Followers

महिपाल फार्म हाउस में अवैध खनन, वकील LN पाराशर ने की कानूनी कार्यवाही की मांग

Contact 9953931171 For News and Advertisement, Email: [email protected]

फेसबुक: 2,25,000 Follower - इस लिंक पर क्लिक करके पेज LIKE/Follow करें:
advocate-ln-parashar-demand-strict-action-against-mahipal-farm-house-illegal-mining

फरीदाबाद: एक तरफ जहाँ वन विभाग अरावली पर अवैध निर्माणों पर कार्यवाही की तैयारी कर रहा है और वन अधिकारी सुरेश पुनिया जिला उपायुक्त अतुल द्विवेदी को पत्र लिखने की बात कर रहे हैं तो दूसरी तरफ अरावली पर अवैध खनन और अवैध निर्माण जारी है। ये दावा बार एसोशिएशन के पूर्व प्रधान एवं न्यायिक सुधार संघर्ष समिति के अध्यक्ष एल एन पाराशर ने किया है। एडवोकेट पाराशर का कहना है कि फरीदाबाद के पूर्व मेयर देवेंद्र भड़ाना ने मेरे पास दर्जनों ऐसी तस्वीरें भेजीं हैं जिनमे अवैध खनन होता दिख रहा है और ये तस्वीरें सोमवार 8 मार्च की हैं। पाराशर के मुताबिक़ ये तस्वीरें अनंगपुर के पास महिपाल ग्रीन वैली की हैं जहाँ रोज कई डम्फर पत्थर निकाले जा रहे हैं। पाराशर ने बताया कि एक डम्फर पत्थर लगभग 25 हजार रूपये के बिकते हैं और  यहाँ से हर रोज कम से कम 10 डम्फर पत्थर निकालकर बेंचे जा रहे हैं और तकरीबन ढाई लाख रूपये के पत्थर हर रोज बेंचे जा रहे हैं। 

पाराशर ने बताया कि लगभग एक महीने से लगातार यहाँ से पत्थर निकाले जा रहे हैं और अब तक लगभग एक करोड़ रूपये के पत्थर निकाले जा चुके हैं। पाराशर का आरोप है कि ये सब वन विभाग के अधिकारियों की मिलीभगत से हो रहा है। इस बारे में जब पूर्व मेयर देवेंद्र भड़ाना से बात की गई तो उन्होंने बताया कि महिपाल ग्रीन वैली की जो तस्वीरें मैंने पाराशर के पास भेजी हैं वो 8 मार्च की ही हैं और वहां से भारी मात्रा में पत्थर निकाले जा रहे हैं। पूर्व मेयर ने कहा कि ये तस्वीरें मौके पर जाकर मैंने खुद खींची हैं।  भड़ाना ने बताया कि वहां अवैध खनन ही नहीं, हरे पेड़ भी काटे जा रहे हैं। भड़ाना ने बताया कि इस खनन की जानकारी  मैंने सूरजकुंड थाना प्रभारी, वन विभाग के अधिकारी को भेजी है लेकिन शायद ही कोई कार्यवाही की जाए इसलिए मैंने एडवोकेट पराशर को ये जानकारी दी क्यू कि उन्होंने अरावली पर अवैध खनन और अवैध निर्माण को लेकर सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर रखी है। 

इस अवैध खनन के बारे में और अधिक जानकारी देते हुए वकील पाराशर ने बताया कि एक तरफ जहाँ सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर कांत एन्क्लेव की कई बड़ी इमारतों को जमीदोज कर दिया तो दूसरी तरह महिपाल ग्रीन वैली जैसे कई फ़ार्म हाउस वाले अपने फ़ार्म हाउस में अवैध खनन कर रहे हैं और अंदर ही अंदर बड़े बड़े निर्माण कर रहे है। पाराशर ने बताया कि महिपाल ग्रीन वैली का मैंने दौरा भी किया था जहाँ अंदर बड़ी बड़ी इमारतें बन गईं हैं  और यहाँ से कई करोड़ के पत्थर भी निकालकर बेंचे गए हैं।

 पाराशर ने कहा कि ग्रीन वैली के अंदर से पत्थर निकाले जाते हैं और जब जमीन समतल हो जाती है तो वहां इमारत बना ली जाती है। पाराशर ने कहा कि ये फ़ार्म हाउस वाला सरेआम सुप्रीम कोर्ट के आदेश की धज्जियां उड़ा रहा है। पाराशर ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट में कांत एन्क्लेव को लेकर जो मामला चल रहा है उसमे मैं भी पार्टी हूँ और सोमवार के खनन की जानकारी भी मैं सुप्रीम कोर्ट को दूंगा। 
Contact 9953931171 For News and Advertisement, Email: dpsingh8[email protected]
फेसबुक, WhatsApp, ट्विटर पर शेयर करें

loading...

Faridabad News

Post A Comment:

0 comments: