Palwal Assembly

सूरजकुंड मेले में बम डिस्पोजल टीम ने विस्फोटक ढूंढकर सफलतापूर्वक किया डिफ्यूज - मोकड्रिल सफल

हमें ख़बरें Email: dpsingh84@gmail.com. WhatsApp: 9953931171 पर भेजें (धर्मेन्द्र प्रताप सिंह)
आगे की खबर विज्ञापन के नीचे

फरीदाबाद: सूरजकुंड मेला आज शकुशल संपन्न हो गया, फरीदाबाद पुलिस ने मेला को शकुशल संपन्न कराने में अपनी पूरी ताकत लगा दी, मेले के दौरान पुलिस सभी मुसीबतों से लड़ने को तैयार थी. आज मोक-ड्रिल करके पुलिस ने अपनी तैयारियों को डेमो भी पेश किया.

मेले में आज विस्फोटक को ढूंढकर डिफ्यूज करने के डेमो पेश किया गया, कृत्रिम विस्फोटक पदार्थ को एक जगह पर रखकर उसको चिन्हित किया गया और उसकी भी घेरा बंद कर ली गई लोगों को तुरंत वहां से हटाया गया और बम डिस्पोजल टीम ने मौके पर जाकर उस जगह का मुआयना किया एवं विस्फोटक पदार्थ को ढूंढ निकाला और सुरक्षित तरीके से उसको निष्क्रिय किया गया। 

surajkund-mela-news

इन दोनों ही कार्यों को मुख्य मेला सुरक्षाअधिकारी नीतिका गहलोत की देखरेख में बड़ी ही सफलता पूर्वक अंजाम दिया गया और समय रहते हुए सभी कार्य प्रणाली को सुचारु रुप से अंजाम दिया गया घायलों को नजदीकी  चिकित्सा केंद्र भेजा गया , सभी कार्य बड़ी सफलता पूर्वक बिना किसी रोक-टोक के समय से पहले सफल हुए। 

इस कार्यप्रणाली में कोई भी नुकसान एवं जन हानि नहीं हुई। 

डीसीपी मेला अधिकारी नितिका ने इस कार्य को सफलतापूर्वक अंजाम देने के लिए इसमें हिस्सा लेने वाली टीमों को द्वारा किए गए सराहनीय कार्य की प्रशंसा की।

मेला डिजास्टर रिसांपोस टीम के अधिकारी वरुण सिगंला एएसपी की दोनों टीम फायर बिग्रेड व बम्ब डिस्पोजल टीम को प्रशंसा पत्र देकर सम्मानित किया गया।

इस मौके पर मेला पुलिस अधिकारी नीतिका गहलोत, के आलावा चंद्र मोहन आईपीएस, शशांक आईपीएस, वरुण सिंगला आईपीएस एएसपी, एसीपी रविंदर कुंडू, एसीपी पूजा डाबला, एसीपी भगत सिंह , रमेश कुमार, वह सभी गेटों के पुलिस  इंचार्ज इत्यादि मौजूद थे।

स्वास्थ्य विभाग फरीदाबाद की तरफ से गुलशन अरोड़ा, डॉ विशाल, सर्वोदय हॉस्पिटल की तरफ से डॉ राज मिश्रा, अनिल भारद्वाज, पंकज मिश्रा, साहिल एवं शिवा मौजूद थे।

फायर ब्रिगेड की तरफ से हरि सिंह सैनी सूरजकुंड मेला नोडल ऑफिसर, राजेंद्र दहिया डिस्ट्रिक्ट फरीदाबाद फायर ऑफिसर इत्यादि मौजूद थे।

इस मोकड्रिल का मकसद अचानक कहीं पर होने वाली आगजनी, प्राकृतिक आपदा एवं आतंकवादी घटनाओं से निपटना था।

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि मॉक ड्रिल का अभ्यास सफल रहा। मॉक ड्रिल में ज्यादा से ज्यादा इस बात का ध्यान रखा गया है कि आगजनी या अन्य किसी भी प्रकार की होने वाली आपदा में जान व माल को बचाया जा सके।
विज्ञापन के नीचे जाकर खबर शेयर करें
फेसबुक, WhatsApp, ट्विटर पर शेयर करें

फेसबुक पर अपडेट के लिए पेज LIKE करें

Faridabad News

Surajkund

Post A Comment:

0 comments: