Palwal Assembly

Showing posts with label Crime. Show all posts

गजब, अंतराज्यीय लुटेरे आजाद पर दर्ज थी सैकड़ों FIR, इन्सपेक्टर सत्येन्द्र रावल की टीम ने दबोचा

inspector-satyendra-rawal-cia-sohna-arrested-lutera-azad-news

फरीदाबाद: क्राइम यूनिट सोहना के इंचार्ज इंस्पेक्टर सत्येन्द्र रावल की टीम ने एक शातिर वाहन चोर, स्नैचर व दुकानो में चोरी करने वाले एक शातिर चोर को गिरफ़्तार करने चोर को गिरफ्तार किया है. आज़ाद उर्फ कुडू निवासी बावला केे खिलाफ सैकड़ों FIR दर्ज थी. 

आज़ाद उर्फ कुडू एक बहुत ही शातिर क़िस्म का चोर है। यह वर्ष 2013 में जेल से आने के बाद लगातार चोरी व स्नैचिंग की वारदातों को अंजाम दे रहा था लेकिन पुलिस की पकड़ से बाहर था। उससे पहले मेवात में वाहन लूट के लिए कुख्यात अम्मु गैंग का सदस्य रहा था और 2009 से 2013 तक जेल में भी रहा था।

2013 में जेल से आने के बाद इसने गुरुग्राम, फ़रीदाबाद, दिल्ली, पलवल व रेवाड़ी से वाहन चोरी, दुकानो से चोरी व स्नैचिंग की वारदात शुरू कर दी और 6 साल तक लगातार पुलिस की पकड़ से दूर रहा।

सोहना यूनिट ने दिनांक 20/06/19 को सोहना से गिरफ़्तार करके माननिय अदालत से 5 दिन पुलिस रिमांड पर लिया था। रिमांड के दौरान आरोपी ने सैकड़ों वाहन चोरी, दिल्ली, फ़रीदाबाद, मथुरा, झज्जर व भिवाडी इलाक़ा से दुकान तोड़कर चोरी करने की बात क़बूल की है। जिनमे से अभी तक चोरीशुदा 60 वाहन आरोपी की निशानदेही पर बरामद किये गये है। इसके अलावा स्नैचिंग के दो मोबाइल फ़ोन व एक santro कार बरामद की गयी है व घरों व दुकानो की चोरी की कई वारदात सुलझायी गयी है।


आरोपी फ़रीदाबाद के लक्कड़पुर से भी 2016  मोबाइल की दो दुकान तोड़कर LCD व मोबाइल फ़ोन चोरी करने के मामले में वांछित था। इसके अलावा आरोपी को दिल्ली, भिवाडी, मथुरा, झज्जर से   PO (उद्घोषित भगोड़ा ) घोषित किया हुआ है।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि आरोपी आजाद को सोहना क्राइम ब्रांच ने 20 जून 2019 को अंबेडकर चौक से गिरफ्तार किया और उसे कोर्ट में पेश करके 5 दिन के लिए रिमांड पर लिया और सैकड़ों वारदातों का खुलासा किया जिसका विवरण नीचे दिया गया है -

1. Fir no 198 Dt 15.6.19 u/s 379 IPC PS sec 56, Ggm

2. Fir no 174 Dt 4.5.19 u/s 379 IPC PS sec 5, Ggm

3. Fir no 231 Dt 14.6.19 u/s 379 IPC PS sec 5, Ggm

4. Fir no 31 Dt 30.1.19 u/s 379 IPC PS sec 5, Ggm

5. Fir no 167 Dt 8.6.19 u/s 379 IPC PS Farukh Nagar,  Ggm

6. Fir no 58 Dt 22.2.19 u/s 379 IPC PS City Sohna, Ggm

7. Fir no 297 Dt 2.9.18 u/s 379 IPC PS City Sohna, Ggm

8. 219 Dt 11.9.18 u/s 379 IPC PS sec 37, Ggm

9. Fir no 167 Dt 21.5.18 u/s 379 IPC PS Bilaspur, Ggm

10. Fir no 633 Dt 5.2.18 u/s 379 IPC PS sec 10, Ggm

11. Fir no 438Dt 11.10.17 u/s 379 IPC PS Udyog Vihar, Ggm

12. Fir no 132 Dt 20.8.17 u/s 379 IPC PS IMT sec 7, Ggm

13. 131 Dt 8.7.17 u/s 379 IPC PS sec 14, Ggm 

14. Fir no 764 Dt 2017 u/s 379 IPC PS City Ggm 

15. Fir no 32 Dt 2017 u/s 379 IPC PS Sadar Ggm

16. Fir no 1057 Dt 2017 u/s 379 IPC PS DLF Sec 29, Ggm

17. Fir no 258 Dt 17.9.17 u/s 379 IPC PS Sec 14, Ggm

18. Fir no 237 Dt 19.4.17 u/s 379 IPC PS Badshapur, Ggm

19. Fir no 30 Dt 2.6.17 u/s 379 IPC PS Sec 9, Ggm 

20. Fir no 624 Dt 26.11.16 u/s 379 IPC PS Sushant Lok, Ggm 

21. Fir no 759 Dt 25.10.16 u/s 379 IPC PS Sec 5, Ggm

22. Fir no 747 Dt 3.8.16 u/s 379 IPC PS City Ggm 

23. Fir no 381 Dt 12.4.16 u/s 379 IPC PS Sadar Ggm 

24. Fir no 464 Dt 16.8.16 u/s 379 IPC PS Sohna 

25. Fir no 703 Dt 7.11.15 u/s 379 IPC PS Bilaspur, Ggm 

26. Fir no 360 Dt 27.7.15 u/s 379 IPC PS Udyog Vihar, Ggm 

27. Fir no 520 Dt 13.6.15 u/s 379 IPC PS Sadar Ggm 

28. Fir no 183 Dt 23.5.15 u/s 379 IPC PS sec 40, Ggm 

29. Fir no 169 Dt 18.3.15 u/s 379 IPC PS Manesar, Ggm

30. Fir no 594 Dt 2015 u/s 379 IPC PS DLF PH-2, Ggm 

31. Fir no 360 Dt 2015 u/s 379 IPC PS Udyog Vihar,  Ggm 

32. Fir no 520 Dt 2015 u/s 379 IPC PS Sadar Ggm 

33. Fir no 183 Dt 2015 u/s 379 IPC PS sec 40, Ggm 

34. Fir no 913 Dt 25.11.14 u/s 379 IPC PS Sadar Ggm 

35. Fir no 08 Dt 07.01.14 u/s 379 IPC PS City Ggm 

36. Fir no 291 Dt 2014 u/s 379 IPC PS Sec 40, Ggm

37. Fir no 57 Dt 21.2.19 u/s 380,457 IPC PS City Sohna,  Ggm 

38. Fir no 80 Dt 29.01.19 u/s 379A IPC PS Sadar Ggm

39. Fir no 04 Dt 03.01.18 u/s 379 IPC PS 379A IPC PS City Sohna, Ggm

40. Fir no 200 Dt 30.5.19 u/s 379 IPC PS Old Faridabad 

41. Fir no 201 Dt 30.5.19 u/s 379 IPC PS Old Faridabad 

42. Fir no 327 Dt 29.4.19 u/s 379 IPC PS Mujesar Faridabad 

43. Fir no 280 Dt 30.5.19 u/s 379 IPC PS Hodal Palwal 

44. Fir no 126 Dt 6.11.18 u/s 379 IPC PS Dabuva Colony Faridabad 

45. Fir no 434 Dt 5.9.18 u/s SGM Nagar Faridabad 

46. Fir no 836 Dt 27.10.17 u/s 379 IPC PS Camp Palwal 

47. Fir no 36736 Dt 16.10.18 u/s 379 IPC PS MV Theft Delhi

48. 16853 Dt 19.5.18 u/s 379 IPC PS MV Theft Delhi 

49. Fir no 11677 Dt 10.4.18 u/s 379 IPC PS MV Theft Delhi 

50. Fir no 18677 Dt 31.5.18 u/s 379 IPC PS MV Theft Delhi 

51. Fir no 2338 Dt 21.5.15 u/s 379 IPC PS MV Theft Delhi 

52. Fir no 8654 Dt 15.4.15 u/s 379 IPC PS MV Theft Delhi 

53. Fir no. 115/17 u/s 457/380 ipc ps surajkund faridabad 

54. Fir no. 116/17 u/s 457/380 ipc ps surajkund faridabad

55. Fir  no. 182 dt. 26.05.18 u/s 457/380 ipc ps city Sohna 

56.  Fir no. 215 dt 28.08.18 u/s 380 ipc ps bhondasi 

57. Fir no. 14 dt b25.01.19 u/s 454/380 ipc ps sadar sohna 

And total 11 m/c in 102 crpc 
Accused also declared As P.O. From faridabad, Mathura, Bhiwadi, Jhajjar and Delhi.  

