Palwal Assembly

Showing posts with label Crime. Show all posts

छांयसा गाँव की गौशाला में 25-30 गायों की मौत, LN पाराशर ने गौशाला के खिलाफ की कार्यवाही की मांग

advocate-ln-parashar-demand-strict-action-chhanysa-village-gaushala

फरीदाबाद: छांयसा गाँव की गौशाला में करीब 25-30 गाँवों की मौत हुई है लेकिन गायों की मौतों के बारे में किसी को पता नहीं चला क्योंकि गायों की लाश को गौशाला के गड्ढे में फेंक दिया गया लेकिन बारिश के बाद गड्ढा पानी से भर गया और गायों की लाश पानी में तैरने लगी. गायों की मौत से लोग दुखी हैं, वकील एल एन पाराशर ने भी गायों की मौतों पर दुःख व्यक्त किया है साथ ही गौशालाओं के खिलाफ कार्यवाही की मांग की है.

वकील पाराशर ने कहा कि हरियाणा सरकार ने गायों की हत्या पर कठोर कानून बनाया है उसके बावजूद भी गौशालाओं के इतनी गायों की मौत हो रही है और उनका अंतिम संस्कार भी नहीं किया जाता, गायों की इस दुर्दशा के लिए हरियाणा सरकार और प्रशासनिक अधिकारी जिम्मेदार हैं, इसपर कड़ा एक्शन होना चाहिए.



वकील एल एन पाराशर ने यह भी बताया कि वह 25 फ़रवरी को दिल्ली के जंतर मंतर पर न्यायिक व्यवस्था में भ्रष्टाचार के खिलाफ धरना प्रदर्शन नहीं करेंगे क्योंकि वरिष्ठ न्यायिक अधिकारी ने उन्हें भ्रष्ट अधिकारियों के खिलाफ कार्यवाही का भरोसा दिया है. 

क्राउन इंटीरियर मॉल के हल्दीराम रेस्टोरेंट पर फ़ूड अफसरों ने मारा छापा, कई सैम्पल सीलकर भेजा लैब

food-officer-raid-haldiram-restorent-crown-interior-mall-faridabad-news

फरीदाबाद: फ़ूड विभाग की टीम ने क्राउन इन्टेरियर मॉल स्थित हल्दीराम रेस्टोरेंट पर 12 फ़रवरी को छापा मारा और कई सैंपल सील कर लिए, सील किये गए सैम्पल में रिफाइंड और खाने पीने के अन्य सामान थे, सील किये गए सैम्पल को लैब में टेस्ट के लिए भेजा गया है, कुछ दिनों में रिपोर्ट आ जाएगी.

फ़ूड विभाग की टीम ने बताया कि शहर में मिलावटी सामान का इस्तेमाल करके जनता के स्वास्थय से खिलवाड़ किया जा रहा है इसलिए हम सभी होटलों और रेस्टोरेंट के सैम्पल लेंगे ताकि खाने पीने की चीजों में मिलावट ना हो पाए और जनता को बढ़िया क्वालिटी का खाना मिले.

हल्दीराम रेस्टोरेंट के सैम्पल को अभी टेस्ट के लिए भेजा गया है, रिपोर्ट के बारे में अपडेट किया जाएगा, हल्दीराम के कर्मचारियों ने बताया कि उनके रेस्टोरेंट में मिलावटी सामानों का इस्तेमाल नहीं किया जाता, टेस्ट में हमारे सैम्पल जरूर पास होंगे.

कंपनी का नाम अमृत जल, गिलास के अन्दर भरा गन्दा पानी, LN पाराशर बोले, इस कंपनी पर दर्ज हो FIR

advocate-ln-parashar-demand-fir-on-amrit-jal-company-dirty-water

फरीदाबाद: शहर में खनन, माफिया, रेत माफिया, भूमाफिया ही नहीं जल माफियाओं ने शहर को तवाह करने में कोई कमी नहीं छोड़ी है। कई जगहों पर अवैध जल दोहन के साथ-साथ गंदे पानी की सप्लाई भी की जा रही है। ये कहना है बार एशोशिएशन के पूर्व अध्यक्ष एवं न्यायिक सुधार संघर्ष समिति के अध्यक्ष एडवोकेट एल एन पाराशर का जिन्होंने दावा किया है कि शहर में सप्लाई किया जा रहा अमृत जल्द के पानी में गंदगी मिली है।

पाराशर का कहना है कि उनके पास अमृत जल्द की सीलबंद गिलास है जिसमे गंदगी एवं बाल साफ़ दिखाई दे रहा है। पराशर ने कहा कि कंपनी वाले लोगों को पैसे लेकर गन्दा पानी पिला रहे हैं और जनता के स्वास्थ्य से खिलवाड़ कर रहे हैं। पाराशर ने कहा कि अमृत जल कंपनी फरीदाबाद के रेलवे रोड के किनारे एक गंदे नाले के पास बनी है और कंपनी का कुछ हिस्सा गंदे नाले पर है।

amrit-jal-company-water

उन्होंने कहा कि गंदे नाले पर पानी की कंपनी बिना अधिकारियों की मिलीभगत से नहीं बन सकती है इसलिए संभव है नगर निगम अधिकारियों की इसमें मिलीभगत हो।

एडवोकेट पाराशर का कहना है कि उनके पास उस कंपनी के गंदे पानी का जो गिलाश है उस पर आईएसआई का मार्क भी लगा है। उन्होंने कहा कि शहर में जल माफिया कैसे लोगों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं और पैसे लेकर गंदे पानी की सप्लाई कर रहे हैं ये इसका जीता जागता उदाहरण है। उन्होंने कहा कि ये कंपनी एक नेता के घर के पास बनी है जिस कारण संभव है स्थानीय नेता की भी इसमें मिलीभगत हो। वकील पाराशर ने कहा कि गंदे पानी की सप्लाई करने वाली इस कंपनी पर तुरंत ताला लगाया जाना चाहिए और गंदे नाले पर पर अवैध कब्ज़ा कर बनाई गई कंपनी को तुरंत न तोडा गया तो वो नगर निगम और कंपनी मालिक पर मामला दर्ज करवाएंगे।

सेक्टर-22 हथौड़ा काण्ड, पुलिस ने की आरोपियों की पहचान, जल्द किये जाएंगे गिरफ्तार

faridabad-sector-22-hathauda-land-accused-identified-by-police-news

फरीदाबाद: आज सुबह सेक्टर-22 का एक वीडियो वायरल हुआ था जिसमें कुछ हमलावर एक स्कूटी सवार युवक पर हथौड़े से प्रहार कर रहे थे, करीब 7-8 हमलावर एक युवक को हथौड़ों से लहूलुहान करके Fortuner कार से फरार हो गए.

पुलिस ने तुरंत कार्यवाही शुरू की, आरोपियों की पहचान कर ली गयी है, पुलिस के अनुसार -  लेकिन जिन्होंने चोट मारी है वो चिन्हित कर लिए गए हैं पहचान हो गई है। दोनों पार्टियों के आपसी रंजिश है पहले भी एक दूसरे के खिलाफ केस दर्ज है

मारपीट में चोट खाने वाले व्यक्ति के बयान के आधार पर कानूनी कार्रवाई कर चोट मारने वाले आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

घायल व्यक्ति के अभी बयान नहीं हुए हैं, पुलिस को बताया गया था कि घायल युवक मेट्रो हॉस्पिटल में एडमिट है लेकिन पुलिस जब वहाँ गयी तो युवक नहीं मिला, युवक से बयान लेने के बाद आरोपियों को जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा. 

करनेरा गाँव में प्रॉपर्टी डीलर को मारी गयी गोली

ballabhgarh-karnera-village-property-dealer-murder-case-police-reach

फरीदाबाद: पृथला विधानसभा क्षेत्र के करनेरा गाँव में एक प्रॉपर्टी डीलर को गोली मारे जाने की खबर है. घटना के बाद मौके पर भारी भीड़ जमा हो गयी. पुलिस को सूचना दी गयी जिसकी बाद पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर जांच शुरू की गयी है.

इस कांड से पूरे क्षेत्र में हडकंप मच गया है, प्रॉपर्टी डीलर की मौके पर ही मौत हो गयी. फिलहाल हत्या के कारणों का पता नहीं चल पाया है, पुलिस की जांच के बाद ही सच्चाई सामने आएगी.

सेक्टर-22 में दिन-दहाड़े हुआ हथौड़ा-काण्ड, बदमाशों ने युवक के पैरों पर बरसाए हथौड़े, VIDEO देखें

hathauda-kand-in-sector-22-bikaner-sweet-video-youth-beaten-hathauda

फरीदाबाद: शहर में आज दिन-दहाड़े हथौड़ा काण्ड सामने आया है, सेक्टर-22 में बीकानेर मिष्ठान भण्डार के सामने Fortuner कार में आये 6-7 बदमाशों ने स्कूटी सवार एक युवक को रोककर उसे पीटना शुरू कर दिया, उसके बाद बदमाशों ने युवक के पैरों पर हथौड़े बरसाने शुरू कर दिए और उसके पैरों का भुर्ता बना दिया.

हमारे एक पाठक ने यह वीडियो अपने कैमरे में रिकॉर्ड कर ली, यह वारदात दिन-दहाड़े और बीच रोड पर हुई है, बदमाशों को पुलिस-प्रशासन का कोई खौफ नहीं दिखा, इस घटना से आम लोगों में फिर से हथौड़ा गैंग की दहशत बढ़ेगी. अब देखते हैं पुलिस इसके खिलाफ क्या कार्यवाही करती है. नीचे वारदात का वीडियो दिया गया है.

मोदीजी आज करेंगे ESI हॉस्पिटल का उद्घाटन, लेकिन पहले करना था घोटालेबाजों की सर्जिकल स्ट्राइक

pm-modi-inaugurate-esi-hospital-faridabad-but-need-surgical-strike

फरीदाबाद: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आज फरीदाबाद NIT-3 में बने ESI हॉस्पिटल और मेडिकल कॉलेज का उद्घाटन करेंगे लेकिन हमारा मानना है कि पहले उन्हें ESI हॉस्पिटल में मौजूद घोटालेबाज अधिकारियों और कमीशनखोर डॉक्टरों की सर्जिकल स्ट्राइक करनी चाहिए थी. इस हॉस्पिटल की ऑडिट होनी चाहिए, अगर सही तरीके से ऑडिट हो जाए तो अरबों रुपये के घोटालों का पर्दाफाश हो सकता है और कई भ्रष्ट अधिकारी जेल जा सकते हैं.

बहुत बड़ा रेफर घोटाला, लूटे जा रहे अरबों रुपये

आपको बता दें कि ESI के कुछ कमीशनखोर डॉक्टर प्राइवेट अस्पतालों से सेटिंग करके मरीजों को वहां रेफर करते हैं और बदले में मोटा कमीशन खाते हैं, कई डॉक्टर तो महीनें में कई लाख रुपये कमीशन में कमा लेते हैं, इनका ध्यान मरीजों के इलाज पर नहीं बल्कि कमीशन पर ही रहता है, इन लोगों का ध्यान सिर्फ इसपर रहता है कि कौन से मरीज को किस हॉस्पिटल में भेजकर कितना कमीशन खाना है.

यहाँ के कमीशनखोर डॉक्टर अपने कमीशन के चक्कर में हर वर्ष करीब 100 करोड़ रुपये प्राइवेट अस्पतालों का बिल बनवाते हैं. यहाँ का रेफरल बजट भारत के सभी ESI अस्पतालों से अधिक है. अगर सही तरीके से ऑडिट हो जाए तो पूरे काण्ड का पर्दाफाश हो जाएगा.

इंटरव्यू और भर्ती घोटाला

इसके अलावा यहाँ पर इंटरव्यू घोटाला और भर्ती घोटाला हो रहा है, एक ही पोस्ट की बात बार भर्तियाँ निकाली जाती हैं, बार बार विज्ञापन, बार बार इंटरव्यू और बार बार इंटरव्यू लेने वाले डॉक्टरों की कमाई, इंटरव्यू पैनल में शामिल डॉक्टरों को हर बार TA/DA और अन्य खर्चे मिलते हैं लेकिन पोस्ट नहीं भरी जाती, कुछ दिनों में फिर से विज्ञापन दे दिया जाता है और फिर से वही खेल होता है, इस खेल के चक्कर में भ्रष्ट अधिकारी करोड़ों रुपये लूट रहे हैं. इसकी सही से जांच होनी चाहिए.

बिल्डिंग का नहीं है फायर क्लीयरेंस सर्टिफिकेट

हॉस्पिटल की बिल्डिंग में अभी भी कुछ कमियां हैं लेकिन इसके बारे में शायद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को जानकारी नहीं होगी. बिल्डिंग का फायर क्लीयरेंस सर्टिफिकेट नहीं मिला है, अगर भविष्य में कोई दुर्घटना हो गयी या आग लग गयी तो इसका जिम्मेदार प्रधानमंत्री मोदी को ही बताया जाएगा क्योंकि उद्घाटन उनके ही हाथों से हो रहा है, इतनी बड़ी ईमारत का बिना फायर क्लीयरेंस सर्टिफिकेट लिए उद्घाटन नहीं होना चाहिए था लेकिन मोदी आज यह काम करेंगे.

फर्जी एक्सपीरियंस सर्टिफिकेट पर भर्ती

कर्मचारियों की भर्ती के समय उनका अनुभव देखा जाता है लेकिन कई लोग फ़र्जी  एक्सपीरियंस सर्टिफिकेट बनाकर नौकरी ले रहे हैं. ख़ास इन्टरनल सूत्रों से हमें ये जानकारी मिली है.

आज होगा हॉस्पिटल एंड मेडिकल कॉलेज का उद्घाटन

12 फरवरी 2019 मंगलवार को प्रात: 11:30 बजे कुरूक्षेत्र से रिमोर्ट कंट्रोल के माध्यम से स्थानीय एनआईटी-3 (फरीदाबाद) में बादशाह खान नागरिक अस्पताल के पीछे ई.एस.आई. मैडिकल कॉलेज का उद्घाटन करेंगे.

प्रधानमंत्री मोदी फरीदाबाद नहीं आयेंगे लेकिन ESI मेडिकल कॉलेज कैम्पस में बड़े प्रोग्राम का आयोजन किया गया है, इस मौके पर इसमें केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर व फरीदाबाद जिले की सभी विधानसभा क्षेत्रों के विधायक मौजूद रहेंगे। 

माँ-बाप का आरोप, बेटी को दहेज़ लोभी ससुराल वालों ने फांसी चढ़ा दिया, सेक्टर-7 थाने में मामला दर्ज

faridabad-sector-7-thana-fir-067-lodged-dauther-killed-for-dahej-news

फरीदाबाद: पलवल जिले के हसनपुर के निवासी अशोक कुमार ने आरोप लगाया है कि उनकी बेटी को फरीदाबाद सेक्टर-8 स्थित ससुराल वालों ने दहेज़ के लिए मार डाला, बेटी को फांसी पर चढ़ाकर ससुराल वाले फरार हो गए, सेक्टर-7 पुलिस थाने में मामला दर्ज करवाया गया है लेकिन पुलिस कोई कार्यवाही नहीं कर रही है. नीचे FIR की कॉपी दी जा रही है.

fir-no-0067

गाँव हसनपुर निवासी लाला अशोक कुमार ने बताया कि उन्होंने अपनी बेटी वर्षा का विवाह 10-12-2015 को मकान न० 2138 सेक्टर 8 फरीदाबाद में रहने वाले हीरालाल के पुत्र दीपक उर्फ़ दिनेश के साथ यथा सम्भव दान दहेज़ देकर की. परन्तुं इससे भी उनका पेट नही भरा वर्षा की सास किरन देवी आदि ने मिलकर उससे और दहेज लाने को दबाब डालना शुरू किया. वर्षा को गाली गलोच व मारपीट शुरू कर दी. 

दिनाकं 31-01-2019 ससुराल वालों ने सैक्टर 8 में दिन में करीब एक बजे वर्षा को खूब मारा पीटा और उसके हाथ पैर तोड़ कर पंखे पर फांसी पर लटका कर घर बन्द कर दिया. वर्षा की सास, ससुर, जेठ योगेश, ननद शालू व ममता आदि ने मिल कर इस घटना को अंजाम देकर वर्षा के बच्चों सहित फरार हो गये. वर्षा के भाई प्रिंस ने बतलाया की इससे पहले भी जेठानी योगेश की पत्नी पूजा को भी दिनांक 07-08-2009 को इसी तरह से मार डाला था. फिलहल जमानत पर बाहर थे और फिर से दोबारा इस घटना को अंजाम देकर फ़रार हो गये है. उनके ख़िलाफ़ आज तक कोई कार्यवाही नहीं हो पा रही हैं.

अशोक कुमार ने पुलिस प्रशासन से मांग की है कि उनकी बेटी की हत्या करने वालों को कड़ी से कड़ी सजा दी जाए ताकि कोई ऐसा कदम उठाने की हिम्मत भी ना कर सके.

कथित पानी माफिया राजू पंडितजी के टैंकर ने बच्ची को कुचलकर मार डाला, CCTV में भागता दिखा ड्राईवर

raju-pandit-ji-tanker-killed-5-year-girl-palla-thana-file-fir-055-news

फरीदाबाद: तिगांव विधानसभा क्षेत्र के धीरज नगर में 5 फरवरी को पानी की सप्लाई करने वाले एक वाहन ने पांच वर्षीय बच्ची कुचल दिया और बच्ची की मौके पर ही मौत हो गई। इस मामले को लेकर बच्ची के पिता ब्रिज मोहन पासवान ने थाना पल्ला में लिखित शिकायत दी और पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है। बच्ची के पिता का कहना है कि जिस वाहन से बच्ची को कुचला गया उस वाहन का मालिक पल्ला के आस-पास कई कालोनियों में अवैध रूप से पानी की सप्लाई करवाता है और वाहन राजू पंडित का है जिसका नाम और फोन नंबर वाहन के पीछे लिखा है।

बच्ची के परिजनों की मांग है कि राजू पंडित के पानी के टैंकर जल्द पानी सप्लाई के चक्कर में तेज गति से चलते हैं और तेज गति के कारण टैंकर ने उनकी बच्ची को कुचल दिया और एफआईआर में पुलिस ने ड्राइवर का नाम तक नहीं लिखा जबकि हमारे पास ड्राइवर का वीडियो है जिसमे ड्राइवर बच्ची को कुचलकर भागते हुए दिख रहा है। परिजनों का कहना है कि इस मामले में पुलिस ने धारा 304 A के तहत मामला दर्ज किया है जबकि इसमें धारा 304 लगनी चाहिए थी क्यू कि एक एक तरह से हिट और रन का मामला है और ड्राइवर बच्ची को कुचलकर भागते हुए साफ़ दिख रहा है। देखिये FIR की कॉपी - 

fir-0055-palla-thana

परिजनों का आरोप है कि बच्ची की दुर्घटना नहीं हत्या की गई है। बच्ची के परिजनों का कहना कि पहले भी ऐसे हादसे इस तरह के टैंकर से हुए हैं। परिजनों की मांग है कि टैंकर मालिक राजू पंडित भी इस हादसे का बराबर जिम्मेदार है। परिजनों की मांग है कि टैंकर मालिक की जांच की जाए और पता लगाया जाए कि वो क्षेत्र में किसकी परमीशन से पानी की सप्लाई करवा रहा है। मृतक बच्ची के पिता का आरोप है कि टैंकर मालिक एक पानी माफिया है और एक पुलिस अधिकारी की छत्रछाया में वो कई कालोनियों में पानी का अवैध कारोबार करता है।

इस केस के बारे में लीगल जानकारी हासिल की गई तो एक वरिष्ठ वकील ने बताया कि अगर ड्राइवर भागते हुए रहा है तो ये हिट ऐंड रन का केस है और इस केस में धारा 304 लगनी चाहिए और अगर पानी की सप्लाई अवैध रूप से हो रही थी तो कैंटर मालिक भी 120 B के तहत बराबर का दोषी है और उसके खिलाफ भी मामला दर्ज किया जाना चाहिए।

तहसील में अज्ञात युवक को कई रजिस्ट्रियों के साथ LN पाराशर ने पकड़ा, पुलिस बुलाई और बोले 'ले जाओ'

faridabad-tahseel-ln-parashar-caught-youth-with-many-registry-call-police

फरीदाबाद: फरीदाबाद की तहसीलों में भ्रष्टाचार रुकने का नाम नहीं ले रहा है, आज फरीदाबाद की तहसील में एक अज्ञात युवक को करीब 25-30 रजिस्ट्रियों के साथ पकड़ा गया. वकील एल एन पाराशर ने तहसील के अन्दर युवक को देखा, उसके हाथों में मोटी फाइल थी, ऑफिस टाइम से बाद देर शाम को भी काम चल रहा था, जब युवक के हाथ में फाइल खोलकर देखी गयी तो उसमें 25-30 रजिस्ट्रियां थीं.

जब वकील एल एन पाराशर ने युवक से पूछा कि ये रजिस्ट्रियां किसकी हैं तो युवक कुछ नहीं बता पाया, जब पाराशर ने युवक का नाम पूछा तो वह नाम भी नहीं बता पाया, जब उससे पूछा गया कि क्या आप स्टाफ के आदमी हैं तो पता चला कि वह तहसील का कर्मचारी भी नहीं है.

इसके बाद तहसील के आरसी आ गए, जब उनसे रजिस्ट्रियों के बारे में पूछा गया तो उन्होंने बताया कि ये तो तहसील के अन्दर रखी थीं, पता नहीं बाहर कैसे चली गयीं, उन्होंने युवक को भी पहचानने से इनकार कर दिया. इसके बाद वकील पाराशर ने कहा कि जब आप युवक को नहीं जानते, इसके हाथों में तहसील के अन्दर की 25-30 रजिस्ट्रियां हैं तो इसकी मतलब है कि ये रजिस्ट्रियां लेकर भाग रहा था.

इसके बाद वकील एल एन पाराशर ने सेंट्रल थाना पुलिस को बुलाकर युवक को उनके हवाले कर दिया. पुलिस ने सभी रजिस्ट्रियां भी जब्त कर लीं, अब रजिस्ट्रियों की जांच करके पता किया जाएगा कि कहीं कोई फर्जीवाड़ा तो नहीं चल रहा है, आखिर वो युवक कौन था. आखिर वो रजिस्ट्रियां लेकर कहाँ जा रहा था.

कुछ लोगों ने बताया कि युवक को दिहाड़ी पर काम करने के लिए रखा गया है लेकिन उसका कोई रिकॉर्ड नहीं है, खुद काम करने के बजाय इस युवक से काम करवाया जाता है इसलिए इसको पहचाने से इनकार किया जा रहा है. खैर पुलिस अपनी जांच में दूध का दूध और पानी का पानी कर देगी. देखें VIDEO.



देखिये इससे पहले का स्टिंग वीडियो -

बाटा पुल पर कैंटर ने मारी स्कूटी को टक्कर, NIT-2 निवासी महिला की मौत

bata-pul-faridabad-accident-women-deak-nit-2-faridabad-news

फरीदाबाद: बाटा पुल पर एक जानलेवा दुर्घटना हो गई जिसमें 1 महिला की मौत हो गई.

जानकारी के अनुसार NIT-2 नंबर निवासी राजू अपनी पत्नी के साथ स्कूटी से बाटा फुल से हार्डवेयर की तरफ जा रहे थे, रास्ते में एक कैंटर ने उन्हें टक्कर मार दी.

गाड़ी पर राजू की पत्नी पीछे बैठी हुई थी, राजू ने हेलमेट लगा रखा था, उनकी पत्नी ने हेलमेट नहीं लगा रखा था जिसकी वजह से वह मुंह के बल रोड पर गिरी और मौके पर ही उनकी मौत हो गई.

कैंटर को पकड़ लिया गया है और पुलिस ने कार्रवाई शुरू कर दी.

डुप्लीकेट स्टाम्प से सरकार को चूना लगाने वाले तहसीलदारों पर FIR दर्ज करो SHO साहब: LN पाराशर

advocate-ln-parashar-request-central-thana-faridabad-fir-on-tahsildar-news

फरीदाबाद: फर्जी स्टाम्प के जरिये सरकारों को लाखों का चूना लगाने वाले तहसीलदारों के खिलाफ वकील एल एन पाराशर ने सेंटल थाने में FIR दर्ज करने की दरखास्त की है. वकील एल एन पाराशर ने कल बताया था कि एक ही स्टाम्प नंबर से दो रजिस्ट्रियां की गयीं और हरियाणा सरकार को लाखों का चूना लगाया है, यह सब तहसीलदारों ने अपने गैंग के साथ मिलकर किया है.

पुलिस को दी गयी अपनी शिकायत में वकील एल एन पाराशर ने लिखा है - 

आदरणीय थानाध्यक्ष महोदय, सेन्ट्रल फरीदाबाद

श्री मान जी को मालुम हो कि हमारे पास कुछ ऐसे कागजात हैं जिनमे फरीदाबाद केतहसील में तहसीलदार का घोटाला साफ़ दिख सकता है।

श्रीमान जी शशि बाला निवासी मकान नंबर 452 सेक्टर 37 फरीदाबाद ने अपना प्लाट रमेश गोस्वामी निवासी गांधी नगर दिल्ली को बेंचा और इस खरीद फरोख्त में 3 लाख 43 हजार रूपये का स्टैंप पेपर खरीदा गया जिसका नमबर 19433484 था। इस स्टैंप से ये रजिस्ट्री हुई लेकिन इसके 8 महीने बाद आशीष मनचंदा निवासी विकासपुरी नई दिल्ली ने अपना प्लाट कपिल गुप्ता निवासी सफीदों जिला जींद को बेंचा। इसका स्टैंप पेपर नंबर भी 19433484 है जो आठ महीने पहले की खरीद फरोख्त का स्टैंप नंबर था। एक ही नंबर के स्टाम्प पेपर को दो तरह की खरीद फरोख्त में प्रयोग किया गया जो तहसीलदारों का एक बड़ा घोटाला है। अगर इस घोटाले की ठीक से जांच कराई जाए तो फरीदाबाद के तहसीलदारों के कई और घोटाले सामने आ सकते हैं।

अतः आपसे निवेदन है कि इस मामले को तुरंत संज्ञान में लेकर सरकार को चूना लगाने वाले अधिकारियों पर तुरंत मामला दर्ज किया जाए। शिकायत पत्र के साथ वकील पाराशर ने कई कागजात भी संलग्न किये हैं।

वकील पाराशर ने कहा कि ठीक इसी तरह का शिकायतपत्र मैंने फरीदाबाद पुलिस कमिश्नर के पास भी भेजा है। उन्होंने कहा कि पुलिस ने आश्वासन दिया है कि इस मामले की जांच की जाएगी और जिम्मेदार अफसरों के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज की जा सकती है। वकील पाराशर ने कहा कि फरीदाबाद के सभी तहसीलों में कई तरह के गलत काम जारी है। आम जनता की रजिस्ट्री के बदले मोटे पैसे नहीं मिलते हैं तो तहसीलदार उनके कागजात में कमियां निकालकर उन्हें दौड़ाते रहते हैं और जब तक रिश्वत न मिल जाये वो रजिस्ट्री नहीं करते हैं। वकील पाराशर ने कहा कि सरकार कहती है कि भ्रष्टाचार पर रोक लग गई है लेकिन फरीदाबाद की तहसीलों में जमकर रिश्वतखोरी चल रही है। उन्होंने कहा कि फर्जी स्टैम्प मामले में अगर इन तहसीलदारों पर जल्द एफआईआर न दर्ज की गई तो मैं सीएम से मिलकर इसकी शिकायत करूंगा।

फरीदाबाद में स्टाम्प घोटाला, दोषी तहसीलदारों पर FIR दर्ज करके छीनी जाय नौकरी: LN पाराशर

advocate-ln-parashar-exposed-stamp-scam-in-faridabad-by-tahsildar

फरीदाबाद: जिला बार एसोसिएशन के पूर्व प्रधान वकील एल एन पाराशर ने फरीदाबाद के तहसीलदार पर स्टाम्प घोटाले का आरोप लगाया है. उनका कहना है कि एक ही स्टाम्प से दो रजिस्ट्रियां की जा रही हैं और हरियाणा सरकार को करोड़ों का चूना लगाया जा रहा है. यह ना सिर्फ जनता के साथ धोखाधड़ी है बल्कि सरकार के साथ भी धोखा है इसलिए तहसीलदारों पर उचित धाराओं के तहत FIR दर्ज करके उन्हें नौकरी से बर्खास्त किया जाय.

वकील पाराशर ने कहा कि इस घोटाले के मेरे पास कई सबूत हैं। उन्होंने बताया कि शशि बाला निवासी मकान नंबर 452 सेक्टर 37 फरीदाबाद ने अपना प्लाट रमेश गोस्वामी निवासी गांधी नगर दिल्ली को बेंचा और इस खरीद फरोख्त में 3 लाख 43 हजार रूपये का स्टैंप पेपर खरीदा गया जिसका नंबर 19433484 था।


वकील पाराशर के मुताबिक़ इस स्टैंप से ये रजिस्ट्री हुई लेकिन इसके 8 महीने बाद आशीष मनचंदा निवासी विकासपुरी नई दिल्ली ने अपना प्लाट कपिल गुप्ता निवासी सफीदों जिला जींद को बेंचा। इसका स्टैंप पेपर नंबर भी 19433484 है जो आठ महीने पहले की खरीद फरोख्त का स्टैंप नंबर था।


वकील पाराशर ने कहा कि एक ही नंबर के स्टाम्प पेपर को दो तरह की खरीद फरोख्त में प्रयोग किया गया जो तहसीलदारों का एक बड़ा घोटाला है। वकील पाराशर ने कहा कि ये तहसीलदार न जाने कितनी रजिस्ट्रियां ऐसे स्टाम्प से दो-दो बार कर चुके हैं।

इस तथाकथित घोटाले के बारे में विस्तार से बताते हुए एडवोकेट पाराशर ने कहा कि जब स्टैम्प पेपर से कोई रजिस्ट्री होती है तो उस पेपर पर एक निशान लगा दिया जाता है जिसमे कभी कभी एक बड़ी लाइन खींच दी जाती है तो कभी क्रास का निशान लगाया जाता है। फरीदाबाद के तहसीलदारों ने ऊपर बताई गई रजिस्ट्री जिसके लिए 3 लाख 43 हजार रूपये का स्टैंप पेपर खरीदा गया था उस पर पहली बार कोई निशान इसलिए नहीं लगाया ताकि दूसरी बार भी वो उस स्टैम्प पेपर का प्रयोग कर सकें।

पाराशर ने कहा कि ये सब तहसीलदार और उनके स्टाफ की मिलीभगत से होता है और सब मिलकर हरियाणा सरकार को चूना लगा रहे हैं और ऐसा न जाने और किस-किस तहसील में हो रहा है इसलिए इसकी तुरंत जाँच करवाई जाए और इन तहसीलदारों के खिलाफ सरकार से धोखाधड़ी का मामला दर्ज करवाया जाए। पाराशर ने कहा कि सरकार ने जल्द ऐक्शन न लिया तो मैं खुद इन तहसीलदारों पर एफआईआर दर्ज करवाऊंगा। उन्होंने कहा कि इन रजिस्ट्रियों में एक बड़खल और एक फरीदाबाद तहसील में हुई है। उन्होंने कहा कि ये रजिस्ट्रियां 2016-17 में हुईं थीं।

देखें वीडियो:

सेक्टर-7 के SHO पर धारा 323, 506, 427, 500, 217, 218 और 120B लगवाना चाहते हैं वकील, पढ़ें क्यों

faridabad-advocate-brij-mohan-sharma-send-notice-to-sector-7-sho-mahesh-kumar

फरीदाबाद: सेक्टर-7 के SHO इंस्पेक्टर महेश कुमार और अन्य स्टाफ के खिलाफ वकील ब्रिज मोहन शर्मा कोर्ट में चले गए हैं, SHO के खिलाफ अधिकतर वकील एकजुट हैं. इंस्पेक्टर महेश कुमार, ASI जयचंद एवं अन्य 4 (ट्रम्प हुंडई एजेंसी के कर्मचारियों) के खिलाफ कोर्ट से समन भेजा गया है. 20 फ़रवरी को अगली सुनवाई है.

वकील ब्रिज मोहन शर्मा SHO महेश कुमार और अन्य आरोपियों के खिलाफ  धारा 323, 506, 427, 500, 217, 218 और 120B लगवाकर उन्हें जेल भेजना चाहते हैं.

ब्रिज मोहन शर्मा ने आरोप लगाया है कि एक ऑडियो टेप में SHO महेश कुमार गलत लहजे में बात कर रहे हैं और वकीलों के लिए अपशब्दों का इस्तेमाल कर रहे हैं जिसकी वजह से वकील समाज अपमानित महसूस कर रहा है. ऑडियो में उठाने, लूट का केस ठोंकने, कूटने आदि की बात भी की जा रही है. वकीलों के लिए अपशब्दों का इस्तेमाल किया जा रहा है. अगर ये टेप SHO का है तो ऐसा लगता है कि हरियाणा पुलिस का श्रीमान अभियान SHO तक नहीं पहुंचा. इस अभियान के तहत फरीदाबाद पुलिस कमिश्नर ने सभी पुलिस अधिकारियों एवं पुलिसकर्मियों को जनता से प्रेम एवं सम्मान से बातचीत करने का आदेश दिया था, अभिवादन में श्रीमान लगाने का आदेश दिया गया था.

आज इस मामले में वकील लोग एकजुट होकर एडिशनल चीफ जुडिसियल मजिस्ट्रेट तरुण सिंगल की कोर्ट में पहुंचे और ऑडियो टेप के आधार पर आरोपियों के खिलाफ उपरोक्त धाराओं के तहत कार्यवाही की मांग की, जिसके बाद कोर्ट से आरोपियों को समन भेजा गया है, आर्डर की कॉपी नीचे दी गयी है - 

sector-7-sho-case

बिना नंबर वाली बुलट ने 1 नंबर मार्केट में कार में मारी टक्कर, कार चालक को चाबियों से मारकर फरार

bullet-without-number-hit-car-driver-attack-car-driver-dushyant-1n-market

फरीदाबाद: शहर में सैकड़ों बिना नंबर प्लेट की कारें एवं मोटरसाकिलें घूम रही हैं, कई लोग नंबरप्लेट की जगह अपनी जातियां लिख लेते हैं जिसकी वजह से एक्सीडेंट के समय वाहन चालकों को पकड़ने में मुश्किल होती है.

आज एक नंबर मार्केट में बिना नंबर की बुलट ने एक कार में टक्कर मार दी, जब कार सवार से बुलट चालक को सावधानी से गाड़ी चलाने की सलाह दी तो बुलट चालक युवक को गुस्सा आ गया और उसनें बुलट की चाबियों से कार चालक पर हमला बोल दिया.

कार चालाक दुष्यंत जो अपनी पत्नी से साथ एक नंबर मार्केट में जा रहे थे, उनके दाँतों और सर में चोट आयी है, दुष्यंत पर हमला करने के बाद बुलट चालक फरार हो गया लेकिन उसकी बुलट को पकड़ लिया गया. बुलट को कोतवाली थाने ले जाया गया है. इसके खिलाफ पुलिस में शिकायत दी जा रही है, अब देखते हैं कि कोतवाली पुलिस क्या एक्शन लेती है.

फरीदाबाद ट्रैफिक पुलिस का बढ़िया काम, नियम की धज्जियां उड़ा रहे ऑडी कार मालिक के घर भेजा चालान

faridabad-traffic-police-issue-e-chalan-audi-car-owner-shreeram-concrete

फरीदाबाद: विदेशों में ट्रैफिक नियम तोड़ने वालों के घरों पर चालान भेज दिया जाता है. फरीदाबाद पुलिस ने भी दुनिया के नक्शे कदम पर चलना शुरू कर दिया है. जिस प्रकार से विदेशों में ट्रैफिक नियम तोड़ने वालों के घरों पर ई चालान भेज दिया जाता है उसी प्रकार से फरीदाबाद पुलिस ने की ट्रैफिक नियम तोड़ने वालों के घर पर e-challan भेजना शुरू किया है.

कल हमने खबर डाली थी जिसमें कुछ युवक युवतियां लग्जरी कारों की छतों और खिड़की पर बैठे हुए थे, देखिए फोटो -

traffic-rule-broken-at-mathura-road-by-young-boys-and-girls-news

यह खबर सोशल मीडिया पर वायरल हुई और फरीदाबाद ट्रेफिक पुलिस तक भी पहुंची, फोटो में एक ऑडी कार का नंबर दिख रहा था जबकि दो कारों का नंबर नहीं दिखाई दिया. फरीदाबाद ट्रैफिक पुलिस तुरंत हरकत में आई और एस आई रघुवीर सिंह ने नंबर प्लेट पर दिख रहे नंबर HR-26-BZ-1551 के आधार पर कार मालिक के घर पर ई चालान भेज दिया. देखिए फोटो -

faridabad-traffic-police

ट्रैफिक पुलिस के सब इंस्पेक्टर रघुवीर सिंह ने आरोपियों पर डेंजरस कार ड्राइविंग और नंबर प्लेट पैटर्न/ विदाउट हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट के तहत कार्रवाई की है और 1500 रुपए का चालान कार मालिक श्रीराम कंक्रीट के घर पर भिजवा दिया है जो गुरु ग्राम के निवासी हैं.

सोशल सोशल मीडिया पर खबर देखने के बाद कुछ लोग फरीदाबाद ट्रेफिक पुलिस पर सवालिया निशान लगा रहे थे और कह रहे थे ट्रेफिक पुलिस अमीर लोगों पर कार्यवाही नहीं करती लेकिन फरीदाबाद ट्रैफिक पुलिस ने ऑडी कार मालिक के खिलाफ कार्यवाही करके साबित कर दिया है फरीदाबाद पुलिस अमीर गरीब में भेदभाव नहीं करती और नियम कानून सबके लिए बराबर हैं. नीचे देखें वायरल वीडियो.

रईसजादों को ट्रैफिक नियमों की कोई परवाह नहीं, मथुरा रोड पर कारों की छतों और खिड़की पर किया सफ़र

traffic-rule-broken-at-mathura-road-by-young-boys-and-girls-news

फरीदाबाद: विदेशों में ट्रैफिक नियम तोड़ने वालों के घरों पर चालान भेज दिया जाता है लेकिन हमारा देश अभी इस मामले में बहुत पीछे है लेकिन फरीदाबाद पुलिस ने हाल में ट्रैफिक नियम तोड़ने वालों के घरों पर ई-चालान भेजने का दावा किया है जो अच्छी बात है.

आज मथुरा रोड पर कुछ रईसजादे अपनी अपनी लग्जरी कारों की छतों और खिड़की पर बैठे जहर आए. हाईवे पर ट्रैफिक नियम का पालन करना बहुत जरूरी होता है लेकिन ये युवक-युवतियां ट्रैफिक नियमों को ताक पर रखते दिखे, इन्हें अपनी जान की भी कोई परवाह नहीं थी. एक गाडी का नंबर पहचान में आ रहा है - HR-26-BZ-1551. 

गाडी में ट्रैफिक नियमों को तोड़ते हुए देखा जा सकता है, सीट बेल्ट नहीं बाँधी गयी है. इसके अलावा अगर गलती से शीशा बंद करने वाले बटन पर हाथ दब जाता तो इन लोगों की जान को खतरा हो सकता था लेकिन इन लोगों को अपनी जान की परवाह नहीं थी.

अब देखते हैं कि फरीदाबाद पुलिस कार मालिकों के घर पर ई-चालान भेजती है या नहीं, वैसे कारों को देखकर ही लगता है कि ये युवक-युवतियां अमीर घरों की संतान हैं. अगर फरीदाबाद पुलिस ने इन लोगों के खिलाफ एक्शन ले लिया तो वाकई में कमाल की बात होगी. देखें वीडियो -

5 लड़कों ने किया बाइक का शक्ति परीक्षण, अब ट्रैफिक पुलिस की शक्ति परीक्षण का इन्तजार

faridabad-naharpar-sector-76-5-youth-seen-on-a-bike-traffic-police-need-action

फरीदबाद: नहरपार इलाके में सेक्टर 76 में कुछ लड़के बाइक का शक्ति परीक्षण करते दिखे, एक ही बाईक पर पांच युवक बैठे नजर आये, चालक ने हेलमेट भी नहीं लगा रखा था, एक जागरूक युवक ने इनका वीडियो बना लिया और सोशल मीडिया पर पोस्ट कर दिया.

इन लड़कों ने बाइक का शक्ति परीक्षण कर लिया है लेकिन अब ट्रैफिक पुलिस की शक्ति परीक्षण का इन्तजार है, बाइक का नंबर - HR29-AR-4345 साफ़ साफ़ फोटो में दिख रहा है.

पुलिस अगर चाहे तो बाइक के नंबर से बाइक मालिक तक पहुँच सकती है और उसके घर इलेक्ट्रॉनिक चालान पहुंचा सकती है, अब तक ट्रैफिक पुलिस इतने ताम-झाम से बचती है, इन लड़कों के खिलाफ शायद ही कानूनी कार्यवाही हो पाएगी लेकिन अगर पुलिस ने कानूनी कार्यवाही कर दी तो ऐसा करने वालों को कड़ा सबक मिलेगा और फरीदाबाद ट्रैफिक पुलिस की वाहवाही होगी. हमें उम्मीद है कि फरीदाबाद ट्रैफिक पुलिस कार्यवाही जरूर करेगी.

दारू पीकर अपनी खोपड़ी में गोली मारने वाला था विजय, 3 मिनट पहले पहुँच गयी DLF CIA की टीम, पढ़ें

lakshman-murder-case-accused-vijay-want-to-suicide-dlf-cia-arrested-him

फरीदाबाद: लक्ष्मण मर्डर केस के आरोप विजय उर्फ़ सन्नी ने बड़ा खुलासा किया है. आरोपी ने बताया कि उसे अहसास हो गया था कि फरीदाबाद पुलिस उसे कभी भी गिरफ्तार कर सकती है इसलिए पकडे जाने से पहले उसनें आत्महत्या का प्लान बनाया था, प्लान के मुताबिक़ आरोपी दारू के नशे में टुन्न होकर अपनी खोपड़ी में गोली मारने वाला था, सिर्फ तीन मिनट पहले क्राइम ब्रांच की टीम दरवाजे पर खड़ी थी, पुलिस ने दरवाजा नॉक किया, आरोपी ने दरवाजा खोला, क्राइम ब्रांच ने आरोपी को धर दबोचा. देखिये ये वीडियो -



आरोपी ने बताया कि मृतक लक्ष्मण ने उसके पारिवारिक मामलों में दखल देकर उसका जीना हराम कर रखा था, उसकी माँ के साथ भी लक्ष्मण के नजायज सम्बन्ध थे, वह उसकी जमीन जायदाद हड़पना चाहता था, इसी वजह से उसनें एक साल पहले लक्ष्मण को मारने की तैयारी की, उत्तर प्रदेश से पिस्टल लाया और लक्ष्मण पर मौका देखकर पांच गोलियां दाग दी.

आपको बताते चलें कि दिनांक 19 जनवरी  2019 की रात को लगभग 7 बजे लक्ष्मण पुत्र तेजपाल शर्मा निवासी कैलाश नगर पलवल को थाना SGM नगर इलाके में गोली मारकर हत्या की गई थी.

मृतक लक्ष्मण को उसी की गाडी में आरोपी विजय ने एक के बाद एक कुल पांच गोलियाँ मारकर फरार हो गया था व अपने फ़ोन से अपनी माँ ममता, कंचन शर्मा, स्वामी महिपाल पुर व सोनू अपनी बुआ के लड़के को भी मारने के लिए धमकी दी थी जिसका ऑडियो भी वायरल हो चुका है।

इस संदर्भ में थाना SGM नगर फरीदाबाद में मुकदमा नंबर 38 दिनांक 19 जनवरी 2019 धारा 302 IPC  और 25-54-59 A.ACT के तहत दर्ज किया गया था। 

डीएलएफ क्राइम ब्रांच को सौंपी गई जांच की कमान

पुलिस कमिश्नर संजय कुमार व पुलिस उपायुक्त अपराध लोकेन्द्र सिंह के दिशा निर्देश पर कार्यवाही करते हुए क्राइम ब्रांच DLF प्रभारी नवीन कुमार व उनकी टीम के उप निरीक्षक ब्रहम प्रकाश, सहायक उपनिरीक्षक कप्तान सिंह, आनंद सिंह, हवलदार कृषण ,सिपाही नसीब,सिपाही मनोज ,सिपाही आदित्य,सिपाही नितिन,सिपाही बिजेंद्र ,सिपाही प्रवीन,सिपाही प्रीतम ने सराहनीय कार्य करते हुये विजय उर्फ़ सन्नी को लक्ष्मण हत्या कांड में गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की।

पुलिस कार्रवाई की डिटेल

अपराध शाखा DLF फरीदाबाद प्रभारी निरीक्षक नवीन कुमार ने बताया कि आरोपी को  रानी गार्डन गीता कॉलोनी दिल्ली से गिरफ्तार करके पूछताछ में पता चला कि पिछले 5-6 साल से  लक्ष्मण हमारे घरेलू मामलो में दखलंदाजी करता था, जिस कारण आरोपी विजय अपने दिमाग में लक्ष्मण के प्रति रंजिश पालने लगा और लक्ष्मण को अपने रास्ते से हटाने के लिए मोके की तलाश करने लगा और लगभग 1 साल पहले ही लक्ष्मण को मारने की योजना बना ली।

आरोपी ने बताया कि लक्ष्मण मेरी माँ को यह कहता था कि अपने बेटे से अपना हिस्सा ले और मेरे साथ चल. मैंने SGM नगर स्थित अपना मकान 23 लाख रूपए में बेचा था, लक्ष्मण कहता था कि आधा हिस्सा वह अपनी माँ को दे जिसके लिए लक्ष्मण ने मेरी माँ से कोर्ट का नोटिस भी दिलवाया था लक्ष्मण हमारी जायदाद हडपना चाहता था।

आरोपी ने बताया कि लक्ष्मण को रास्ते से हटाने के लिए मैं UP से एक पिस्टल व 20 जिन्दा कारतूस लाया था जिसमे से 1 गोली मैंने दिनांक 08.03.18 को NIT में 1 कुत्ते को भी मार दी थी जिसका भी मेरे खिलाफ मुकदमा दर्ज है, जिसमे मैं अभी तक गिरफ्तार नही हुआ हूँ और कुछ गोलियां मैंने दिल्ली में हवाई फायर कर दी थी. दिनांक 19.01.19 को मैं दोपहर लगभग 2 बजे फरीदाबाद आ गया था और लक्ष्मण की तलाश कर रहा था।

आरोपी ने कहा कि उसे लक्ष्मण की गाडी का  न. 9343 याद था व मैं उसका पीछा करने लग गया और शाम को लगभग 7 बजे जैसे ही लक्ष्मण भूजल भवन NH-4 से गाँधी कॉलोनी की तरफ मुड़ा तो मैंने उसके छोटे हाथी के सामने अपनी बुलेट बाइक लगा दी और उसको रुकवा लिया और लक्ष्मण के ऊपर लगातार 5 गोलियां दाग दी और मैं मौके से फरार हो गया था।
क्राइम ब्रांच प्रभारी इंस्पेक्टर नवीन ने बताया कि आरोपी विजय उर्फ़ सन्नी को कल दिनांक 22.01.19 को गिरफ्तार किया जा चुका है और वारदात में प्रयोग किया गया पिस्टल और कारतूस बरामद किये जा चुके हैं।

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि आरोपी को आज अदालत में पेश कर 2 दिन के पुलिस रिमाण्ड पर लिया गया है, रिमांड के दौरान वारदात में प्रयोग बुलेट बाइक बरामद की जायेगी। आरोपी के खिलाफ कई और मामले भी दर्ज हैं जिनमेंं भी अभी तक गिरफ्तार नही हुआ है उनके बारे में भी गहनता से पूछताछ की जाएगी । (PRO CP Office Fbd).

इंस्पेक्टर विमल कुमार और CIA-30 टीम को इंडियन मेडिकल एसोसिएशन से मिली शाबाशी, पढ़ें क्यों

indian-medical-association-faridabad-thanks-cia-30-incharge-vimal-kumar-team

फरीदाबाद: अपराध और अपराधियों के खिलाफ फरीदाबाद पुलिस काफी एक्टिव हो गयी है. अच्छा काम करने वाले पुलिस अफसरों को सामाजिक संगठन सम्मानित करते रहते हैं ताकि पुलिस अफसरों का हौसला बढ़ा रहे और जनता की इसी प्रकार से सेवा करते रहें.

अच्छे काम के लिए क्राइम ब्रांच सेक्टर-30 के प्रभारी इंस्पेक्टर विमल कुमार और उनकी टीम को इंडियन मेडिकल एसोसिएशन फरीदाबाद ने शाबाशी दी है. 

एसोशिएशन ने डाक्टर रश्मि गुप्ता के साथ हुई एक चोरी की वारदात को जल्द सुलझाकर चोरी के सामान की बरामदगी के लिए इंस्पेक्टर विमल कुमार और उनकी टीम का धन्यवाद अदा लिया है.

आपको बता दें कि दिसंबर महीनें में क्राइम ब्रांच सेक्टर 30 ने लगभग एक दर्जन से अधिक लूट व छीना झपटी की वारदातों को अंजाम दे चुके मास्टर माइण्ड़ भूपेन्द्र उर्फ सोनू रात्रा सहित चार आरोंपियों को गिरफ्तार किया था । हथियार के बल पर लुटपाट व छीना झपटी करने वाले इस गिरोह ने पुलिस प्रशासन कि नाक में दम किया हुआ था। लगभग चार माह से सक्रिय यह गैंग लगातार लूट व छीनाझपटी की वारदातों को अंजाम दे रहा था। इस गैंग ने डॉ रश्मी के साथ भी लूट की वारदात को अंजाम दिया था जिसके खिलाफ मुकदमा नं0ः 1027 दिनांक 12.10.2018 धारा 379ठ IPC थाना सैन्ट्ल फरीदाबाद में दर्ज हुआ था. विमल कुमार ने इस वारदात का खुलासा करके चोरी का सामान बरामद कर लिया था.

indian-medical-association-faridabad

देखिये सोनू रात्रा की गिरफ्तारी और कबूलनामे का ये वीडियो