Palwal Assembly

प्रशासन ने लगाया है बोर्ड, विकास बोला, मेरा पूरा परिवार विदेश से आया है, मैं खुलेआम घूम रहा हूँ

खबर के लिए संपर्क करें: 9953931171, Email: dpsingh84@gmail.com, Whatsapp: 9953931171
आगे की खबर विज्ञापन के नीचे

faridabad-foreign-traveler-vikas-greenfield-colony-meeting-with-every-one

फरीदाबाद, 26 मार्च: भारत में विदेशी यात्रियों से ही कोरोना वायरस का संक्रमण आया है इसलिए भारत सरकार विदेश से आये यात्रियों को लेकर सावधानी बरत रही है और विदेश से आये सभी लोगों को 28 दिन तक घर में सबसे अलग रहने का आदेश दे रही है ताकि अगर किसी व्यक्ति के अंदर कोरोना के लक्षण दिखें तो उनका टेस्ट करवाकर इलाज किया जा सके.

सरकार ऐसे सभी लोगो के घरों के बाहर खतरे का बोर्ड (Please Do Not Visit, Home Under Quarantine) लगा रही है और जनता को ऐसे घरों से दूर रहने की अपील की जा रही है. फरीदाबाद प्रशासन ने ग्रीनफील्ड कॉलोनी में मकान नंबर 3504 के बाहर भी खतरे का बोर्ड लगाया है लेकिन इसमें तारीख लिखने और व्यक्तियों की संख्या लिखने में गलती कर दी है, विकास ने बताया कि वह 3 मार्च को विदेश से आया है और वह सिर्फ अकेला ही नहीं बल्कि पूरे परिवार के साथ विदेश से आया है.

विदेश से आये हर व्यक्ति में कोरोना वायरस का इन्फेक्शन नहीं है लेकिन सरकारी नियम के अनुसार ऐसे लोगों को 28 दिन तक अपने घरों में सबसे अलग रहना चाहिए लेकिन विकास ने चौंकाने वाली जानकारी दी.

विकास ने मुझसे बात करते हुए फोन पर बताया कि मैं पूरे परिवार के साथ 3 मार्च को आया हूँ और इस वक्त जहाँ पर बोर्ड लगा है उस घर में नहीं हूँ, मैं तो अपने गाँव में बैठा हूँ और सबसे मिल रहा हूँ, मुझे कुछ भी नहीं हुआ है, वह हम पर ही बिगड़ने लगा और शिकायत करने की धमकी देने लगा जबकि नियम यह है कि वह 28 दिन तक खुद को Isolate करके रखे और जब  कोरोना के कोई लक्षण ना देखें तो वह सबसे मिले।

प्रशासन को चाहिए कि बोर्ड में सही जानकारी दे लेकिन यह भी चेक करना चाहिए कि जहाँ पर बोर्ड लगाया जा रहा है वहां पर लोग नियम कानून का पालन कर रहे हैं या नहीं। चलो मान लिया कि विकास के अंदर कोरोना के लक्षण नहीं हैं क्योंकि लक्षण दिखने में 15 दिन से अधिक लग जाते हैं लेकिन अगर उसके परिवार में किसी को भी इन्फेक्शन हुआ तो यह इन्फेक्शन कई लोगों के अंदर जा सकता है. विकास बोल रहा है कि मैं सबसे मिल रहा हूँ, जबकि उसे 28 दिन तक सबसे अलग रहना चाहिए था. मेरे पास उसकी ऑडियो रिकॉर्डिंग है.

प्रशासन को अब ज्यादा सावधानी बरतने की जरूरत है, विदेश से आये ऐसे सभी लोगों की जांच पड़ताल करने की जरूरत है कि ये लोग नियम कानूनों का पालन कर रहे हैं या नहीं। अगर सभी लोग विकास की तरह खुलेआम घूमेंगे और सबसे मिलेंगे तो सरकार का लॉक डाउन फेल हो सकता है क्योंकि अगर इनमें से एक भी कोरोना से संक्रमित हुआ तो वह कई लोगों को संक्रमित कर सकता है.
विज्ञापन के नीचे जाकर खबर शेयर करें
फेसबुक, WhatsApp, ट्विटर पर शेयर करें

फेसबुक पर अपडेट के लिए पेज LIKE करें

Faridabad News

Post A Comment:

0 comments: