Followers

Showing posts with label Faridabad Naharpar. Show all posts

सेक्टर 77 में अब नही बनेगा डम्पिंग यार्ड, खुश हुए वकील सतिंदर सिंह दुग्गल (नहरपार विकास मोर्चा)

advocate-satinder-singh-duggal-happy-mcf-dumping-yard--sector-77-abandond

फरीदाबाद, 5 नवंबर: नहरपार सेक्टर 77 सीही गाँव में MCF कूड़ा डम्पिंग यार्ड बनाना चाहता था लेकिन भारी विरोध के चलते MCF ने इस प्रोजेक्ट को रोक लिया है, कई गाँवों के सरपंचों, सामाजिक संगठनों, पार्षदों और नहरपार विकास मोर्चा ने भी डम्पिंग यार्ड बनाये जाने का विरोध किया था, लोगों के विरोध के चलते आखिरकार नगर निगम को झुकना ही पड़ा.

डम्पिंग यार्ड प्रोजेक्ट रोके जाने से नहरपार विकास मोर्चा संगठन के कार्यकर्ता वकील सतिंदर सिंह दुग्गल (रिटायर्ड विंग कमाण्डर) ने सरपंचों द्वारा की गयी महापंचायत व MCF, MP, मिनिस्टर को धन्यवाद कहा है.
 आपकी जानकारी के लिए बता दें कि नहरपार विकास मोर्चा की युवा लीडरशिप कई मुद्दों पर स्वतः संज्ञान लेकर अपने स्तर पर बिना Publicity की काम कर रही है. मोर्चे के लोग जमीनी स्तर से लेकर सोशल मीडिया पर भी डम्पिंग यार्ड का विरोध कर रहे थे, देखिये ये वीडियो - 

Faridabad: सीही गांव में MCF के डम्पिंग यार्ड के खिलाफ जान देने को तैयार युवाओं ने दिया खून

faridabad-naharpar-sihi-gaon-dumping-yard-blood-donaton-camp

फरीदाबाद, 18 अक्टूबर: नहरपार सीही मिर्जापुर गांव के पास MCF कूड़ा डम्पिंग यार्ड बना रहा है जिसका नहरपार के लोग विरोध कर रहे हैं और इसके खिलाफ कुछ भी करने को तैयार हैं. यहाँ के लोग तो जान देने को भी तैयार हैं.

यहाँ सैकड़ों लोग डम्पिंग यार्ड पर ही धरना दे रहे हैं, वहां पर बाकायदा टेंट गाड़ दिया गया है. रोजाना हजारों लोग वहां पहुंचकर धरना देते हैं.

यहाँ के लोग इंसानियत का उदाहरण भी दे रहे हैं, खून देने को उतारू युवाओं ने आज सच में अपना खून दिया।आज धरना स्थल पर ही ब्लड डोनेशन कैंप का आयोजन भी किया गया और दर्जनों लोगों ने अपना खून दान किया।

युवा समाजसेवी जसवंत पंवार ने कहा -  संघर्ष के साथ-साथ रक्तदान भी करेंगे और कुछ भी हो जाए लेकिन ना 26 गांव को नगर निगम में जाने देंगे ना  डंपिंग यार्ड बनने देंगे।

mcf-famping-yard-news

Faridabad: अजय नगर में दर्दनाक हादसा, ट्रेक्टर-टैंकर चालाक ने 9 वर्ष के बच्चे को कुचला

 faridabad-ajay-nagar-news-naharpar-tanker-killed-kid

फरीदाबाद, 17 अक्टूबर: आज सुबह लगभग 9:20 बजे 33 फुटा रोड अजय नगर में एक दर्दनाक हादसा हुआ है.  आज सुबह नवरात्रि का सामान लेकर बच्चा साइकिल से अपने घर जा रहा था इसी दौरान एक सेफ्टी टैंक ट्रैक्टर ने साइकिल सवार  को टक्कर मारी, बच्चा गिर गया और सेफ्टी टैंक का पिछला चक्का बच्चे के शरीर के ऊपरी हिस्से पर चढ़ गया.

बच्चे ने मौके वारदात पर ही दम तोड़ दिया।  यह घटना केडी टेंट हाउस के सामने हुई.  मृतक बच्चे का नाम धीरज 9 वर्ष, पुत्र जनार्दन सोनी जोकि गली नंबर 2, बी ब्लॉक, अजय नगर फरीदाबाद के निवासी है.

बताया जा रहा है कि बच्चे को पोस्टमार्टम के लिए बी के हॉस्पिटल ले जाया गया है और टैंकर और ड्राइवर को पुलिस नवीन नगर चौकी लेकर गई है.

Faridabad Breaking: ओज़ोन पार्क सोसाइटी में इलेक्ट्रीशियन देवेंद्र की मौत, पुलिस जांच जारी

 faridabad-ozone-park-society-news-electrician-death-16-october-2020

फरीदाबाद, 16 अक्टूबर: ग्रेटर फरीदाबाद स्थित ओजोन पार्क सोसाइटी में काम करते वक्त इलेक्ट्रीशियन देवेंद्र की मौत हो गयी है, उसके शव को बीके हॉस्पिटल में पोस्टमार्टम के लिए रखा गया है. मौत के कारणों का पता नहीं चल पाया है, पोस्टमार्टम की रिपोर्ट का इन्तजार है.

देवेंद्र Valient Company में काम करते हैं जिसे ओज़ोन पार्क सोसाइटी का ठेका मिला हुआ है, यह कंपनी सेक्टर - 17 में है.

देवेंद्र का परिवार ग्रेटर फरीदाबाद में रहता है, खेड़ी पुलिस इस मामले की जांच कर रही है, पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इन्तजार किया जा रहा है.

जानकारी मिली है कि ओजोन पार्क सोसाइटी के एडमिनिस्ट्रेटर अनिल कुमार चौधरी हैं, Kheri Thana Police ने सोसाइटी के लोगों से पूछताछ शुरू कर दी है. जल्द ही इस मामले के बारे में पूरा अपडेट दिया जाएगा।

Faridabad: नीमका गाँव में 11000 बोल्ट की बिजली की तार की चपेट में आने से भैंस की दर्दनाक मौत

 faridabad-nimka-village-news-bhains-dead-bijli-wire

फरीदाबाद, 15 अक्टूबर: नीमका गांव से एक दर्दनाक खबर आयी है, बिजली विभाग की लापरवाही की वजह से एक भैंस 11000 बोल्ट के नंगे तार की चपेट में आ गयी, भैंस का पैर झुलस गया और उसकी मौके पर ही मौत हो गयी.

सतवीर पुत्र महेंद्र, निवासी नीमका गाँव ने बताया कि यह हादसा किसी इंसान के साथ भी हो सकता था लेकिन मेरी भैंस के साथ ऐसा हादसा हुआ है और इसके लिए बिजली विभाग जिम्मेदार है.

उन्होंने कहा क़ि मेरी भैंस बिजली विभाग की लापरवाही की वजह से मरी है, 11000 बोल्ट का बिजली का तार जमीन पर गिरा हुआ था, बिजली विभाग को इसकी सूचना दी गयी थी लेकिन समय से तार को सही नहीं किया गया जिसकी वजह से भैंस नंगे तार की चपेट में आ गयी.

उन्होंने बताया क़ि हादसे के बाद बिजली विभाग के कर्मचारी आये थे और बिजली का तार ठीक करके गए थे.

नहरपार विकास मोर्चा के एडवोकेट सतिंदर सिंह दुग्गल 'डम्पिंग यार्ड विरोध धरनास्थल' पर फिर पहुंचे

advocate-satyendra-singh-duggal-ex-wing-commandaer-faridabad-news

फरीदाबाद, 14 अक्टूबर: नहरपार के सीही-मिर्जापुर गाँव में नगर निगम द्वारा बनाये जा रहे डम्पिंग यार्ड का विरोध जारी है, डम्पिंग यार्ड पर ही धरना शुरू कर दिया गया है, लोग किसी भी कीमत पर यहाँ कूड़ा फेंकने देने को तैयार नहीं हैं, नहरपार विकास मोर्चा संगठन भी विरोध में पूरी तरह से साथ दे रहा है.

वकील सतिंदर सिंह दुग्गल (रिटायर्ड विंग कमांडर) जो ग्रेटर फरीदाबाद एक ओजोन पार्क सोसाइटी के रहने वाले हैं और  पर्यावरण विद भी हैं, वह ही नगर निगम के इस काम से बहुत चिंतित हैं.

वकील सतिंदर सिंह दुग्गल आज फिर से सीही गाँव स्थित धरनास्थल पर पहुंचे और कहा कि हमारा संगठन आंदोलन का समर्थन करता है और जहाँ भी जरूरत पड़ेगी, हम खड़े मिलेंगे। 

उन्होंने कहा की सीही-मिर्जापुर गाँव ग्रेटर फरीदाबाद की शान है, यह स्थान काफी साफ़ सुथरा और हरा भरा है जो ग्रेटर फरीदाबाद को शुद्ध हवा प्रदान करता है लेकिन डम्पिंग यार्ड बनने से यहाँ भी बंधवाड़ी के जैसा कूड़े का पहाड़ बन जाएगा और हम जिस स्थान को ग्रेटर फरीदाबाद कहते हैं वह स्थान नरक जैसा हो जाएगा, हर तरफ से बदबू आएगी, हवाएं अशुद्ध हो जाएंगी और आसमान में सिर्फ चील कौव्वे दिखाए देंगे।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि डम्पिंग यार्ड पर धरने का आज तीसरा दिन है, रविवार की महापंचायत के पश्चात डम्पिंग ग्राउंड पर टेंट गाड़ दिया गया है.

Faridabad: स्वामित्व योजना के तहत भूपानी ग्राम पंचायत में 106 लोगों को दिया गया प्रॉपर्टी कार्ड

faridabad-bhupani-village-news-property-card-distribution

फरीदाबाद,11 अक्टूबर (न्यूज हेडलाइंस) आज फरीदाबाद खंड के भूपानी ग्राम पंचायत के शेरपुर ढाढर गांव में  स्वामित्व योजना के पायलट फेज के तहत  योजना के लाभार्थी 106 कार्ड धारकों मे प्रॉपर्टी कार्डों का वितरण मुख्य अतिथि पंचायत समिति फरीदाबाद के चेयरमेन चौ भारत भडाना, समाजसेवी सतपाल भाटी, संजय सरपंच भूपानी, रोहित सरपंच खेड़ी गुजरान,दयाकिशन ब्लॉक मैम्बर भूपानी,सुजल ग्राम सचिव,सुमित्र देवी मैम्बर पंचायत,हल्का गिरदावल,हल्का पटवारी,महेन्द्र सिंह पूर्व द्वारा किया गया। 

इस मौके पर प्रॉपटी कार्ड पाने वाले लाभाथियों ने देश के माननीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी का धन्यवाद किया और उनकी लंबी आयु की कामना की। 

इस अवसर पर चौ.भारत भड़ाना ने कहा कि स्वामित्व योजना के पायलट फेज के तहत देश के 6 राज्यों के 763 गांवों में प्रॉपटी कार्ड के वितरण का शुभांरभ आज देश के यशस्ववी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी द्वारा ऑनलाईन किया गया। इसी येजना के तहत आज भूपानी ग्राम पंचायत के ढाढस गांव में लाभार्थी 106 कार्ड धारकों मे प्रॉपर्टी कार्डों का वितरण किया गया। 

उन्होनें कहा कि प्रधानमंत्री जी ने ऑनलाइन देश के इन लाभाथियों से संवाद किया और उन्हें बधाई दी।

Faridabad: नहरपार एरिया की Omaxe सोसाइटी में स्थानीय लोगों ने चलाया सफाई अभियान

naharpar-faridabad-omaxe-world-street-safai-abhiyan-4-october

फरीदाबाद, 4 अक्टूबर: सेक्टर 79 स्थित ओमैक्स वर्ल्ड स्ट्रीट में ओमेक्स ग्रुप ने 'आओ अपने शहर को स्वच्छ बनाएं' सफाई अभियान चलाया। सफ़ाई अभियान में सोसाइटी में रह रहे सैकड़ों लोग मौजूद रहे। ग्रुप के अनेक सदस्यों ने भी बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया एवं सुनिश्चित किया कि  पूरे दिशा निर्देशों जैसे सोशल डिस्टेंसिंग, ग्लब्स, माक्स, सैनिटाइजर का प्रयोग किया।

बता दें कि अक्टूबर माह में  हर साल की तरह इस साल भी ओमेक्स ग्रुप  सफाई अभियान चलाया। यह अभियान सुबह बीपीटीपी चौक से वर्ल्ड स्ट्रीट तक किया गया। इसके बाद सफ़ाई कर के जब लोग वर्ल्ड स्ट्रीट पहुंचे तो फ़्लैश मोब से स्वागत किया। और स्ट्रीट प्ले से स्वछता का संदेश दिया एवं अपने आप को, अपने घर, मोहल्ले व शहर को साफ रखने का संदेश दिया। शाम को लाइव बैंड का आयोजन हुआ जिसमें देश भक्ति के गीतों की प्रस्तुति से लोग सराबोर हो गए। लोगों ने इस माहौल को मोबाइल कैमरे में कैद किया।

वहां उपस्थित लोगों का मानना है कि आज का दिन हमारे लिए बहुत खास है । क्योंकि आज लोगों ने इस अभियान में भाग लिया, निश्चित तौर पर यह हमें एकजुटता का संदेश देता है। हमें इसी भावना को हमेशा जागृत करने की जरूरत है, क्योंकि यह सफाई अभियान जगह के साथ मानसिक स्तर पर भी करने की जरूरत है, क्योंकि हम आने वाली पीढ़ियों को जागरूक कर सकेंगे।

बड़ोली: पुराना पुल टूटा, पाइपलाइन पर चढ़कर जान जोखिम में डालकर नहर पार कर रहे लोग

 naharpar-badoli-pull-broken-in-faridabad-news

फरीदाबाद, 21 सितम्बर: गांव चंदीला बड़ौली का अंग्रेजो के जमाने का पुराना हो चुका पुल आज टूट गया है. गांव के लोगो को आने जाने में परेशानी हो रही है और कुछ लोग तो अपनी जान को जोखिम में डालकर पानी की पाइपलाइन पर चढ़कर नहर पार कर रहे हैं.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि यहाँ पर नया पल बन रहा है लेकिन अभी सिर्फ आधा पुल बन पाया है, यही एक पुल है जो सेक्टर-7, 8, 9, 10 और बाजार जाने के लिए यही एक रास्ता होता है.

यहाँ के लोगों ने बतया कि गांव के लोग दूध का काम कर रहे है उनको काफी परेशानी से गुजरना पड़ेगा। नया पुल बन रहा है लेकिन अगर यह कोई जल्दी बनेगा तो गांव वालों की परेशानी जल्दी खत्म हो जाएगी।

ओज़ोन पार्क योगा ग्रूप द्वारा ओज़ोन पार्क सोसायटी में कोरोना टेस्ट कैम्प, 9 की रिपोर्ट पॉजिटिव

faridabad-ozone-park-yoga-group-covid-test-camp-greater-faridabad

फरीदाबाद, 13 सितम्बर: ग्रेटर फ़रीदाबाद में सामाजिक संगठन “ओज़ोन पार्क योगा ग्रूप” द्वारा ओज़ोन पार्क सोसायटी, सेक्टर 86 ग्रेटर फ़रीदाबाद में “बी के हॉस्पिटल फ़रीदाबाद” व “सीमा जागरण मंच” के सहयोग से करोना  रैपिड ऐंटिजेन टेस्ट के लिए कैम्प लगाया गया। 

इस टेस्ट मे  326 लोगों का टेस्ट किया गया। टेस्ट किए गए लोगों में ओज़ोन पार्क सोसायटी के निवासियों,घरेलू सहायिकों, सिक्यरिटी गार्ड्ज़, मेंट्नेन्स एजेन्सी के कर्मचारियों व अन्य सोसायटी के निवासियों ने टेस्ट करवाए। 

टेस्ट मे कुल 9 लोगों की रिपोर्ट पॉज़िटिव आयी व उन्हें आगे उपचार की सलाह दी गयी। ओज़ोन पार्क योगा ग्रूप द्वारा ओज़ोन पार्क के निवासियों , बी के हॉस्पिटल के प्रत्येक स्टाफ़ व सीमा जागरण मंच को करोना टेस्टिंग कैम्प लगाने मे सहयोग के लिए धन्यवाद दिया।

ओज़ोन पार्क योगा ग्रूप द्वारा पिछले कुछ समय से कई सामाजिक हित के कार्यक्रम आयोजित किए गये और यह करोना रेपीड ऐंटिजेन टेस्टिंग कैम्प उसी शृंखला में ही एक आयोजन था। 

पैसे नहीं हैं तो कोई बात नही, फरीदाबाद में खुल गया फ्री OPD क्लिनिक, मंत्री KPG ने किया उद्घाटन

free-opd-clinic-in-greater-faridabad-arsh-hospital-agrawal-vaishya-parivar

फरीदाबाद, 15 मार्च: सरकारी अस्पतालों में भी इलाज की सुविधा है लेकिन वहां पर इतनी भीड़ होती है कि आम लोग वहां जाने की हिम्मत नहीं जुटा पाते। प्राइवेट हॉस्पिटल में OPD के लिए 300 से 1000 रुपये तक एक ही बार में फीस ली जाती है इसलिए आम आदमी प्राइवेट अस्पतालों में भी जाने की हिम्मत नहीं जुटा पाते।

फरीदाबाद में आज एक फ्री OPD क्लिनिक खोला गया है जहाँ पर प्राइवेट अस्पतालों जैसी OPD की सुविधा फ्री में मिलेगी। मंत्री कृष्णपाल गुर्जर ने रिबन काटकर सेक्टर 87 ग्रेटर फरीदाबाद में इस क्लिनिक का उद्घाटन किया। इस कार्यक्रम में हरियाणा के कैबिनेट मंत्री मूलचंद शर्मा, विधायक राजेश नागर, कांग्रेसी नेता लखन सिंगला भी पहुंचे।

यह OPD क्लिनिक अग्रवाल वैश्य परिवार और अर्श हॉस्पिटल के द्वारा चांदी वालों का बाग के सामने, श्रद्धा मंदिर पब्लिक स्कूल के सामने, सेक्टर-87 में खोला गया है.

इस अवसर पर केंद्रीय मंत्री कृष्णपाल गुर्जर ने रिबन काट के ओपीडी क्लीनिक का शुभारंभ किया। उन्होंने इस अवसर पर बोलते हुए कहा की अग्रवाल समाज की समाज के प्रति सेवा करने की परंपरा सदियों पुरानी है। चाहे प्याऊ खुलवाना हो चाहे धर्मशाला बनवानी हो या फिर अस्पताल बनवाने हो अग्रवाल समाज में हमेशा सेवा भाव रहा है। इस अवसर पर कैबिनेट मंत्री मूलचंद शर्मा ने मंच से संबोधन करते हुए कहा कि अग्रवाल समाज हमेशा से समाज सेवा करने में अग्रणी रहा है। मैं भी इस क्लीनिक द्वारा समाज के सभी वर्गों का इलाज करने के लिए साधुवाद देता हूं और आश्वासन देता हूं। कि जो भी मदद मैं कर सकता हूं उसके लिए मैं हमेशा तैयार रहूंगा। इस अवसर पर अग्रवाल समाज के फरीदाबाद विधानसभा से कांग्रेस के टिकट पर चुना लड़ चुके लखन सिंगला ने इस ओपीडी सुविधा को समाज के सभी वर्गों के लिए ऑक्सीजन बताया। पूर्व कैबिनेट मंत्री विपुल गोयल ने भी मंच से संबोधित करते हुए ओपीडी क्लीनिक के शुभारंभ को ग्रेटर फरीदाबाद निवासियों के लिए एक बड़ी सौगात बताया। उन्होंने कहा जहां एक बार मरीज को डॉक्टर के पास चेकअप कराने के लिए 300 से ₹500 देने पड़ते हैं। वही इस क्लीनिक में यह सुविधा बिल्कुल फ्री मिलेगी इसके लिए मैं अग्रवाल वैश्य परिवार और इसके दानदाताओं को धन्यवाद देता हूं। तिगांव विधानसभा से विधायक श्री राजेश नागर जी ने इस ओपीडी क्लीनिक को खोलने के लिए राकेश गर्ग एवं श्री लोकेश गर्ग और उनकी समस्त टीम को शुभकामनाएं दी। 

इस अवसर पर अग्रवाल वैश्य परिवार ग्रेटर फरीदाबाद के प्रधान राकेश गर्ग ने मंच संचालन करते हुए अपील की जिन भी लोगों के पास घर पर अतिरिक्त दवाइयां बच जाती हैं। कृपया करके वह यहां पर उनको जमा कराएं जिससे कि वह किसी जरूरतमंद के काम आ सके उन्होंने अर्श हॉस्पिटल के संचालक डॉक्टर लोकेश गर्ग का धन्यवाद करते हुए कहा कि उनके व सर्व समाज के सहयोग से ही वह इस ओपीडी क्लीनिक का शुभारंभ कर पाए हैं। उन्होंने कहा कि महाराजा अग्रसेन की भी यही नीति रही थी कि ₹1 और एक ईट सभी के द्वारा उनके नगर में आने वालों को दी जाए। जिससे कि वह अपना भरण-पोषण कर सकें हम भी उसी नीति का अनुसरण करते हुए महाराजा अग्रसेन के सिद्धांतों पर चलते हुए इस ओपीडी क्लीनिक के द्वारा समाज के सभी वर्गों की सेवा करना चाहते हैं। 

इस ओपीडी क्लीनिक में मरीजों को सभी प्रकार की चिकित्सा सुविधा फ्री में मिलेगी सभी स्पेशलिस्ट डॉक्टर मरीजों को मुफ्त में जांच करेंगे इस अवसर पर मुख्य रूप से अग्रवाल वैश्य परिवार के संरक्षक महेश मित्तल, महासचिव सुरेंद्र गुप्ता, उपप्रधान भगवत मंगला, उप प्रधान रमन गर्ग, सचिव पवन अग्रवाल, कोषाध्यक्ष विनीत सिंगला, कोषाध्यक्ष नरेंद्र कुमार, सदस्य राकेश अग्रवाल तेल मिल वाले सदस्य शीतल जैन, सेवाराम गुप्ता, सुरेश चंद्र अग्रवाल, अर्श हॉस्पिटल डायरेक्टर प्रिया अग्रवाल एवं अभिषेक गोयल, शेखर अग्रवाल, मीडिया प्रभारी संजय गुप्ता के अलावा जेजू ठाकुर व सर्व समाज के सैकड़ों लोग इस ऐतिहासिक क्षण के साक्षी रहे।


पढ़ें, ग्रेटर फरीदाबाद में कैसे चल रहा है गुंडाराज, किन लोगों की शह पर पनप रहे हैं माफिया

gundaraj-in-greater-faridabad-housing-societies

फरीदाबाद, 14 मार्च: ग्रेटर फरीदाबाद में गुंडाराज चल रहा है और इसमें माफिया के अलावा नेता लोग शामिल हैं जो माफियाओं और गुंडों को पुलिस प्रशासन से बचाते हैं, जब भी गुंडों के खिलाफ पुलिस थानों में शिकायत होती है तो नेताओं के फोन थानों में पहुँच जाते हैं.

ग्रेटर फरीदाबाद में करीब 30 हाउसिंग सोसाइटी हैं जहाँ पर नौकरी पेशा लोगों ने फ्लैट खरीदे हैं. अधिकतर लोग बाहर के हैं और नॉएडा, दिल्ली, गुरुग्राम, एनसीआर में नौकरी करते हैं और रोजाना अप-डाउन करते हैं या रिटायर्ड हैं और नौकरी ख़त्म होने के बाद यहाँ पर रहते हैं. इन लोगों ने कई वर्ष पहले फ्लैट बुक कराते समय नहीं सोचा था कि बाद में इनके साथ COM चार्जेज वसूलने के नाम पर ब्लैकमेलिंग होगी और इनकी जिंदगी नर्क बन जाएगी।

जब फ्लैट मालिकों ने फ्लैट की रजिस्ट्री कराई थी तो इन्होने COM (कॉमन एरिया मेंटीनेंस) चार्जेस देने पर सहमति जताई थी लेकिन इन्हें ये नहीं पता था कि एक दिन यही इनकी मुसीबत बन जाएगी।

COM के नाम पर 4 तरह के चार्ज लिए जाते हैं - मेंटीनेंस चार्ज, सिक्योरिटी चार्ज, बागबानी चार्ज, हॉर्टिकल्चर चार्ज। चारों के लिए अलग अलग ठेके जारी किये जाते हैं, अधिकतर ठेके लोकल और दबंग लोगों को दिए गए हैं.

COM के नाम पर फ्लैट मालिकों से जो चार्जेज लिए जाते हैं वह बिल्डर के खाते में या RWA सोसाइटी के खाते में जमा किये जाते हैं. जायज चार्ज देने में किसी को आपत्ति नहीं है लेकिन अधिकतर सोसाइटी में नाजायज चार्जेज वसूले जा रहे हैं और कई सोसाइटी में हर महीनें 8-10  हजार तक वसूले जा रहे हैं, इतने पैसे में तो किराए पर मकान लिया जा सकता है.

यही सोचकर लोग RWA या बिल्डर के खिलाफ खड़े हो जाते हैं और वसूले गए पैसे का हिसाब मांगते हैं जिसका सबको अधिकार भी है, यही से शुरू हो जाती है लड़ाई। इसके बाद सोसाइटी में दो ग्रुप बन जाते हैं - एक वसूली करने वाला और एक हिसाब मांगने वाला। कुछ लोग RTI लगाते हैं, कुछ लोग रजिस्ट्रार से शिकायत करते हैं, कुछ लोग पुलिस में शिकायत करते हैं.

जब वसूली करने वालों को पता चलता है कि फलां व्यक्ति ने या ग्रुप ने उनके खिलाफ भ्रष्टाचार की शिकायत की है तो शिकायतकर्ता का शारीरिक और मानसिक टार्चर शुरू हो जाता है, कई लोगों को पीटा जाता है, कुछ के पीछे गुंडे लगा दिए जाते हैं, कई लोगों को धमकियाँ दी जाती है. कुछ लोग डर कर चुप बैठ जाते हैं. 

ग्रेटर फरीदाबाद का एरिया तीन थानों के अंतर्गत आता है - खेड़ीपुल थाना, भूपानी थाना और BPTP थाना। अधिकतर एरिया खेड़ीपुल थाने में पड़ता है इसलिए शिकायत के अधिकतर मामले खेड़ीपुल थाने में ही पहुँचते हैं.

वसूली गैंग की पुलिस थानों में साठ गाँठ है. जैसे ही पीड़ित लोग वसूली गैंग के खिलाफ शिकायत लेकर पहुँचते हैं तो पुलिस वाले कार्यवाही करने के बजाय वसूली गैंग को फोन कर देते हैं कि आपके खिलाफ शिकायत आयी है. इसके बाद वसूली गैंग एक्टिव हो जाता है और अपने तरीके से पीड़ितों को धमकाना शुरू कर देता है. 

कई लोग पुलिस के पास शिकायत लेकर जाते हैं लेकिन गुंडों माफियाओं का साथ स्थानीय नेता विधायक भी देते हैं इसलिए पीड़ित लोगों को न्याय नहीं मिलता। उसके बाद गुंडे माफिया लोगों का और हौसला बढ़ जाता है और वे कहते हैं पुलिस प्रशासन और सरकार हमारी जेब में है, हमारा कोई कुछ नहीं बिगाड़ सकता।

दो दिन पहले Omaxe Society में रहने वाले पंकज विश्वामित्र पर जानलेवा हमला हुआ, उसके दो महीनें पहले भी हमला हुआ था लेकिन खेड़ी पुल थाना ने कार्यवाही नहीं की जिसकी वजह से गुंडों का हौसला बढ़ गया. गृह मंत्री अनिल विज से शिकायत के बाद भी कोई कार्यवाही नहीं हुई.

ऐसा ही मामला कुछ दिनों पहले Ozone Society में सामने आया था जब Society के पैसे का हिसाब मांगने पर वरिष्ठ नागरिक आरके गुप्ता को पीटा गया लेकिन खेड़ी पुल थाने के SHO सुरेंदर कुमार ने कोई कार्यवाही नहीं की, FIR के लिए आरके गुप्ता आज भी भटक रहे हैं और दूसरा पक्ष उन्हें लगातार धमकियाँ दे रहा है, कल SHO सुरेंद्र का तबादला पुलिस लाइन में कर दिया गया.

कहने का मतलब ये है कि ग्रेटर फरीदाबाद के दर्जनों सोसाइटी के लोग अंदर ही अंदर आक्रोशित हो रहे हैं और हरियाणा सरकार, फरीदाबाद पुलिस से उनका भरोसा उठ रहा है. फरीदाबाद पुलिस इस गुंडाराज को ख़त्म नहीं कर पा रही है. अगर इस पर लगाम नहीं लगी तो गुंडों और माफियाओं का हौसला बढ़ जाएगा आने वाले दिनों में लोगों को और परेशान किया जाएगा।

कैसे ख़त्म हो सकता है गुंडाराज

गुंडाराज पुलिस और हरियाणा सरकार ही ख़त्म कर सकती है, विधायकों को भी जनता की परेशानी समझनी पड़ेगी और गुंडों का साथ छोड़ना पड़ेगा। कुछ और कमियां दूर करनी पड़ेंगी जो इन सोसाइटी में रहने वालों ने बतायी हैं - जैसे -

(1) स्ट्रीट लाइट रात में नहीं जलती, इसपर कार्यवाही हो
(2) पुलिस को पट्रोलिंग करनी पड़ेगी
(3) पुलिस बूथ या हेल्प बूथ का ना होना, ये कमीं भी दूर करनी पड़ेगी
(4) शराब की दूक़ानो के आस पास पुलिस तंत्र होना चाहिए
(5) पुलिस का कोई मुखबिरी सिस्टम नहीं है
(6) ग्रेटर फ़रीदाबाद की सॉसाययटीज़ के सिक्योरिटी एजेंसीज की पुलिस में बहुत घुस पैठ है
(7) ग्रेटर फ़रीदाबाद की सॉसाययटी के साथ इलाक़े के ACPs की वहां के लोगों के साथ हर महीनें मीटिंग होनी चाहिए
(8) CCTV कैमरा नहीं हैं। सभी सोसाइटी के मेन गेट व मेन चौराहों पर व ग्रेटर फ़रीदाबाद के गावों में व शराब के ठेकों पर CCTV कैमरा हों चाहिए जिनका कण्ट्रोल सम्बंधित थाने जैसे Kheripul, Bhupani, BPTP में मुंशी के कमरे में होना चाहिए
(9) सारे सिक्योरिटी एजेंसी के कर्मचारियों का पुलिस वेरिफिकेशन हर सोसाययटी के गार्ड रूम पर होना चाहिए

नहरपार गोलीकांड, अन्नी भैंसरावली की मौत, आरोपी राजेंद्र फरार, गैंगस्टर सतपाल मुजेड़ी का करीबी

anni-anil-bhainsrawali-dead-firing-rajender-pali-satpal-mujeri-gangster

फरीदाबाद, 6  मार्च: पिछले महीनें 25 फ़रवरी को नहरपार इलाके में वर्ल्ड स्ट्रीट के पास एक गोलीकांड हुआ था जिसमें भैंसरावली गाँव निवासी अनिल उर्फ़ अन्नी के दोनों पैरों में गोली लगी थी और तिगांव निवासी भूरा को भी गोलियां लगी थीं. दोनों को गंभीर हालत में एशियन हॉस्पिटल में भर्ती कराया  गया था, दोनों पैरों में गोलियां लगने से अन्नी के दोनों पैर ख़राब हो गए जिन्हें काटना पड़ा. आज अन्नी की इलाज के दौरान मौत हो गयी.

शिकायत के अनुसार 8 - 10 बदमाशों ने स्कॉर्पियो कार में आकर इस वारदात को अंजाम दिया था लेकिन मुख्य आरोपी राजेंद्र पाली निवासी है जो हरियाणा के नामी गैंगस्टर सतपाल मुजेड़ी का करीबी बताया जा रहा है और वारदात के बाद से ही फरार है.

इस मामले में शिकायतकर्ता राहुल के मुताबिक हमलावरों में गांव पाली निवासी राजेंद्र, गांव नचौली निवासी कल्लू और फाजिलपुर निवासी राहुल सहित अन्य शामिल हैं।

जानकारी के अनुसार कुछ वर्ष पहले अन्नी उर्फ़ अनिल पर नहरपार के खूंखार बदमाश मृतक हरिया ने भी गोलियां चलाई थीं, लेकिन उनकी जान बच गयी थी. पुलिस इस मामले में जाँच कर रही है.

ग्रेटर फरीदाबाद, सेक्टर-88, एसआरएस रेजिडेंसी में एक फ्लैट में आग से हड़कंप

faridabad-srs-residence-fire-in-a-flat-news-greater-faridabad

फरीदाबाद, 29 जनवरी: ग्रेटर फरीदाबाद की एसआरएस रेजिडेंसी सेक्टर 88 में उस समय हड़कंप मच गया जब आज सुबह करीब 8:00 बजे महिला अपनी बेटी को स्कूल छोड़ने के लिए  गई हुई थी.

जैसे ही महिला वापस आई तो उसका फ्लैट आग की लपटों में गिरा हुआ था आसपास के लोगों ने फायर बिग्रेड को सूचित किया लेकिन फायर बिग्रेड को आने में तकरीबन 45 मिनट का समय लगा इससे पहले स्थानीय निवासियों की मदद से आग पर काबू पाने की कोशिश की गई.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि SRS रेसीडेंसी में हजारों फ्लैट हैं, गनीमत ये रही कि आग एक ही फ्लैट तक सीमित रही वरना काफी नुकसान हो सकता था.

फरीदाबाद पुलिस एवं स्लेज हैमर टीम के बीच हुआ क्रिकेट मैच, पढ़ें किसके हाथ लगी बाजी

result-cricket-match-between-faridabad-police-and-sledgehammer-team

फरीदाबाद: पुलिस आयुक्त संजय कुमार एवं स्लेज हैमर के पदाधिकारी के सी मोहंती की पहल पर आज दिनांक 31 मार्च 2019 को स्लेज हैमर क्रिकेट टीम एवं फरीदाबाद पुलिस क्रिकेट टीम के बीच क्रिकेट मैच का आयोजन किया गया।

इस मौके पर पुलिस आयुक्त श्री संजय कुमार मुख्य अतिथि के रूप में मौजूद थे, इसके अलावा फरीदाबाद पुलिस के लोकेंद्र सिंह उपायुक्त सेंट्रल, एवं सभी एसीपी मौजूद थे इसके अलावा स्लेज हैमर की तरफ से केसी मोहनती मौजूद थे।

यह दोस्ताना मैच दोनों टीमों के बीच 20-20 ओवरों का खेला गया पुलिस आयुक्त ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला लिया था।

फरीदाबाद पुलिस ने अच्छी बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवरों में 169 रन का स्कोर बनाकर स्लेज हैमर टीम के सामने रखा था।

इतना बड़ा स्कोर देख कर एक बार तो मौजूद दर्शकों ने यह मुकाबला फरीदाबाद पुलिस की तरफ एक तरफा कर दिया था।

लेकिन स्लेजेहम्मर टीम के प्लेयर ने 19 ओवर में 170 रन बनाकर जीत दर्ज की।

इसके बाद पुलिस आयुक्त ने अच्छा प्रदर्शन करने वाले प्लेयर को पुरस्कार देकर सम्मानित किया।

पुलिस आयुक्त ने कहा कि ऐसे मैच होते रहने चाहिए ताकि युवा पुलिसकर्मी तनाव से दूर रह सकें। खेल स्वास्थ्य के लिए बेहद जरूरी होते हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि इस तरह के आयोजन आगे भी किए जाते रहेंगे।

उन्होंने कहा कि मैं फरीदाबाद पुलिस टीम को भी बहुत बधाई देना चाहता हूं क्यों के लिए मात्र 2 दिन में उन्होंने टीम खड़ी कर मैच का आयोजन किया और अच्छी बल्लेबाजी करते हुए इतना बड़ा स्कोर स्लेज हैमर टीम के सामने रखा।

उन्होंने कहा कि पुलिस ने काफी अच्छा प्रदर्शन किया है और आगे भी बेहतरीन प्रदर्शन करते रहेंगे और जीत भी दर्ज करेंगे।

लोकेंद्र कुमार पुलिस उपायुक्त सेंट्रल ने कहा कि तनाव कंम करने का यह बहुत अच्छा तरीका है इसके साथ ही युवा पुलिसकर्मी अपनी हॉबीज दिखा पाते हैं उन्होंने कहा कि इससे पहले इस तरह की कोई भी मुकाबले नहीं हो पाए हैं और आज इस मुकाबले में हमें पता चला है कि फरीदाबाद पुलिस के पास कितने अच्छे और बेहतरीन प्लेयर हैं।

इंस्पेक्टर संदीप मोर पुलिस क्रिकेट टीम के कप्तान ने कहा  की 2 दिन की मेहनत में यह टीम तैयार की गई थी आने वाले समय में हम एक अच्छा प्रदर्शन करेंगे और जीत दर्ज करेंगे।

पुलिस प्रवक्ता सुबे सिंह ने बताया कि पुलिस आयुक्त ने स्लेज हैमर के अधिकारियों को धन्यवाद करते हुए कहा कि वह जिस तरह से बच्चों को खेलने का मौका दे रहे हैं आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करते हैं यह सराहनीय कदम है।

पूरे फरीदाबाद में घूम रही हैं नंबर-प्लेट की जगह जाति लिखी गाडि़याँ, नहीं हो रह़ा है कोई एक्शन

scorpio-seen-without-number-plate-at-bptp-near-omaxe-faridabad

फरीदाबाद: हमारे चैनल ने फरीदाबाद में नंबर-प्लेट अभियान शुरू किया है, हमारे पाठक जहाँ भी बिना-नंबरप्लेट की बाइक या कार देखते हैं तो उसकी फोटो खींचकर भेजते हैं, कई लोग नंबरप्लेट पर नंबर की जगह अपनी जाति जैसे - गुर्जर, जाट, ठाकुर, राजपूत या अन्य लिख देते हैं.

आज हमारे पास एक स्कॉर्पियो की फोटो BPTP एरिया में Omaxe के पास से आयी है. स्कॉर्पियो गाडी में नंबरप्लेट पर गाडी का नंबर नहीं है, बल्कि राजपूताना लिखा है.

ट्रैफिक नियम के मुताबिक़ वाहनों के आगे और पीछे नंबरप्लेट होनी जरूरी है, पुलिस को ऐसे वाहनों का चालान काटना चाहिए क्योंकि अगर ऐसे वाहन के जरिये चोरी, लूट की वारदात को अंजाम दिया जाएगा तो लोग नंबर नहीं नोट कर पाएंगे, यही नहीं ऐसे लोग अगर किसी को एक्सीडेंट में मारकर भाग जाएंगे तो भी उनकी गाड़ियों का नंबर नहीं पता चलेगा.

अब तक हमने दर्जनों ऐसी गाड़ियों की ख़बरें दिखाई हैं जिसपर नंबरप्लेट पर जाति लिखी गयी है लेकिन फरीदाबाद ट्रैफिक पुलिस की तरफ से कोई ठोस एक्शन नहीं लिया गया है.

पहले टेंट के अन्दर होता था शादी-व्याह, अब होने लगे निर्माण, सेक्टर-86 में टेंट के अन्दर निर्माण

faridabad-sector-86-construction-inside-tent-in-front-of-shiv-shain-park

फरीदाबाद: आपने टेंट के अन्दर शादी-व्याह एवं अन्य कार्यक्रम तो देखे होंगे लेकिन घरों का निर्माण नहीं देखा होगा लेकिन फरीदाबाद में थोडा बदलाव आ रहा है, कुछ महीनों से टेंट के अन्दर घरों और दफ्तरों का निर्माण हो रहा है, ऐसे दो निर्माण सामने आ चुके हैं, हार्डवेयर चौक पर भी टेंट के अन्दर निर्माण हो रहा था लेकिन अवैध होने की वजह से नगर निगम ने इसे सील कर दिया, हालाँकि अभी उसे तोडा नहीं गया है.

अब एक फोटो फरीदाबाद नहरपार, सेक्टर-86 से आयी है. यहाँ कई दिनों से टेंट के अन्दर निर्माण हो रहा है, कुछ लोग इसे अवैध बता रहे हैं, कई लोगों ने कहा कि यहाँ कई और निर्माण हो रहे थे लेकिन नगर निगम ने आकर उन्हें तोड़ दिया लेकिन इसे हाथ नहीं लगाया.

अब से कुछ महीनें पहले ऐसे ही हार्डवेयर चौक पर अचानक टेंट लगा दिया गया और अन्दर ही अन्दर ऑफिस बना दिया गया, शटर लगा दी गयी. नगर निगम को पता ही नहीं चला, कुछ लोगों ने बताया कि MCF ने जान बूछकर अपनी ऑंखें बंद करके रखी.  देखिये ये निर्माण - 


अब ऐसा ही काम नहरपार सेक्टर-86 में हो रहा है, अगर ये अवैध है और नगर निगम ने अपने ऑंखें बंद कर रखी हैं तो इसका मतलब है कि यह काम मिलीभगत से हो रहा है. अगर ये वैध है तो आखिर टेंट के अन्दर निर्माण करने की जरूरत क्यों पड़ी.

कर्ज में डूबकर हजारों लोगों ने बुक कराए फ्लैट, एरा-एडल लैंडमार्क्स लिमिटेड पर धोखाधड़ी का आरोप

buyers-protest-against-era-edal-landmark-limited-faridabad-news

फरीदाबाद: भारत का हर नागरिक कहीं ना कहीं अपना आशियाना बनाना चाहता है, फरीदाबाद में भी अपना आशियाना बनाने की होड़ मची हुई है, बड़ी बड़ी इमारतों में लोग फ्लैट बुक करा लेते हैं लेकिन कुछ लोगों को पैसे देने के बावजूद भी फ्लैट नहीं मिल रहे हैं.

ऐसा ही एक मामला ग्रेटर फरीदाबाद से आया है. सेक्टर 75 स्थित एडल डिवाइन कोर्ट हाउसिंग सोसाइटी में फ्लैट बुक करवाने वाले ग्राहक परेशान हैं. 

एक ग्राहक ने बताया - एरा लैंडमार्क्स लिमिटेड (अब  एडल  लैंडमार्क्स लिमिटेड ) जो हेम सिंह भड़ाना  द्वारा स्थापित  रियल एस्टेट कंपनी  एरा  ग्रुप, नॉएडा  की एक सहायक कंपनी है, ने  वर्ष  2008-09 में एरा  डिवाइन  कोर्ट नामक एक कम बजट की ग्रुप हाउसिंग सोसाइटी सेक्टर 75  फरीदाबाद में लॉन्च  की  थी। इसने उक्त सोसाइटी के विकास एवं मार्केटिंग अधिकार कंट्रीवाइड प्रमोटर्स लिमिटेड  से प्राप्त किया था और उसमे करीब 1900 फ्लैट्स (856 लो  राइज  में और  1100 हाई राइज  में)  बेचे थे। इसके  विभिन्न जगहों पर अन्य  प्रोजेक्ट्स भी हैं जैसे कि पलवल (हरियाणा ), मेरठ(उत्तर प्रदेश ) एवं अन्य कई जगहों पर।

हम (खरीदारों ) ने  एरा  डिवाइन  कोर्ट में  अपने और अपने परिवार के भविष्य  को सुरक्षित करने हेतु फ्लैट  बुक किया था।  पर हमें इस बात का ज्ञान नहीं था कि  एक दशक बीत जाने के बाद भी अपने आशियाना का सपना पूरा नहीं होगा और हमारी हालत दयनीय होगी। आज दस वर्ष बीतने के बाद भी हमें अपना फ्लैट नहीं मिला और  हमें पता  चलता है कि कंपनी दिवालिया  घोषित हो गयी है। हम सबों ने फ्लैट के लिए देय  राशि का 90 फीसदी से ज्यादा कंपनी को भुगतान कर रखा है. हमने ये राशि  अपनी जिंदगी की गाढ़ी  कमाई की बचत, बैंक लोन एवं अन्य  लोनों  द्वारा  जुटाई  है। कंपनी ने प्रोजेक्ट के सभी ग्राहकों  के साथ धोखाधड़ी  की है। इसने तथ्य छुपा कर  अपने भागीदारों (बैंकों एवं वित्तीय ऋणदाताओं) को  भी धोखा  दिया  है।

कंपनी को अपने नापाक मंसूबों में मॉनिटरिंग एवं कण्ट्रोल सिस्टम की असफलता या  विभिन्न स्तरों  पर   बिल्डरों (अडेल  लैंडमार्क्स  एवं कंट्रीवाइड) और राजकीय एजेंसियों (डी. टी. सी. पी. जिसने प्रोजेक्ट के लिए लाइसेंस प्रदान किया और अन्य   प्रशासनिक विभाग )  के बीच निहीत  मिली-भगत के कारण सफलता  मिली  होगी।

फ्लैट बुक करवाने वाले ग्राहकों ने कंपनी और बिल्डर्स से परेशान होकर 16 दिसम्बर को प्रदर्शन किया. प्रदर्शनकारियों ने प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री से आग्रह किया है कि दोषियों के खिलाफ एक्शन लें और लोगों के आशियानों को बचाने के लिए आवश्यक कदम उठाएं.

सेल्फी-विद-गड्ढा अभियान, Ward-28, हनुमान नगर में सीवर लाइन टूटने से रोड पर बन गया तालाब

selfie-with-gaddha-ward-28-hanuman-nagar-gali-number-1-bharat-colony

फरीदाबाद: सेल्फी-विद-गड्ढा अभियान में शहर के लोग बढ़ चढ़कर हिस्सा ले रहे हैं. हमारे पास एक गड्ढे की फोटो नहरपार, वार्ड-28, भारत कॉलोनी, हनुमान नगर, गली नंबर-1 से आयी है. वहां पर सीवर पाइप टूटने से पानी रोड पर जमा हो गया है और एक बड़े तालाब जैसा दिख रहा है.

इस गड्ढे से आसपास के लोगों का जीना मुश्किल हो गया है, गड्ढा बढ़ता जा रहा है और लोगों के घरों में सीलन आ रही है. हैरानी की बात ये है - पीड़ित सोनू ने बताया कि वहां पर सीवर लाइन डाले हुए चार महीनें हो गयी हैं लेकिन पाइप के टूटने की वजह से पानी रोड पर जमा हो रहा है. अब देखते हैं कि यहाँ की समस्या का समाधान कब होता है.

यह स्थान तिगांव विधानसभा क्षेत्र में पड़ता है और यहाँ के पार्षद हैं नरेश नंबरदार.

हमने ऐसे गड्ढों के खिलाफ कार्यवाही करवाने के लिए शहर में सेल्फी विद गड्ढा अभियान शुरू किया है, शहर के लोग हमें ऐसे स्थानों की सेल्फी लेकर भेजते हैं. पिछली ख़बरों पर नगर निगम और स्थानीय नेताओं ने तेज एक्शन दिखाया है, अब देखते हैं कि यह गड्ढा कब ढका जाएगा।

सेल्फी विद गड्ढा अभियान में भाग लेने के लिए आप हमें ऐसे फोटो, वीडियो हमारे व्हाट्स अप पर भेजें - 9953931171, (ईमेल - [email protected]).

पेट काटकर 6 साल तक भरी क़िस्त, PACL India Limited ने मंझावाली गाँव के सैकड़ों गरीबों को लूट लिया

pacl-india-limited-fraud-exposed-manjhawali-village-faridabda-news

फरीदाबाद: जिले के मंझावली गाँव में चिटफंड घोटाले का एक मामला सामने आया है, रिपोर्ट के अनुसार गाँव के करीब 300 लोगों को बहला फुसलाकर और 6 साल में पैसे दोगुना करने का लालच देकर PACP India Limited कंपनी ने पैसे ले लिए लेकिन जब पैसे वापस करने का समय आया तो कंपनी के लोग ऑफिस के बाहर ताला लगाकर फरार हो गए.

गाँव की महिलाओं का कहना है कि उन्होंने पेट काटकर किसी तरह से पैसे बचाए थे, वे सब्जी, टमाटर और चटनी नहीं खाते थे लेकिन कंपनी की क़िस्त जरूर भरते थे, उन्होंने सपना देखा था कि जब पैसे वापस मिलेंगे तो उससे बच्चों की शादी करेंगे या उनकी पढ़ाई में लगाएंगे लेकिन अब उनके पैसे नहीं मिल रहे हैं. 6 साल पूरे हुए तीन साल बीत चुके हैं लेकिन अभी तक कंपनी पैसे देने से आनाकानी कर रही है.

गाँव वालों का कहना है कि उन्होंने कंपनी के खिलफ तिगांव थाने में रिपोर्ट दर्ज करने की मांग की लेकिन वहां पर शिकायत लेने से इनकार कर दिया गया. पुलिस हमें कोर्ट जाने के लिए बोल रही है लेकिन हमारे पास वकील को देने के लिए पैसे नहीं हैं.

जिन लोगों के पैसे लूटे गए हैं उनमे अधिकतर लोग मजदूर और गरीब हैं, इनके पास बड़ा वकील खड़ा करने के पैसे नहीं हैं, वकील ही उचित धाराओं के तहत कोर्ट के जरिये FIR दर्ज करवा सकता है.

300 लोगों में से अधिकतर लोगों ने 15000 रुपये जमा किये हैं, कुछ लोगों ने 30000 रुपये जमा किये हैं, कुल 60-70 लाख रुपये जमा किये गए हैं जबकि 1 करोड़ से अधिक रुपये मिलने हैं. गाँव वालों का कहना है कि अब हम किसी वकील से मदद करने की मांग करेंगे और पैसे मिलने के बाद उसमें से कुछ फीस वकील को देंगे.