Palwal Assembly

अवतार भड़ाना के पास अब तीन विकल्प, क्या चुनेंगे, फैसला उनपर

हमें ख़बरें Email: dpsingh84@gmail.com. WhatsApp: 9953931171 पर भेजें (धर्मेन्द्र प्रताप सिंह)
आगे की खबर विज्ञापन के नीचे

avtar-singh-bhadana-have-three-option-now-faridabad-news-hindi

फरीदाबाद: हार के बाद सभी प्रत्याशियों को दुःख होता है लेकिन अवतार भडाना को थोडा ज्यादा दुःख हो रहा होगा क्योंकि उन्होंने अपनी जिंदगी में बहुत बड़ा रिश्क लेकर फरीदाबाद का चुनाव लड़ा था.

अवतार भडाना अच्छे खासे मीरापुर विधानसभा के विधायक थे. यूपी में भाजपा की बहुमत की सरकार है, योगी आदित्यनाथ उनका इतना सम्मान करते थे कि वह फरीदाबाद के अनंगपुर गाँव स्थिति उनके घर पर भी आ चुके हैं, उसके बाद भी अवतार भडाना ने उनका साथ छोड़ दिया और भाजपा पार्टी पर बड़े आरोप लगाकर कांग्रेस में शामिल हो गए.

कांग्रेस में शामिल होने के बाद भी उन्होंने मीरापुर विधायक के पद से इस्तीफ़ा नहीं दिया है. फरीदाबाद लोकसभा चुनाव में उनकी करारी हार हो चुकी है इसलिए अब उनके पार सिर्फ तीन राजनीतिक विकल्प हैं.

पहला विकल्प

अवतार भड़ाना के सामने पहला विकल्प ये है कि वह पांच साल इन्तजार करें और कांग्रेस पार्टी की सेवा करें, अगर वह तन मन धन से कांग्रेस पार्टी की सेवा करेंगे और पांच साल इन्तजार करेंगे तो हो सकता है कि उन्हें अगले लोकसभा चुनाव में फिर से कांग्रेस की टिकट मिल जाए. लेकिन सत्ता के बगैर रहने वाले अवतार भड़ाना क्या पांच साल इन्तजार कर पाएंगे ये बहुत बड़ा सवाल है.

दूसरा विकल्प

अवतार भडाना के पास दूसरा विकल्प ये है कि वह आगामी हरियाणा विधानसभा चुनाव में फरीदाबाद जिले या पलवल जिले की किसी विधानसभा का टिकट मांगे. उनके लिए बेहतर यही होगा कि वह हथीन विधानसभा की टिकट मांगे और वहां से चुनाव लड़कर विधायक बनने का प्रयास करें. हथीन सीट उनके लिए इसलिए बेहतर रहेगी क्योंकि लोकसभा चुनाव में उन्हें हथीन विधानसभा सीट से ही सबसे अधिक वोट मिले हैं. अवतार भड़ाना को यहाँ से 63307 वोट मिले जबकि कृष्णपाल गुर्जर को 67887 वोट मिले. अवतार भडाना यहाँ पर भी कृष्णपाल गुर्जर से हारे हैं लेकिन अगर कड़ी मेहनत करेंगे तो यहाँ से उनकी जीत हो सकती है. अवतार भडाना ने खुद को मेवात का बेटा बताया था जिसका फायदा हुआ और हथीन से उन्हें अच्छे वोट मिले. देखिये नीचे -

विधानसभा क्षेत्र  कृष्णपाल गुर्जर  अवतार भडाना
82-हथीन6788763307
83-होडल8428121868
84-पलवल10993119193
85-पृथला8952824718
86-फरीदाबाद NIT11155733491
87-बडखल10817333698
88-बल्लभगढ़10370720226
89-फरीदाबाद10053926323
90-तिगांव13518431931
पोस्टल वोट2435228
 कुल वोट913222274983
तीसरा विकल्प

अवतार भड़ाना के सामने तीसरा विकल्प ये है कि मीरापुर यूपी वापस लौटें, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिलकर उनसे माफी मांगे और वापस भाजपा ज्वाइन करें. अगर योगी आदित्यनाथ उन्हें माफ़ कर देंगे तो वह मीरापुर के विधायक बने रहेंगे वरना दल बदल कानून के अंतर्गत कार्यवाही करके योगी आदित्यनाथ उन्हें विधायक पद से हटा सकते हैं. अगर वह विधायक बने रहेंगे तो उन्हें कम से कम सैलरी और अन्य लाभ मिलते रहेंगे.
विज्ञापन के नीचे जाकर खबर शेयर करें
फेसबुक, WhatsApp, ट्विटर पर शेयर करें

फेसबुक पर अपडेट के लिए पेज LIKE करें

Faridabad News

Politics

Post A Comment:

0 comments: