Palwal Assembly

रंगदारी नहीं दी तो बदमाशों ने हथौड़ा मार मार कर फाइनेंसर की हड्डियों का बनाया चूरमा, FIR दर्ज

हमें ख़बरें Email: dpsingh84@gmail.com. WhatsApp: 9953931171 पर भेजें (धर्मेन्द्र प्रताप सिंह)
आगे की खबर विज्ञापन के नीचे
dinesh-sharma-attack-in-sector-21-b-nit-faridabad-fir-469-lodged-news

फरीदाबाद, 12 नवम्बर: सेक्टर-21B में एक बड़ी वारदात सामने आयी है. एक कार विक्रेता और छोटे फाइनेंसर को एक गैंग के बदमाशों ने हथौड़े, लाठी-डंडे और सरिया से मार मार कर उसकी हड्डियों का चूरमा बना दिया, युवक को मरा समझकर बदमाश वहां से चले गए लेकिन किसी भले आदमी ने पुलिस को फोन कर दिया जिसके बाद उसे एशियन हॉस्पिटल में भर्ती कराया, युवक की हालत गंभीर है, इस मामले में NIT पुलिस थाने में FIR (469, दिनांक - 11.11.2018) दर्ज कर ली गयी है.

FIR में दी गयी सूचना के मुताबिक़ - मैं दिनेश शर्मा पुत्र रामदत्त शर्मा उम्र 29 वर्ष, निवासी मकान नंबर P-133, एसजीएम नगर का रहने वाला हूँ, मेरा पुरानी कारें खरीद-फरोख्त व हल्के फाइनेंस का काम है इसलिए मैं अपने काम में व्यस्त रहता हूँ. पिछले लगभग एक डेढ़ साल से आदित्य कातिया (ग्राम मछगर) एवं उसकी गैंग के लोग कई बार मुझसे प्रोडक्शन मनी, रंगदारी की रकम मांग रहे हैं और ना देने पर जान से मारने की धमकी दे रहे हैं लेकिन मैंने इन व्यक्तियों की धमकियों को कभी सीरियसली नहीं लिया. 

दिनांक 3 नवम्बर 2018 को शाम के लगभग 10.30 बजे पर मैं किसी कार्यवश ओपोरूप होटल, मकान नंबर 94, सेक्टर-21B फरीदाबाद आया था और होटल के प्रथम तल पर पहुंचा था कि तभी लगभग 20-25 लोग जिनके हाथों में पिस्टल, लोहे की रॉड, लोहे के हथौड़े थे, वहां चार गाड़ियों में पहुंचे, एक गाडी XUV-8080 सफ़ेद रंग, एक स्कॉर्पियो 8080 काला रंग, एक टीयूवी ग्रे कलर बिना नंबर प्लेट, एक मारूति स्विफ्ट सफ़ेद कलर बिना नंबर प्लेट, वहां पहुंचे, उनमें से मैं कुछ को अच्छी तरह से पहचानता हूँ जिनके नाम हैं - 
  1. जीरो उर्फ़ मनोज उसके हाथों में पिस्टल थी (आदित्य कात्या का भाई, गाँव - मछगर)
  2. दिनेश के हाथों में पिस्टल थी (आदित्य कात्या का भाई, गाँव - मछगर)
  3. राजू देशभाल निवासी फतेहपुर चंदेला, निवासी छोड़ी, पिस्टल लिया था
  4. शिवराम निवासी पृथला, पिस्टल लिया था
  5. प्रीतम निवासी मछगर, 
  6. चिड्डी निवासी दयालपुर
  7. ऋषि, निवासी फतेहपुर चंदेला 
  8. भोपाल खटाना, निवासी डबुआ
  9. जीतन, निवासी जाजरू 
इन सभी ने हथौड़े व लोहे की रोड थी, इन्होने आते ही मुझे घेर लिया और सभी ने कहा कि आज इस पंडित को ख़त्म कर देते हैं ताकि पूरी NIT हमें आराम से हफ्ता वसूली अदा करेगा और यहाँ हमारा साम्राज्य स्थापित हो जाएगा. इसके बाद जीरो उर्फ़ मनोज ने अपने हाथ में पिस्टल तानकर मुझपर गोली चलाई लेकिन गोली मिस होकर अन्दर फंस गयी. फिर शिवराम ने गोली चलाई जो फर्श में लगी, इसके बाद शोर शराबा सुनकर होटल के आसपास लोग इकठ्ठा होने लगे तो इन सबने मुझे सीधा लिटा दिया और हथौड़े और रॉड से मेरे सामने की तरफ से पैरों पर मारने लगे और कई जगह से पैरों को तोड़ दिया, उसके बाद मेरे उलटे हाथ पर भी रॉड और हथौड़ा मार मारकर तोड़ दिया गया. इसके बाद मेरी छाती पर हथौड़ा मार मार कर मेरी पसलियाँ तोड़ दी गयीं, इसके बाद मुझे उल्टा लिया दिया गया और पीछे से मेरे पैरों और हाथों पर हथौड़े से वार करके हड्डियों का चूरमा बना दिया गया, मैं पुरानी कार खरीदने गया था, मेरी जेब में 50 हजार रुपये थे वह भी लूट लिया.

इसके बाद भी वे लोग निडर होकर मेरे मरने का इन्तजार करने लगे, जब उन्हें लगा कि मैं मर गया हूँ तो वह लोग मुझे छोड़कर चले गए, इसके बाद किसी ने 100 नंबर पर इसकी सूचना पुलिस को दी, पुलिस ने मुझे एशियन हॉस्पिटल में भर्ती कराया है, तब से मैं ICU में जिंदगी और मौत से लड़ रहा हूँ, इन लोगों ने मुझे मारकर छोड़ा था लेकिन भगवान ने मेरी जिंदगी बचाई है लेकिन मैं जिंदगी भर के लिए अपाहिज बन गया हूँ, कृपया उक्त सभी लोगों के खिलाफ कार्यवाही की जाए. मैंने यह बयान अपने पिताजी की मौजूदगी में दिए हैं, अगर मुझे कुछ होता है तो यही मेरा आखिरी बयान समझा जाए.

युवक की शिकायत पर NIT थाना पुलिस ने मुकदमा नंबर 469 दिनांक 11.11.2018 धारा - 148, 149, 323, 325, 307, 384, 511, 379B, 506 IPC, 25, 54,59 Arms Act के तहत मामला दर्ज कर लिया है.

faridabad-nit-fir-number-469
विज्ञापन के नीचे जाकर खबर शेयर करें
फेसबुक, WhatsApp, ट्विटर पर शेयर करें

फेसबुक पर अपडेट के लिए पेज LIKE करें

Crime

Faridabad News

Post A Comment:

0 comments: