Palwal Assembly

पीएम मोदी ने किया डब्बा ESI अस्पताल का उद्घाटन, एक साथ दिखे मंत्री गुर्जर और मंत्री गोयल

खबर के लिए संपर्क करें: 9560510320, Email: dpsingh84@gmail.com, Whatsapp: 9953931171
आगे की खबर विज्ञापन के नीचे

pm-narendra-modi-inaugurate-faridabad-esi-hospital-medical-college

फरीदाबाद, 12 फरवरी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कुरुक्षेत्र में आयोजित स्वच्छ शक्ति कार्यक्रम में विडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये फरीदाबाद NIT-3 में बने ई.एस.आई.सी. मेडिकल कॉलेज व अस्पताल का लोकार्पण किया। इस परियोजना के निर्माण पर करीब 800 करोड़ रुपये की राशि खर्च हुई है।

यह हॉस्पिटल भले ही इतना बड़ा दिखता है लेकिन यहाँ पर गंभीर मरीजों के इलाज की कोई सुविधा नहीं है, मतलब ये डब्बा अस्पताल है, थोड़ी सी गंभीर बीमारी देखते ही यहाँ के डॉक्टर अपनी सेटिंग वाले प्राइवेट अस्पतालों में रिफर कर देते हैं और वहां से मोटा कमीशन खाते हैं, इसके अलावा एक ही पोस्ट के बार बार इंटरव्यू करवाकर सरकारी पैसा लूटा जाता है, अब सवाल यह है कि मोदी द्वारा मेडिकल कॉलेज के उद्घाटन के बाद क्या रेफर घोटाला और इंटरव्यू घोटाला बंद हो जाएगा.

ई.एस.आई.सी. मेडिकल कॉलेज व अस्पताल फरीदाबाद में आयोजित विडियो कांफ्रेंसिंग कार्यक्रम में केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्य मंत्री कृष्णपाल गुर्जर व हरियाणा के उद्योग मंत्री विपुल गोयल, विधायक मूलचंद शर्मा व टेकचंद शर्मा, मुख्यमंत्री के राजनैतिक सचिव दीपक मंगला, प्रधान सचिव श्रम विभाग हरियाणा डा. महावीर सिंह, पुलिस आयुक्त संजय सिंह, उपायुक्त अतुल कुमार, अतिरिक्त उपायुक्त जितेंद्र दहिया, एसडीएम फरीदाबाद सतबीर मान, एसडीएम बडख़ल अजय कुमार, मेडिकल कालेज के डीन डा. असीम दास व भाजपा जिला अध्यक्ष गोपाल शर्मा भी उपस्थित थे। 

केंद्रीय राज्य मंत्री कृष्णपाल गुर्जर ने कहा कि यह अस्पताल आधुनिक सुविधाओं से सुसज्जित है। इस कॉलेज के निर्माण से फरीदाबाद भी मेडिकल क्षेत्र में अग्रणी जिला बन गया है। सरकार का प्रयास है कि प्रदेश के हर जिला में एक मेडिकल कालेज खोला जाए। आज प्रधानमंत्री ने फरीदाबाद को इस मेडिकल कालेज की सौगात देकर ऐतिहासिक कार्य किया है। 

उन्होंने कहा कि ईएसआईसी मेडिकल कॉलेज और अस्पताल फरीदाबाद 29.75 एकड़ भूमि पर बना है। इसमें अस्पताल, कॉलेज और आवासीय क्षेत्र है। इसमें चार मंजिल भवन में 80 ओपीडी रूम, 20 प्रोसीजर रूम, 9 क्लास रूम और मरीजों के लिए पर्याप्त वेटिंग एरिया है तथा पांचवी मंजिल से 11वीं मंजिल तक 15 वार्ड बनाए गए हैं, जिसमें 510 बेड हैं। इसमें 13 प्रमुख ओटी और 7 छोटी ओटी हैं। इस अस्पताल में 200 से अधिक विशेष बेड हैं, जिसमें आईसीयू, आईसीसीयू, एनआईसीयू, पीआईसीयू आपातकालीन वार्ड, लेबर रूम बेड व डायलिसिस यूनिट शामिल हैं।

उद्योग मंत्री विपुल गोयल ने कहा कि प्रदेश व केंद्र सरकार ने आम जनता की सुविधा के लिए अनेक विकास कार्यों को शुरू कराया है। प्रदेश सरकार ने जनता को अधिक से अधिक मेडिकल सुविधा देने के लिए हर जिला में मेडिकल कालेज खोलने की घोषणा की है। अब लोगों को आपातकालीन मेडिकल सुविधा के लिए दूर नहीं जाना पड़ेगा। सरकार ने आयुष्मान योजना के तहत हर गरीब परिवार को पांच लाख रुपए तक के निशुल्क इलाज की सुविधा देनी शुरू कर दी है। 

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने संबोधन में मुख्यमंत्री मनोहरलाल की प्रदेश के विकास व स्वच्छ भारत मिशन व नारी शक्ति के उत्थान की दिशा में हुए कार्यों के लिए किए गए प्रयासों की सराहना की और कहा कि हरियाणा व कुरुक्षेत्र ज्ञान, धर्म और कर्म की भूमि है, जहां भगवान श्री कृष्ण ने मानवता को जीवन का रास्ता बताया था। स्वच्छ भारत मिशन का आज दुनिया के कई देश अनुसरण कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि देश में एक नया एम्स रेवाड़ी के मनेठी में बनाया जाएगा। 

मेडिकल कालेज के डीन डा. असीम दास ने बताया कि इस मेडिकल कालेज में आधुनिक सुविधाओं से सुसज्जित लेबोरेट्री है तथा सीटी स्कैन, एमआरआई अल्ट्रासाउंड और डिजिटल एक्स-रे जैसी सुविधाएं उपलब्ध हैं। इस समय यहां पर 400 मेडिकल विद्यार्थी शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं तथा इसमें पांच लेक्चरर थिएटर और अलग-अलग विभागों में आधुनिक लैब बनाई गई हैं। इस कालेज में 380 मेडिकल विद्यार्थियों के लिए 260 कमरे बनाए गए हैं, जो ट्रिपल, डबल और सिंगल ऑक्यूपेंसी टाइप हैं तथा सीनियर व जूनियर रेजिडेंस के लिए 70 क्र्वाटर बनाए गए हैं। इसी प्रकार स्टाफ नर्स और अन्य पैरामेडिकल स्टाफ के लिए 18 फैकल्टी हाउस व आवासीय आवास बनाए गए हैं। उन्होंने कार्यक्रम में उपस्थित अतिथियों को स्मृति चिन्ह भेंट कर उन्हें सम्मानित किया।
विज्ञापन के नीचे जाकर खबर शेयर करें
फेसबुक, WhatsApp, ट्विटर पर शेयर करें

फेसबुक पर अपडेट के लिए पेज LIKE करें

Faridabad News

Politics

Post A Comment:

0 comments: