात्रा में पत्र भी लिखें जिसमें "यूथ अगेंस्ट रेप" की तरफ से 8 मांगे हैं।

1. रेप के दोषियों को फांसी की सज़ा दी जाए।
2. झूठे रेप के आरोप लगाने वालों को कम से कम 14 वर्ष की सज़ा दी जानी चाहिए।
3. स्कूलों में एक्सपर्ट्स द्वारा सेक्स एजुकेशन।
4. रेप के केस को फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलना चाहिए।
5. रेप पीड़ितों और गवाहों को सुरक्षा दी जाने चाहिए।
6. हर शहर में "फोरेंसिक लैब" होने चाहिए।
7. रेप के अपराधियों के लिए राष्ट्रपति दया शासन नहीं होना चाहिए।
8. रेप अपराधियों के बचे हुए सभी 64 को फांसी की साझा का क्रियान्वयन होना चाहिए।

गीता जयंती कार्यक्रम का समापन, मंत्री कृष्णपाल गुर्जर ने गीता उपदेश को बताया जीवन का सार

minister-krishan-pal-gurjar-visit-geeta-jayanti-program-faridabad-end

फरीदाबाद , 8  दिसम्बर -  केन्द्रीय सामजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्य मंत्री कृष्ण पाल गुर्जर  ने  आज कला व आस्था के संगम गीता महोत्सव के फरीदाबाद में आयोजित तीन दिवसीय जिला स्तरीय समारोह के अंतिम दिन समापन समारोह में मुख्य अतिथि के तौर पर शिरकत की। उन्होंने गीता महोत्सव में लगाई गई प्रदर्शनी का अवलोकन किया और विभिन्न धार्मिक व स्वयंसेवी संस्थाओं तथा सरकारी विभागों द्वारा लगाए गए स्टाॅलों में खासी रूचि दिखाई।

अपने संदेश में केंद्रीय मंत्री ने कहा कि श्रीमद्भगवतगीता की शिक्षाएं जन-जन तक पहुंचाने के उद्देश्य से पूरे प्रदेश में गीता महोत्सव आयोजित किए गए  हैं। उन्होंने कहा कि हरियाणा की भूमि धर्म की भूमि है, जहां पर स्वयं भगवान ने सम्पूर्ण मानवता को अपना दिव्य सन्देश दिया था। उन्होंने कहा कि गीता एक ऐसा ग्रंथ है जिसका संदेश विश्वव्यापी है। उसका अधिक से अधिक प्रचार प्रसार किया जाना आवश्यक है। उन्होंने कहा कि हमारे जीवन की चुनौतियों को हल करने की क्षमता गीता में है, इसके लिए इसकी शिक्षाओं को लोगों के बीच पहुंचाना जरूरी है।  केन्द्रीय राज्य मंत्री  गुर्जर  ने कहा कि  गीता केवल धार्मिक ग्रंथ ही नहीं बल्कि मानव जीवन के उचित जीने की शैली है और पूरी मानवता को कर्म करने का संदेश देती है। गीता के पवित्र ग्रंथ से हमें  प्रेरणा मिलती है। गीता  उपदेशों को अपने जीवन में धारण करना चाहिए। 
केन्द्रीय राज्य मंत्री ने जिला वासियों  को 5156वीं गीता जयंती की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि आज से ठीक 5155 वर्ष पूर्व कुरुक्षेत्र की ही धरा पर भगवान श्रीकृष्ण ने अर्जुन के माध्यम से   पूरी मानवता को कर्म करने का संदेश दिया था। यह भारत की स्मृद्ध संस्कृति का प्रतीक है और गीता के उपदेश हर समय और हर काम के लिए आज भी प्रासंगिक है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अग्रेंजी अनुवाद वाली पवित्र ग्रंथ गीता अमेरिका के तत्कालीन राष्ट्रपति बराक ओबामा, जापान के प्रधानमंत्री और जापान के सम्राट को भेंट की थी। इतना ही नहीं पवित्र ग्रंथ गीता का जो संदेश भारत की भूमि से पूरी दुनिया को मिल रहा है, वह संदेश किसी और भूमि से नहीं दिया जा सकता है। हरियाणा में मुख्यमंत्री मनोहर लाल जी के नेतृत्व में सरकार पिछले चार  वर्षों से लगातार जिला स्तर पर गीता जयंती महोत्सव आयोजित करके प्रदेश की जनता में  गीता के ज्ञान का प्रचार प्रसार कर रही  है। प्रदेश की जनता और समाज सेवी संस्थाए भी गीता जयंती महोत्सव में बेहतर योगदान दे रहीं हैं। हरियाणा का सौभाग्य है कि कुरुक्षेत्र की पावन धरा पर पवित्र ग्रंथ गीता का उदगम हुआ।उन्होंने कहा कि हमे निरंतर अपना कर्म करना चाहिए, जिसका फल हमे स्वतः ही मिलेगा। 

उन्होंने कहा कि आवश्यकताओं की पूर्ति कर्म से होती है लेकिन लालसाएं कभी पूरी नही होती जिससे दुखः आता है। उन्होंने कहा कि गीता हमें आवश्यकताओं व लालसाओं के बीच  संतुलन करना सिखाती है। उन्होंने ‘कर्मणये वाधिकारस्ते मां फलेषु कदाचनः‘ का मूल मंत्र याद रखने की नसीहत देते हुए कहा कि यदि हम इस श्लोक को भी याद रख लेंगे और उसी के अनुरूप आगे बढ़ते रहेंगे तो जीवन में कभी दुखः नही आएगा इसलिए हरियाणा सरकार का प्रयास है कि गीता के इस  ज्ञान का प्रचार प्रसार समाज के प्रत्येक परिवार तक पहुंचाया जाए। उन्होंने जीवन में  गीता के महत्व पर प्रकाश डाला। 

इससे पहले उन्होंने  दीप प्रज्जवलित करके विधिवत रुप से सास्कृतिक कार्यक्रम  का शुभारम्भ किया। कार्यक्रम में  प्रशासन की तरफ से केन्द्रीय राज्य मंत्री कृष्ण पाल गुर्जर को स्मृति चिन्ह भेंटकर सम्मानित किया गया। उन्होंने  समापन समारोह में  तीन दिवसीय गीता जयंती महोत्सव के सेमिनार, प्रदर्शनी और सास्कृतिक कार्यक्रमों में बेहतर कार्य करने पर प्रतिभागियों को समृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया। 

उपायुक्त अतुल कुमार ने  केन्द्रीय राज्य मंत्री कृष्ण पाल गुर्जर का गीता जयंती महोत्सव के समापन अवसर पर बतौर मुख्य अतिथि शिरकत करने गर्म जोशी से प्रशासनिक व पुलिस के अधिकारियों के साथ स्वागत किया।

इस अवसर पर उपायुक्त अतुल कुमार, एसडीएम फरीदाबाद अमित कुमार, एसडीएम बल्लभगढ़ त्रिलोक चंद, सीटीएम श्रीमती बैलीना, विभिन्न समाज सेवी संस्थाओं के प्रतिनिधि तथा गणमान्य नागरिकों सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित थे। 

सीमा त्रिखा ने SkynRx Clinic का किया उद्घाटन, डॉ इशिता कपूर करेंगी स्किन/हेयर बीमारियों का इलाज

badkhal-mla-seema-trikha-inaugurate-skynrx-clinic-rk-hospital-news

फरीदाबाद, 8 दिसंबर। बड़खल की विधायिका सीमा त्रिखा ने आरके हॉस्पिटल में SkynRx Clinic का उद्घाटन करके क्लिनिक संचालक डॉ इशिता कपूर को बधाई एवं शुभकामनाएं दीं। सीमा त्रिखा ने कहा की भारत की महिलाएं हर क्षेत्र में अपना परचम लहरा रही हैं। डॉ इशिता कपूर ने यह क्लिनिक खोलकर त्वचा से सम्बंधित रोगों के इलाज की शुरुआत की है, यह महिला शशक्तिकरण का एक बढ़िया उदाहरण है, मैं चाहती हूँ कि वह और आगे बढ़ें और तरक्की करें। उन्होंने कहा कि फरीदाबाद जैसे शहर में ऐसे क्लिनिक की बहुत जरूरत है। 

सीमा त्रिखा ने महिला शशक्तिकरण पर बोलते हुए कहा की महिलाएं हमेशा से शशक्त रही हैं लेकिन बीच बीच में राक्षस प्रवित्ति के लोग कहीं कहीं टकरा जाते हैं, हमें मिलकर समाज को सुधारना है ताकि हर बेटी सुरक्षित रहे और आगे बढ़े। 
seema-trikha-news

क्लिनिक संचालक डॉ इशिता ने कहा कि मैं ज्यादा से ज्यादा लोगों को ठीक करना चाहती हूँ, मैं अंदर से भी और बाहर से भी स्किन की सभी समस्याओं को ठीक करती हूँ, चाहें इन्फेक्शन्स हो, पिम्पल्स की दिक्कत हो या बाल झड़ने की समस्या हो या कास्मेटिक से जुडी समस्याएँ हो, मैं सभी समस्याओं को ठीक करती हूँ। 

dr-rakesh-kapoor

डॉ इशिता कपूर ने बताया कि हमारे क्लिनिक में कई सुविधाएं हैं, सारे तरह के लेजर हैं, लेजर हेयर रिमूवल है, पिगमेंटेशन के लिए लेजर है, वार्ट्स/मोल रिमूवल के लिए लेजर है, स्किन टोनिंग और रिंकल्स मिटाने के लिए लेजर है, फेशियल के लिए लेजर है। उन्होंने बताया कि NIT विधानसभा क्षेत्र में यह पहला ऐसा क्लिनिक है जिसमें ऐसी सुविधाएं हैं। उन्होंने फरीदाबाद की जनता से अपील करते हुए कहा कि स्किन और हेयर से सम्बंधित सभी समस्याओं के समाधान के लिए आरके हॉस्पिटल फर्स्ट फ्लोर SkynRx Clinic,  3C/ 59, B.P. NIT-3, ईएसआई चौक में जरूर आएं। 

skynrx-clinic

इस मौके पर उद्योगपति राजीव चावला, डॉ राकेश कपूर, डॉ पुनीता हसीजा प्रेसिडेंट IMA फरीदाबाद, डॉ सुरेश अरोड़ा, डॉ रवि विमल (नोडल ऑफिसर, हरियाणा आयुष्मान भारत योजना), डॉ आर  एन रस्तोगी, डॉ ललिता हसीजा, डॉ नरेश जिंदल, डॉ दिनेश गुप्ता, डॉ विनोद कौशिक, डॉ यावर रशीद और अन्य लोग मौजूद थे। 

विधायिका सीमा त्रिखा की सास को श्रद्धांजलि देने पहुंचे CM खट्टर और केंद्रीय मंत्री KPG

cm-manohar-lal-khattar-minister-krishan-pal-gurjra-seema-trikha-home

फरीदाबाद, 7 दिसम्बर। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल शनिवार प्रातः बड़खल की विधायक सीमा त्रिखा की सास श्रीमती सुशीला त्रिखा के निधन पर शोक जताने उनके घर पहुंचे। मुख्यमंत्री ने स्वर्गीय श्रीमती सुशीला त्रिखा के चित्र पर फूल चढ़ाकर उन्हें श्रद्धा सुमन अर्पित किए और शोक संतप्त परिवार को ढांढस बंधाया। 

स्वर्गीय श्रीमती सुशीला त्रिखा की आयु लगभग 77 वर्ष थी और वे पिछले कुछ समय से बीमार चल रही थी।  वे अपने पीछे भरा पूरा परिवार छोड़ गई हैं।

मुख्यमंत्री के आने के समय विधायक सीमा त्रिखा के निवास पर उनके पति अश्वनी त्रिखा, देवर अतुल त्रिखा, जेठ दीपक त्रिखा, भाई मोहित मल्होत्रा, बहन प्रिया बब्बर के अलावा आनंद कांत भाटिया भी थे।

शोक व्यक्त करने वालों में केन्द्रीय राज्य मंत्री कृष्ण पाल गुर्जर, हरियाणा के कैबिनेट मंत्री मूलचंद शर्मा, विधायक नरेन्द्र गुप्ता, मुख्य मंत्री के राजनीतिक सलाहकार अजय गौड, भाजपा प्रवक्ता राजीव जेटली, मेयर सुमन बाला, उपायुक्त अतुल कुमार, एमसीएफ कमिश्नर श्रीमती सोनल गोयल, ज्ञानचंद आहुजा , श्याम सुन्दर कपूर सहित कई समाज सेवी संस्थाओं के प्रतिनिधि के प्रतिनिधि उपस्थित थे।

8 दिसंबर को डॉ इशिता कपूर के SkynRx Clinic का उद्घाटन करेंगी विधायक सीमा त्रिखा

dr-ishita-kapoor-skynrx-clinic-inaugurate-by-seema-trikha-mla

फरीदाबाद, 7 दिसंबर: बड़खल की विधायिका सीमा त्रिखा 8 दिसंबर को आरके हॉस्पिटल में SkynRx Clinic का उद्घाटन करेंगी, इस मौके पर चिकित्सा क्षेत्र के कई दिग्गजों सहित सैकड़ों लोग मौजूद रहेंगे। 

SkynRx Clinic का संचालन डॉ राकेश कपूर की बेटी डॉ इशिता कपूर कर रही हैं, वह कई वर्षों से स्किन और डर्मेटोलॉजी से सम्बंधित बीमारियों का इलाज कर रही हैं, अब उन्होंने एक बड़ा क्लिनिक शुरू करने का फैसला किया है जिसमें विशेष सुविधाएं दी जाएंगी।

डॉ इशिता कपूर ने बताया कि SkynRx Clinic का उद्घाटन करीब 12 बजे किया जाएगा।

विशेषज्ञों ने श्रीमदभागवत गीता के विभिन्न पहलुओं से शिक्षक वर्ग को कराया अवगत

geeta-jayanti-samaroh-in-faridabad-news

फरीदाबाद, 6 दिसंबर। जिला स्तरीय गीता जयंती महोत्सव के  अवसर पर दोपहर बाद सैक्टर-12 के कन्वेंशन हाल में  गीता के बौद्धिक दर्शन पर आयोजित संगोष्ठी में विशेषज्ञों ने श्रीमदभागवत गीता के विभिन्न पहलुओं से शिक्षक वर्ग को अवगत कराया। सेमिनार जिला शिक्षा अधिकारी सतिन्दर कौर वर्मा की अध्यक्षता में आयोजित किया गया। 

इसमें हिन्दी लेक्चरर बृजेश ने गीता के कर्म योग पर, लेक्चरर श्री रूपकिशोर ने गीता सार की विशेषताओ और लेक्चरर डाक्टर रूद्रदत्त ने गीता मे अलौकिक चिन्तन पर विस्तार पूर्वक प्रकाश डाला ।सेमिनार में गीता के बौद्धिक दर्शन पर चर्चा  हुई । 

गीता महोत्सव के पहले दिन के आयोजन में दोपहर तीन से चार बजे गीता के बौद्धिक दर्शन पर चर्चा हुई। शिक्षकों ने गीता आधारित थीम के साथ विस्तार से सेमिनार में विचार रखे।

लेक्चरर बृजेश ने गीता के कर्म योग पर बोलते हुए कहा कि प्रत्येक समाज और राष्ट्र की उन्नति का आधार  गीता है। उन्होंने बताया कि मार्गशीष मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी  ऐसी पावन तिथि है जो पूरी दुनिया में वंदनीय तिथि बन गई है। 5156 वर्श पहले मोक्षदा एकादशी की पावन तिथि को कुरुक्षेत्र की भूमि पर दोनों सेनाओं के बीच अर्जुन को निमित बनाकर भगवान श्रीकृष्ण ने सम्पूर्ण मानव मात्र एवं प्राणी जगत के लिए गीता का दिव्य संदेश दिया था। उन्होंने कहा कि गीता मानव को तन-मन से स्वच्छ बनाकर निष्काम कर्म के लिए प्रेरित करती है। गीता का ज्ञान अजर, अमर, शाश्वत् है और हर युग में प्रासंगिक है तथा रहेगा। गीता में कर्म करने पर बल दिया गया है। 'निष्काम कर्म ' एक ऐसा दर्शन है, जोकि हर प्राणी, प्रत्येक समाज और राष्ट्र की उन्नति का आधार है। 
  
लेक्चरर श्री रूपकिशोर ने गीता सार की विशेषताओ पर बोलते हुए कहा कि भारत की संस्कृति की गूंज अब पश्चिमी देशों में भी हो रही है। वेद और गीता के ज्ञान के प्रति दुनिया के सभी देश आकर्षित हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि गीता हमारी संस्कृति, विज्ञान व ज्ञान है। उन्होंने वर्तमान परिप्रेक्ष्य में गीता को उपयोगी बताते हुए कहा कि गीता के संदेश से युवा पीढ़ी भटकाव के रास्ते पर नहीं जाएगी। उन्होंने कार्यक्रम में उपस्थित शिक्षक समुदाय से भी अपील करते हुए कहा कि वे भी अपनी कक्षाओं में बच्चों को गीता से जुड़े श्लोक व उनके भाव जरूर बतलाए ताकि देश के उज्ज्वल भविष्य की नींव मजबूत की जा सके।

लेक्चरर डाक्टर रूद्रदत्त ने कहा कि  गीता मे अलौकिक चिन्तन है। इसमें मानव जीवन के हर पहलू पर आधारित रचनाओं का समावेश है। उन्होंने कहा कि गीता ज्ञान है और गीता विज्ञान है । गीता विश्व का सर्वोच्च ग्रंथ है। सम्पूर्ण मानव जाति के उत्थान का समावेश गीता ग्रंथ में पाया गया है। इस अवसर पर  बड़ी संख्या में शिक्षाविद्,  गणमान्य व्यक्ति सेमिनार में भागीदार बने।

दुष्यंत चौटला बने फरीदाबाद के चेयरमैन, DC अतुल कुमार ने शुरू की भाग-दौड़, BK हॉस्पिटल का दौरा

faridabad-dc-atul-kumar-visit-bk-hospital-dushyant-chautala-chairman

फरीदाबाद, 6 दिसम्बर। अतुल कुमार पिछले तीन-चार वर्षों से फरीदाबाद के उपायुक्त हैं, उपायुक्त के हाथों में पूरे जिले की पॉवर होती है, बीके अस्पताल में अव्यवस्थाओं की भरमार है, वहां पर एक्सीडेंट में घायलों की मरहम पट्टी का भी सामान नहीं होता, जनता को सभी दवाइयाँ नहीं मिलती और दवाइयों के लिए आया फंड लूट लिया जाता है. डीसी साहब ने कभी भी बीके हॉस्पिटल की अव्यवस्थाओं को सुधारने की कोशिश नहीं की और जनता परेशान है लेकिन जब से उप-मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला फरीदबाद पब्लिक रिलेशन और ग्रीवेंस कमेटी के चेयरमैन बने हैं, डीसी साहब ने भाग-दौड़ शुरू कर दी, जब दुष्यंत चौटाला का जनता दरबार लगेगा तो लोग डीसी अतुल कुमार के काम-काज की भी शिकायत कर सकते हैं, इसलिए डीसी साहब भागदौड़ शुरू कर दिए हैं.

उपायुक्त अतुल कुमार ने वीरवार को दोपहर बाद तीन बजे फिर से स्थानीय नागरिक अस्पताल (बीके) परिसर का  निरीक्षण किया। पहले की तुलना में  उपायुक्त  के पिछले दौरे के बाद आज नागरिक अस्पताल में सफाई व्यवस्था अच्छी पाई गई, जिस पर उपायुक्त ने  अस्पताल प्रशासन को  इसी प्रकार की सफाई व्यवस्था आगे भविष्य में भी  रखने के निर्देश दिए हैं।

आज  निरीक्षण के लिए उपायुक्त  इमरजेन्सी वार्ड में पहुंचे और उन्होंने वहां पर स्वास्थ्य उपाचार करवा रहे लोगों से उनका हाल चाल पूछा । उन्होंने  नागरिक अस्पताल में डाक्टर ड्यूटी रूम, एक्स रे रूम,टायलेट, बाथरूम, अस्पताल परिसर की साफ-सफाई, एसएनसीयू सहित नागरिक अस्पताल का निरीक्षण किया गया ।

निरीक्षण के दौरान उपायुक्त अतुल कुमार ने पत्रकारों के साथ बातचीत करते हुए कहा कि मंगलवार को निरीक्षण के दौरान जो दिशा-निर्देश चिकित्सा अधिकारियों को दिए गए थे, उन्होंने उन पर सन्तोष जनक कार्रवाई अमल में ला कर कमियों को दूर कर दिया है। उपायुक्त ने बताया कि एक्स-रे व अल्ट्रासाउंड के लिए दूसरी मशीनों के मंगवाने बारे सरकार को पत्र लिखा जाएगा।

उपायुक्त अतुल कुमार ने बताया कि बल्लभगढ़ सरकारी  अस्पताल में नए शीशु वार्ड (एसएनसीयू) खुलवाने बारे भी कार्यवाही की जा रही है । उन्होंने कहा कि नागरिक अस्पताल पर शहर की ज्यादा आबादी का दबाव है, फिर भी यहां नियुक्त चिकित्सा अधिकारियों के सहयोग से आम जनता को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध करवाने के प्रयास किए जाएंगे।

इस दौरान पीएमओ डॉ सविता यादव, डाक्टर रमेश चन्द्र, डाक्टर राजेश श्योकन्द, डाक्टर रचना, डाक्टर विजय सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।