Total Recovery during police remand from the accused Aazad:-

Motorcycles :   60 

Santo Car.     :    01

Mobile phone:   02

Total trace case: 57

Noted: Accused be produced in the court on Dt 26.6.19 after end of police remand. 

Comp: Kafil s/o Sahid r/o Chandeni PS Nuh Distt Nuh 

I/O:  ASI Kamal Singh 

विधायक ललित नागर के फर्जी लेटरहेड से बनवाते थे आधार कार्ड, गिरोह का हुआ भंडाफोड़, कई गिरफ्तार

adhaar-card-case-mla-lalit-nagar-lodge-fir-police-arrest-many-accused

फरीदाबाद: आपको बताते चलें कि थाना सेंट्रल पुलिस को मनोज नागर पुत्र स्वर्गीय भरत सिंह मकान नंबर 453 सेक्टर 17 फरीदाबाद की तरफ से एक शिकायत मिली थी कि वह ललित नागर विधायक तिगांव का बड़ा भाई है।

उसने बताया कि काफी समय से सूचना मिल रही थी कि विधायक ललित नागर के लेटर हेड का कुछ लोग अलग अलग तरीके से गलत इस्तेमाल करके फर्जी तरीके से आधार कार्ड बना रहे हैं इस संबंध में विधायक ने थाना सेंट्रल में शिकायत दी थी।

शिकायत के आधार पर थाना सेंट्रल पुलिस मुकदमा नंबर 367 आईपीसी की धारा 420, 467, 468, 471, 120 बी, आईपीसी के तहत मुकदमा दर्ज कर लेटर हेड का गलत इस्तेमाल करने वाले आरोपियों को दबोच लिया है।

आरोपी आधार कार्ड में नाम जन्मतिथि व स्थाई पता बदलवाने के लिए विधायक का फर्जी लेटर हेड का इस्तेमाल करते थे।

अगर किसी व्यक्ति के पास कोई भी एड्रेस प्रूफ ना हो तो आरोपी 15 सो रुपए में  आधार कार्ड में नाम एवं पता  बदलवाने  के लिए लेते थे।

आरोपीयान विधायक ललित नागर  के फर्जी  लेटर हेड बनवाने के अलग से  ₹750  रुपए लेते थे।

पुलिस ने मिली शिकायत के आधार पर फर्जी काम करने वाले विकास, जितेंद्र, देवराज एवं उसके अन्य साथियों को गिरफ्तार किया है।

सैकड़ों युवाओं ने धोखाधड़ी, करोड़ों रुपये एडवांस वसूलकर पॉवर वर्ल्ड जिम हुआ बंद, पुलिस में शिकायत

power-world-gym-nit-2-l-block-closed-police-complaint-against-cheating

फरीदाबाद: फरीदाबाद में पॉवर वर्ल्ड इंटरनेशनल जिम की कई शाखाएं थीं, NIT-2 L ब्लाक में भी पॉवर जिम खोला गया था जिसमें सैकड़ों युवा रोजाना एक्सरसाइज करने आते थे, अधिकतर लोगों ने एडवांस में एक साल की मेम्बरशिप ले रखी थी लेकिन अचानक एक दिन बिना किसी को बताये जिम बंद कर दिया गया, करीब एक महीनें से जिम बंद है और युवा खुद को ठगा सा महसूस कर रहे हैं और परेशान हो रहे हैं. देखिये मेम्बरशिप की रसीद - 

डबुआ कॉलोनी के रहने वाले विकास राघव से एक साल की मेम्बरशिप के लिए 3900 रुपये वसूले गए थे, इसी तरह से सैकड़ों लोगों ने एडवांस में पैसे दे रखे थे.


जब युवाओं ने काफी दौडभाग की तो जिम वालों ने एक नोटिस चिपका दिया जिसमें लिखा गया - जिम बंद होने पर हुई आपकी असुविधा के लिए खेद है, हमारे पास आपके लिए कई विकल्प हैं - आपके नजदीक वाले जिम में मेम्बरशिप ट्रान्सफर, जब तक जिम बंद है फीस माफ़, आपकी फीस का रिफंड. युवाओं ने बताया कि इन विकल्पों को चुनने के लिए भी हम रेडी थे लेकिन जब हमने दिए गए फोन नंबर पर संपर्क करना चाहा तो फोन बंद मिला. ये सब हमें मूर्ख बनाने के लिए किया जा रहा है.


अब इस धोखाधडी के खिलाफ NIT-2 पुलिस चौकी में शिकायत की गयी है. शिकायत में पॉवर जिम के संचालक और मैनेजर के खिलाफ कार्यवाही की मांग की गयी है. NIT-2 वाला जिम दिनांक 31.5.2019 से जिम बंद है, इसकी अन्य शाखाएं भी बंद हो सकती हैं. जल्द से जल्द कार्यवाही की जाए.



हमने युवाओं ने बातचीत की तो उन्होंने बताया कि जिम बंद होने से हम लोग बहुत परेशान हैं, हमसे झूठ बोलकर और इधर उधर दौड़कर और परेशान किया जा रहा है. ऐसे लोगों पर कार्यवाही होनी चाहिए वरना युवाओं के साथ ऐसी ही ठगी होती रहेगी.

डेथ वैली में दो शव मिलने के उलझे मामले को CIA DLF ने सुलझाया, पढे़ पूरी रिपोर्ट

cia-dlf-solve-aravali-death-valley-case-4-accused-arrested

फरीदाबाद: क्राइम ब्रांच डीएलएफ को बड़ी कामयाबी मिली है. डेथ वैली में मिली युवती की लाश की वारदात को सुलझाते हुए ACP Crime ने बड़ा खुलासा किया।

इस मामले में चार आरोपी गिरफ्तार किए गए हैं।

डेथ वैली में बैग में मिली थी युवती की नाश व पानी में तैरता हुआ मिला था युवक का शव। झील में मिली युवक व युवती की लाश का आपस में कोई संबंध नहीं।

दिनांक 23 जून 2019 को सहायक पुलिस आयुक्त अपराध अनिल कुमार ने अपने कार्यालय सेक्टर 30 में प्रेस को संबोधित करते हुए डेथ वैली में मिले युवक व युवती की लाश के बारे में खुलासा किया है।

आपको बताने चले कि दिनांक 13.06.2019 को बड वाली झील अनंगपुर में एक लड़के का शव पानी में तैरता हुआ और एक लड़की का शव बैग में मिला था जिस पर मुकदमा न० 357 Dt. 13.06.2019 U/S - 302, 201 IPC थाना सूरजकुंड फरीदाबाद अंकित किया गया था। दोनों शव काफी फुले हुए थे। जिनको को निकालकर पोस्टमार्टम हेतु पीजीआईएमएस रोहतक भेजा गया था।

पोस्टमार्टम के बाद दोनों शवों को  बीके हॉस्पिटल में पहचान के लिए रखा गया था जिसमे लड़के के शव की पहचान सचिन पुत्र सुभाष निवासी पर्वतीय कॉलोनी फरीदाबाद के रूप में हुई थी। 

पोस्टमार्टम के बाद सचिन का शव को अंतिम संस्कार हेतु उसके परिवारजनों के हवाले किया और लड़की के शव को पहचान के लिए BKH फरीदाबाद शव गृह में रखा गया जिसकी पहचान दिनांक 19.06.19 को मनीषा निवासी फरीदाबाद के रूप में हुई थी।  

वारदात की गम्भीरता को देखते हुए पुलिस कमिश्नर श्री संजय कुमार IPS के आदेश व पुलिस उपायुक्त अपराध श्री राजेश कुमार के  दिशा निर्देश व सहायक पुलिस आयुक्त अपराध श्री अनिल कुमार के मार्ग दर्शन पर इस केस की तफ्तीश अपराध शाखा DLF फरीदाबाद को दी गई थी। 

आरापियो की धरपकड के लिए निरीक्षक संजीव कुमार प्रभारी अपराध शाखा DLF ने एक टीम का गठन किया। जो निम्नलिखित है: -

पुलिस टीम: - निरीक्षक संजीव कुमार, उप निरीक्षक जमील अहमद ,उप निरीक्षक अश्वनी कुमार ,सहायक उप निरीक्षक कप्तान, मुख्य सिपाही प्रवीन , मुख्य सिपाही ईश्वर सिंह , मुख्य सिपाही आनंद, सिपाही अनिल कुमार (साईबर एक्सपर्ट), सिपाही संदीप (ड्राईवर), सिपाही सूरज , सिपाही नसीब 

सुलझाई वारदात / केस का विवरण:
                        
मुकदमा में मृतक सचिन के घरवालो ने बताया की दिनांक 05.06.19 को सचिन का NIIT का रिजल्ट आया था और वह गुमसुम  दिखाई दे रहा था तथा CCTV फुटेज की सहायता से पता चला की सचिन अपने घर से अकेला ऑटो रिक्शा में जाता हुआ दिखाई दे रहा है जिससे मृतक सचिन की मौत आत्महत्या प्रतीत हो रही है क्योकि मृतक सचिन के जिस्म पर कोई चोट का निशान भी नही था।

लेकिन पुलिस अभी तक सचिन की मौत के सम्बन्ध हत्या के ही दृष्टीकोण से  जांच कर रही है और पोस्ट मार्टम में भी अभी मौत का कारण स्पष्ट नही हुआ है।

 मृतका मनीषा के पिता ने बताया की उसकी बेटी ब्यूटी पार्लर में काम करती थी जिसकी सुरजीत और विमल के साथ दोस्ती थी कुछ दिन पहले सुरजीत के घर वालो ने सुरजीत का रिश्ता कहीं और कर दिया था इस रिश्ते का पता मनीषा को चलते ही मनीषा ने लड़की वालो के पास जाकर सुरजीत का रिश्ता तुडवा  दिया था और इसी कारण सुरजीत अपने मन में रंजिस पाले हुए था और मनीषा को जान से मारने की धमकी देता रहता था।
                      
इसके बाद सुरजीत और विमल की तलाश की गई लेकिन दोनों ही घर से भाग चुके थे जिनको सूचना के आधार पर दिनांक 22.06.19 को आरोपियान सुरजीत और विमल को पल्ला पुल फरीदाबाद से गिरफ्तार किया जो आरोपियान ने अपने दो और साथी प्रिंस उर्फ़ लाला और भीम सिंह उर्फ़ ऐनु को भी मनीषा  की हत्या में शामिल होना बताया।

जिनको बदर पुर बॉर्डर बाई पास मोड़ से गिरफ्तार किया गया। 
          
पूछताछ में सुरजीत ने बताया की मनीषा उसको ब्लैकमेल करती रहती थी और मनीषा ने उसका  रिश्ता भी तुडवा दिया था और विमल के घर भी फ़ोन करके विमल के पिता और घर वालो को गाली देती रहती थी जिससे परेशान होकर दिनांक 09.06.19 को सुरजीत ने फ्रेंड्स कॉलोनी ओल्ड फरीदाबाद में अपने किराये के कमरे में अपने साथी विमल ,लाला और ऐनु के साथ मिलकर मनीषा  को जान से मारने की योजना बनाई । 

दिनांक 10.06.19 को योजना के अनुसार सुरजीत और विमल गाँव एतमादपुर पुल के पास मनीषा के किराये के कमरे पर गये जहाँ पर मनीषा अकेली थी सुरजीत ने कमरे में घुसते ही मनीषा का गला दबा दिया और विमल ने दरवाजा बंद करके मनीषा के पैर पकड़ लिए और सुरजीत ने मनीषा के सिर पर मुक्के और कोहनी से चोटें मारकर और गला दबाकर हत्या कर दी और मनीषा के शव को कमरे में बने बाथरूम में ही छुपा दिया।  
              
इसके बाद मनीषा के शव को ठिकाने लगाने के लिए चारो दोस्तों ने ओल्ड फरीदाबाद मार्किट से एक बड़ा बैग खरीदा और वापिस मनीषा के कमरे पर जाकर मनीषा के शव को उस बैग में डालकर मोटर साइकिल पर रखकर बड वाली झील अनंगपुर पहाड़ी में डाल दिया ।

चारो आरोपियान को आज दिनांक 23.06.19 को पेश अदालत करके मृतका मनीषा के मोबाइल फ़ोन और वारदात में प्रयोग की गई दो मोटर साइकिल और बाकी सामान की बरामदगी हेतु और गहनता से पूछताछ के लिए पुलिस रिमांड पर लिया जायेगा। 

क्राइम ब्रांच प्रभारी इंस्पेक्टर संजीवनी  बताया कि अब तक की तफ्तीश से मृतक सचिन की मौत और मृतका मनीषा की हत्या के बीच कोई सम्बन्ध नही पाया गया है। मृतक सचिन की मौत बारे अलग से जाँच की जा रही है।
  
गिरफ्तार आरोपीयो  का विवरण:

1. सुरजीत मोर्या पुत्र जय नारायण निवासी डागी बरबलिया थाना शिवरतनगंज जिला अमेठी UP हाल चोकीदार म.न.788 सै. 21A FBD

2. विमल कुमार पुत्र नागेश्वर निवासी नौडीया थाना खैरा जिला जमुई बिहार हाल चौकीदार HN 139 sec 21A Fbd

3. भीम सिंह उर्फ़ ऐनु पुत्र बन्सीलाल निवासी पककी गढी मुथरा UP हाल चौकीदार HNo 448 sec 21A Fbd

4. प्रिंस उर्फ़  लाला पुत्र क्रष्ण पाल निवासी गांव फतेहपुर चन्देला।

पुलिस प्रवक्ता सुबे सिंह ने बताया कि उपरोक्त चारों आरोपियों को आज माननीय अदालत में  पेश कर 4 दिन के पुलिस रिमांड मे लिया गया है.

बल्लभगढ़ से बच्चे ने चोरी किया था Vivo फोन, जिसका हो भटोला गाँव पहुंचकर पासवार्ड डालें, ले आयें

vivo-phone-chori-from-ballabhgarh-now-in-bhatola-village-himanshu

फरीदाबाद: शहर में फोन चोरी की कई वारदातें हो रही हैं. बल्लभगढ़ से एक बच्चे ने करीब 20-30 हजार कीमत का Vivo मोबाइल फोन चोरी किया था, यह फोन इस वक्त भटोला गाँव में है.

बात दरअसल ये है कि भटोला गाँव के एक युवक हिमांशु ने एक बच्चे को देखा जिसके हाथ में मंहगा फोन था, हिमांशु को शक हुआ तो उसने बच्चे को रोका और उससे पूछा कि यह फोन किसका है.

हिमांशु का सवाल सुनकर बच्चा डर गया और बताया कि यह फोन मैंने बल्लभगढ़ से चोरी किया था. इतना कहकर उसनें फोन हिमांशु को दिया और वहां से भाग गया.

हिमांशु ने बताया कि यह फोन उसके पास है, इसमें पासवर्ड लगा है, जिसका भी यह फोन हो वह फोन ले सकता है लेकिन फोन लेने के लिए बिल या पासवर्ड डालना होगा. अगर इस फोन के चोरी होने की FIR की गयी है तो कानून के अनुसार इसे पुलिस के सुपुर्द कर दिया जाएगा, अगर किसी ने फोन चोरी की FIR लिखवाई है तो वो अपने IO से संपर्क करें, उनके जरिये फोन बरामद करें. अगर किसी ने FIR नहीं लिखवाई है तो वह डायरेक्ट फोन ले सकता है. (हिमांशु : कांटेक्ट 9289000098)

क्राइम ब्रांच ने अरावली झील में तैरते शवों के मामले को सुलझाया, आज ACP क्राइम करेंगे खुलासा

surajkund-death-vally-murder-case-faridabad-crime-branch-solve-case

फरीदाबाद: इसी हप्ते सूरजकुंड की डेथ वैली झील में दो शवों के मिलने पर हडकंप मच गया था, युवक-युवती के शवों को सूटकेस में भरकर झील में फेंक दिया गया था. फरीदाबाद क्राइम ब्रांच ने इस मामले को सुलझा लिया है और चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है, आज ACP क्राइम अनिल कुमार सेक्टर-30 पुलिस लाइन में एक प्रेस वार्ता करके पूरे मामले का खुलासा करेंगे.

आपको बता दें कि 13 जून 2019 को सूरजकुंड डेथ वैली में दो लोगों की डेड बॉडी मिलने के बाद पूरे शहर में हडकंप मच गया है.

13 जून सुबह कंट्रोल रूम के द्वारा थाना सूरजकुंड पुलिस को सूचना मिली कि सूरजकुड एरिया में अरावली झील के अंदर पानी मे डेड बॉडी पड़ी है।

सूचना पाकर तुरंत मौके पर  एसएचओ, ए एसआई महावीर व टीम के साथ पहुंचे।  मौके पर एसीपी बड़खल  सुखबीर सिंह और क्राइम ब्रांच सेक्टर 30, क्राइम ब्रांच डीएलएफ, क्राइम ब्रांच बड़खल, एफएसएल की टीम और गोताखोर पहुंचे। डेड बॉडी को बाहर निकाला गया. एक डेड बॉडी पानी में खुले में तैर रही थी.

इंस्पेक्टर सत्येन्द्र रावल की टीम ने शातिर चोर को दबोचा, लूटे गए चार वाहन, 1 मोबाइल बरामद

sohna-crime-branch-incharge-satyendra-rawat-team-arrested-chor-dharmbeer

सोहना: क्राइम ब्रांच सोहना के प्रभारी इंस्पेक्टर सत्येन्द्र रावल की टीम ने गुरुग्राम के सेक्टर 65 थाना के इलाक़ा से लगातार 4 लूट की वारदात करने वाले आरोपी धर्मबीर पुत्र हरपाल को गिरफ्तार किया है.

आरोपी धर्मबीर - निवासी जाट का सिशोना थाना नगीना नूह को इंडरी मोड़ का रहने वाला है, आरोपी को दिनांक 20/06/19 को गिरफ़्तार किया था व 2 दिन के पुलिस रिमांड पर लिया था। 

रिमांड के दौरान आरोपी ने अपने एक साथी के साथ गुरुग्राम के थाना सेक्टर 65 से एक वैगन - R कार, तीन ऑटो व एक मोबाइल फ़ोन लूटने की वारदात स्वीकार की थी। आरोपी से थाना सेक्टर 65 की लूट की 3 वारदात व थाना सेक्टर 29 की एक वारदात सुलझाई गयी है। लूट का सारा सामान आरोपी से बरामद किया जा चुका है। साथी आरोपी की गिरफ़्तारी अभी बक़ाया है।

मुजेड़ी गाँव में नामी गैंगस्टर सतपाल मुजेड़ी के पुराने साथी भंवर का मर्डर, गाँव में मचा कोहराम

bhanwar-murder-case-in-mujedi-village-satpal-mujedi-old-fellow

फरीदाबाद: आज सुबह मुजेडी गाँव में गोलीकांड की खबर आयी जिसमें घायल होकर एक युवक भंवर की मौत हो गयी. खबर के मुताबिक़ अज्ञात बदमाशों ने भंवर पर पांच राउंड गोलियां चलायीं. भंवर की मौके पर ही मौत हो गयी. 

पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शव को अपने कब्जे में ले लिया लेकिन हत्याकांड से नाराज परिजनों ने बाईपास रोड जाम कर दिया और आरोपियों के खिलाफ तुरंत कार्यवाही की मांग की.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि मृतक भंवर दिल्ली-NCR के नामी गैंगस्टर सतपाल मुजेडी का पुराना साथी था लेकिन चार पांच वर्ष पूर्व सतपाल मुजेड़ी ने भंवर के सर पर से अपना हाथ हटा लिया था. आपको बता दें कि सतपाल मुजेड़ी एनसीआर का नामी गैंगस्टर है जिसपर नाम हत्या, हत्या के प्रयास और रंगदारी के करीब 35 मुक़दमे दर्ज हैं.

आपको बाता दें कि करीब 2 वर्ष पहले मुजेड़ी गाँव में ही मनीष मर्डर केस में भंवर के अलावा सतपाल का भी नाम आया था लेकिन पुलिस ने जांच के बाद सतपाल का नाम काट दिया था. बात दरअसल ये थी कि मनीष और भंवर की कई वर्षों से रंजिश चल रही थी, कई बार दोनों के बीच मारपीट हुई थी और पुलिस केस हुआ था. 

भंवर की हत्या से पूरे शहर में सनसनी का माहौल है. अब पुलिस इस बात की जांच करेगी कि भंवर की हत्या पुरानी वारदातों का बदला है या कुछ और मामला है. जल्द ही मामले की अपडेट दी जाएगी.

NIT-5 में पड़ा छापा, क्राइम ब्रांच 30 प्रभारी इंस्पेक्टर विमल की टीम के हत्थे चढ़े 2 सटोरी, पढ़ें

cia-30-inspector-vimal-kumar-arrested-2-satori-from-nit-5-faridabad

फरीदाबाद: फरीदाबाद में दिनाँक 20.06.19 को क्रिकेट खेल के महाकुंभ में  ऑस्ट्रेलिया और बंगलादेश के  क्रिकेट मैच के चलते फरीदाबाद क्राइम ब्रांच ने सट्टेबाजों पर बड़ी कार्रवाई करते हुए 2 सटोरियों को गिरफ्तार कर लिया. 

पुलिस कार्यवाही की डिटेल

DCP क्राइम फरीदाबाद राजेश एवं ACP क्राइम अनिल यादव के दिशा निर्देश पर कार्यवाही करते हुए क्राइम ब्रांच सैक्टर 30 प्रभारी इंस्पेक्टर विमल कुमार ने मुखबिर की सूचना पर इस कार्यवाही को अंजाम दिया. 

सैक्टर 30 क्राइम ब्रांच प्रभारी ने जानकारी देते हुए बताया कि मुखबिर से सूचना मिलने के बाद उनके नेतृत्व में NIT-5 कस्बे  के एक मकान पर दबिश दी गई. दबिश में 2 सटोरियों को क्रिकेट मैच पर सट्टा लगाते और खाईवाली करते हुए गिरफ्तार किया गया है.

प्रभारी क्राइम ब्रांच इंस्पेक्टर विमल के मुताबिक सटोरियों से 3 मोबाइल व करीब 6000 हजार रुपये नकद ओर सट्टे से जुड़े हिसाब किताब की पर्चियां बरामद की हैं. यही नहीं वहां से पुलिस को पुराने क्रिकेट मैचों पर लगे करीबन लाखो  रुपये का लेखा जोखा भी मिला है. पुलिस ने मौके से एलईडी टीवी, सेट टॉप बॉक्स सहित कई उपकरण भी कब्जे में लिए हैं.

क्राइम ब्रांच प्रभारी ने बताया कि आरोपियों से पूछताछ की जा रही है. जो भी इस सट्टा खाईवाली के काम से जुड़ा होगा उसपे सख्त कानूनी कार्यवाही की जाएगी. आरोपी ऑस्ट्रेलिया और बंगलादेश के वर्ल्डकप क्रिकेट मैच पर सट्टेबाजी को अंजाम दे रहे थे. 

पूछताछ में हुए कई खुलासे

आरोपी जितेंद्र व संदीप ने पूछताछ पर बतलाया की सट्टे के खेल में कोड वर्ड का इस्तेमाल होता है। सट्टे पर पैसे लगाने वाले को फंटर कहते हैं। जो पैसे का हिसाब किताब रखता है, उसे बुकी कहा जाता है। सट्टा लगाने वाले फंटर 2 शब्द खाया और लगाया का इस्तेमाल करते हैं। यानी किसी टीम को फेवरिट माना जाता है तो उस पर लगे दांव को लगाना कहते हैं। ऐसे में दूसरी टीम पर दांव लगाना हो तो उसे खाना कहते हैं। इस खेल में डिब्बा अहम भूमिका निभाता है। डिब्बा मोबाइल का वह कनेक्शन है, जो मुख्य सटोरियों से फंटर को कनेक्शन देते हैं। जिस पर हर बॉल का रेट बताया जाता है। पूरे आईपीएल के दौरान डिब्बे का कनेक्शन ढाई से 3 हजार से 5 हजार  में मिलता है। डिब्बे का कनेक्शन एक खास नंबर होता है, जिसे डायल करते ही उस नंबर पर कमेंट्री शुरू हो जाती है। सट्टा क्रिकेट मैच में 2 सेशन में लगता है। दोनों सेशन 25-25 ओवर के होते हैं

पकड़े गए आरोपियों की पहचान 

1. जितेंद्र पुत्र सुभाष निवासी मकान न0 37 WH NIT -5 फरीदाबाद 
2. संदीप पुत्र सुभाष निवासी मकान न0 36 WH NIT -5 फरीदाबाद

रिकवरी:

1. एक एलईडी टीवी र
2. 3 मोबाइल फोन
3. बाल पैन
4. सट्टा पर्ची
5. 6000 रुपये नकद
6. केबल सेट टॉप बॉक्स

शादीशुदा शौक़ीन ने नाबालिक लड़की से किया रेप, माँ ने मांगी कड़ी सजा, बिट्टू बजरंगी ने मांगी फांसी

faridabad-jeewan-nagar-minor-rape-case-accused-shaukeen-farar-news

फरीदाबाद: फरीदाबाद जीवन नगर में हिन्दू समुदाय की एक नाबालिक लड़की को किडनैप करके रेप का मामला सामने आया है जिसके खिलाफ मुजेसर थाने में FIR नंबर 450 दर्ज की गयी है.

पुलिस ने नाबालिक लड़की का मेडिकल टेस्ट करा लिया है जिसके बाद पीड़ित का CWC और सेक्टर 12 कोर्ट में बयान कराया गया. इस मामले में आरोपी के खिलाफ पोस्को एक्ट के तहत कार्यवाही की जाएगी.

नाबालिक पीडिता ने बताया कि वह जीवन नगर में रहती है, आरोपी शौक़ीन उसके घर के पास ही रहता है, एक दिन शौक़ीन ने उसे पेट्रोल पम्प के पास बुलाया और कहा कि तुमसे कुछ बात करनी है. पेट्रोल पम्प पर उसनें कहा कि मेरी बाइक के पीछे बैठ जा वरना तेरे माँ-बाप को जान से मार दूंगा.

उसके बाद पीडिता उसकी बाइक के पीछे बैठ गयी. आरोपी उसे सोहना ले गया और अपने दोस्त की मदद से एक कमरा लिया. उसी कमरे में उसके साथ बलात्कार किया गया.

दूसरे दिन पीडिता के परिवार वालों ने लड़की की खोज की तो उन्हें शौक़ीन पर शक हुआ, शौक़ीन के चाचा नाजिम पर भी कानूनी कार्यवाही की धमकी दी गयी तो उसनें शौक़ीन का पता बताया और पीडिता के पिता के साथ सोहना जाकर लड़की को बरामद किया गया लेकिन शौक़ीन वहां से फरार हो चुका था.

पीडिता का मेडिकल टेस्ट करा दिया गया है. पीडिता की माँ ने कहा कि मेरी बेटी की इज्जत तो चली गयी, अब मैं आरोपी के लिए कड़ी सजा चाहती हूँ, इस मामले में पीड़ित परिवार की मदद कर रहे समाजसेवी बिट्टू बजरंगी ने कहा कि मैं हरियाणा सरकार से आरोपी शौक़ीन के लिए फांसी की सजा की मांग करता हूँ.

क्राइम ब्रांच 48 ने मारा छापा, सेक्टर-7 में सट्टेबाजी करते हुए चार आरोपी गिरफ्तार

crime-branch-sector-48-arrested-4-sattebaaj-from-sector-7-after-raid

फरीदाबाद: पुलिस आयुक्त फरीदाबाद के निर्देशों तथा राजेश कुमार पुलिस उपायुक्त अपराध शाखा व अनिल कुमार यादव सहायक पुलिस आयुक्त अपराध फरीदाबाद के दिशा निर्देशों के मुताबिक कार्य करते हुए अपराध शाखा सेक्टर 48 फरीदाबाद की टीम ने दिनांक 19.6.2019 को सेक्टर 7 के एक मकान में छापा मारा.

छापे के दौरान न्यूजीलैंड तथा दक्षिण अफ्रीका की टीम पर क्रिकेट के मैच पर सट्टा खाईवाली  करते  हुए चार व्यक्तियों को रंगे हाथों सट्टा लगाते हुए गिरफ्तार किया गया.

आरोपी राहुल, अमित, राहुल और इन्दरजीत के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है जिसकी डिटेल नीचे दी गयी है. 

FIR- 396 dt 19/06/19 u/s 3,4,13A-3-67 G. Act ps Sec-7 fbd 

आरोपियों के पास से निम्नलिखित सामना बरामद किये गए - 

1. Cash-9000/-
2. One Satta parchi
3. One Ball pen
4. One LCD 
5. One Set-UP Box
6. One Laptop Lenovo
7. Four Mobile Phone

ऊंचा गाँव क्राइम ब्रांच ने चोर को दबोचा, चार मोटरसाईकिल और 1 फोन बरामद कर भेजा जेल

crime-branch-uncha-gaon-arrested-chor-recovred-4-motercycle-phone

फरीदाबाद: फरीदाबाद क्राइम ब्रांच ऊंचा गांव प्रभारी की टीम ने एक वाहन चोर को गिरफ्तार कर उसके कब्जे से चार बाईक व एक फोन बरामद किया है, आरोपी को जेल भेज दिया गया है.

आरोपी विनीत नशे का आदी है जो अपने नशे की पूर्ति के लिए मोटर साइकिल एवं मोबाइल चोरी करता है. आरोपी इससे पहले भी लूट के मुकदमे में जेल जा चुका है.

आरोपी को कल दिनांक 18/ 6/ 19 को दौरान  गस्त पड़ताल क्राइम मुखबिर द्वारा सूचना मिलने पर अनाज मंडी बल्लभगढ़ से कल गिरफ्तार किया गया था. आरोपी विनीत को आज पेश अदालत मे पेश कर जेल भेज दिया.

नाबालिक से बलात्कार करने वाले दोनों आरोपियों को बल्लभगढ़ महिला पुलिस ने 24 घंटे में दबोचा

ballabhgarh-women-police-arrested-2-rape-accuse-with-minor-girl

फरीदाबाद: नाबालिक के साथ दुष्कर्म मामले में दोनों आरोपियों को बल्लभगढ़ महिला थाना पुलिस ने 24 घंटे के अन्दर गिरफ्तार कर लिया है।

ट्वीट के माध्यम से सूचना मिलने पर पुलिस आयुक्त महोदय ने संज्ञान लेते हुए SHO महिला थाना बल्लभगढ़ को तुरंत पीडिता से मिलकर बयान दर्ज कर FIR करने के निर्देश दिए थे।

कल पीड़िता के बयान के आधार पर संबंधित धाराओं के अंतर्गत मुकदमा दर्ज करके आरोपियों की धरपकड़ शुरू की गई थी, जिसमें एक आरोपी रामेश्वर निवासी अटाली जो घर से फरार था को आज बल्लभगढ़ से गिरफ्तार किया गया वा दूसरे आरोपी  गौतम निवासी भाव खिलेरीपुर थाना रघुपुरा जिला गौतम बुध नगर यूपी को उसके गाव से गिरफ्तार किया गया है।

40 वर्षीय आरोपी रामेश्वर की अटाली गांव में वेल्डिंग की दुकान है, और दूसरा आरोपी गौतम जिसकी उम्र करीब 32 साल है आरोपी रामेश्वर की वेल्डिंग की दुकान पर काम करता था।

पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि महिला थाना प्रभारी रेनू शेखावत और उसकी टीम के एएसआई सुरेंद्र एएसआई शर्मिला कांस्टेबल संदीप व रोहित ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है कल आरोपियों को कोर्ट में पेश कर जेल भेजा जाएगा।

50 हजार के एक ईनामी बदमाश सहित हत्या-हत्या के प्रयास सहित 8 मामलों में फरार तीन बदमाश गिरफ्तार

faridabad-city-ballabhgarh-thana-arrested-three-criminal-19-june-2019

फरीदाबाद: पुलिस आयुक्त संजय कुमार के दिशा निर्देश और डी.सी.पी बल्लवगढ़ राजेश कुमार के मार्गदर्शन में कार्य करते हुए बल्लभगढ़ शहर थाना प्रबंधक राजीव कुमार और उसकी टीम ने तीन भगौड़े आरोपियों को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। इनके खिलाफ हत्या का मामला दर्ज था.

गिरफतार किए गए आरोपियों का ब्यौराः

1. राज सिंह पुत्र रामसिंह निवासीगण छपरौला।
2. राजाराम पुत्र रामसिंह निवासीगण छपरौला।
3. सुमेश पुत्र प्यारेलाल निवासी पलवल।

तीनों आरोपी नीचे लिखे मामलों में संलिप्त थे और अभी तक फरार चल रहे थे जिस में आरोपी राज सिंह पुत्र रामसिंह पर फरीदाबाद पुलिस द्वारा 50,000/- रूप्ये का ईनाम घोषित किया गया था। 

1. मुकदमा न0 207 दिनांक 9.10.2012 धारा 323, 353, 307, 188 थाना पटोदी ।
2. मुकदमा न0 41/2001 धारा 148, 149, 307, 506 थाना सदर पलवल।
3. मुकदमा न0 317/05 धारा 279, 307, 506 थाना सदर पलवल।
4. मुकदमा न0 99/06 धारा 148, 149, 307, 302, 506 थाना सदर पलवल
5. मुकदमा न0 244/10 धारा 148, 149, 283, 353, 307, 341 थाना सदर पलवल 
6. मुकदमा न0 245/10 धारा 148, 149, 307, 506 थाना सदर पलवल 
7. मुकदमा न0 334/11 धारा 148, 149, 307, 506 थाना सदर पलवल  
8. मुकदमा न0 225/2000 धारा 148, 149, 307 थाना सदर पलवल 

आज दिनांक 19.06.19 को प्रबंधक थाना शहर बल्लवगढ़ इंस्पेक्टर राजीव कुमार को मुखवर से सुचना मिली थी कि मुकदमा न0 387/12 धारा 302 भा0द0स0, A Act, थाना शहर बल्लवगढ में पुलिस उदघोषित अपराधी राज सिंह व राजाराम पुत्रान रामसिंह निवासीगण छपरौला व सुमेश पुत्र प्यारेलाल निवासी पलवल जिसमें राज सिंह के ऊपर 50,000/- ईनाम फरीदाबाद जिला पुलिस से घोषित है ये तीनों राजा नाहर महल के सामने नाहर सिंह पार्क में है। 

सुचना मिलते ही तुरंत स0उ0नि0 विजयपाल के नेतृत्व में टीम भेजकर तीनों को काबु करके मुकदमा न0 334 दिनांक 19.06.19 धारा 174 ए भा0द0स0 थाना शहर बल्लवगढ में विधि अनुसार गिरफ्तार किया गया। 

पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि तीनों आरोपियों को आज कोर्ट में पेश करके जेल भेज दिया है।

सरबजीत ने गुरुद्वारा बंगला साहिब के सेवादार के भी तोड़े थे हाथ, पहले भी दर्ज हो चुकी हैं 4 FIR

delhi-sikh-driver-sarabjeet-singh-exposed-3-criminal-fir-logde-against-him

नई दिल्ली: दिल्ली के मुख़र्जी नगर थाने के सिपाहियों ने 16 जून को एक सिख ऑटो ड्राईवर सरबजीत सिंह और उसके बेटे की पिटाई की थी, सोशल मीडिया पर यह वीडियो वायरल हुआ है, उससे पहले सरबजीत सिंह ने तलवार से एक पुलिसकर्मी पर वार किया, उसके सर में चोटें आयीं -

policemen-beaten

वायरल वीडियो में पुलिसकर्मी की चोट नहीं दिख पायी लेकिन सरबजीत को पीटते हुए वीडियो वायरल हो गयी जिसकी वजह से देशवासियों का गुस्सा भड़क गया और पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्यवाही की मांग की गयी. दिल्ली पुलिस ने तुरंत पिटाई करने वाले तीन पुलिसकर्मियों -  ASI संजय मलिक, ASI देवेंदर, कांस्टेबल पुष्पेन्द्र  को सस्पेंड कर दिया.

अब ऑटो ड्राईवर सरबजीत सिंह के बारे में भी कई खुलासे हो रहे हैं, दिल्ली पुलिस ने इस मामले में एक जांच रिपोर्ट तैयार की है जिसमें मुख़र्जी नगर थाने के पुलिसकर्मियों को पिटाई का दोषी पाया है लेकिन सरबजीत सिंह के बारे में भी जांच पड़ताल की गयी है. सरबजीत के खिलाफ पहले भी 4 FIR दर्ज हो चुकी हैं.

एक मामले में सरबजीत सिंह ने गुरुद्वारा बँगला साहिब के सेवादार का हाथ तोड़ दिया था जिसके खिलाफ FIR दर्ज करवाई गयी थी.

क्या है पुलिस की रिपोर्ट

इस रिपोर्ट में जो सबसे चौंकाने वाली चीज़ है वो है टेम्पो चालक सरबजीत का हिंसक इतिहास. रिपोर्ट में बताया गया है कि सरबजीत काफी हिंसक प्रवृति का है. उसके खिलाफ दिल्ली के अलग-अलग थानों में पहले से ही चार केस दर्ज है और वो तीन बार जेल भी जा चुका है. पुलिस की फाइलों में दर्ज सरबजीत का आपराधिक इतिहास कुछ इस तरह है. 2019 में ही इसने गुरूद्वारे के कर्मचारी से मारपीट की थी. गुस्से में इसने एक सेवादार का हाथ तोड़ दिया था. पार्लियामेंट स्ट्रीट थाने में एफआईआर दर्ज हुई लेकिन एमएलसी रिपोर्ट ना आने की वजह से इसको थाने से ही ज़मानत मिल गई थी.


वहीं, सरबजीत पर 2006, 2011 और 2013 में बुराड़ी, तिमारपुर इलाके में शांति भंग करने के तीन मामले दर्ज हुए. ऐहतियाती धाराओं (107/151) में ये जेल रहकर आया. इन मुकदमों से पता चलता है कि ये बेहद हिंसक किस्म का इंसान है. रिपोर्ट में कहा गया है कि ऐसे ही मुखर्जी नगर में पुलिस से बहस हुई लेकिन जब इसे काबू करने की कोशिश हुई तो इसने बेहद भयंकर तरीके से एक एएसआई के सर पर तलवार से जानलेवा हमला किया. जिससे एएसआई योगराज को  कई टांके आए.

कुछ लोग कर रहे समर्थन, कुछ लोग विरोध

इस मामले के बाद सिख संगठनों ने सरबजीत का समर्थन किया जबकि भाजपा नेता तजिंदर बग्गा खामोश नगर आये. कल तजिंदर बग्गा ने अपनी ख़ामोशी तोड़ी और इस मामले में प्रतिक्रिया दी. उन्होंने कहा - जो मित्र 3 दिन से मुझ से सवाल पूछ रहे थे मैंने सरबजीत को सपोर्ट क्यों नही किया आज उनको शायद जवाब मिल गया होगा।सरबजीत पर मारपीट के 3 FIR निकली है,जिसमे एक केस गुरुद्वारा बंगला साहिब के सेवादार के हाथ तोड़ने का है।कृपया हर चीज को धर्म के चश्मे से देखना बन्द करे,सच के साथ खड़े हो.


नीचे वायरल 16 जून का है, पहले सरबजीत ने तलवार निकालकर पुलिसवालों को दौड़ाया, उसके बाद दिल्ली के मुख़र्जी नगर थाने के बाहर ऑटो ड्राईवर सरबजीत सिंह और उसके नाबालिक बेटे बलवंत सिंह पर दर्जनों पुलिस वाले डंडे बरसाते दिखे, यही नहीं ऑटो ड्राईवर सरबजीत सिंह को नीचे गिराकर उसे लातों से मारा गया, उसे घसीटा गया. उसके बाद थाने के अन्दर ले जाकर उसकी पिटाई की गयी जिसकी फोटो वायरल हुई -

उसके बाद सादी ड्रेस में दिख रहे एक पुलिसवाले ने पीछे से सरबजीत सिंह को पकड़ लिया और उसके पास चाकू छीनकर उसे नीचे गिराकर पिटाई की जाने लगी. यह वीडियो पूरे देश में वायरल हो गया - 



sikh-auto-driver-sarabjeet-singh-news

इस मामले पर लोगों की मिली जुली प्रतिक्रिया है - कुछ लोग कह रहे हैं कि ऑटो ड्राईवर को तलवार नहीं निकालनी चाहिए थी, पुलिसवालों पर हमला नहीं करना चाहिए था, ASI के सर में तलवार नहीं मारनी चाहिए थी तो कुछ लोग कह रहे हैं कि पुलिसवालों ने सरबजीत सिंह को रोड पर पीटकर सही नहीं किया. 

घुघेरा-आमरू रोड पर बदमाशों ने गोली चलाकर लूटी बाइक, फोन और पर्स, बाइक सवार युवक को पीटा

palwal-amru-ghughera-road-loot-case-cd-diluxe-purse-mobile-looted

पलवल: पलवल जिले में आमरू-घुघेरा रोड पर 18 जून को शाम 8.30 बजे  बन्दूक के दम पर लूट की वारदात सामने आयी है. एक बाइक पर आये चार बदमाशों ने सीडी डिलक्स बाइक सवार गजेन्द्र को पीछे से टक्कर मारी, जब गजेन्द्र बाइक लेकर गिर पडा तो बदमाशों ने उसके साथ मारपीट शुरू कर दी और हवाई फायरिंग की.

उसके बाद बदमाशों ने गजेंदर से उसका पर्स, मोबाइल और बाइक छीन लिया और वहां से फरार हो गए.

इस वारदात के बाद पुलिस को 100 नंबर पर फोन किया गया. पुलिस ने फोन नहीं उठाया तो पलवल सदर थाने को सूचना दे दी गयी, पलवल सदर से हथीन गेट चौकी का नंबर दिया.

पीड़ितों ने हथीन गेट पुलिस चौकी में जाकर इस वारदात की शिकयत की. पुलिस ने वारदात स्थल का दौरा किया और आसपास के लोगों से फायरिंग की बात पूछी, लोगों ने बताया कि हमने फायरिंग की आवाज सुनी थी.

पुलिस ने FIR दर्ज करके कार्यवाही शुरू कर दी है.

नवजात बच्ची मर्डर केस में फरीदाबाद पुलिस ने आरोपी माँ को किया गिरफ्तार, पढ़ें पूरा मामला

faridabad-police-dlf-crime-branch-arrested-mother-killed-new-born-baby

फरीदाबाद: 3 दिन की नवजात मासूम बच्ची की हत्या करने वाली मां को क्राइम ब्रांच डीएलएफ ने गिरफ्तार किया है।

आपको बताते चले कि दिनांक 26 मार्च 2019 को राजीव कॉलोनी सेक्टर 56 में गंदा पानी जोहड़ पर एक नवजात बच्ची की लाश पर थाना सेक्टर 58 ने भारतीय दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 364, 302, 201, के तहत मुकदमा नंबर 143 दर्ज किया गया था।

मामले की गहनता को देखते हुए यह तफ्तीश क्राइम ब्रांच डीएलएफ को सौंपी गई थी।

क्राइम ब्रांच डीएलएफ ने टीम गठित कर जिसमें निरीक्षक संजीव कुमार, सहायक उप निरीक्षक कप्तान सिंह, मुख्य सिपाही कुलदीप,आनंद, परवीन, ईश्वर सिंह, सिपाही प्रीतम, सूरज, नितिन मामले की जांच शुरू की।

क्राइम ब्रांच डीएलएफ ने जांच में पाया कि राजीव कॉलोनी में रहने वाले महेश उर्फ भोला की पत्नी ने एक बच्ची को जन्म दिया था।

क्राइम ब्रांच डीएलएफ के प्रभारी संजीव कुमार ने जब बच्ची के माता पिता को शामिल तफ्तीश किया तो पता चला कि उपरोक्त व्यक्ति की पत्नी ने हॉस्पिटल में भी बच्ची को बेड से गिराकर मारने की कोशिश की थी।

उसके बाद उसने नवजात बच्ची को रात के समय अपने मकान के पास में गंदा पानी के तालाब में फेंक दिया था।

पूछताछ पर आरोपी महिला ने बताया कि वह बच्चे को जन्म नहीं देना चाहती थी लेकिन उसके पति एवं सास ने जबरदस्ती बच्चा करने के लिए दबाव बनाया था। 

उसने कहा कि उसने यह कदम गरीबी के कारण एवं बच्चों का भरण पोषण समय पर ना करने के कारण उठाया था।

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि आरोपी महिला को गिरफ्तार करके आज कोर्ट में पेश कर नीमका जेल भेजा गया है।

इंस्पेक्टर नवीन की टीम ने 33 वारदातों वाले गैंगस्टर को दबोचा, IGP हनीफ कुरैशी बोले, वेल डन नवीन

gurugram-sector-31-cia-incharge-naveen-parashar-arrested-gangster-irshad

गुरुग्राम: इंस्पेक्टर नवीन पाराशर की टीम ने करीब 3 दर्जन वारदातों को अंजाम देने वाले आरोपी को धर दबोचा है. उनके काम की खूब तारीफ हो रही है, फरीदाबाद का पूर्व कमिश्नर और IGP लॉ एंड आर्डर डॉ हनीफ कुरैशी ने उनकी तारीफ करते हुए लिखा - वेल डन नवीन. 


आपकी जानकारी के लिए बता दें कि चोरी, गृह भेदन, ATM मशीन चोरी, छीनाझपटी व वाहन चोरी की करीब 3 दर्जन वारदातों को अन्जाम देने वाले 50 हजार रुपए के ईनामी बदमाश को अपराध शाखा सैक्टर-31, गुरुग्राम के प्रभारी इंस्पेक्टर नवीन कुमार की टीम ने गिरफ्तार किया है.

इंस्पेक्टर नवीन कुमार ने बताया कि आरोपी को पुलिस रिमाण्ड पर लेकर अन्य वारदातों के बारे में पूछताछ की जाएगी एवं अन्य वारदातों में बरामदगी की जाएगी. उन्होंने यह भी बताया कि इस ईनामी गैंगस्टर को पकड़ने में उनकी साथी SHO, फेज-1 गुरुग्राम, वेद प्रकाश ने भी साथ दिया है और उनकी मदद से ही यह सब संभव हो पाया है.

▪ दिनांक 07.05.2018 को थाना सैक्टर-53, गुरुग्राम में देवेश कुमार S/O धर्मवीर सिँह R/O ग्राम पो0 नान, थाना हाफिजपुर, जिला हापुड, UP हाल मकान नं. 59 न्यु करेहडा कालोनी, मोहन नगर गाजियाबाद UP ने हाजिर थाना आकर एक लिखित शिकायत के माध्यम से बतलाया कि वह AGS Transact Technologies LTD. में RK ASHRAM METRO STATION PILLAR NO. 12 NEW DELHI में बतौर SR. EXECUTIVE  के पद पर तैनात है तथा HDFC BANK  की ATM मशीनों की Maintenance का काम ले रखा है। दिनांक 07.05.2018 को रात के समय अज्ञात व्यक्तियो के द्वारा HDFC ATM PIAWDL30 LOCATION NAI KI DHAI WAZIRABAD, GURGAON में स्थित ATM MACHINE को चोरी करके ले गए।

▪ उक्त शिकायत पर थाना सैक्टर-53, गुरुग्राम में कानून की उचित धाराओं के तहत अभियोग अंकित किया गया।

▪ उक्त अभियोग में अपराध शाखा सैक्टर-31, गुरुग्राम की पुलिस टीम ने कार्यवाही करते हुए अपने गुप्त सुत्रों की सहायता से, पुलिक तकनीकी, पुलिस प्रणाली व अपने अथक प्रयासों से उक्त अभियोग में ATM मशीन चोरी करने की वारदात को अन्जाम देने वाले आरोपी को कल दिनांक 17.06.2019 को सोहना, गुरुग्राम से काबू करने में सफलता हासिल की है। आरोपी की पहचान ईरसाद पुत्र सिरदार निवासी खरखङी, थाना तावङू, जिला नूँहू के रुप में हुई।

▪ उक्त आरोपी को उपरोक्त अभियोग में नियमानुसार गिरफ्तार किया गया।

▪ उक्त आरोपी ने पुलिस पूछताछ में बतलाया कि वह अडवानी गिरोह को सदस्य है और इसकी गिरफ्तारी पर गुरुग्राम पुलिस द्वारा 50 हजार रुपये का ईनाम घोषित किया हुआ है तथा यह चोरी, छीनाझपटी, ए.टी.एम. मशीन चोरी, वाहन चोरी, वाहन छीनाझपटी, लूट, हथियार के बल पर लूट के मामलों में कई बार जेल जा चुका है।

▪ उक्त आरोपी से गहनता से की गई पुलिस पूछताछ में आरोपी ने उक्त अभियोग में ए.टी.एम. मशीन चोरी करने की वारदात सहित निम्नलिखित अभियोग की वारदातों को अन्जाम देना स्वीकार किया हैः

1. अभियोग संख्या 61/18 धारा 457, 380  भा.द.स. थाना सैक्टर-7 मानेसर, गुरुग्राम।
2. अभियोग संख्या 96/18 धारा 457, 380  भा.द.स. थाना बादशाहपुर, मानेसर, गुरुग्राम।
3. अभियोग संख्या 85/18 धारा 457, 511  भा.द.स. थाना फरुखनगर, गुरुग्राम।
4. अभियोग संख्या 212/17 धारा 380, 427, 511 भा.द.स. थाना सैक्टर-53, गुरुग्राम।
5. अभियोग संख्या 310/17 धारा 380, 511 भा.द.स. थाना शिवाजी नगर, गुरुग्राम।
6. अभियोग संख्या 76/18  धारा 457, 380, 511 भा.द.स थाना सदर, गुरुग्राम।
7. अभियोग संक्या 36/18 धारा 457, 380 भा.द.स. थाना सैक्टर-53, गुरुग्राम।
8. अभियोग संख्या 77/18 धारा 380 भा.द.स. थाना सदर, गुरुग्राम।
9. अभियोग संख्या 325/17 धारा 380 भा.द.स. थाना राजेन्द्रा पार्क, गुरुग्राम।
10. अभियोग संख्या 398/17 धारा 380 भा.द.स. थाना शिवाजी नगर, गुरुग्राम।
11. अभियोग संख्या 1195/17 धारा 380 भा.द.स. थाना सदर, गुरुग्राम।
12. अभियोग संख्या 53/18 धारा 380 भा.द.स. थाना बजघेङा, गुरुग्राम।
13. अभियोग संख्या 318/17 धारा 457, 380 भा.द.स. थाना सैक्टर-9, गुरुग्राम। 
14.अभियोग संख्या 84/18 धारा 457, 380 भा.द.स. थाना सैक्टर-17/18, गुरुग्राम।
15. अभियोग संख्या 22/18 धारा 380 भा.द.स. थाना मानेसर, गुरुग्राम।
16. अभियोग संख्या 19/18 धारा 379 भा.द.स. थाना राजेन्द्रा पार्क, गुरुग्राम।
17. अभियोग संख्या 439/17 धारा 379 भा.द.स. थाना मानेसर, गुरुग्राम।
18. अभियोग संख्या 334/17 धारा 379 भा.द.स. थाना मानेसर, गुरुग्राम।
19. अभियोग संख्या 369/17 धारा 379 भा.द.स. थाना सैक्टर-7 मानेसर, गुरुग्राम।
20. अभियोग संख्या 270/17 धारा 379 भा.द.स. थाना सैक्टर-7 मानेसर, गुरुग्राम।
21. अभियोग संख्या 268/17 धारा 379 भा.द.स. थाना मानेसर, गुरुग्राम।
22. अभियोग संख्या 214/17 धारा 379 भा.द.स. थाना मानेसर, गुरुग्राम।
23. अभियोग संख्या 197/17 भा.द.स. थाना सैक्टर-7 मानेसर, गुरुग्राम।
24. अभियोग संख्या 1185/17 धारा 379 भा.द.स. थाना सैक्टर-7 मानेसर, गुरुग्राम।
25. अभियोग संख्या 125/17 धारा 379 भा.द.स. थाना सैक्टर-7 मानेसर, गुरुग्राम। 
26. अभियोग संख्या 124/17 धारा 379 भा.द.स. थाना सैक्टर-7 मानेसर, गुरुग्राम।
27. अभियोग संख्या 112/17 धारा 379 भा.द.स. थाना सैक्टर-7 मानेसर, गुरुग्राम। 
28. अभियोग संख्या 117/17 धारा 379 भा.द.स. थाना सैक्टर-7 मानेसर, गुरुग्राम।
29. अभियोग संख्या 80/17 धारा 379 भा.द.स. थाना सैक्टर-7 मानेसर, गुरुग्राम। 
30. अभियोग संख्या 240/2012 धारा 392 भा.द.स व शस्त्र अधिनियम थाना बिलासपुर, गुरुग्राम।
31. अभियोग संख्या 277/12 धारा 395/397 भा.द.स. व शस्त्र अधिनियम थाना सुशान्त लोक, गुरुग्राम।
32. अभियोग संख्या 170/ 12 धारा 398, 401, 476 भा.द.स. व शस्त्र अधिनियम, थाना सैक्टर-56, गुरुग्राम।
33. अभियोग संख्या 319/12 धारा 395 भा.द.स. थाना मानेसर, गुरुग्राम।

▪ उक्त आरोपी को आज दिनांक 18.06.2019 को माननीय अदालत के सम्मुख पेश करके पुलिस हिरासत रिमाण्ड पर लिया जाएगा। 

▪ पुलिस हिरासत रिमाण्ड के दौरान उक्त आरोपी से गहनता से पूछताछ करते हुए उसके द्वारा अन्जाम दी गई अन्य वारदातों के बारे में पूछताछ की जाएगी व अपराधिक वारदातों में इसके साथ सम्मिलित रहे अन्य साथी आरोपियों के बारे में पूछताछ करते हुए बरामदगी की जाएगी।

सुधर जाएं पुलिसवाले, गुंडों-बदमाशों को कितना भी और कहीं भी पीटो, निर्दोष जनता को मत पीटो

delhi-police-video-mukherjee-nagar-thana-viral-on-social-media-news

फरीदाबाद: अक्सर देखा जाता है कि पुलिस गुंडों, बदमाशों, बलात्कारियों को पीटती है या बड़े बड़े बदमाशों का बीच सड़क पर एनकाउंटर कर देती है तो जनता खुश होती है और पुलिसवालों की तारीफ करती है लेकिन जब पुलिस वाले किसी निर्दोष को पीटते हुए दिख जाते हैं तो जनता बहुत नाराज होती है, जनता की भावनाओं का ध्यान रखते हुए पुलिसवालों को भी चाहिए कि निर्दोष जनता की बीच सड़क पर लात-घूंसों, डंडों और बेल्ट से पिटाई ना करें क्योंकि ऐसे कामों से उनकी नौकरी भी जा सकती है.

दिल्ली के मुख़र्जी नगर थाने में यही घटना सामने आयी है, एक ऑटो ड्राईवर सरबजीत सिंह और उसके नाबालिक बेटे बलवंत सिंह पर दर्जनों पुलिस वाले डंडे बरसाते दिखे, यही नहीं ऑटो ड्राईवर सरबजीत सिंह को नीचे गिराकर उसे लातों से मारा गया, उसे घसीटा गया. मार खाते उसे हुए उसे भी गुस्सा आ गया और उसनें अपनी कृपाण निकाल ली हालाँकि उसनें किसी पर हमला नहीं किया बस डराने का प्रयास करता दिखा. कुछ लोग उसकी इस हरकत की आलोचना भी कर रहे हैं.

पुलिसवालों की यह गुंडई देखकर कुछ लोग पुलिसवालों को बुरा भला कह रहे हैं तो कुछ लोग पुलिस वालों का समर्थन कर रहे हैं, कुछ लोग कह रहे हैं कि सरबजीत सिंह ने पुलिसवालों को चाकू क्यों दिखाया, हालाँकि कानून के मुताबिक़ पुलिस किसी भी आदमी की पिटाई नहीं कर सकती. गुंडों बदमाशों की पिटाई करने की उन्हें पूरी छूट है लेकिन निर्दोष ऑटो ड्राईवर और उसके नाबालिक बेटे की जिस तरह से पुलिस ने पिटाई की है वह किसी को हजम नहीं हो रहा है और सोशल मीडिया पर दिल्ली पुलिस की फजीहत हो रही है.

दिल्ली पुलिस ने भी समय रहते एक्शन लिया और इस मामले में तीन पुलिसकर्मियों ASI संजय मलिक, ASI देवेंदर, कांस्टेबल पुष्पेन्द्र  को सस्पेंड कर दिया लेकिन जनता इसे सिर्फ खानापूर्ति बता रही है क्योंकि वीडियो में दर्जनों पुलिसवाले ऑटो ड्राईवर को पीटते हुए दिखाई दे रहे हैं, पुलिसकर्मी ऑटो ड्राईवर को बिना पीटे थाने ले जा सकते थे. अगर उसनें कोई गलती की थी तो आम जनता की तरह पहले उसके खिलाफ शिकायत और उसके बाद FIR दर्ज करके कार्यवाही की जा सकती थी लेकिन पुलिसवालों ने खुद ही कानून अपने हाथ ले लिया और बीच सड़क पर ही फैसला करने लगे. देखें वीडियो-

जीवन नगर, गोंछी में दीपक नाम के युवक का मर्डर, दोस्तों पर रंजिशन हत्या का आरोप, FIR दर्ज

faridabad-jeewan-nagar-gonchhi-deepak-murder-case-fir-lodge-fir-433

फरीदाबाद: जीवन नगर गोंछी इलाके में दीपक नाम के युवक का मर्डर हो गया है, उसके दोस्तों पर ही रंजिशन हत्या का आरोप लगाया गया है, संजय कॉलोनी पुलिस चौकी (मुजेसर थाना) ने FIR दर्ज कर ली है लेकिन अभी तक आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं हुई है, FIR में लिखी हुई सूचना नीचे दी गयी है - 

मैं रमेश चन्द्र जीवन नगर गोंछी तहसील बल्लभगढ़, जिला फरीदाबाद का निवासी हूँ और कारपेंटर का काम करता हूँ, मेरे तीन लड़के एवं चार लड़कियां हैं, सबसे बड़ा दीपक है.

दिनांक 12 जून 2019 को लगभग 2.30 बजे दोपहर मैं जीवन नगर गोंछी में अपनी दुकान के बाहर खड़ा था तो उसी समय पवन पुत्र  वेदप्रकाश वर्मा, दीपक पुत्र तेजपाल निवासी जीवन नगर गोंछी मेरे बेटे दीपक को लाल रंग की आल्टो कार में हरीश टेलर की दुकान की तरफ ले आये थे और हमारी दुकान की तरफ से गोंछी गाँव की तरफ ले गए थे.

रात के समय लगभग 10-10.30 बजे तक मैंने अपने अपने बेटे दीपक के फोन पर कई बार फोन किया लेकिन उसका फोन स्विच ऑफ मिला. फिर मैंने अपने बेटे राहुल के फोन नंबर 9873888594 से उपरोक्त दीपक पुत्र तेजपाल के मोबाइल नंबर 8178893047 पर फोन किया और अपने बेटे दीपक के बारे में पूछा तो उसनें कहा कि हमें उसका कुछ पता नहीं है क्योंकि वह हमारे पास नहीं है.

रात को मैं राजीव कॉलोनी वाली दुकान पर था तो मेरे बेटे राहुल ने मेरे मोबाइल नंबर 8743027270 पर फोन किया कि  पवन पुत्र  वेदप्रकाश वर्मा, दीपक पुत्र तेजपाल एवं विवेक उर्फ़ वरुण पुत्र पूर्व निवासी जीएवन नगर गोंछी मेरे बेटे को लाल रंग की आल्टो कार में डालकर हमारे घर लाये हैं और उसकी हालत नाजुक है, मेरे बेटे राहुल ने बताया कि हम उसको लेकर बीके हॉस्पिटल जा रहे हैं.

मैं जब बीके हॉस्पिटल पहुंचा तो पवन, दीपक, विवेक और मेरे बेटे राहुल ने बताया कि हम उसे लेकर मेट्रो हॉस्पिटल जा रहे हैं. जब हम मेट्रो हॉस्पिटल पहुंचे तो डॉ साहब ने मेरे बेटे दीपक को मृत घोषित कर दिया.

मेरे बेटे दीपक के सर में तथा हाथ में चोटें लगी हुई हैं और नाक मुंह से खून निकल रहा था, मुझे पूरा यकीन है कि मेरे बेटे दीपक की उपरोक्त पवन, दीपक, विवेक उर्फ़ वरुण ने कुछ अन्य लोगों के साथ मिलकर चोटें मारकर ह्त्या की है.

चूंकि - पहले भी दिनांक 15-16.3.2019 की रात को करीब 10 बजे उपरोक्त पवन एवं दीपक मेरे घर पर झगडा करने आये थे और दीपक को गालियाँ दी थी और जान से मारने की धमकी दी थी, हमने अपने मोबाइल नंबर से 100 नंबर पर कॉल की थी परन्तु उन्होंने माफी मांग ली और हमारा राजीनामा हो गया, इसलिए हमने आगे कार्यवाही नहीं की. 

FIR में उपरोक्त आरोपियों पवन, दीपक, विवेक एवं अन्य लोगों के खिलाफ सख्त कार्यवाही की मांग की है, पुलिस ने धारा 302/34 के तहत मुक़दमा नंबर 433 दर्ज कर लिया है हालाँकि अभी तक किसी भी आरोपी की गिरफ्तारी नहीं हुई है.

fir-no-433-sanjay-colony-police-chowki