होम मनोरंजन यूईएफए सेमीफाइनल में इंग्लैंड के खिलाफ पहले हाफ के दौरान बाहर रखे...

यूईएफए सेमीफाइनल में इंग्लैंड के खिलाफ पहले हाफ के दौरान बाहर रखे गए मेम्फिस डेपे की चोट पर पहला अपडेट सामने आया

22
0
यूईएफए सेमीफाइनल में इंग्लैंड के खिलाफ पहले हाफ के दौरान बाहर रखे गए मेम्फिस डेपे की चोट पर पहला अपडेट सामने आया


इंग्लैंड के खिलाफ़ अपने प्रतिष्ठित सेमीफ़ाइनल गेम के दौरान डच खिलाड़ी खुशी से निराशा में बदल गए। विवादास्पद VAR कॉल की बदौलत, इंग्लिश कप्तान हैरी केन ने स्पॉट किक से ज़ावी सिमंस के शानदार शॉट को बराबर कर दिया।

मानो यह काफी नहीं था, नीदरलैंड के स्टार स्ट्राइकर मेम्फिस डेपे 35वें मिनट में गिर गए, जिससे कोच रोनाल्डो कोमैन को तुरंत उनकी जगह मिडफील्डर जॉय वीरमैन को मैदान पर भेजना पड़ा। डच #10 के साथ क्या हुआ? हम आपको बता चुके हैं।

फ्रांसीसी प्रकाशन, फुट मर्काटो के अनुसारमेम्फिस डेपे को उनकी जांघ की मांसपेशियों में संभावित चोट के कारण वापस बुला लिया गया।

(पालन करने के लिए और अधिक…)



Source link

पिछला लेखनिकोलस केज के 33 वर्षीय बेटे वेस्टन को ‘मानसिक स्वास्थ्य संकट के दौरान अपनी मां पर हमला करने के आरोप में’ गिरफ्तार किया गया है।
अगला लेखलोगों के घायल होने के बाद बाउंस राइड बंद कर दी गई
जॉर्ज जेन्सेन
जॉर्ज जेन्सेन एक प्रमुख कंटेंट राइटर हैं जो वर्तमान में FaridabadLatestNews.com के लिए लेखन करते हैं। वे फरीदाबाद के स्थानीय समाचार, राजनीति, संस्कृति, और सामाजिक मुद्दों पर विश्लेषणात्मक और सूचनात्मक लेख प्रस्तुत करते हैं। जॉर्ज की लेखन शैली स्पष्ट, आकर्षक और पाठकों को बांधने वाली होती है। उनके लेखों में गहराई और विषय की विस्तृत समझ होती है, जो पाठकों को विषय की पूरी जानकारी प्रदान करती है। जॉर्ज जेन्सेन ने पत्रकारिता और मास कम्युनिकेशन में अपनी शिक्षा पूरी की है और विभिन्न मीडिया प्लेटफार्म्स पर काम करने का व्यापक अनुभव है। उनके लेखन का उद्देश्य केवल सूचनाएँ प्रदान करना नहीं है, बल्कि समाज में जागरूकता बढ़ाना और सकारात्मक बदलाव लाना भी है। जॉर्ज के लेखों में सामाजिक मुद्दों की संवेदनशीलता और उनके समाधान की दिशा में एक विचारशील दृष्टिकोण दिखाई देता है। FaridabadLatestNews.com के लिए उनके योगदान ने वेबसाइट को एक महत्वपूर्ण और विश्वसनीय सूचना स्रोत बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। जॉर्ज जेन्सेन अपने लेखों के माध्यम से पाठकों को निरंतर प्रेरित और शिक्षित करते रहते हैं, और उनकी पत्रकारिता को पाठकों द्वारा व्यापक रूप से सराहा जाता है। उनके लेख न केवल जानकारीपूर्ण होते हैं बल्कि समाज में सकारात्मक प्रभाव डालने का भी प्रयास करते हैं।