Palwal Assembly

संदीप सिंह की शाहदत पर भड़के LN पाराशर, पत्थरबाजों की वजह से हमने खोया जवान, इन सबको गोली मारो

हमें ख़बरें Email: dpsingh84@gmail.com. WhatsApp: 9953931171 पर भेजें (धर्मेन्द्र प्रताप सिंह)
आगे की खबर विज्ञापन के नीचे
advocate-ln-parashar-demand-sarkar-to-kill-stone-pelter-kashmir-news

फरीदाबाद: फरीदाबाद जिले के अटाली गाँव के संदीप सिंह की शहादत पर वरिष्ठ वकील एल एन पाराशर ने दुःख के साथ क्रोध भी दिखाया है. उन्होंने बताया कि हमने सुना है कि आतंकवादियों की गोली का शिकार हुए संदीप को पत्थरबाजों की वजह से अस्पताल ले जाने में देर हो गयी और उनके शरीर से काफी खून बह गया. मैं सरकार से मांग करता हूँ कि पत्थरबाजों को भी गोली मारी जाए ताकि हमारे जवानों की शहादत ना हो.

आपको बता दें कि पिछले हप्ते पुलवामा में आतंकियों के साथ मुठभेड़ में संदीप सिंह को चार गोलियां लगी थीं, पत्थरबाज पत्थर बरसा रहे थे जिसकी वजह से उन्हें अस्पताल ले जाने में देरी हो गयी और यही वजह उनकी मौत का कारण बनी.

बार एसोशिएशन के पूर्व अध्यक्ष एवं न्यायिक सुधार संघर्ष समिति के अध्यक्ष एडवोकेट एल एन पराशर ने संदीप के की शहादत पर गहरा दुःख जताया है। एडवोकेट पराशर ने कहा कि फरीदाबाद संदीप देश पर कुर्बान हो गए और फरीदाबाद की जनता शहीद संदीप के परिवार की हर तरीके से मदद करेगी। उन्होंने कहा कि संदीप के परिवार की मैं हर संभव मदद अपनी तरफ से करूंगा।वकील पाराशर ने कहा कि मुझे जानकारी मिली है कि पत्थरबाजों के कारण संदीप शहीद हुए हैं इसलिए पत्थरबाजों को भी आतंकियों की तरह गोली मार देनी चाहिए।

पाराशर ने कहा कि अगर पत्थरबाजों को जल्द सबक न सिखाया गया तो ये बड़े आतंकी बन जायेंगे और देश की सेना के लिए ये घातक साबित होंगे। उन्होंने कहा कि मैं प्रयास करूंगा कि बार एसोशिएशन के वकील भी संदीप के परिजनों की मदद करें।

पाराशर ने कहा कि एक हफ्ते में कई जवान शहीद हो गए और केंद्र सरकार अब भी कोई बड़ी कार्यवाही नहीं कर रही है जिससे आतंकियों के हौसले बुलंद हैं। उन्होंने कहा कि भारत जल्द पाकिस्तान पर बड़ी कार्यवाही करे। इस समय पूरा देश सरकार और सेना के साथ खड़ा है। उन्होंने कहा कि अगर पाकिस्तान को अब करारा जबाब दे दिया जाएगा तो पुलवाना जैसे आतंकी हमले शायद ही हों।
विज्ञापन के नीचे जाकर खबर शेयर करें
फेसबुक, WhatsApp, ट्विटर पर शेयर करें

फेसबुक पर अपडेट के लिए पेज LIKE करें

Faridabad News

Politics

Post A Comment:

0 comments: