Palwal Assembly

Showing posts with label Ballabgarh. Show all posts

मुख्यमंत्री से भी ज्यादा भीड़ तो दीपक चौधरी की सभा में हो रही है, बल्लभगढ़ में हो सकता है चमत्कार

deepak-chaudhary-jansabha-in-tirkha-colony-ballabhgarh-hindi-news

फरीदाबाद, 18 अक्टूबर: निर्दलीय प्रत्याशी दीपक चौधरी बल्लभगढ़ में चमत्कार कर सकते हैं। वैसे चमत्कार तो वह पहले भी कर चुके हैं जब मोदी लहर ने भाजपा प्रत्याशी को हराकर निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में पार्षद चुनाव जीत लिया था और उसके बाद भाजपा को समर्थन दे दिया था। विधानसभा चुनाव में भी वह निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में चुनाव लड़ रहे हैं। 

कल तिरखा कॉलोनी में दीपक चौधरी की एक सभा में मुख्यमंत्री मनोहर की जनसभा से भी अधिक भीड़ दिखाई दी। सभा में 36 बिरादरी और हजारों की जनता ने दीपक चौधरी को आशीर्वाद दिया और विधायक बनाने का भरोसा दिया। 

दीपक चौधरी ने जनता का आभार जताते हुए कहा अगर मुझे आपकी सेवा का मौका मिला तो कभी शिकायत का मौका नहीं दूंगा और आपका विकास करके आपका अहसान चुकाऊंगा। 

दीपक चौधरी ने कहा कि मैं आपसे कोई बड़े बड़े वादे नहीं करूंगा, मैं तो सिर्फ आपका अधिकार दिलाने की बात करता हूँ। मैं तो आपको अच्छे रोड, अच्छे स्कूल और अस्पताल देने की बात करता हूँ, मैं तो भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई लड़ना चाहता हूँ, जिन लोगों ने बल्लभगढ़ को लूटा है और आपका हक़ छीना है, मैं तो उनके खिलाफ लड़ाई लड़ रहा हूँ। अगर मुझे आपने आशीर्वाद दिया तो मैं आपके सभी अधिकार दिलाऊंगा। 

मोदी दरबार में होने लगे दीपक चौधरी के चर्चे, सीट बचाने के लिए अब आएंगे भाजपा के बड़े-बड़े योद्धा

ballabhgarh-manoj-tiwari-rally-against-deepak-chaudhary-news

बल्लभगढ़ 17 अक्टूबर: बल्लभगढ़ के निर्दलीय प्रत्याशी दीपक चौधरी के चर्चे अब मोदी दरबार में होने लगे हैं, अब भाजपा को बल्लभगढ़ की सीट खतरे में दिखाई देने लगी है इसलिए दिल्ली से बड़े-बड़े योद्धाओं को पंडित मूलचंद शर्मा की सीट को बचाने के लिए भेजा जा रहा है.

आज सेक्टर 24 रामशरण चौक आजाद नगर में दिल्ली भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष और लोकसभा सांसद मनोज तिवारी पंडित मूलचंद शर्मा के लिए वोट मांगने आएंगे.

अगले दो-तीन दिनों में और बड़े-बड़े योद्धाओं को दीपक चौधरी को हराने के लिए दिल्ली से भेजा जा सकता है.

भाजपा पहले इस सीट को आसान मानकर चल रही थी लेकिन अचानक दीपक चौधरी की लहर ने सुनामी का रूप ले लिया तो भाजपा नेताओं की टेंशन बढ़ गई और दिल्ली से बड़े-बड़े योद्धाओं को भेजने की योजना बनाई गई है.

बल्लभगढ़ की जनता से बोले दीपक चौधरी, मेरे लिए आप ही मोदी, आप ही बड़े मंत्री, आप ही स्टार प्रचारक

ballabhgarh-independent-candidate-deepak-chaudhary-new-hindi

फरीदाबाद, 16 अक्टूबर: बल्लभगढ़ के आजाद उम्मीदवार दीपक चौधरी ने चुनाव जीतने के लिए पूरी ताकत लगा दी है, उन्हें हर तरफ से भारी समर्थन भी मिल रहा है। कांग्रेस ने फरीदाबाद विधानसभा के नेता आनंद कौशिक को टिकट देकर दीपक का रास्ता आसान कर दिया है. आनंद कौशिक फरीदाबाद से तैयारी कर रहे थे और वहां उनकी पकड़ भी थी लेकिन उन्हें अचानक बल्लभगढ़ का प्रत्याशी बना दिया गया।

बल्लभगढ़ में दीपक चौधरी को मूलचंद शर्मा के बीच सीधी टक्कर है। मूलचंद शर्मा के लिए वोट मांगने बड़े बड़े  भाजपा नेता, मोदी, मनोहर और कैबिनेट मंत्री आ रहे हैं तो दीपक चौधरी अकेले ही जनता के बीच जा रहे हैं।

कल चुनाव प्रचार के दौरान दीपक चौधरी ने जनता को सम्बोधित करते हुए कहा - यह चुनाव बल्लभगढ़ की जनता लड़ रही है, एक तरफ बड़े बड़े नेता हैं, जिनके लिए प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री और बड़े बड़े कैबिनेट मंत्री वोट मांगने आ रहे हैं तो दूसरी तरफ मैं आपके भरोसे चुनाव लड़ रहा हूँ, मेरे लिए तो आप ही मोदी, आप ही कैबिनेट मंत्री और आप ही स्टार प्रचारक हैं, मुझे तो सिर्फ आप पर भरोसा है।

दीपक चौधरी ने कहा कि मैं पिछले कुछ दिनों से देख रहा हूँ कि मेरे लिए बल्लभगढ़ का बच्चा बच्चा वोट मांग रहा है, कोई बस में  जाता है तो मेरे लिए वोट मांगता है, लोग अपने दोस्त रिश्तेदार और साथियों को मुझे वोट देने की अपील कर रहे हैं यह मेरे लिए बहुत ही सौभाग्य की बात है।

दीपक चौधरी ने कहा कि हम लोगों को ही एक दूसरे के सुख दुःख में काम आना है, बड़ी बड़ी पार्टियों के बड़े बड़े स्टार प्रचारकों को नहीं पता कि वे चोर और डकैत के प्रचार के लिए आ रहे हैं।

दीपक चौधरी ने कहा कि मैं सिर्फ विधायक बनने के लिए चुनाव नहीं लड़ रहा हूँ, मैं तो आपके अधिकारों ने लिए चुनाव लड़ रहा हूँ। पिछले 20 - 25 वर्षों से बल्लभगढ़ में कोई भी बड़ा सरकार अस्पताल नहीं बना, हर आदमी प्राइवेट मेडिक्लेम नहीं करवा सकता। हमें स्कूलों कर अस्पतालों की जरूरत है। अगर मुझे आपकी सेवा का मौक़ा मिला तो बल्लभगढ़ की जनता की सभी मूलभूत सुविधाओं को पूरा करने का काम करूंगा। 

आपकी जानकारी के लिए बल्लभगढ़ के पार्षद और विधानसभा चुनाव में आजाद उम्मीदवार दीपक चौधरी की नुक्कड़ सभाओं में भारी भीड़ जुट रही है, जनता के अपार समर्थन से उत्साहित होकर दीपक  चौधरी ने कहा कि बल्लभगढ़ की जनता ने दीवाली से पहले दीपक को रोशनी देने का मन बना लिया है। 

दीपक चौधरी ने कल ऊंचा गाँव, शुभाष कॉलोनी, भगत सिंह कॉलोनी, यादव कॉलोनी, चावला कॉलोनी और आदर्श नगर में छोटी छोटी नुक्कड़ सभाएं की जिसमें हजारों लोगों ने पहुंचकर उन्हें जीत का आशीर्वाद दिया।

दीवाली से पहले सिलेंडर का बटन दबाकर दीपक को रोशनी देने के लिए बल्लभढ़ की जनता तैयार: दीपक चौधरी

deepak-chaudhary-ballabhgarh-independent-candidate-may-win-election

फरीदाबाद, 16 अक्टूबर: बल्लभगढ़ के पार्षद और विधानसभा चुनाव में आजाद उम्मीदवार दीपक चौधरी की नुक्कड़ सभाओं में भारी भीड़ जुट रही है, जनता के अपार समर्थन से उत्साहित होकर दीपक  चौधरी ने कहा कि बल्लभगढ़ की जनता ने दीवाली से पहले दीपक को रोशनी देने का मन बना लिया है। 

दीपक चौधरी ने कल ऊंचा गाँव, शुभाष कॉलोनी, भगत सिंह कॉलोनी, यादव कॉलोनी, चावला कॉलोनी और आदर्श नगर में छोटी छोटी नुक्कड़ सभाएं की जिसमें हजारों लोगों ने पहुंचकर उन्हें जीत का आशीर्वाद दिया। 

दीपक चौधरी ने जनता को सम्बोधित करते हुए कहा कि यह चुनाव बल्लभगढ़ की जनता लड़ रही है, एक तरह बड़े बड़े नेता हैं, जिनके लिए प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री और बड़े बड़े कैबिनेट मंत्री वोट मांगने आ रहे हैं तो दूसरी तरफ मैं आपके भरोसे चुनाव लड़ रहा हूँ, मेरे लिए तो आप ही मोदी, आप ही कैबिनेट मंत्री और आप ही स्टार प्रचारक हैं। 

मोदी के असली समर्थक दीपक चौधरी मोदी की तरह लेते हैं रिष्क, जीतेंगे तो चमकेंगे हारेंगे तो संघर्ष

deepak-chaudhary-may-win-ballabhgarh-vidhansabha-election-news

फरीदाबाद, 14 अक्टूबर: पूरा शहर जानता है कि फरीदाबाद नगर निगम में सबसे अधिक भ्रष्टाचार है, पूरा शहर जानता है कि भ्रष्टाचार के खिलाफ सबसे अधिक आवाज उठाने वाले पार्षद का नाम दीपक चौधरी है। अन्य पार्षद भ्रष्टाचार के खिलाफ इसलिए आवाज उठाने से डरते हैं क्योंकि उन्हें लगता है कि उनकी ग्रांट कम हो जाएगी लेकिन दीपक चौधरी इसकी परवाह नहीं करते। ऐसा इसलिए क्योंकि उनके अंदर रिष्क लेने की आदत है। 

यह दीपक चौधरी का जोश, जुनून और रिष्क लेने की आदत ही है कि आज वह पार्षद हैं वरना आज उनका राजनीतिक जीवन अंधकार में होता। 

दीपक चौधरी भाजपा और प्रधानमंत्री मोदी के असली समर्थक हैं। प्रधानमंत्री मोदी के हर अच्छे फैसले का समर्थन करते हैं चाहे वह नोटबंदी हो, GST हो, सर्जिकल स्ट्राइक हो, एयर स्ट्राइक हो या हाल ही में धारा 370 ख़त्म किये जाने का साहसिक कदम हो। 

अब सवाल यह उठता है कि जब दीपक चौधरी प्रधानमंत्री मोदी के असली समर्थक हैं तो वह भाजपा के ही खिलाफ निर्दलीय चुनाव क्यों लड़ रहे हैं। 

आपको बता दें कि 8 जनवरी 2017 को फरीदाबाद नगर निगम के चुनाव हुए थे, दीपक चौधरी उस वक्त पूरी तरह से भाजपा नेता थे, वह वार्ड-37 से पार्षद चुनाव के लिए भाजपा की टिकट मांग रहे थे लेकिन उन्हें टिकट नहीं मिला और उनकी जगह महेश गोयल को टिकट मिला। 

उस समय दीपक चौधरी के सामने दो रास्ते थे - या तो चुप होकर बैठ जाना या तो अपना रास्ता खुद तय करना। अगर दीपक चौधरी चुप होकर बैठ जाते तो उनका राजनैतिक कैरियर ख़त्म हो जाता या उन्हें लंबा इन्तजार करना पड़ता। ये सब सोचकर उन्होंने निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में चुनाव लड़ने का फैसला किया। 

उस समय प्रधानमंत्री मोदी ने नोटबंदी की थी इसलिए देश में मोदी की लहर थी। फरीदाबाद में अधिकतर सीटों पर भाजपा की जीत हुई लेकिन दीपक चौधरी ने मोदी लहर को फेल करते हुए भाजपा प्रत्याशी महेश गोयल को हराकर पार्षद चुनाव जीत लिया। 

चुनाव जीतने के बाद दीपक चौधरी ने भाजपा को समर्थन दे दिया और मंत्री कृष्णपाल गुर्जर के साथ मिलकर अपने क्षेत्र के विकास के लिए काम करने लगे। 

दीपक चौधरी में एक अच्छे नेता बनने के सभी गुण हैं लेकिन राजनीति में सफलता के लिए या तो लंबा इन्तजार करना पड़ता है या रिष्क लेना पड़ता है। 2017 में रिस्क लेकर दीपक चौधरी पार्षद बने थे तो 2019 में रिष्क लेकर बल्लभगढ़ का विधायक बनना चाहते हैं। 

दीपक चौधरी के लिए रिष्क ये है कि इस बार उनकी लड़ाई सीधी बल्लभगढ़ के  भाजपा विधायक मूलचंद शर्मा से है। दीपक चौधरी ने मूलचंद शर्मा के खिलाफ भ्रष्टाचार, उनके होटल बिजनेस, टैक्स चोरी और बिजली चोरी जैसे मुद्दों के खिलाफ आवाज उठायी है। जाहिर है कि मूलचन्द शर्मा उनसे नाराज होंगे। इसलिए अगर चुनाव में मूलचंद शर्मा की जीत हुई तो दीपक चौधरी के रास्ते कठिन हो जाएंगे। दीपक चौधरी ढाई साल के लिए पार्षद तो बने रहेंगे लेकिन विधायक से पंगा लेने की कीमत उन्हें चुकानी पड सकती है। 

वैसे रिष्क लेने वाले नेता ही कामयाब होते हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने नोटबंदी, GST, सर्जिकल स्ट्राइक, एयर स्ट्राइक और धारा 370 ख़त्म करने का फैसला रिष्क लेकर किया है और आज वह पूरी दुनिया में मशहूर हैं, इसी तरह से दीपक चौधरी ने भाजपा के खिलाफ निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में लड़कर रिष्क लिया है लेकिन अगर उनकी जीत हुई तो मुख्यमंत्री मनोहर और प्रधानमंत्री मोदी की नजर उनपर जरूर पड़ेगी और हो सकता है कि दीपक चौधरी को उनका आशीर्वाद मिल जाए। 

deepak-chaudhary-cylender-news

आपको बता दें कि दीपक चौधरी को गैस सिलेंडर चुनाव चिन्ह मिला हुआ है जबकि भाजपा का चुनाव चिन्ह कमल है।  अब देखते हैं कि 21 अक्टूबर को सिलेंडर का बटन ज्यादा दबता है या कमल का. जीत किसी की भी हो लेकिन भाजपा को कोई नुकसान नहीं होगा क्योंकि दीपक चौधरी मोदी-मनोहर का आशीर्वाद जरूर लेंगे। 

दीपक चौधरी ने बल्लभगढ़ विधानसभा में अकेले ही मचा दिया है ग़दर, अगर जीते तो बन सकते हैं मंत्री

deepak-chaudhary-may-win-ballabhgarh-vidhansabha-election-news

फरीदाबाद, 12 अक्टूबर: बल्लभगढ़ के आजाद उम्मीदवार दीपक चौधरी को भारी जनसमर्थन मिल रहा है, उनकी सभाओं में किसी भी बड़े नेता से अधिक भीड़ जुट रही है। एक तरह से कहें तो दीपक चौधरी ने अकेले की ग़दर मचा दिया है।

भाजपा उम्मीदवारों के साथ पूर्व विधायक, कई वरिष्ठ नेता और कभी कभी मंत्री कृष्णपाल गुर्जर भी दिख जाते हैं तो भी इतनी भीड़ नहीं होती जितनी दीपक चौधरी की छोटी छोटी सभाओं में जुटती है. कल सेक्टर-3 में उनकी सभा में हजारों लोग जुटे और उन्हें विधायक बनने का आशीर्वाद दिया।

संजय कॉलोनी में भी दीपक चौधरी को भारी जनसमर्थन मिला।


दीपक चौधरी ने जनता से मिले प्यार और समर्थन के लिए सबका धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि अगर मुझे आपकी सेवा का मौक़ा मिला तो शिकायत का मौक़ा नहीं दूंगा और सरकार से मिली पाई पाई को क्षेत्र के विकास में लगा दूंगा। 

deepak-chaudahry-news

आपको बता दें कि दीपक चौधरी निर्दलीय चुनाव लड़ते हैं और भाजपा को समर्थन देते हैं, दीपक चौधरी संघ से भी जुड़े हैं। उन्होंने निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में पार्षद चुनाव जीता था और भाजपा को समर्थन दिया था। विधायक मूलचंद शर्मा से नाराज लोग दीपक दीपक चौधरी को भाजपाई समझकर अपना आशीर्वाद दे सकते हैं। अगर दीपक चौधरी की किस्मत कर बल्लभगढ़ की जनता ने साथ दिया तो चुनाव जीतने के बाद उन्हें मंत्री पद भी मिल सकता है क्योंकि मूलचंद शर्मा को हराकर वह प्रधानमंत्री मोदी और मुख्यमंत्री मनोहर की नजरों को भी भा जाएंगे, ऐसा इसलिए क्योंकि विधायक मूलचंद शर्मा के लिए वोट मांगने 14 अक्टूबर को मोदी बल्लभगढ़ आ रहे हैं। 

बल्लभगढ़ के आजाद प्रत्याशी दीपक चौधरी को समर्थन देने के लिए नाहर सिंह कॉलोनी में उमड़ा जनसैलाब

deepak-chaudhary-getting-full-support-in-ballabhgarh-vidhansabha

बल्लभगढ़, 8 अक्टूबर: बल्लभगढ़ विधानसभा से निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में चुनाव लड़ रहे दीपक चौधरी भाजपा प्रत्याशी पर भी भारी पड़ रहे हैं, शायद इसीलिए बल्लभगढ़ में प्रधानमंत्री मोदी की रैली करवाई जा रही है लेकिन जनता में दीपक चौधरी के प्रति प्रेम और समर्थन बढ़ता ही जा रहा है, दीपक चौधरी का चुनाव चिन्ह गैस सिलेंडर है। 

कल दीपक चौधरी ने वार्ड नंबर 37 की नाहर सिंह कॉलोनी में एक छोटी सी सभा की जो जनसैलाब में बदल गयी. दीपक को समर्थन देने के लिए हजारों लोग इकठ्ठे हो गए और उन्हें बल्लभगढ़ का अगला विधायक बनाने का भरोसा दिया।

जनता से मिले भारी जनसमर्थन के लिए दीपक चौधरी ने सबका आभार जताया और कहा कि अगर मुझे बल्लभगढ़ की जनता की सेवा करने का मौक़ा मिला तो शिकायत का मौका नहीं दूंगा।

किस्मत वाले हैं बल्लभगढ़ के आजाद उम्मीदवार दीपक चौधरी, चुनाव चिन्ह मिला गैस सिलेंडर

deepak-chaudhary-chunav-chinh-gas-cylinder-ballabhgarh-election-2019

फरीदाबाद, 07 अक्टूबर: बल्लभगढ़ के निर्दलीय पार्षद और विधानसभा चुनाव में निर्दलीय चनाव लड़ रहे दीपक चौधरी की किस्मत उनका पूरा साथ दे रही है, उन्होंने अपना चुनाव चिन्ह गैस सिलेंडर माँगा था जो उन्हें मिल चुका है, पार्षद चुनाव में भी उनका चुनाव चिन्ह गैस सिलेंडर था जिसमें उनकी जीत हुई थी. गैस सिलेंडर को महिलाएं, बच्चे युवा और बुजुर्ग हर कोई पहचानता है इसलिए लोगों को ढूंढने में परेशानी नहीं होगी। 

बल्लभगढ़ विधानसभा क्षेत्र के रिटर्निंग अधिकारी व उपमंडल अधिकारी (ना.) त्रिलोकचंद ने बताया कि हरियाणा विधानसभा आम चुनाव में नामांकन वापस लेने के अंतिम दिन आज सुरेशचंद ने अपना नामांकन वापस लिया है।

उन्होंने बताया कि अब इस विधानसभा क्षेत्र में 11 उम्मीदवार चुनाव मैदान रह गए हैं, जिन्हें चुनाव चिन्ह वितरित किए गए हैं।

बसपा प्रत्याशी अरूण बीसला को हाथी,
कांग्रेस प्रत्याशी आनंद कौशिक को हाथ,
भाजपा प्रत्याशी मूलचंद शर्मा को कमल का फूल,
इनेलो प्रत्याशी रोहतास सिंह को चश्मा,
समाजवादी पार्टी प्रत्याशी आदेश को साइकिल,
लोकतंत्र सुरक्षा पार्टी प्रत्याशी कोकचंद को आटो-रिक्शा,
आरक्षण विरोधी पार्टी प्रत्याशी दीपक गौड़ को बल्ला,
आम आदमी पार्टी प्रत्याशी हरेंद्र कुमार को झाड़ू,
निर्दलीय प्रत्याशी अतुल को बैटरी टार्च,
दीपक चौधरी को गैस सिलेंडर तथा
शैलेंद्र सिंह को हाथगाड़ी चुनाव चिन्ह आवंटित किए गए हैं।

Breaking, बल्लभगढ़ में दीपक चौधरी पड़ रहे भारी तो अब हो रही है PM मोदी को उतारने की तैयारी

pm-narendra-modi-rally-deepak-chaudhary-independent-candidate

फरीदाबाद 7 अक्टूबर: पार्षद दीपक चौधरी बहुत लंबे समय से मोदी समर्थक रहे हैं और मोदी सरकार के सभी महत्वपूर्ण फैसलों का समर्थन करते रहे हैं चाहे वह जीएसटी हो, नोटबंदी हो या धारा 370 की समाप्ति हो.

दीपक चौधरी निर्दलीय चुनाव लड़ते हैं और पार्षद का चुनाव भी उन्होंने निर्दलीय लड़ा था और जीता भी था,  विधानसभा क्षेत्र से वह निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में चुनाव लड़ रहे हैं और सभी विरोधियों पर भारी पड़ रहे हैं.

भाजपा को यह सीट खतरे में दिखाई पड़ रही है इसलिए दीपक चौधरी के खिलाफ अब प्रधानमंत्री मोदी को मैदान में उतारने की तैयारी चल रही है, ऐसी खबरें आ रही हैं कि 14 अक्टूबर को प्रधानमंत्री मोदी बल्लभगढ़ में रैली करके यह सीट बचाने का प्रयास करेंगे.

अब देखना यह है कि बल्लभगढ़ के विधायक के खिलाफ दीपक चौधरी को समर्थन देने का मन बना चुकी बल्लभगढ़ की जनता का मन प्रधानमंत्री मोदी की रैली से बदल पाएगा या दीपक चौधरी को विधायक बनाकर बल्लभगढ़ की जनता बल्लभगढ़ का नाम पूरी दुनिया में चमकाने का प्रयास करेगी, क्योंकि अगर मोदी की रैली के बाद भी दीपक चौधरी की जीत हुई तो उनका नाम पूरी दुनिया में छा जाएगा. अगर इस बार भी दीपक चौधरी की जीत हुई तो उनका नाम कद्दावर नेताओं में शामिल हो जाएगा.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि पार्षद चुनाव में मोदी लहर के बाद भी दीपक चौधरी ने निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में चुनाव जीता था, शायद इसीलिए वह फरीदाबाद के इकलौते पार्षद हैं जो विधायक का चुनाव लड़ रहे हैं.

भाजपा की लिस्ट में मूलचंद शर्मा का नाम देखकर खुश हुए दीपक चौधरी, लड्डू बांटकर मनाई ख़ुशी

deepak-chaudhary-happy-moolchand-sharma-get-bjp-ticket-ballabhgarh

बल्लभगढ़, 30 सितम्बर: बल्लभगढ़ विधानसभा के निर्दलीय प्रत्याशी दीपक चौधरी के मन की मुराद पूरी हो चुकी है, उन्होंने प्रार्थना की थी कि बल्लभगढ़ से वर्तमान विधायक मूलचंद शर्मा को ही टिकट मिले, भाजपा ने उनकी मन की मुराद पूरी करते हुए बल्लभगढ़ से मूलचंद  शर्मा को ही प्रत्याशी बनाया है.

bjp-candidate-of-ballabhgarh-news

भाजपा प्रत्याशियों की लिस्ट में बल्लभगढ़ से मूलचंद शर्मा का नाम देखकर दीपक चौधरी खुश हो गए और उन्होंने लड्डू बांटकर अपनी ख़ुशी का इजहार किया।

आपको बता दें कि दीपक चौधरी निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर मैदान में उतरने का फैसला कर चुके हैं, सर्वे और ऑनलाइन पोल में भी वह मूलचंद शर्मा पर बहुत भारी पड रहे हैं, उनका कहना है कि अगर भाजपा ने मूलचंद शर्मा को टिकट दी तो उनका रास्ता और आसान हो जाएगा।

Big Breaking, बडखल विधानसभा से सीमा त्रिखा और बल्लभगढ़ से मूलचंद शर्मा को मिली भाजपा टिकट

seema-trikha-badkhal-moolchand-sharma-ballabhgarh-bjp-candidate

फरीदाबाद, 29 सितम्बर: इन्तजार की घड़ियाँ ख़त्म हो चुकी हैं, भाजपा ने हरियाणा के भाजपा उम्मीदवारों की लिस्ट जारी कर दी है. आज पार्लियामेंट बोर्ड की मीटिंग के बाद उम्मीदवारों के नाम पर अंतिम मुहर लगी, बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा, हरियाणा के चुनाव प्रभारी नरेंद्र सिंह तोमर, मुख्यमंत्री मनोहर लाल, हरियाणा प्रभारी अनिल जैन, प्रदेश अध्यक्ष शुभाष बराला सहित अन्य भाजपा नेता मौजूद थे.

हरियाणा के 78  उम्मीदवारों के नाम फाइनल हो चुके हैं,  बडखल विधानसभा से सीमा त्रिखा को भाजपा की टिकट मिली है, जबकि बल्लभगढ़ से मूलचंद शर्मा को टिकट मिली है -   देखिये लिस्ट -
haryana-bjp-candidate-list-1

haryana-bjp-candidate-list-2

haryana-bjp-candidate-list-3 

बल्लभगढ़ के दीपक ने दिया जलाकर किया रामलीला का शुभारम्भ, क्षेत्र के विकास के लिए माँगा आशीर्वाद

deepak-chaudhary-inaugurate-ramleela-at-agrasen-park-chawla-colony

फरीदाबाद, 30 सितम्बर: बल्लभगढ़ विधानसभा के निर्दलीय प्रत्याशी दीपक चौधरी ने अग्रसेन पार्क चावला कॉलोनी बल्लभगढ़ में अपने साथियों के साथ दिया जलाकर रामलीला का विधिवत शुभारंभ किया, इस मौके पर उन्होंने भगवान के स्वरुप का स्मरण कर नमन करते हुए क्षेत्र के लोगो की मंगल कामना हेतु प्रार्थना की एवं उपस्तिथ लोगो से क्षेत्र के विकास हेतु स्वयं के लिए सहयोग माँगा।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि दीपक चौधरी वार्ड-37 के पार्षद हैं, वह निर्दलीय होते हुए भी भाजपा का समर्थन करते आये हैं इसलिए उनकी छवि एक भाजपा नेता की ही है, अब वह निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में बल्लभगढ़ से चुनाव लड़ रहे हैं लेकिन विधानसभा चुनाव में भाजपा समर्थक भी उन्हें आशीर्वाद दे सकते हैं.

बल्लभगढ़ विधानसभा के प्रत्याशी दीपक चौधरी की पूरी होने वाली है मन की मुराद, जश्न की तैयारी शुरू

ballabhgarh-vidhansabha-pratyashi-deepak-chaudhary-moolchand-sharma

बल्लभगढ़, 30 सितम्बर: बल्लभगढ़ विधानसभा के निर्दलीय प्रत्याशी दीपक चौधरी के मन की मुराद पूरी होने वाली है, उन्होंने प्रार्थना की थी कि बल्लभगढ़ से वर्तमान विधायक मूलचंद शर्मा को ही टिकट मिले, सूत्रों से खबर मिली है कि बल्लभगढ़ से मूलचंद शर्मा को ही टिकट मिल रही है इसलिए दीपक चौधरी ने भी जश्न की तैयारी शुरू कर दी है.

सूत्रों से मिली खबर के मुताबिक फरीदाबाद लोकसभा क्षेत्र की सिर्फ तीन सीटों पर मुहर लगी है, बाकी होल्ड पर हैं, बडखल से सीमा त्रिखा, बल्लभगढ़ से मूलचंद शर्मा और होडल से जगदीश नायर के नाम पर ठप्पा लग चुका है.

अगर दीपक चौधरी की बात करें तो वह निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर मैदान में उतरने का फैसला कर चुके हैं, सर्वे और ऑनलाइन पोल में भी वह मूलचंद शर्मा पर बहुत भारी पड रहे हैं, उनका कहना है कि अगर भाजपा ने मूलचंद शर्मा को टिकट दी तो उनका रास्ता और आसान हो जाएगा।

बल्लभगढ़ में सभी विपक्षी चाहते हैं कि मूलचंद शर्मा को ही मिले BJP टिकट

opposition-want-ballabharh-ticket-be-given-to-moolchand-sharma

बल्लभगढ़, 26 सितम्बर: बल्लभगढ़ सीट पर सबकी नजर टिकी हुई है, वर्तमान भाजपा विधायक मूलचंद शर्मा दोबारा टिकट लाने के लिए पूरी ताकत लगा रहे हैं तो विपक्षी चाहते हैं कि भाजपा की टिकट मूलचंद शर्मा को ही दोबारा मिले। विपक्षी नहीं चाहते कि भाजपा यहाँ से किसी नए चेहरे को टिकट दे, क्योंकि, अगर ऐसा हुआ तो जनता की नाराजगी ख़त्म हो सकती है और दोबारा भाजपा को वोट पड़ सकते हैं.

मूलचंद शर्मा पर भ्रष्टाचार के कई आरोप लगे, उनके फार्म हाउस पर बिजली चोरी का भी आरोप लगा. शहर के तमाम सामाजिक संगठन उनके पीछे पड़े हुए हैं, कल भी उनपर करोड़ों रुपये टैक्स चोरी का आरोप लगाया गया है. उन्होंने जिस तेजी से बिना CLU के बाटा चौक पर सेक्टर-11 में अपनी मिलन वाटिका को आलीशान होटल में बदला वह पूरी फरीदाबाद की जनता देख रही है. जनता को लगने लगा है कि विधायक जी का विकास ज्यादा ही तेज रफ़्तार से हो रहा है.

विपक्षी भी इस बात को भली भाँती समझ रहे हैं इसीलिए विपक्षी चाहते हैं कि मूलचंद शर्मा को दोबारा टिकट मिल जाए. वैसे इस सीट से शारदा राठौर, गोपाल शर्मा, आनंद शर्मा भी बीजेपी टिकट की दौड़ में हैं. निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में दीपक चौधरी भी दहाड़ रहे हैं. देखते हैं कि विपक्षियों की मांग पूरी होती है या नहीं।

बल्लभगढ़ के प्रत्याशी दीपक चौधरी ने कई क्षेत्रों में नुक्कड़-सभा करके माँगा आशीर्वाद एवं समर्थन

ballabhgarh-candidate-deepak-chaudhary-chunav-prachar-22-september

फरीदाबाद: बल्लभगढ़ के प्रत्याशी दीपक चौधरी ने दिनांक 22 सितम्बर को बल्लभगढ़ विधानसभा क्षेत्र के ऊंचा गांव, आदर्श नगर, विष्णु कॉलोनी, संजय कॉलोनी, सेक्टर 3 में नुक्कड़ सभाएं आयोजित करके जनसंपर्क किया और आगामी चुनाव में जनता से आशीर्वाद और समर्थन माँगा.

दीपक चौधरी ने कहा कि मेरे ऊपर किसी राजनीतिक पार्टी का हाथ नहीं है इसलिए मुझे सिर्फ आप लोगों के आशीर्वाद पर भरोसा है, जिस तरह से आपने मुझे पार्षद बनाकर वार्ड-37 की सेवा का मौका दिया उसी तरह से बल्लभगढ़ का विधायक बनाकर अपनी सेवा का मौका दीजिये, मैं आप लोगों को निराश नहीं करूंगा.

सभी कार्यक्रमों में दीपक चौधरी को जनता का जबरदस्त समर्थन मिला जिसके लिए दीपक चौधरी ने जनता का आभार जताया. दीपक चौधरी ने अपना घोषणापत्र भी जारी कर दिया है. देखिये - 

deepak-chaudhary-ballabhgarh

कूड़ा उठाकर सुर्खियों में आये बल्लभगढ़ के MLA मूलचन्द शर्मा, लोग बोले, चुनाव कुछ भी करा सकता है

ballabhgarh-mla-moolchand-sharma-kuda-video-viral-before-election

बल्लभगढ़: विधायक मूलचंद शर्मा का सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें वह कूड़ा उठाते हुए दिख रहे हैं. यह वीडियो हाल का बताया जा रहा है. कूड़ा उठाकर विधायक मूलचंद शर्मा सुर्ख़ियों में आ गए हैं लेकिन लोग उनका मजाक भी उड़ा रहे हैं. 

नीचे एक वीडियो का लिंक दिया जा रहा है. फेसबुक पर इस लिंक को खोलकर इसमें लिखे हजारों कमेंट पढ़े जा सकते हैं जिसमें अधिकतर लोगों ने उनका मजाक उड़ाया है. लोगों ने लिखा है कि चुनाव आया तो विधायक जी कूड़ा उठाने लगे. अब तक विधायक मूलचंद शर्मा क्या कर रहे थे.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि बल्लभगढ़ से इस बार उम्मीदवार बदलने की चर्चा चल रही है. अगर भाजपा उम्मीदवार बदलती है तो कुछ फायदा हो सकता है लेकिन अगर मूलचंद शर्मा को टिकट मिली तो कमेंट पढ़कर आप खुद अंदाजा लगा सकते हैं कि जनता क्या करने वाली है. 

चुनाव से पहले धड़ाधड़ नारियल फोड़कर विकास का दिखावा करने वाले नेताओं को और होगा नुकसान

minister-krishan-pal-gurjar-started-rs-17-crore-sainik-colony-road-news

फरीदाबाद, 14 सितम्बर। कुछ विधायकों के इलाकों में बिजली मांगने के लिए जनता को जेल भेज दिया गया. कुछ विधायकों के इलाकों में पांच साल तक जनता गड्ढों में और गंदे पानी में जीवन जीने को मजबूर रही, ऐसे विधायक अपने अपने क्षेत्रों में पिछले कुछ दिनों से करोड़ों रूपए का नारियल फोड़ रहे हैं.

जनता अब जागरूक हो चुकी है. जनता को पता है कि ये सब सिर्फ चुनाव जीतने के लिए हो रहा है. ये सब रिझाने की कोशिश हो रही है. जनता को मूर्ख समझने वाले नेताओं को चुनाव में और नुकसान हो सकता है.

आज बडखल विधानसभा के अंतर्गत सैनिक कॉलोनी में मंत्री कृष्णपाल गुर्जर ने 17 करोड़ रुपये के विकास का नारियल फोड़ा. इस अवसर पर क्षेत्र की विधायक सीमा त्रिखा भी मौजूद थी.

अगर दिमाग पर जोर दें तो सीधा सीधा जनता को यह दिखाने की कोशिश की गयी है कि विधायक ने अब तेजी से विकास शुरू कर दिया है जबकि असलियत ये है कि सैनिक कॉलोनी में सीवर की सबसे बड़ी समस्या है. बिना सीवर डाले रोड बनाना व्यर्थ होगा. सीवर समस्या का बिना समाधान किये रोड बनाने से पानी पहले की तरह ही भरेगा, एक तरह से ये पैसे व्यर्थ में खर्च होंगे.

अगर ये काम पूरा भी हो गया तो घोटाले की श्रेणी में आएगा क्योंकि रोड खोदकर फिर से सीवर डालने का काम करना होगा. अगर पहले सीवर डालने का काम होता तो अच्छा होता लेकिन पिछले पांच-10 वर्षों में फरीदाबाद में ऐसे ही विकास कार्य हुए हैं, पहले रोड बनायी जाती है, फिर रोड को तोड़कर सीवर डाली जाती है, फिर रोड बनाई जाती है, फिर रोड को तोड़कर और मोटी सीवर डाली जाती है. नेता लोग इसी तरह से बार बार पैसे कमाते हैं. वैसे कृष्णपाल गुर्जर ने अब तक प्लानिंग के तहत विकास कार्य कराये हैं लेकन अगर इस प्रोजेक्ट में कुछ गड़बड़ी पायी गयी तो उनके नाम पर भी धब्बा लगेगा और आगामी लोकसभा चुनाव में उन्हें नुकसान उठाना पड़ेगा.

आज हुए शिलान्याश के अनुसार करीब 13 किलोमीटर लम्बी इन सडक़ों पर 17 करोड़ की लागत आएगी। 

5 साल बर्बाद नहीं करना चाहती बल्लभगढ़ विधानसभा की जनता, दीपक को इस बार ही कर देगी रोशन

deepak-chaudhary-next-mla-ballabhgarh-election-2019-independent-

फरीदाबाद: बल्लभगढ़ में किसी से भी पूछो - दीपक चौधरी कैसे नेता हैं तो हर कोई यही कहता है, असली नेता ही दीपक चौधरी है. दीपक चौधरी के सर पर किसी बड़ी पार्टी का हाथ नहीं है लेकिन उनके सर पर बल्लभगढ़ की जनता का हाथ जरूर है, इसीलिए बल्लभगढ़ की जनता ने इस बार ही दीपक को रोशन करने का मन बना लिया है. हरियाणा विधानसभा चुनाव होने वाले हैं, दीपक चौधरी बल्लभगढ़ से चुनाव लड़ेंगे. सोशल मीडिया पर भी दीपक चौधरी के पक्ष में एकतरफा लहर है. अगर यकीन ना हो तो इस पोस्ट पर क्लिक करके इसमें लिखे कमेन्ट पढ़ें जा सकते हैं.



आपकी जानकारी के लिए बता दें कि बल्लभगढ़ से भाजपा उम्मीदवार के नाम पर सबसे अधिक मंथन चल रही है, यहाँ से शारदा राठौर का भी नाम चल रहा है, कुछ लोग मूलचंद का भी टिकट पर दावा बता रहे हैं और यह भी चर्चा चल रही है कि टेकचंद शर्मा को पृथला से हटाकर बल्लभगढ़ से उम्मीदवार बनाया जा सकता है.

यहाँ पर सबसे अधिक सुर्ख़ियों में हैं वार्ड-37 के पार्षद दीपक चौधरी. दीपक चौधरी ने बल्लभगढ़ से निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में ताल ठोंकने का मन बना लिया है, वैसे दीपक चौधरी मोदी लहर में निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में नगर निगम चुनाव में भाजपा उम्मीदवार को हराकर ही पार्षद बने थे. पूर्व में वह भाजपा नेता रह चुके हैं, चुनाव जीतने के बाद भी वह भाजपा के साथ जुड़कर अपने क्षेत्र में विकास कार्य कराते रहे, उनकी छवि एक भाजपा समर्थक नेता की है लेकिन जब उन्हें टिकट नहीं मिलती तो निर्दलीय उतरकर चुनाव जीतते हैं.

वैसे दीपक चौधरी एक जुझारू, महत्वाकंक्षी और जनप्रिय नेता माने जाते हैं. चाहे पुलिस में भ्रष्टाचार हो, प्रशासन में भ्रष्टाचार हो या नगर निगम में भ्रष्टाचार हो, किसी गरीब पर अत्याचार हो, वह हमेशा जन हित में आवाज उठाते रहते हैं, दीपक चौधरी ही वह पार्षद हैं जो अपने क्षेत्र की जनता के हक के लिए बड़े बड़े अधिकारियों से भिड़ते नजर आते हैं. अगर बल्लभगढ़ में अपराध के खिलाफ कोई नेता सबसे अधिक आवाज उठाता है तो उसका नाम दीपक चौधरी है, शायद इसीलिए वह पूरे विधानसभा क्षेत्र में काफी लोकप्रिय हैं, इसी लोकप्रियता का ईनाम जनता उन्हें चुनाव में वोट देकर देती है. 

एक तरह से कहें तो दीपक चौधरी के सामने कोई भी आ जाए, चाहे मूलचंद आयें, टेकचंद आयें या शारदा को ही उतार दिया जाए. दीपक चौधरी चट्टान की तरह खड़े हैं और सबको चित करने की ताकत भी रखते हैं. वैसे जनता ऐसे ही युवा, जुझारू और जनप्रिय नेताओं को पसंद करती है, वैसे दीपक चौधरी भाजपा टिकट का भी इन्तजार कर रहे हैं, लेकिन अगर उन्हें भाजपा टिकट नहीं मिली तो निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर उतरकर MCF चुनावों की तरह भाजपा को फिर से अपनी ताकत और लोकप्रियता का ट्रायल दिखा सकते हैं. आपको बता दें कि दीपक चौधरी कृष्णपाल गुर्जर के करीबी माने जाते हैं. निर्दलीय जीतकर वह सरकार के साथ जुड़कर अपने क्षेत्र का विकास करा सकते हैं. दीपक चौधरी के चुनाव जीतने पर भाजपा को भी कोई नुकसान नहीं होगा.

बल्लभगढ़ विधानसभा से मूलचंद आयें, टेकचंद या शारदा, चट्टान की तरह खड़े हैं ताकतवर नेता दीपक चौधरी

deepak-chaudhary-ballabhgarh-vidhansabha-candidate-2019-news

फरीदाबाद: बल्लभगढ़ से भाजपा उम्मीदवार के नाम पर सबसे अधिक मंथन चल रही है, यहाँ से शारदा राठौर का भी नाम चल रहा है, कुछ लोग मूलचंद का भी टिकट पर दावा बता रहे हैं और यह भी चर्चा चल रही है कि टेकचंद शर्मा को पृथला से हटाकर बल्लभगढ़ से उम्मीदवार बनाया जा सकता है.

यहाँ पर सबसे अधिक सुर्ख़ियों में हैं वार्ड-37 के पार्षद दीपक चौधरी. दीपक चौधरी ने बल्लभगढ़ से निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में ताल ठोंकने का मन बना लिया है, वैसे दीपक चौधरी मोदी लहर में निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में नगर निगम चुनाव में भाजपा उम्मीदवार को हराकर ही पार्षद बने थे. पूर्व में वह भाजपा नेता रह चुके हैं, चुनाव जीतने के बाद भी वह भाजपा के साथ जुड़कर अपने क्षेत्र में विकास कार्य कराते रहे, उनकी छवि एक भाजपा समर्थक नेता की है लेकिन जब उन्हें टिकट नहीं मिलती तो निर्दलीय उतरकर चुनाव जीतते हैं.

वैसे दीपक चौधरी एक जुझारू, महत्वाकंक्षी और जनप्रिय नेता माने जाते हैं. चाहे पुलिस में भ्रष्टाचार हो, प्रशासन में भ्रष्टाचार हो या नगर निगम में भ्रष्टाचार हो, किसी गरीब पर अत्याचार हो, वह हमेशा जन हित में आवाज उठाते रहते हैं, दीपक चौधरी ही वह पार्षद हैं जो अपने क्षेत्र की जनता के हक के लिए बड़े बड़े अधिकारियों से भिड़ते नजर आते हैं. अगर बल्लभगढ़ में अपराध के खिलाफ कोई नेता सबसे अधिक आवाज उठाता है तो उसका नाम दीपक चौधरी है, शायद इसीलिए वह पूरे विधानसभा क्षेत्र में काफी लोकप्रिय हैं, इसी लोकप्रियता का ईनाम जनता उन्हें चुनाव में वोट देकर देती है. 

एक तरह से कहें तो दीपक चौधरी के सामने कोई भी आ जाए, चाहे मूलचंद आयें, टेकचंद आयें या शारदा को ही उतार दिया जाए. दीपक चौधरी चट्टान की तरह खड़े हैं और सबको चित करने की ताकत भी रखते हैं. वैसे जनता ऐसे ही युवा, जुझारू और जनप्रिय नेताओं को पसंद करती है, वैसे दीपक चौधरी भाजपा टिकट का भी इन्तजार कर रहे हैं, लेकिन अगर उन्हें भाजपा टिकट नहीं मिली तो निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर उतरकर MCF चुनावों की तरह भाजपा को फिर से अपनी ताकत और लोकप्रियता का ट्रायल दिखा सकते हैं. आपको बता दें कि दीपक चौधरी कृष्णपाल गुर्जर के करीबी माने जाते हैं. निर्दलीय जीतकर वह सरकार के साथ जुड़कर अपने क्षेत्र का विकास करा सकते हैं. दीपक चौधरी के चुनाव जीतने पर भाजपा को भी कोई नुकसान नहीं होगा.

बल्लभगढ़ में भाजपा की टिकट पर मंथन शुरू, शारदा राठौर का नाम सबसे आगे, पंडित जी का नाम पीछे

ballabhgarh-sharda-rathore-may-get-ticket-from-bjp-news-in-hindi

फरीदाबाद: हरियाणा विधानसभा चुनाव का ऐलान होने में कुछ ही दिन शेष रह गए हैं ऐसे में बल्लभगढ़ में भाजपा की टिकट पर सबसे तेज मंथन चल रहा है. पहले ऐसा लग रहा था वर्तमान विधायक मूलचंद शर्मा को ही टिकट दी जाएगी लेकिन कुछ हफ्ते पहले शारदा राठौर को भाजपा में शामिल करवा कर ऐसी चर्चा छेड़ दी गई कि बल्लभगढ़ से शारदा राठौर को भाजपा की टिकट दी जा सकती है.

आपको बता दें कि बल्लभगढ़ के विधायक मूलचंद शर्मा विवादों में घिरे रहे हैं और उनके खिलाफ काफी कीचड़ भी उछाला गया जिसकी वजह से शायद इस बार उनकी टिकट काट दी जाए. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक शारदा राठौर का नाम बल्लभगढ़ में भाजपा की टिकट के दावेदारों में सबसे ऊपर चल रहा है.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि चुनावी चर्चा के दौरान हमने अपने फरीदाबाद लेटेस्ट न्यूज़ फेसबुक तेज पर ऑनलाइन सर्वे किया जिसमें पाठकों से पूछा - बल्लभगढ़ में कौन खिला सकता है कमल.. किसे मिलनी चाहिए BJP की टिकट.. शारदा राठौर या मूलचंद शर्मा.

जवाब में 66 फ़ीसदी वोटरों ने शारदा राठौर का समर्थन किया जबकि सिर्फ 34 फ़ीसदी वोटरों ने मूलचंद शर्मा का समर्थन किया. 

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि फरीदाबाद लेटेस्ट न्यूज़ के सभी Online Poll सच होते हैं, 2019 लोकसभा चुनाव में हमने कृष्णपाल गुर्जर को लेकर सर्वे किया था जो एकदम सच साबित हुआ और उन्हें हमारे नतीजों के अनुसार 68 फ़ीसदी से अधिक वोट मिले और 6 लाख से अधिक वोटों से जीत हुई, देखिये -