Palwal Assembly

हर मुसीबत से लड़ने को तैयार थी फरीदाबाद पुलिस, सूरजकुंड मेला को शकुशल कराया संपन्न

हमें ख़बरें Email: dpsingh84@gmail.com. WhatsApp: 9953931171 पर भेजें (धर्मेन्द्र प्रताप सिंह)
आगे की खबर विज्ञापन के नीचे
faridabad-police-mock-drill-surajkund-mela-2019-for-security-news

फरीदाबाद: सूरजकुंड मेला आज शकुशल संपन्न हो गया, फरीदाबाद पुलिस ने मेला को शकुशल संपन्न कराने में अपनी पूरी ताकत लगा दी, मेले के दौरान पुलिस सभी मुसीबतों से लड़ने को तैयार थी. आज मोक-ड्रिल करके पुलिस ने अपनी तैयारियों को डेमो भी पेश किया.

सूरजकुंड मेले में आज डीसीपी मुख्यालय मेला सुरक्षाधिकारी नीतिका गहलोत की देखरेख में मेले की सुरक्षा को चाक चौबंद करने के लिए एक मॉक ड्रिल का आयोजन किया गया।

यह मोक ड्रिल दोनों तरह प्राकृतिक/ कृत्रिम आपदा  आगजनी के वक्त होने वाली कार्यविधि को परखने के लिए की गई थी, जिसमें निम्नलिखित कार्यवाही हुई।  

किसी भी सार्वजनिक स्थान पर आग लगने की स्थिती से कैसे निपटा जाये इसके लिये कृत्रिम रुप से ऐसी परिस्थितियां पैदा की गई,  और पब्लिक द्वारा मेले में हुई आगजनी की सूचना कंट्रोल रूम को दी गई। 

उन्होंने इसकी सूचना तुरंत डीसीपी मुख्यालय एवं मुख्य मेला सुरक्षाधिकारी को दी।

उन्होंने तुरंत संज्ञान लेते हुये यह सूचना सभी जोनल एसीपी एवं गेट इंचार्ज और मेला डिजास्टर रिस्पांस टीम हेड आइ पी एस वरुण सिंगला के साथ साथ फायर ब्रिगेड और स्वास्थय विभाग एवं सर्वोदय हास्पिटल को दी।

सभी टीमें मेला अधिकारी के निर्देशानुसार फोन घटनास्थल पर पहुंचे। घटनास्थल पहुंचते ही घटनास्थल की घेरा बंद कर ली गई और तुरंत ही एमरजेंसी गेट खोल दिए गए। 

और भीड़ को घटनास्थल से दूर ले जाते हुए और निकाल दिया गया। फायर ब्रिगेड ने आग पर काबू पाया और घायलों को तुरंत चिकित्सा केंद्र पर पहुंचाया गया। 

इसी प्रकार एक कृत्रिम विस्फोटक पदार्थ को एक जगह पर रखकर उसको चिन्हित किया गया और उसकी भी घेरा बंद कर ली गई लोगों को तुरंत वहां से हटाया गया और बम डिस्पोजल टीम ने मौके पर जाकर उस जगह का मुआयना किया एवं विस्फोटक पदार्थ को ढूंढ निकाला और सुरक्षित तरीके से उसको निष्क्रिय किया गया। 

इन दोनों ही कार्यों को मुख्य मेला सुरक्षाअधिकारी नीतिका गहलोत की देखरेख में बड़ी ही सफलता पूर्वक अंजाम दिया गया और समय रहते हुए सभी कार्य प्रणाली को सुचारु रुप से अंजाम दिया गया घायलों को नजदीकी  चिकित्सा केंद्र भेजा गया , सभी कार्य बड़ी सफलता पूर्वक बिना किसी रोक-टोक के समय से पहले सफल हुए। 

इस कार्यप्रणाली में कोई भी नुकसान एवं जन हानि नहीं हुई। 

डीसीपी मेला अधिकारी नितिका ने इस कार्य को सफलतापूर्वक अंजाम देने के लिए इसमें हिस्सा लेने वाली टीमों को द्वारा किए गए सराहनीय कार्य की प्रशंसा की।

मेला डिजास्टर रिसांपोस टीम के अधिकारी श्री वरुण सिगंला एएसपी की दोनों टीम फायर बिग्रेड व बम्ब डिस्पोजल टीम को प्रशंसा पत्र देकर सम्मानित किया गया।

इस मौके पर मेला पुलिस अधिकारी नीतिका गहलोत, के आलावा चंद्र मोहन आईपीएस, शशांक आईपीएस, वरुण सिंगला आईपीएस एएसपी, एसीपी रविंदर कुंडू, एसीपी पूजा डाबला, एसीपी भगत सिंह , रमेश कुमार, वह सभी गेटों के पुलिस  इंचार्ज इत्यादि मौजूद थे।

स्वास्थ्य विभाग फरीदाबाद की तरफ से गुलशन अरोड़ा, डॉ विशाल, सर्वोदय हॉस्पिटल की तरफ से डॉ राज मिश्रा, अनिल भारद्वाज, पंकज मिश्रा, साहिल एवं शिवा मौजूद थे।

फायर ब्रिगेड की तरफ से हरि सिंह सैनी सूरजकुंड मेला नोडल ऑफिसर, राजेंद्र दहिया डिस्ट्रिक्ट फरीदाबाद फायर ऑफिसर इत्यादि मौजूद थे।

इस मोकड्रिल का मकसद अचानक कहीं पर होने वाली आगजनी, प्राकृतिक आपदा एवं आतंकवादी घटनाओं से निपटना था।

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि मॉक ड्रिल का अभ्यास सफल रहा। मॉक ड्रिल में ज्यादा से ज्यादा इस बात का ध्यान रखा गया है कि आगजनी या अन्य किसी भी प्रकार की होने वाली आपदा में जान व माल को बचाया जा सके।
विज्ञापन के नीचे जाकर खबर शेयर करें
फेसबुक, WhatsApp, ट्विटर पर शेयर करें

फेसबुक पर अपडेट के लिए पेज LIKE करें

Faridabad News

Surajkund

Post A Comment:

0 comments: