Palwal Assembly

पढ़ें, कैसे गिरफ्तार हुआ कौशल, इंटरपोल ने कैसे की मदद, कैसे ट्रेस हुई कॉल

खबर के लिए संपर्क करें: 9560510320, Email: dpsingh84@gmail.com, Whatsapp: 9953931171
आगे की खबर विज्ञापन के नीचे

how-gangster-kaushal-arrested-by-crime-branch-interpol-help

फरीदाबाद: विकास चौधरी मर्डर केस में मुख्य आरोपी गैंगस्टर कौशल को दुबई में गिरफ्तार कर लिया गया है, इस गिरफ्तारी से लोग हैरान हैं क्योंकि पहले लोगों को ऐसा लगता था कि कौशल पर दुबई में हाथ डालना मुश्किल है, लोग सोचते थे कि जिस तरह से दाउद विदेश में छुपा बैठा है उसी तरह से कौशल का भी भारतीय पुलिस कुछ नहीं बिगाड़ सकती. हो सकता है कि कौशल भी यही सोचता रहा हो लेकिन उसकी सोच गलत साबित हुई और पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया.

आपने ख़बरों में पढ़ा होगा कि कौशल किसी विशेष नंबर से विदेश से भारत में फोन करता था. मोबाइल और लैंडलाइन के जरिये की जा रही कॉल को पुलिस आसानी से ट्रेस कर लेती है लेकिन कौशल VoIP के जरिये फोन करता था इसलिए उसकी कॉल ट्रेस करना बहुत मुश्किल था. 

सूत्रों से खबर मिली है कि कौशल की गिरफ्तारी में इंटरपोल की मदद ली गयी. इंटरपोल ने Deep Technical Surveillance के जरिये कौशल द्वारा की जा रही VoIP कॉल ट्रेस कर ली और उस तक जा पहुंची. दरअसल VoIP कॉल को ट्रेस करना बहुत मुश्किल होता है इसलिए बड़े बड़े माफिया इसी टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करके कॉल करते हैं. VoIP का मतलब होता है Voice over Internet Protocol. यह कॉल इन्टरनेट के जरिये की जाती है जिसमें पैकेट के जरिये सूचना का आदान प्रदान होता है जबकि मोबाइल और लैंडलाइन में Circuit-switched टेक्नोलॉजी के जरिये सूचना का आदान प्रदान होता है जिसे ट्रेस करना बहुत आसान है.

ऐसी खबर आयी कि इंटरपोल ने कौशल को गिरफ्तार करके क्राइम ब्रांच के हवाले का दिया है. फरीदाबाद क्राइम ब्रांच के दो इंस्पेक्टर विमल कुमार (CIA सेक्टर 30 प्रभारी) और संदीप मोर (साइबर सेल प्रभारी) ने भी काफी मेहनत की है, विमल कुमार करीब एक महीनें दुबई में रहे और फील्डिंग की, हालाँकि पुलिस ने अभी तक उनकी तरफ से की गयी कार्यवाही का खुलासा नहीं किया है, जल्द ही इस बारे में सूचना दी जाएगी. दोनों इंस्पेक्टर कौशल को दुबई से फरीदाबाद ला रहे हैं.

बता दें कि कौशल कुछ महीनों से हरियाणा और खासकर फरीदाबाद में आतंक का पर्याय बना हुआ था, एक तरह से कहें तो कौशल हरियाणा का दाउद बनकर दुबई से अपने गैंग को ऑपरेट का रहा था और फरीदाबाद हरियाणा के व्यापारियों से रंगदारी मांगता था.

जानकारी के लिए बता दें कि विकास चौधरी मर्डर केस में कौशल गैंग के दर्जनों सदस्यों को गिरफ्तार किया गया है. पहले ऐसा लगता था कौशल और विदेश में हाथ डालने में मुश्किल होगी लेकिन पुलिस ने उसे गिरफ्तार करके एक बार फिर से साबित कर दिया कि अपराधी भले ही विदेश में जाकर छुप जाएं पुलिस के हाथों से उनका बचना मुश्किल है.
विज्ञापन के नीचे जाकर खबर शेयर करें
फेसबुक, WhatsApp, ट्विटर पर शेयर करें

फेसबुक पर अपडेट के लिए पेज LIKE करें

Faridabad News

Post A Comment:

0 comments: