होम समाचार विंबलडन 2024 परिणाम: लोरेंजो मुसेट्टी का सेमीफाइनल में नोवाक जोकोविच से मुकाबला

विंबलडन 2024 परिणाम: लोरेंजो मुसेट्टी का सेमीफाइनल में नोवाक जोकोविच से मुकाबला

19
0
विंबलडन 2024 परिणाम: लोरेंजो मुसेट्टी का सेमीफाइनल में नोवाक जोकोविच से मुकाबला


13वीं वरीयता प्राप्त फ्रिट्ज़, अंतिम 16 में चौथी वरीयता प्राप्त अलेक्जेंडर ज़ेवेरेव को हराने के बाद इस मैच में शानदार फॉर्म में आये थे।

कोर्ट वन पर खचाखच भरे और खुली छत के साथ, फ्रिट्ज़ ने उस गति को जारी रखा, शुरुआती गेम में दो ब्रेक प्वाइंट रोके रखे और फिर चौथे गेम में खुद ही निर्णायक ब्रेक हासिल किया।

उन्होंने दूसरे सेट की शुरुआत में भी इटालियन खिलाड़ी की सर्विस तोड़ी, लेकिन एथलेटिक मुसेट्टी ने मनोरंजक, आक्रामक शैली और बेहतरीन शॉट्स के साथ तुरंत ही ब्रेक हासिल करके अपनी लड़ाकू भावना का परिचय दिया।

मुसेट्टी ने दूसरे सेट के 10वें गेम में सेट-पॉइंट का मौका गंवा दिया, जिससे सेट टाई-ब्रेक तक पहुंच गया, लेकिन 25वीं वरीयता प्राप्त खिलाड़ी 4-1 से आगे हो गया और बाकी समय तक आगे रहा।

तीसरे सेट में मुसेट्टी ने अपना पहला ग्रैंड स्लैम क्वार्टर फाइनल खेला, लेकिन फ्रिट्ज़ ने चौथे सेट में भी मैच में अपनी सर्वश्रेष्ठ टेनिस खेलकर उसी अंदाज में जवाब दिया, जिससे मैच निर्णायक बन गया।

पिछले चार सेटों की प्रकृति को देखते हुए, मुसेट्टी को सेमीफाइनल में 5-0 की बढ़त हासिल करते हुए देखना आश्चर्यजनक था। फ्रिट्ज़ फिसल गया और शायद उसके घुटने में चोट लग गई, क्योंकि इतालवी खिलाड़ी मैच पॉइंट की ओर बढ़ रहा था, लेकिन फ्रिट्ज़ एक और पॉइंट का सामना करने में सक्षम था, जिसे मुसेट्टी ने जीत कर शानदार जीत दर्ज की।

फ्रिट्ज़ अब तक अपने सभी चार ग्रैंड स्लैम क्वार्टर फाइनल में हार चुके हैं, दो साल पहले विंबलडन में, पिछले साल अमेरिकी ओपन में और जनवरी में ऑस्ट्रेलियन ओपन में इसी स्तर पर हारे थे।

1968 में ओपन युग के आरम्भ होने के बाद से, संयुक्त राज्य अमेरिका में किसी भी अन्य देश की तुलना में सबसे अधिक पुरुष चैंपियन रहे हैं, जिसमें 15 सफलताएं शामिल हैं, लेकिन फ्रिट्ज़ के बाहर होने का अर्थ है कि एक और वर्ष बिना किसी अमेरिकी विजेता के बीत गया, तथा उनका अंतिम पुरुष चैंपियन 2000 में पीट सम्प्रास थे।

मुसेट्टी का रन इतालवी टेनिस के लिए एक और शानदार पल है। जैनिक सिनर वर्तमान में दुनिया के नंबर एक खिलाड़ी हैं, मैटेओ बेरेटिनी 2021 के फाइनल में जोकोविच से हार गए, लेकिन विंबलडन में कभी भी कोई इतालवी पुरुष एकल चैंपियन नहीं रहा है।

क्या इस वर्ष इसमें बदलाव हो सकता है?



Source link

पिछला लेखविंबलडन: कोको गॉफ के कोच ने टेलर फ्रिट्ज़ की हार पर गंभीर प्रतिक्रिया व्यक्त की, अमेरिकी टेनिस के लिए दुखद दिन
अगला लेखअमेरिका के नए कैथोलिक पादरी: युवा, आत्मविश्वासी और रूढ़िवादी
जेनेट विलियम्स
जेनेट विलियम्स एक प्रतिष्ठित कंटेंट राइटर हैं जो वर्तमान में FaridabadLatestNews.com के लिए लेखन करते हैं। वे फरीदाबाद के स्थानीय समाचार, राजनीति, समाजिक मुद्दों, और सांस्कृतिक घटनाओं पर गहन और जानकारीपूर्ण लेख प्रस्तुत करते हैं। जेनेट की लेखन शैली स्पष्ट, रोचक और पाठकों को बांधने वाली होती है। उनके लेखों में विषय की गहराई और व्यापक शोध की झलक मिलती है, जो पाठकों को विषय की पूर्ण जानकारी प्रदान करती है। जेनेट विलियम्स ने पत्रकारिता और मास कम्युनिकेशन में अपनी शिक्षा पूरी की है और विभिन्न मीडिया संस्थानों के साथ काम करने का महत्वपूर्ण अनुभव है। उनके लेखन का उद्देश्य न केवल सूचनाएँ प्रदान करना है, बल्कि समाज में जागरूकता बढ़ाना और सकारात्मक परिवर्तन लाना भी है। जेनेट के लेखों में सामाजिक मुद्दों की संवेदनशीलता और उनके समाधान की दिशा में सोच स्पष्ट रूप से परिलक्षित होती है। FaridabadLatestNews.com के लिए उनके योगदान ने वेबसाइट को एक विश्वसनीय और महत्वपूर्ण सूचना स्रोत बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। जेनेट विलियम्स अपने लेखों के माध्यम से पाठकों को निरंतर प्रेरित और शिक्षित करते रहते हैं, और उनकी पत्रकारिता को व्यापक पाठक वर्ग द्वारा अत्यधिक सराहा जाता है। उनके लेख न केवल जानकारीपूर्ण होते हैं बल्कि समाज में सकारात्मक प्रभाव डालने का भी प्रयास करते हैं।