Palwal Assembly

Showing posts with label Crime. Show all posts

महावतपुर गाँव में दलितों - राजपूतों के बीच झगड़ा ख़त्म, पुलिस ने दोनों पक्षों के बीच कराया समझौता

faridabad-mahawatpur-village-dalit-rajput-case-solve-by-police-compromise

फरीदाबाद: महावतपुर गाँव में दलितों और राजपूतों के बीच में झगडे में पुलिस ने ख़त्म करा दिया है। ACP BPTP  रतनदीप बाली और SHO भूपानी ने दोनों पक्षों की मीटिंग कराकर विवाद को सुलझा लिया और दोनों पक्षों में समझौता करा दिया, पुलिस ने गाँव वालों ने शांति और भाईचारा बनाये रखने की अपील की जिसपर दोनों पक्षों ने सहमति जताई।

mahawatpur-village-news-hindi

आपकी जानकारी के लिए बता दें की महावतपुर गाँव में बारात में DJ की वजह से दलितों और राजपूतों में कहासुनी हो गयी थी जिसके बाद दलित पक्ष ने राजपूत परिवार के कुछ लोगों पर SC/ST के तहत मामला दर्ज करवा दिया था, FIR दर्ज होने के बाद राजपूत पक्ष ने पुलिस कमिश्नर से मामले को ख़ारिज करने की अपील की थी. देखते ही देखते ये मामला तूल पकड़ने लगा ने पुलिस ने सही समय पर दोनों पक्षों में समझौता कराकर इसे सुलझा लिया और गाँव में फिर से भाई चारा कायम कर दिया।

36 बिरादरियों की पंचायत के माध्यम से पुलिस ने कराया निपटारा


आपको बताते चलें कि गांव महावतपुर में दलितों द्वारा बारात निकालने को लेकर दलित एवं गांव के प्रभावशाली व्यक्तियों के बीच विवाद उत्पन्न हो गया था। जिस पर थाना भूपानी में मुकदमा दर्ज करआरोपियों की गिरफ्तारी के लिए आगामी कार्यवाही शुरू कर दी गई थी।

गुरुवार रात को भूपानी पुलिस गांव महावतपुर में आरोपियों को गिरफ्तार करने गई तो पुलिस पर कई तरह के आरोप लगाए गए थे।

मामला तूल पकड़ने पर पुलिस आयुक्त केके राव ने एसीपी बीपीटीपी रतनदीप बाली एवं एसएचओ भूपानी इंस्पेक्टर कैलाश चंद को जल्द मामले को सुलझाने के दिशा निर्देश दिए थे।

जिस पर एसीपी रतनदीप बाली एवं एसएचओ कैलाश चंद ने मामले को सुलझाने के लिए दोनों पक्षों को साथ में बिठाकर मामला सुना।

एसीपी बीपीटीपी रतनदीप बाली ने दोनों पक्षों का मामला सुलझाने के लिए 36 बिरादरियों की बैठक बुलाने का फैसला किया।

एसीपी एवं एसएचओ की पहल पर 36 बिरादरियों की पंचायत के साथ दोनों पक्षों के मौजिज व्यक्तियों को शामिल किया गया।

एसीपी बीपीटीपी रतनदीप बाली ने पंचायत के सामने दोनों पक्षों के मामले को सुना एवं उसके बाद पंचायत से बातचीत कर दोनों पक्षों के मामले को सुलझाने में कामयाबी हासिल की।

एसीपी रतनदीप बाली ने बताया कि पुलिस एवं पंचायत के फैसले से दोनों पक्षों का आपस में निपटारा किया गया है।

एसीपी बीपीटीपी ने बताया कि दोनों पक्षों ने माना है कि उनकी कहीं ना कहीं गलती हुई थी जिससे यह विवाद उत्पन्न हुआ था।

रतन दीप बाली ने पंचायत में मौजूद सभी लोगों को कहा कि गांव में गांव समाज में इस तरह की घटना नहीं होनी चाहिए।

जैसे कि सभी जानते हैं गांव में विभिन्न धर्म एवं विभिन्न जाति के लोग रहते हैं।

हमें धर्म एवं जाति से ऊपर उठकर सोचना चाहिए, एक दूसरे की मदद करनी चाहिए। सबसे पहले इंसानियत को प्राथमिकता देनी चाहिए।

उन्होंने गांव महावतपुर के लोगों से अपील करते हुए कहा कि सभी भाईचारे से आपस में खुश रहें एक-दूसरे की मदद करें।

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि श्री रतनदीप बाली एसीपी बीपीटीपी ने बड़े ही सूझबूझ के साथ मामले को सुझाया है।

गैंगरेप-मर्डर के अपराधियों के एनकाउंटर पर खुश हुए वकील LN पाराशर, हैदराबाद पुलिस की थपथपाई पीठ

advocate-ln-parashar-praised-hyderabad-police-on-gangrape-accused-encounter

फरीदाबाद, 6 दिसंबर: हैदराबाद में दिशा गैंगरेप मर्डर केस में चारों आरोपियों के एनकाउंटर पर प्रतिक्रिया देते हुए फरीदाबाद के जाने माने वकील LN पाराशर ने कहा कि हैदराबाद पुलिस ने बहुत ही सराहनीय कार्य किया है, आरोपियों को घटनास्थल पर लेजाकर पूछताछ करना पुलिस की जांच में आता है, ऐसे ही कार्यवाही के दौरान अपराधियों ने पुलिस का हथियार छीनकर भागने की कोशिश ली, लेकिन पुलिस ने चारों आरोपियों का एनकाउंटर कर दिया, अगर ये अपराधी भाग जाते तो पुलिस की बदनामी होती लेकिन इनके मारे जाने से न सिर्फ पीड़िता को न्याय मिला है बल्कि देशवासियों का गुस्सा भी शांत हुआ है, इस मामले में पुलिस ने अपनी ड्यूटी निभाई है, आने वाले भविष्य में कोई भी दरिंदा ऐसी शर्मनाक हरकत करते हुए कई बार सोचेगा। उन्होंने एनकाउंटर करने वाली पुलिस टीम को ईनाम देने की भी शिफारिश की.

आपको बता दें कि हैदराबाद में डॉ दिशा ( बदला हुआ नाम) गैंगरेप और मर्डर केस के बाद पूरा देश आक्रोश में था, हर क्षेत्र में कैंडल मार्च निकालकर आरोपियों को जल्द से जल्द फांसी दिए जाने की मांग की जा रही थी, आज रात 3 बजे पुलिस ने सभी 4 आरोपियों का वहीं पर एनकाउंटर कर दिया जहाँ पर आरोपियों ने डॉ दिशा के साथ गैंगरेप किया था और उसे जलाकर ख़त्म कर दिया था। पुलिस के इस एक्शन से पूरा देश खुश है और हैदराबाद पुलिस की तारीफ की जा रही है।


इन चारों आरोपियों पर महिला वेटेरनरी डॉक्टर के साथ रेप का आरोप था. पुलिस का दावा है कि ये सभी आरोपी भागने की कोशिश कर रहे थे और इस दौरान पुलिस की ओर से हुई फायरिंग में सभी आरोपी मारे गए हैं।

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि यह एनकाउंटर आज तड़के 3 बजे हुआ है. मिली जानकारी के मुताबिक अदालत में चार्जशीट दाखिल करने के बाद इन चारों आरोपियों को घटनास्थल पर ले गई थी ताकि ‘सीन ऑफ क्राइम’ की जांचने के लिए ले गई थी, लेकिन उनमें से एक आरोपी ने पुलिसकर्मी का हथियार छीन कर भागने की कोशिश करने लगा. पुलिस अधिकारियों ने बताया कि अगर यह आरोपी भाग जाते तो बड़ा हंगामा खड़ा हो जाता इसलिए पुलिस के पास दूसरा कोई रास्ता नहीं था और जवाबी फायरिंग में चारो आरोपी मारे गए।

गरीब महिला बहुत परेशान, बेटे को मरवा चुकी है बहू, अब उसे परिवार सहित मरवा देगी, CP साहब बचाओ

shiv-kumar-murder-case-accused-kiran-want-to-kill-whole-family-cp-complaint

फरीदाबाद, 5 दिसंबर:  फरीदाबाद में आये दिन मर्डर की वारदात होती रहती है, कुछ लोग अपनी जान बचाने की पुलिस से गुहार भी करते हैं, पुलिस चाहे तो लोगों की जान बचा सकती है लेकिन कई बार पुलिस की लापरवाही से लोगों की जान चली जाती है.

खेड़ीपुल थाना क्षेत्र में दिनांक 29.07.2019 की रात शिवकुमार की हत्या हो गयी, शिवकुमार के गुमशुदा होते ही उसके भाई CRPF जवान मनोज कुमार ने खेड़ीपुल थाने की पुलिस से अपने भाई को ढूंढने की गुजारिश की लेकिन ASI वेदराम ने उसे गन्दी गन्दी गालियां देकर फोन ना करने की चेतावनी दी, वेदराम का ऑडियो वायरल होने पर उच्च अधिकारियों ने वेदराम को सस्पेंड किया लेकिन दुर्भाग्यवश मनोज कुमार के भाई शिवकुमार की हत्या हो गयी.

शिवकुमार की हत्या उसकी ही पत्नी ने अपने प्रेमी और तीन अन्य लोगों  के साथ मिलकर की, इस मामले की जांच क्राइम ब्रांच सेक्टर 30 को सौंपी गयी, इस मामले में आरोपी पत्नी सहित चार आरोपियों को गिरफ्तार किया गया लेकिन एक आरोपी राम महेश अभी भी जिन्दा है और परिवार में बचे हुए सदस्यों का क़त्ल करने की धमकी दे रहा है.

शिवकुमार मर्डर केस की स्टोरी

आपको बताते चले की  दिनांक 29.07.2019 की रात को पत्नी ने अपने आशिक के साथ मिलकर अपने पति की निर्मम हत्या करवा दी थी और पुलिस को गुमराह करने के लिए दिनांक 30.07.2019 को खेड़ी पुल थाना में एक गुमशुदगी की  रिपोर्ट पत्नी द्वारा दी गई ताकि पुलिस को लगे कि मरने वाला शिवकुमार बगैर किसी को बताए घर से चला गया है जिस पर मुकदमा नंबर 223 दिनांक 30.07.2019 धारा 346 आईपीसी थाना खेड़ी पुल मे दर्ज किया गया था।

पुलिस आयुक्त ने मुकदमा की आगामी तफ्तीश के लिए क्राइम ब्रांच सेक्टर 30 में भेजा गया तो सनसनीखेज खुलासा हुआ. पता चला कि मरने वाले व्यक्ति शिव की पत्नी किरण ने अपने आशिक उमेश, व अपने सगे जीजा व उनके दोस्तों  के साथ मिलकर शिव की अपने घर मे रस्सी से गला घोंटकर हत्या कर शव को आगरा कैनाल में फेंकवा  दिया  सेक्टर 30 की टीम ने तीन आरोपियों जिनमें मरने वाले व्यक्ति शिव की पत्नी किरण, उसके प्रेमी उमेश व किरण का सगा जीजा प्रीतम, व उसके दोस्त संदीप  को गिरफ्तार कर लिया है. पांचवा आरोपी राम महेश अभी तक फरार है.

अब पूरे परिवार की हत्या की धमकी

मृतक शिव कुमार की माँ ने पुलिस कमिश्नर ऑफिस में अपने परिवार की जान बचाने की गुहार लगाते हुए एक दरखास्त दी है,  हत्यारोपी बहू अपने मायके वालों के साथ मिलकर अब मृतक पति की माँ, जेठ और अन्य लोगों की हत्या करना चाहती है. शिकायत में आरोपी - हरिसिंह पुत्र धनीराम, मायादेवी पत्नी हरिसिंह, रामअवतार पुत्र हरिसिंह, वीरेंद्र पुत्र हरिसिंह, राजकुमार पुत्र हरिसिंह, मनोज पुत्र राजकुमार, मंजू देवी पुत्री हरिसिंह, किरण देवी पत्नी मृतक शिवकुमार के खिलाफ कानूनी कार्यवाही की मांग की गयी है. शिकायत की कॉपी नीचे दी गयी है.




पीड़िता चमेली ने बताया कि जिस घर में वह रहती है उसपर कब्जा करने के लिए बेटे की हत्यारोपी बहू के मायके वाले उसके पूरे परिवार को ख़त्म करना चाहते हैं. उन्हें डर है कि जिस प्रकार से साजिश करके उसके बेटे की हत्या कर दी गयी उसी प्रकार से उसके पूरे परिवार की ह्त्या कर दी जाएगी। मृतक शिवकुमार का एक बेटा विवेक उम्र 10 साल उपरोक्त आरोपियों के कब्जे में है, उसकी भी ह्त्या हो सकती है. उसे भी आरोपियों की कैद से आजाद करवाकर दादी के सुपुर्द किया जाय.

क्राइम ब्रांच 48 ने झपटमारी करने वाले दो आरोपियों को किया गिरफ्तार

crime-branch-sector-48-arrested-2-snatcher-with-3-mobile-phone

फरीदाबाद: क्राइम ब्रांच 48 ने झपटमारी करने वाले दो आरोपियों को काबू किया है, आरोपियों से स्नैचिंग की तीन वारदात सुलझाते हुए 3 मोबाइल फोन बरामद किये गए हैं।

पुलिस आयुक्त के के राव के दिशा-निर्देश पर कार्य करते हुए प्रभारी क्राइम ब्रांच 48 एस.आई अनिल कुमार ने फरीदाबाद शहर में स्नैचिंग की वारदात को अंजाम देने वाले दो आरोपियों को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है।

गिरफ्तार आरोपी:

1. हरीश S/O राम कुमार R/O  मकान न०80 गांव भांकरी, फरीदाबाद।
2. मनीष S/O कमल R/O  गांव भांकरी, फरीदाबाद।

प्रभारी क्राइम ब्रांच एसआई अनिल कुमार ने बताया कि उपरोक्त आरोपियों को विशेष सूत्रों से मिली सूचना के आधार पर गिरफ्तार किया गया है।

उन्होंने बताया कि आरोपी शहर में स्नैचिंग की वारदात को अंजाम देते हैं. आरोपी से स्नैचिंग की निम्नलिखित वारदात सुलझाई गई है।

1. FIR- 793 dt 02-12-2019  U/S 379A, 34 IPC Ps Surajkund Fbd.
2. FIR-514 dt. 10-07-2019 U/S 379A, 201 IPC Ps Mujesar Fbd.
3. FIR-721 dt. 24-09-2019 U/S 379A, 201,34 IPC Ps Mujesar Fbd.

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि आरोपियान पहले भी पकड़े जा चुके हैं. आरोपियों को आज अदालत में पेश कर जेल भेजा गया है। आरोपियों से 3 मोबाइल फोन बरामद किए गए हैं।

नीमका जेल के अंदर भी 420 अनिल जिंदल कर रहे मौज, छापेमारी के दौरान बिस्तर में मिले दो मोबाइल फोन

raid-in-nimka-jail-anil-jindal-bairak-2-mobile-phone-recovered

फरीदाबाद:  हजारों निवेशकों के हजारों करोड रुपए डकारने वाले 420 अनिल जिंदल कई वर्षों से नीमका जेल में बंद हैं लेकिन जेल के अंदर भी मौज कर रहे हैं.

नीमका जेल में एसआरएस के चेयरमैन डॉ.अनिल जिंदल की बैरक में गद्दे के नीचे एडीजीपी क्राइम एवं जेल कुलदीप सिहाग की टीम ने दो मोबाइल बरामद किए हैं। एडीजीपी कुलदीप सिहाग ने सोमवार को अचानक नीमका जेल में छापेमारी की थी। उनकी टीम सीधी उस बैरक में गई जहां डॉ.अनिल जिंदल को रखा गया था।


जानकारी के अनुसार पुलिस अब अनिल जिंदल के खिलाफ fir दर्ज करके प्रिजन एक्ट के तहत कार्यवाही करेगी और यह खंगालने का प्रयास करेगी कि अनिल जिंदल के पास जेल के अंदर मोबाइल कैसे पहुंचा. अगर किसी जेल कर्मचारी ने उनकी मदद की होगी तो उससे खिलाफ भी कानूनी कार्रवाई की जाएगी.

पत्नी से अवैध संबंध के शक में इरशाद ने की थी सुनील की हत्या, धौज पुलिस ने 6 घंटे में दबोचा

dhoj-police-arrested-sunil-chandke-murder-accused-irshad-from-gurugram

फरीदाबाद: फौज थाना क्षेत्र में आज सुबह एक हत्या की वारदात सामने आयी. एक  फार्म हाउस में गाय पालन का कार्य करने वाले सुनील चाण्डके की हत्या कर दी गई, धौज थाना पुलिस ने इस मामले में तेज एक्शन लेते हुए आरोपी इरशाद को सिर्फ 6 घंटे में गिरफ्तार कर लिया।

2 दिसंबर को सुबह पुलिस को सूचना मिली कि फार्म पर बनी डेरी पर एक व्यक्ति की हत्या कर दी गई है, मौके पर  धौज थाना प्रबंधक कर्मवीर व क्राइम ब्रांच टीम मौके पर पहुंचे। मृतक की पत्नी की शिकायत पर थाना धोज  मे हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया। पुलिस ने कार्रवाई करते हुए आरोपी को मात्र 6 घंटे में मंडावर गुड़गांव से गिरफ्तार कर लिया  है।                       

सुनील चांडके  कोलकाता निवासी अब सेक्टर 28 फरीदाबाद में अपने परिवार सहित रहता है ने थाना धौज एरिया में फौजी फार्म हाउस किराए पर ले रखा है जिसमें 20 गाय पाल रखी है और दूध का काम करता है। मृतक के पास तीन चार नौकर काम करते हैं जिसमें से एक महिला नौकरानी भी काम करती थी महिला नौकरानी के पति इरशाद को शक हुआ कि उसकी पत्नी के संबंध डेयरी मालिक सुनील चांडके के साथ हैं जिस पर उसने अपनी पत्नी की वहां से नौकरी छुड़वा दी और उसकी पत्नी पलवल अपने भाई के घर रहने लगी।।

योजना अनुसार आरोपी इरशाद ने 1-12-2019 की रात्रि को करीब 10:00 बजे, घास काटने वाली तलवार से सुनील चांडके को जब वह सो रहा था तलवार से गर्दन काट दी और हत्या करके फरार हो गया था।

धोज पुलिस ने पुलिस आयुक्त के के राव के निर्देश पर तत्परता से कार्रवाई करते हुए Sho Dhoj कर्मवीर सिहं की टीम के Si महाबीर, Asi नहार, HC राज, रूपेश, गजेश, विरेन्द्र,  लरवमी, उदयवीर और ड्राईवर रोहताश ने हत्यारोपी इरशाद को मंडावर गुड़गांव से गिरफ्तार कर लिया है आरोपी को कल कोर्ट में पेश करके पुलिस रिमांड लिया जाएगा व हत्या में प्रयोग तलवार व अन्य साक्षय जुटाये जाएंगे और गहनता से पूछताछ की जाएगी।

क्राइम ब्रांच 56 ने अवैध हथियार रखने वाले एक आरोपी को किया गिरफ्तार

crime-branch-sector-56-arrested-one-accused-ankit-pujara-with-katta

फरीदाबाद: क्राइम ब्रांच 56 ने अवैध हथियार रखने वाले एक आरोपी को काबू करने में सफलता हासिल की है।

गिरफ्तार आरोपी:

1. अंकित पुजारा उर्फ प्रधान पुत्र अमन कुमार निवासी जैकमपुर गुरुग्राम।

पुलिस प्रवक्ता सुबे सिंह ने बताया कि आरोपी को विशेष सूत्रों से मिली सूचना के आधार पर गिरफ्तार किया गया है।

आरोपी के खिलाफ अवैध हथियार रखने के जुर्म में आर्म्स एक्ट के तहत मामला थाना शहर बल्लभगढ़ में दर्ज किया गया है।

उन्होंने बताया कि आरोपी से एक देसी कट्टा बरामद किया गया है।

मोबाइल और घरों में चोरी करने वाले दो आरोपियों को क्राइम ब्रांच ऊँचा गाँव ने किया गिरफ्तार

faridabad-uncha-gaon-crime-branch-arrested-2-accused-news

फरीदाबाद: क्राइम ब्रांच ऊंचा गांव ने दो अलग-अलग मामलों में मोबाइल फोन एवं घर से चोरी करने वाले 2 आरोपियों को गिरफ्तार किया है।

गिरफ्तार आरोपी:

1. आफताब पुत्र अख्तर गांव धौज फरीदाबाद।
2. यशपाल उर्फ राजन पुत्र राजकुमार निवासी राजीव कॉलोनी सेक्टर 23 फरीदाबाद।

प्रभारी क्राइम ब्रांच ऊंचा गांव ने बताया कि आरोपी आफताब से मोबाइल फोन चोरी का मुकदमा सुलझाया गया है. आरोपी से वारदात में चोरी मोबाइल फोन बरामद किया गया है।

आरोपी यशपाल उर्फ राजन को थाना सारण के एक मुकदमा में गिरफ्तार किया गया है। आरोपी से वारदात में चोरी की गई 2 अंगूठी, एक जोड़ी कुंडल एवं नोज पिन बरामद की गई है। आज आरोपी को अदालत में पेश कर जेल भेजा गया है।

चोरों ने उखाड़ लिया था एक्सिस बैंक का ATM, लूटना चाहते थे 22.24 लाख रुपये, पुलिस देखकर भागे

faridabad-police-save-chori-axis-bank-atm-jharsently-news

फरीदाबाद: पुलिस की सजगता से झाड़सेतली से एक्सिस बैंक की एटीएम मशीन चोरी होने से बचाई गई। आज रात करीब सुबह 4:00 बजे झाड़ शीतली स्थित एटीएम बूथ से एटीएम मशीन चोरी करके पिकअप गाड़ी में ले जा रहे थे।            

पुलिस गश्त पर थी पुलिस की उपस्थिति देखकर आरोपी पिकअप गाड़ी को भगाने लगे पुलिस ने पीछा किया आरोपियों ने एटीएम मशीन को गाड़ी से गिरा कर झाड़ सेतली पुल के नीचे से यू टर्न लेकर फरार हो गए पुलिस ने गिरी हुई ATM मशीन को उठाया और थाने लेकर आए एक्सिस बैंक को सूचित किया गया।                       

बैंक के कर्मचारियों ने मशीन को चेक किया तो पाया गया कि उसमें कल 2700000 रुपए रिफिल किया गया था जिसमें से ₹475000 उपभोक्ताओं द्वारा निकाल लिए गए थे बाकी 22 लाख ₹24000 के आसपास मशीन में मौजूद मिले बैंक  के द्वारा दी गई शिकायत के  आधार पर एफआईआर  दर्ज की जा रही है।  आसपास के CCTV Cameras चैक किये  जा रहे हैं आरोपियों को पकड़ने की हर संभव कोशिश।

मिशन जागृति की मांग, डॉ प्रियंका गैंगरेप-मर्डर केस के आरोपियों को तुरंत दिया जाए मृत्युदंड

mission-jagriti-ngo-protest-against-hyderabad-priyanka-gangrape-murder-case

फरीदाबाद: देश में बढ़ती दुष्कर्म की घटनाओं के खिलाफ मिशन जागृति ने कल बीके चौक पर शान्ति प्रदर्शन किया जिसमें मुख्य रूप से हैदराबाद में घटी डॉक्टर प्रियंका रेड्डी घटना के खिलाफ आवाज बुलंद की गई और सभी ने एक सुर में कहा कि ऐसी घटनाओं के खिलाफ जो कोई भी जिम्मेदार हो उसको तुरंत से तुरंत सजा मिलनी चाहिए और दोषियों को मृत्युदंड देकर ऐसे अपराध के खिलाफ डर कायम करना चाहिए।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि ऐसे जघन्य अपराधों के खिलाफ मिशन जागृति पिछले एक साल से *bitiya*  मुहीम चला रही हैं जिसका मुखी उद्देश्य शेहर मे जागरूकता लाना हैं और लोगो को सवेंदन शील बनाना हैं.

इस अवसर पर संस्था के  संस्थापक प्रवेश मलिक, राजेश भूटिया, विपिन शर्मा, महेश आर्य, साहिल नंबरदार, गुरनाम सिंह, विकास कुमार, नितेश, दिनेश, सुनीता,  संगीता, सुष्मिता, मनीष, सुरेंद्र बबली, गौरव भारद्वाज, राधे रंधावा, हीना माथुर, सुमित रावत आदि लोग मौजूद थे.

सुधीर भड़ाना के हत्यारों की गिरफ्तारी और सजा दिलाने के लिए अनंगपुर वासियों ने निकाला कैंडल मार्च

sudhir-bhadana-murder-case-anangpur-village-candle-march-news

फरीदाबाद: अनंगपुर गांव के युवा नेता और शेरदिन इंसान सुधीर भड़ाना की हत्या से अनंगपुर गाँव के लोग बहुत ही दुखी और नाराज हैं. सुधीर भड़ान के हत्यारों को जल्द से जल्द गिरफ्तार करने और उन्हें कड़ी सजा देने के लिए आज अनंगपुर गाँव के सैकड़ों निवासियों ने कैंडल मार्च निकाला। इस दौरान सुधीर जिंदाबाद के नारे लगाए गए और पुलिस-प्रशासन से इस मामले में जल्द से जल्द कार्यवाही करने की मांग की गयी.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि अनंगपुर गाँव के रहने वाले सुधीर भड़ाना की 25 नवम्बर को उत्तर प्रदेश में उस समय हत्या कर दी गई थी जब वो अपने भतीजे की शादी में गए थे। धौलाना थाना क्षेत्र के गांव उदयरामपुर नगला में सुधीर को उस समय गोली मारी गई जब बारात की विदाई होने वाली थी।

अंधाधुंध फायरिंग के दौरान सुधीर को कई गोलियां लगीं जिसकी वजह से उनकी मौके पर ही उनकी मौत हो गई और कई लोग घायल भी हुए। हत्या को लगभग 6 दिन हो गए हैं और सुधीर के परिजन न्याय न मिलने से परेशान हैं. आज अनंगपुर और आस पास के गांव वालों में अनंगपुर चौक पर कैंडल मार्च निकाल न्याय की गुहार लगाईं।


सुधीर की हत्या के बाद यूपी पुलिस का कहना था कि कि इस हत्याकांड के पीछे एक मासूम बच्ची से रेप के मामले में गिरफ्तार आरोपी का हाथ हो सकता है जो जेल में बंद है और उसको सजा भी हो चुकी है। यूपी पुलिस के सूत्रों की मानें तो मृतक सुधीर पैरोकारी कर इस मामले में पीड़ित अपने दोस्त के परिवार की मदद कर रहा था।

परिणामस्वरूप उसकी रेप के आरोपी से रंजिश चल रही थी। आरोपी ने जेल से ही सुधीर को सबक सिखाने व हत्या करने की चेतावनी दी थी। समझा जाता है कि सुधीर ने इस धमकी को गंभीरता से नहीं लिया और उसकी हत्या हो गई। इस मामले में पांच लोगों को नामजद किया गया जिनमें से अधिकतर आरोपी अनंगपुर गांव के ही हैं। फिलहाल पुलिस ने अभी तक इस हत्याकांड का पूरा खुलासा नहीं किया है। सीओ पिलखुवा उत्तर प्रदेश प्रीतम पाल सिंह लगातार इन टीमों को कोआर्डिनेशन कर आरोपियों की तलाश करा रहे हैं। पुलिस अधीक्षक संजीव सुमन ने इस मामले का खुलासा करने के लिए कड़े निर्देश दिये हैं लेकिन पुलिस के हाथ अब तक खाली हैं।

रात 2 बजे अपने जीजा को डंडा लेकर मारने आये मेवला महाराजपुर के दीपू चपराना पर दर्ज हुई FIR

faridabad-nit-5-police-thana-fir-number-437-against-deepu-chaprana

फरीदाबाद: रात 2 बजे अपने दोस्त के साथ अपने जीजा प्रवीण भड़ाना को डंडे से मारने आये मेवलमहाराजपुर निवासी दीपू चपराना पुत्र शशी कुमार चपराना के खिलाफ FIR दर्ज कर ली है. फरीदाबाद NIT पुलिस थाने में IPC की धारा 34, 506, 509 के तहत मुकदमा नंबर 437 दर्ज हुआ है.

प्रवीन भड़ाना ने FIR में लिखा है - मैं NIT-5, भगत सिंह कॉलोनी में रहता हूँ, दिनांक 25 नवंबर 2019 को रात 2.00 AM के करीब कुछ लोग मेरे घर के बाहर जोर जोर से चिल्लाने एवं घर की डोर बेल बजाने लगे, उसके बाद जब हमने अपना गेट खोला तो बाहर खड़े 2 व्यक्ति शराब पीये हुए एवं हाथों में लठ एवं डंडे लिए हुए थे, जिसमें से एक मेरा साला दीपू चपराना पुत्र शशि कुमार चपराना, निवासी मेवला महाराजपुर फरीदाबाद एवं दूसरा व्यक्ति अज्ञात था जिसे हम लोग नहीं जानते।

वह लोग मुझे एवं मेरी माता जी को गन्दी गन्दी गालियां देने लगे एवं जान से मारने की धमकी देने लगे, वे लोग कहने लगे कि जो मामले अदालत में चल रहे हैं उन्हें वापस ले ले और हमें पैसे दे दे वरना तुझे एवं तेरी माँ को जान से मार देंगे, यह हमारी आखिरी चेतावनी है.

प्रवीण भड़ाना ने बताया कि यह सब देखकर हमने 100 नंबर पर फोन किया और पुलिस प्रशासन को पूरी जानकारी दी जिसे देखकर वह लोग सफ़ेद रंग की इको स्पोर्ट कार (HR 51 BP 6929) से भाग गए.

शिकायत में यह भी लिखा गया है कि 12 मार्च 2018 को भी रात 11 बजे इन्होने मेरे घर पर कुछ अज्ञात व्यक्तियों के साथ मिलकर हमला किया था एवं जान से मारने की धमकी दी थी जिसकी दरखास्त मैंने NIT-5  पुलिस थाने में दी थी जिसकी सामाजिक तौर पर दीपू चपराना ने गलती मानी थी.

fir-number-437

fir-number-437-part-2

मामले का CCTV वीडियो नीचे दिया गया है - 

तिगांव में फर्नीचर की दुकान से 6 LED, 4 मिक्सी कुछ प्रेस चोरी, पुलिस ने दर्ज की FIR

faridabad-tigaon-furniture-shop-chori-police-fir-number-283-news

फरीदाबाद: तिगांव में एक फर्नीचर की दुकान में लाखों रुपये के कीमती सामान चोरी कर लिया गया है जिसके खिलाफ तिगांव थाने में FIR नंबर 283, IPC 380, 457 के तहत दर्ज किया गया है.

FIR में दी गई सूचना के मुताबिक़, शिकायतकर्ता राजबीर पुत्र सम्मान लाल ने बताया कि 27/28 नवंबर को कोई अज्ञात व्यक्ति मेरी दुकान के अंदर से 6 LED 32 इंच, 4 मिक्सी कुछ प्रेस दुकान का ताला काटकर ले गया.

राजवीर ने दूकान का चोरी हुआ सामान वापस दिलाने और इस मामले में कानूनी कार्यवाही की  मांग की है.

tigaon-chori-fir-283

OLX से सावधान रहें, पहले पेमेंट कभी ना करें, आर्मी वाला बनकर खूब लूट रहे हैं ठग, पढ़ें कैसे

olx-website-online-fraud-thag-become-indian-army-and-cheating

फरीदाबाद: बहुत सारे लोग OLX वेबसाइट पर सस्ते वाहन खरीदने के चक्कर में रहते हैं लेकिन आजकल बहुत सारे लोग ठगी का शिकार हो रहे हैं, रोजाना हजारों लोग ठगी के शिकार होते हैं उसके बावजूद भी ठगी का खेल रुकने का नाम नहीं ले रहा है, इसकी वजह ये है की ठग बहुत ही होशियार है और ये ग्राहक को आसानी से अपने जाल में फंसा लेते हैं. कई बार तो पढ़े लिखे लोग भी इनके चक्कर में आसानी से फंस जाते हैं.

खुद को आर्मी मैन  का बताकर लूटते हैं ठग

आर्मी वालों पर लोग आँख मूंदकर भरोसा करते हैं इसलिए ठगों ने आर्मी का भेष धारण कर रखा है. ये लोग OLX वेबसाइट पर सस्ते वाहन (कार-बाइक) का ऐड देते हैं और अपना फोन नंबर देते हैं.

कल एक ठग ने OLX पर एक अपाचे बाइक की फोटो डाली और बाइक पर अपना मोबाइल नंबर 7056369914 भी लिखा - देखिये फोटो - 

olx-fraud-news

बाइक की फोटो देखकर कर्नाटक के हुगली के रहने वाले युवक अनवर ने ठग के मोबाइल 7056369914  पर फोन किया। ठग ने अपना नाम साहिल बताया और खुद को आर्मी का सिपाही बताया। उसने धरती माँ की कसम खाते हुए अनवर को अपने भरोसे में ले लिया। ठग ने कहा की मैं आर्मी में हूँ, आर्मी वाले कभी झूठ नहीं बोलते, मैं धरती माँ की कसम खाकर कहता हूँ कि सच बोल रहा हूँ, उसने अपनी लोकेशन भी कर्नाटक एयरपोर्ट की बतायी।

इसके बाद ठग ने आर्मी ड्रेस में अपनी फोटो भेजी ताकि अनवर को लगे कि ये सच में आर्मी का सिपाही है. ऊपर फीचर इमेज में आर्मी की ड्रेस पहले एक युवक की फोटो है. हो सकता है की ये ठग की फोटो ना हो और उसने इस फोटो का इस्तेमाल किया हो लेकिन इस फोटो से लोग यही समझते हैं कि ये आर्मी का सिपाही है.

कुछ लोगों को कुछ शक होता है तो ठग उन्हें कूरियर कंपनी की फोटो भेजते हैं ताकि ग्राहक को लगे कि बाइक-कार पार्शल के लिए तैयार है और पेमेंट करने पर एक दो घंटे में वाहन उनके पास पहुँच जाएगा, देखिये ये फोटो-

olx-fraud-in-india

olx-fraud-in-faridabad

उसके बाद ठग कूरियर कंपनी के कैंटर की फोटो भेजते हैं जिसमें बाइक कैंटर में लदी दिखाई देती है ताकि ग्राहक को लगे कि बाइक जल्द ही उनके पास पहुँच जाएगी - देखिये फोटो-

how-olx-fraud-done

जब ग्राहक ठग के झांसे में फंस जाते हैं तो ठग उन्हें पेमेंट करने के लिए कहते हैं. जब ग्राहक को पहले पेमेंट करने में  झिझक होती है तो ठग फिर से खुद को आर्मी वाला बताकर धरती माँ की कसम खाने लगते हैं. ठग कहते हैं कि आधा पेमेंट कर दो, आधी पेमेंट बाइक मिलने के बाद करना। ग्राहक सोचते हैं कि चलो करके देख लेते हैं लेकिन यही उनकी सबसे बड़ी मूर्खता होती है.

कल वाले केस में जब अनवर साहिल नाम के ठग के चक्कर में फंस गया तो साहिल ने अनवर से ATM कार्ड की फोटो मांगी, ATM नंबर मिलने पर ठग ने अनवर से ATM पिन भी पूछ लिया और देखते ही देखते अनवर के अकाउंट से 5500 रुपये निकाल लिए.

5500 रुपये लूटने के बाद ठग शांत बैठ गया. अनवर ने कहा कि बाइक कितनी देर में आ जाएगी तो ठग साहिल ने कहा कि आपको पूरी पेमेंट करनी होगी। अनवर के अकाउंट में पैसे ख़त्म हो गए थे इलसिए ठग ने उसे गूगल पे नंबर (9350561437) दिया और इसपर बाकी की पेमेंट करने को बोला। अनवर ने कहा कि मेरा गूगल पे नंबर नहीं है तो ठग ने कहा कि किसी दोस्त के अकाउंट से करवा दो, अनवर ने किसी दूसरे के अकाउंट से पेमेंट करवा दी, उसने कुल 20000 रुपये पेमेंट कर दिए. 20 हजार रुपये में ही डील तय हुई थी इसलिए ठग का काम हो गया. अनवर को ना बाइक मिली और 20 हजार रुपये भी लुट गए.

उसके बाद अनवर ने हमें फोन किया, हमने ठग का मोबाइल नंबर ट्रेस किया तो उसकी लोकेशन हिसार जिले के हांसी के पास की निकली। ठग लोग बहुत चालाक होते हैं, OLX पर बाइक देखकर जब लोग ठगों को फोन करते हैं तो ठग पहले ग्राहक की लोकेशन पूछते हैं और उसके बाद अपनी लोकेशन भी वही बताते हैं ताकि ग्राहक आसानी से फंस जाए. अनवर वाले केस में ठग ने अपनी लोकेशन कर्नाटक एयरपोर्ट की बतायी थी जबकि उसकी लोकेशन हिसार की है.

OLX पर सावधान रहने की जरूरत

ऐसा नहीं है कि OLX पर सभी लोग ठगी के शिकार हो रहे हैं लेकिन बहुत सारे लोग ठगों के चक्कर में फंस जाते हैं इसलिए OLX पर वाहन खरीदते समय कभी भी पहले ऑनलाइन पेमेंट ना करें। वाहन घर पहुँचने पर ही पेमेंट करें वरना पेमेंट करने के बाद आपको कुछ भी हाथ नहीं लगेगा। इसके अलावा ठगों को ATM नंबर और पिन कभी ना बताएं वरना आपका पूरा अकाउंट खाली हो जाएगा।

युवक को अगवा करके हाथ-पैर तोड़कर बोले बदमाश, पुलिस हमारी जेब में है, अब तक किसी की गिरफ्तारी नही

faridabad-baselva-colony-sunil-kidnapping-old-faridabad-police-no-action

फरीदाबाद, 28 नवंबर: फरीदाबाद में कुछ बदमाशों के हौसले इतने बुलंद हैं कि किसी को भी अपहरण करके उसके हाथ पैर तोड़ देते हैं, यही नहीं ये लोग पुलिस को अपने जेब में बताकर कहते हैं - जाओ कर लो FIR, तुम हमारा कुछ नहीं बिगाड़ पाओगे, पुलिस हमारी जेब में है.

फरीदाबाद में बसेलवा कॉलोनी के रहने वाले सुनील नाम के युवक को 20 नवंबर को अपहरण कर लिया गया, उसे खेड़ी में सूनसान जगह पर ले जाकर दोनों हाथ पैर तोड़ डाले गए. कई जगह चाकुओं से वार किया गया. सुनील को अधमरा हालत में छोड़कर बदमाश फरार हो गए, आठ दिन बाद भी पुलिस किसी भी आरोपी को गिरफतार नहीं कर पायी है, पीड़ित युवक और उसका परिवार परेशान हैं, उनका कहना है कि बदमाशों की तरफ से अभी भी धमकियाँ मिल रही हैं, हमें जान से मार दिया जाएगा। ओल्ड फरीदाबाद थाने की पुलिस कोई ठोस कार्यवाही नहीं कर रही है, जब हम पुलिस के पास जाते हैं तो हमें संतोष जनक जवाब भी नहीं दिया जाता।

इस मामले में पुलिस ने FIR नंबर 402, IPC की धारा 148, 149, 323, 365, 506 के तहत दर्ज की है, पीड़ितों ने बताया कि आरोपियों ने योजना बनाकर 15 लोगों ने अपहरण और जान से मारने की नीयत से वारदात को अंजाम दिया था लेकिन पुलिस ने ना धारा 307 लगाई और ना ही 120B जोड़ी, यही नहीं पीड़ित का 18 हजार रुपये का मोबाइल फोन और कुछ कैश भी छीना गया लेकिन पुलिस ने धारा 379B भी नहीं जोड़ा। पीड़ितों ने मामले में ठोस क़ानूनी कार्यवाही करने, आरोपियों को जल्द से जल्द गिरफ्तार करने और अपनी जान-माल की हिफाजत करने की गुहार लगाई है.

कौन हैं आरोपी

FIR में दी गयी सूचना के मुताबिक - छोटे उर्फ़ गौरव निवासी बल्लभगढ़, नीरज गाँव दयालपुर, पंकज निवासी दौलताबाद, नितिन सैनी निवासी सेक्टर-62 बल्लभगढ़ एवं उनके साथियों ने इस वारदात को अंजाम दिया था.

वारदात का विवरण

उपरोक्त आरोपी सुनील का रामा स्वीट्स के पास से अपहरण करके एक कार में डालकर गाँव खेड़ी ले गए जहाँ उन्होंने रॉड, छुरी एवं डंडों से बहुत ज्यादा मारपीट की, दोनों हाथों एवं दोनों पैरों में बहुत ज्यादा चोटें मारी गयी है और जान से मारने की धमकी दी गयी है. वारदात में गंभीर रूप से घायल सुनील का हॉस्पिटल में इलाज चल रहा है. देखें वीडियो -

रात 2 बजे डंडा लेकर जीजा को मारने पहुंचा मेवला महाराजपुर निवासी दीपू चपराना, पुलिस में शिकायत

praveen-bhadana-police-complaint-against-deepu-chaprana-news

फरीदाबाद: पुलिस कमिश्नर ऑफिस में प्रवीण भड़ाना ने अपने साले दीपू चपराना, निवासी मेवला महाराजपुर और उसके अज्ञात दोस्त के खिलाफ जान से मारने की धमकी देने और गाली गलौज करने की शिकायत दी है. उन्होंने दीपू चपराना से अपनी एवं अपनी माँ की जान को खतरा भी बताया है और पुलिस से कड़ी कानूनी कार्यवाही की मांग की है.

प्रवीण भड़ाना ने अपनी शिकायत में लिखा है - मैं NIT-5, भगत सिंह कॉलोनी में रहता हूँ, दिनांक 25 नवंबर 2019 को रात 2.00 AM के करीब कुछ लोग मेरे घर के बाहर जोर जोर से चिल्लाने एवं घर की डोर बेल बजाने लगे, उसके बाद जब हमने अपना गेट खोला तो बाहर खड़े 2 व्यक्ति शराब पीये हुए एवं हाथों में लठ एवं डंडे लिए हुए थे, जिसमें से एक मेरा साला दीपू चपराना पुत्र शशि कुमार चपराना, निवासी मेवला महाराजपुर फरीदाबाद एवं दूसरा व्यक्ति अज्ञात था जिसे हम लोग नहीं जानते।

वह लोग मुझे एवं मेरी माता जी को गन्दी गन्दी गालियां देने लगे एवं जान से मारने की धमकी देने लगे, वे लोग कहने लगे कि जो मामले अदालत में चल रहे हैं उन्हें वापस ले ले और हमें पैसे दे दे वरना तुझे एवं तेरी माँ को जान से मार देंगे, यह हमारी आखिरी चेतावनी है.

प्रवीण भड़ाना ने बताया कि यह सब देखकर हमने 100 नंबर पर फोन किया और पुलिस प्रशासन को पूरी जानकारी दी जिसे देखकर वह लोग सफ़ेद रंग की इको स्पोर्ट कार (HR 51 BP 6929) से भाग गए.

शिकायत में यह भी लिखा गया है कि 12 मार्च 2018 को भी रात 11 बजे इन्होने मेरे घर पर कुछ अज्ञात व्यक्तियों के साथ मिलकर हमला किया था एवं जान से मारने की धमकी दी थी जिसकी दरखास्त मैंने NIT-5  पुलिस थाने में दी थी जिसकी सामाजिक तौर पर दीपू चपराना ने गलती मानी थी.

शिकायत में उपरोक्त आरोपियों के खिलाफ सख्त से सख्त कानूनी कार्यवाही की मांग की गयी है. शिकायत की कॉपी नीचे दी गयी है.

faridabad-police-complaint

मामले का CCTV वीडियो नीचे दिया गया है - 


सिर में डंडा मारकर गाडी चढ़ाकर कर दी युवक की हत्या, आरोपी 6 घंटे के अंदर गिरफ्तार, पढ़ें

crime-branch-dlf-faridabad-arrested-accused-dhirender-in-sandeep-murder-case

फरीदाबाद, 26 नवंबर: फरीदाबाद पुलिस की DLF क्राइम ब्रांच ने मात्र 6 घंटे में हत्या की वारदात का खुलासा किया और एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया।

आपको बता दें की 25 नवंबर की रात आईएमटी बल्लभगढ़ एरिया में सिर में डंडा मार एवं गाड़ी चढ़ाकर एक युवक की हत्या की गयी थी।

दिनांक 25 नवंबर 2019 की रात को थाना सदर बल्लभगढ़ को सूचना मिली कि आई एम टी एरिया में कोई नाम पता ना मालूम व्यक्ति की नाश पड़ी हुई है। जो ऐसा प्रतीत होता है कि किसी नाम पता ना मालूम ने इसकी हत्या कर दी है।

जिस पर थाना सदर बल्लभगढ़ में मुकदमा नंबर 619 धारा 302 आईपीसी के तहत दर्ज किया गया था।

पुलिस आयुक्त केके राव को सूचना मिलते ही उन्होंने एसीपी क्राइम अनिल कुमार को कार्यवाही कर मामला सुलझाने के लिए निर्देश दिए थे।

एसीपी क्राइम अनिल कुमार ने यह मामला क्राइम ब्रांच डीएलएफ को सौंपा था।

क्राइम ब्रांच डीएलएफ की टीम तत्परता दिखाते हुए घटनास्थल पर पहुंचकर सबूत इकट्ठे कर, मृत व्यक्ति की पहचान में जुट गई।

क्राइम ब्रांच डीएलएफ को पता चला कि मृत व्यक्ति का नाम संदीप पुत्र रघुवीर है जो कि गांव सौतई फरीदाबाद का रहने वाला है।

क्राइम ब्रांच की टीम ने मृत संदीप के सभी परिचित एवं पड़ोस में रहने वाले व्यक्तियों से पूछताछ की।

पूछताछ एवं सबूतों के आधार पर पता चला कि मृत संदीप कल रात धीरेंद्र पुत्र देवी चरण गांव सौतई फरीदाबाद के साथ था।

क्राइम ब्रांच डीएलएफ की टीम ने तुरंत प्रभाव से धीरेंद्र के घर पर दबिश की, जिसमें पता चला कि वह कल रात से घर पर नहीं है।

विशेष सूत्रों से मिली सूचना एवं तकनीकी अनुसंधान से क्राइम ब्रांच डीएलएफ को पता चला कि धीरेंद्र फरीदाबाद के साहपुरा गांव में है।

तुरंत क्राइम ब्रांच डीएलएफ की टीम ने साहपुरा गांव में छापेमारी की गई जिसमें आरोपी धीरेंद्र गाड़ी सेंटरों में शराब के नशे में सोता हुआ मिला।

क्राइम ब्रांच डीएलएफ की टीम ने पूछताछ की तो धीरेंद्र ने बताया कि उसी ने ही संदीप की कल रात हत्या की थी।

आरोपी ने बताया कि संदीप उसकी भतीजी को परेशान करता था जिस पर आरोपी ने संदीप को बुलाकर पहले अपनी गाड़ी सेंट्रो में बैठा कर उसको शराब पिलाई।

उसके बाद उसके सर में डंडा मारकर एवं सैंटरो गाड़ी चढ़ाकर उसकी हत्या कर उसको आईएमटी बल्लभगढ़ में फेंक कर फरार हो गया था।

क्राइम ब्रांच डीएलएफ प्रभारी इंस्पेक्टर संजीव ने बताया कि नशा ज्यादा होने पर आरोपी धीरेंद्र गाड़ी को गांव शाहपुरा में खड़ी कर उसमें ही सो गया था।

प्रभारी क्राइम ब्रांच डीएलएफ इंस्पेक्टर संजीव ने बताया कि उनकी टीम ने मात्र 6 घंटे में केस सुलझाने में कामयाबी हासिल की है।

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि आरोपी से वारदात में प्रयोग किया गया डंडा एवं सेंट्रो गाड़ी बरामद कर ली गई है।

कल आरोपी को अदालत में पेश कर रिमांड पर लेकर वारदात से संबंधित आगामी पूछताछ की जाएगी।

भांजा और भांजी ने करवा दी अपने मामा की हत्या, DLF क्राइम ब्रांच ने किया बड़ा खुलासा, पढ़ें

faridabad-dlf-crime-branch-solved-shubhash-murder-case-in-faridabad

फरीदाबाद, 26 नवंबर: फरीदाबाद DLF क्राइम ब्रांच ने एक बड़ा खुलासा किया है, भांजा और भांजी ने मिलकर पंक्चर बनाने का काम करने वाले अपने मामला की ह्त्या करवा दी थी, पुलिस ने इस  मामले में पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया है. डेढ़ लाख रुपये की सुपारी देकर संपत्ति हड़पने की नीयत से ह्त्या करवाई गयी थी.

आपको बताते चलें कि मृतक सुभाष पुत्र जगन्नाथ निवासी मंदिर वाली गली भगत सिंह कालोनी का साईकिल ट्रायर में पन्चर लगाने का खोखा है।

दिनांक 20 नवंबर 2019 को रोजाना की तरह सुभाष अपनी दूकान पर आया था।

सुभाष अपने  खोखा की साफ सफाई करने लगा समय करीब 7.00 AM पर दो लडके मोटरसाईकिल पर आए जो अगले लड़के ने हेलमेट व पीछे बैठे लड़के ने अपने मुंह पर सफेद कपड़ा बांधा हुआ था।

जो सुभाष से बात करने लगे और जैसे ही सुभाष ने अपने खोखे की तरफ मुंह किया और झुक कर सामान उठाने लगा तो मोटर साईकिल पर पीछे बैठे हुए लड़के ने अपने हाथ में लिए हुए हथियार से सुभाष को गोली मार दी थी। सुभाष की गोली लगने के कारण मौके पर ही मौत हो गयी।

जिस पर मुकदमा न० 418 Dt. 20.11.2019 U/S - 302, 120B,34 IPC & 25-54-59 A.ACT थाना NIT फरीदाबाद अंकित किया गया था।   

वारदात की गम्भीरता को देखते हुए पुलिस कमिश्नर श्री  के.के.राव  IPS  के आदेश व पुलिस उपायुक्त अपराध राजेश कुमार के दिशा निर्देश व सहायक पुलिस आयुक्त अपराध अनिल कुमार के मार्ग दर्शन पर इस केस की तफ्तीश अपराध शाखा DLF फरीदाबाद को दी गई।

आरोपियों  की धरपकड के लिए निरीक्षक संजीव कुमार प्रभारी अपराध शाखा DLF ने एक टीम का गठन किया, जो निम्नलिखित है: -

पुलिस टीम: -   निरीक्षक संजीव कुमार, उप निरीक्षक असरुद्दीन , उप निरीक्षक अश्वनी कुमार, मुख्य सिपाही कुलदीप , मुख्य सिपाही प्रवीन , मुख्य सिपाही अनूप  सिंह , मुख्य सिपाही आनंद, सिपाही अनिल कुमार (साईबर एक्सपर्ट), सिपाही नितिन ,सिपाही प्रीतम , सिपाही नसीब।

क्राइम ब्रांच DLF ने घटनास्थल से वारदात को सुलझाने में अहम सबूत इकट्ठा किए। टीम ने आस पास लगे CCTV कैमरे की फुटेज को खंगालना शुरू किया और सुभाष के परिजनों से भी पूछताछ की।

परिजनों से पूछताछ के बाद सुभाष के रिश्तेदारों से पूछताछ की गई जिससे पता चला कि सुभाष का भांजा जयदेव और भांजी खेविता की नजर सुभाष की प्रोपर्टी पर थी जिसके लिए इनके बीच पहले भी लड़ाई झगड़ा हो चूका है।
    
जिसके आधार पर क्राइम ब्रांच DLF की टीम ने जयदेव और खेविता को दिनांक 23.11.2019 को गिरफ्तार करके पूछताछ की जो पूछताछ में पता चला कि जयदेव और खेविता ने अपने मामा सुभाष की हत्या 1,50,000  रूपए में सुपारी देकर करवाई थी।

प्रभारी क्राइम ब्रांच ने बताया कि जयदेव और खेविता को अदालत में पेश कर अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए अदालत से जयदेव का 2 दिन का रिमांड लिया गया।

दौराने रिमांड जयदेव ने बताया कि उसने और उसकी बहन ने मिलकर अपने मामा सुभाष को रास्ते से हटाने की योजना बनाई ताकि अपने मामा सुभाष की मौत के बाद उसकी प्रोपर्टी पर दोनों भाई बहन कब्ज़ा कर सके।

जिसके लिए जयदेव और खेविता ने जयदेव के दोस्त कुलदीप और कुलदीप की पत्नी सुमन के द्वारा कुलदीप के दोस्त अमित (होडल,पलवल) और भारत (होडल ,पलवल) को सुपारी देकर योजना बनाकर अपने मामा सुभाष की हत्या करवा दी थी।

वारदात के दौरान आरोपी भारत बाइक चला रहा था एवं शूटर अमित बाइक पर पीछे बैठा था आरोपी अमित ने हथियार से मृतक सुभाष के ऊपर गोली चला कर उसकी हत्या कर दी थी।

इंस्पेक्टर संजीव ने बताया कि आज दिनांक  25.11.2019 को कुलदीप ,कुलदीप की पत्नी सुमन और शूटर अमित को ऑफिसर कॉलोनी कोसी कलां जिला मथुरा UP से गिरफ्तार कर लिया गया है।

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि कुलदीप, कुलदीप की पत्नी, एवं शूटर अमित को कल दिनांक 26.11.19 को अदालत में पेश कर रिमांड पर लिया जाएगा।

रिमांड के दौरान आरोपियों से वारदात में प्रयोग की गई मोटर साइकिल एवं हथियार बरामद किया जाएगा।गिरफ्तार आरोपियों की निशानदेही पर वारदात के दौरान बाइक चला रहे आरोपी भारत को भी जल्द गिरफ्तार किया जाएगा।

गिरफ्तार आरोपीयो  का विवरण

1. जयदेव उर्फ़ कुकी पुत्र विजय कुमार निवासी  FCA 2472 SGM NAGAR हाल किराऐदार म०न०128/5 Nit थाना Nit  फरीदाबाद।
2. खेविता पुत्री विजय कुमार निवासी  FCA 2472 SGM NAGAR हाल किराऐदार म०न०128/5 Nit थाना Nit फरीदाबाद।
3. कुलदीप चौहान पुत्र श्याम चौहान निवासी गाँव देहगांव थाना कोसी कलां जिला मथुरा UP।
4. अमित पुत्र लक्ष्मण सिंह निवासी रोहता पट्टी होडल थाना होडल जिला पलवल।
5. सुमन पत्नी  कुलदीप चौहान निवासी गाँव देहगांव थाना कोसी कलां जिला मथुरा UP।

पढ़ें, बीपीटीपी क्राइम ब्रांच द्वारा अकबर को टॉर्चर करने वाले मामले की क्या है असलियत

akbar-torture-by-bptp-crime-branch-faridabad-news

फरीदाबाद  20 नवंबर: एक व्यक्ति अकबर पर क्राइम ब्रांच BPTP के द्वारा उत्पीड़न के आरोप की खबर को  संज्ञान में लेकर मामले की जांच करवाई गई।

जिसकी सच्चाई कुछ और ही निकली।

जांच मे पाया गया कि CIA BPTP पर उत्पीड़न का आरोप लगा  CM  विंडो सहित कई जगह शिकायत करने वाला  शिकायतकर्ता अकबर ने 10 लाख रुपये की लूट को छिपाने के लिए यह झूठी शिकायत का सहारा लिया और खुद को निर्दोश साबित करने व  पिडित दिखाने के लिय अखबार मे खबर छपवाई थी।

इस लूट में थाना BPTP  में तैनात एक हेड कांस्टेबल  सुशील भी शामिल पाया गया है।

आरोपी अकबर ने अपने जानकार नफीस को  एक सप्ताह मे डेढ़ लाख रुपये फायदे का लालच देकर उससे 10 लाख रुपये लिए , और नफीस को भी अपने साथ गाड़ी मे बिठा कर थाना धौज ऐरिया मे पहुचे , रास्ते मे अकबर ने एक खेत मे छिपाया हुआ  करीब 200 kg गांजा भी गाड़ी मे रख लिया।

योजना के अनुसार  अकबर के दाे साथी और थाना BPTP मे तैनात हवलदार सुशील ने  अकबर की गाड़़ी को चैक करने के लिए रुकवा ली  ।  

सुशील ने खुद को क्राईम ब्राच का अधिकारी बताया ओर गाड़ी की तलाशी ली , अकबर के दो साथीयो ने नफीस  पर पिस्टल  दिखाकर मारने की धमकी दी , जिससे नफीस डर कर भाग गया।

हवलदार सहित चारो आरोपियो ने नफीस के 10 लाख रूपये  पिस्टल दिखाकर लुट लिए।

 आरोपी अकबर से नफीस ने पैसे मांगने शुरू किए तो आरोपी अकबर ने पैसे देने से मना कर दिया और कहा कि पैसे क्राइम ब्रांच वाले लेकर चले गए और इस संबंध में आरोपी की व नफीस कि एक दुसरे के घर पर कई बार बात हुई।  आरोपी अकबर को लगा की नफीस पुलिस मे शिकापत दे सकता है , इसालिय यह नाटक कर झुठी शिकायत दि गई थी। 

 नफीस की शिकायत पर आरोपी अकबर व उसके 2 साथी और हेड कोस्टेबल सुशील के खिलाफ थाना धौज में  लुट का मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। 

 नफीस से 10 लाख की लूट करने व गांजा सप्लाई करने वाले आरोपी अकबर के साथ मिली -भगत के आरोप मे हवलदार सुशील को गिरफतार कर लिया गया है जिसको कल कोर्ट में पेश करके पुलिस रिमाण्ड लिया जाएगा।

रिमाण्ड के दौरान लूटे हुए 10 लारव ₹,  व 2 क्विटल गांजा व आरोपी अकबर और उसके 2 अन्य साथियों के बारे में पूछताछ की जाएगी। 

डॉ प्रवीण मेंहदीरत्ता, पत्नी, बेटी-दामाद की हत्या के कई राज सामने आने बाकी, पढ़ें

dr-praveen-mehdiratta-murder-case-many-doubts-not-cleared-yet
                 
फरीदाबाद 15 नवंबर: एक हप्ते पहले 10 नवंबर को फरीदाबाद के सेक्टर-7 में दिन दहलाने वाली वारदात सामने आयी, एक्सरे-क्लिनिक चलाने वाले डॉ प्रवीण मेंहदीरत्ता, उनकी पत्नी और बेटी-दामाद की चाकुओं से ह्त्या कर दी गयी. घटना की पुलिस ने जांच शुरू की लेकिन हर कोई यही सोच रहा था की चारों की हत्या या तो किसी साइकोकिलर ने की है या रंजिशन हत्या की गयी है, या चोरी के विरोध में की गयी है.

एक दिन बाद अचानक डबुआ से एक लेटर बरामद हुआ जिसमें एक जिम ट्रेनर मुकेश ने लिखा था की मैंने चार लोगों की हत्या की है, अब मैं भी मरने जा रहा हूँ. यह चिट्ठी पढ़कर लोगों के मन में यही सवाल हुआ कि आरोपी जरूर साइकोकिलर है वरना अपने गुनाह का कबूलनामा क्यों करता।

पुलिस ने इस वारदात की आधी जांच कर ली है, आरोपी मुकेश को भी गिरफ्तार कर लिया गया है लेकिन कई राज अभी भी बाकी हैं. पुलिस का कहना है की आरोपी मुकेश डॉ प्रवीण के यहाँ चोरी करने गया था और विरोध करने पर चारों लोगों को मार दिया लेकिन ये बात आसानी से नहीं पच रही है है.

गौरतलब है की आरोपी मुकेश मृतक डॉ प्रवीण मेंहदीरत्ता के बेटे दर्पण का दोस्त है. वारदात के दिन दर्पण गुरुग्राम गया था. मुकेश का डॉ प्रवीण मेंहदीरत्ता के घर पहले से ही आना जाना था, ऐसे में सिर्फ चोरी के लिए अपने दोस्त के परिवार के चार लोगों को मार डालना समझ से परे है. पुलिस ने चोरी का कुछ सामान सोना आदि बरामद किया है लेकिन कोई भी कैश बरामद नहीं किया गया है जो कई सवाल खड़े करता है.

यह भी सवाल उठ रहा है कि क्या डॉ प्रवीण मेंहदीरत्ता के घर के अंदर या क्लिनिक में CCTV नहीं लगा था, अगर लगा था तो उसकी फुटेज सामने क्यों नहीं आयी.

यह भी सवाल उठ रहा है कि क्या मुकेश पहले भी ऐसी वारदातों को अंजाम दे चुका है, क्या पहली वारदात में सिर्फ चोरी के लिए कोई चार लोगों का क़त्ल कर सकता है.

पुलिस कार्यवाही की डिटेल

डॉक्टर प्रवीण मेहंदीरत्ता सहित चार लोगों की  हत्या करने वाले आरोपी जिम ट्रेनर मुकेश की गिरफतारी व हत्या के कारणों का, एसीपी क्राइम  अनिल कुमार ने प्रेस वार्ता के दौरान खुलासा किया। 

के.के.राव पुलिस आयुक्त महोदय फरीदाबाद के दिशा निर्देश व राजेश कुमार एचपीएस डीसीपी क्राईम तथा अनिल यादव एचपीएस एसीपी क्राईम के नेतृत्व में कार्य करते हुये उपनिरीक्षक अनिल कुमार प्रभारी अपराध शाखा सेक्टर-48 व उनकी टीम ने अपने विशेष सूत्रों  के आधार पर सेक्टर-7 फरीदाबाद में चार व्यक्तियों का सामूहिक  जघन्य हत्याकांड के आरोपी को गिरफ्तार किया।

टीम के सदस्यः

एसआई अनिल कुमार, एसआई नरेश कुमार, एसआई जगवीर, एचसी दीपक, एचसी नविन, एचसी प्रवेश, सिपाही महेश कुमार, सिपाही बलजीत।

सुलझाई गई वारदातः

 मुकदमा 754  दिनांक 09-11-19 धारा 302 आईपीसी  25.54.59 आर्मज एक्ट थाना सै0 7 फरीदाबाद।   

गिरफ्तार आरोपी  का विवरणः

मुकेश पुत्र रामपाल सिंह निवासी झुग्गी न० 47 न्यू राजिव कालोनी डबुआ मंडी फरीदाबाद, उम्र 25 साल, कक्षा 10जी तक पढा है।

आरोपी का पारिवारिक विवरणः

उपरोक्त आरोपी अपने परिवार सहित डबुआ मंडी के पास झुग्गी में रहता है व सैक्टर 7 की मार्किट में ज्भ्म्क्म्छ जिम पर ट्रेनर है, शादी शुदा है, परिवार में माता वा एक भाई है।

वारदात करने का कारणः

आरोपी मुकेश पर काफी  रूपये का कर्ज हो गया इसी कर्ज को अदा करने के लिए आरोपी मुकेश ने चोरी करने का रास्ता अपनाया व चोरी करने की नियत से वह डाक्टर प्रवीण मेहंदीरता के मकान में घुसा तथा डाक्टर द्वारा प्रतिरोध करने पर डाक्टर की ह्त्या कर दी।

इसके बाद आरोपी मुकेश के अनुसार इसने डाक्टर की पत्नी सुदेश की ह्त्या कर दी व घर में चोरी करने लगा इसी दोरान घर में डाक्टर की बेटी प्रियका अपने पति सोरभ के साथ घर आ जाती है पकडे जाने के डर से आरोपी मुकेश ने इन दोनों को भी चाकू से गले पर वार करके ह्त्या कर दी। 
  
तरीका वारदातः

उपरोक्त आरोपी ने  पहले डाक्टर के मकान की  रेकी की  और यह मोका देखा की डाक्टर का बेटा दर्पण मेहंदीरता रात के वक्त डयूटी पर जाता है यही मोका देखकर आरोपी मुकेश ने डाक्टर के घर में चाकू लेकर चोरी के लिए घुसा और प्रतिरोध करने पर आरोपी ने चाकू से डाक्टर की ह्त्या कर दी। 

आरोपी से वारदात में प्रयोग चाकु जिससे वारदात को अजाम दिया गया बाटापुल के कबाडे से बरामद कर लिया गया हैं,  आरोपी  से ज्यूवलरी भी बरामद कर ली गई है जिसमें  एक कडा सोना , दो अगुठी सोना ,  एक चैन सोना , दो टोपस सोना , दो नाक की पिन सोना, चार छल्ले चांदी के ,एक घडी टाइमैक्स, एक लाकेट आर्टिफिसियल, एक मगल सूत्र आर्टिफिसियल, एक जोड़ा कानो के आर्टिफिसियल, एक अगुठी  आर्टिफिसियल, एक मोबाइल फोन अजरौंदा पुल के पास बरामद कर लिया गया है।

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि आरोपी को कल अदालत पेश कर और पुलिस  रिमाण्ड मागा  जाएगा। पुलिस रिमाण्ड के दौरान , आरोपी से खुन से सने कपड़े और जुते, जो वारदात के समय पहने हुए थे , व वारदात से संबंधित अन्य साक्ष्य जुटाये जायेगे।